हिन्दी, हिंदी (Hindi): translationNotes

Updated ? hours ago # views See on DCS Draft Material

Luke

Luke front

लूका के सुसमाचार का परिचय

भाग 1: सामान्य परिचय

लूका की पुस्तक की रूपरेखा

1। लेखन का परिचय और उद्देश्य (1:1-4) 1। यीशु का जन्म और सेवा के लिए उसकी तैयारी (1:5 - 4:13) 1। गलील में यीशु की सेवा (4:14–-9:50) 1। यरूशलेम की ओर यीशु की यात्रा - शिष्यता (9:51 - 11:13) - संघर्ष और यीशु का दुख (11:14 - 14:35) - खोई और पाई गई वस्तुओं के बारे में दृष्टांत। ईमानदारी और बेईमानी के बारे में दृष्टांत (15:1–-16:31) - परमेश्वर का राज्य (17:1–-19:27) - यरूशलेम में यीशु का प्रवेश (19:28–-44) 1. यरूशलेम में यीशु (19:45 - 21:4) 1. यीशु का उसके दूसरे आगमन के बारे में शिक्षा देना (21:5–-36) 1. यीशु की मृत्यु, गाडा जाना, और पुनरुत्थान (22:1–-24:53)

लूका का सुसमाचार किस के बारे में है?

लूका का सुसमाचार नए नियम की चार पुस्तकों में से एक है, जो यीशु मसीह के जीवन में से कुछ का वर्णन करती है। सुसमाचार के लेखकों ने यीशु के विभिन्न पहलुओं के बारे में लिखा कि यीशु कौन था और उसने क्या किया। लूका ने थियुफिलुस नाम के एक व्यक्ति के लिए अपना सुसमाचार लिखा था। लूका ने यीशु के जीवन का सटीक वर्णन लिखा ताकि थियुफिलुस सत्य के बारे में निश्चित् हो सके। यद्यपि, लूका ने थियुफिलुस से नहीं वरण सभी विश्वासियों को अपने सुसमाचार के द्वारा उत्साहित होने की अपेक्षा की है।

इस पुस्तक का शीर्षक किस प्रकार अनुवादित किया जाना चाहिए?

अनुवादक इस पुस्तक को उसके पारम्परिक शीर्षक से पुकारे जाना चुन सकते हैं, ""लूका रचित सुसमाचार ""या"" लूका के अनुसार लिखा हुआ सुसमाचार। "" या वे एक ऐसा शीर्षक चुन सकते हैं, जो अत्याधिक स्पष्ट हो सकता है, उदाहरण के लिए, ""यीशु के बारे में शुभ सन्देश जिसे लूका ने लिखा था।"" (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

लूका की पुस्तक किसने लिखी?

यह पुस्तक लेखक का नाम नहीं देती है। यह वही व्यक्ति है जिसने प्रेरितों के काम की पुस्तक को भी लिखा है। प्रेरितों के काम की पुस्तक के कुछ भागों में लेखक ""हम"" शब्द का प्रयोग करता हैं। यह संकेत देता है कि लेखक ने पौलुस के साथ यात्रा की थी। अधिकांश विद्वानों का यह मानना है यह व्यक्ति लूका ही था जो पौलुस के साथ यात्रा कर रहा था। इसलिए, आरम्भिक मसीही समय के दिनों से ही, अधिकांश मसीहियों ने यह सोचा है कि लूका ही लूका की पुस्तक और प्रेरितों के काम की पुस्तक दोनों का लेखक था।

लूका एक चिकित्सक अर्थात् डॉक्टर था। उसके लेखनकार्य के तरीके से पता चलता है कि वह एक शिक्षित व्यक्ति था। वह शायद एक अन्यजति था। शायद लूका ने जो कुछ यीशु ने कहा और किया वह नहीं देखा था। परन्तु वह कहता है कि उसने कई ऐसे लोगों से बात की जिन्होंने उसे देखा था

भाग 2: महत्वपूर्ण धार्मिक और सांस्कृतिक धारणा

लूका के सुसमाचार में महिलाओं की भूमिका क्या है?

लूका ने महिलाओं को अपने सुसमाचार में बहुत ही सकारात्मक तरीके से वर्णित किया। उदाहरण के लिए, वह अक्सर महिलाओं को अधिकांश पुरुषों की तुलना में परमेश्वर के प्रति अधिक विश्वासयोग्य दिखाता है। (देखें: विश्वासयोग्य, विश्वासयोग्यता)

लूका ने यीशु के जीवन के अन्तिम सप्ताह के बारे में इतना क्यों लिखा है?

लूका ने यीशु के अन्तिम सप्ताह के बारे में बहुत कुछ लिखा है। वह चाहता था कि उसके पाठक यीशु के अन्तिम सप्ताह और क्रूस पर उसकी मृत्यु के बारे में गहराई से सोचें। वह चाहता था कि लोग यह समझें कि यीशु क्रूस पर स्वेच्छा से मरा ताकि परमेश्वर उन्हें उसके विरुद्ध पाप करने के लिए क्षमा कर सके। (देखें: पाप, पापो, पाप करना, पापमय, पापी, पाप करते रहना)

भाग 3: महत्वपूर्ण अनुवाद के मुद्दे

समदर्शी सुसमाचार क्या हैं?

मत्ती, मरकुस, और लूका के सुसमाचार को समदर्शी सुसमाचार कहा जाता है, क्योंकि उनके कई प्रसंग एक जैसे हैं। ""समदर्शी"" शब्द का अर्थ ""एक साथ देखने से है।""

इसके पाठ को ""समानांतर"" माना जाता है जब वे एक जैसे या लगभग दो या तीनों सुसमाचारों के जैसे होते हैं। समानांतर प्रसंगो का अनुवाद करते समय, अनुवादकों को एक ही जैसे शब्द का उपयोग करना चाहिए और उन्हें यथासंभव एक जैसा रखना चाहिए।

यीशु स्वयं को ""मनुष्य के पुत्र"" के रूप में संदर्भित क्यों करता है?

सुसमाचार में, यीशु ने स्वयं को ""मनुष्य का पुत्र"" कहा है। यह दानिय्येल 7: 13-14 का सन्दर्भ है। इस अनुच्छेद में एक व्यक्ति को ""मनुष्य के पुत्र"" के रूप में वर्णित किया गया है। इसका अर्थ है कि वह व्यक्ति था जो मनुष्य की तरह दिखता था। परमेश्वर ने मनुष्य के पुत्र को सदैव के लिए जातियों पर शासन करने का अधिकार दिया है। और सभी लोग उसकी आराधना सदैव करेंगे।

यीशु के समय के यहूदियों ने किसी के लिए भी शीर्षक के रूप में ""मनुष्य का पुत्र"" का उपयोग नहीं किया था। इसलिए, यीशु ने स्वयं को यह समझने में सहायता दी कि वह वास्तव में कौन था। (देखें: मनुष्य का पुत्र, मनुष्य का पुत्र)

कई भाषाओं में ""मनुष्य का पुत्र"" शीर्षक का अनुवाद करना कठिन हो सकता है। पाठक इसके लिए शाब्दिक अनुवाद को गलत समझ सकते हैं। अनुवादक विकल्पों पर विचार कर सकते हैं, जैसे कि ""एक मानव।"" शीर्षक को समझाने के लिए एक फुटनोट को सम्मिलित करना भी सहायक हो सकता है।

लूका की पुस्तक के मूलपाठ में मुख्य विषय क्या हैं?

ये निम्नलिखित वचन सबसे पुरानी पाण्डुलिपियों में नहीं मिलते हैं। यूएलटी और यूएसटी अनुवाद में इन वचनों को सम्मिलित किया गया है, परन्तु कुछ अन्य अनुवाद में ये नहीं हैं।

  • ""फिर स्वर्ग से एक दूत उसको दिखाई दिया जो उसे सामर्थ्य देता था। वह अत्यन्त संकट में व्याकुल होकर और भी हार्दिक वेदना से प्रार्थना करने लगा; और उसका पसीना मानो लहू की बड़ी बड़ी बूंदों के समान भूमि पर गिर रहा था।"" (22:43–44) *"" यीशु ने कहा, ""हे पिता, इन्हें क्षमा कर, क्योंकि ये नहीं जानते कि क्या कर रहे हैं।"" (23:34)

निम्नलिखित वचन कई आधुनिक अनुवादों में सम्मलित नहीं है। कुछ अनुवाद इसे वर्गाकार कोष्ठक में डाल देते हैं। अनुवादकों को सलाह दी जाती है कि वे इस वचन का अनुवाद न करें। यद्यपि, यदि अनुवादकों के क्षेत्र में, बाइबल के पुराने अनुवाद हैं जिनमें यह वचन सम्मिलित है, अनुवादक इसे सम्मिलित कर सकते हैं। यदि उनका अनुवाद किया जाता है, तो इन्हें वर्गाकार कोष्ठक ([]) के भीतर रखा जाना चाहिए ताकि यह इंगित किया जा सके कि यह शायद लूका के सुसमाचार में मूल रूप से नहीं थे।

  • ""पिलातुस पर्व के समय उनके लिए एक बन्दी को छोड़ने पर विवश था"" (23:17)

    (देखें: लेखों के भेद)

Luke 1

लूका 01 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

कुछ अनुवाद पढ़ने के लिए आसान बनाने के लिए कविता के प्रत्येक वाक्य को बाकी के भाग की तुलना में पंक्ति को दाईं ओर व्यवस्थित करते हैं। यूएलटी अनुवाद 1: 46-55, 68-79 में दी हुई कविता के साथ ऐसा ही करता है।

इस अध्याय की विशेष धारणाएँ

""उसे यूहन्ना पुकारा जाएगा""

प्राचीन निकट पूर्व में अधिकांश लोग एक बच्चे को उनके परिवार में से ही किसी के जैसा नाम देते थे। लोग आश्चर्यचकित थे कि एलीशिबा और जकर्याह ने अपने पुत्र को यूहन्ना नाम दिया क्योंकि उसके नाम जैसा उनके परिवार में कोई और नहीं था।

इस अध्याय के महत्वपूर्ण अलंकार

लूका की भाषा सरल और सीधा है। वह भाष्य के लिए कई पात्रों का उपयोग नहीं करता है।

Luke 1:1

लूका व्याख्या करता है कि उसने थियुफिलुस को क्यों लिखा था।

περὶ τῶν πεπληροφορημένων ἐν ἡμῖν πραγμάτων

उन बातों के बारे में जो हमारे बीच में बीती हैं या ""उन घटनाओं के बारे में जो हमारे बीच हुए हैं

ἐν ἡμῖν

कोई भी सुनिश्चित नहीं है कि थियुफिलुस कौन था। यदि वह एक मसीही था, तो यहाँ ""हम"" शब्द उसे सम्मिलित करेगा और इसलिए वह इसमें समावेशी होगा, और यदि नहीं, तो यह बाहर होगा। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’ और विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

Luke 1:2

αὐτόπται καὶ ὑπηρέται γενόμενοι τοῦ λόγου

एक ""प्रत्यक्षदर्शी"" वह व्यक्ति होता है जिसने कुछ घटित होते हुए देखा हो, और वचन का एक सेवक वह व्यक्ति होता है जो लोगों को परमेश्वर का संदेश बताकर परमेश्वर की सेवा करता है। आपको यह स्पष्ट करने की आवश्यकता हो सकती है कि वे वचन के सेवक कैसे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्या घटित हुआ था और लोगों को परमेश्वर का संदेश बताकर परमेश्वर की सेवा की"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ὑπηρέται…τοῦ λόγου

शब्द ""वचन"" कई शब्दों से बने संदेश के लिए एक उपलक्ष्य अलंकार है। वैकल्पिक अनुवाद: ""संदेश के सेवक"" या ""परमेश्वर के संदेश के सेवक"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Luke 1:3

παρηκολουθηκότι

ध्यान से शोध किया हुआ। लूका वास्तव में क्या घटित हुआ इसे पता लगाने के लिए सावधान था। उसने शायद विभिन्न लोगों से यह सुनिश्चित करने के लिए कि क्या घटित हुआ था बात की थी जिन्होंने देखा था कि जिन घटनाओं के बारे में उसने लिखा है वे सही थी।

κράτιστε Θεόφιλε

लूका ने ऐसा थियुफिलुस को सम्मान देने और आदर दिखाने के लिए कहा। इसका अर्थ यह हो सकता है कि थियुफिलुस एक महत्वपूर्ण सरकारी अधिकारी था। इस भाग में उस शैली का उपयोग करना चाहिए जो आपकी संस्कृति उच्च पदवी वाले लोगों को सम्बोधित करने के लिए उपयोग करती है। कुछ लोग आरम्भ में ही इस अभिभादन को लिखना पसन्द कर सकते हैं और कह सकते हैं, ""कि... थियुफिलुस ""या"" प्रिय ... थियुफिलुस

κράτιστε

सम्मानीय और ""कुलीन

Θεόφιλε

इस नाम का अर्थ ""परमेश्वर का मित्र"" है। यह इस व्यक्ति के चरित्र का वर्णन कर सकता है या हो सकता है कि यही उसका वास्तविक नाम हो। अधिकांश अनुवादों में यह एक नाम के रूप में है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 1:5

जकर्याह और एलीशिबा को परिचित कराया गया है। ये वचन उनके बारे में पृष्ठभूमि की सूचनाओं को प्रदान करते हैं। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

स्वर्गदूत यूहन्ना के जन्म की भविष्यद्वाणी करता है।

ἐν ταῖς ἡμέραις Ἡρῴδου βασιλέως τῆς Ἰουδαίας

वाक्यांश ""के समय में"" का प्रयोग एक नई घटना को इंगित करने के लिए किया जाता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उस समय के दौरान जब राजा हेरोदेस ने यहूदिया पर शासन किया"" (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἐγένετο…ἱερεύς τις

एक विशेष व्यक्ति था या ""एक था।"" यह एक कहानी में एक नए पात्र को प्रस्तुत करने का एक तरीका है। विचार करें कि आपकी भाषा में इसे कैसे व्यक्त किया जाता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἐφημερίας

यह समझा जाता है कि यह याजकों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""याजकों का मंडल"" या ""याजकों का समूह"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Ἀβιά

जो अबिय्याह के वंश से आया था। अबीय्याह याजकों के इस समूह का पूर्वज था और वे सभी हारून के वंश से आए थे, जो इस्राएल का पहला याजक था।

καὶ γυνὴ αὐτῷ ἐκ τῶν θυγατέρων Ἀαρών

उसकी पत्नी हारून के वंश से आई थी। इसका अर्थ है कि वह जकर्याह याजकों के वंश से ही थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसकी पत्नी हारून के वंश की थी,"" या ""जकर्याह और उसकी पत्नी एलीशिबा दोनों ही हारून के वंश से आए थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐκ τῶν θυγατέρων Ἀαρών

हारून के वंश से

Luke 1:6

ἐναντίον τοῦ Θεοῦ

परमेश्वर की दृष्टि में या ""परमेश्वर के विचार में

πάσαις ταῖς ἐντολαῖς καὶ δικαιώμασιν τοῦ Κυρίου

सब कुछ जिसका परमेश्वर ने आदेश दिया था और जो आवश्यक था

Luke 1:7

καὶ

यह तुलनात्मक शब्द दिखाता है कि जो कुछ इसके पश्चात् आता है, वह अपेक्षित से विपरीत है। लोगों ने अपेक्षा की थी कि यदि उन्होंने सही किया था, तो परमेश्वर उन्हें बच्चे होने की अनुमति देगा। यद्यपि इस जोड़े ने जो कुछ किया था वह सही था, तब भी उनके पास कोई बच्चा नहीं था।

Luke 1:8

ἐγένετο δὲ

इस वाक्यांश का उपयोग सहभागियों को पृष्ठभूमि की जानकारी देने से कहानी में परिवर्तन लाने के लिए किया जाता है।

ἐν τῷ ἱερατεύειν αὐτὸν…ἔναντι τοῦ Θεοῦ

इसका निहितार्थ है कि जकर्याह परमेश्वर के मन्दिर में था और यह कि ये याजकीय कर्तव्य परमेश्वर की आराधना करने के अंश थे। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐν τῇ τάξει τῆς ἐφημερίας αὐτοῦ

जब उनके समूह की बारी आई या ""जब उनके समूह के लिए सेवा का समय आ गया

Luke 1:9

κατὰ τὸ ἔθος τῆς ἱερατείας, ἔλαχε τοῦ θυμιᾶσαι

यह वाक्य हमें याजकीय कर्तव्यों के बारे में जानकारी देता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

τὸ ἔθος

पारम्परिक विधि या ""उनका सामान्य तरीका

ἔλαχε

चिट्ठी का निकलना एक चिन्हित शिलालेख के जैसा था जिसे जमीन पर फेंका जाता या लुढ़काया जाता था ताकि वह उन्हें कुछ निर्णय लेने में सहायता कर सके। याजकों का विश्वास था कि परमेश्वर ने उन्हें दिखाने के लिए चिट्ठी को मार्गदर्शित किया है कि वह क्या चाहता था कि वे किस याजक को चुनें।

τοῦ θυμιᾶσαι

याजक मन्दिर के अन्दर एक विशेष वेदी के ऊपर प्रति सुबह और शाम परमेश्वर को एक भेंट के रूप में सुगन्धित धूप जलाते थे।

Luke 1:10

πᾶν τὸ πλῆθος…τοῦ λαοῦ

बड़ी सँख्या में लोग या ""बहुत से लोग

ἔξω

आंगन मन्दिर के चारों ओर का संलग्न क्षेत्र था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मन्दिर के भवन के बाहर"" या ""मन्दिर के बाहर के आंगन में"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

τῇ ὥρᾳ

निश्चित समय पर। यह स्पष्ट नहीं है कि धूप का चढ़ाया जाना सुबह या शाम किस समय होता था।

Luke 1:11

जब जकर्याह मन्दिर में अपनी सेवा को करता है, एक स्वर्गदूत उसे सन्देश देने के लिए परमेश्वर की ओर से आता है।

δὲ

यह शब्द कहानी में कार्यवाही के आरम्भ को चिन्हित करता है।

ὤφθη…αὐτῷ

अचानक से उसके पास आया या ""अचानक से जकर्याह के साथ था।"" यह व्यक्त करता है कि स्वर्गदूत जकर्याह के साथ उपस्थित था, और यह मात्र एक दर्शन नहीं था।

Luke 1:12

ἐταράχθη Ζαχαρίας…φόβος ἐπέπεσεν ἐπ’ αὐτόν

इन दो वाक्यांशों का अर्थ एक ही बात है, और इस बात पर जोर दिया गया है कि जकर्याह कैसे भयभीत हो गया था।

Ζαχαρίας ἰδών

जब जकर्याह ने स्वर्गदूत को देखा। जकर्याह भयभीत हो गया क्योंकि स्वर्गदूत की उपस्थिति भयभीत कर देने वाली थी। उसने कुछ भी गलत नहीं किया था, इसलिए वह भयभीत नहीं हो रहा था कि स्वर्गदूत उसे दण्डित करेगा।

φόβος ἐπέπεσεν ἐπ’ αὐτόν

भयभीत होने का वर्णन इस प्रकार किया गया है कि यह ऐसा कुछ था जिसने जकर्याह पर आक्रमण किया या उसे अपनी अधीन कर लिया था। (देखें: रूपक)

Luke 1:13

μὴ φοβοῦ

मुझसे भयभीत होना बन्द कर या ""तुझे मुझसे डरने की ज़रूरत नहीं है

εἰσηκούσθη ἡ δέησίς σου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। यह निहितार्थ देता है कि परमेश्वर जकर्याह को वह देगा जिसकी उसने उससे माँग की थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने तेरी प्रार्थना सुनी है और जो कुछ तूने माँगा है, वह तुझे देगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

γεννήσει υἱόν σοι

तुझे एक पुत्र होगा या ""तू अपने पुत्र को जन्म देगा

Luke 1:14

ἔσται χαρά σοι καὶ ἀγαλλίασις

शब्द ""आनन्द"" और ""हर्ष"" का अर्थ एक ही बात से है और इस बात पर जोर देने के लिए उपयोग किए जाते हैं कि आनन्द कितना बड़ा होगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुझे बहुत बड़ा आनन्द होगा"" या ""तुझे बहुत अधिक हर्ष होगा"" (देखें: दोहरात्मक)

ἐπὶ τῇ γενέσει αὐτοῦ

उसके जन्म के कारण

Luke 1:15

ἔσται γὰρ μέγας

ऐसा इसलिए है क्योंकि वह महान जकर्याह होगा और ""बहुत"" से लोग आनन्दित होंगे क्योंकि यूहन्ना ""प्रभु की दृष्टि में महान"" होगा। बाकी का वचन 15 बताता है कि परमेश्वर कैसे चाहता है कि यूहन्ना जीवन यापन करे।

ἔσται…μέγας ἐνώπιον τοῦ Κυρίου

वह परमेश्वर के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण व्यक्ति होगा या ""परमेश्वर उसे बहुत अधिक महत्वपूर्ण मानेगा

Πνεύματος Ἁγίου πλησθήσεται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पवित्र आत्मा उसे सशक्त करेगा"" या ""पवित्र आत्मा उसका मार्गदर्शन करेगा"" यह सुनिश्चित करने के लिए है कि यह ऐसा नहीं है जो एक दुष्टात्मा एक व्यक्ति के साथ करता है। (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐκ κοιλίας μητρὸς αὐτοῦ

यहाँ तक कि जब वह अपनी माता के गर्भ में है या ""यहाँ तक कि जन्म लेने से पहले

Luke 1:16

καὶ πολλοὺς τῶν υἱῶν Ἰσραὴλ ἐπιστρέψει ἐπὶ Κύριον, τὸν Θεὸν αὐτῶν

यहाँ ""फिरना"" एक व्यक्ति के लिए पश्चाताप करने और प्रभु की आराधना करने के लिए एक रूपक है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह इस्राएल के कई लोगों को पश्चाताप करने और अपने परमेश्वर यहोवा की आराधना करने का कारण बनेगा"" (देखें: रूपक और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 1:17

αὐτὸς προελεύσεται ἐνώπιον αὐτοῦ

प्रभु के आगमन से पहले, वह जाकर लोगों को यह घोषणा करेगा कि प्रभु उनके पास आएगा।

ἐνώπιον αὐτοῦ

यहां उसके आगे अर्थात् ""उसके चेहरे के आगे"" एक मुहावरा हो सकता है जो उस व्यक्ति की उपस्थिति को सन्दर्भित करता है। इसे कभी-कभी अनुवाद में छोड़ दिया जाता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रभु"" (देखें: मुहावरे)

ἐν πνεύματι καὶ δυνάμει Ἠλεία

एलिय्याह के जैसी आत्मा और सामर्थ्य के साथ। शब्द ""आत्मा"" या तो परमेश्वर के पवित्र आत्मा या एलियाह के व्यवहार या सोच के तरीके को सन्दर्भित करता है। सुनिश्चित करें कि ""आत्मा"" शब्द का अर्थ भूत या दुष्टात्मा से नहीं है।

ἐπιστρέψαι καρδίας πατέρων ἐπὶ τέκνα

पिता को अपने बच्चों के बारे में फिर से देखभाल करने के लिए तैयार करता है या ""पिताओं को अपने बच्चों के साथ अपने सम्बन्धों को पुन: बहाल करने का कारण बनेगा

ἐπιστρέψαι καρδίας

यहाँ मन के विषय में कहा गया हैं मानो कि यह ऐसा कुछ है जिसे एक अलग ही दिशा में जाने के लिए परिवर्तित किया जा सकता है। यह किसी बात के प्रति किसी के दृष्टिकोण को बदलने के लिए सन्दर्भित करता है। (देखें: रूपक)

ἀπειθεῖς

यह उन लोगों को सन्दर्भित करता है जो परमेश्वर की आज्ञा का पालन नहीं करते हैं।

ἑτοιμάσαι Κυρίῳ λαὸν κατεσκευασμένον

लोगों को जिस कार्य को करने के लिए तैयार किया जाएगा स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर के लिए ऐसे लोगों को तैयार करे जो उसके सन्देश पर विश्वास करने के लिए तैयार हैं"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 1:18

κατὰ τί γνώσομαι τοῦτο?

मुझे कैसे निश्चित होगा कि जो कुछ तूने कहा है वह होगा? यहां, ""जानूँ"" का अर्थ अनुभव से सीखना है, जो सुझाव दे रहा है कि जकर्याह प्रमाण के लिए एक चिन्ह की मांग कर रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझे यह प्रमाणित करने के लिए तू क्या कर सकता है कि यह होगा?

Luke 1:19

ἐγώ εἰμι Γαβριὴλ, ὁ παρεστηκὼς ἐνώπιον τοῦ Θεοῦ

ऐसा कहा जाना जकर्याह को ताड़ना देने के लिए है। परमेश्वर के पास से सीधे आने वाले जिब्राईल की उपस्थिति, जकर्याह के लिए पर्याप्त प्रमाण होना चाहिए थी।

ὁ παρεστηκὼς

जो सेवा करता है

ἀπεστάλην λαλῆσαι πρὸς σὲ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने मुझे तुझ से बात करने के लिए भेजा है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 1:20

ἰδοὺ

ध्यान दे, क्योंकि जो मैं कहने जा रहा हूँ वह सत्य और महत्वपूर्ण दोनों है

σιωπῶν καὶ μὴ δυνάμενος λαλῆσαι

इसका अर्थ एक ही जैसी बात का होना है, और उसके पूर्ण रूप से बोल न सकने के ऊपर जोर देने के लिए दोहराया जाता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पूरी तरह से बोलने में असमर्थ"" या ""बोलने में बिल्कुल भी सक्षम नहीं होना"" (देखें: दोहरात्मक)

οὐκ ἐπίστευσας τοῖς λόγοις μου

जो कुछ मैंने कहा उस पर विश्वास नहीं किया

εἰς τὸν καιρὸν αὐτῶν

नियुक्त समय पर

Luke 1:21

καὶ

यह जो कुछ मन्दिर में हुआ उस घटना से बाहर की घटना में परिवर्तन लाने के लिए एक बदलाव को चिन्हित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब यह हो रहा था"" या ""जब स्वर्गदूत और जकर्याह बात कर रहे थे

Luke 1:22

ἐπέγνωσαν ὅτι ὀπτασίαν ἑώρακεν ἐν τῷ ναῷ. καὶ αὐτὸς ἦν διανεύων αὐτοῖς, καὶ διέμενεν κωφός

ये बातें शायद एक ही समय में घटित हुईं थीं, और जकर्याह के संकेतों ने लोगों को यह समझने में सहायता की कि उसने एक दर्शन को देखा था। व्यवस्था में आए बदलाव के दिखाने के लिए यह दर्शकों के लिए सहायतापूर्ण हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह निरन्तर संकेत देता रहा और चुप रहा। तब उन्होंने जान लिया कि उसने मन्दिर में रहते हुए दर्शन देखा था

ὀπτασίαν

पहले के वर्णन से संकेत मिलता है कि जिब्राईल वास्तव में मन्दिर में जकर्याह के पास आया था। लोग, इसे न जानते हुए, अनुमान लगाते हैं कि जकर्याह ने एक दर्शन को पाया था।

Luke 1:23

ἐγένετο

यह वाक्यांश कहानी को आगे बढ़ाता है जब जकर्याह की सेवा समाप्त हो जाती है।

ἀπῆλθεν εἰς τὸν οἶκον αὐτοῦ

जकर्याह यरूशलेम में नहीं रहता था, जहाँ पर मन्दिर स्थित था। उसने अपने शहर की ओर यात्रा की।

Luke 1:24

μετὰ δὲ ταύτας τὰς ἡμέρας

इन दिनों"" वाक्यांश का अर्थ है कि जकर्याह मन्दिर में सेवा कर रहा था। यह स्पष्ट रूप से बताना सम्भव है कि यह किस को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जकर्याह के मन्दिर में सेवा करने के समय के पशचात्"" (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἡ γυνὴ αὐτοῦ

जकर्याह की पत्नी

περιέκρυβεν ἑαυτὴν

ने अपने घर को नहीं छोड़ा या ""स्वयं भीतर ही रुक गई

Luke 1:25

οὕτως μοι πεποίηκεν Κύριος

यह वाक्यांश इस तथ्य को सन्दर्भित करता है कि परमेश्वर ने उसे गर्भवती होने दिया।

οὕτως

यह एक सकारात्मक विस्मयादिबोधक है। परमेश्वर ने उसके लिए जो कुछ किया था वह उससे बहुत अधिक प्रसन्न है।

ἐπεῖδεν

यहाँ यह देखने में एक मुहावरे है जिसका अर्थ है ""उपचार करने"" या ""निपटारा करने"" से है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे साथ दया से भरा कार्य किया"" या ""मुझ पर दया की है"" (देखें: मुहावरे)

ὄνειδός μου

यह उस शर्म को सन्दर्भित करता है, जिसका उसने अनुभव किया था जब वह बच्चों को जनने के योग्य नहीं थी।

Luke 1:26

जिब्राईल स्वर्गदूत ने मरियम से घोषणा की कि वह उस व्यक्ति की मां बनने जा रही है जो परमेश्वर का पुत्र है।

ἐν…τῷ μηνὶ τῷ ἕκτῳ

एलीशिबा की गर्भावस्था के छठे महीने में। यह स्पष्टता से यह बताने के लिए आवश्यक हो सकता है कि यह वर्ष के छठे महीने के होने से भ्रमित कर सकता है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἀπεστάλη ὁ ἄγγελος Γαβριὴλ ἀπὸ τοῦ Θεοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने जिब्राईल को जाने के लिए कहा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 1:27

παρθένον ἐμνηστευμένην ἀνδρὶ, ᾧ ὄνομα Ἰωσὴφ

मरियम के माता-पिता इस बात से सहमत थे कि मरियम यूसुफ से विवाह करेगी। यद्यपि उनके मध्य में यौन सम्बन्ध नहीं थे, यूसुफ ने सोचा होगा और उसके लिए उसकी पत्नी होने के बारे में बात की होगी।

ἐξ οἴκου Δαυεὶδ

वह दाऊद के गोत्र से ही सम्बन्धित था या ""वह राजा दाऊद का वंशज था

τὸ ὄνομα τῆς παρθένου Μαριάμ

इस कहानी में मरियम को एक नए पात्र के रूप में प्रस्तुत करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

Luke 1:28

स्वर्गदूत मरियम के पास आया

χαῖρε

यह एक सामान्य अभिवादन था। इसका अर्थ: ""आनन्दित हो"" या ""प्रसन्न हो।

κεχαριτωμένη!

तूने बहुत बड़े अनुग्रह को पाया है! या ""तू जिसने विशेष दया को प्राप्त किया है!

ὁ Κύριος μετὰ σοῦ

तेरे साथ यहाँ एक मुहावरा है जिसका निहितार्थ समर्थन और स्वीकृति से है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर तुझसे प्रसन्न हैं"" (देखें: मुहावरे)

Luke 1:29

ἡ δὲ ἐπὶ τῷ λόγῳ διεταράχθη, καὶ διελογίζετο ποταπὸς εἴη ὁ ἀσπασμὸς οὗτος

मरियम ने व्यक्तिगत् रूप से कहे गए शब्दों के अर्थ को समझ लिया था, परन्तु उसे समझ में नहीं आया कि स्वर्गदूत ने उसे यह अद्भुत अभिवादन क्यों कहा था।

Luke 1:30

μὴ φοβοῦ, Μαριάμ

स्वर्गदूत नहीं चाहता था कि मरियम उसकी उपस्थिति से डर जाए, क्योंकि परमेश्वर ने उसे एक सकारात्मक सन्देश के साथ भेजा था।

εὗρες…χάριν παρὰ τῷ Θεῷ

मुहावरा ""अनुग्रह तेरे ऊपर हुआ"" का अर्थ किसी के द्वारा सकारात्मक रूप से स्वीकार किया जाना। परमेश्वर को नायक के रूप में दिखाने के लिए वाक्य को परिवर्तित किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने तुझे अपनी कृपा देने का निर्णय लिया है"" या ""परमेश्वर तुझ पर अपनी दया को दिखा रहा है"" (देखें: मुहावरे)

Luke 1:31

συνλήμψῃ ἐν γαστρὶ, καὶ τέξῃ υἱόν…Ἰησοῦν

मरियम ""एक पुत्र"" को जनेगी जिसे ""परमप्रधान का पुत्र"" कहा जाएगा। इसलिए यीशु मनुष्य का पुत्र है जो मानवीय माता से उत्पन्न हुआ, और वह परमेश्वर का पुत्र भी है। इन शर्तों को बहुत अधिक सावधानीपूर्वक अनुवाद किया जाना चाहिए।

Luke 1:32

Υἱὸς Ὑψίστου

मरियम ""एक पुत्र"" को जनेगी जिसे ""परमप्रधान का पुत्र"" कहा जाएगा। इसलिए यीशु मनुष्य का पुत्र है जो मानवीय माता से उत्पन्न हुआ, और वह परमेश्वर का पुत्र भी है। इन शर्तों को बहुत अधिक सावधानीपूर्वक अनुवाद किया जाना चाहिए।

κληθήσεται

सम्भावित अर्थ 1) ""लोग उसे बुलाएंगे"" या 2) ""परमेश्वर उसे बुलाएगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Υἱὸς Ὑψίστου

यह परमेश्वर के पुत्र यीशु के लिए एक महत्वपूर्ण पदवी है। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

δώσει αὐτῷ…τὸν θρόνον Δαυεὶδ, τοῦ πατρὸς αὐτοῦ

सिंहासन राजा के शासन करने के अधिकार का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसे अपने पूर्वज दाऊद के समान राजा के रूप में शासन करने का अधिकार देगा"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 1:33

τῆς βασιλείας αὐτοῦ, οὐκ ἔσται τέλος

नकारात्मक वाक्यांश ""अन्त न होगा"" जोर देता है कि यह सदैव चलता रहता है। इसे एक सकारात्मक वाक्यांश के साथ भी कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसका राज्य कभी खत्म नहीं होगा"" (देखें: विडंबना)

Luke 1:34

πῶς ἔσται τοῦτο

यद्यपि मरियम की समझ में नहीं आया कि यह कैसे हो सकता है, उसे सन्देह नहीं था कि ऐसा होगा।

ἄνδρα οὐ γινώσκω

मरियम ने इस विनम्र अभिव्यक्ति का उपयोग यह कहने के लिए किया कि वह यौन गतिविधि में सम्मिलित नहीं हुई थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं एक कुँवारी हूँ"" (देखें: शिष्टोक्ति)

Luke 1:35

Πνεῦμα Ἅγιον ἐπελεύσεται ἐπὶ σέ

मरियम के गर्भधारण की प्रक्रिया पवित्र आत्मा के उसके पास आने के साथ आरम्भ होगी।

ἐπελεύσεται ἐπὶ

अपने अधीन कर लेगी

δύναμις Ὑψίστου

यह परमेश्वर की ""सामर्थ्य"" थी जो स्वाभाविक रूप से मरियम के गर्भवती होने का कारण बनती, जबकि वह एक कुँवारी ही बनी रहती। सुनिश्चित करें कि यह किसी भी शारीरिक या यौन सम्बन्ध की एकता का अर्थ नहीं देता है-यह एक आश्चर्यकर्म था।

ἐπισκιάσει σοι

तुझे एक छाया की तरह ढक लेगी

διὸ καὶ τὸ γεννώμενον Ἅγιον κληθήσεται, Υἱὸς Θεοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसलिए वे इसे पवित्र कह कर बुलाएंगे जो परमेश्वर के पुत्र के रूप में जन्म लेगा"" या ""इसलिए जो बच्चा जन्म लेगा वह पवित्र होगा, और लोग उसे परमेश्वर के पुत्र कहेंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὸ…Ἅγιον

पवित्र बच्चा या ""पवित्र बालक

Υἱὸς Θεοῦ

यह यीशु के लिए एक महत्वपूर्ण पदवी है। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

Luke 1:36

ἰδοὺ…ἡ συγγενίς σου

ध्यान दें, क्योंकि जो मैं कहने जा रहा हूँ वह सत्य और महत्वपूर्ण दोनों है: आपके सम्बन्धी

Ἐλεισάβετ, ἡ συγγενίς σου

यदि आपको एक विशेष सम्बन्ध को बताने की आवश्यकता है, तो एलीशिबा शायद मरियम की चाची या बड़ी-चाची थी।

καὶ αὐτὴ συνείληφεν υἱὸν ἐν γήρει αὐτῆς

एलीशिबा भी एक पुत्र के साथ गर्भवती हो गई थी, भले ही वह पहले से ही बहुत बुजुर्ग थी या ""एलीशिबा, भले ही बूढ़ी थी, वह गर्भवती हो गई थी और एक पुत्र को जनने वाली थी।"" सुनिश्चित करें कि ऐसा प्रतीत नहीं होता है कि मरियम और एलीशिबा दोनों बुढ़े थे जब वे गर्भवती हुई थीं।

μὴν ἕκτος…αὐτῇ

उसकी गर्भावस्था के छठे महीने

Luke 1:37

ὅτι οὐκ…πᾶν ῥῆμα

क्योंकि कुछ भी नहीं था या ""यह दिखाता है कि कुछ भी नहीं था

οὐκ ἀδυνατήσει παρὰ τοῦ Θεοῦ πᾶν ῥῆμα

एलीशिबा की गर्भावस्था प्रमाण थी कि परमेश्वर कुछ भी करने में सक्षम है-यहाँ तक कि मरियम को पुरुष के साथ सोए बिना ही गर्भवती होने में सक्षम बनाता है। इस कथन में दिए हुए दोहरे नकारात्मक सकारात्मक शब्दों के साथ कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर कुछ भी कर सकता है"" (देखें: दोहरे नकारात्मक)

Luke 1:38

ἰδοὺ, ἡ δούλη

यहाँ मैं उपलब्ध हूँ, दासी या ""मैं एक दासी बनकर प्रसन्न हूँ।"" वह नम्रतापूर्वक और स्वेच्छा से प्रतिक्रिया दे रही है।

ἰδοὺ, ἡ δούλη Κυρίου

एक अभिव्यक्ति को चुनें जो परमेश्वर के प्रति उसकी विनम्रता और आज्ञाकारिता को दिखाती है। वह परमेश्वर दासी होने के बारे में घमण्ड नहीं कर रही थी।

γένοιτό μοι

इसे मेरे साथ होने दो। मरियम उन बातों के लिए अपनी इच्छा व्यक्त कर रही थी जिसे स्वर्गदूत ने उसे बताया था कि वे घटित होने पर थीं।

Luke 1:39

मरियम अपनी सम्बन्धी एलीशिबा से मिलने जा रही है, जो यूहन्ना को जन्म देने वाली थी (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἀναστᾶσα

इस मुहावरे का अर्थ यह है कि वह न केवल खड़ी हुई, अपितु ""तैयार भी हो गई।"" वैकल्पिक अनुवाद: ""चल पड़ी"" या ""तैयार हो गई"" (देखें: मुहावरे)

τὴν ὀρινὴν

पहाड़ी क्षेत्र या ""इस्राएल का पहाड़ी भाग

Luke 1:40

εἰσῆλθεν

यह निहितार्थ है कि मरियम ने जकर्याह के घर जाने से पहले अपनी यात्रा पूरी कर ली थी। इसे स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब वह पहुँची, तो वह चली गयी"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 1:41

καὶ ἐγένετο

इस वाक्यांश का उपयोग कहानी के इस भाग में एक नई घटना को चिन्हित करने के लिए किया गया है।

ἐν τῇ κοιλίᾳ αὐτῆς

एलीशिबा के गर्भ में

ἐσκίρτησεν

अचानक से हिल पड़ा

Luke 1:42

καὶ ἀνεφώνησεν φωνῇ μεγάλῃ καὶ εἶπεν

इन दो वाक्यांशों का अर्थ एक ही बात है, और इनका उपयोग इस बात पर जोर देने के लिए किया गया है कि एलीशिबा कितनी अधिक उत्साहित थी। उन्हें एक वाक्यांश में जोड़ा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ऊँची आवाज में विस्मयबोध होना"" (देखें: दोहरात्मक)

ἀνεφώνησεν φωνῇ μεγάλῃ

इस मुहावरे का अर्थ है ""उसकी आवाज़ की मात्रा में वृद्धि हुई"" (देखें: मुहावरे)

εὐλογημένη σὺ ἐν γυναιξίν

स्त्रियों में"" मुहावरे का अर्थ ""किसी और स्त्री से बढ़कर"" (देखें: मुहावरे)

ὁ καρπὸς τῆς κοιλίας σου

मरियम के शिशु के लिए ऐसा कहा जाता है कि यही वह फल है जो एक पौधे को उत्पन्न करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तेरे गर्भ का शिशु"" या ""जिस बच्चे को तू जनेगी"" (देखें: रूपक)

Luke 1:43

καὶ πόθεν μοι τοῦτο, ἵνα ἔλθῃ ἡ μήτηρ τοῦ Κυρίου μου πρὸς ἐμέ?

एलीशिबा जानकारी नहीं मांग रही है। वह दिखा रही थी कि वह कितनी आश्चर्यचकित और प्रसन्न थी कि प्रभु की माता उसके पास आई थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह कितना अद्भुत है कि मेरे प्रभु की माता मेरे पास आई है!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἡ μήτηρ τοῦ Κυρίου μου

यह स्पष्ट किया जा सकता है कि एलीशिबा ""तू"" शब्द जोड़कर मरियम को ""मेरे प्रभु की माता"" कह कर पुकार रही थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""तू, मेरे प्रभु की माता"" (देखें: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

Luke 1:44

ἰδοὺ γὰρ

यह वाक्यांश एलीशिबा को आगे आने वाले आश्चर्यजनक कथन पर ध्यान देने के लिए मरियम को सावधान करता है।

ὡς ἐγένετο ἡ φωνὴ τοῦ ἀσπασμοῦ σου εἰς τὰ ὦτά μου

यहाँ आवाज को सुनना ऐसा है मानो कि आवाज कानों तक पहुँची है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब मैंने तेरे अभिभावन की आवाज को सुना"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἐσκίρτησεν ἐν ἀγαλλιάσει

अचानक से प्रसन्नता के कारण हिल पड़ा या ""जोर लगा कर उछल पड़ा क्योंकि वह बहुत अधिक आनन्दित था

Luke 1:45

καὶ μακαρία ἡ πιστεύσασα…τοῖς λελαλημένοις αὐτῇ παρὰ Κυρίου

एलीशिबा मरियम के बारे में मरियम से बात कर रही है। वैकल्पिक अनुवाद: ""धन्य है तू जिसने विश्वास किया... जो कुछ तुझे प्रभु की ओर से कहा गया था"" (देखें: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

καὶ μακαρία ἡ πιστεύσασα

निष्क्रिय क्रिया का अनुवाद सक्रिय रूप में किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर उसे आशीष देगा क्योंकि उसने विश्वास किया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἔσται τελείωσις τοῖς λελαλημένοις

घटनाएँ वास्तव में घटित होती हैं या ""घटनाएँ सच हो जाएँगी

τοῖς λελαλημένοις αὐτῇ παρὰ Κυρίου

से"" शब्द का उपयोग ""द्वारा"" की अपेक्षा यहाँ किया जाता है क्योंकि यह स्वर्गदूत जिब्राईल था जिसे मरियम ने वास्तव में सुना था (देखें [लूका 1:26] (../01/26.md)), परन्तु सन्देश (""घटनाएँ"") अन्ततः परमेश्वर की ओर से आई थीं। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह सन्देश जो उसने प्रभु की ओर से सुना"" या ""परमेश्वर का सन्देश जो स्वर्गदूत ने उसे बताया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 1:46

मरियम प्रभु अपने उद्धारकर्ता के लिए स्तुति के एक गीत को गाना आरम्भ करती है।

μεγαλύνει ἡ ψυχή μου

शब्द ""प्राण"" किसी व्यक्ति के आत्मिक भाग को सन्दर्भित करता है। मरियम कह रही है कि उसकी आराधना उसके मन की गहराई से आ रही है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरा भीतरी मन स्तुति करती है"" या ""मैं स्तुति करता हूं"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Luke 1:47

ἠγαλλίασεν τὸ πνεῦμά μου

प्राण"" और ""आत्मा"" दोनों एक व्यक्ति के आत्मिक भगा को सन्दर्भित करते हैं। मरियम कह रही है कि उसकी आराधना उसके मन की गहराई से आ रही है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरा मन आनन्दित हुआ है"" या ""मैं आनन्दित हूँ"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

ἠγαλλίασεν…ἐπὶ

के बारे में बहुत अधिक आनन्द को महसूस किया या ""इसके बारे में बहुत अधिक प्रसन्न थी

τῷ Θεῷ, τῷ Σωτῆρί μου

परमेश्वर, ही एक है जो मुझे बचाता है या ""परमेश्वर, जो मुझे बचाता है

Luke 1:48

ὅτι ἐπέβλεψεν

ऐसा इसलिए है क्योंकि

ἐπέβλεψεν ἐπὶ

चिन्ता के साथ मुझे देखा या ""के बारे में चिंता की

ταπείνωσιν

निर्धनता मरियम का परिवार धनी नहीं था।

ἰδοὺ γὰρ

यह वाक्यांश आगे आने वाले कथन के ऊपर ध्यानाकर्षित करता है।

ἀπὸ τοῦ νῦν

अब और भविष्य में

πᾶσαι αἱ γενεαί

सभी पीढ़ियों के लोग

Luke 1:49

ὁ δυνατός

परमेश्वर, सर्वसामर्थी

τὸ ὄνομα αὐτοῦ

यहाँ ""नाम"" परमेश्वर के पूरे व्यक्तिव को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 1:50

καὶ τὸ ἔλεος αὐτοῦ

परमेश्वर की दया

εἰς γενεὰς καὶ γενεὰς

एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक या ""प्रत्येक पीढ़ी में"" या ""प्रत्येक समय की अवधि के लोगों के लिए

Luke 1:51

ἐποίησεν κράτος ἐν βραχίονι αὐτοῦ

यहाँ ""उसकी भुजा"" एक उपनाम है जो परमेश्वर की सामर्थ्य को दिखता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""दिखाया गया है कि वह बहुत अधिक सामर्थी है"" (देखें: लक्षणालंकार)

διεσκόρπισεν…καρδίας αὐτῶν

उन लोगों के ... मनों को विभिन्न दिशाओं में जाने के लिए प्रेरित किया है

ὑπερηφάνους διανοίᾳ καρδίας αὐτῶν

यहाँ ""मन"" लोगों के प्राणों के भीतरी भाग के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो अपने विचारों पर घमण्ड महसूस करते थे"" या ""जिन्हें घमण्ड था"" (देखें: मुहावरे)

Luke 1:52

καθεῖλεν δυνάστας ἀπὸ θρόνων

सिंहासन एक ऐसी कुर्सी है जिस के ऊपर एक शासक बैठता है, और यह उसके अधिकार का प्रतीक है। यदि राजकुमार को उसके सिंहासन से नीचे उतार दिया जाता है, तो इसका अर्थ है कि उसके पास अब शासन करने का अधिकार नहीं है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने राजकुमारों के अधिकार को हटा दिया है"" या ""उसने शासकों को शासन करने से रोक दिया है"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

ὕψωσεν ταπεινούς

इस शब्द चित्र में, जो लोग महत्वपूर्ण हैं वे उन लोगों से ऊँचे हैं जिनका महत्व कम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""नम्र लोगों को महत्वपूर्ण बना दिया गया है"" या ""उन लोगों को सम्मान दिया है जिन्हें दूसरों ने सम्मानित नहीं किया है"" (देखें: रूपक)

ταπεινούς

निर्धनता में। देखें कि आपने इसका अनुवाद [लूका 1:48] (../ 01 / 48.md) में कैसे किया है।

Luke 1:53

πεινῶντας ἐνέπλησεν ἀγαθῶν

यदि सम्भव हो तो इन दो विपरीत गतिविधियों के मध्य के अन्तर को अनुवाद में स्पष्ट किया जाना चाहिए।

πεινῶντας ἐνέπλησεν ἀγαθῶν…πλουτοῦντας ἐξαπέστειλεν κενούς

सम्भावित अर्थ 1) ""भूखों को खाने के लिए अच्छा भोजन दिया"" या 2) ""आवश्यकता में पड़े हुओं को अच्छी वस्तुएँ दी हैं।

Luke 1:54

इस्राएल के बारे में जानकारी को इक्ट्ठी रखने के लिए यूएसटी अनुवाद इन वचनों को एक सम्पर्क स्थापित करने वाले वचन के रूप में पुनर्व्यवस्थित करता है। (देखें: पद सेतु)

ἀντελάβετο

प्रभु ने सहयता की है

Ἰσραὴλ παιδὸς αὐτοῦ

यदि पाठक इसे इस्राएल नाम के व्यक्ति के साथ भ्रमित करते हैं, तो इसका अनुवाद ""उसका दास, इस्राएल की जाति"" या ""इस्राएल, उसका दास"" के रूप में किया जा सकता है।

ऐसा करने के लिए

μνησθῆναι

परमेश्वर भूला नहीं सकते हैं। जब परमेश्वर ""स्मरण,"" करता है, यह एक मुहावरा है जिसका अर्थ यह है कि परमेश्वर अपनी पहले की हुई प्रतिज्ञा पर कार्य करता है। (देखें: मुहावरे)

Luke 1:55

καθὼς ἐλάλησεν πρὸς τοὺς πατέρας ἡμῶν

ठीक वैसे ही जैसे उसने हमारे पूर्वजों से प्रतिज्ञा की थी वह करेगा। यह वाक्यांश अब्राहम से की हुई प्रतिज्ञा के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी प्रदान करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि उसने हमारे पूर्वजों से प्रतिज्ञा की थी कि वह दयालु रहेगा"" (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

τῷ σπέρματι αὐτοῦ

अब्राहम के वंशज

Luke 1:56

एलीशिबा अपने बच्चे को जन्म और फिर जकर्याह अपने बच्चे को नाम देता है।

ὑπέστρεψεν εἰς τὸν οἶκον αὐτῆς

मरियम अपने (मरियम) घर वापस लौट आई है या ""मरियम अपने घर लौट आई है

Luke 1:57

δὲ

यह शब्द कहानी में घटने वाली अगली घटना के आरम्भ को चिन्हित करता है।

τοῦ τεκεῖν αὐτήν

अपने बच्चे को जन्म देती है

Luke 1:58

οἱ περίοικοι καὶ οἱ συγγενεῖς αὐτῆς

एलीशिबा के पड़ोसी और सम्बन्धी

ἐμεγάλυνεν…τὸ ἔλεος αὐτοῦ μετ’ αὐτῆς

उसके प्रति बहुत अधिक दयालु रही

Luke 1:59

καὶ ἐγένετο

यह वाक्यांश मुख्य कहानी की रेखा में विराम को चिन्हित करने के लिए यहाँ उपयोग किया जाता है। यहाँ लूका कहानी के एक नए भाग को बताना आरम्भ कर देता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἐν τῇ ἡμέρᾳ τῇ ὀγδόῃ

यहाँ ""आठवाँ दिन"" बच्चे के जन्म के समय के पश्चात् समय को सन्दर्भित करता है, जो पहले दिन से गिना जाता था, जिस दिन उसका जन्म हुआ था। वैकल्पिक अनुवाद: ""बच्चे के जीवन के आठवें दिन"" (देखें: क्रमसूचक संख्याएँ)

ἦλθον περιτεμεῖν τὸ παιδίον

यह प्रायः एक समारोह था जहाँ एक व्यक्ति अपने बच्चे का खतना कराता था और उसके मित्र उसके परिवार के साथ उत्सव मनाते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे बच्चे के खतना समारोह के लिए आए थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐκάλουν αὐτὸ

वे उसे नाम देने जा रहे थे या ""वे उसे नाम देना चाहते थे

ἐπὶ τῷ ὀνόματι τοῦ πατρὸς αὐτοῦ

उसके पिता का नाम

Luke 1:61

τῷ ὀνόματι τούτῳ

उस नाम से या ""उस जैसे नाम से

Luke 1:62

ἐνένευον

यह उन लोगों को सन्दर्भित करता है जो खतना समारोह के लिए वहाँ उपस्थित थे।

ἐνένευον

संकेत दिया। या तो जकर्याह सुनने के साथ, बोलने में असमर्थ था, या लोगों ने कल्पना थी कि वह सुन नहीं सकता था।

τῷ πατρὶ αὐτοῦ

बालक के पिता से

τὸ τί ἂν θέλοι καλεῖσθαι αὐτό

जकर्याह क्या नाम बच्चे को देना चाहता था

Luke 1:63

καὶ αἰτήσας πινακίδιον

यह कहना सहायक हो सकता है कि जकर्याह ने कैसे ""पूछा"", क्योंकि वह तो बोल ही नहीं सकता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उनके पिता ने लोगों को यह दिखाने के लिए अपने हाथों का उपयोग किया कि वह चाहता था कि वे उसे लिखने के लिए लेखन पट्टिया दें"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

πινακίδιον

लिखने के लिए कोई वस्तु

ἐθαύμασαν

बहुत ही अधिक विस्मित या आश्चर्यचकित

Luke 1:64

ἀνεῴχθη…τὸ στόμα αὐτοῦ…καὶ ἡ γλῶσσα αὐτοῦ

ये दो वाक्यांश शब्द चित्र हैं जो एक साथ जोर देते हैं कि जकर्याह अचानक से बोलने में सक्षम हो गया था। (देखें: मुहावरे और समरूपता)

ἀνεῴχθη…τὸ στόμα αὐτοῦ…καὶ ἡ γλῶσσα αὐτοῦ

इन वाक्यांशों को क्रिया के सक्रिय रूप में बताया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उसका मुँह खोला और उसकी जीभ स्वतंत्र कर दी"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 1:65

καὶ ἐγένετο ἐπὶ πάντας φόβος, τοὺς περιοικοῦντας αὐτούς

जकर्याह और एलीशिबा के आसपास रहने वाले सभी डरे हुए थे। स्पष्ट रूप से बताने में यह सहायक हो सकता है कि वे क्यों डरे हुए थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो लोग उनके चारों ओर रहते थे वे परमेश्वर के भय में थे क्योंकि उसने जकर्याह के साथ ऐसा किया था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

πάντας…τοὺς περιοικοῦντας αὐτούς

शब्द ""सब"" यहां एक सामान्यीकरण है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो उनके चारों ओर रहते थे"" या ""उस क्षेत्र में रहने वाले बहुत से लोग"" (देखें: अतिशयोक्ति)

ἐν ὅλῃ τῇ ὀρεινῇ τῆς Ἰουδαίας διελαλεῖτο πάντα τὰ ῥήματα ταῦτα

ये बातें फैल गई थीं"" वाक्यांश उनके बारे में बात करने वाले लोगों के लिए एक रूपक है। यहाँ निष्क्रिय क्रिया का भी सक्रिय रूप में अनुवाद किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यहूदियों के सभी पहाड़ी देश में लोगों के द्वारा इन सभी विषयों के बारे में बातें की गई"" या ""यहूदिया के पहाड़ी देश के लोगों ने इन सभी विषयों के बारे में बातें कीं"" (देखें: रूपक और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 1:66

πάντες οἱ ἀκούσαντες

वे सभी जिन्होंने इन विषयों को सुना

ἔθεντο…ἐν τῇ καρδίᾳ αὐτῶν

जो बातें घटित हुई थीं, उनके बारे में अक्सर सोचकर उन बातों को अपने मनों में सुरक्षित रूप से डालने के बारे में बताया गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इन विषयों के बारे में सावधानी से सोचा"" या ""इन घटनाओं के बारे में बहुत कुछ सोचा"" (देखें: रूपक)

τῇ καρδίᾳ…λέγοντες

मनों। उन्होंने पूछा

τί ἄρα τὸ παιδίον τοῦτο ἔσται?

बड़ा होने पर यह बच्चा किस तरह का महान् व्यक्ति बन जाएगा? यह भी सम्भव है कि यह प्रश्न बच्चे के बारे में जो कुछ सुना था उस पर उनके आश्चर्य का वर्णित करने के लिए एक कथन था। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह बच्चा कैसा महान् व्यक्ति होगा!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

χεὶρ Κυρίου ἦν μετ’ αὐτοῦ

वाक्यांश ""प्रभु का हाथ"" परमेश्वर की सामर्थ्य को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: "" परमेश्वर की सामर्थ्य उसके साथ थी"" या "" परमेश्वर सर्वसामर्थी रूप से उसके साथ काम कर रहा था"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 1:67

जकर्याह बताता है कि उसके पुत्र यूहन्ना के साथ क्या होगा।

Ζαχαρίας ὁ πατὴρ αὐτοῦ, ἐπλήσθη Πνεύματος Ἁγίου καὶ ἐπροφήτευσεν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पवित्र आत्मा ने उसके पिता जकर्याह को भर दिया, और जकर्याह ने भविष्यवाणी की"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ὁ πατὴρ αὐτοῦ

यूहन्ना का पिता

ἐπροφήτευσεν λέγων

अपनी भाषा में प्रत्यक्ष उद्धरण को प्रस्तुत करने के स्वभाविक तरीकों पर विचार करें। वैकल्पिक अनुवाद: ""भविष्यद्वाणी की और कहा"" या ""भविष्यद्वाणी की, और जो कुछ उसने कहा वह यह है"" (देखें: प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष उद्धरण)

Luke 1:68

ὁ Θεὸς τοῦ Ἰσραήλ

इस्राएल यहाँ इस्राएल की जाति को सन्दर्भित कर रहा है। परमेश्वर और इस्राएल के मध्य सम्बन्ध अधिक सीधे कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर जो इस्राएल के ऊपर शासन करता है"" या ""परमेश्वर जिसकी इस्राएल आराधना करता है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

τῷ λαῷ αὐτοῦ

परमेश्वर के लोग

Luke 1:69

ἤγειρεν κέρας σωτηρίας ἡμῖν

एक पशु का सींग स्वयं को बचाने के लिए अपनी शक्ति का प्रतीक है। यहाँ शब्द निकाला का अर्थ अस्तित्व में लाने या कार्य करने में सक्षम होने से है। मसीह को इस तरह से बोला गया है कि मानो वह इस्राएल को बचाने के लिए सामर्थ्य के एक सींग के साथ था। वैकल्पिक अनुवाद: ""हमें बचाने के लिए वह ऐसे व्यक्ति को हमारे पास लाया है जिसके पास सामर्थ्य"" (देखें: रूपक)

ἐν οἴκῳ Δαυεὶδ, παιδὸς αὐτοῦ

दाऊद का ""घराना"" यहाँ उसके परिवार, विशेष रूप से, उनके वंशजों का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अपने दास दाऊद के परिवार में"" या ""जो अपने दास दाऊद का वंशज हैं"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 1:70

καθὼς ἐλάλησεν

ठीक वैसे ही जैसे परमेश्वर ने कहा है

ἐλάλησεν διὰ στόματος τῶν ἁγίων ἀπ’ αἰῶνος προφητῶν αὐτοῦ

परमेश्वर भविष्यद्वक्ताओं के मुँह से बोलते हुए यह दर्शाता है कि भविष्यवक्ताओं से वही कहलवाता है जो वह चाहता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने अपने पवित्र भविष्यद्वक्ताओं को आने दिया जो बहुत पहले कहने के लिए आते रहे थे"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 1:71

σωτηρίαν ἐξ ἐχθρῶν ἡμῶν

भाववाचक संज्ञा ""उद्धार"" को क्रियाओं ""बचा"" या ""बचाने"" के साथ व्यक्त किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""बहुत पहले से)। वह हमें हमारे शत्रुओं से बचाएगा"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

ἐχθρῶν ἡμῶν…πάντων τῶν μισούντων ἡμᾶς

ये दो वाक्यांश का मूल रूप से वही बात करते हैं और यह जोर देने के लिए दोहराए जाते हैं कि उनके शत्रु उनके विरुद्ध कितनी अधिक दृढ़ता से हैं। (देखें: समरूपता)

χειρὸς

हाथ उस सामर्थ्य के लिए उपनाम है जिसे व्यक्ति व्यायाम करने के लिए हाथ का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सामर्थ्य"" या ""नियन्त्रण"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 1:72

ἔλεος μετὰ

दयालु होने या ""उसकी दया के अनुसार कार्य करने के लिए

μνησθῆναι

यहाँ ""स्मरण रखें"" शब्द का अर्थ प्रतिबद्धता रखने या कुछ पूरा करने से है।

Luke 1:73

ὅρκον ὃν ὤμοσεν

ये शब्द ""उसकी पवित्र वाचा"" (वचन 72) का उल्लेख करते हैं।

τοῦ δοῦναι ἡμῖν

इसे हमारे लिए सम्भव करने के लिए

Luke 1:74

ἀφόβως, ἐκ χειρὸς ἐχθρῶν ῥυσθέντας, λατρεύειν αὐτῷ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि हम अपने शत्रुओं के हाथ से बचाए जाने के पश्चात् डर के बिना उसकी सेवा करेंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐκ χειρὸς ἐχθρῶν

यहाँ ""हाथ"" किसी व्यक्ति के नियंत्रण या शक्ति को सन्दर्भित करता है। इसे स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""हमारे शत्रुओं के नियंत्रण से"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἀφόβως

यह उनके शत्रुओं के डर को सन्दर्भित कर रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अपने शत्रुओं से डरे बिना"" (देखें: पदन्यूनता)

Luke 1:75

ἐν ὁσιότητι καὶ δικαιοσύνῃ

इसे भाववाचक संज्ञा ""पवित्रता"" और ""धार्मिकता"" को हटाने के लिए पुन: कहा जा सकता है। सम्भावित अर्थ 1) हम पवित्र और धार्मिकता से भरे हुए तरीकों से परमेश्वर की सेवा करेंगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह करना जो पवित्र और धार्मीकता भरा है"" या 2) हम पवित्र और धर्मी होंगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""पवित्र और धर्मी होना"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

ἐνώπιον αὐτοῦ

यह एक मुहावरा है जिसका अर्थ ""उसकी उपस्थिति में"" होने से है (देखें: मुहावरे)

Luke 1:76

καὶ σὺ δέ

जकर्याह अपने पुत्र के साथ सीधे सम्बोधन को आरम्भ करने के लिए इस वाक्यांश का उपयोग करता है। आपके पास अपनी भाषा में सीधी बात बोलने के लिए ऐसा ही तरीका हो सकता है।

σὺ…παιδίον, προφήτης…κληθήσῃ

लोग पहचान लेगें कि वह एक भविष्यद्वक्ता है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग जान लेंगे कि तू एक भविष्यद्वक्ता हैं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Ὑψίστου

ये शब्द परमेश्वर के लिए शिष्टोक्ति हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो परम प्रधान की सेवा करता है"" या ""जो परम प्रधान परमेश्वर के लिए बोलता है"" (देखें: शिष्टोक्ति)

προπορεύσῃ…ἐνώπιον Κυρίου

प्रभु के आगमन से पहले, वह जाकर लोगों को यह घोषणा करेगा कि प्रभु उनके पास आएगा। देखें कि आपने इसका अनुवाद कैसे किया [लूका 1:17] (../ 01 / 17.md)।

ἐνώπιον Κυρίου

किसी के आगे-आगे चलना एक मुहावरा हो सकता है जो उस व्यक्ति की उपस्थिति को सन्दर्भित करता है। इसे कभी-कभी अनुवाद में छोड़ दिया जाता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रभु"" देखें कि आपने इसका अनुवाद कैसे किया [लूका 1:17] (../ 01 / 17.md)। (देखें: मुहावरे)

ἑτοιμάσαι ὁδοὺς αὐτοῦ

यह एक रूपक है जिसका अर्थ है कि यूहन्ना लोगों को परमेश्वर के सन्देश को सुनने और विश्वास करने के लिए तैयार करेगा। (देखें: रूपक)

Luke 1:77

τοῦ δοῦναι γνῶσιν σωτηρίας…ἐν ἀφέσει ἁμαρτιῶν αὐτῶν

वाक्यांश ""ज्ञान दे"" शिक्षा देना के लिए एक रूपक है। भाववाचक संज्ञा ""उद्धार"" और ""क्षमा"" को ""बचाने"" और ""क्षमा"" जैसी क्रियाओं के साथ व्यक्त किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उनके पापों की क्षमा के द्वारा अपने लोगों को उद्धार की शिक्षा देने के लिए"" या ""उसके लोगों को शिक्षा देने के लिए कि परमेश्वर कैसे उनके पापों को क्षमा करके लोगों को बचाता है"" (देखें: लक्षणालंकार और भाववाचक संज्ञा)

Luke 1:78

διὰ σπλάγχνα ἐλέους Θεοῦ ἡμῶν

यह कहना उपयोगी हो सकता है कि परमेश्वर की दया लोगों की सहायता करती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि परमेश्वर कृपालु और दयालु है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἀνατολὴ ἐξ ὕψους

प्रकाश अक्सर सत्य के लिए एक रूपक है। यहाँ, उद्धारकर्ता आत्मिक सत्य को ऐसे प्रदान करेगा, जैसे कि यह सूर्योदय है जो पृथ्वी को प्रकाश देता है। (देखें: रूपक)

Luke 1:79

ἐπιφᾶναι

प्रकाश अक्सर सत्य के लिए एक रूपक है। यहाँ, उद्धारकर्ता आत्मिक सत्य को ऐसे प्रदान करेगा, जैसे कि यह सूर्योदय है जो पृथ्वी को प्रकाश देता है (वचन 78)। (देखें: रूपक)

ἐπιφᾶναι

ज्ञान देना या ""आत्मिक प्रकाश देना

τοῖς ἐν σκότει…καθημένοις

आत्मिक सत्य की अनुपस्थिति के कारण अन्धेरा यहाँ एक रूपक है। यहाँ, जिन लोगों के पास आत्मिक सत्य की कमी है, उनके लिए ऐसा बोला गया है कि जैसे वे अन्धेरे में बैठे हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे लोग जो सत्य नहीं जानते"" (देखें: रूपक)

ἐν σκότει καὶ σκιᾷ θανάτου

परमेश्वर के दया से पहले ये दो वाक्यांश लोगों के गहन आत्मिक अन्धेरे पर जोर देने के लिए मिलकर काम करते हैं। (देखें: दोहरात्मक)

σκιᾷ θανάτου

छाया अक्सर ऐसा कुछ दर्शाती है जो घटित होने वाला है। यहाँ, यह मृत्यु के निकट आने को सन्दर्भित किया गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कौन मरने वाला है"" (देखें: मुहावरे)

κατευθῦναι τοὺς πόδας ἡμῶν εἰς ὁδὸν εἰρήνης

यहाँ ""मार्गदर्शन"" शिक्षा देने के लिए एक रूपक है, और ""कुशल का मार्ग"" परमेश्वर के साथ शान्ति में रहने के लिए एक रूपक है। वाक्यांश ""हमारे पाँवों"" को एक उपलक्षक अलंकार है जो एक पूरे व्यक्ति को प्रस्तुत करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""शिक्षा दे कि हमें कैसे परमेश्वर के साथ शान्ति में रहना है"" (देखें: रूपक और उपलक्षण अलंकार)

Luke 1:80

यह यूहन्ना के अपनी आयु में बढ़ते हुए वर्षों के बारे में संक्षेप में बताता है।

δὲ

यह शब्द मुख्य कहानी की रेखा में विराम को चिन्हित करने के लिए यहाँ उपयोग किया गया है। लूका शीघ्र ही यूहन्ना के जन्म से उसके वयस्क होने के पश्चात् उसकी सेवा के आरम्भ की ओर मुड़ता है।

ἐκραταιοῦτο πνεύματι

आत्मिक रूप से परिपक्व हो गया था या ""परमेश्वर के साथ अपने सम्बन्ध को दृढ़ किया

ἦν ἐν ταῖς ἐρήμοις

जंगल में रहता था। लूका यह नहीं कहता कि किस आयु में यूहन्ना ने जंगल में रहना आरम्भ किया था।

ἕως

यह आवश्यक रूप से एक रूकने वाले बिन्दु को चिन्हित नहीं करता है। सार्वजनिक रूप से प्रचार करना आरम्भ करने के पश्चात् भी यूहन्ना निरन्तर जंगल में ही रहता था।

ἡμέρας ἀναδείξεως αὐτοῦ

जब उसने सार्वजनिक रूप से प्रचार करना आरम्भ किया

ἡμέρας

इसका उपयोग यहाँ ""समय"" या ""अवसर"" के सामान्य अर्थ में किया गया है।

Luke 2

लूका 02 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

कुछ अनुवाद पढ़ने के लिए आसान बनाने के लिए कविता के प्रत्येक वाक्य को बाकी के भाग की तुलना में पंक्ति को दाईं ओर व्यवस्थित करते हैं। यूएलटी अनुवाद 2:14, 29-32 में दी हुई कविता के साथ ऐसा ही करता है।

Luke 2:1

यह उस पृष्ठभूमि को देता है कि मरियम और यूसुफ को यीशु के जन्म के समय कहीं ओर क्यों जाना पड़ा।

δὲ

यह शब्द कहानी के एक नए भाग के आरम्भ को चिन्हित करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἐγένετο

यह वाक्यांश यह दिखाने के लिए प्रयोग किया जाता है कि यह एक वृतान्त का आरम्भ है। यदि आपकी भाषा में किसी वृतान्त के आरम्भ को दिखाने का कोई और तरीका है, तो आप इसका उपयोग कर सकते हैं। कुछ अनुवादों में इस वाक्यांश को सम्मिलित नहीं किया गया है।

Καίσαρος Αὐγούστου

राजा औगुस्तुस या ""सम्राट औगुस्तुस।"" औगुस्तुस कैसर रोमी साम्राज्य का पहला सम्राट था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें और नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἐξῆλθεν δόγμα

यह आदेश शायद पूरे साम्राज्य में सन्देशवाहकों के द्वारा दिया गया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""राजाज्ञा के आदेश के साथ संदेशवाहक भेजे गए थे"" (देखें: मुहावरे)

ἀπογράφεσθαι πᾶσαν τὴν οἰκουμένην

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि वे संसार में रहने वाले सभी लोगों को पंजीकृत करते हैं"" या ""वे संसार के सभी लोगों को गिनते हैं और उनके नाम लिखते हैं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὴν οἰκουμένην

यहाँ शब्द ""सारे"" का अर्थ केवल संसार के उस भाग से है जो कैसर औगुस्त के शासन के अधीन था। वैकल्पिक अनुवाद: ""साम्राज्य"" या ""रोमी संसार"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Luke 2:2

Κυρηνίου

क्विरिनियुस को सीरिया के राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 2:3

ἐπορεύοντο πάντες

हर कोई चल पड़ा या ""हर कोई जा रहा था

τὴν ἑαυτοῦ πόλιν

यह उन शहरों को सन्दर्भित करता है जहां लोगों के पूर्वज रहते थे। लोग एक भिन्न शहर में रहते होंगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह शहर जिसमें उसके पूर्वज रहते थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἀπογράφεσθαι

रजिस्टर में अपना नाम लिखवाना चाहिए या ""आधिकारिक गिनती में सम्मिलित होना

Luke 2:4

यूएसटी अनुवाद वाक्यों को छोटा करके आसान बनाने के लिए इन दो वचनों को एक सम्पर्क स्थापित करने वाले वचन के रूप में पुनर्व्यवस्थित करता है। (देखें: पद सेतु)

καὶ Ἰωσὴφ

यह यूसुफ की कहानी में एक नए भागी के रूप में आने को प्रस्तुत करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

εἰς πόλιν Δαυεὶδ, ἥτις καλεῖται Βηθλέεμ

वाक्यांश ""दाऊद का नगर"" बैतलहम का नाम था जो बताता है कि बैतलहम क्यों महत्वपूर्ण था। यद्यपि यह एक छोटा सा शहर था, राजा दाऊद का जन्म वहीं हुआ था, और यह एक भविष्यवाणी थी कि मसीह का जन्म वहीं होगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""बैतलहम में, राजा दाऊद का शहर"" या ""बैतलहम, वह नगर जहां राजा दाऊद का जन्म हुआ था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

διὰ τὸ εἶναι αὐτὸν ἐξ οἴκου καὶ πατριᾶς Δαυείδ

क्योंकि यूसुफ दाऊद के वंश से था

Luke 2:5

ἀπογράψασθαι

इसका अर्थ अधिकारियों को रिपोर्ट करना है ताकि वे उसे गिनती में सम्मिलित कर सकें। यदि सम्भव हो तो आधिकारिक सरकारी गिनती वाले शब्द का प्रयोग करें।

σὺν Μαριὰμ

मरियम ने नासरत से यूसुफ के साथ यात्रा की। ऐसा लगता है कि स्त्रियों पर भी कर लगाया गया था, इसलिए मरियम को यात्रा करने और पंजीकृत होने की भी आवश्यकता हुई थी। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

τῇ ἐμνηστευμένῃ αὐτῷ

उसका मंगेतर या ""जिसकी उसके लिए प्रतिज्ञा की गई थी।"" एक मंगनी किया हुआ जोड़े को कानूनी रूप से विवाहित माना जाता था, परन्तु उनके बीच में शारीरिक अंतरंगता नहीं रही थी।

Luke 2:6

यूएसटी अनुवाद इन वचनों को एक सम्पर्क करने वाले वचन के रूप में पुर्नव्यवस्थित करता है ताकि वे जिस स्थान में रहे थे, उनके बारे में विवरण रख सके। (देखें: पद सेतु)

यह यीशु के जन्म और चरवाहों के लिए स्वर्गदूतों की घोषणा के बारे में बताता है।

ἐγένετο δὲ

यह वाक्यांश कहानी में अगले घटना के आरम्भ को चिन्हित करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἐν τῷ εἶναι αὐτοὺς ἐκεῖ

जब मरियम और यूसुफ बैतलहम में थे

ἐπλήσθησαν αἱ ἡμέραι τοῦ τεκεῖν αὐτήν

यह उसके द्वारा अपने बालक को जन्म देने का समय था।

Luke 2:7

ἐσπαργάνωσεν αὐτὸν

कुछ संस्कृतियों में माताएँ अपने बच्चों को कपड़े या कम्बल में कसकर लपेटते हुए उन्हें आराम प्रदान करती हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""दृढ़ता के साथ उसके चारों ओर कपड़े लिपटे हुए थे"" या ""उसे कम्बल में कसकर लपेटा गया था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἀνέκλινεν αὐτὸν ἐν φάτνῃ

यह एक तरह का डिब्बा या ढ़ांचा था जिसमें लोग जानवरों के खाने के लिए घास या अन्य भोजन डालते थे। यह संभवतः सबसे अधिक साफ था और बच्चे के लिए सूखी घास की तरह कोमल ओर नरम गद्देदार कुछ हो सकता है। जानवरों को अक्सर सुरक्षित रखने और उन्हें आसानी से भोजन खिलाने के लिए घर के पास रखा जाता था। मरियम और यूसुफ एक ऐसे कमरे में रहे जो जानवरों के लिए उपयोग किया जाता था।

οὐκ ἦν αὐτοῖς τόπος ἐν τῷ καταλύματι

उनके रहने के लिए अतिथि गृह में कोई स्थान नहीं था। ऐसा शायद इसलिए हुआ क्योंकि बहुत से लोग बैतलहम आए हुए थे। लूका इसे पृष्ठभूमि की जानकारी देने के रूप में जोड़ता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

Luke 2:9

ἄγγελος Κυρίου

परमेश्वर की ओर से एक स्वर्गदूत या ""एक स्वर्गदूत जो परमेश्वर की सेवा करता था

ἐπέστη αὐτοῖς

चरवाहों के पास आया

δόξα Κυρίου

चमकीले प्रकाश का स्रोत परमेश्वर की महिमा थी, जो एक ही समय में स्वर्गदूत के साथ प्रगट हुआ।

Luke 2:10

μὴ φοβεῖσθε

भयभीत होना बन्द कर दे

χαρὰν μεγάλην, ἥτις ἔσται παντὶ τῷ λαῷ

जो सभी लोगों को बहुत अधिक प्रसन्न कर देगा

παντὶ τῷ λαῷ

कुछ इसे यहूदियों को सन्दर्भित करना समझते हैं। अन्य लोग इसे सभी लोगों के सन्दर्भ में समझते हैं।

Luke 2:11

πόλει Δαυείδ

यह बैतलहम को सन्दर्भित करता है।

Luke 2:12

καὶ τοῦτο ὑμῖν τὸ σημεῖον

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर तुम्हे यह संकेत देगा"" या ""तुम परमेश्वर के इस संकेत को देखेंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὸ σημεῖον

इसका प्रमाण यह प्रमाणित करने के लिए एक संकेत हो सकता है कि स्वर्गदूत क्या कह रहा था, या यह एक संकेत हो सकता है जो चरवाहों को बच्चे को पहचानने में सहायता करेगा।

ἐσπαργανωμένον

यह एक सामान्य तरीका था कि माताएँ उस संस्कृति में अपने बच्चों की रक्षा और देखभाल करती थीं। देखें कि आपने इसका अनुवाद लूका 2:7 में कैसे किया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""दृढ़ता से एक गर्म कम्बल में लपेटा"" या ""एक कम्बल में आराम से लपेट दिया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

κείμενον ἐν φάτνῃ

यह एक तरह का डिब्बा या ढ़ांचा था जिसमें लोग जानवरों के खाने के लिए घास या अन्य भोजन डालते थे। देखें कि आपने इसका अनुवाद लूका 2:7 में कैसे किया है।

Luke 2:13

πλῆθος στρατιᾶς οὐρανίου

ये शब्द स्वर्गदूतों की एक शाब्दिक सेना को सन्दर्भित कर सकते हैं, या यह स्वर्गदूतों के एक संगठित समूह के लिए एक रूपक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""स्वर्ग से स्वर्गदूतों का एक बड़ा समूह"" (देखें: रूपक)

αἰνούντων τὸν Θεὸν

परमेश्वर को महिमा देते हुए

Luke 2:14

δόξα ἐν ὑψίστοις Θεῷ

इसके सम्भावित अर्थ 1) ""सर्वोच्च स्थान पर परमेश्वर को सम्मान देना"" या 2) ""परमेश्वर को सर्वोच्च सम्मान देना।

ἐπὶ γῆς εἰρήνη ἐν ἀνθρώποις εὐδοκίας

पृथ्वी पर उन लोगों में जिन से परमेश्वर प्रसन्न हैं, शान्ति हो।

Luke 2:15

καὶ ἐγένετο

इस वाक्यांश का उपयोग कहानी में आने वाले परिवर्तन को चिन्हित करने के लिए किया गया है ताकि पता चले कि चरवाहों ने स्वर्गदूतों के जाने के पश्चात् क्या किया।

ἀπ’ αὐτῶν

चरवाहों की ओर से

πρὸς ἀλλήλους

एक दूसरे के लिए

διέλθωμεν…ἡμῖν

चूंकि चरवाहे एक-दूसरे से बात कर रहे थे, इसलिए जिन भाषाओं में ""हम"" और ""हमें"" समावेशी रूप में हैं, वहाँ इन्हीं समावेशी रूप का उपयोग करना चाहिए। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

διέλθωμεν

हमें करनी चाहिए

τὸ ῥῆμα τοῦτο τὸ γεγονὸς

यह बच्चे के जन्म को, न कि स्वर्गदूतों की उपस्थिति को सन्दर्भित करता है।

Luke 2:16

κείμενον ἐν τῇ φάτνῃ

चरनी एक तरह का डिब्बा या ढ़ांचा था जिसमें लोग जानवरों के खाने के लिए घास या अन्य भोजन डालते थे देखें कि आपने इसका अनुवाद लूका 2:7 में कैसे किया है।

Luke 2:17

οῦ ῥήματος τοῦ λαληθέντος αὐτοῖς

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""स्वर्गदूतों ने चरवाहों को क्या बताया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τοῦ παιδίου τούτου

शिशु

Luke 2:18

τῶν λαληθέντων ὑπὸ τῶν ποιμένων πρὸς αὐτούς

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""चरवाहों ने उन्हें क्या कहा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 2:19

συμβάλλουσα ἐν τῇ καρδίᾳ αὐτῆς

एक व्यक्ति जो सोचता है कि कोई वस्तु मूल्यवान या बहुमूल्य है, वह ""खजाना"" की तरह संभालता है। मरियम ने उन बातों पर ध्यान दिया जो उसे उसके पुत्र के बारे में बताई गई थीं। वैकल्पिक अनुवाद: ""ध्यान से उन्हें स्मरण रखना"" या ""उन्हें आनन्द के साथ स्मरण रखना"" (देखें: रूपक)

Luke 2:20

ὑπέστρεψαν οἱ ποιμένες

चरवाहे भेड़ों के पास वापस चले गए

δοξάζοντες καὶ αἰνοῦντες τὸν Θεὸν

ये बातें बहुत ही अधिक एक जैसी हैं और जोर देते हैं कि परमेश्वर ने जो किया था उसके बारे में वे कितने उत्साहित थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर की महानता के बारे में बातें करना और उसकी स्तुति करना"" (देखें: दोहरात्मक)

Luke 2:21

परमेश्वर ने यहूदी विश्वासियों को दी हुई व्यवस्था में उनसे कहा कि कब एक शिशु लड़के का खतना होता है और उसके माता-पिता को क्या बलिदान देना पड़ता है।

ὅτε ἐπλήσθησαν ἡμέραι ὀκτὼ

यह वाक्यांश इस नई घटना से पहले के बीते हुए को दिखाता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἐπλήσθησαν ἡμέραι ὀκτὼ

उसके जीवन के आठवें दिन का समाप्त होना। जिस दिन उसका जन्म हुआ था उसे पहले दिन के रूप में गिना जाता था।

ἐκλήθη τὸ ὄνομα αὐτοῦ

युसुफ और मरियम ने उसे नाम दिया।

τὸ κληθὲν ὑπὸ τοῦ ἀγγέλου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह नाम जिससे स्वर्गदूत ने पुकारा था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 2:22

ὅτε ἐπλήσθησαν αἱ ἡμέραι τοῦ καθαρισμοῦ αὐτῶν

यह इस नई घटना से पहले के बीते हुए समय को दिखाता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

αἱ ἡμέραι τοῦ καθαρισμοῦ αὐτῶν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन दिनों की गिनती जिनकी आवश्यकता परमेश्वर निर्धारित करता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τοῦ καθαρισμοῦ αὐτῶν

उनका धार्मिक अनुष्ठान के अनुसार शुद्ध हो जाना। आप परमेश्वर की भूमिका को भी बता सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर के द्वारा उन्हें फिर से शुद्ध स्वीकार करना"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

παραστῆσαι τῷ Κυρίῳ

उसे प्रभु के पास लाने के लिए या ""उसे परमेश्वर की उपस्थिति में लाने के लिए।"" यह एक ऐसा अनुष्ठान था जिसमें पहिलौठे नर बच्चों के ऊपर परमेश्वर अपने दावे को स्वीकार करता था।

Luke 2:23

καθὼς γέγραπται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जैसा मूसा ने लिखा था"" या ""उन्होंने ऐसा इसलिए किया क्योंकि मूसा ने लिखा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πᾶν ἄρσεν διανοῖγον μήτραν

यहाँ गर्भ को खोलना एक मुहावरा है जो गर्भ से बाहर आने वाले पहले बच्चे को सन्दर्भित करता है। यह जानवरों और लोगों दोनों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रत्येक ज्येष्ठ सन्तान जो नर है"" या ""प्रत्येक ज्येष्ठ पुत्र"" (देखें: मुहावरे)

Luke 2:24

τὸ εἰρημένον ἐν τῷ νόμῳ Κυρίου

वह जिसे प्रभु की व्यवस्था भी कहती है। यह व्यवस्था में एक भिन्न स्थान है। यह सभी नर को सन्दर्भित करता है, चाहे ज्येष्ठ हो या नहीं।

Luke 2:25

जब मरियम और यूसुफ मन्दिर में होते हैं, तो वे दो लोगों से मिलते हैं: शिमोन, जो परमेश्वर की स्तुति करता है और बच्चे के बारे में भविष्यवाणी करता है और भविष्यवक्ता अन्ना।

ἰδοὺ

शब्द ""देखो"" हमें कहानी में एक नए व्यक्ति को दर्शाता है। आपकी भाषा में ऐसा करने का कोई तरीका हो सकता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

δίκαιος καὶ εὐλαβής

इन अमूर्त शब्दों को क्रियाओं के रूप में व्यक्त किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो सही था और परमेश्वर से डरा"" या "" परमेश्वर के नियमों का पालन किया और परमेश्वर से डरा

παράκλησιν τοῦ Ἰσραήλ

इस्राएल"" शब्द इस्राएल के लोगों के लिए एक उपनाम है। किसी को ""शान्ति"" देने का अर्थ उन्हें आराम, या ""सांत्वना"" देना है। ""इस्राएल की शान्ति"" शब्द मसीह या मसीहा के लिए एक उपनाम हैं जो इस्राएल के लोगों को सांत्वना देते है या उनके लिए शान्ति को ले आता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह जो इस्राएल के लोगों को सांत्वना देगा"" (देखें: लक्षणालंकार)

Πνεῦμα ἦν Ἅγιον ἐπ’ αὐτόν

पवित्र आत्मा उसके साथ था परमेश्वर उसके साथ एक विशेष तरीके से थे और उसे उसके जीवन में ज्ञान और दिशा दी।

Luke 2:26

καὶ ἦν αὐτῷ κεχρηματισμένον ὑπὸ τοῦ Πνεύματος τοῦ Ἁγίου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पवित्र आत्मा ने उसे दिखाया था"" या ""पवित्र आत्मा ने उसे बताया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

μὴ ἰδεῖν θάνατον πρὶν ἂν ἴδῃ τὸν Χριστὸν Κυρίου

वह अपने मरने से पहले परमेश्वर के मसीह को देखेगा

Luke 2:27

καὶ ἦλθεν ἐν τῷ Πνεύματι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जैसा कि पवित्र आत्मा ने उसे मार्गदर्शित किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἦλθεν

कुछ भाषाएँ कह सकती हैं कि ""चला गया।

εἰς τὸ ἱερόν

मन्दिर के आंगन में। केवल याजक ही मन्दिर के भवन में प्रवेश कर सकते थे। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

τοὺς γονεῖς

यीशु के माता-पिता

τὸ εἰθισμένον τοῦ νόμου

परमेश्वर की व्यवस्था की परम्परा

Luke 2:28

αὐτὸς ἐδέξατο αὐτὸ εἰς τὰς ἀγκάλας

शिमोन ने शिशु यीशु को अपनी बाहों में ले लिया या ""शिमोन ने यीशु को अपनी बाहों में रखा

Luke 2:29

νῦν ἀπολύεις τὸν δοῦλόν σου…ἐν εἰρήνῃ

मैं तेरा दास हूँ; मुझे शान्ति से जाने दे। शिमोन स्वयं के बारे में उद्धत कर रहा था।

ἀπολύεις

यह शिष्टोक्ति है जिसका अर्थ ""मरने"" से है (देखें: शिष्टोक्ति)

κατὰ τὸ ῥῆμά σου

शब्द वचन यहाँ ""प्रतिज्ञा"" के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जैसा आपने प्रतिज्ञा की है"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 2:30

εἶδον οἱ ὀφθαλμοί μου

इस अभिव्यक्ति का अर्थ है कि, ""मैंने व्यक्तिगत् रूप से देखा है"" या ""मैं, स्वयं ने देखा है"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

τὸ σωτήριόν σου

यह अभिव्यक्ति उस व्यक्ति को सन्दर्भित करती है जो मुक्ति लाएगी-शिशु यीशु-जिसे शमोन उठाए हुए था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उद्धारकर्ता जिसे तूने भेजा"" या ""वह जिसे तूने बचाने के लिए भेजा था"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 2:31

ὃ ἡτοίμασας

पिछले वाक्यांश का अनुवाद करने के तरीके के ऊपर निर्भर करता है, इसे ""जिससे तू"" में परिवर्तित करना पड़ सकता है।

ἡτοίμασας

योजना बनाई है या ""घटित होने का कारण बना

Luke 2:32

φῶς εἰς ἀποκάλυψιν ἐθνῶν

इस रूपक का अर्थ है कि बच्चा लोगों को परमेश्वर की इच्छा को समझने में सहायता प्रदान करेगा। अन्यजातियों के द्वारा ईश्वर की इच्छा को समझा जाना ऐसा होता हैं जैसे कि वे ठोस वस्तु को देखने के लिए भौतिक प्रकाश का उपयोग करने वाले लोग थे। आपको स्पष्ट करना होगा कि यह क्या है कि अन्यजातियों के लोग देखेंगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह बच्चा अन्यजातियों को परमेश्वर की इच्छा को समझने में सक्षम करेगा क्योंकि प्रकाश लोगों को स्पष्ट रूप से देखने में सहायक होता है"" (देखें: रूपक और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

εἰς ἀποκάλυψιν

बताने के लिए यह आवश्यक हो सकता है कि क्या प्रकाशित किया जाना है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह परमेश्वर की सच्चाई को प्रकट करेगा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

δόξαν λαοῦ σου, Ἰσραήλ

वही कारण बनेगा जिससे महिमा उसके लोग इस्राएल के पास आएगी

Luke 2:33

τοῖς λαλουμένοις περὶ αὐτοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे बातें जो शिमोन ने उसके बारे में कहीं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 2:34

εἶπεν πρὸς Μαριὰμ τὴν μητέρα αὐτοῦ

बच्चे की माता, मरियम से कहा। सुनिश्चित करें कि यह ऐसा न लगे कि मरियम शिमोन की माता है।

ἰδοὺ

शिमोन ने मरियम को यह बताने के लिए इस अभिव्यक्ति का उपयोग किया कि वह जो कहने वाला है वह उसके लिए अत्यन्त महत्वपूर्ण है।

οὗτος κεῖται εἰς πτῶσιν καὶ ἀνάστασιν πολλῶν ἐν τῷ Ἰσραὴλ

शब्द ""गिरने"" और ""उठने"" परमेश्वर से दूर होने और परमेश्वर के निकट आने की अभिव्यक्ती हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह बच्चा इस्राएल में परमेश्वर से दूर होने या परमेश्वर के निकट आने के लिए कई लोगों का कारण बन जाएगा"" (देखें: रूपक और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 2:35

ἂν ἀποκαλυφθῶσιν ἐκ πολλῶν καρδιῶν διαλογισμοί

यहाँ ""मन"" लोगों के प्राणों के भीतरी भाग के लिए एक उपनाम है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह कई लोगों के विचारों को प्रकट कर सकता है"" या ""वह प्रकट कर सकता है कि कितने लोग गुप्त रीति से सोचते हैं"" (देखें: लक्षणालंकार और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 2:36

καὶ ἦν Ἅννα προφῆτις

यह कहानी एक नए प्रतिभागी के आगमन का परिचय देता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

Φανουήλ

यह एक व्यक्ति का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

ἔτη ἑπτὰ

7 वर्ष (देखें: संख्याएँ)

ἀπὸ τῆς παρθενίας αὐτῆς

उसके साथ विवाह होने के पश्चात्

Luke 2:37

χήρα ἕως ἐτῶν ὀγδοήκοντα τεσσάρων

सम्भावित अर्थ 1) वह 84 वर्षों से विधवा थीं या 2) वह एक विधवा थी और अब 84 वर्ष की थी। (देखें: संख्याएँ)

οὐκ ἀφίστατο τοῦ ἱεροῦ

यह शायद एक बढ़ा-चढ़ा कर बोला गया अर्थ है कि उसने मन्दिर में इतना समय बिताया कि ऐसा लगता है कि मानो उसने इसे कभी नहीं छोड़ा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""सदैव मन्दिर में थी"" या ""मन्दिर में अक्सर थी"" (देखें: अतिशयोक्ति)

νηστείαις καὶ δεήσεσιν

कई अवसरों पर भोजन से दूर रहकर और कई प्रार्थनाओं को करने के द्वारा

Luke 2:38

ἐπιστᾶσα

उनसे मुलाकात की या ""मरियम और यूसुफ के पास गई

λύτρωσιν Ἰερουσαλήμ

यहाँ शब्द ""छुटकारे"" का उपयोग उस व्यक्ति को सन्दर्भित करने के लिए किया जाता है जो इसे लाएगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह जो यरूशलेम को छुड़ाएगा"" या ""वह व्यक्ति जो परमेश्वर की आशीष को लाएगा और यरूशलेम के ऊपर कृपा की जाएगी"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 2:39

मरियम, यूसुफ और यीशु ने बैतलहम नगर को छोड़ दिया और उसके बचपन को बिताने के लिए नासरत नगर में लौट आए।

τὰ κατὰ τὸν νόμον Κυρίου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि प्रभु की व्यवस्था ने उनके लिए ऐसा करना ठहराया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πόλιν ἑαυτῶν Ναζαρέτ

इस वाक्यांश का अर्थ है कि वे नासरत में रहते थे। सुनिश्चित करें कि यह नगर उनके स्वामित्व में था, जैसा प्रतीत नहीं होता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""नासरत का नगर, जहां वे रहते थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 2:40

πληρούμενον σοφίᾳ

अधिक बुद्धिमान बनना या ""बुद्धिमान होना सीखना

χάρις Θεοῦ ἦν ἐπ’ αὐτό

परमेश्वर ने उसे आशीष दी या ""परमेश्वर उसके साथ एक विशेष तरीके से था

Luke 2:41

जब यीशु 12 वर्ष का होता है, तो वह अपने परिवार के साथ यरूशलेम जाता है। जब वह वहाँ होता है, वह मन्दिर के शिक्षकों से प्रश्न पूछता और उनके प्रश्नों के उत्तर देता है।

ἐπορεύοντο οἱ γονεῖς αὐτοῦ…τῇ ἑορτῇ τοῦ Πάσχα

यह पृष्ठभूमि की जानकारी है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

οἱ γονεῖς αὐτοῦ

यीशु के माता-पिता

Luke 2:42

ἀναβαινόντων αὐτῶν

यरूशलेम इस्राएल में लगभग किसी भी अन्य स्थान से अधिक ऊँचे पर स्थित था, इसलिए इस्राएलियों के लिए यरूशलेम जाने की बात करना सामान्य था।

κατὰ τὸ ἔθος

सामान्य समय पर या ""जैसा कि उन्होंने प्रति वर्ष किया था

τῆς ἑορτῆς

यह फसह के त्योहार के लिए एक और नाम था, क्योंकि इसमें एक अनुष्ठानिक भोजन खाना भी सम्मिलित था।

Luke 2:43

καὶ τελειωσάντων τὰς ἡμέρας

जब त्यौहार मनाने के लिए पूरा समय खत्म हो गया था या ""आवश्यक निश्चित् दिनों के त्यौहार को मनाने के पश्चात्

Luke 2:44

νομίσαντες

उन्होंने सोचा

ἦλθον ἡμέρας ὁδὸν

उन्होंने एक दिन की यात्रा की या ""वे एक दिन में उतना चले जितना कि लोग चलते थे

Luke 2:46

καὶ ἐγένετο

कहानी में एक महत्वपूर्ण घटना को चिन्हित करने के लिए इस वाक्यांश का उपयोग यहां किया गया है। यदी तुम्हारी भाषा में ऐसा करने का कोई तरीका है, तो आप इसे यहाँ उपयोग करने पर विचार कर सकते हैं।

ἐν τῷ ἱερῷ

यह मन्दिर के चारों ओर के आंगन को सन्दर्भित करता है। मंदिर में केवल याजकों को ही आने की अनुमति थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""मन्दिर के आंगन में"" या ""मन्दिर में"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐν μέσῳ

इसका अर्थ केन्द्र की सटीकता से नहीं है। इसकी अपेक्षा, इसका अर्थ है ""मध्य"" या ""साथ में"" या ""घिरा हुआ"" होने से है।

τῶν διδασκάλων

धार्मिक शिक्षक या ""जिन्होंने लोगों को परमेश्वर के बारे में शिक्षा दी

Luke 2:47

ἐξίσταντο δὲ πάντες οἱ ἀκούοντες αὐτοῦ

वे समझ नहीं पाए कि कैसे एक बारह-वर्षीय लड़का बिना किसी धार्मिक शिक्षा के उनके उत्तर इतनी अच्छी तरह से दे सकता है।

ἐπὶ τῇ συνέσει

वह कितना अधिक समझ गया या ""कि वह परमेश्वर के बारे में इतना अधिक समझ गया था

ταῖς ἀποκρίσεσιν αὐτοῦ

कि उसने उन्हें कितनी अच्छी तरह उत्तर दिया या ""कि उसने उनके प्रश्न के उत्तर बहुत अच्छे तरह से दिए

Luke 2:48

καὶ ἰδόντες αὐτὸν

जब मरियम और युसुफ ने यीशु को ढूंढ़ लिया

τί ἐποίησας ἡμῖν οὕτως?

यह एक अप्रत्यक्ष ता़ड़ना थी क्योंकि वह घर की वापसी के मार्ग पर उनके साथ नहीं आया था। यह उनके लिए उसके बारे में चिन्ता करने का कारण बन गया। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुझे हमारे साथ यह नहीं करना चाहिए था!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἰδοὺ

यह शब्द अक्सर एक नए या महत्वपूर्ण घटना के आरम्भ को दिखाने के लिए प्रयोग किया जाता है। यह भी दिखाने के लिए उपयोग किया जा सकता है कि गतिविधि कहाँ से आरम्भ होती है। यदि आपकी भाषा में ऐसा कोई वाक्यांश है जिसका उपयोग इस तरह से किया जाता है, तो उस पर विचार करें कि यहाँ इसका उपयोग करना स्वाभाविक होगा या नहीं।

Luke 2:49

τί ὅτι ἐζητεῖτέ με?

यीशु ने अपने माता-पिता को हल्के ढंग से ता़ड़ना देने के लिए दो प्रश्नों का उपयोग किया है, और उन्हें यह बताना आरम्भ किया कि उसे उसके स्वर्गीय पिता का प्रयोजन था जिसे वे नहीं समझ पाए। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हें मेरे बारे में चिन्तित होने की आवश्यकता नहीं थी"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

οὐκ ᾔδειτε…δεῖ εἶναί με?

यीशु इसे कहने का प्रयास करने के लिए इस दूसरे प्रश्न का उपयोग करते हैं कि उसके माता-पिता को उस उद्देश्य के बारे में पता होना चाहिए जिसके लिए उसके पिता ने उसे भेजा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हें... व्यवसाय का पता होना चाहिए था"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἐν τοῖς τοῦ πατρός μου

सम्भावित अर्थ 1) यीशु का अर्थ शाब्दिक रूप से था, जो यह इंगित करने के लिए था कि वह अपने पिता का वह काम कर रहा था, या 2) ये शब्द एक मुहावरे हैं जो इंगित करते हैं कि यीशु कहाँ था, ""अपने पिता के घर में।"" चूंकि अगला वचन कहता है कि उसके माता-पिता यह नहीं समझा सके कि वह उनसे क्या कह रहा था, यह अच्छा नहीं होगा कि इसे और अधिक समझ जाए।

τοῖς τοῦ πατρός μου

12 वर्ष की आयु में, परमेश्वर के पुत्र यीशु ने समझा कि परमेश्वर उसका वास्तविक पिता (न कि यूसुफ, मरियम का पति को) था। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

Luke 2:51

καὶ κατέβη μετ’ αὐτῶν

यीशु मरियम और युसुफ के साथ वापस घर चला गया

ἦν ὑποτασσόμενος αὐτοῖς

उनकी आज्ञा में रहा या ""सदैव उनकी आज्ञा का पालन कर रहा था

διετήρει πάντα τὰ ῥήματα ἐν τῇ καρδίᾳ αὐτῆς

यहाँ ""मन"" किसी व्यक्ति के दिमाग या आन्तरिक व्यक्ति के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ध्यान से इन सभी बातों को स्मरण किया"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 2:52

προέκοπτεν τῇ σοφίᾳ, καὶ ἡλικίᾳ

बुद्धिमान और दृढ़ बनें। ये मानसिक और शारीरिक विकास को उद्धत करते हैं।

προέκοπτεν τῇ σοφίᾳ, καὶ ἡλικίᾳ

यह आत्मिक और सामाजिक विकास को उद्धत करता है। इन्हें अलग से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उसे और अधिक आशीष दी, और लोगों ने उसे और अधिक पसन्द किया

Luke 3

लूका 03 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

कुछ अनुवाद पढ़ने के लिए आसान बनाने के लिए काविता के प्रत्येक वाक्य को बाकी के भाग की तुलना में पंक्ति को दाईं ओर व्यवस्थित करते हैं। यूएलटी अनुवाद 3:4-6 में दी हुई कविता के साथ ऐसा ही करता है, जो कि पुराने नियम के वचन हैं।

इस अध्याय की विशेष धारणाएँ

न्याय

इस अध्याय में सैनिकों और कर संग्रहकर्ताओं के लिए यूहन्ना के निर्देश जटिल नहीं हैं ये वे बातें हैं जो उनके लिए स्पष्ट होनी चाहिए थीं। उसने उन्हें धार्मिकता के साथ जीने का निर्देश दिया। (देखें: सच्चा, न्याय, न्याय से, अन्याय, औचित्य और Luke 3:12-15)

वंशावली

एक वंशावली एक ऐसी सूची है जो किसी व्यक्ति के पूर्वजों या वंशजों को लिपिबद्ध करती है। यह निर्धारित करने में ऐसी सूचियाँ बहुत महत्वपूर्ण थीं कि राजा के पास कौन से अधिकार था, क्योंकि राजा का अधिकार सामान्य रूप से पीढ़ियों से आता था या उसे अपने पिता से विरासत में मिला था। अन्य महत्वपूर्ण लोगों के लिए भी एक लिपिबद्ध वंशावली का होना सामान्य बात थी।

इस अध्याय के महत्वपूर्ण अलंकार

रूपक

भविष्यवाणी में अक्सर इसका अर्थ व्यक्त करने के लिए रूपकों का उपयोग सम्मिलित होता है। भविष्यवाणी की उचित व्याख्या के लिए आत्मिक समझ की आवश्यकता है। यशायाह की भविष्यवाणी यूहन्ना बपतिस्मा देने वाले की सेवकाई का वर्णन करने वाला एक विस्तारित रूपक है (लूका 3:4-6)। अनुवाद कठिन है। यह सुझाव दिया जाता है कि अनुवादक यूएलटी अनुवाद की प्रत्येक पंक्ति को एक अलग रूपक के रूप में माने। (देखें: भविष्यद्वक्ता, भविष्यवाणी, भविष्यद्वाणी, द्रष्टा, भविष्यद्वक्तिन) और )

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

""(हेरोदेस) ने यूहन्ना को कैद में बन्द कर दिया था""

यह घटना भ्रम उत्पन्न कर सकती है क्योंकि लेखक कहते हैं कि यूहन्ना कैद में था और फिर कहता है कि वह यीशु को बपतिस्मा दे रहा था। लेखक शायद हेरोदेस के द्वारा यूहन्ना को दी हुई कैद की अपेक्षा में इस वाक्यांश का उपयोग करते है। इसका अर्थ यह होगा कि यह कथन अभी भी कथा के समय भविष्य में घटित होगा।

Luke 3:1

ये वचन पृष्ठभूमि की जानकारी देते हैं कि क्या हो रहा है जब यीशु के चचेरे भाई यूहन्ना ने अपनी सेवकाई को आरम्भ किया।

जैसा कि भविष्यवक्ता यशायाह ने भविष्यवाणी की थी, यूहन्ना लोगों को शुभ सन्दे का प्रचार करना आरम्भ कर देता है।

Φιλίππου…Λυσανίου

ये लोगों के नाम हैं। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

τῆς Ἰτουραίας καὶ Τραχωνίτιδος…τῆς Ἀβειληνῆς

ये क्षेत्रों के नाम हैं। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 3:2

ἐπὶ ἀρχιερέως Ἅννα καὶ Καϊάφα

जब हन्ना और कैफा महायाजक के रूप में एक साथ सेवा कर रहे थे। हन्ना महायाजक था, और यहूदी उसे निरन्तर इसी रूप में स्वीकार करते रहें यहाँ तक कि रोमियों के द्वारा उसके दामाद कैफा को उसके स्थान पर महायाजक के रूप में रखने की घटना हो चुकी थी।

ἐγένετο ῥῆμα Θεοῦ

लेखक परमेश्वर के सन्देश के बारे में बोलता है जैसे कि वह एक ऐसा व्यक्ति था जो उसके सुनने वालों की ओर बढ़ गया। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उसके सन्देश को बोला"" (देखें: रूपक)

Luke 3:3

κηρύσσων βάπτισμα μετανοίας

शब्द ""बपतिस्मा"" और ""पश्चाताप"" गतिविधियों के रूप में वर्णित किए जा सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""और उसने प्रचार किया कि लोगों को यह दिखाने के लिए बपतिस्मा लेना चाहिए कि वे पश्चाताप कर रहे थे"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

εἰς ἄφεσιν ἁμαρτιῶν

वे पश्चाताप करेंगे ताकि परमेश्वर उनके पापों को क्षमा कर सकें। शब्द ""क्षमा"" को एक गतिविधि के रूप में वर्णित किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ताकि उनके पाप क्षमा किए जाएँ"" या ""ताकि परमेश्वर उनके पापों को क्षमा कर सकें"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Luke 3:4

लेखक, लूका, यूहन्ना बपतिस्मा देने वाले के विषय में यशायाह भविष्यद्वक्ता से एक सन्दर्भ को उद्धृत करता है।

ὡς γέγραπται ἐν βίβλῳ λόγων Ἠσαΐου τοῦ προφήτου

ये शब्द भविष्यद्वक्ता यशायाह से उद्धरण को प्रस्तुत करते हैं। उन्हें क्रिया के सक्रिय रूप में कहा जा सकता है, और लुप्त शब्दों की आपूर्ति की जा सकती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि यशायाह भविष्यद्वक्ता ने उस पुस्तक में लिखा था जिसमें उसके वचन पाए जाते हैं"" या ""यूहन्ना ने सन्देश को पूरा किया कि भविष्यवक्ता यशायाह ने अपनी पुस्तक में लिखा था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और पदन्यूनता)

φωνὴ βοῶντος ἐν τῇ ἐρήμῳ

इसे एक वाक्य के रूप में व्यक्त किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जंगल से पुकारने वाले की आवाज़ सुनी जाती है"" या ""वे जंगल से पुकारने वाले की आवाज़ को सुनते हैं

ἑτοιμάσατε τὴν ὁδὸν Κυρίου; εὐθείας ποιεῖτε τὰς τρίβους αὐτοῦ

दूसरी आज्ञा पहली की व्याख्या करती या उसमें और अधिक विवरण के जोड़ती है।

ἑτοιμάσατε τὴν ὁδὸν Κυρίου

प्रभु के लिए मार्ग को तैयार करो। जब वह आता है तब ऐसा करना प्रभु के सन्देश के आगमन को प्रस्तुत करता है। लोग अपने पापों से पश्चाताप करने के लिए ऐसा करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब वह आता है तो प्रभु के सन्देश को सुनने के लिए तैयार रहें"" या ""पश्चाताप करो और प्रभु के आगमन के लिए तैयार रहें"" (देखें: रूपक और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

τὴν ὁδὸν

मार्ग या ""सड़क

Luke 3:5

πᾶσα φάραγξ πληρωθήσεται, καὶ πᾶν ὄρος καὶ βουνὸς ταπεινωθήσεται

जब लोग आने वाले किसी महत्वपूर्ण व्यक्ति के लिए मार्ग तैयार करते हैं, तो वे ऊँचे स्थानों को काटते हैं और निम्न स्थानों को भर देते हैं ताकि मार्ग समतल हो। यह पिछले वचन में आरम्भ हुए रूपक का अंश है। (देखें: रूपक)

πᾶσα φάραγξ πληρωθήσεται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे मार्ग के प्रत्येक निम्न स्थान को भर देंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πᾶν ὄρος καὶ βουνὸς ταπεινωθήσεται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे प्रत्येक पर्वत और पहाड़ी को समतल कर लेंगे"" या ""वे मार्ग के प्रत्येक ऊँचे स्थान को हटा देंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 3:6

ὄψεται…τὸ σωτήριον τοῦ Θεοῦ

इसे क्रिया के सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जानें कि परमेश्वर कैसे उसके लोगों को पाप बचाता है"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Luke 3:7

βαπτισθῆναι ὑπ’ αὐτοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यूहन्ना का उन्हें बपतिस्मा देना"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

γεννήματα ἐχιδνῶν

यह एक रूपक है। यहाँ ""संतान"" का अर्थ है ""विशेष गुणों के होने से है।"" काले सांप जहरीले सांप होते हैं जो खतरनाक होते हैं और बुराई का प्रतिनिधित्व करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम बुरे जहरीले सांप हो"" या ""तुम जहरीले सांपों की तरह, बुरे हो (देखें: रूपक)

τίς ὑπέδειξεν ὑμῖν φυγεῖν ἀπὸ τῆς μελλούσης ὀργῆς?

वह वास्तव में उन्हें उत्तर देने की अपेक्षा नहीं कर रहा था। यूहन्ना लोगों को ताड़ना दे रहा था क्योंकि वे उनसे उन्हें बपतिस्मा देने के लिए कह रहे थे ताकि परमेश्वर उन्हें दंडित न करें, लेकिन वे पाप करना बन्द नहीं करना चाहते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम इस तरह से परमेश्वर के क्रोध से भाग नहीं सकते!"" या ""तुम बपतिस्मा लेकर परमेश्वर के क्रोध से बच नहीं सकते!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἀπὸ τῆς μελλούσης ὀργῆς

शब्द ""क्रोध"" का उपयोग परमेश्वर के दण्ड को सन्दर्भित करने के लिए किया गया है क्योंकि उसका क्रोध दण्ड देने से पहले आता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उस दण्ड से जिसे परमेश्वर भेज रहा है"" या ""परमेश्वर के क्रोध से जिस के ऊपर वह कार्य करने जा रहा है"" (देखें: लक्षणालंकार और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 3:8

ποιήσατε…καρποὺς ἀξίους τῆς μετανοίας

इस रूपक में, एक व्यक्ति के व्यवहार की तुलना फल से की जाती है। जैसे कि एक पौधे से ऐसे फल उत्पन्न होने की अपेक्षा की जाती है, जो अपनी जाति के पौधे की तरह होता है, एक व्यक्ति जो कहता है कि उसने पश्चाताप किया है, उससे धार्मी जीवन जीने की अपेक्षा की जाती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस तरह के फल का उत्पादन करें जो दिखाता है कि तुमने पश्चाताप किया है"" या ""भले कार्यों को करें जो दिखाते हैं कि तुम अपने पाप से दूर हो गए हैं"" (देखें: रूपक)

λέγειν ἐν ἑαυτοῖς

स्वयं से कहना या ""सोचना

πατέρα ἔχομεν τὸν Ἀβραάμ

अब्राहम हमारा पूर्वज है या ""हम अब्राहम के वंशज हैं।"" यदि यह स्पष्ट नहीं है कि वे यह क्यों कहेंगे, तो आप इसमें निहितार्थ जानकारी भी जोड़ सकते हैं: ""इस कारण परमेश्वर हमें दण्डित नहीं करेगा।"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐγεῖραι τέκνα τῷ Ἀβραάμ

अब्राहम के लिए सन्तान उत्पन्न करना

ἐκ τῶν λίθων τούτων

यूहन्ना शायद यरदन नदी के किनारे मिलने वाले वास्तविक पत्थरों का वर्णन कर रहा था।

Luke 3:9

ἡ ἀξίνη πρὸς τὴν ῥίζαν τῶν δένδρων κεῖται

कुल्हाड़ी अपनी स्थिति में होती है, इसलिए यह एक पेड़ की जड़ों को काट सकती है जो दण्ड के लिए एक रूपक है जो आरम्भ होने वाला है। यह सक्रिय के रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर उस व्यक्ति की तरह है जिसने अपनी कुल्हाड़ी पेड़ की जड़ के ऊपर रखी है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और रूपक)

πᾶν…δένδρον…ἐκκόπτεται καὶ εἰς πῦρ βάλλεται

यहाँ आग दण्ड के लिए एक रूपक है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह हर पेड़ को काट डालता है ... और उसे आग में फेंक देता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और रूपक)

Luke 3:10

यूहन्ना उन प्रश्नों का उत्तर देना आरम्भ कर देता है जिन्हें भीड़ में लोग उससे पूछते हैं।

ἐπηρώτων αὐτὸν…λέγοντες

उससे पूछना या ""यूहन्ना से पूछना

Luke 3:11

ἀποκριθεὶς…ἔλεγεν αὐτοῖς

उन्हें उत्तर दिया, या कहना, ""उन्हें उत्तर दिया"" या ""कहा

ὁμοίως ποιείτω

अतिरिक्त भोजन साझा करें जैसे तुम अतिरिक्त कुर्ते को साझा करते थे। यह उन लोगों को भोजन देने को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""किसी ऐसे व्यक्ति को भोजन दें जिसके पास बिल्कुल भी नहीं है"" (देखें: पदन्यूनता)

Luke 3:12

βαπτισθῆναι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यूहन्ना का उन्हें बपतिस्मा देना"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 3:13

μηδὲν πλέον…πράσσετε

अधिक धन न मांगें या ""अधिक धन की मांग न करें।"" कर संग्रहकर्ता इकट्ठा किए जाने वाले कर से ज्यादा धन इकट्ठा कर रहे थे। युहन्ना उन्हें ऐसा करने से रूक जाने के लिए कहता है।

τὸ διατεταγμένον ὑμῖν

यह दिखाना निष्क्रिय है कि कर संग्रहकर्ता का अधिकार रोम से आता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस की अपेक्षा रोमियों ने आपको क्या लेने के लिए अधिकृत किया है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 3:14

τί ποιήσωμεν καὶ ἡμεῖς?

हम सैनिकों के बारे में क्या, हमें क्या करना चाहिए? यूहन्ना ""हम"" और ""हमें"" शब्दों में सम्मिलित नहीं है। सैनिकों के निहितार्थ थे कि यूहन्ना ने भीड़ और कर संग्रहकर्ता को बताया था कि उन्हें क्या करना चाहिए और जानना चाहते हैं कि सैनिकों के रूप में उन्हें क्या करना चाहिए। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

μηδὲ συκοφαντήσητε

ऐसा प्रतीत होता है कि सैनिक धन पाने के लिए लोगों के विरुद्ध झूठे आरोप लगा रहे थे। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ठीक वैसे ही, किसी के ऊपर धन पाने के लिए झूठा आरोप न लगाएँ"" या ""यह न कहें कि एक निर्दोष व्यक्ति ने कुछ अवैध कार्य किया है

ἀρκεῖσθε τοῖς ὀψωνίοις ὑμῶν

अपने वेतन से संतुष्ट रहें

Luke 3:15

δὲ τοῦ λαοῦ

लोग के कारण। यह उन लोगों को सन्दर्भित करता है जो यूहन्ना के पास आए थे।

διαλογιζομένων πάντων ἐν ταῖς καρδίαις αὐτῶν περὶ τοῦ Ἰωάννου, μήποτε αὐτὸς εἴη ὁ Χριστός

सब लोग अनिश्चित् थे कि यूहन्ना के बारे में क्या सोचना है; उन्होंने स्वयं से पूछा, 'क्या वह मसीह हो सकता है?' या ""कोई भी निश्चित् नहीं था कि यूहन्ना के बारे में क्या सोचना चाहिए क्योंकि वे सभी आश्चर्य में थे कि वह मसीह था या नहीं।

Luke 3:16

ἀπεκρίνατο λέγων πᾶσιν ὁ Ἰωάννης

आने वाले एक महान् व्यक्ति के बारे में यूहन्ना का उत्तर स्पष्ट था कि यूहन्ना मसीह नहीं है। यह आपके दर्शकों के लिए स्पष्ट रूप से यह बताने में सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यूहन्ना ने उन सभों को यह कहते हुए स्पष्ट किया कि वह मसीह नहीं था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ὕδατι βαπτίζω ὑμᾶς

मैं पानी का उपयोग करके बपतिस्मा देता हूँ या ""मैं पानी के द्वारा बपतिस्मा देता हूँ

οὐκ εἰμὶ ἱκανὸς λῦσαι τὸν ἱμάντα τῶν ὑποδημάτων αὐτοῦ

इतना योग्य नहीं कि उसकी जुती के फीता ढीला कर सकूँ। जुती का फीता को खोलना एक दास का कार्य होता था। यूहन्ना कह रहा था कि जो जो आने वाला है वह इतना महान है कि यूहन्ना उसका दास होने के भी योग्य नहीं था।

αὐτὸς ὑμᾶς βαπτίσει ἐν Πνεύματι Ἁγίῳ, καὶ πυρί

यह रूपक शाब्दिक बपतिस्मा की तुलना करता है जो एक व्यक्ति को आत्मिक बपतिस्मा लेने के लिए पानी के सम्पर्क में लाता है जो उन्हें पवित्र आत्मा और आग के सम्पर्क में लाता है। (देखें: रूपक)

πυρί

यहाँ शब्द ""आग"" 1) न्याय या 2) शुद्धिकरण को सन्दर्भित कर सकता है। इसे ""आग"" के रूप में ही छोड़ना सही है (देखें: रूपक)

Luke 3:17

οὗ τὸ πτύον ἐν τῇ χειρὶ αὐτοῦ

वह अपने हाथ में एक फटकने वाला सूप लिए हुए है क्योंकि वह तैयार है। यूहन्ना लोगों को मसीह के बारे में कहता है कि जो उसके लोगों का न्याय करने के लिए आ रहा है मानो कि वह एक किसान था जो गेहूँ को भूसी से अलग करने के लिए तैयार है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह लोगों का न्याय करने के लिए तैयार है जैसे तैयार रहने वाला एक किसान होता है"" (देखें: रूपक)

τὸ πτύον

गेहूं को भूसी से सूप के द्वारा अलग करने के लिए गेहूं को हवा में फेंकने का यही एक साधन है। भारी अनाज नीचे गिर जाती है और अनचाही भूसी हवा के द्वारा उड़ा दी जाती है। यह एक हाथ से पकड़े जाने वाले काँटेदार लोहे के पंजे के समान है।

διακαθᾶραι τὴν ἅλωνα αὐτοῦ

खलिहान वह स्थान था जहाँ गेहूं को फटकने की तैयारी में रखा जाता था। खलिहान को ""साफ़ करने"" के लिए अनाज के फटकने को समाप्त किया जाता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""अपने अनाज के फटकने के कार्य को समाप्त करना

συναγαγεῖν τὸν σῖτον

गेहूँ स्वीकार्य फसल है जिसे रखा और संग्रहीत किया जाता है।

τὸ…ἄχυρον κατακαύσει

भूसी किसी भी चीज के लिए उपयोगी नहीं है, इसलिए लोग इसे जलाते हैं।

Luke 3:18

कहानी बताती है कि यूहन्ना के साथ क्या होने जा रहा है परन्तु इस समय ऐसा नहीं हुआ। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

πολλὰ μὲν οὖν καὶ ἕτερα παρακαλῶν

कई अन्य दृढ़ आग्रहों के साथ

Luke 3:19

ὁ…Ἡρῴδης ὁ τετράρχης

हेरोदेस एक टेट्रार्ख था, राजा नहीं। उसका शासन केवल गलील के क्षेत्र तक ही सीमित था।

περὶ Ἡρῳδιάδος, τῆς γυναικὸς τοῦ ἀδελφοῦ αὐτοῦ

क्योंकि हेरोदेस ने अपने भाई की पत्नी हेरोदियास से विवाह किया था। यह बुरा था क्योंकि हेरोदेस का भाई अभी भी जीवित था। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि उसने अपने भाई की पत्नी हेरोदियास से विवाह किया था, जबकि उसका भाई अभी भी जीवित था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 3:20

κατέκλεισεν τὸν Ἰωάννην ἐν φυλακῇ

क्योंकि हेरोदेस टेट्रार्ख था, इसलिए हो सकता है कि उसने अपने सैनिकों को आदेश देकर यूहन्ना को कैद में डाल दिया। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने अपने सैनिकों को यूहन्ना को कैद में डालने का आदेश देते हुए बन्द कर दिया"" या ""उसने अपने सैनिकों को यूहन्ना को जेल में डालने के लिए कहा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 3:21

पिछला वचन कहता है कि हेरोदेस ने यूहन्ना को कैद में डाल दिया। स्पष्ट करने में यह सहायक हो सकता है कि वचन 21 से आरम्भ होने वाला वृतान्त यूहन्ना को गिरफ्तार करने से पहले का था। यूएसटी अनुवाद इस वचन को 21 से आरम्भ करके करता है ""परन्तु यूहन्ना को कैद में डाल दिया गया था।"" (देखें: घटनाओं का क्रम)

यीशु ने अपने बपतिस्मा के साथ अपनी सेवा आरम्भ की।

ἐγένετο δὲ

यह वाक्यांश कहानी में एक नई घटना के आरम्भ को चिन्हित करता है। यदि तुम्हारी भाषा में ऐसा करने का कोई तरीका है, तो आप इसे यहाँ उपयोग करने पर विचार कर सकते हैं। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

βαπτισθῆναι ἅπαντα τὸν λαὸν

जबकि यूहन्ना ने सभी लोगों को बपतिस्मा दिया। वाक्यांश ""सब लोग"" यूहन्ना के साथ उपस्थित लोगों को सन्दर्भित करता है। (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

καὶ Ἰησοῦ βαπτισθέντος

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यूहन्ना ने यीशु को भी बपतिस्मा दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἀνεῳχθῆναι τὸν οὐρανὸν

आकाश खुल गया या ""आकाश खुला हो गया।"" यह बादलों के साधारण रूप से साफ होने से कहीं बढ़कर है, परन्तु यह स्पष्ट नहीं है कि इसका क्या अर्थ है। इसका संभवतः अर्थ आकाश में एक छेद के प्रगट होने से है।

Luke 3:22

καταβῆναι τὸ Πνεῦμα τὸ Ἅγιον σωματικῷ εἴδει, ὡς περιστερὰν ἐπ’ αὐτόν

शारीरिक रूप में पवित्र आत्मा यीशु के ऊपर कबूतर की तरह नीचे आया

φωνὴν ἐξ οὐρανοῦ γενέσθαι

यहाँ ""स्वर्ग से एक आवाज आई"" जो प्रस्तुत करती है कि पृथ्वी पर लोगों ने स्वर्ग में परमेश्वर की आवाज को सुना। यह स्पष्ट किया जा सकता है कि परमेश्वर ने यीशु से बात की थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""स्वर्ग से आई आवाज ने कहा"" या ""परमेश्वर ने स्वर्ग से यीशु से कहा,"" (देखें: लक्षणालंकार और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ὁ Υἱός μου

यह परमेश्वर के पुत्र यीशु के लिए एक महत्वपूर्ण पदवी है। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

Luke 3:23

लूका ने यीशु के कहे जाने वाले पिता, यूसुफ की वंशवली के माध्यम से यीशु के पूर्वजों को सूचीबद्ध किया है।

καὶ

इस शब्द का प्रयोग यहाँ कहानी में यीशु की आयु और पूर्वजों के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी में परिवर्तन को चिन्हित करने के लिए किया जाता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

ἐτῶν τριάκοντα

30 वर्ष की आयु (देखें: संख्याएँ)

ὢν υἱός, ὡς ἐνομίζετο, Ἰωσὴφ

ऐसा माना जाता था कि वह यूसुफ का पुत्र था या ""लोग मानते थे कि वह यूसुफ का पुत्र था

Luke 3:24

τοῦ Μαθθὰτ, τοῦ Λευεὶ, τοῦ Μελχεὶ, τοῦ Ἰανναὶ, τοῦ Ἰωσὴφ

यह सूची निरन्तर आगे चलती है जो वचन 24 में ""वह... युसुफ का पुत्र और वह एली का पुत्र था"" से आरम्भ होती है। ध्यान दें कि सामान्यत: लोग कैसे अपनी भाषा में पूर्वजों की सूची देते हैं। आपको पूरी सूची में एक ही जैसे शब्दों का प्रयोग करना चाहिए। सम्भावित प्रारूप यह हो सकता है 1) ""वह... युसुफ का पुत्र था, जो एली का पुत्र था, जो मत्तात का पुत्र था, जो लेवी का पुत्र था, जो मलकी का पुत्र था, जो यन्ना का पुत्र था, जो यूसुफ का पुत्र था 2) ""वह... यूसुफ का पुत्र था। यूसुफ एली का पुत्र था। एली मत्तात का पुत्र था। मत्ताता लेवी का पुत्र था। लेवी मलकी का पुत्र था। मलकी यन्ना का पुत्र था। यन्ना यूसुफ का पुत्र था"" या 3) ""उसका पिता....युसुफ था। यूसुफ का पिता एली था। एली का पिता मत्तात था। मत्ताता का पिता लेवी था। लेवी का पिता मलकी था। मलकी का पिता यन्ना था। यन्ना का पिता यूसुफ था"" (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 3:25

τοῦ Ματταθίου, τοῦ Ἀμὼς…Ναγγαὶ

यह यीशु के पूर्वजों की सूची का एक निरंतरता है जो लूका 3:23 में आरम्भ हुई थी। उसी प्रारूप का प्रयोग करें जिसका आपने पिछले वचनों में उपयोग किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 3:26

τοῦ Μάαθ…Ἰωδὰ

यह यीशु के पूर्वजों की सूची का एक निरंतरता है जो लूका 3:23 में आरम्भ हुई थी। उसी प्रारूप का प्रयोग करें जिसका आपने पिछले वचनों में उपयोग किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 3:27

τοῦ Ἰωανὰν…Νηρεὶ

यह यीशु के पूर्वजों की सूची का एक निरंतरता है जो लूका 3:23 में आरम्भ हुई थी । उसी प्रारूप का प्रयोग करें जिसका आपने पिछले वचनों में उपयोग किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

τοῦ Ἰωανὰν…Σαλαθιὴλ

हो सकता है कि सालाथीएल नाम शालतियेल नाम की तुलना में एक भिन्न वर्तनी वाला हो (जैसा कि कुछ अनुवादों में मिलता है), परन्तु इसकी पहचान कठिन है।

Luke 3:28

τοῦ Μελχεὶ…Ἢρ

यह यीशु के पूर्वजों की सूची का एक निरंतरता है जो लूका 3:23 में आरम्भ हुई थी। उसी प्रारूप का प्रयोग करें जिसका आपने पिछले वचनों में उपयोग किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 3:29

τοῦ Ἰησοῦ…Λευεὶ

यह यीशु के पूर्वजों की सूची का एक निरंतरता है जो लूका 3:23 में आरम्भ हुई थी। उसी प्रारूप का प्रयोग करें जिसका आपने पिछले वचनों में उपयोग किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 3:30

τοῦ Συμεὼν…Ἐλιακεὶμ

यह यीशु के पूर्वजों की सूची का एक निरंतरता है जो लूका 3:23 में आरम्भ हुई थी। उसी प्रारूप का प्रयोग करें जिसका आपने पिछले वचनों में उपयोग किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 3:31

τοῦ Μελεὰ…Δαυεὶδ

यह यीशु के पूर्वजों की सूची का एक निरंतरता है जो लूका 3:23 में आरम्भ हुई थी। उसी प्रारूप का प्रयोग करें जिसका आपने पिछले वचनों में उपयोग किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 3:32

τοῦ Ἰεσσαὶ…Ναασσὼν

यह यीशु के पूर्वजों की सूची का एक निरंतरता है जो लूका 3:23 में आरम्भ हुई थी। उसी प्रारूप का प्रयोग करें जिसका आपने पिछले वचनों में उपयोग किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 3:33

τοῦ Ἀμιναδὰβ…Ἰούδα

यह यीशु के पूर्वजों की सूची का एक निरंतरता है जो लूका 3:23 में आरम्भ हुई थी। उसी प्रारूप का प्रयोग करें जिसका आपने पिछले वचनों में उपयोग किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 3:34

τοῦ Ἰακὼβ…Ναχὼρ

यह यीशु के पूर्वजों की सूची का एक निरंतरता है जो लूका 3:23 में आरम्भ हुई थी। उसी प्रारूप का प्रयोग करें जिसका आपने पिछले वचनों में उपयोग किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 3:35

τοῦ Σεροὺχ…Σαλὰ

यह यीशु के पूर्वजों की सूची का एक निरंतरता है जो लूका 3:23 में आरम्भ हुई थी। उसी प्रारूप का प्रयोग करें जिसका आपने पिछले वचनों में उपयोग किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 3:36

τοῦ Καϊνὰμ…Λάμεχ

यह यीशु के पूर्वजों की सूची का एक निरंतरता है जो लूका 3:23 में आरम्भ हुई थी। उसी प्रारूप का प्रयोग करें जिसका आपने पिछले वचनों में उपयोग किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 3:37

τοῦ Μαθουσαλὰ…Καϊνὰμ

यह यीशु के पूर्वजों की सूची का एक निरंतरता है जो लूका 3:23 में आरम्भ हुई थी। उसी प्रारूप का प्रयोग करें जिसका आपने पिछले वचनों में उपयोग किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 3:38

τοῦ Ἐνὼς…Ἀδὰμ

यह यीशु के पूर्वजों की सूची का एक निरंतरता है जो लूका 3:23 में आरम्भ हुई थी। उसी प्रारूप का प्रयोग करें जिसका आपने पिछले वचनों में उपयोग किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Ἀδὰμ, τοῦ Θεοῦ

आदम, परमेश्वर द्वारा सृजा हुआ या ""आदम, जो परमेश्वर से थे"" या ""हम उसे परमेश्वर का पुत्र, आदम कह सकते हैं

Luke 4

लूका 04 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

कुछ अनुवाद पढ़ने के लिए आसान बनाने के लिए काविता के प्रत्येक वाक्य को बाकी के भाग की तुलना में पंक्ति को दाईं ओर व्यवस्थित करते हैं। यूएलटी अनुवाद 4:10-11, 18-19 में दी हुई कविता के साथ ऐसा ही करता है, जो कि पुराने नियम के वचन हैं।

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

शैतान द्वारा यीशु की परीक्षा का लिया जाना

जबकि यह सच है कि शैतान ईमानदारी से विश्वास करता है कि वह यीशु को उसकी आज्ञा मानने के लिए मना सकता है, यह अर्थ निकलना महत्वपूर्ण नहीं है कि यीशु वास्तव में कभी उसकी आज्ञा का पालन करना चाहता था।

Luke 4:1

यीशु ने 40 दिनों तक उपवास किया, और शैतान उसे पाप करने के लिए उकसाने के लिए उससे मिलता है।

Ἰησοῦς δὲ

यीशु को यूहन्ना के द्वारा बपतिस्मा दिए जाने के पश्चात्। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἤγετο ἐν τῷ Πνεύματι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""आत्मा ने उसका नेतृत्व किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 4:2

ἡμέρας τεσσεράκοντα πειραζόμενος

अधिकांश अनुवाद कहते हैं कि परीक्षा पूरे चालीस दिनों हुई थी। यूएसटी अनुवाद कहता है, ""जब वह वहाँ था, तब शैतान उसे निरन्तर"" इसे स्पष्ट करने के ""परीक्षा में डाले रहा।

ἡμέρας τεσσεράκοντα

40 दिन (देखें: संख्याएँ)

πειραζόμενος ὑπὸ τοῦ διαβόλου

इसे क्रिया को सक्रिय रूप में कहा जा सकता है, और आप स्पष्ट कर सकते हैं कि शैतान ने उसे क्या करने के लिए प्रेरित किया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""शैतान ने उसे परमेश्वर की अवज्ञा करने के लिए मना कर लेने का प्रयास किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

καὶ οὐκ ἔφαγεν οὐδὲν

शब्द ""वह"" यीशु को संदर्भित करता है।

Luke 4:3

εἰ Υἱὸς εἶ τοῦ Θεοῦ

शैतान यीशु को इस आश्चर्यकर्म करने के लिए चुनौती देता है कि वह ""परमेश्वर का पुत्र"" है (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

τῷ λίθῳ τούτῳ

शैतान या तो उसके हाथ में एक पत्थर रखता है या पास के पत्थर को उठा लेने के लिए इंगित करता है।

Luke 4:4

καὶ ἀπεκρίθη πρὸς αὐτὸν ὁ Ἰησοῦς, γέγραπται, ὅτι οὐκ ἐπ’ ἄρτῳ μόνῳ ζήσεται ὁ ἄνθρωπος.

शैतान की चुनौती स्पष्ट रूप से यीशु के अस्वीकृत उत्तर में मिलती है। जैसा यूएसटी अनुवाद करता है, ठीक वैसे ही यह आपके पाठकों को स्पष्ट रूप से यह बताने में सहायतापूर्ण हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु ने उत्तर दिया, 'नहीं, मैं ऐसा नहीं करूँगा क्योंकि यह लिखा गया है कि...।'

γέγραπται

यह हवाला अर्थात् व्यक्तव्य पुराने नियम में मूसा के लेखन से है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मूसा ने अपनी पुस्तकों में लिखा है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

οὐκ ἐπ’ ἄρτῳ μόνῳ ζήσεται ὁ ἄνθρωπος

शब्द ""रोटी"" सामान्य रूप से भोजन को संदर्भित करता है। परमेश्वर की तुलना में भोजन, स्वयं ही, किसी व्यक्ति को संभाले रखने के लिए पर्याप्त नहीं है। यीशु ने पवित्रशास्त्र को यह कहने के लिए उद्धृत किया कि वह पत्थर को रोटी में क्यों नहीं परिवर्तित कर पाएगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग सिर्फ रोटी पर ही नहीं जी सकते"" या ""यह केवल भोजन नहीं है जो एक व्यक्ति को जीवित बनाए रखता है"" या ""परमेश्वर कहता है कि भोजन से अधिक महत्वपूर्ण और बातें भी हैं"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Luke 4:5

ἀναγαγὼν αὐτὸν

वह यीशु को एक पहाड़ी पर ले गया। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐν στιγμῇ χρόνου

एक ही क्षण में या ""तत्काल

Luke 4:6

ἐμοὶ παραδέδοται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। सम्भावित अर्थ यह है कि ""उन्हें"" 1) राज्यों के अधिकार और महिमा या 2) साम्राज्यों से सन्दर्भित करता है । वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उन्हें मुझे दिया है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 4:7

ἐὰν προσκυνήσῃς ἐνώπιον ἐμοῦ

ये दो वाक्यांश बहुत ही अधिक एक जैसे हैं। उन्हें जोड़ा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि तुम मेरी आराधना में दण्डवत् करोगे"" (देखें: दोहरात्मक)

ἔσται σοῦ

मैं तुम्हें इन सभी साम्राज्यों को उनकी महिमा के साथ दे दूँगा

Luke 4:8

γέγραπται

यीशु ने शैतान से उसे करने से मना कर दिया जो उसने उससे कहा था। यह स्पष्ट रूप से बताने में सहायतापूर्ण हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""नहीं, मैं तेरी आराधना नहीं करूँगा, क्योंकि यह लिखा है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἀποκριθεὶς…εἶπεν αὐτῷ

अपनी प्रतिक्रिया दी या ""उसे प्रतिउत्तर दिया

γέγραπται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मूसा ने अपनी पुस्तकों में लिखा है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Κύριον τὸν Θεόν σου προσκυνήσεις

यीशु पवित्रशास्त्र से एक आज्ञा को उद्धृत कर रहा था कि वह शैतान की उपासना क्यों नहीं करेगा।

προσκυνήσεις

यह पुराने नियम के लोगों को सन्दर्भित करता है, जिन्होंने परमेश्वर की व्यवस्था को प्राप्त किया। आप 'तू' के एकवचनीय रूप का उपयोग कर सकते हैं, क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति को आज्ञा का पालन करना था, या आप 'तू' के बहुवचनीय रूप का उपयोग कर सकते थे, क्योंकि सभी लोगों को आज्ञा का पालन करना था। (देखें: तुम के प्रारूप)

αὐτῷ

शब्द ""उसे"" प्रभु परमेश्वर को सन्दर्भित करता है।

Luke 4:9

τὸ πτερύγιον

यह मन्दिर की छत का कोना था। यदि कोई वहां से गिर गया, तो वे गंभीर रूप से घायल हो जाएगा या मर जाएगा।

εἰ Υἱὸς εἶ τοῦ Θεοῦ

शैतान यीशु को चुनौती दे रहा है कि वह यह प्रमाणित करे कि वह ईश्वर का पुत्र है।

Υἱὸς…τοῦ Θεοῦ

यह यीशु के लिए एक महत्वपूर्ण पदवी है। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

βάλε σεαυτὸν…κάτω

भूमि पर नीचे कूद जाओ

Luke 4:10

γέγραπται γὰρ

शैतान का तात्पर्य है कि भजन सहिंता से उसके द्वारा दिए हुए उद्धरण का अर्थ यह है कि यदि वह परमेश्वर का पुत्र है तो यीशु को चोट नहीं पहुँचेगी। इसे स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है, जैसा कि यूएसटी अनुवाद करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुझे चोट नहीं पहुँचेगी, क्योंकि यह लिखा है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

γέγραπται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लेखक ने लिखा है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐντελεῖται

वह परमेश्वर को सन्दर्भित करता है। शैतान ने आंशिक रूप से भजन संहिता से उद्धृत किया ताकि यीशु को मन्दिर से नीचे कूदने के लिए मना सके।

Luke 4:12

εἴρηται

यीशु शैतान से कहता है कि वह ऐसा नहीं करेगा जिसे शैतान ने उसे करने के लिए कहा था। उसके द्वारा इन्कार कर दिए जाने को स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""नहीं, मैं ऐसा नहीं करूँगा, क्योंकि यह कहा गया है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

εἴρηται

यीशु व्यवस्थाविवरण के लेखों में से मूसा को उदधृत करता है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मूसा ने कहा है"" या ""मूसा ने अपनी पु्स्तकों में कहा है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

οὐκ ἐκπειράσεις Κύριον τὸν Θεόν σου

सम्भावित अर्थ 1) यीशु को मन्दिर से नीचे कूद कर परमेश्वर की परीक्षा नहीं करनी चाहिए, या 2) शैतान को यह देखने के लिए वह परमेश्वर का पुत्र है या नहीं यीशु की परीक्षा नहीं करनी चाहिए। अर्थ की व्याख्या करने के प्रयास की अपेक्षा वचन का अनुवाद किया जाना सबसे अच्छा है।

Luke 4:13

ἄχρι καιροῦ

एक और अवसर तक

συντελέσας πάντα πειρασμὸν

यह इस बात का तात्पर्य नहीं देता है कि शैतान उसके द्वारा दी हुई परीक्षा में सफल रहा - यीशु ने प्रत्येक परीक्षा का विरोध किया। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु को पाप करने के लिए मनाने का प्रयास समाप्त हो गया था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 4:14

यीशु गलील में लौट आया, सभागृह में सिखाता है, और वहां लोगों को बताता है कि वह यशायाह भविष्यद्वक्ता के शास्त्रीय वचन को पूरा कर रहा है।

καὶ ὑπέστρεψεν ὁ Ἰησοῦς

यह कहानी में एक नई घटना का आरम्भ करती है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἐν τῇ δυνάμει τοῦ Πνεύματος

और आत्मा उसे सामर्थ्य दे रहा था। परमेश्वर यीशु के साथ एक विशेष तरीके से था, जिससे वह उसे उन बातों को करने में सक्षम बनाता है जो मनुष्य सामान्य रूप से नहीं कर सके।

φήμη ἐξῆλθεν…περὶ αὐτοῦ

लोगों ने यीशु के बारे में समाचार फैला दिया या ""लोगों ने यीशु के बारे में अन्य लोगों को बताया"" या ""उनके बारे में ज्ञान को व्यक्तिगत् रूप से दूसरों तक पहुँचाया गया।"" जिन्होंने यीशु को सुना, उन्होने उसके बारे में अन्य लोगों को बताया, और फिर उन अन्य लोगों ने उसके बारे में और भी लोगों को बताया।

καθ’ ὅλης τῆς περιχώρου

यह गलील के आसपास के क्षेत्रों या स्थानों को सन्दर्भित करता है।

Luke 4:15

δοξαζόμενος ὑπὸ πάντων

हर किसी ने उसके बारे में बड़ी बातें कहीं या ""सभी लोगों ने उसके बारे में अच्छी तरह से बात की

Luke 4:16

οὗ ἦν τεθραμμένος

जहाँ उसके माता-पिता ने उसका पालन-पोषण किया था या ""जहाँ वह एक बच्चे की तरह करता रहा था"" या ""जहाँ वह बड़ा हुआ

κατὰ τὸ εἰωθὸς αὐτῷ

जैसा कि उसने प्रत्येक सब्त को किया करता था। सब्त के दिन सभागृह में जाना उसका सामान्य अभ्यास था।

Luke 4:17

καὶ ἐπεδόθη αὐτῷ βιβλίον τοῦ προφήτου Ἠσαΐου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""किसी ने उसे भविष्यवक्ता यशायाह का कुण्डल पत्र पढ़ने को दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

βιβλίον τοῦ προφήτου Ἠσαΐου

यह कुण्डल पत्र के ऊपर लिखी हुई यशायाह की पुस्तक को सन्दर्भित करता है। यशायाह ने कई वर्षों पहले इन वचनों को लिखा था, और किसी और ने उन्हें एक कुण्डल पत्र को ऊपर उतार दिया था।

τὸν τόπον οὗ ἦν γεγραμμένον

इन वचनों के साथ कुण्डल पत्र में स्थान। यह वाक्य अगले वचन में आगे बढ़ता है।

Luke 4:18

Πνεῦμα Κυρίου ἐπ’ ἐμέ

पवित्र आत्मा मेरे साथ एक विशेष तरीके से है। जब कोई यह कहता है, तो वह परमेश्वर के वचनों को बोलने का दावा कर रहा है।

ἔχρισέν με

पुराने नियम में, एक व्यक्ति पर अनुष्ठानिक तेल को डाला जाता था जब उन्हें एक विशेष कार्य करने के लिए सामर्थ्य और अधिकार दिया जाता था। यीशु इस कार्य को करने के लिए तैयार होने के लिए पवित्र आत्मा को सन्दर्भित करने के लिए इस रूपक का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पवित्र आत्मा मुझ पर सशक्त बनाने के लिए है"" या ""पवित्र आत्मा ने मुझे सामर्थ्य और अधिकार दिया"" (देखें: रूपक)

πτωχοῖς

गरीब लोग

κηρύξαι αἰχμαλώτοις ἄφεσιν

कैदियों को स्वतन्त्रता की घोषणा करें उन लोगों को बताए जिन्हें कैदी बनाया हुआ है कि वे मुक्त हो सकते हैं ""या"" युद्ध के कैदियों को मुक्त करे

τυφλοῖς ἀνάβλεψιν

अन्धे को दृष्टि दें या ""अन्धे फिर से देख सकें

ἀποστεῖλαι τεθραυσμένους ἐν ἀφέσει

उन लोगों को मुक्त करें जिनके साथ कठोर व्यवहार किया जाता है

Luke 4:19

κηρύξαι ἐνιαυτὸν Κυρίου δεκτόν

सभी को बताए कि परमेश्वर अपने लोगों को आशीष देने के लिए तैयार है या ""यह घोषणा करें कि यह वह वर्ष है जब परमेश्वर अपनी दया को दिखाएगा

Luke 4:20

πτύξας τὸ βιβλίον

अपने अन्दर के लेख की सुरक्षा के लिए एक ट्यूब की तरह कुण्डल पत्र को इक्ट्ठा करके बन्द कर दिया गया था।

τῷ ὑπηρέτῃ

यह सभागृह के एक कार्यकर्ता को सन्दर्भित करता है, जो पवित्रशास्त्र से युक्त कुण्डल पत्रों को उचित देखभाल और सम्मान से रखता है।

ἦσαν ἀτενίζοντες αὐτῷ

इस मुहावरे का अर्थ है ""उस पर ध्यान केंद्रित किया गया था"" या ""उस को ध्यान से देख रहे थे"" (देखें: मुहावरे)

Luke 4:21

πεπλήρωται ἡ Γραφὴ αὕτη ἐν τοῖς ὠσὶν ὑμῶν

यीशु कह रहा था कि वह उस भविष्यद्वाणी को उस समय अपने कार्यों और सन्देश के द्वारा पूरा कर रहा था। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं तुम्हारे सुनते हुए ठीक इसी समय पवित्रशास्त्र के इस वचन को पूरा कर रहा हूँ"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐν τοῖς ὠσὶν ὑμῶν

यह मुहावरे का अर्थ है ""जब तुम मेरी बात सुन रहे हों"" (देखें: मुहावरे)

Luke 4:22

ἐθαύμαζον ἐπὶ τοῖς λόγοις τῆς χάριτος τοῖς ἐκπορευομένοις ἐκ τοῦ στόματος αὐτοῦ

वह अनुग्रह से भरी हुई बातों के बारे में आश्चर्यचकित हो रहे थे जिन्हें वह कह रहा था। यहाँ ""अनुग्रह"" 1) यीशु ने कितनी अच्छी या कितनी दृढ़ता से बात की, या 2) कि यीशु ने परमेश्वर के अनुग्रह के बारे में जिन वचनों को बताया उन्हें सन्दर्भित कर सकता है।

οὐχὶ υἱός ἐστιν Ἰωσὴφ οὗτος?

लोगों ने सोचा कि यूसुफ यीशु का पिता था। यूसुफ एक धार्मिक नेता नहीं था, इसलिए वे आश्चर्यचकित हुए कि उसके पुत्र ने जो कुछ किया उसका वह प्रचार करेगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह तो केवल यूसुफ का पुत्र है!"" या ""उसका पिता तो केवल यूसुफ हैं!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 4:23

नासरत ही वह नगर है जिसमें यीशु बड़ा हुआ था।

πάντως

निश्चित् रूप से या ""इसमें कोई सन्देह नहीं है कि

ἰατρέ, θεράπευσον σεαυτόν

यदि कोई स्वयं बीमारियों को चंगा करने के लिए सक्षम होने का दावा करता है, तो इसमें विश्वास करने का कोई कारण नहीं है कि वह वास्तव में एक डॉक्टर है। लोग इस नीतिवचन को यीशु से यह कहने के लिए कहेंगे कि वे केवल उसमें तब ही विश्वास करेंगे कि वह एक भविष्यद्वक्ता है, जब वे उसे देखेंगे हैं जो उन्होंने सुना है कि उसने अन्य स्थानों पर किया है। (देखें: लोकोक्तियाँ)

ὅσα ἠκούσαμεν…ποίησον καὶ ὧδε ἐν τῇ πατρίδι σου

नासरत के लोग विश्वास नहीं करते थे कि निम्न स्तर का होने का कारण यीशु यूसुफ के पुत्र के रूप में एक भविष्यद्वक्ता है। वे तब तक विश्वास नहीं करेंगे जब तक वे उसे व्यक्तिगत् रूप से आश्चर्चकर्म करते हुए नहीं देखते।

Luke 4:24

ἀμὴν, λέγω ὑμῖν

यह निश्चित रूप से सच है। यह क्या है इसके बारे में एक बलपूर्वक कहा हुआ कथन है।

οὐδεὶς προφήτης δεκτός ἐστιν ἐν τῇ πατρίδι αὐτοῦ

यीशु लोगों को ताड़ना देने के लिए इस सामान्य कथन को देता है। उसका अर्थ था कि वे कफरनहूम में उसके द्वारा किेए हुए आश्चर्यकर्मों की रिपोर्ट पर विश्वास करने से इन्कार कर रहे हैं। वे सोचते थे कि वे पहले से ही उसके बारे में सब कुछ जानते हैं। (देखें: लोकोक्तियाँ)

τῇ πατρίδι αὐτοῦ

मातृभूमि या ""मूल शहर"" या ""वह देश जहाँ वह बड़ा हुआ

Luke 4:25

यीशु उन लोगों को स्मरण दिलाता है जो एलियाह और एलीशा के बारे में सभागृह में उस की सुन रहे थे, जो भविष्यद्वक्ता थे जिनके बारे में वे जानते थे। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

ἐπ’ ἀληθείας δὲ λέγω ὑμῖν

मैं तुम से सच में कहता हूँ। यीशु आगे आने वाले कथन का महत्व, सत्य और सत्यता पर जोर देने के लिए इस वाक्यांश का उपयोग करता है।

χῆραι

विधवाएँ ऐसी स्त्रियाँ हैं जिनके पति मर गए हैं।

ἐν ταῖς ἡμέραις Ἠλείου

जिन लोगों से यीशु बात कर रहा था, उन्हें पता था कि एलियाह परमेश्वर के भविष्यद्वक्ताओं में से एक था। यदि आपके पाठक इसे नहीं जानते हैं, तो आप यूएसटी अनुवाद में दी हुई इस अंतर्निहित जानकारी को स्पष्ट कर सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब एलिय्याह इस्राएल में भविष्यद्वाणी कर रहा था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ὅτε ἐκλείσθη ὁ οὐρανὸς

यह एक रूपक है। आकाश को एक छत के रूप में चित्रित किया गया है जो बन्द था, और इसलिए इससे कोई वर्षा नहीं आएगी। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब आकाश से कोई वर्षा नहीं आती"" या ""जब वर्षा बिल्कुल नहीं होती थी"" (देखें: रूपक)

λιμὸς μέγας

भोजन की गम्भीर कमी। अकाल एक लम्बी अवधि का समय होता है जब फसलों लोगों के लिए पर्याप्त भोजन उत्पन्न नहीं करती है।

Luke 4:26

εἰς Σάρεπτα…πρὸς γυναῖκα χήραν

सारफत शहर में रहने वाले लोग अन्यजाति से थे, न कि यहूदियों से। यीशु को सुनकर लोग समझ गए होंगे कि सारफत के लोग गैर-यहूदी थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""सारफत में रहने वाली एक गैर यहूदिन विधवा के लिए"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना और नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 4:27

Ναιμὰν ὁ Σύρος

एक सीरियाई सीरिया के देश का एक व्यक्ति है। सीरिया के लोग गैर-यहूदी थे, यहूदियों से नहीं थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""सीरिया से गैर-यहूदी नामान"" (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 4:28

καὶ ἐπλήσθησαν πάντες θυμοῦ ἐν τῇ συναγωγῇ ἀκούοντες ταῦτα

नासरत के लोग बहुत अधिक क्रोधित थे कि यीशु ने पवित्रशास्त्र का हवाला दिया था जहां परमेश्वर ने यहूदियों की अपेक्षा गैर-यहूदियों की सहायता की थी।

Luke 4:29

ἐξέβαλον αὐτὸν ἔξω τῆς πόλεως

उसे शहर छोड़ने के लिए मजबूर किया या ""उसे शहर से बाहर निकाला

ὀφρύος τοῦ ὄρους

पहाड़ी का किनारा

Luke 4:30

αὐτὸς δὲ, διελθὼν διὰ μέσου αὐτῶν

भीड़ के बीच से या ""उन लोगों के बीच से जो उसे मारने का प्रयास कर रहे थे।

ἐπορεύετο

वह चला गया या ""वह अपने रास्ते पर चला गया"" यीशु चला गया जहाँ उसने जाने की योजना बनाई थी जहाँ लोग उसे जाने के लिए मजबूर कर रहे थे।

Luke 4:31

तब यीशु कफरनहूम जाता है, वहां लोगों को सभागृह में शिक्षा देता है, और एक दुष्टात्मा को एक मनुष्य को छोड़ने का आदेश देता है।

καὶ κατῆλθεν

तब यीशु। यह एक नई घटना को इंगित करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

κατῆλθεν εἰς Καφαρναοὺμ

नीचे ""चला गया"" वाक्यांश का प्रयोग यहाँ इसलिए किया जाता है क्योंकि नासरत की तुलना में कफरनहुम ऊँचाई में कम है।

Καφαρναοὺμ, πόλιν τῆς Γαλιλαίας

गलील में एक और शहर कफरनहुम

Luke 4:32

καὶ ἐξεπλήσσοντο

बहुत ही विस्मित हुए, बहुत अधिक आश्चर्यचकित हुए

ἐν ἐξουσίᾳ ἦν ὁ λόγος αὐτοῦ

उसने अधिकार के साथ बात की या ""उसके शब्दों में बड़ी सामर्थ्य थी

Luke 4:33

καὶ…ἦν ἄνθρωπος

इस वाक्यांश का उपयोग कहानी में एक नए चरित्र के आरम्भ होने को चिन्हित करने के लिए किया गया है; इस घटना में, दुष्टात्मा से ग्रसित एक व्यक्ति। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἔχων πνεῦμα δαιμονίου ἀκαθάρτου

जो एक दुष्टात्मा से ग्रसित था या ""जो एक दुष्ट आत्मा के द्वारा नियन्त्रित था

ἀνέκραξεν φωνῇ μεγάλῃ

वह जोर से चिल्लाया

Luke 4:34

τί ἡμῖν καὶ σοί

यह विद्रोही प्रतिक्रिया एक मुहावरा है जिसका अर्थ: ""हम में एक जैसे बात कौन सी है?"" या ""तेरे पास हमें परेशान करने का क्या अधिकार है?"" (देखें: मुहावरे)

τί ἡμῖν καὶ σοί, Ἰησοῦ Ναζαρηνέ?

यह प्रश्न एक कथन के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""नासरत के यीशु, तेरा हमारे साथ क्या काम है!"" या नासरत के यीशु, हमारे तेरा कोई लेन देन नहीं है! ""या"" नासरत के यीशु, हमें परेशान करने का तुझे कोई अधिकार नहीं है! ""(देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 4:35

ἐπετίμησεν αὐτῷ ὁ Ἰησοῦς λέγων

यीशु ने दुष्टात्मा को डाँटकर कहा, ""यीशु ने दृढ़ता से दुष्टात्मा से कहा

ἔξελθε ἀπ’ αὐτοῦ

उसने दुष्टात्मा को उस व्यक्ति को नियन्त्रित करने से रूकने का आदेश दिया। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसे अकेला छोड़ दो"" या ""अब और अधिक इस व्यक्ति के भीतर न रह

Luke 4:36

τίς ὁ λόγος οὗτος

लोग व्यक्त कर रहे थे कि वे कितने आश्चर्यचकित थे कि यीशु के पास दुष्टात्माओं को एक व्यक्ति में से निकाल देने का अधिकार था। इसे एक कथन के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ये अद्भुत वचन हैं!"" या ""उसके वचन अद्भुत हैं!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἐν ἐξουσίᾳ καὶ δυνάμει ἐπιτάσσει τοῖς ἀκαθάρτοις πνεύμασιν

अशुद्ध आत्माओं को आदेश देने के लिए उसके पास अधिकार और सामर्थ्य है

Luke 4:37

καὶ ἐξεπορεύετο ἦχος περὶ αὐτοῦ…τῆς περιχώρου

यह एक ऐसी टिप्पणी है जो इस कहानी के बाद घटनाओं के बारे में है जो इस कहानी के भीतर हुई घटनाओं के घटित होने के कारण बनता है। (देखें: कहानी का अंत)

ἐξεπορεύετο ἦχος περὶ αὐτοῦ

यीशु के बारे में समाचार फैलना आरम्भ हुआ या ""लोगों ने यीशु के बारे में समाचार फैलाना आरम्भ कर दिया

Luke 4:38

यीशु अभी भी कफरनहूम में है, परन्तु वह अब शमौन के घर पर है, जहाँ वह शमौन की सास और कई लोगों को ठीक करता है।

ἀναστὰς δὲ

यह एक नई घटना को प्रस्तुत करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

πενθερὰ…τοῦ Σίμωνος

शमौन की पत्नी की माता

ἦν συνεχομένη

यह एक मुहावरे है जिसका अर्थ है ""बहुत अधिक बीमार थी"" (देखें: मुहावरे)

πυρετῷ μεγάλῳ

बहुत गर्म चमड़ी

ἠρώτησαν αὐτὸν περὶ αὐτῆς

इसका अर्थ है कि उन्होंने यीशु को बुखार से उसे ठीक करने के लिए कहा था। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु को बुखार से उसे ठीक करने के लिए कहा"" या ""यीशु से बुखार ठीक करने के लिए कहा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 4:39

καὶ ἐπιστὰς

शब्द ""इसलिए"" यह स्पष्ट करता है कि उसने ऐसा इसलिए किया क्योंकि लोगों ने शमौन की सास की ओर से उसे चंगा करने का अनुरोध किया था।

ἐπιστὰς ἐπάνω αὐτῆς

उसके पास गया और उसके ऊपर झुक गया

ἐπετίμησεν τῷ πυρετῷ, καὶ ἀφῆκεν αὐτήν

बुखार से कठोरता के साथ बात की, और उसने उसे छोड़ दिया या ""बुखार को उसे छोड़ने का आदेश दिया, और ऐसा ही हुआ।"" यह स्पष्ट रूप से बताने में सहायक हो सकता है कि उसने बुखार को क्या कहा। वैकल्पिक अनुवाद: ""आदेश दिया कि उसकी चमड़ी ठण्डी हो जानी चाहिए, और उसने"" या ""बीमारी को उसे छोड़ने का आदेश दिया, और ऐसा ही हुआ"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐπετίμησεν τῷ πυρετῷ

वह बुखार के ताप को डाँटता है

διηκόνει αὐτοῖς

यहाँ इसका अर्थ यह है कि उसने घर के अन्य लोगों और यीशु के लिए खाना तैयार करना आरम्भ कर दिया था।

Luke 4:40

ἑνὶ…τὰς χεῖρας ἐπιτιθεὶς

अपने हाथों को रखा या ""स्पर्श"" किया

Luke 4:41

ἐξήρχετο…καὶ δαιμόνια

यह निहितार्थ है कि यीशु ने दुष्टात्मा से ग्रसित लोगों से दुष्टात्माओं को निकल जाने दिया था। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु ने भी दुष्टात्माओं को बाहर निकल जाने लिए मजबूर किया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

κραυγάζοντα καὶ λέγοντα

ये एक ही बात के बारे में हैं, और शायद डर या क्रोध से रोने को सन्दर्भित करता है। कुछ अनुवाद केवल एक शब्द का उपयोग करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""चीखना"" या ""चिल्लाना"" (देखें: दोहरात्मक)

ὁ Υἱὸς τοῦ Θεοῦ

यह यीशु के लिए एक महत्वपूर्ण पदवी है। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

ἐπιτιμῶν

दुष्टात्मा से कठोरता के साथ बात की

οὐκ εἴα αὐτὰ

उन्हें अनुमति नहीं दी

Luke 4:42

यद्यपि लोग चाहते हैं कि यीशु कफरनहूम में रहें, वह अन्य यहूदियों के सभागृहों में प्रचार करने के लिए जाता है।

γενομένης…ἡμέρας, ἐξελθὼν

सूर्योदय के समय या ""सुबह के समय

ἔρημον τόπον

एक निर्जन स्थान या ""एक ऐसा स्थान जहाँ लोग नहीं थे

Luke 4:43

ταῖς ἑτέραις πόλεσιν

कई अन्य शहरों में लोगों के लिए

τοῦτο ἀπεστάλην

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यही कारण है कि परमेश्वर ने मुझे यहाँ भेजा है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 4:44

τῆς Ἰουδαίας

क्योंकि यीशु गलील में था, इसलिए यहाँ शब्द ""यहूदिया"" कदाचित् पूरे क्षेत्र को सन्दर्भित करता है, जहाँ उस समय यहूदी रहते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""जहाँ यहूदी रहते थे

Luke 5

लूका 05 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय की विशेष धारणाएँ

""आप लोगों को पकड़ेंगे""

पतरस, याकूब और यूहन्ना मछुआरे थे। जब यीशु ने उनसे कहा कि वे लोगों को पकड़ेंगे, तो वह उन्हें यह बताने के लिए एक रूपक का उपयोग कर रहा था कि वह चाहता था कि वे लोगों को उसके बारे में शुभ सन्देश पर विश्वास करने में सहायता करें। (देखें: चेला, चेले और रूपक)

पापी

जब यीशु के समय के लोगों ने ""पापियों"" की बात की, तो वे उन लोगों के बारे में बात कर रहे थे, जिन्होंने मूसा की व्यवस्था का पालन नहीं किया और चोरी या गलत यौन सम्बन्धों जैसे पाप किए । जब यीशु ने कहा कि वह ""पापियों"" को बुलाने के लिए आया था, तो उसका अर्थ यह था कि केवल वही लोग जो विश्वास करते हैं कि वे पापी हैं, उनके अनुयायी हो सकते हैं। यह सच है भले ही अधिकांश लोग वैसे नहीं होते हैं जैसे कि लोग उन्हें ""पापी"" के रूप में सोचते हैं। (देखें: पाप, पापो, पाप करना, पापमय, पापी, पाप करते रहना)

उपवास और दावत

लोगों उपवास करेंगे, या लम्बे समय तक भोजन नहीं खाएँगे, जब वे उदास होते थे या परमेश्वर को दिखा रहे होते थे कि वे अपने पापों के लिए खेदित थे। जब वे प्रसन्न होंगे, जैसे विवाह के समय, उत्सव भोज, या भोजन खाएँगे, जिसमें वे बहुत अधिक खाना खाएँगे। (देखें: उपवास, उपवास करना)

इस अध्याय के महत्वपूर्ण अलंकार

काल्पनिक परिस्थिति

यीशु फरीसियों की निन्दा करने के लिए एक काल्पनिक स्थिति का उपयोग करता है। इस सन्दर्भ में ""अच्छे स्वास्थ्य वाले लोग"" और ""धार्मिक लोग"" सम्मिलित हैं। इसका अर्थ यह नहीं है कि ऐसे लोग जिन्हें यीशु की आवश्यकता नहीं है। ""धर्मी लोग"" नहीं हैं, हर किसी को यीशु की आवश्यकता है। (देखें: काल्पनिक परिस्थितियाँ और Luke 5:31-32)

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

निहितार्थ जानकारी

इस अध्याय के कई अंशों में लेखक ने कुछ निहितार्थ जानकारी दी हैं जिसे कि उसके मूल पाठक समझ गए होंगे या जिसके बारे में सोचा होगा। आधुनिक पाठकों को उन बातों में से कुछ नहीं पता हो सकती हैं, इसलिए उन्हें समझने में परेशानी आ सकती है जिसे लेखक संप्रेषित कर रहा था। यूएसटी अनुवाद अक्सर यह दिखाता है कि यह जानकारी कैसे प्रस्तुत की जा सकती है ताकि आधुनिक पाठक उन प्रसंगों को समझ सकें। (देखें: अज्ञात का अनुवाद और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

अतीत की घटनाएँ

इस अध्याय के भाग उन घटनाओं के अनुक्रम में हैं जो पहले ही घटित हो चुकी हैं। एक दिए हुए प्रसंग में, लूका कभी-कभी लिखता है मानों कि घटनाएँ पहले से ही घटित हो चुकी हैं जबकि अन्य घटनाएँ अभी आगे घटित होने पर हैं (यद्यपि वे लिखते समय ही पूर्ण हो जाएँ)। इससे घटनाओं का एक अतार्कित क्रम बनाकर अनुवाद में कठिनाई को उत्पन्न कर सकता है। इसे लिखकर सुसंगत बनाना आवश्यक हो सकता है जैसे कि सभी घटनाएँ पहले से ही घटित हो चुकी हैं।

""मनुष्य का पुत्र""

यीशु इस अध्याय में स्वयं को ""मनुष्य का पुत्र"" के रूप में सन्दर्भित करता है (लूका 5:24). आपकी भाषा लोगों को स्वयं के लिए ऐसे बात करने की अनुमति न दे जैसे कि वे किसी और के बारे में बात कर रहे थे। (देखें: मनुष्य का पुत्र, मनुष्य का पुत्र और प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

Luke 5:1

यीशु गन्नेसरत की झील पर शमौन पतरस की नाव से प्रचार करता है।

ἐγένετο δὲ

इस वाक्यांश का उपयोग कहानी के एक नए भाग के आरम्भ को चिन्हित करने के लिए किया गया है। यदि तुम्हारी भाषा में ऐसा करने का कोई तरीका है, तो आप इसे यहाँ उपयोग करने पर विचार कर सकते हैं। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἀκούειν τὸν λόγον τοῦ Θεοῦ

सम्भावित अर्थ 1) ""परमेश्वर चाहता है कि लोग सन्देश को सुने"" या 2) ""परमेश्वर के बारे में यीशु के सन्देश को सुनना

τὴν λίμνην Γεννησαρέτ

ये शब्द गलील के सागर को सन्दर्भित करते हैं। गलील झील के पश्चिमी किनारे पर थी, और गन्नेसरत की भूमि पूर्व की ओर थी, इसलिए इसे दोनों नामों से बुलाया गया था। कुछ अंग्रेजी संस्करणों के अनुवाद इस पानी को, ""गन्नेसरत की झील"" के उचित नाम के रूप में अनुवाद करते हैं।

Luke 5:2

ἔπλυνον τὰ δίκτυα

वे मछली पकड़ने के लिए अपने जाल की सफाई फिर से मछली पकड़ने के लिए कर रहे थे।

Luke 5:3

εἰς ἓν τῶν πλοίων, ὃ ἦν Σίμωνος

शमौन से सम्बन्धित नाव

ἠρώτησεν αὐτὸν ἀπὸ τῆς γῆς ἐπαναγαγεῖν ὀλίγον

शमौन को किनारे से दूर नाव को ले जाने के लिए कहा

καθίσας…ἐδίδασκεν…τοὺς ὄχλους

बैठना एक शिक्षक के लिए सामान्य स्थिति थी।

ἐδίδασκεν ἐκ τοῦ πλοίου τοὺς ὄχλους

नाव में बैठे कर लोगों को शिक्षा दी। यीशु नाव में तट से थोड़ी दूरी पर था और वह किनारे पर रहने वाले लोगों से बात कर रहा था।

Luke 5:4

ὡς δὲ ἐπαύσατο λαλῶν

जब यीशु ने लोगों को शिक्षा देनी समाप्त कर दी

Luke 5:5

ἐπὶ δὲ τῷ ῥήματί σου

क्योंकि तूने मुझे ऐसा करने के लिए कहा है

Luke 5:7

κατένευσαν

वे उन्हें आवाज़ देने के लिए तट बहुत दूर थे, इसलिए उन्होंने अपने हाथों को लहराकर, संकेत दिया।

βυθίζεσθαι αὐτά

नाव ने डुबना आरम्भ किया। कारण स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""नाव डूबने लगीं क्योंकि मछलियाँ इतनी भारी थी"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 5:8

προσέπεσεν τοῖς γόνασιν Ἰησοῦ

सम्भावित अर्थ 1) ""यीशु के सामने घुटने टेकते हैं"" या 2) ""यीशु के चरणों में झुके"" या 3) ""यीशु के चरणों के पास भूमि पर बैठ गए।"" पतरस गलती से नहीं गिरा था। उसने ऐसा यीशु के लिए विनम्रता और सम्मान के संकेत स्वरूप किया। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

ἀνὴρ ἁμαρτωλός

यहाँ आए शब्द ""मनुष्य"" का अर्थ ""वयस्क पुरुष"" और अधिक सामान्य भाव में ""मानव"" से है।

Luke 5:9

τῇ ἄγρᾳ τῶν ἰχθύων

मछलियों की एक बड़ी सँख्या

Luke 5:10

κοινωνοὶ τῷ Σίμωνι

मछली पकड़ने के उसके व्यवसाय में शमौन के सहयोगी

ἀνθρώπους ἔσῃ ζωγρῶν

लोगों को मसीह के पीछे चलने के लिए इकट्ठा करने के लिए मछली पकड़ने का चित्र एक रूपक के रूप में उपयोग किया गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम लोगों को पकड़ोगे"" या ""तुम मेरे लिए लोगों को इकट्ठा करोगे"" या ""तुम लोगों को मेरे चेले बनने के लिए लाओगे"" (देखें: रूपक)

Luke 5:12

यीशु एक भिन्न शहर में एक कुष्ठरोगी को ठीक करता है जिसका नाम नहीं है।

καὶ ἐγένετο

यह वाक्यांश कहानी में एक नई घटना को घटित होने को चिन्हित करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἀνὴρ πλήρης λέπρας

एक व्यक्ति जिसे पूरे शरीर पर कुष्ठ रोग था। यह कहानी में एक नए पात्र के आने का परिचय देती है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

πεσὼν ἐπὶ πρόσωπον

यहाँ ""मुँह के बल गिरा"" एक मुहावरा है जिसका अर्थ है दण्डवत् करने से है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने घुटने टेके और मुँह से भूमि को स्पर्श किया"" या ""वह भूमि पर झुक गया"" (देखें: मुहावरे)

ἐὰν θέλῃς

यदि तू चाहता है तो

δύνασαί με καθαρίσαι

ऐसा समझा जाता है कि वह यीशु से उसे ठीक करने के लिए कह रहा था। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कृपया मुझे शुद्ध करें, क्योंकि तू सक्षम है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

με καθαρίσαι

यह अनुष्ठानिक शुद्धता को सन्दर्भित करता है, परन्तु ऐसा समझा जाता है कि कुष्ठ रोग के कारण वह अशुद्ध था। वह वास्तव में यीशु से उसकी बीमारी को ठीक करने के लिए कह रहा है। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझे कुष्ठ रोग से ठीक करें ताकि मैं शुद्ध हो जाऊँ"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 5:13

καθαρίσθητι

यह अनुष्ठानिक शुद्धता को सन्दर्भित करता है, परन्तु ऐसा समझा जाता है कि कुष्ठ रोग के कारण वह अशुद्ध था। वह वास्तव में यीशु से उसकी बीमारी को ठीक करने के लिए कह रहा है। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""शुद्ध हो जा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἡ λέπρα ἀπῆλθεν ἀπ’ αὐτοῦ

उसे अब और अधिक कुष्ठ रोग नहीं रहा

Luke 5:14

μηδενὶ εἰπεῖν

इसे प्रत्यक्ष कथन के रूप में अनुवाद किया जा सकता है: ""किसी से न कह"" अंतर्निहित जानकारी है जिसे स्पष्ट रूप से भी (यहाँ)कहा जा सकता है: ""किसी को यह न बताना कि तुम ठीक हो गए हैं"" (देखें: प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष उद्धरण और पदन्यूनता)

προσένεγκε περὶ τοῦ καθαρισμοῦ σου

व्यवस्था के द्वारा एक व्यक्ति के चंगा हो जाने के पश्चात् विशेष बलिदान चढ़ाने की शर्त निर्धारित थी। इसके पश्चात् एक व्यक्ति को अनुष्ठानिक रीति से शुद्ध होना, और धार्मिक अनुष्ठानों में फिर से भाग लेने में सक्षम होना था।

εἰς μαρτύριον

था अपने चंगे होने के प्रमाण में

αὐτοῖς

इसके सम्भावित अर्थ 1) ""याजकों के लिए"" या 2) ""सभी लोगों के लिए"" से है।

Luke 5:15

ὁ λόγος περὶ αὐτοῦ

यीशु के बारे में समाचार। इसका अर्थ यह हो सकता है कि ""यीशु के बारे में"" कुष्ठ रोग वाले व्यक्ति को ठीक करने का समाचार या ""यीशु के द्वारा की हुई चंगाई का समाचार।

διήρχετο…μᾶλλον ὁ λόγος περὶ αὐτοῦ

उसके बारे में समाचार बहुत दूर तक चला गया। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग निरन्तर अन्य स्थानों पर उनके बारे में समाचार बताते रहते हैं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 5:16

ταῖς ἐρήμοις

निर्जन स्थान या ""ऐसे स्थान जहां अन्य लोग नहीं थे

Luke 5:17

एक दिन जब यीशु एक घर में शिक्षा दे रहा था, तो कुछ लोग यीशु के पास एक लकवा के मारे हुए व्यक्ति को ले आए।

ἐγένετο

यह वाक्यांश कहानी के एक नए अंश के आरम्भ को चिन्हित करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

Luke 5:18

καὶ ἰδοὺ, ἄνδρες

ये कहानी में मिलने वाले नए लोग हैं। आपकी भाषा में इसे दिखाने का एक तरीका हो सकता है कि ये नए लोग हैं। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

κλίνης

सोने वाली खाट या रोगी को उठाने वाली पालकी

ἦν παραλελυμένος

स्वयं से हिल नहीं सकता था

Luke 5:19

καὶ μὴ εὑρόντες ποίας εἰσενέγκωσιν αὐτὸν διὰ τὸν ὄχλον

कुछ भाषाओं में इसे पुन: व्यवस्थित करना अधिक स्वभाविक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु लोगों की भीड़ के कारण, उन्हें उस व्यक्ति को भीतर लाने के लिए कोई रास्ता नहीं मिला। इसलिए

διὰ τὸν ὄχλον

यह स्पष्ट है कि वे प्रवेश नहीं कर पाए थे क्योंकि भीड़ इतनी अधिक थी कि उनके कोई स्थान नहीं मिल रहा था। (देखें: पदन्यूनता)

ἀναβάντες ἐπὶ τὸ δῶμα

घरों की छतें समतल थीं, और कुछ घरों में पौड़ी या सीढ़ी थी ताकि उन पर बाहर से चढ़ना आसान हो। यह कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे घर की समतल छत पर गए"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἔμπροσθεν τοῦ Ἰησοῦ

सीधे ही यीशु के सामने या ""अचानक से यीशु के सामने ही

Luke 5:20

καὶ ἰδὼν τὴν πίστιν αὐτῶν εἶπεν

ऐसा समझा जाता है कि उनका मानना था कि यीशु लकवा ग्रस्त व्यक्ति को ठीक कर सकता है। यह कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब यीशु को लगा कि वे विश्वास करते थे कि वह उस व्यक्ति को ठीक कर सकता है, तो उसने उससे कहा"" (देखें: पदन्यूनता)

ἄνθρωπε

यह एक सामान्य शब्द है जिसे लोग उस व्यक्ति से बात करते समय उपयोग करते थे जिसका नाम उन्हें नहीं पता होता था। यह कठोर नहीं था, परन्तु साथ ही यह किसी भी विशेष सम्मान को नहीं दिखाता था। कुछ भाषाएँ ""मित्र"" या ""महोदय"" जैसे शब्द का उपयोग कर सकती हैं।

ἀφέωνταί σοι αἱ ἁμαρτίαι σου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुझे क्षमा कर दिया गया है"" या ""मैं तुझे तेरे पापों से क्षमा करता हूँ"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 5:21

διαλογίζεσθαι

इस पर चर्चा करें या ""इसके बारे में तर्क सहित विचार करें।"" उन्होंने जो प्रश्न किया था उसे कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""चर्चा करें कि यीशु को पापों को क्षमा करने का अधिकार है या नहीं"" (देखें: पदन्यूनता)

τίς ἐστιν οὗτος ὃς λαλεῖ βλασφημίας?

यह प्रश्न दिखाता है कि यीशु ने जो कहा उससे वे कितना अधिक चौंक गए और गुस्से में थे। इसे एक कथन के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह व्यक्ति परमेश्वर की निन्दा कर रहा है!"" या ""वह ऐसा कहकर परमेश्वर की निन्दा करता है!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

τίς δύναται ἀφιέναι ἁμαρτίας εἰ μὴ μόνος ὁ Θεός?

इसमें निहित जानकारी यह है कि यदि कोई व्यक्ति पाप क्षमा करने का दावा करता है तो वह कहता है कि वह ईश्वर है। इसे एक स्पष्ट कथन के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""केवल परमेश्वर को छोड़ कोई भी पाप को क्षमा नहीं कर सकता!"" या ""परमेश्वर ही एकमात्र है जो पाप क्षमा कर सकता है!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 5:22

ἐπιγνοὺς…τοὺς διαλογισμοὺς

यह वाक्यांश इंगित करता है कि वे शान्त होकर तर्क कर रहे थे, जिससे यीशु को पता लग गया कि वे क्या सोच रहे थे।

τί διαλογίζεσθε ἐν ταῖς καρδίαις ὑμῶν?

इसे एक कथन के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हें अपने मनों में इसके बारे में तर्क नहीं करना चाहिए।"" या ""तुम्हें सन्देह नहीं होना चाहिए कि मेरे पास पापों को क्षमा करने का अधिकार है।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἐν ταῖς καρδίαις ὑμῶν

यहाँ ""मन"" लोगों के हृदय या आन्तरिक केन्द्र बिन्दु के लिए एक उपनाम है। (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 5:23

τί ἐστιν εὐκοπώτερον, εἰπεῖν, ἀφέωνταί σοι αἱ ἁμαρτίαι σου, ἢ εἰπεῖν, ἔγειρε καὶ περιπάτει?

यीशु इस प्रश्न का उपयोग करता है कि शास्त्री इस बारे में जो सोचते हैं वह यह कि क्या यह प्रमाणित हो सकता है कि वह वास्तव में पापों को क्षमा कर सकता है या नहीं। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैंने अभी-अभी कहा 'तेरे पापों से तुझे क्षमा कर दिया गया है।' तुम सोच सकते हैं कि 'उठना और चलना' कहना कठिन है, क्योंकि यह इस बात का प्रमाण है कि मैं इस व्यक्ति को ठीक कर सकता हूँ या नहीं, यह दिखाएगा कि वह उठता या चलता है या नहीं।"" या ""तुम सोच सकते हो कि 'उठ और चल' कहने की अपेक्षा यह कहना कि 'तेरे पाप क्षमा हुए' आसान है।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

εὐκοπώτερον, εἰπεῖν

अनकहा निहितार्थ यह है कि एक बात को ""कहना आसान है क्योंकि कोई भी नहीं जानता कि क्या हुआ है,"" परन्तु दूसरी बात कठिन है कि ""हर किसी को यह पता चल जाएगा कि क्या हुआ है।"" लोग नहीं देख सकते थे कि क्या मनुष्य के पापों को क्षमा किया गया था, परन्तु वे सभी जान जाएँगे यदि वह ठीक हो जाता है क्योंकि वह उठेगा और चला जाएगा। (देखें: पदन्यूनता)

Luke 5:24

εἰδῆτε

यीशु शास्त्री और फरीसियों से बात कर रहा था। शब्द ""तुम"" बहुवचन है। (देखें: तुम के प्रारूप)

ὁ Υἱὸς τοῦ Ἀνθρώπου

यीशु स्वयं के लिए उदधृत कर रहा था।

σοὶ λέγω

यीशु यह बात लकवा मारे हुए व्यक्ति को यह कह रहा था। शब्द ""तुझ"" एकवचन है।

Luke 5:25

καὶ παραχρῆμα ἀναστὰς

वह तुरन्त उठ गया या ""वह एकदम से उठ गया

ἀναστὰς

यह कहना उपयोगी हो सकता है कि वह ठीक हो गया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह व्यक्ति ठीक हो गया था! वह उठ गया

Luke 5:26

ἐπλήσθησαν φόβου

बहुत ज्यादा डर गए या ""भय से भर गए

παράδοξα

अद्भुत बातें या ""अनोखी बातें

Luke 5:27

जब यीशु घर को छोड़ता है, तो वह यहूदी कर संगहकर्ता लेवी को उसका अनुसरण करने के लिए बुलाता है। यीशु फरीसियों और शास्त्रीयों को गुस्सा दिलाता है क्योंकि वह एक बड़े भोजन में भाग लेता है जिसे लेवी ने उसके लिए तैयार किया था।

καὶ μετὰ ταῦτα

वाक्यांश ""इसके बाद"" का अर्थ पिछले वचनों में घटित हुई घटनाओं से है। यह एक नई घटना के लिए संकेत देता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἐθεάσατο τελώνην

ध्यान के साथ कर संग्रहकर्ता को देखा या ""कर संग्रहकर्ता को ध्यान से देखा

ἀκολούθει μοι

किसी का ""अनुसरण"" करने के लिए उस व्यक्ति का शिष्य बनना होता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरा शिष्य बनो"" या ""आओ, मुझे अपना शिक्षक मानते हुए मेरे पीछे हो लो"" (देखें: मुहावरे)

Luke 5:28

καταλιπὼν πάντα

एक कर संग्रहकर्ता के रूप में अपना कार्य को छोड़ दिया

Luke 5:29

भोजन पर, यीशु फरीसियों और शास्त्रीयों से बात करता है।

ἐν τῇ οἰκίᾳ αὐτοῦ

लेवी के घर में

κατακείμενοι

एक त्यौहार में भोजन खाने की यूनानी शैली को सोफे पर बैठ कर झूठ बोलना कहा जाता था और किसी तकिए के ऊपर बाएं हाथ को रख कर स्वयं को प्रस्तुत किया जाता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक साथ भोजन करना"" या ""मेज पर भोजन करना"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 5:30

πρὸς τοὺς μαθητὰς αὐτοῦ

यीशु के चेलों से

διὰ τί…ἁμαρτωλῶν ἐσθίετε…πίνετε?

फरीसी और शास्त्री इस प्रश्न को करते हुए अस्वीकार करते हैं कि यीशु के चेले पापियों के साथ भोजन खा रहे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हें पापियों के साथ भोजन नहीं करना चाहिए!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἁμαρτωλῶν

जो लोग मूसा की व्यवस्था का पालन नहीं करते थे, परन्तु उन्होंने उन कार्यों को किया था, जिन्हें दूसरों ने सोचा था वह बहुत बुरे पाप थे

μετὰ…ἁμαρτωλῶν ἐσθίετε καὶ πίνετε

फरीसियों और शास्त्रियों का मानना था कि धर्मी लोगों को स्वयं को उन लोगों से पृथक रखना चाहिए जिन्हें वे पापी मानते थे। शब्द ""तुम"" बहुवचन है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 5:31

οἱ ὑγιαίνοντες…οἱ κακῶς ἔχοντες

यीशु इस नीतिवचन का उपयोग करते हुए उन्हें बताता है कि वह पापियों को पश्चाताप करने के लिए बुलाता है जिस तरह से एक चिकित्सक बीमार लोगों को ठीक होने के लिए बुलाता है। (देखें: लोकोक्तियाँ)

ἰατροῦ

डॉक्टर

ἀλλὰ οἱ κακῶς ἔχοντες

आपको उन शब्दों को आपूर्ति करने की आवश्यकता हो सकती है जिन्हें यहाँ छोड़ा दिया गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""केवल वही जो बीमार हैं उन्हें एक चिकित्सक की आवश्यकता है"" (देखें: पदन्यूनता)

Luke 5:32

οὐκ ἐλήλυθα καλέσαι δικαίους, ἀλλὰ ἁμαρτωλοὺς εἰς μετάνοιαν

जो कोई भी यीशु का अनुसरण करना चाहता है उसे स्वयं को पापियों के रूप में सोचना है, न कि धर्मी के रूप में।

δικαίους

इस नाममात्र विशेषण को संज्ञा वाक्यांश के रूप में अनुवादित किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""धर्मी लोग"" (देखें: आम विशेषण)

Luke 5:33

οἱ…εἶπαν πρὸς αὐτόν

धार्मिक अगुवों ने यीशु से कहा

Luke 5:34

μὴ δύνασθε…μετ’ αὐτῶν ἐστιν ποιῆσαι νηστεύειν?

यीशु इस प्रश्न का उपयोग लोगों को ऐसी परिस्थिति के बारे में सोचने के लिए करता है जिसे वे पहले से जानते हैं। इसे एक कथन के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""विवाह में दुल्हे के परिचरों को उपवास रखने के लिए कोई भी नहीं बताता है, जबकि वह अभी भी उनके साथ है"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

υἱοὺς τοῦ νυμφῶνος

अतिथि या ""मित्र।"" ये वे मित्र हैं जो विवह करने वाले व्यक्ति के साथ उत्सव मनाते हैं।

τοὺς υἱοὺς τοῦ νυμφῶνος…νηστεύειν

उपवास उदासी का संकेत है। धार्मिक अगुवों ने समझ लिया था कि जब दूल्हा उनके साथ था, तब शादी के परिचर उपवास नहीं करेंगे। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 5:35

ἐλεύσονται δὲ ἡμέραι καὶ ὅταν

शीघ्र ही या ""किसी दिन

ἀπαρθῇ ἀπ’ αὐτῶν ὁ νυμφίος

यीशु स्वयं की तुलना दूल्हा और चेलों को विवाह में भाग लेने आए हुए बरातियों के साथ कर रहा है। वह रूपक को नहीं समझाता है, इसलिए अनुवाद की केवल तब ही व्याख्या की जानी चाहिए जब आवश्यक हो। (देखें: रूपक)

Luke 5:36

यीशु ने लेवी के घर में मिलने वाले शास्त्री और फारसियों को एक कहानी सुनाई। (देखें: दृष्टांत)

οὐδεὶς…σχίσας…ἐπιβάλλει ἐπὶ…μή γε καὶ…σχίσει

कोई भी... उपयोग करता है ... वह ... वह या ""लोग नहीं फाड़ते... उपयोग करते हैं ... वह ... वह।

ἐπιβάλλει

मरम्मत

εἰ…μή γε καὶ

यह काल्पनिक कथन इस कारण की व्याख्या करता है कि एक व्यक्ति वास्तव में इस तरह से पैबन्द क्यों नहीं लगाएगा। (देखें: काल्पनिक परिस्थितियाँ)

οὐ συμφωνήσει

मेल नहीं खाएगा या ""उस जैसा नहीं होगा

Luke 5:37

οἶνον νέον

यह अंगूर के रस यह अंगूर के रस को संदर्भित करता है जो अभी तक खमीरी नहीं हुई है।

ἀσκοὺς

ये जानवरों की खाल से बने हुए थैले थे। उन्हें ""दाखरस के थैले"" या ""खाल से बने थैले"" भी कहा जा सकता है।

ῥήξει ὁ οἶνος ὁ νέος τοὺς ἀσκούς

जब अंगूर का नया रस खमीरा होता है और फैलता है, तो यह पुरानी खाल को फाड़ देता है क्योंकि वे अब और अधिक विस्तार नहीं करती हैं। यीशु के श्रोताओं ने अंगूर के रस के खमीरी होने और फैलने के बारे में दी हुई जानकारी को समझा होगा। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

αὐτὸς ἐκχυθήσεται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अंगूर का रस थैले से बाहर निकल जाएगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 5:38

ἀσκοὺς καινοὺς

नई मशकें या ""अंगूर के नए थैले""। यह नई, न उपयोग हुई मशकों को सन्दर्भित करता है।

Luke 5:39

πιὼν παλαιὸν θέλει νέον

यह रूपक धार्मिक अगुवों की पुराने शिक्षा को यीशु की नई शिक्षा के विरूद्ध विरोधाभास प्रगट करता है। मुख्य विषय यहाँ पर यह है कि जिन लोगों को पुरानी शिक्षा के उपयोग की आदत ह वे यीशु की नई बातों को सुनने के इच्छुक नहीं हैं। (देखें: रूपक)

λέγει γάρ, ὁ παλαιὸς χρηστός ἐστιν

यह जोड़ना सहायतापूर्ण हो सकता है: ""और इसलिए वह नए दाखरस को लेने का प्रयास करने के लिए तैयार नहीं है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 6

लूका 06 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

लूका 6: 20-49 में कई आशीषें और विपत्तियाँ पाई जाती हैं जो मत्ती 5-7 के अनुरूप दिखाई देती हैं। मत्ती के इस खण्ड को परम्परागत रूप से ""पाहड़ी उपदेश"" कहा जाता है। लूका में, वे परमेश्वर के राज्य के ऊपर दी हुई एक शिक्षा से जुड़े हुए नहीं हैं जैसा कि वे मत्ती के सुसमाचार में हैं। (देखें: परमेश्‍वर का राज्य, स्वर्ग का राज्य)

इस अध्याय में विशेष अवधारणाएँ

""बालीयाँ तोड़ कर खान""

जब चेलों ने एक खेत से बालीयाँ तोड़ी और खाने लगे तो वे सब्त के दिन इस में चल रहे थे (लूका 6:1), फरीसियों ने कहा कि वे मूसा की व्यवस्था को तोड़ रहे थे। फरीसियों ने कहा कि चेले बालें तोड़कर काम कर रहे थे और इसलिए परमेश्वर के विश्राम करने और सब्त के दिन काम न करने की आज्ञा की अवहेलना कर रहे थे।

फरीसियों ने यह नहीं सोचा था कि शिष्य चुरा रहे थे। ऐसा इसलिए है क्योंकि मूसा की व्यवस्था में किसानों के द्वारा लगाए हुए फसल में से थोड़ी मात्रा में बालीयों को खाने और तोड़ने की अनुमति दी थी, जिसमें से होकर वे यात्रा करते थे। (देखें: व्यवस्था, मूसा की व्यवस्था, परमेश्वर की व्यवस्था, यहोवा की व्यवस्था और काम, कर्म, कार्य, कृत्य और सब्त)

इस अध्याय के महत्वपूर्ण अलंकार

रूपक

रूपक दृश्यमान वस्तुओं के ऐसे चित्र होते हैं जो वक्ताओं को अदृश्य सत्यों को समझाने के लिए उपयोग किए जाते हैं। यीशु ने उसके लोगों को उदारता के ऊपर शिक्षा देने के लिए एक उदार अनाज के व्यापारी का एक रूपक का उपयोग किया ([लूका 6:38] (../../ luk / 06 / 38.md))। (देखें: रूपक)

आलंकारिक प्रश्न

आलंकारिक प्रश्न ऐसे प्रश्न होते हैं जिनको बोलने वाले पहले से ही उत्तर को जानता है। फरीसियों ने यीशु से एक आलंकारिक प्रश्न पूछकर यीशु को डाँट दिया जब उन्होंने सोचा कि वह सब्त को तोड़ रहा था (लूका 6: 2)। (देखें: भाषणगत प्रश्न)

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

निहितार्थ जानकारी

वक्ता सामान्य रूप से उन बातों को नहीं कहते हैं जिनके लिए उन्हें प्रतीत होता है कि उनके सुनने वाले पहले से ही समझते हैं। जब लूका ने लिखा कि उसके चेले अपने हाथों के बीच बालें मल-मल कर खा रहे थे, तो उन्होंने अपेक्षा की थी कि उनके पाठकों को यह पता चलेगा कि वे जो खाने वाले अंश को फेकने वाले से पृथक करेंगे (लूका 6: 1)। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

बारह चेले

बारह चेलों की सूची निम्नलिखित हैं:

मत्ती में:

शमौन (पतरस), अन्द्रियास, जब्दी का पुत्र याकूब, जब्दी का पुत्र यूहन्ना, फिलिप्पुस, बरतुल्मै, थोमा, मत्ती, हलफईस का पुत्र याकूब, तद्दै, शमौन कनानी, और यहूदा इस्करियोती।

मरकुस में:

शमौन (पतरस), जब्दी का पुत्र याकूब, और याकूब का भाई यूहन्ना, (जिसका नाम उसने बुअनरगिस, अर्थात् गर्जन के पुत्र रखा), अन्द्रियास, फिलिप्पुस, बरतुल्मै, मत्ती, थोमा, हलफईस का पुत्र याकूब, तद्दै, शमौन कनानी और यहूदा इस्करियोती।

लूका में:

शमौन (पतरस), अन्द्रियास, याकूब, यूहन्ना, फिलिप्पुस, बरतुल्मै, मत्ती, थोमा, हलफईस का पुत्र याकूब, और शमौन (जो कनानी कहलाता है), याकूब का बेटा यहूदा, यहूदा इस्करियोती।

तद्दै शायद याकूब के पुत्र यहूदा ही है।

Luke 6:1

यहाँ शब्द ""तुम"" बहुवचन है, और चेलों को सन्दर्भित करता है। (देखें: तुम के प्रारूप)

जब यीशु और उसके चेले गेहूँ के खेतों में से जा रहे थे, तब कुछ फरीसियों ने शिष्यों से प्रश्न किया कि वे सब्त के दिन क्या कर रहे हैं, जो कि परमेश्वर की व्यवस्था में परमेश्वर के लिए पृथक किया गया दिन था।

ἐγένετο δὲ

इस वाक्यांश का उपयोग कहानी के एक नए भाग के आरम्भ को चिन्हित करने के लिए किया गया है। यदि आपकी भाषा में ऐसा करने का कोई तरीका है, तो आप उसे यहाँ उपयोग करने पर विचार कर सकते हैं। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

σπορίμων

इस घटनामें, ये भूमि के ऐसे बड़े भाग हैं जहाँ लोगों ने गेहूँ के बीज को और अधिक गेहूँ को उगाने के लिए बिखराया था।

στάχυας

यह गेहूँ का सबसे ऊपरी भाग था, जो एक प्रकार की बड़ी घास के जैसा होता है। इसमें पौधे के परिपक्व, खाने वाला दाने होते हैं।

ψώχοντες ταῖς χερσίν

उन्होंने गेहूँ के दाने को अलग करने के लिए ऐसा किया। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने अपने हाथों में भूसी को गेहूँ से अलग करने के लिए गेहूँ को रगड़ दिया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 6:2

τί ποιεῖτε ὃ οὐκ ἔξεστιν τοῖς Σάββασιν?

उन्होंने चेलों पर व्यवस्था तोड़ने का आरोप लगाने के लिए यह प्रश्न पूछा। इसे एक कथन के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सब्त के दिन गेहूँ तोड़ना परमेश्वर की व्यवस्था के विरूद्ध है!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ποιεῖτε ὃ

फरीसियों ने मुट्ठी भर काम यहाँ तक कि गेहूँ को रगड़ने की छोटी सी कार्यवाही को भी कुछ सीमा तक अवैद्य कार्य माना। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""काम करना"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 6:3

οὐδὲ τοῦτο ἀνέγνωτε…μετ’ αὐτοῦ ὄντες?

यीशु ने पवित्रशास्त्र से शिक्षा न लेने के कारण फरीसियों को डाँटा। इसे एक कथन के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुमने जो पढ़ा है उस से शिक्षा लेनी चाहिए...!"" या ""निश्चित रूप से तुमने उसे पढ़ा है ...!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 6:4

τοὺς ἄρτους τῆς Προθέσεως

पवित्र रोटी या ""ऐसी रोटी जो परमेश्वर को अर्पित की हुई थी

Luke 6:5

ὁ Υἱὸς τοῦ Ἀνθρώπου

यीशु स्वयं के लिए उदधृत कर रहा था। यह कहा जा सकता है: वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं, मनुष्य का पुत्र

Κύριός ἐστιν τοῦ Σαββάτου

शीर्षक ""प्रभु"" यहां सब्त के दिन के ऊपर उसके अधिकार पर जोर देता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसके पास यह निर्धारित करने का अधिकार है कि लोगों को सब्त के दिन क्या करना सही है!

Luke 6:6

अब यह एक और सब्त का दिन है और यीशु सभागृह में है।

शास्त्री और फरीसी देखते हैं जब यीशु सब्त के दिन एक व्यक्ति को ठीक करता है।

ἐγένετο δὲ

यह वाक्यांश कहानी में एक नई घटना के आरम्भ होने को चिन्हित करने के लिए यहाँ उपयोग किया गया है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

καὶ ἦν ἄνθρωπος ἐκεῖ

यह कहानी में एक नए पात्र के आने का परिचय देती है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἡ χεὶρ αὐτοῦ ἡ δεξιὰ ἦν ξηρά

उस व्यक्ति का हाथ इस तरह से क्षतिग्रस्त हो गया था कि वह इसे फैला भी नहीं सकता था। यह कदाचित् एक मुट्ठी के जितने सुकुड़ गया था, जिस के कारण यह छोटा और इसमें झुर्रियाँ दिखती थी।

Luke 6:7

παρετηροῦντο…αὐτὸν

यीशु को ध्यान से देख रहे थे

ἵνα εὕρωσιν

क्योंकि वे उसमें कुछ खोजना चाहते थे

Luke 6:8

εἰς τὸ μέσον

प्रत्येक के सामने। यीशु चाहता था कि वह व्यक्ति वहाँ खड़ा हो, जहाँ से हर कोई उसे देख सके।

Luke 6:9

πρὸς αὐτούς

फरीसियों से

ἐπερωτῶ ὑμᾶς, εἰ ἔξεστιν τῷ Σαββάτῳ ἀγαθοποιῆσαι ἢ κακοποιῆσαι, ψυχὴν σῶσαι ἢ ἀπολέσαι?

यीशु ने इस प्रश्न के द्वारा फरीसियों को यह स्वीकार करने के लिए कहा कि उसके पास सब्त के दिन भी ठीक करने का अधिकार था। इस प्रकार प्रश्न की मंशा आलंकारिक है: उनसे यह स्वीकार करवाना कि वे जानकारी को प्राप्त करने की अपेक्षा जो जानते है वह सत्य है। यद्यपि, यीशु कहता है, ""मैं तुमसे पूछता हूँ,"" इस तरह से यह प्रश्न अन्य आलंकारिक प्रश्नों की तरह नहीं है जिन्हें कथनों के रूप में अनुवादित करने की आवश्यकता हो सकती है। इसे एक प्रश्न के रूप में अनुवादित किया जाना चाहिए। (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἀγαθοποιῆσαι ἢ κακοποιῆσαι

किसी की सहायता करना या किसी को नुकसान पहुँचाना

Luke 6:10

ἔκτεινον τὴν χεῖρά σου

अपने हाथ को बढ़ाओ या ""अपना हाथ फैलाओ

ἀποκατεστάθη

ठीक हो गया

Luke 6:12

यीशु ने रात भर प्रार्थना करने के बाद बारह प्रेरितों को चुना।

ἐγένετο δὲ ἐν ταῖς ἡμέραις ταύταις

इस वाक्यांश का उपयोग कहानी के एक नए भाग के आरम्भ को चिन्हित करने के लिए किया गया है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἐν ταῖς ἡμέραις ταύταις

उस समय के आसपास या ""लम्बे समय के बाद नहीं"" या "" एक दिन के चारों ओर

ἐξελθεῖν αὐτὸν

यीशु चला गया

Luke 6:13

καὶ ὅτε ἐγένετο ἡμέρα

जब सुबह होने पर थी या ""अगला दिन

ἐκλεξάμενος ἀπ’ αὐτῶν δώδεκα

उसने बारह चेलों को चुना

οὓς καὶ ἀποστόλους ὠνόμασεν

जिन्हें उसने प्रेरित भी बनाया या ""और उसने उन्हें प्रेरित होने के लिए नियुक्त किया

Luke 6:14

लूका ने प्रेरितों के नामों की एक सूची लिखी। यूएलटी अनुवाद सूची को प्रस्तुत करने के लिए इन शब्दों का उपयोग करता है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Ἀνδρέαν τὸν ἀδελφὸν αὐτοῦ

शमौन का भाई, अन्द्रियास

Luke 6:15

Ζηλωτὴν

सम्भावित अर्थ 1) ""जेलोतेस"" एक पदवी है जो इंगित करती है कि वह उन लोगों के दल का हिस्सा था जो यहूदी लोगों को रोमी शासन से मुक्त करना चाहते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""देशभक्त"" या ""राष्ट्रवादी"" या 2) ""जेलोतेस"" एक ऐसा वर्णन है जो इंगित करता है कि वह परमेश्वर के लिए ईर्ष्यालु होने के कारण सम्मानित होना चाहता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक भावुक व्यक्ति

Luke 6:16

ἐγένετο προδότης

यह व्याख्या करनी आवश्यक हो सकती है कि इस सन्दर्भ में ""गद्दार"" का अर्थ क्या है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अपने मित्र को धोखा दिया"" या ""अपने मित्र को शत्रुओं के हाथों में दे दिया"" (सामान्य रूप से पैसे के भुगतान के स्थान पर) या ""अपने मित्र को खतरे में उसके शत्रुओं को बताकर डाल देना"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 6:17

यद्यपि यीशु विशेष रूप से अपने चेलों को सम्बोधित करता है, परन्तु सुनने वालों के आस-पास बहुत से लोग हैं।

μετ’ αὐτῶν

उन बारहों के साथ जिन्हें उसने चुना था या ""अपने बारह प्रेरितों के साथ

Luke 6:18

ἰαθῆναι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु के लिए उन्हें ठीक करने के लिए"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

καὶ οἱ ἐνοχλούμενοι ἀπὸ πνευμάτων ἀκαθάρτων ἐθεραπεύοντο

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु ने उन लोगों को भी ठीक किया जो अशुद्ध आत्माओं से परेशान थे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

οἱ ἐνοχλούμενοι ἀπὸ πνευμάτων ἀκαθάρτων

अशुद्ध आत्माओं से परेशान या ""दुष्ट आत्माओं द्वारा नियन्त्रित

Luke 6:19

δύναμις παρ’ αὐτοῦ ἐξήρχετο καὶ ἰᾶτο

उसके पास लोगों को ठीक करने की सामर्थ्य थी या ""वह लोगों को ठीक करने के लिए अपनी सामर्थ्य का उपयोग कर रहा था

Luke 6:20

μακάριοι

यह वाक्यांश तीन बार दोहराया गया है। प्रत्येक समय, यह इंगित करता है कि परमेश्वर कुछ निश्चित लोगों को अपनी कृपा देता है या उनकी स्थिति सकारात्मक या अच्छी है।

μακάριοι οἱ πτωχοί

तुम जो निर्धन हो जो परमेश्वर की कृपा को प्राप्त करोगे या ""तुम जो निर्धन हो लाभ पाओगे

ὅτι ὑμετέρα ἐστὶν ἡ Βασιλεία τοῦ Θεοῦ

जिन भाषाओं में शब्द राज्य के लिए कोई शब्द नहीं है, वे कह सकती हैं, ""क्योंकि परमेश्वर तुम्हारा राजा है"" या ""क्योंकि परमेश्वर तुम्हारा शासक है।

ὑμετέρα ἐστὶν ἡ Βασιλεία τοῦ Θεοῦ

परमेश्वर का राज्य तुम से सम्बन्धित है। इसका अर्थ 1) ""तुम परमेश्वर के राज्य से सम्बन्धित हो"" या 2) ""तुम्हारे पास परमेश्वर के राज्य में अधिकार होगा।

Luke 6:21

γελάσετε

आप आनन्द मनाएंगे या ""आप आनन्दित होंगे

Luke 6:22

μακάριοί ἐστε

आप परमेश्वर के अनुग्रह को प्राप्त करते हो या ""आपको लाभ होता है"" या ""यह आपके लिए कितना अच्छा है

ἀφορίσωσιν ὑμᾶς

तुम्हें अस्वीकार करता हूँ

ἕνεκα τοῦ Υἱοῦ τοῦ Ἀνθρώπου

क्योंकि आप मनुष्य के पुत्र से सम्बद्ध हैं या ""क्योंकि वे मनुष्य के पुत्र को अस्वीकार करते हैं

Luke 6:23

ἐν ἐκείνῃ τῇ ἡμέρᾳ

जब वे ऐसी बातें करते हैं या ""जब ऐसा होता है

σκιρτήσατε

इस मुहावरे का अर्थ ""अत्याधिक आनन्दित होने से है"" (देखें: मुहावरे)

ὁ μισθὸς ὑμῶν πολὺς

एक बड़ा अदायगी या ""अच्छा उपहार

Luke 6:24

οὐαὶ ὑμῖν

यह आपके लिए कितनी भयानक बात है। यह वाक्यांश तीन बार दोहराया गया है। यह ""धन्य हो तुम"" के विपरीत है। प्रत्येक समय, यह इंगित करता है कि परमेश्वर का क्रोध उन लोगों पर निर्देशित किया जाता है, या कुछ नकारात्मक या बुरा प्रतिक्षा कर रहा है।

οὐαὶ ὑμῖν τοῖς πλουσίοις

आपके लिए यह कितनी भयानक बात है जो धनी हैं या ""परेशानी तुम लोगों पर आ जाएगी जो धनी हैं

τὴν παράκλησιν ὑμῶν

आपको क्या सात्वंना देता है या ""आपको क्या सन्तुष्ट करता है"" या ""आपको क्या आनन्दित बना देता है

Luke 6:25

οἱ ἐμπεπλησμένοι νῦν

जिनके पेट अभी भर हुए हैं या ""जो अभी बहुत अधिक खाए

οἱ γελῶντες νῦν

जो अभी आनन्दित हैं

Luke 6:26

οὐαὶ

यह आपके लिए कितनी भयानक बात है या ""आपको कितना शोकित होना चाहिए

ὅταν…εἴπωσιν πάντες οἱ ἄνθρωποι

यहाँ ""मनुष्यों"" का उपयोग सामान्य अर्थ में किया गया है जिसमें सभी लोग सम्मिलित हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब सभी लोग बोलते हैं"" या ""जब हर कोई बोलता है"" (देखें: जब पुल्लिंग शब्दों में स्त्रियाँ शामिल होती हैं)

κατὰ τὰ αὐτὰ…ἐποίουν τοῖς ψευδοπροφήταις οἱ πατέρες αὐτῶν

उनके पूर्वजों ने भी झूठे भविष्यद्वक्ताओं के बारे में अच्छी तरह से बात की थी

Luke 6:27

यीशु अपने चेलों और भीड़ से भी बात कर रहा है जो उसकी सुन रहे है।

ὑμῖν…τοῖς ἀκούουσιν

यीशु अब अपने चेलों की अपेक्षा पूरी भीड़ से बात करना आरम्भ कर देता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἀγαπᾶτε…καλῶς ποιεῖτε

इन आज्ञाओं में से प्रत्येक का निरन्तर पालन करते रहना है, केवल एक ही बार नहीं।

ἀγαπᾶτε τοὺς ἐχθροὺς ὑμῶν

इसका अर्थ यह नहीं है कि उन्हें केवल अपने शत्रुओं से प्रेम करना था और उनके मित्रों को नहीं। यह कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अपने शत्रुओं से प्रेम से करो, न केवल अपने मित्रों से"" (देखें: पदन्यूनता)

Luke 6:28

εὐλογεῖτε…προσεύχεσθε

इन आज्ञाओं में से प्रत्येक का निरन्तर पालन करते रहना है, केवल एक ही बार नहीं।

εὐλογεῖτε τοὺς καταρωμένους

परमेश्वर ही है जो आशीष देता है। इसे स्पष्ट किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर से उन्हें आशीष देने के लिए कहें"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

τοὺς καταρωμένους ὑμᾶς

जो अपनी आदत के अनुसार आपको शाप देते हैं

τῶν ἐπηρεαζόντων ὑμᾶς

जो अपनी आदत के अनुसार दुर्व्यवहार करते हैं

Luke 6:29

τῷ τύπτοντί σε

यदि कोई आपको चोट पहुँचाता है

ἐπὶ τὴν σιαγόνα

तेरे गाल का एक भाग

πάρεχε καὶ τὴν ἄλλην

यह बताने में सहायक हो सकता है कि आक्रमणकारी उस व्यक्ति के साथ क्या करेगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""अपने गाल को मोड़ दे ताकि वह दूसरे गाल पर भी मार सके"" (देखें: पदन्यूनता)

μὴ κωλύσῃς

उसे लेने से न रोकें

Luke 6:30

παντὶ αἰτοῦντί σε, δίδου

यदि कोई आपसे कुछ मांगता है, तो उसे दे दो

μὴ ἀπαίτει

उसे देने की आवश्यकता नहीं है या ""उससे माँग न करें कि उसे देना पड़े

Luke 6:31

καὶ καθὼς θέλετε ἵνα ποιῶσιν ὑμῖν οἱ ἄνθρωποι, ποιεῖτε αὐτοῖς ὁμοίως

कुछ भाषाओं में क्रम को उलटना ही अधिक स्वभाविक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""आपको लोगों के साथ वैसा ही करना चाहिए जैसा आप चाहते हैं कि वह आपके साथ करें"" या ""लोगों से वैसा व्यवहार करें जैसा आप चाहते हैं कि लोग आपके साथ व्यवहार करें

Luke 6:32

ποία ὑμῖν χάρις ἐστίν?

आपको क्या प्रतिफल मिलेगा? या ""ऐसा करने के लिए आपको क्या प्रशंसा मिलेगी?"" इसे एक कथन के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""आपको इसके लिए कोई प्रतिफल नहीं मिलेगा।"" या ""परमेश्वर इसके लिए आपको कोई प्रतिफल नहीं देगा।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 6:34

ἵνα ἀπολάβωσιν τὰ ἴσα

मूसा की व्यवस्था ने यहूदियों को आज्ञा दी थी कि वे एक-दूसरे से ऋण पर ब्याज न लें। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 6:35

μηδὲν ἀπελπίζοντες

उस व्यक्ति से वापस लौटने की अपेक्षा न करना जिसे आपने कुछ दिया है या ""उस व्यक्ति से कुछ भी पाने की आशा न करना

ἔσται ὁ μισθὸς ὑμῶν πολύς

आपको एक बड़ा प्रतिफल मिलेगा या ""आपको अच्छी अदायगी मिलेगी"" या ""आपको इसके कारण अच्छे उपहार प्राप्त होंगे

ἔσεσθε υἱοὶ Ὑψίστου

सन्तान"" का अनुवाद उसी शब्द के साथ करना सबसे अच्छा है, जो आपकी भाषा में स्वाभाविक रूप से मानवीय सन्तान या एक बच्चे के सन्दर्भ में उपयोग किया जाता है।

υἱοὶ Ὑψίστου

यह सुनिश्चित करें कि शब्द ""सन्तान"" बहुवचन है इसलिए यह यीशु की पदवी ""परम प्रधान के पुत्र"" के साथ भ्रमित नहीं होनी चाहिए।

τοὺς ἀχαρίστους καὶ πονηρούς

जो लोग उसे धन्यवाद नहीं देते और जो बुरे हैं

Luke 6:36

ὁ Πατὴρ ὑμῶν

यह परमेश्वर को सन्दर्भित करता है। ""पिता"" का अनुवाद उसी शब्द के साथ करना सबसे अच्छा है, जो आपकी भाषा में स्वाभाविक रूप से मानवीय पिता के सन्दर्भ में उपयोग किया जाता है।

Luke 6:37

καὶ μὴ κρίνετε

लोगों का न्याय न करें या ""लोगों की आलोचना कठोरता से न करें

और परिणामस्वरूप आप

οὐ μὴ κριθῆτε

यीशु यह नहीं कहता कि कौन न्याय नहीं करेगा। सम्भावित अर्थ 1) ""परमेश्वर आप का न्याय नहीं करेगा"" या 2) ""कोई भी आप का न्याय नहीं करेगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

καὶ μὴ καταδικάζετε

लोगों पर दोष न लगाएँ

οὐ μὴ καταδικασθῆτε

यीशु यह नहीं कहता कि कौन निन्दा नहीं करेगा। सम्भावित अर्थ 1) ""परमेश्वर आप की निन्दा नहीं करेंगा"" या 2) ""कोई भी आपकी निन्दा नहीं करेगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἀπολυθήσεσθε

यीशु यह नहीं कहता कि कौन क्षमा करेगा। सम्भावित अर्थ 1) ""परमेश्वर आपको क्षमा करेगा"" या 2) ""लोग आपको क्षमा करेंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 6:38

δοθήσεται ὑμῖν

यीशु सटीकता के साथ यह नहीं कहता कि कौन देगा। सम्भावित अर्थ 1) ""कोई आपको यह देगा"" या 2) ""परमेश्वर आपको यह दे देगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

μέτρον καλὸν, πεπιεσμένον σεσαλευμένον ὑπερεκχυννόμενον, δώσουσιν εἰς τὸν κόλπον ὑμῶν

यीशु परमेश्वर या लोगों के द्वारा उदारता से दिए जाने के बारे में बोलता है जैसे कि वह अनाज के उदार व्यापारी की बात कर रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर आपके गोद में एक उदार मात्रा को डालेगा - दबा-दबाकर और हिला-हिलाकर और उभरता हुआ"" या ""अनाज के उदार व्यापारी की तरह जो अनाज दबाता है और उसे एक साथ हिलाता है और इतना अनाज डाल देता है कि वह उमड़ने लगता है, वे आपको उदारतापूर्वक देंगे"" (देखें: रूपक)

μέτρον καλὸν

एक बड़ी मात्रा

ἀντιμετρηθήσεται ὑμῖν

यीशु सटीकता के साथ नहीं कहता कि कौन नापेगा। सम्भावित अर्थ 1) ""वे नापते हुए वस्तुओं को आपके पास ले आएँगे"" या 2) ""परमेश्वर नापते हुए वस्तुओं को आपके पास ले आएगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 6:39

यीशु इस विषय को बनाने के लिए कुछ उदाहरणों को सम्मिलित करता है। (देखें: दृष्टांत)

μήτι δύναται τυφλὸς τυφλὸν ὁδηγεῖν?

यीशु ने इस प्रश्न का उपयोग लोगों को उस बात के बारे में सोचने के लिए किया जिसे वे पहले से जानते थे। इसे एक कथन के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""हम सभी जानते हैं कि एक अन्धा व्यक्ति किसी अन्य अन्धे व्यक्ति को मार्गदर्शन नहीं दे सकता है।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

τυφλὸς

वह व्यक्ति जो ""अन्धा"" है वह एक ऐसे व्यक्ति के रूप में एक रूपक है जिसे एक शिष्य के रूप में शिक्षा नहीं दी गई है। (देखें: रूपक)

कुछ भाषाएँ, ""यदि उसने किया"" को पसन्द कर सकती हैं यह एक बेतुकी स्थिति है जिसकी वास्तव में होने की सम्भावना नहीं है। (देखें: काल्पनिक परिस्थितियाँ)

οὐχὶ ἀμφότεροι εἰς βόθυνον ἐμπεσοῦνται?

इसे एक कथन के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उनमें से दोनों एक गड्डे में गिर जाएँगे।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 6:40

οὐκ ἔστιν μαθητὴς ὑπὲρ τὸν διδάσκαλον

एक शिष्य अपने शिक्षक से बड़ा नहीं हो सकता है। सम्भावित अर्थ 1) ""एक शिष्य को अपने शिक्षक से ज्यादा ज्ञान नहीं होता"" या 2) ""एक शिष्य के पास उसके शिक्षक से अधिक अधिकार नहीं होता है।

κατηρτισμένος…πᾶς ἔσται

प्रत्येक शिष्य जिसे अच्छी तरह से प्रशिक्षित किया गया है या ""हरेक शिष्य जिसके शिक्षक ने उसे पूरी तरह शिक्षा दी है

Luke 6:41

τί δὲ βλέπεις τὸ κάρφος τὸ ἐν τῷ ὀφθαλμῷ τοῦ ἀδελφοῦ σου, τὴν δὲ δοκὸν τὴν ἐν τῷ ἰδίῳ ὀφθαλμῷ οὐ κατανοεῖς?

यीशु इस प्रश्न का उपयोग लोगों को किसी अन्य व्यक्ति के पापों पर ध्यान देने से पहले अपने स्वयं के पापों के ऊपर ध्यान देने के लिए चुनौती देने के लिए करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""भाइयों की आँखें तब तक....न देखें जब तक कि आप अपनी आँखों में उपस्थित लठ्ठे लॉग को अनदेखा कर रहे हैं।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

τὸ κάρφος τὸ ἐν τῷ ὀφθαλμῷ τοῦ ἀδελφοῦ σου

यह एक रूपक है जो एक साथी विश्वासी के कम महत्वपूर्ण दोषों को सन्दर्भित करता है। (देखें: रूपक)

κάρφος

लठ्ठा या ""तिनका"" या ""थोड़ी सी धूल।"" सबसे छोटी वस्तु के लिए एक शब्द का प्रयोग करें जो सामान्य रूप से किसी व्यक्ति की आँखों में पड़ जाती है।

τοῦ ἀδελφοῦ

यह ""भाई"" एक साथी यहूदी या यीशु में एक साथी विश्वासी को सन्दर्भित करता है।

τὴν…δοκὸν τὴν ἐν τῷ ἰδίῳ ὀφθαλμῷ

यह एक व्यक्ति के सबसे महत्वपूर्ण दोषों के लिए एक रूपक है। एक लठ्ठा सचमुच एक व्यक्ति की आँख में नहीं जा सका। यीशु विस्तारवर्धक रूप से इस बात पर जोर देता है कि एक व्यक्ति को किसी अन्य व्यक्ति के कम महत्वपूर्ण दोषों से निपटने से पहले उस व्यक्ति को अपने स्वयं के महत्वपूर्ण दोषों पर ध्यान देना चाहिए। (देखें: रूपक और अतिशयोक्ति)

δοκὸν

शहतीर या सीधा ""तख्ता

Luke 6:42

πῶς δύνασαι λέγειν…ἐν τῷ ὀφθαλμῷ σοῦ δοκὸν οὐ βλέπων?

यीशु इस प्रश्न के द्वारा लोगों को चुनौती देता है कि वे किसी अन्य व्यक्ति के पापों पर ध्यान देने से पहले अपने स्वयं के पापों पर ध्यान दें। वैकल्पिक अनुवाद: ""आपको नहीं कहना चाहिए... आँख।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 6:43

लोग एक पेड़ से उत्पन्न होने वाले फल से बता सकते हैं कि एक पेड़ अच्छा या बुरा है, और यह किस प्रकार का पेड़ है। यीशु इसे एक व्याख्यारहित रूपक के रूप में उपयोग करता है-हम एक व्यक्ति को उसके कार्यों को देखने के द्वारा जानते हैं कि वह किस प्रकार का व्यक्ति है। (देखें: रूपक)

γάρ ἐστιν

ऐसा इसलिए है क्योंकि वह वहाँ है। यह इंगित करता है कि इसका कारण यह है कि हमें अपने भाई पर दोष क्यों नहीं लगाना चाहिए।

δένδρον καλὸν

स्वस्थ्य पेड़

καρπὸν σαπρόν

फल जो नाश हो रहा है या खराब या बेकार है

Luke 6:44

ἕκαστον…δένδρον…γινώσκεται

लोग पेड़ के फल पेड़ को पहचानते हैं। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग एक पेड़ के प्रकार को जानते हैं"" या ""लोग एक पेड़ को पहचानते हैं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἀκανθῶν

एक पौधा या झाड़ी जिस में कांटे हैं

βάτου

एक दाखलता या झाड़ी जिसमें कांटे हैं

Luke 6:45

यीशु एक व्यक्ति के विचारों को उसके अच्छे या बुरे खजाने से तुलना करता है। जब एक अच्छे व्यक्ति के विचार अच्छे होते हैं, तो वह अच्छे कार्यों में संलग्न होता है। जब एक दुष्ट व्यक्ति बुरे विचारों को सोचता है, तो वह बुरे कामों में संलग्न होता है। (देखें: रूपक)

ὁ ἀγαθὸς ἄνθρωπος

यहाँ शब्द ""अच्छे का अर्थ धार्मिकता या नैतिकता से है।

ἀγαθὸς ἄνθρωπος

शब्द ""मनुष्य"" यहाँ एक व्यक्ति, पुरुष या स्त्री को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अच्छा व्यक्ति"" (देखें: जब पुल्लिंग शब्दों में स्त्रियाँ शामिल होती हैं)

τοῦ ἀγαθοῦ θησαυροῦ τῆς καρδίας

यहाँ किसी व्यक्ति के अच्छे विचारों के बारे में बात की जा रही है मनो कि वे उस व्यक्ति के मन में संग्रहित खजाना है, और ""उसका मन "" व्यक्ति के भीतरी व्यक्ति के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अच्छी बातें वह स्वयं के मन की गहराई में रखता है"" या ""अच्छी बातें जिनको वह बहुत अधिक मूल्यवान मानता है"" (देखें: रूपक और लक्षणालंकार)

προφέρει τὸ ἀγαθόν

जो कुछ अच्छा है उसे उत्पन्न करना जो कुछ अच्छा है के लिए एक रूपक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो अच्छा है उसे करना"" (देखें: रूपक)

τοῦ…πονηροῦ

यहाँ किसी व्यक्ति के बुरे विचारों के बारे में बात की जा रही है जैसे कि वे उस व्यक्ति के मन में बुरी बातें हैं, और ""उसका मन"" व्यक्ति का भीतरी व्यक्ति का उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: "" बुरी बातों को वह अपने भीतरी मन में गहराई से रखता है"" या ""बुरी बातें जिनको वह बहुत अधिक मूल्यवान मानता है"" (देखें: रूपक) (देखें: लक्षणालंकार)

ἐκ…περισσεύματος καρδίας λαλεῖ τὸ στόμα αὐτοῦ

यहाँ ""मन"" व्यक्ति के दिमाग या भीतरी व्यक्ति का प्रतिनिधित्व करता है। वाक्यांश ""उसका मुँह"" पूरी तरह से उस व्यक्ति का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह अपने मन में जो सोचता है वह उसके मुँह से जो कहता है उसे प्रभावित करता है"" या ""एक व्यक्ति जोर से बोलता है कि वास्तव में उसका भीतरी व्यक्ति किसे मूल्यवान समझता है"" (देखें: लक्षणालंकार और उपलक्षण अलंकार)

Luke 6:46

यीशु उस व्यक्ति की तुलना करता है, जो उसकी शिक्षा का पालन करता है, वह चट्टान पर एक घर बनाता है, जहाँ यह बाढ़ से सुरक्षित रहेगा। (देखें: उपमा)

Κύριε, Κύριε

इन शब्दों का दोहराना इंगित करता है कि वे नियमित रूप से यीशु को ""प्रभु"" कहते थे।

Luke 6:47

πᾶς ὁ ἐρχόμενος πρός με…ὑποδείξω ὑμῖν τίνι ἐστὶν ὅμοιος

यह वाक्य के क्रम को परिवर्तित करने के लिए स्पष्ट हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं तुम्हें बताउँगा कि प्रत्येक व्यक्ति को कैसा होना चाहिए जो मेरे पास आता है और मेरे वचनों को सुनता है और उनका पालन करता है

Luke 6:48

ἔθηκεν θεμέλιον ἐπὶ τὴν πέτραν

ठोस चट्टान तक पहुँचने के लिए घर की नींव को पर्याप्त रूप से गहरा खोदना। कुछ संस्कृतियाँ चट्टान के ऊपर नींव के निर्माण से परिचित नहीं हो सकती हैं, और स्थिर नींव के लिए किसी अन्य चित्र का उपयोग करने की आवश्यकता हो सकती है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

θεμέλιον

एक घर का वह भाग जो इसे भूमि से जोड़ता है। यीशु के समय में लोग नींव को ठोस चट्टान पर रखने के लिए भूमि के अन्दर चट्टान के आने तक खुदाई करते थे और फिर चट्टान पर निर्माण करना आरम्भ करते थे। वह ठोस चट्टान की नींव थी।

τὴν πέτραν

चट्टान पर नींव है यह बहुत बड़ी, कठोर चट्टान है जो भूमि के नीचे गहरे में है।

ποταμὸς

तेजी से बहने वाला पानी या ""नदी

προσέρηξεν

उसके सामने चकनाचूर हो गया

σαλεῦσαι αὐτὴν

सम्भावित अर्थ 1) ""इसे हिला दे"" या 2) ""इसे नष्ट करे।

διὰ τὸ καλῶς οἰκοδομῆσθαι αὐτήν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि उस व्यक्ति ने इसे अच्छी तरह से बनाया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 6:49

यीशु उस व्यक्ति की तुलना एक ऐसे व्यक्ति से करता है जो उसकी शिक्षा तो सुनता है परन्तु उसका पालन नहीं करता, वह घर बनाता है, परन्तु उसके पास कोई नींव नहीं है और बाढ़ आने पर वह गिर जाएगा। (देखें: उपमा)

ὁ δὲ

परन्तु पहले वाले व्यक्ति के साथ एक शक्तिशाली विपरीतता को दिखाता है, जिसने नींव का निर्माण किया है।

ἐπὶ τὴν γῆν χωρὶς θεμελίου

कुछ संस्कृतियों को पता नहीं है कि नींव वाला घर मजबूत होता है। अतिरिक्त जानकारी सहायक हो सकती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु उसने गहरे तक खुदाई नहीं की और पहले नींव का निर्माण नहीं किया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

θεμελίου

एक घर का वह भाग जो इसे भूमि से जोड़ता है। यीशु के समय में लोग नींव को ठोस चट्टान पर रखने के लिए भूमि के अन्दर चट्टान के आने तक खुदाई करते थे और फिर चट्टान पर निर्माण करना आरम्भ करते थे। वह ठोस चट्टान की नींव थी।

ποταμός

तेजी से बहने वाला पानी या ""नदी

προσέρρηξεν

विरुद्ध टकराया

συνέπεσεν

नीचे गिर गया या टूट गया

ἐγένετο τὸ ῥῆγμα τῆς οἰκίας ἐκείνης μέγα

वह घर पूरी तरह से नष्ट हो गया था

Luke 7

लूका 07 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

कुछ अनुवाद पुराने नियम से उद्धरण को शेष पाठ की तुलना में पृष्ठ पर दाईं ओर दर्शाते हैं। यूएलटी अनुवाद 7:27 में उद्धृत सामग्री के साथ ऐसा ही करता है।

इस अध्याय में कई बार लूका परिवर्तन को चिह्नित किए बिना अपना विषय बदलता है। आपको इन मोटे परिवर्तनों को आसान बनाने का प्रयास नहीं करना चाहिए।

इस अध्याय में विशेष धारणाएँ

सूबेदार

सूबेदार जिसने यीशु से उसके दास को ठीक करने के लिए कहा ([लूका 7: 2] (../../luk/07/02.md) कई असामान्य बातों को कर रहा था। एक रोमी सैनिक किसी भी वस्तु के लिए यहूदी के पास आसानी से नहीं जाता था, और अधिक धनी लोग अपने दासों से प्रेम नहीं करते थे या उनकी चिन्ता नहीं करते थे। (देखें: सूबेदार, सूबेदारों और विश्वास)

यूहन्ना का बपतिस्मा

यूहन्ना ने लोगों को यह बताने के लिए बपतिस्मा दिया कि जिन्हें वह बपतिस्मा दे रहा था, उन्हें पता था कि वे पापी थे और उनके पाप के लिए उन्हें दु:ख था। (देखें: मन फिराना, (पश्चाताप),मन फिराव और पाप, पापो, पाप करना, पापमय, पापी, पाप करते रहना)

""पापी""

लूका लोगों के एक समूह को ""पापियों"" के रूप में दर्शाता है। यहूदी अगुवों ने इन लोगों को मूसा के व्यवस्था से निराशाजनक रूप से अनजान माना, और उन्हें साथ ही ""पापी"" कहा। वास्तव में, अगुवे पापी थे। इस स्थिति को विडम्बना के रूप में लिया जा सकता है। (देखें: व्यंग्यात्मक)

""पैर""

प्राचीनकाल के निकट पूर्व में लोगों के पैर बहुत गन्दे होते थे क्योंकि वे खुली चप्पलें पहनते थे सड़कें और रास्ते धूल से गन्दे थे। केवल दास ही अन्य लोगों के पैरों को धोया करते थे। जिस स्त्री ने यीशु के पैरों को धोया वह उसे अत्याधिक सम्मान दर्शा रही थी।

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

""मनुष्य का पुत्र""

इस अध्याय में यीशु स्वयं को ""मनुष्य का पुत्र"" कह कर दर्शाता है (Luke 7:34). आपकी भाषा लोगों को स्वयं के लिए ऐसे बात करने की अनुमति न दे जैसे कि वे किसी और के बारे में बात कर रहे थे। (देखें: मनुष्य का पुत्र, मनुष्य का पुत्र और प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

Luke 7:1

यीशु ने कफरनहूम में प्रवेश किया जहाँ यीशु एक सूबेदार के सेवक को ठीक करते है।

εἰς τὰς ἀκοὰς τοῦ λαοῦ

यह मुहावरे ""लोगों को सुना चुका"" इस बात पर जोर देता है कि वह चाहता था कि वह उस की सुनें। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन लोगों को जो उस की सुन रहे थे"" या ""उपस्थित लोगों के लिए"" या ""लोगों के सुनने के लिए"" (देखें: मुहावरे)

εἰσῆλθεν εἰς Καφαρναούμ

इस कहानी में एक नई घटना का आरम्भ होता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

Luke 7:2

ὃς ἦν αὐτῷ ἔντιμος

जिसे सूबेदार ने महत्व दिया या ""जिसे उसने सम्मान दिया

Luke 7:4

παρεκάλουν αὐτὸν σπουδαίως

उस से याचना की या ""उससे विनती की

ἄξιός ἐστιν

सूबेदार योग्य है

Luke 7:5

τὸ ἔθνος ἡμῶν

हमारे लोग। यह यहूदियों को दर्शाता है।

Luke 7:6

ἐπορεύετο

उनके साथ गया

αὐτοῦ οὐ μακρὰν ἀπέχοντος ἀπὸ τῆς οἰκίας

दोहरे नकारात्मकताओं को बदले में प्रयोग किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""घर के निकट "" (देखें: दोहरे नकारात्मक)

μὴ σκύλλου

सूबेदार यीशु के साथ विनम्रता से बात कर रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे घर आने में स्वयं को परेशान न करें"" या ""मैं आपको परेशान नहीं करना चाहता हूँ

ὑπὸ τὴν στέγην μου εἰσέλθῃς

यह वाक्यांश एक मुहावरा है जिसका अर्थ है ""मेरे घर में आने"" से है। यदि आपकी भाषा में एक ऐसा मुहावरा है जिसका अर्थ है ""मेरे घर में आने,"" से है तो इसके बारे में सोचें कि यहाँ उपयोग करना अच्छा होगा या नहीं। (देखें: मुहावरे)

Luke 7:7

εἰπὲ λόγῳ

सुबेदार समझ गया कि यीशु केवल बोलकर उसको ठीक कर सकता है। यहाँ ""वचन"" एक आदेश को दिए जाने को दर्शाता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""केवल आदेश ही दे दे"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

ἰαθήτω ὁ παῖς μου

जिस शब्द का अनुवाद ""दास"" के रूप में किया गया है, उसका अनुवाद सामान्य रूप से एक ""लड़के"" के रूप में किया जाता है। यह संकेत दे सकता है कि सेवक बहुत छोटा था या यह उसके लिए सूबेदार का स्नेह को दिखाता था।

Luke 7:8

καὶ…ἐγὼ ἄνθρωπός εἰμι ὑπὸ ἐξουσίαν τασσόμενος

मेरे ऊपर भी कोई है जिसकी मुझे आज्ञा माननी चाहिए

ὑπ’ ἐμαυτὸν

मेरे अधिकार में

τῷ δούλῳ μου

जिस शब्द का अनुवाद यहाँ ""दास"" के रूप में किया गया है उसे एक सेवक के लिए किया जाना प्रतीकात्मक है।

Luke 7:9

ἐθαύμασεν αὐτόν

वह सूबेदार के ऊपर आश्चर्यचकित थे

λέγω ὑμῖν

यीशु ने अपने आश्चर्यचकित बात के ऊपर जोर देने के लिए कहा कि जिसे वह उन्हें बताने वाला था।

οὐδὲ ἐν τῷ Ἰσραὴλ τοσαύτην πίστιν εὗρον

निहितार्थ यह है कि यीशु ने यहूदियों में इस तरह का विश्वास पाए जाने की अपेक्षा की, परन्तु उन्हें नहीं मिला। उसने अन्यजातियों में इस तरह के विश्वास के होने की अपेक्षा नहीं की थी, तौभी इस व्यक्ति ने किया था। आपको इसमें पाई जाने वाली निहित जानकारी को जोड़ने की आवश्यकता हो सकती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझे कोई ऐसा इस्राएली नहीं मिला है जो मुझ पर ऐसे भरोसा करता है जैसे कि इस अन्यजाति ने किया है!"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 7:10

οἱ πεμφθέντες

यह समझा जाता है कि ये लोग सूबेदार के द्वारा भेजे गए थे। यह कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों को जिन्हें रोमी अधिकारी ने यीशु के पास भेजा था"" (देखें: पदन्यूनता)

Luke 7:11

यीशु नाईन नाम के शहर में जाता है, जहाँ वह एक मरे हुए व्यक्ति को ठीक करता है।

Ναΐν

यह एक शहर का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 7:12

ἰδοὺ…τεθνηκὼς

शब्द ""देखो"" हमें कहानी में मृत व्यक्ति के परिचय के लिए सचेत करता है। आपकी भाषा में ऐसा करने का कोई तरीका हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक मृत व्यक्ति था जो"" (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἐξεκομίζετο τεθνηκὼς

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग शहर से बाहर एक व्यक्ति को ला रहे थे जो मर चुका था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐξεκομίζετο…μονογενὴς υἱὸς τῇ μητρὶ αὐτοῦ…αὐτὴ ἦν χήρα, καὶ ὄχλος…ἱκανὸς

उठा कर लिए जाना। वह अपनी माँ का एकमात्र पुत्र था, और वह विधवा थी। अपेक्षाकृत एक बड़ी भीड़। यह मृत व्यक्ति और उसकी माँ की पृष्ठभूमि के बारे में जानकारी है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

χήρα

एक स्त्री जिसका पति मर गया और जिसने पुन: विवाह नहीं किया है

Luke 7:13

ἐσπλαγχνίσθη ἐπ’ αὐτῇ

उसके प्रति बहुत अधिक दु:ख महसूस किया

Luke 7:14

προσελθὼν

वह आगे चला गया या ""वह मृत व्यक्ति तक पहुँचा

τῆς σοροῦ

यह शरीर को दफनाने के स्थान पर ले जाने के लिए उपयोग किए जाने वाली एक अर्थी या मृत्यु शय्या थी। इसे ऐसा कुछ नहीं होना चाहिए जिसमें शरीर को दफनाया जाना था। अन्य अनुवादों में कम प्रचलित ""अर्थी"" या ""मृत्यु शय्या"" हो सकती हैं।

σοὶ λέγω, ἐγέρθητι

यीशु इस बात पर जोर देने के लिए कहता है कि उस जवान को उसकी आज्ञा माननी चाहिए। ""मेरी बात को सुन! उठ

Luke 7:15

ὁ νεκρὸς

अब वह व्यक्ति मरा हुआ नहीं रहा; वह अब जीवित था। इसे स्पष्ट रूप से बताना आवश्यक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह व्यक्ति जो मर चुका था

Luke 7:16

यह बताता है कि यीशु के द्वारा मरने वाले व्यक्ति को ठीक करने के परिणामस्वरूप क्या होता है।

ἔλαβεν…φόβος πάντας

भय उन सभों पर छा गया। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे सब बहुत अधिक डरे हुए थे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

προφήτης μέγας ἠγέρθη ἐν ἡμῖν

वे यीशु के बारे में बात कर रहे थे, न कि किसी अज्ञात् भविष्यद्वक्ता के बारे में। ""उठाया"" यहाँ ""होने का कारण"" होने के लिए एक मुहावरा है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने हम में से एक को महान् भविष्यद्वक्ता बनने के लिए प्रेरित किया है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य) (देखें: मुहावरे)

ἐπεσκέψατο

इस मुहावरे का अर्थ ""उसकी देखभाल"" से है (देखें: मुहावरे)

Luke 7:17

καὶ ἐξῆλθεν ὁ λόγος οὗτος…περὶ αὐτοῦ

यह समाचार उन बातों को दर्शाता है जिसे लोग पद 16 में कह रहे थे। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग यीशु के बारे में इस समाचार को फैलाते हैं"" या ""लोगों ने दूसरों को यीशु के बारे में इस समाचार को बताया

ὁ λόγος οὗτος

यह समाचार या ""यह सन्देश

Luke 7:18

यूहन्ना अपने दो चेलों को यीशु से प्रश्न करने के लिए भेजता है।

ἀπήγγειλαν Ἰωάννῃ οἱ μαθηταὶ αὐτοῦ περὶ πάντων τούτων

यह कहानी एक नई घटना को परिचित करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἀπήγγειλαν Ἰωάννῃ

यूहन्ना को बताया

πάντων τούτων

वे सब काम जिन्हें यीशु कर रहा था

Luke 7:20

οἱ ἄνδρες εἶπαν, Ἰωάννης ὁ Βαπτιστὴς ἀπέστειλεν ἡμᾶς πρὸς σὲ λέγων, σὺ εἶ…ἢ ἄλλον προσδοκῶμεν?

इस वाक्य को पुन: लिखा जा सकता है ताकि इसमें केवल एक ही प्रत्यक्ष उद्धरण रहे। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों ने कहा कि यूहन्ना बपतिस्मा देने वाले ने उन्हें यह पूछने के लिए भेजा था, ' क्या आनेवाला तू ही है, या हम दूसरे की प्रतीक्षा करे?'"" या ""लोगों ने कहा कि,""यूहन्ना बपतिस्मा देने वाले ने हमें आपसे यह पूछने के लिए भेजा है कि क्या आप ही आने वाले थे, या क्या हमें किसी और की प्रतीक्षा करनी चाहिए। '""(देखें: प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष उद्धरण)

Luke 7:21

ἐν ἐκείνῃ τῇ ὥρᾳ

उस समय

πνευμάτων πονηρῶν

चंगाई को पुन कहने के लिए सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने उन्हें दुष्ट आत्माओं से ठीक किया"" या ""उसने लोगों को बुरी आत्माओं से मुक्त कर दिया"" (देखें: पदन्यूनता)

Luke 7:22

εἶπεν αὐτοῖς

यूहन्ना के सन्देशवाहकों से कहा या ""यूहन्ना के भेजे गए दूतों से कहा

ἀπαγγείλατε Ἰωάννῃ

यूहन्ना से कहो

νεκροὶ ἐγείρονται

मरे हुए लोगों को फिर से जीवित किया जाता है

πτωχοὶ

निर्धन लोग

Luke 7:23

καὶ μακάριός ἐστιν ὃς ἐὰν μὴ σκανδαλισθῇ ἐν ἐμοί

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर उस व्यक्ति को आशीष देगा जो मेरे कामों के कारण मुझ पर विश्वास करना बन्द नहीं करता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

καὶ μακάριός ἐστιν ὃς ἐὰν μὴ

लोग जो नहीं करते हैं ... धन्य हैं या ""कोई भी जो नहीं करता ... धन्य है"" या ""जो भी नहीं करता है ... धन्य है।"" यह एक विशेष व्यक्ति नहीं है।

μὴ σκανδαλισθῇ ἐν ἐμοί

इस दोहरी नकारात्मकता का अर्थ ""कुछ भी होने पर मुझ में विश्वास बनाए रखता है"" (देखें: दोहरे नकारात्मक)

पूर्ण रीति से मुझ में भरोसा करते रहना

Luke 7:24

यीशु यूहन्ना बपतिस्मा देने वाले के बारे में भीड़ से बात करना आरम्भ कर देता है। वह आलंकरिक प्रश्न पूछता है ताकि वे यह सोच सकें कि यूहन्ना बपतिस्मा देने वाला वास्तव में क्या पसन्द करता है।

τί…κάλαμον ὑπὸ ἀνέμου σαλευόμενον?

इससे एक नकारात्मक उत्तर प्राप्ति की अपेक्षा की जाती है। ""क्या तुम हवा से हिलते हुए एक सरकण्डे को देखने के लिए बाहर गए थे? नि:सन्देह नहीं!"" इसे एक कथन के रूप में भी लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""निश्चित रूप से तुम हवा से हिलते हुए एक सरकण्डे को देखने के लिए बाहर नहीं गए थे!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

κάλαμον ὑπὸ ἀνέμου σαλευόμενον

इस रूपक के संभावित अर्थ 1) एक व्यक्ति जो आसानी से अपने मन को बदल लेता है, जैसे कि सरकण्डे आसानी से हवा से हिल जाते हैं, या 2) एक व्यक्ति जो बहुत अधिक बातें करता है परन्तु कुछ भी महत्वपूर्ण नहीं कहता है, जैसे सरकण्डे तब आवाज उत्पन्न करते हैं जब हवा चलती है। (देखें: रूपक)

Luke 7:25

ἀλλὰ τί…ἄνθρωπον ἐν μαλακοῖς ἱματίοις ἠμφιεσμένον?

यह एक नकारात्मक उत्तर को पाने की भी अपेक्षा करता है, क्योंकि यूहन्ना बेढ़गे वस्त्रों को पहनता था। ""क्या आप मुलायम कपड़े पहने हुए व्यक्ति को देखने के लिए बाहर गए थे? नि:सन्देह नहीं!"" इसे एक कथन के रूप में भी लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: तुम निश्चित रूप से मुलायम कपड़े पहने हुए व्यक्ति को देखने के लिए बाहर नहीं गए थे! ""(देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἐν μαλακοῖς ἱματίοις ἠμφιεσμένον

यह महंगे कपड़े को दर्शाता है। सामान्य कपड़े बेढ़गे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""महंगे कपड़े पहनना"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

τοῖς βασιλείοις

एक महल एक बड़ा, महंगा घर होता है जिसमें एक राजा रहता है।

Luke 7:26

ἀλλὰ τί…προφήτην?

यह एक सकारात्मक उत्तर की ओर ले जाता है। ""क्या तुम एक भविष्यवक्ता को देखने के लिए गए थे? नि:सन्देह तुम गए थे!"" इसे एक कथन के रूप में भी लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु तुम वास्तव में एक भविष्यवक्ता को देखने के लिए बाहर गए थे!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ναί, λέγω ὑμῖν

यीशु यह कहते हुए इस बात के महत्व पर जोर देता है कि वह आगे क्या कहने पर है।

περισσότερον προφήτου

इस वाक्यांश का अर्थ है कि यूहन्ना वास्तव में एक भविष्यवक्ता था, परन्तु वह एक भविष्यद्वक्ता से भी बड़ा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""केवल एक साधारण भविष्यद्वक्ता नहीं"" या ""एक सामान्य भविष्यद्वक्ता से कहीं अधिक महत्वपूर्ण

Luke 7:27

οὗτός ἐστιν περὶ οὗ γέγραπται

यह भविष्यवक्ता वह है जिसके बारे में भविष्यवक्ताओं ने लिखा था या ""यूहन्ना वह है जिसके बारे में भविष्यवक्ताओं ने बहुत पहले लिखा था

ἰδοὺ, ἀποστέλλω

इस पद में, यीशु भविष्यद्वक्ता मलाकी को उद्धृत कर रहा है और कह रहा है कि यूहन्ना ऐसा सन्देशवाहक है जिसकी चर्चा मलाकी ने की थी।

πρὸ προσώπου σου

इस मुहावरे ""तेरे आगे-आगे"" का अर्थ या ""तेरे से आगे चलने वाला"" (देखें: मुहावरे)

σου

शब्द ""तेरे"" एकवचनीय है क्योंकि परमेश्वर इस उद्धरण में मसीह के बारे में बात कर रहे थे। (देखें: तुम के प्रारूप)

Luke 7:28

λέγω ὑμῖν

यीशु भीड़ से बात कर रहे है, इसलिए ""तुम"" बहुवचन है। यीशु इस वाक्यांश का उपयोग आश्चर्यजनक बात के सत्य के ऊपर जोर देने के लिए करते है जिसे वह आगे कहने वाले है। (देखें: तुम के प्रारूप)

ἐν γεννητοῖς γυναικῶν

उन लोगों में से जिनके लिए एक स्त्री ने जन्म दिया है। यह एक रूपक है जो सभी लोगों को दर्शाता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन सभी लोगों में से जो अभी तक रहे हैं"" (देखें: रूपक)

μείζων…Ἰωάννου οὐδείς ἐστιν

यूहन्ना सबसे महान् है

ὁ…μικρότερος ἐν τῇ Βασιλείᾳ τοῦ Θεοῦ

यह किसी ऐसे व्यक्ति को दर्शाता है जो उस राज्य का भाग है जिसे परमेश्वर स्थापित करेंगे।

μείζων αὐτοῦ ἐστι

परमेश्वर के राज्य में लोगों की आत्मिक अवस्था उन लोगों की आत्मिक अवस्था की तुलना में कहीं अधिक होगी जो राज्य की स्थापना से पहले से थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""यूहन्ना की तुलना में उच्च आत्मिक अवस्था है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 7:29

इस पुस्तक के लेखक लूका ने टिप्पणी की है कि लोगों ने यूहन्ना और यीशु के प्रति कैसी प्रतिक्रिया दी है।

καὶ πᾶς ὁ λαὸς ἀκούσας…τὸ βάπτισμα Ἰωάννου

इस पद को और अधिक स्पष्ट होने के लिए यहाँ पुन: लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब कर संग्रहकर्ताओं सहित यूहन्ना द्वारा बपतिस्मा लेने वाले सभी लोगों ने यह सुना, तो उन्होंने घोषणा की कि परमेश्वर धर्मी हैं

ἐδικαίωσαν τὸν Θεόν

उन्होंने कहा कि परमेश्वर ने स्वयं को धर्मी होना दिखाया है या ""उसने घोषित किया कि परमेश्वर ने धार्मिकता के साथ कार्य किया है

βαπτισθέντες τὸ βάπτισμα Ἰωάννου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि उन्होंने यूहन्ना को उन्हें बपतिस्मा देने दिया था"" या ""क्योंकि यूहन्ना ने उन्हें बपतिस्मा दिया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 7:30

τὴν βουλὴν τοῦ Θεοῦ ἠθέτησαν εἰς ἑαυτούς

अस्वीकार कर दिया जिसे परमेश्वर उनसे चाहते थे या ""जो कुछ परमेश्वर ने उनसे कहा था उसकी अवहेलना करना चुना था

μὴ βαπτισθέντες ὑπ’ αὐτοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने यूहन्ना को उन्हें बपतिस्मा नहीं देने दिया"" या ""उन्होंने यूहन्ना के बपतिस्मा का अस्वीकार कर दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 7:31

यीशु निरन्तर यूहन्ना बपतिस्मा देने वाले के बारे में लोगों से बात करते रहते है।

τίνι οὖν ὁμοιώσω…τίνι εἰσὶν ὅμοιοι?

एक तुलना को परिचित कराने के लिए यीशु इन प्रश्नों का उपयोग करता है। इन्हें एक कथन के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यही वह बात है जिस से मैं इस पीढ़ी की तुलना करता हूँ, और वे किसके जैसे हैं।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ὁμοιώσω…τίνι εἰσὶν ὅμοιοι

ये कहने के दो तरीके हैं कि यह एक तुलना है। (देखें: समरूपता)

τοὺς ἀνθρώπους τῆς γενεᾶς ταύτης

उस समय रहने वाले लोग जब यीशु ने बात की थी।

Luke 7:32

ὅμοιοί εἰσιν

ये शब्द यीशु की तुलना का आरम्भ हैं। यीशु कह रहे है कि लोग ऐसे बच्चों की तरह हैं जो अन्य बच्चों के कार्य से संतुष्ट नहीं होते हैं। (देखें: उपमा)

ἀγορᾷ

एक बड़ा, खुली-हवा का क्षेत्र, जहाँ लोग अपने सामान बेचने आते हैं

καὶ οὐκ ὠρχήσασθε

परन्तु तुमने संगीत की धुन पर नृत्य नहीं किया

καὶ οὐκ ἐκλαύσατε

परन्तु तुम हमारे साथ नहीं रोए

Luke 7:33

μὴ ἐσθίων ἄρτον

सम्भावित अर्थ 1) ""कभी-कभी उपवास करना"" या 2) ""सामान्य भोजन नहीं खाना।

λέγετε, δαιμόνιον ἔχει

यीशु उद्धृत कर रहा था कि लोग यूहन्ना के बारे में क्या कह रहे थे। यह सीधे उद्धरण के बिना कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम कहते हो कि उसके पास एक दुष्टात्मा है।"" या ""तुम उसमें दुष्टात्मा के होने का आरोप लगाते हो।"" (देखें: प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष उद्धरण)

Luke 7:34

ὁ Υἱὸς τοῦ Ἀνθρώπου

यीशु ने लोगों से अपेक्षा की कि वे समझे की वह स्वयं को संदर्भित कर रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं, मनुष्य का पुत्र"" (देखें: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

λέγετε, ἰδοὺ, ἄνθρωπος φάγος καὶ οἰνοπότης…ἁμαρτωλῶν.

इसे अप्रत्यक्ष उद्धरण के रूप में अनुवादित किया जा सकता है। यदि आपने ""मनुष्य का पुत्र"" का अनुवाद ""मैं, मनुष्य का पुत्र"" के रूप में किया है, तो आप इसे अप्रत्यक्ष कथन के रूप में बता सकते हैं और प्रथम पुरूष वाचक का उपयोग कर सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम कहते हो कि वह एक पेटू और पियक्कड है ... पापी।"" या ""तुम उस पर अधिक खाने और पीने का कहते हुए...उसके पापी होने का आरोप लगाते हो।"" या ""तुम कहते हो कि मैं एक पेटू और पियक्कड़... पापी व्यक्ति हूँ।"" (देखें: प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष उद्धरण और प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष उद्धरण और प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

ἄνθρωπος φάγος

वह एक भोजन करने में लालची है या ""वह निरन्तर ज्यादा खाना खाता है

οἰνοπότης

एक पियक्कड है या ""वह निरन्तर दाखमधु पीता है

Luke 7:35

ἐδικαιώθη ἡ σοφία ἀπὸ πάντων τῶν τέκνων αὐτῆς

यह एक नीतिवचन प्रतीत होता है जिसे यीशु ने इस स्थिति पर लागू किया था, कदाचित् यह समझाने के लिए कि बुद्धिमान लोग समझेंगे कि लोगों को यीशु और यूहन्ना को अस्वीकार नहीं करना चाहिए था।

Luke 7:36

यह उस समय में एक रिवाज था जब दर्शकगण भोजन खाए बिना रात्रिभोज में भाग लेते थे।

एक फरीसी ने यीशु को अपने घर पर खाने के लिए आमंत्रित किया।

δέ τις…τῶν Φαρισαίων

यह कहानी के एक नए भाग का आरम्भ करने को चिह्नित करती है और कहानी में फरीसी का परिचय कराती है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय और नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

κατεκλίθη

भोजन के लिए मेज पर बैठे। यह एक आराम से भोजन करने के लिए एक रिवाज था जैसे कि खाने के लिए आराम से मेज के चारों ओर झुकते हुए भोजन के लिए इस रात्रिभोज का दिया जाना।

Luke 7:37

καὶ ἰδοὺ γυνὴ…ἦν

शब्द ""देखो"" हमें कहानी में एक नए व्यक्ति के होने के लिए सचेत करता है। आपकी भाषा में ऐसा करने का कोई तरीका हो सकता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἥτις ἦν…ἁμαρτωλός

जो एक पापमय जीवनशैली जीती थी या ""जो एक पापी जीवन जीने के रूप में प्रसिद्ध थी।"" वह एक वेश्या हो सकती है।

ἀλάβαστρον

नरम पत्थर से बना एक पात्र। संगमरमर एक नरम, सफेद चट्टान होती है। लोग संगमरमर के पात्र में बहुमूल्य वस्तुओं को रखा करते थे।

μύρου

इसमें इत्र के साथ। तेल में ऐसा कुछ था जिसने इसे सुगन्ध को उत्पन्न किया। लोग इसे स्वयं पर रगड़ते थे या अच्छी सुगन्ध पाने के लिए अपने कपड़ों के ऊपर छिड़क दिया करते थे।

Luke 7:38

ταῖς θριξὶν τῆς κεφαλῆς αὐτῆς

अपने बालों के साथ

ἤλειφεν τῷ μύρῳ

उनके ऊपर इत्र को उण्डेल दिया

Luke 7:39

εἶπεν ἐν ἑαυτῷ λέγων

उसने स्वयं से कहा

οὗτος εἰ ἦν προφήτης, ἐγίνωσκεν…ἁμαρτωλός ἐστιν

फरीसी ने सोचा कि यीशु भविष्यद्वक्ता नहीं था क्योंकि उसने पापी स्त्री को उसे स्पर्श करने की अनुमति दी थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""आभासित होता है कि यीशु एक भविष्यद्वक्ता नहीं है, क्योंकि एक भविष्यवक्ता यह जान लेगा है कि वह उसे स्पर्श करने वाली स्त्री एक पापी है

ὅτι ἁμαρτωλός ἐστιν

शमौन ने माना कि एक भविष्यद्वक्ता कभी भी पापियों को स्पर्श करने की अनुमति नहीं देगा। उसकी कल्पना का यह हिस्सा स्पष्ट रूप से बताया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह एक पापी है, और वह उसे स्पर्श करने की अनुमति नहीं देगा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 7:40

Σίμων

यह फरीसी का नाम था जिसने यीशु को अपने घर में आमंत्रित किया था। यह शमौन पतरस नहीं था।

Luke 7:41

इस बात पर जोर देने के लिए वह शमौन फरीसी को क्या बताने जा रहे थे, यीशु ने उसे एक कहानी सुनाई। (देखें: दृष्टांत)

δύο χρεοφιλέται ἦσαν: δανιστῇ τινι

दो पुरुषों ने एक निश्चित् लेनदार को पैसे देने थे

δηνάρια πεντακόσια

500 दिन की मजदूरी ""दीनार"" ""दीनारों"" का बहुवचन है। ""दीनारों"" की समानता एक चांदी के सिक्के के बराबर थी। (देखें: बाइबल में धन और संख्याएँ)

ὁ…ἕτερος πεντήκοντα

अन्य देनदार को पचास दीनार या ""50 दिनों की मजदूरी"" देनी थी

Luke 7:42

ἀμφοτέροις ἐχαρίσατο

उसने उनके ऋण को क्षमा कर दिया या ""उनके ऋण को निरस्त कर दिया

Luke 7:43

ὑπολαμβάνω

शमौन इसके उत्तर को देने के लिए सतर्क था। वैकल्पिक अनुवाद: ""कदाचित्

ὀρθῶς ἔκρινας

तू सही है

Luke 7:44

στραφεὶς πρὸς τὴν γυναῖκα

यीशु ने स्त्री की ओर मुड़ कर शमौन के ध्यान को स्त्री की ओर आकर्षित किया।

ὕδωρ μοι ἐπὶ πόδας οὐκ ἔδωκας

धूल से भारी हुई सड़कों पर चलने के पश्चात् मेहमानों को अपने पैरों को धोने और सूखने के लिए पानी और तौलिया प्रदान करने के लिए एक मेजबान की मूल ज़िम्मेदारी होती थी। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

οὐκ ἔδωκας; αὕτη δὲ

यीशु दो बार इन वाक्यांशों का उपयोग करता है ताकि शमौन में शालीनता की कमी की तुलना को स्त्री के उच्च कृतज्ञता से भरे हुए कार्य के साथ की जा सके।

αὕτη…τοῖς δάκρυσιν ἔβρεξέν μου τοὺς πόδας

पानी के न होने पर स्त्री ने अपने आँसूओं को उपयोग किया।

ταῖς θριξὶν αὐτῆς ἐξέμαξεν

तौलिया के न होने पर स्त्री ने अपने बालों का उपयोग किया।

Luke 7:45

φίλημά μοι οὐκ ἔδωκας

उस संस्कृति में एक अच्छा मेजबान अपने अतिथि को गाल पर चुम्बन के साथ अभिवादन करता था। शमौन ने ऐसा नहीं किया। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

οὐ διέλιπεν καταφιλοῦσά μου τοὺς πόδας

मेरे पैरों को चूमना न छोड़ा

καταφιλοῦσά μου τοὺς πόδας

स्त्री ने ह्रदय की गहराई से पश्चाताप और विनम्रता के संकेत के रूप में उसके गाल की अपेक्षा यीशु के चरणों को चूमा।

Luke 7:46

οὐκ ἤλειψας; αὕτη δὲ

यीशु निरन्तर स्त्री के कार्यों को शमौन के खराब आतिथ्य से भरे हुए कार्यों के साथ तुलना करता है।

ἐλαίῳ τὴν κεφαλήν μου…ἤλειψας

मेरे सिर पर तेल डाल दिया। एक सम्मानित अतिथि का स्वागत करने के लिए यही परम्परा थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे सिर को तेल से अभिषेक करके मेरा स्वागत किया है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἤλειψεν τοὺς πόδας μου

स्त्री ने ऐसा करके यीशु को बहुत सम्मानित किया। उसने उसके सिर की अपेक्षा उसके पैरों को अभिषेक करके विनम्रता का प्रदर्शन किया।

Luke 7:47

λέγω σοι

यह निम्नलिखित कथन के महत्व पर जोर देता है।

ἀφέωνται αἱ ἁμαρτίαι αὐτῆς αἱ πολλαί

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उसके कई पापों को क्षमा कर दिया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ὅτι ἠγάπησεν πολύ

उसका प्रेम इस बात का प्रमाण था कि उसके पापों को क्षमा कर दिया गया है। कुछ भाषाओं की माँग हैं कि ""प्रेम"" को एक वस्तु के रूप में कहा जाए। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि वह उस व्यक्ति से बहुत अधिक प्रेम करती है जिसने उसे क्षमा किया"" या ""क्योंकि वह ईश्वर से बहुत अधिक प्रेम करती थी

ᾧ…ὀλίγον ἀφίεται

जिस किसी को भी क्षमा किया गया है उसके पाप थोड़े थे। इस वाक्य में यीशु एक सामान्य सिद्धान्त बताता है। यद्यपि, उसने शमौन से यह समझने की अपेक्षा की कि उसमें यीशु के लिए बहुत कम प्रेम था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 7:48

εἶπεν δὲ αὐτῇ

तब उसने स्त्री से कहा

ἀφέωνταί σου αἱ ἁμαρτίαι

तेरे पाप क्षमा हुए। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं तेरे पापों को क्षमा करता हूँ"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 7:49

συνανακείμενοι

मेज पर चारों ओर से एक साथ झुके हुए होना या ""एक साथ भोजन करना

τίς οὗτός ἐστιν ὃς καὶ ἁμαρτίας ἀφίησιν?

धार्मिक अगुवों को पता था कि केवल परमेश्वर ही पापों को क्षमा कर सकता है और वे विश्वास नहीं करते थे कि यीशु ही परमेश्वर थे। यह प्रश्न कदाचित् एक आरोप लगाने वाली मंशा थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह व्यक्ति क्या सोचता है कि यह कौन है? केवल परमेश्वर ही पापों को क्षमा कर सकते है! ""या"" यह व्यक्ति परमेश्वर होने का नाटक क्यों कर रहा है, केवल वही पापों को क्षमा कर सकता है? ""(देखें: भाषणगत प्रश्न और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 7:50

ἡ πίστις σου σέσωκέν σε

तेरे विश्वास के कारण, तू बचाई गई है। भाववाचक संज्ञा ""विश्वास"" को एक क्रिया के रूप में वर्णित किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि तू विश्वास करती है, तू बचाई गई है"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

πορεύου εἰς εἰρήνην

यह एक ही समय में आशीष देने के साथ ही विदा कहने का एक तरीका है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जैसे तू जाती है, तो अब चिन्ता न कर"" या ""जब तू जाती है तो परमेश्वर तुझे शान्ति दे

Luke 8

लूका 08 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

इस अध्याय में कई बार लूका परिवर्तन को चिह्नित किए बिना ही अपना विषय बदल देता है। आपको इन मोटे परिवर्तनों को आसान बनाने का प्रयास नहीं करना चाहिए।

इस अध्याय में विशेष धारणाएँ

आश्चर्यकर्म

यीशु ने बात करके एक तूफान को शान्त कर दिया, उसने बात करके एक मृत लड़की को जीवित कर दिया, और उसने बात करके एक व्यक्ति को दुष्ट आत्माओं से छुड़ा लिया। (देखें: चमत्कार, आश्चर्यकर्मों, चिन्ह)

इस अध्याय के महत्वपूर्ण अलंकार

दृष्टांत

दृष्टांत छोटी कहानियां थीं जिन्हें यीशु ने बताया था ताकि लोग आसानी से उस शिक्षा को समझ सकें जिसे वह उन्हें देने का प्रयास कर रहे थे। उसने कहानियों को भी बताया ताकि जो लोग उस पर विश्वास नहीं करना चाहते वे सत्य को न समझ पाएँ (लूका 8:4-15)।

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

भाइयों और बहनों

अधिकांश लोग उन लोगों को ""भाई"" और ""बहन"" ही कह कर बुलाते हैं, जिनके माता-पिता एक ही होते हैं और उनके बारे में उन्हें उनके जीवन में सबसे महत्वपूर्ण लोगों के रूप में सोचते हैं। बहुत से लोग उन लोगों को भी ""भाई"" और ""बहन"" कह कर बुलाते हैं जिनके दादा-दादी एक ही होते हैं। इस अध्याय में यीशु कहता है कि उनके लिए सबसे महत्वपूर्ण लोग वे हैं जो उनके पिता की आज्ञा का पालन करते हैं जो स्वर्ग में है। (देखें: भाई)

Luke 8:1

ये पद यात्रा करते समय यीशु के प्रचार के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देते हैं।

καὶ ἐγένετο

इस वाक्यांश का उपयोग कहानी के एक नए भाग को चिह्नित करने के लिए किया गया है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

Luke 8:2

αἳ ἦσαν τεθεραπευμέναι ἀπὸ πνευμάτων πονηρῶν καὶ ἀσθενειῶν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिसे यीशु ने दुष्ट आत्माओं से मुक्त किया था और बीमारियों से ठीक किया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Μαρία

देखें ""कुछ स्त्रियों"" में से एक। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Μαρία ἡ καλουμένη Μαγδαληνή…δαιμόνια ἑπτὰ ἐξεληλύθει

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मरियम, जिसे लोग मगदलीनी कह कर पुकराते थे... यीशु ने सात दुष्टात्माओं को बाहर निकाला था ""(देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 8:3

Ἰωάννα…Σουσάννα

कुछ स्त्रियों"" में से दो (पद 2)। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Ἰωάννα γυνὴ Χουζᾶ ἐπιτρόπου Ἡρῴδου

योअन्ना खोजा की पत्नी थी, और खोजा हेरोदेस का प्रबन्धक था। ""हेरोदेस के भण्डारी खोजा की पत्नी योअन्ना"" (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

διηκόνουν αὐτοῖς

आर्थिक रूप से यीशु और उसके बारह चेलों की सहायता करती थी

Luke 8:4

यीशु भीड़ को भूमि(बीज बोनेवाले) का दृष्टांत बताता है। वह अपने चेलों को इसका अर्थ बताता है। (देखें: दृष्टांत)

ἐπιπορευομένων πρὸς αὐτὸν

यीशु के पास आना

Luke 8:5

ἐξῆλθεν ὁ σπείρων τοῦ σπεῖραι τὸν σπόρον αὐτοῦ

एक किसान ने एक खेत में कुछ बीज बिखेर दिए या ""एक किसान एक खेत में कुछ बीज बिखरा के लिए चला गया

ὃ μὲν ἔπεσεν

कुछ बीज गिर गए या ""कुछ ज्यादा बीज गिर गए

κατεπατήθη

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग इस पर चले"" या ""लोग उन के ऊपर चले"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὰ πετεινὰ τοῦ οὐρανοῦ

इस मुहावरे का सामान्य अनुवाद ""पक्षियों"" या ""आकाश"" के भावार्थ को बनाए रखने के लिए ""पक्षी उड़ गए और"" के रूप में किया जा सकता है।

κατέφαγεν αὐτό

सब खा लिए या ""उन सभों को खा लिया

Luke 8:6

ἐξηράνθη

प्रत्येक पौधा सूख गया और मुरझा गया या ""पौधे सूख गए और मुरझा गए

μὴ ἔχειν ἰκμάδα

यह बहुत अधिक सूखा था या ""वे बहुत अधिक सूखे थे।"" कारण भी कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""भूमि बहुत अधिक शुष्क थी

Luke 8:7

यीशु भीड़ को दृष्टांत बताते हुए समाप्त करते है।

ἀπέπνιξαν αὐτό

कांटेदार पौधे सभी पोषक तत्व, पानी और सूर्य से प्रकाश लेते है, इसलिए किसान का पौधा अच्छी तरह से नहीं बढ़ सका।

Luke 8:8

ἐποίησεν καρπὸν

एक फसल उगाई या ""अधिक बीज बढ़े

ἑκατονταπλασίονα

इसका अर्थ बोए गए बीज से सौ गुना अधिक की प्राप्ति है। (देखें: पदन्यूनता)

ὁ ἔχων ὦτα ἀκούειν, ἀκουέτω

यीशु इस बात पर ज़ोर दे रहा है कि उसने जो कहा है वह महत्वपूर्ण है और इसलिए इसे समझने और अभ्यास में लाने के लिए कुछ प्रयास करना पड़ सकता है। वाक्यांश ""सुनने के कान"" यहां समझने और पालन करने की इच्छा के लिए एक उपनाम है। क्योंकि यीशु सीधे ही अपने दर्शकों से बात कर रहा है, इसलिए आप यहाँ दूसरे जन अर्थात् सर्वनाम का उपयोग करना पसन्द कर सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो सुनना चाहता है, सुनें"" या ""जो समझने को तैयार है, उसे समझे और आज्ञा माने"" या ""यदि आप सुनना चाहते हैं, सुनें"" या ""यदि आप समझने के इच्छुक हैं, तो समझें और आज्ञा को माने"" (देखें: लक्षणालंकार ... प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

Luke 8:9

यीशु अपने चेलों से बात करना आरम्भ कर देते है।

Luke 8:10

ὑμῖν δέδοται γνῶναι τὰ μυστήρια τῆς Βασιλείας τοῦ Θεοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने तुम्हें... समझ दी है परमेश्वर ""या"" परमेश्वर ने तुम्हें समझने में सक्षम बना दिया है ... परमेश्वर ""(देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὰ μυστήρια τῆς Βασιλείας τοῦ Θεοῦ

ये ऐसे सत्य हैं जो छुपाए गए हैं, परन्तु यीशु अब उन्हें प्रकट कर रहे है।

τοῖς…λοιποῖς

अन्य लोगों के लिए। यह उन लोगों को दर्शाता है जिन्होंने यीशु के शिक्षा को अस्वीकृत कर दिया और उनका अनुसरण नहीं किया।

βλέποντες μὴ βλέπωσιν

यद्यपि वे देखते हैं, वे नहीं समझेंगे। यह भविष्यद्वक्ता यशायाह से उद्धरण है। कुछ भाषाओं में क्रियाओं की वस्तु के रूप में बताने की आवश्यकता हो सकती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यद्यपि वे बातों को देखते हैं, वे उन्हें समझ नहीं पाएँगे"" या ""यद्यपि वे बातों को देखते हैं, वे समझ नहीं पाएँगे कि उनका क्या अर्थ है

ἀκούοντες μὴ συνιῶσιν

यद्यपि वे सुनते हैं, वे समझ नहीं पाएँगे। यह भविष्यद्वक्ता यशायाह से उद्धरण है। कुछ भाषाओं में क्रियाओं की वस्तु के रूप में बताने की आवश्यकता हो सकती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यद्यपि वे निर्देश को सुनते हैं, वे सत्य को समझ नहीं पाएँगे

Luke 8:11

यीशु अपने चेलों से भूमि के दृष्टांत के अर्थ की व्याख्या करना आरम्भ कर देता है।

ὁ σπόρος ἐστὶν ὁ λόγος τοῦ Θεοῦ

बीज परमेश्वर का सन्देश है

Luke 8:12

οἱ…παρὰ τὴν ὁδόν εἰσιν οἱ ἀκούσαντες

मार्ग के साथ गिरने वाले बीज वे हैं। यीशु बताते है कि ऐसे बीजों के साथ क्या होता है जो लोगों से सम्बन्धित होते है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मार्ग के साथ गिरने वाले बीज लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं"" या ""दृष्टांत में, मार्ग के साथ गिरने वाले बीज लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं"" (देखें: लक्षणालंकार)

εἰσιν οἱ

यीशु लोगों के बारे में कुछ दिखाते हुए बीज के बारे में बोलता है मानो कि बीज लोग थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""दिखाता है कि लोगों के साथ क्या होता है जो"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἔρχεται ὁ διάβολος καὶ αἴρει τὸν λόγον ἀπὸ τῆς καρδίας αὐτῶν

यहाँ ""मन लोगों के दिमाग या आन्तरिक प्राण के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""शैतान आता है और परमेश्वर के सन्देश को उनके आन्तरिक विचारों से दूर ले जाता है"" (देखें: लक्षणालंकार)

αἴρει

इस दृष्टांत में यह बीज को उठा ले जाने वाली चिड़िया का एक रूपक था। अपनी भाषा में उन शब्दों का उपयोग करने का प्रयास करें जिसमें यह चित्र पाया जाता है। (देखें: रूपक)

ἵνα μὴ πιστεύσαντες σωθῶσιν

यही शैतान का उद्देश्य है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि शैतान सोचता है, 'उन्हें विश्वास नहीं करना चाहिए और उन्हें बचाना नहीं चाहिए'"" या ""ऐसा नहीं होता है कि वे विश्वास करते हैं और परमेश्वर उन्हें बचा लेता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 8:13

οἱ…ἐπὶ τῆς πέτρας

चट्टानी भूमि पर गिरने वाले बीज वे हैं। यीशु बताते है कि ऐसे बीजों के साथ क्या होता है जो लोगों से सम्बन्धित होते है। वैकल्पिक अनुवाद: ""चट्टानी भूमि पर गिरने वाले बीज लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं"" या ""दृष्टांत में चट्टानी भूमि पर गिरने वाले बीज लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं"" (देखें: लक्षणालंकार)

τῆς πέτρας

चट्टानी भूमि

ἐν καιρῷ πειρασμοῦ

जब वे कठिनाई का अनुभव करते हैं

ἀφίστανται

इस मुहावरे का अर्थ है कि ""वे विश्वास करना बन्द कर देते हैं"" या ""वे यीशु का अनुसरण करना बन्द कर देते हैं"" (देखें: मुहावरे)

Luke 8:14

τὸ…εἰς τὰς ἀκάνθας πεσόν, οὗτοί εἰσιν

कांटो के बीच में गिरने वाले बीज लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं या ""दृष्टांत में कांटो के बीच में गिरने वाले बीज लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἡδονῶν τοῦ βίου, πορευόμενοι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस जीवन की चिन्ताएँ और धन और सुख उन्हें दबा देता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

μεριμνῶν

ऐसी बातें जिनकी लोग चिन्ता करते हैं

ἡδονῶν τοῦ βίου

इस जीवन की बातें जिनका लोग सुख-विलास लेते हैं

ὑπὸ μεριμνῶν, καὶ πλούτου, καὶ ἡδονῶν τοῦ βίου, πορευόμενοι συνπνίγονται καὶ οὐ τελεσφοροῦσιν

यह रूपक पौधों से प्रकाश और पोषक तत्वों से अलग हो जाने तरीके को दर्शाता है और उन्हें बढ़ने से रोकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि खरपतवार अच्छे पौधों को बढ़ने से रोकते हैं, इस जीवन की चिन्ताएँ, धन और सुख-विलास इन लोगों को परिपक्व होने से रोक देते हैं"" (देखें: रूपक)

οὐ τελεσφοροῦσιν

वे पक्के हुए फल को उत्पन्न नहीं करते हैं। पक्के फल अच्छा कामों के लिए एक रूपक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ऐसे पौधे की तरह जो पक्के फल उत्पन्न नहीं करता है, वे अच्छे काम को उत्पन्न नहीं करते हैं"" (देखें: रूपक)

Luke 8:15

τὸ…ἐν τῇ καλῇ γῇ, οὗτοί εἰσιν οἵτινες

अच्छी मिट्टी पर गिरने वाला बीज लोगों का प्रतिनिधित्व करता है या ""दृष्टांत में अच्छी मिट्टी पर गिरने वाले बीज लोगों का प्रतिनिधित्व करता है"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἀκούσαντες τὸν λόγον

सन्देश सुनने पर

ἐν καρδίᾳ καλῇ καὶ ἀγαθῇ

यहाँ ""मन"" एक व्यक्ति के विचारों या मंशा के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक ईमानदार और अच्छी इच्छा के साथ"" (देखें: लक्षणालंकार)

καρποφοροῦσιν ἐν ὑπομονῇ

धैर्यपूर्वक धीरज से फल उत्पन्न करें या ""निरन्तर प्रयास करके फल उत्पन्न करें।"" फल अच्छे कामों के लिए एक रूपक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अच्छे फल उत्पन्न करने वाले स्वस्थ पौधों की तरह, वे दृढ़ता से अच्छे काम करते हैं"" (देखें: रूपक)

Luke 8:16

यीशु एक और दृष्टांत के साथ आगे बढ़ता है तब वह अपने चेलों से बात करना समाप्त कर देता है जब वह अपने काम में अपने परिवार की भूमिका पर जोर देता है।

οὐδεὶς

यह एक और दृष्टांत के आरम्भ को चिह्नित करता है। (देखें: दृष्टांत)

Luke 8:17

οὐ…ἐστιν κρυπτὸν ὃ οὐ φανερὸν γενήσεται

इस दोहरे नकारात्मक कथन को सकारात्मक रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""छिपी हुई सब बातें जानी जाएगी"" (देखें: दोहरे नकारात्मक)

οὐδὲ ἀπόκρυφον ὃ οὐ μὴ γνωσθῇ καὶ εἰς φανερὸν ἔλθῃ

इस दोहरे नकारात्मक कथन को सकारात्मक रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""और जो कुछ भी गुप्त में है उसे प्रकट किया जाएगा और वह प्रकाश में आ जाएगा"" (देखें: दोहरे नकारात्मक)

Luke 8:18

ὃς ἂν…ἔχῃ, δοθήσεται αὐτῷ

सन्दर्भ से यह स्पष्ट है कि यीशु समझने और विश्वास करने के बारे में बात कर रहा है। इसे स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है और क्रिया के सक्रिय रूप में परिवर्तित किया जा सकता है । वैकल्पिक अनुवाद: ""जिस किसी के पास समझ है उसे और भी अधिक समझ दी जाएगी"" या ""ईश्वर उन लोगों को सक्षम करेगा जो सत्य को और भी अधिक समझने के लिए विश्वास करते हैं"" (देखें: पदन्यूनता और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

καὶ ὃς ἂν μὴ ἔχῃ…ἀρθήσεται ἀπ’ αὐτοῦ

सन्दर्भ से यह स्पष्ट है कि यीशु समझने और विश्वास करने के बारे में बात कर रहा है। इसे स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है और क्रिया के सक्रिय रूप में परिवर्तित किया जा सकता है । वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु जिस किसी के पास समझ नहीं है वह उसे भी खो देगा जिसे वह सोचता है कि वह समझता है"" या ""परन्तु परमेश्वर उन लोगों के विश्वास का कारण बनेगें जो सत्य पर विश्वास नहीं करते हैं यहाँ तक कि थोड़ा सा भी जिसके प्रति वे सोचते हैं कि वे समझ गए हैं"" (देखें: पदन्यूनता और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 8:19

οἱ ἀδελφοὶ

ये यीशु के छोटे भाई-मरियम और यूसुफ के अन्य पुत्र थे जो यीशु के बाद उत्पन्न हुए थे। क्योंकि यीशु का पिता परमेश्वर था, और उनके पिता यूसुफ थे, वे तकनीकी रूप से उसके आधा-भाई थे। यह विवरण सामान्य रूप से अनुवादित नहीं है।

Luke 8:20

ἀπηγγέλη…αὐτῷ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों ने उसे बताया"" या ""किसी ने उसे बताया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἰδεῖν θέλοντές σε

और वे तुझे देखना चाहते हैं

Luke 8:21

μήτηρ μου καὶ ἀδελφοί μου, οὗτοί εἰσιν οἱ τὸν λόγον τοῦ Θεοῦ ἀκούοντες καὶ ποιοῦντες

यह रूपक व्यक्त करता है कि जो लोग यीशु को सुनने के लिए आ रहे थे, उनके लिए उतना ही महत्वपूर्ण था जितना कि उनका परिवार था। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो लोग परमेश्वर के वचन सुनते हैं और उनका पालन करते हैं वे मेरे लिए एक माता और भाई की तरह हैं"" (देखें: रूपक)

τὸν λόγον τοῦ Θεοῦ

सन्देश जिसे परमेश्वर ने कहा है

Luke 8:22

यीशु और उनके चेले गनेसरेत की झील पार करने के लिए एक नाव का उपयोग करते हैं। चेले उठने वाले तूफान के माध्यम से यीशु की सामर्थ्य के बारे में और अधिक जान जाते हैं।

τῆς λίμνης

यह गनेसरत की झील है, जिसे गलील सागर भी कहा जाता है।

ἀνήχθησαν

इस अभिव्यक्ति का अर्थ है कि वे उन्होंने नाव में झील के पार यात्रा करनी आरम्भ कर दी।

Luke 8:23

πλεόντων…αὐτῶν

जब वे जा रहे थे

ἀφύπνωσεν

सोने लगे

κατέβη λαῖλαψ ἀνέμου

बहुत तेज हवा से भरा हुआ तूफान आरम्भ हुआ या ""बहुत तेज हवाएँ अचानक से उठने लगीं

συνεπληροῦντο

तेज हवाओं ने उच्च लहरों को उत्पन्न किया जिससे नाव के किनारे से पानी अन्दर आने लगा। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""हवाओं ने उच्च लहरों को उत्पन्न किया जिससे पानी उनकी नाव में भरना आरम्भ हो गया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 8:24

ἐπετίμησεν

कठोरता से बात की

τῷ κλύδωνι, τοῦ ὕδατος

ऊँची लहरें

ἐπαύσαντο

हवा और लहरें रुक गईं या ""वे शान्त हो गईं

Luke 8:25

ποῦ ἡ πίστις ὑμῶν?

यीशु ने उन्हें हल्के से ताड़ना दी क्योंकि उन्हें यह भरोसा नहीं था कि वह उनकी चिन्ता करते है। इसे एक कथन के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हारे पास विश्वास होना चाहिए!"" या ""तुम्हें मुझ पर विश्वास होना चाहिए!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

τίς ἄρα οὗτός ἐστιν…ὑπακούουσιν αὐτῷ?

यह किस तरह का व्यक्ति है... उसका पालन करते हैं? यह प्रश्न उलझन और भ्रम को व्यक्त करता है कि यीशु तूफान को नियंत्रित करने में कैसे सक्षम है। (देखें: भाषणगत प्रश्न)

τίς ἄρα οὗτός ἐστιν, ὅτι καὶ τοῖς ἀνέμοις ἐπιτάσσει…ὑπακούουσιν αὐτῷ?

इसे दो वाक्यों में लिखा जा सकता है: ""तब यह कौन है? वह आदेश देता है ... उसका पालन करते हैं!

Luke 8:26

यीशु और उसके चेले गिरासेनिया में आते हैं जहाँ यीशु एक व्यक्ति में से कई दुष्टात्माओं को निकाल देता है।

τὴν χώραν τῶν Γερασηνῶν

गिरासेनी गिरासेनिया नामक शहर के लोग थे। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

ἀντιπέρα τῆς Γαλιλαίας

गलील की झील का दूसरा किनारा

Luke 8:27

ἀνήρ τις ἐκ τῆς πόλεως

गिरासेनी शहर का एक व्यक्ति

ἀνήρ τις ἐκ τῆς πόλεως ἔχων δαιμόνια

यह शहर नहीं था जिसमें दुष्टात्माएँ थी बस उस व्यक्ति में दुष्टात्माएँ थीं। वैकल्पिक अनुवाद: ""शहर का एक निश्चित व्यक्ति, और इस व्यक्ति में दुष्टात्माए थीं

ἔχων δαιμόνια

जो दुष्टात्माओं के द्वारा नियन्त्रित था या ""जिसे दुष्टात्माओं ने नियन्त्रित किया हुआ था

καὶ χρόνῳ ἱκανῷ οὐκ ἐνεδύσατο ἱμάτιον…ἀλλ’ ἐν τοῖς μνήμασιν

यह दुष्टात्माओं से ग्रसित व्यक्ति की पृष्ठभूमि के बारे में जानकारी है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

οὐκ ἐνεδύσατο ἱμάτιον

उसने कपड़े नहीं पहने थे

τοῖς μνήμασιν

ये वे स्थान हैं जहां लोग मृतक शरीरों को रखते थे, सम्भवतः गुफाएँ या छोटे भवन जिन्हें लोग आश्रय के लिए उपयोग कर सकते थे।

Luke 8:28

ἰδὼν…τὸν Ἰησοῦν

जब उस व्यक्ति जिसमें दुष्टात्मा थी उसको यीशु ने देखा

ἀνακράξας

वह चिल्लाया या ""वह चीखें मारने लगा

προσέπεσεν αὐτῷ

यीशु के सामने भूमि पर गिर गया। वह गलती से नहीं गिरा था। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

φωνῇ μεγάλῃ εἶπεν

उसने ऊँची आवाज में कहा या ""वह चिल्लाया

τί ἐμοὶ καὶ σοί

इस मुहावरे का अर्थ है ""तू मुझे परेशान क्यों कर रहा है?"" (देखें: मुहावरे)

Υἱὲ τοῦ Θεοῦ τοῦ Ὑψίστου

यह यीशु के लिए एक महत्वपूर्ण पदवी है। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

Luke 8:29

πολλοῖς…χρόνοις συνηρπάκει αὐτόν

कई बार उसने उस व्यक्ति को अपने नियन्त्रण में लिया था या ""कई बार वह उसके भीतर गया था।"" यीशु के उस मनुष्य से मिलने से पहले दुष्टात्मा ने कई बार क्या किया था, यह उसे बताता है।

καὶ ἐδεσμεύετο…φυλασσόμενος

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यद्यपि लोगों ने उसे जंजीरों और बेड़ियों से बाँधा था और उसकी रक्षा करते थे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἠλαύνετο ὑπὸ τοῦ δαιμονίου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""दुष्टात्मा ने उसे जाने दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 8:30

λεγεών

इसे एक ऐसे शब्द के साथ अनुवाद करें जो बड़ी संख्या में सैनिकों या लोगों को दर्शाता है। कुछ अन्य अनुवाद कहते हैं ""सेना।"" वैकल्पिक अनुवाद: ""बटालियन"" या ""ब्रिगेड

Luke 8:31

παρεκάλουν αὐτὸν

निरन्तर विनती करता रहा

Luke 8:32

ἦν δὲ ἐκεῖ ἀγέλη χοίρων ἱκανῶν βοσκομένη ἐν τῷ ὄρει

यह सूअरों को परिचित कराने के लिए पृष्ठभूमि की जानकारी के रूप में दिया गया है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

ἦν…ἐκεῖ…βοσκομένη ἐν τῷ ὄρει

एक पहाड़ी पर घास चर रही थीं

Luke 8:33

ἐξελθόντα δὲ τὰ δαιμόνια

शब्द ""अत:"" का प्रयोग यह समझाने के लिए किया गया है कि दुष्टात्माएँ उस व्यक्ति में से इसलिए बाहर आ गई थीं क्योंकि यीशु ने उन्हें कहा था कि वे सूअरों में जा सकती हैं।

ὥρμησεν

शब्द बड़ी तेजी से

ἡ ἀγέλη…ἀπεπνίγη

झुण्ड ... डूब गया। पानी में जाने के पश्चात् कोई भी सूअरों की डूबने का कारण नहीं बना।

Luke 8:35

εὗραν…τὸν ἄνθρωπον, ἀφ’ οὗ τὰ δαιμόνια ἐξῆλθεν

उस व्यक्ति को देखा जिसमें से दुष्टात्माएँ निकल गई थीं

σωφρονοῦντα

सचेत या ""सामान्य रूप से व्यवहार करना

καθήμενον…παρὰ τοὺς πόδας τοῦ Ἰησοῦ

यहाँ पैरों के पास बैठे एक मुहावरे का अर्थ ""नम्रता से बैठने"" या ""सामने बैठने"" से है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु के सामने भूमि पर बैठे रहना"" (देखें: मुहावरे)

ἐφοβήθησαν

स्पष्ट रूप से यह बताने में सहायक हो सकता है कि वे यीशु से डरते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे यीशु से डरते थे"" (देखें: पदन्यूनता)

Luke 8:36

οἱ ἰδόντες

जो लोग देख चुके थे कि क्या घटित हुआ था

ἐσώθη ὁ δαιμονισθείς

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु ने उस मनुष्य को ठीक किया था जिसमे दुष्टात्माएँ थीं"" या ""यीशु ने उस व्यक्ति को ठीक किया था जिसे दुष्टात्माओं के द्वारा नियन्त्रित किया जा रहा था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 8:37

τῆς περιχώρου τῶν Γερασηνῶν

गिरासेनियों का वह क्षेत्र या ""वह क्षेत्र जहाँ गिरासेनीं लोग रहते थे

φόβῳ μεγάλῳ συνείχοντο

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे बहुत डर गए"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ὑπέστρεψεν

गंतव्य कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""झील के पार वापस चले जाओ"" (देखें: पदन्यूनता)

Luke 8:38

ὁ ἀνὴρ

यीशु के नाव में जाने से पहले इन वचनों में दी हुई घटनाएँ घटित हुईं। यह आरम्भ में ही स्पष्ट रूप से यह बताने में सहायक हो सकती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु और उसके चेलों के जाने से पहले, व्यक्ति"" या ""यीशु और उसके चेलों के नाव में चढ़ने से पहले, व्यक्ति

Luke 8:39

τὸν οἶκόν σου

तुम्हारा घर या ""तेरा परिवार

διηγοῦ ὅσα σοι ἐποίησεν ὁ Θεός

परमेश्वर ने आपके लिए जो कुछ किया है, उसके बारे में सब कुछ बताओ

Luke 8:40

ये पद याईर की पृष्ठभूमि के बारे में जानकारी देते हैं। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

जब यीशु और उसके चेले झील के दूसरी ओर गलील लौट आएं, तो वह सभागृह या आराधनालय के सरदार की 12 वर्षीय बेटी के साथ-साथ एक स्त्री जिसका लहू 12 वर्षों से बह रहा है, ठीक करता है।

ἀπεδέξατο αὐτὸν ὁ ὄχλος

भीड़ ने बड़ी प्रसन्नता के साथ उसका अभिवादन किया

Luke 8:41

ἄρχων τῆς συναγωγῆς

स्थानीय सभागृह के अगुवों में से एक या ""उस शहर के सभागृह में मिलने वाले लोगों का एक अगुवा

πεσὼν παρὰ τοὺς πόδας Ἰησοῦ

सम्भावित अर्थ 1) ""यीशु के पैरों पर झुका हुआ"" या 2) ""यीशु के चरणों के सामने भूमि पर लेट जाना।"" याईर गलती से नहीं गिरा था। उसने ऐसा यीशु के प्रति विनम्रता और सम्मान के संकेत स्वरूप किया। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

Luke 8:42

ἀπέθνῃσκεν

मरने वाला था

ἐν…τῷ ὑπάγειν αὐτὸν

कुछ अनुवादकों को पहले यह कहना होगा कि यीशु याईर के साथ जाने के लिए सहमत हो गया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस कारण यीशु उसके साथ जाने के लिए तैयार हो गया। जब वह जा रहा था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

οἱ ὄχλοι συνέπνιγον αὐτόν

लोग यीशु के चारों ओर बडी भीड़ के रूप में थे

Luke 8:43

γυνὴ οὖσα

यह कहानी में एक नए चरित्र को प्रस्तुत करती है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἐν ῥύσει αἵματος

लहू का नया प्रवाह आ गया। कदाचित् उसके गर्भ से लहू बह रहा था, यद्यपि ऐसा होने के लिए यह सामान्य समय नहीं था। कुछ संस्कृतियों में इस अवस्था का वर्णित करने का एक सभ्य तरीका हो सकता है। (देखें: शिष्टोक्ति)

οὐκ ἴσχυσεν ἀπ’ οὐδενὸς θεραπευθῆναι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु कोई भी उसे ठीक नहीं कर सकता था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 8:44

ἥψατο τοῦ κρασπέδου τοῦ ἱματίου αὐτοῦ

उसके वस्त्र के छोर को स्पर्श किया। परमेश्वर की व्यवस्था में दिए हुए आदेशानुसार यहूदी पुरुष अपने अपने वस्त्रों के किनारों पर लटकन को अनुष्ठानिक रूप से औपचारिकता को पूरा करने के लिए पहनते थे। इसकी सम्भावना अधिक है उसने क्या स्पर्श किया था।

Luke 8:45

οἱ ὄχλοι…ἀποθλίβουσιν

ऐसा कहने से, पतरस का अर्थ यह था कि कोई भी यीशु को स्पर्श कर सकता था। यदि आवश्यक हो तो यह निहित जानकारी स्पष्ट की जा सकती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तेरे चारो ओर भीड़ और तुझे दबाने के लिए बहुत से लोग यहाँ हैं, इसलिए उनमें से किसी ने तुझे स्पर्श किया होगा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 8:46

ἥψατό μού τις

भीड़ के आकस्मिक स्पर्श से इसे जानबूझकर किए जाने वाले ""स्पर्श"" को पृथक करना सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""किसी ने जानबूझकर मुझे स्पर्श किया है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐγὼ…ἔγνων δύναμιν ἐξεληλυθυῖαν ἀπ’ ἐμοῦ

यीशु ने अपनी सामर्थ्य को नहीं खोया या वह कमजोर नहीं हुआ, परन्तु उसकी सामर्थ्य ने ही स्त्री को ठीक किया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझे पता है कि चंगा करने की सामर्थ्य मुझ से निकल गई है"" या ""मैने महूसस किया है कि मेरी सामर्थ्य ने किसी को ठीक किया है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 8:47

ὅτι οὐκ ἔλαθεν

कि वह गुप्त नहीं रख सकी जो कुछ उसने किया था। यह बताने में सहायक हो सकता है कि उसने क्या किया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि वह इसे एक रहस्य के रूप में गुप्त नहीं रख सकी कि यह वही थी जिसने यीशु को स्पर्श किया था"" (देखें: पदन्यूनता)

τρέμουσα ἦλθεν

वह डर से कांप रही थी

προσπεσοῦσα αὐτῷ

सम्भावित अर्थ 1) ""यीशु के सामने झुक कर दण्डवत् किया"" या 2) ""यीशु के चरणों पर भूमि पर लेट गई।"" वह गलती से नहीं गिरी थी। यह यीशु के लिए नम्रता और सम्मान का संकेत था।

ἐνώπιον παντὸς τοῦ λαοῦ

सभी लोगों की दृष्टि में

Luke 8:48

θύγατερ

यह एक स्त्री के साथ बात करने की दया से भरा हुआ एक तरीका था। आपकी भाषा में इस तरह की दयालुता को दिखाने का दूसरा तरीका हो सकता है।

ἡ πίστις σου σέσωκέν σε

तेरे विश्वास के कारण, तू ठीक हो गई है। भाववाचक संज्ञा ""विश्वास"" को एक क्रिया के रूप में वर्णित किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि तू विश्वास करती है, तू ठीक हो गई है"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

πορεύου εἰς εἰρήνην

यह मुहावरे ""जाने"" के लिए कहने का एक तरीका है और उसी समय में आशीष देना है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब तू जाती है, तो अब और अधिक चिन्ता न कर"" या ""जब तू जाती हैं तो परमेश्वर तुझे शान्ति दे"" (देखें: मुहावरे)

Luke 8:49

ἔτι αὐτοῦ λαλοῦντος

जबकि यीशु अभी स्त्री से बात कर ही रहे थे

τοῦ ἀρχισυναγώγου

यह याईर को दर्शाता है ([लूका 8:41] (../ 08 / 41.md))।

μηκέτι σκύλλε τὸν διδάσκαλον

इस कथन का तात्पर्य है कि यीशु अब और अधिक कुछ सहायता नहीं कर सकते थे क्योंकि वह लड़की मर चुकी थी। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

τὸν διδάσκαλον

यह यीशु को दर्शाता है।

Luke 8:50

σωθήσεται

वह ठीक हो जाएगी या ""वह फिर से जीएगी

Luke 8:51

ἐλθὼν δὲ εἰς τὴν οἰκίαν

जब वे उसके घर आए। यीशु वहाँ याईर के साथ गया। इसके अतिरिक्त यीशु के कुछ चेले उसके साथ गए।

οὐκ ἀφῆκεν…τινα…εἰ μὴ Πέτρον, καὶ Ἰωάννην, καὶ Ἰάκωβον, καὶ τὸν πατέρα τῆς παιδὸς, καὶ τὴν μητέρα

इसे सकारात्मक रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु ने केवल पतरस, यूहन्ना, याकूब और लड़की के पिता और मां को अपने साथ आने की अनुमति दी

τὸν πατέρα τῆς παιδὸς

यह यूहन्ना को दर्शाता है।

Luke 8:52

ἔκλαιον…πάντες καὶ ἐκόπτοντο αὐτήν

यह उस संस्कृति में दुःख को दिखाने के लिए एक सामान्य तरीका था। वैकल्पिक अनुवाद: ""सभी लोग वहाँ यह दिखा रहे थे कि वे कितने दुखी थे और जोर से रो रहे थे क्योंकि लड़की की मृत्यु हो गई थी"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 8:53

κατεγέλων αὐτοῦ, εἰδότες ὅτι ἀπέθανεν

उस पर हँसे क्योंकि वे लड़की को जानते थे

Luke 8:54

αὐτὸς…κρατήσας τῆς χειρὸς αὐτῆς

यीशु ने लड़की के हाथ को पकड़ लिया

Luke 8:55

ἐπέστρεψεν τὸ πνεῦμα αὐτῆς

उसकी आत्मा उसके शरीर में लौट आई। यहूदियों ने समझा कि जीवन एक व्यक्ति में आने वाली आत्मा का परिणाम था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने फिर से सांस लेने आरम्भ कर दिया"" या ""उसमें वापस जीवन आ गया"" या ""वह फिर से जीवित हो गई"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 8:56

μηδενὶ εἰπεῖν

यह भिन्न तरीके से भी कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""किसी को न बताना

Luke 9

लूका 09 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

""परमेश्वर के राज्य का प्रचार करने के लिए""

कोई भी यह सुनिश्चित रूप से नहीं जानता कि शब्द ""परमेश्वर के राज्य"" का क्या अर्थ है। कुछ कहते हैं कि यह पृथ्वी पर परमेश्वर के शासन को दर्शाता है, और अन्य कहते हैं कि यह सुसमाचार के सन्देश को दर्शाता है कि यीशु अपने लोगों के पापों की अदायगी के लिए मरा था। इसे ""परमेश्वर के राज्य के बारे में प्रचार करने"" या ""उन्हें शिक्षा देने के लिए सबसे अच्छा है कि परमेश्वर स्वयं को राजा के रूप में कैसे दिखाएगा।"" (देखें: रूपक)

एलिय्याह

परमेश्वर ने यहूदियों से प्रतिज्ञा की थी कि मसीह के आने से पहले एलिय्याह वापस आ जाएगा, इसलिए कुछ लोग जिन्होंने यीशु के आश्चर्यकर्मों को देखाथा, यह सोचा कि यीशु एलिय्याह था ([लूका 9: 9] (../../luk/09/09.md), लूका 9:19)। यद्यपि, एलिय्याह यीशु के साथ बात करने के लिए पृथ्वी पर आया ([लूका 9:30] (../../ luk / 09 / 30.md))। (देखें: भविष्यद्वक्ता, भविष्यवाणी, भविष्यद्वाणी, द्रष्टा, भविष्यद्वक्तिन और मसीह, मसीहा और एलिय्याह))

""परमेश्वर का राज्य""

इस अध्याय में शब्द ""परमेश्वर का राज्य"" का प्रयोग ऐसे राज्य को सन्दर्भित करने के लिए किया जाता है जो भविष्य में आने वाला जबकि उसके लिए अभी बोला जा रहा था। (देखें: परमेश्‍वर का राज्य, स्वर्ग का राज्य)

महिमा

पवित्रशास्त्र अक्सर परमेश्वर की महिमा के बारे में एक महान, चमकीले प्रकाश के रूप में बोलता है। जब लोग इस प्रकाश को देखते हैं, तो वे डर जाते हैं। लूका इस अध्याय में कहता है कि यीशु के कपड़े इस चमकीले प्रकाश के कारण चमक गए ताकि उसके अनुयायी देख सकें कि यीशु वास्तव में ईश्वर का पुत्र था। उसी समय, परमेश्वर ने उनसे कहा कि यीशु उसका पुत्र था। (देखें: महिमा, महिमामय, गौरव और डर, भय, भयभीत, डरना)

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

विरोधाभास

एक विरोधाभास एक ऐसा सच्चा कथन है जो किसी असम्भव बात का वर्णन करने का आभास देता है। इस अध्याय में एक उदाहरण यह है: ""क्योंकि जो कोई अपना प्राण बचाना चाहेगा वह उसे खोएगा, परन्तु जो कोई मेरे लिये अपना प्राण खोएगा वही उसे बचाएगा।"" ([लूका 9:24] (../../ luk / 09 / 24.md))

""मनुष्य का पुत्र""

इस अध्याय में यीशु स्वयं को ""मनुष्य के पुत्र"" के रूप में सन्दर्भित करता है ([लूका 9:22] (../../ luk / 09 / 22.md))। आपकी भाषा लोगों को स्वयं के लिए ऐसे बात करने की अनुमति न दे जैसे कि वे किसी और के बारे में बात कर रहे थे। (देखें: मनुष्य का पुत्र, मनुष्य का पुत्र और प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

""प्राप्त करना""

यह शब्द इस अध्याय में कई बार प्रकट होता है और इसका अर्थ है विभिन्न बातों से है। जब यीशु कहता है, ""जो कोई मेरे नाम से इस बालक को ग्रहण करता है, वह मुझे ग्रहण करता है; और जो कोई मुझे ग्रहण करता है, वह मेरे भेजनेवाले को ग्रहण करता है, क्योंकि जो तुम में सबसे छोटे से छोटा है, वही बड़ा है।"" (लूका 9:48), वह बच्चे की सेवा करने वाले लोगों की बात कर रहा है। जब लूका कहता है, ""उन लोगों ने उसे उतरने न दिया"" ([लूका 9:53] (../../ luk / 09 / 53.md)), उसका अर्थ है कि लोग यीशु पर विश्वास नहीं करते या उसे स्वीकार नहीं करते थे । (देखें: विश्वास करना, विश्वासी, विश्वास, अविश्वासी, अविश्वास)

Luke 9:1

यीशु अपने चेलों को स्मरण दिलाता है कि वे धन और उस पर आधारित वस्तुओं के ऊपर निर्भर न हों, जो उन्हें सामर्थ्य देती हैं, और फिर वह उन्हें विभिन्न स्थानों पर भेज देता है।

δύναμιν καὶ ἐξουσίαν

इन दो शब्दों का एक साथ उपयोग यह दिखाने के लिए किया जाता है कि बारहों के पास लोगों को ठीक करने की क्षमता और अधिकार दोनों ही थे। इस वाक्यांश को उन शब्दों के संयोजन के साथ अनुवाद करें जिनमें इन दोनों विचारों को सम्मिलित किया गया है।

πάντα τὰ δαιμόνια

सम्भावित अर्थ 1) ""प्रत्येक दुष्टात्मा"" या 2) ""हर प्रकार की दुष्टात्मा।

νόσους

बिमारी

Luke 9:2

ἀπέστειλεν αὐτοὺς

उन्हें विभिन्न स्थानों पर भेज दिया या ""उन्हें जाने के लिए कहा

Luke 9:3

καὶ εἶπεν πρὸς αὐτούς

यीशु ने बारहों से कहा। यह बताने में सहायक हो सकता है कि यह उनके बाहर जाने से पहले घटित हुआ था। वैकल्पिक अनुवाद: ""इससे पहले कि वे जाए, यीशु ने उनसे कहा

μηδὲν αἴρετε

अपने साथ कुछ भी मत लें या ""अपने साथ कुछ भी नहीं लाओ

ῥάβδον

बड़ी छड़ी जिसे लोग ऊपर चढ़ने या चलते समय सन्तुलन बनाए रखने, साथ ही साथ आक्रमणकारियों से अपनी रक्षा के लिए भी उपयोग करते हैं

πήραν

यात्री अपनी यात्रा के लिए आवश्यक वस्तुओं को ले जाने के लिए उपयोग करता है

ἄρτον

यहाँ यह ""भोजन"" के लिए सामान्य सन्दर्भ के रूप में प्रयोग किया जाता है।

Luke 9:4

καὶ εἰς ἣν ἂν οἰκίαν εἰσέλθητε

जिस किसी घर में जाओ

ἐκεῖ μένετε

वहाँ रहो या ""अस्थायी रूप से उस घर में अतिथि के रूप में रहो

καὶ…ἐξέρχεσθε

तब तक जब तुम उस शहर को न छोड़ दो या ""जब तक तुम उस स्थान को न छोड़ा

Luke 9:5

καὶ ὅσοι ἂν μὴ δέχωνται ὑμᾶς, ἐξερχόμενοι

तुम यह करो जब तुम किसी ऐसे शहर में जाओ जहाँ लोग तुम्हें स्वीकार न करें: जब तुम वह स्थान छोड़ो

τὸν κονιορτὸν ἀπὸ τῶν ποδῶν ὑμῶν ἀποτινάσσετε, εἰς μαρτύριον ἐπ’ αὐτούς

अपने पैरों से धूल को झाड़ दो"" उस संस्कृति में दृढ़ अस्वीकृति की अभिव्यक्ति थी। यह दिखाता है कि वे उस शहर की धूल भी अपने ऊपर बने रहने की इच्छा नहीं रखना चाहते थे। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

Luke 9:6

ἐξερχόμενοι

उन्होंने वह स्थान छोड़ दिया जहाँ यीशु था

θεραπεύοντες πανταχοῦ

जहाँ कहीं गए उन्होंने चंगा किया

Luke 9:7

हेरोदेस के बारे में जानकारी देने के लिए ये पद हस्ताक्षेप करते हैं।

δὲ Ἡρῴδης

यह वाक्यांश मुख्य कहानी में एक रूकावट के आने को चिह्नित करता है। यहाँ लूका हेरोदेस की पृष्ठभूमि के बारे में जानकारी देता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

Ἡρῴδης ὁ τετράρχης

यह हेरोदेस अन्तिपास को सन्दर्भित करता है, जो इस्राएल के चौथाई हिस्से का शासक था।

διηπόρει

समझने में असमर्थ, उलझन में आ गया

τὸ λέγεσθαι ὑπό τινων

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कुछ लोगों ने कहा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 9:8

ἄλλων δὲ, ὅτι προφήτης τις τῶν ἀρχαίων ἀνέστη

शब्द ""कहा"" पिछले वाक्यांश से समझा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अभी भी अन्य लोगों ने कहा है कि पहले के भविष्यवक्ताओं में से एक जी उठा था"" (देखें: पदन्यूनता)

Luke 9:9

Ἰωάννην ἐγὼ ἀπεκεφάλισα, τίς δέ ἐστιν οὗτος

हेरोदेस मानता था कि यूहन्ना के लिए मृतकों से जी उठना असम्भव है। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह यूहन्ना नहीं हो सकता क्योंकि मैंने उसका सिर काट दिया था। तो यह व्यक्ति कौन है ""(देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Ἰωάννην ἐγὼ ἀπεκεφάλισα

हेरोदेस के सैनिकों ने मारने के कार्य को पूरा किया होगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैंने अपने सैनिकों को यूहन्ना के सिर को काटने का आदेश दिया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 9:10

यद्यपि चेले यीशु के पास वापस आते हैं और वे एक साथ समय बिताने के लिए बेतसैदा जाते हैं, भीड़ यीशु के चंगाई पाने के लिए और उसकी शिक्षा को सुनने के लिए उसका अनुसरण करती है। जब वे घर लौटते हैं तो भीड़ को रोटी और मछली प्रदान करने के लिए वह एक आश्चर्यकर्म करता है।

καὶ ὑποστρέψαντες, οἱ ἀπόστολοι

प्रेरित यीशु के पास वहाँ वापस आए जहाँ वह था

ὅσα ἐποίησαν

यह उन शिक्षाओं और चंगाईयों को दर्शाता है जो उसने अन्य शहरों में जाने के समय किए थे।

Βηθσαϊδά

यह एक शहर का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Luke 9:12

ἡ δὲ ἡμέρα ἤρξατο κλίνειν

दिन खत्म होने वाला था या यह दिन के अन्त में था

Luke 9:13

ἄρτοι πέντε

रोटी का एक टुकड़ा आटे का एक टुकड़ा होता है जिसे आकार दिया और जो पका हुआ होता है।

ἰχθύες δύο, εἰ μήτι πορευθέντες, ἡμεῖς ἀγοράσωμεν εἰς πάντα τὸν λαὸν τοῦτον βρώματα

यदि आपकी भाषा में ""यदि हम"" को समझना मुश्किल नहीं है, तो आप एक नए वाक्य बना सकते हैं। ""दो मछलियाँ। इन सभी लोगों को खिलाने के लिए, हमें जाना होगा और भोजन खरीदना होगा

Luke 9:14

ὡσεὶ ἄνδρες πεντακισχίλιοι

लगभग 5,000 पुरुष इस सँख्या में महिलाएँ और बच्चे सम्मिलित नहीं हैं जो वहाँ उपस्थित हो सकते हैं। (देखें: संख्याएँ)

κατακλίνατε αὐτοὺς

उन्हें बैठने के लिए कहो

ἀνὰ πεντήκοντα

50 की पाँति बाँधते हुए (देखें: संख्याएँ)

Luke 9:15

καὶ ἐποίησαν οὕτως

यह उन लोगों को दर्शाता है जिन्हें यीशु ने कुछ करने के लिए कहा था [लूका 9:14] (../ 09 / 14.md)। उसने लोगों को लगभग पचास-पचास लोगों के समूहों में बैठाने के लिए कहा।

Luke 9:16

λαβὼν δὲ τοὺς πέντε ἄρτους

यीशु ने पाँच रोटी ली

ἀναβλέψας εἰς τὸν οὐρανὸν

यह आकाश की ओर देखने को दर्शाता है। यहूदियों का मानना था कि स्वर्ग आकाश से ऊपर स्थित था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

εὐλόγησεν αὐτοὺς

यह रोटी और मछली की रोटी को सन्दर्भित करता है।

παραθεῖναι

उन्हें देने या ""देने के लिए

Luke 9:17

ἐχορτάσθησαν

इस मुहावरे का अर्थ है कि उन्होंने पर्याप्त भोजन खा लिया था इसलिए वे भूखे न थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""उनके पास उतना ही था जितना वे खाना चाहते थे"" (देखें: मुहावरे)

Luke 9:18

यीशु प्रार्थना कर रहा है, केवल उसके चेले ही उसके पास है, और वे इस बारे में बात करना आरम्भ करते हैं कि यीशु कौन है। यीशु ने उन्हें बताया कि वह शीघ्र ही मर जाएगा और उसका पुनरुत्थान होगा और वह उनसे उसके पीछे चलने का आग्रह करता है, चाहे ऐसा करना मुश्किल क्यों न हो जाए।

καὶ ἐγένετο

इस वाक्यांश का उपयोग किसी नई घटना के आरम्भ को चिह्नित करने के लिए किया गया है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

προσευχόμενον κατὰ μόνας

अकेले प्रार्थना करना। चेले यीशु के साथ थे, परन्तु वह स्वयं व्यक्तिगत् और गुप्त रीति से प्रार्थना कर रहा था।

Luke 9:19

Ἰωάννην τὸν Βαπτιστήν

यहां प्रश्न के भाग को पुन: कहना सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कुछ कहते हैं कि तू यूहन्ना बपतिस्मा देने वाला है"" (देखें: पदन्यूनता)

ὅτι προφήτης τις τῶν ἀρχαίων ἀνέστη

यह स्पष्ट करना सहायक हो सकता है कि यह उत्तर यीशु के प्रश्न से कैसे सम्बन्धित है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि तू पहले से ही भविष्यद्वक्ताओं में से एक हैं और जी उठा हैं"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἀνέστη

पुन: जी उठा है

Luke 9:20

εἶπεν δὲ αὐτοῖς

तब यीशु ने अपने चेलों से कहा

Luke 9:21

αὐτοῖς…μηδενὶ λέγειν τοῦτο

किसी को नहीं बताना या ""उन्हें किसी को नहीं बताना चाहिए।"" इसे प्रत्यक्ष उद्धरण के रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: उन्हें, ""किसी को न बताओ।"" ""(देखें: प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष उद्धरण)

Luke 9:22

δεῖ τὸν Υἱὸν τοῦ Ἀνθρώπου πολλὰ παθεῖν

लोग मनुष्य के पुत्र को बहुत पीड़ा देगें

τὸν Υἱὸν τοῦ Ἀνθρώπου…καὶ ἀποκτανθῆναι

यीशु स्वयं के विषय बना कर रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं, मनुष्य का पुत्र ... और मैं करूँगा"" (देखें: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

ἀποδοκιμασθῆναι ἀπὸ τῶν πρεσβυτέρων, καὶ ἀρχιερέων, καὶ γραμματέων

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्राचीन, महापुरोहित, और शास्त्री उसे अस्वीकार कर देंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἀποκτανθῆναι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे उसे मार देंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τῇ τρίτῃ ἡμέρᾳ

मरने के तीन दिन पश्चात् या ""उसकी मृत्यु के तीन दिनों के पश्चात्"" (देखें: क्रमसूचक संख्याएँ)

ἐγερθῆναι

वह ... फिर से जीवित किया जाएगा। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर... उसे फिर से जीवित कर देगा"" या ""वह ... फिर से जीएगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 9:23

ἔλεγεν

यीशु ने कहा

πρὸς πάντας

यह उन चेलों को सन्दर्भित करता है जो यीशु के साथ थे।

ὀπίσω μου ἔρχεσθαι

मेरे पीछे हो ले। यीशु के पीछे आना उसके चेलों में से एक होने का प्रतिनिधित्व करना है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरा चेले बनो"" या ""मेरे चेलों में से एक बनो"" (देखें: रूपक)

ἀρνησάσθω ἑαυτὸν

अपनी इच्छाओं के अधीन न हो या ""अपनी इच्छाओं को त्याग देना चाहिए

ἀράτω τὸν σταυρὸν αὐτοῦ καθ’ ἡμέραν, καὶ ἀκολουθείτω μοι

अपना क्रूस उठा और प्रति दिन मेरा अनुसरण करे। क्रूस दुख और मृत्यु का प्रतिनिधित्व करता है। क्रूस उठाना दुख और मरने के लिए तैयार होने का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""हर दिन मुझे दुख और मरने के बिन्दु तक उसकी आज्ञा का पालन करना चाहिए"" (देखें: लक्षणालंकार और रूपक)

ἀκολουθείτω μοι

यीशु के पीछे चलना यहाँ उसकी आज्ञा का पालन करने का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरी आज्ञा का पालन कर"" (देखें: रूपक)

ἀκολουθείτω μοι

मेरे साथ आओ या ""मेरे पीछे चलना आरम्भ करो और मेरे पीछे चलते रहो

Luke 9:25

τί γὰρ ὠφελεῖται ἄνθρωπος…ἑαυτὸν δὲ ἀπολέσας ἢ ζημιωθείς?

इस प्रश्न का निहित उत्तर यह है कि यह अच्छा नहीं है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि मनुष्य सारे जगत को प्राप्त करे, और अपने प्राण को ही खो दे, तो उसे क्या लाभ होगा।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

κερδήσας τὸν κόσμον ὅλον

संसार का सब कुछ प्राप्त करना

ἑαυτὸν…ἀπολέσας ἢ ζημιωθείς

स्वयं को उजाड़ दे या स्वयं की जीवन की आशा को खो दे

Luke 9:26

τοὺς ἐμοὺς λόγους

मैं जो कहता हूँ या ""मैं जो शिक्षा देता हूँ

τοῦτον ὁ Υἱὸς τοῦ Ἀνθρώπου ἐπαισχυνθήσεται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मनुष्य का पुत्र भी उससे लजाएगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ὁ Υἱὸς τοῦ Ἀνθρώπου…ὅταν ἔλθῃ

यीशु स्वयं के बारे में बात कर रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं, मनुष्य का पुत्र ... जब मैं आउँगा"" (देखें: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

τοῦ Πατρὸς

यह परमेश्वर के लिए एक महत्वपूर्ण पदवी है। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

Luke 9:27

λέγω δὲ ὑμῖν ἀληθῶς

यीशु इस वाक्यांश का उपयोग इस बात पर जोर देने के लिए करता है कि वह आगे क्या कहेगा।

εἰσίν τινες…ἑστηκότων, οἳ οὐ μὴ γεύσωνται θανάτου

तुम में से कुछ जो यहाँ खड़े हैं, वे मौत का स्वाद नहीं चखेगें

ἕως ἂν ἴδωσιν

यीशु उन लोगों से बात कर रहा था जिनके बारे में वह बोल रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""इससे पहले कि तुम देखो"" (देखें: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

οὐ μὴ γεύσωνται θανάτου, ἕως ἂν ἴδωσιν τὴν Βασιλείαν τοῦ Θεοῦ

जब ... तक"" के साथ यह विचार इससे ""पहले"" के साथ सकारात्मक रूप से व्यक्त किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उनके मरने से पहले वे परमेश्वर के राज्य को देखेंगे"" या ""तेरे मरने से पहले तू परमेश्वर के राज्य को देखेगा

γεύσωνται θανάτου

इस मुहावरे का अर्थ है ""मरना"" (देखें: मुहावरे)

Luke 9:28

आठ दिनों के पश्चात् यीशु अपने चेलों से कहता है कि कुछ लोग परमेश्वर के राज्य को देखे बिना नहीं मरेंगे, यीशु पतरस, याकूब और यूहन्ना के साथ प्रार्थना करने के लिए पहाड़ पर चढ़ता है, जहाँ सब सो जाते हैं जबकि यीशु एक चकाचौंध कर देने वाले रूपान्तरण में परिवर्तित हो जाता है।

τοὺς λόγους τούτους

यह दर्शाता है कि यीशु ने पिछले पदों में अपने चेलों से क्या कहा था।

Luke 9:30

ἰδοὺ

शब्द तब या ""देखो"" यहाँ हमें आश्चर्यजनक जानकारी पर ध्यान देने के लिए सचेत करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अचानक से

Luke 9:31

οἳ ὀφθέντες ἐν δόξῃ

यह वाक्यांश जानकारी देता है कि मूसा और एलिय्याह ने क्या देखा था। कुछ भाषाएँ इसे एक पृथक खण्ड के रूप में अनुवादित करती हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""और वे भव्य महिमा में दिखाई दिए"" या ""और वे चकाचौंध कर देने वाली चमक के साथ थे"" (देखें: सूचना देने बनाम याद दिलाने वाले शब्दों में अंतर करना)

τὴν ἔξοδον αὐτοῦ

उसका छोड़ना या ""यीशु कैसे इस संसार को छोड़ेगा।"" यह उसकी मृत्यु के बारे में बात करने का एक विनम्र तरीका था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसकी मृत्यु"" (देखें: शिष्टोक्ति)

Luke 9:32

δὲ

इस शब्द का उपयोग मुख्य कहानी में रूकावट को चिह्नित करने के लिए यहाँ किया गया है। लूका यहाँ पतरस, याकूब और यूहन्ना के बारे में जानकारी देता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

βεβαρημένοι ὕπνῳ

इस मुहावरे का अर्थ ""बहुत नींद"" आने से है।

εἶδον τὴν δόξαν αὐτοῦ

यह उस प्रकाश को सन्दर्भित करता है जो उन्हें चारो ओर से घेरे हुए है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने यीशु से उज्जवल प्रकाश को आते हुए देखा"" या ""उन्होंने यीशु से बहुत अधिक उज्ज्वल प्रकाश को आते हुए देखा

τοὺς δύο ἄνδρας τοὺς συνεστῶτας αὐτῷ

यह मूसा और एलियाह को सन्दर्भित करता है।

Luke 9:33

ἐν τῷ διαχωρίζεσθαι αὐτοὺς

जब मूसा और एलिय्याह जा रहे थे

σκηνὰς

सरल, अस्थायी स्थान जिनमें बैठ जाना या सोया जाता है

Luke 9:34

ταῦτα δὲ αὐτοῦ λέγοντος

जब पतरस इन बातों को कह रहा था

ἐφοβήθησαν

ये वयस्क चेले बादलों से नहीं डरते थे। यह वाक्यांश इंगित करता है कि बादल के साथ उन के ऊपर असामान्य भय छा गया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे डर गए थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

εἰσελθεῖν αὐτοὺς εἰς τὴν νεφέλην

बादल ने जो कुछ किया उसके सन्दर्भ में यह व्यक्त किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""बादल ने उन्हें घेर लिया था

Luke 9:35

καὶ φωνὴ ἐγένετο ἐκ τῆς νεφέλης

ऐसा समझा जाता है कि आवाज केवल परमेश्वर से ही सम्बन्धित हो सकती थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने बादल में से उनसे बात की"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ὁ Υἱός

यह परमेश्वर के पुत्र यीशु के लिए एक महत्वपूर्ण पदवी है। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

ὁ ἐκλελεγμένος

इसे क्रिया के एक सक्रिय रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिसे मैंने चुना है"" या ""मैंने उसे चुना है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 9:36

καὶ αὐτοὶ ἐσίγησαν…ὧν ἑώρακαν

यह ऐसी जानकारी है जो कहानी में घटित होने वाली घटनाओं के परिणामस्वरूप आगे की कहानी में क्या हुआ को बताती है। (देखें: कहानी का अंत)

ἐσίγησαν…οὐδενὶ ἀπήγγειλαν

पहला वाक्यांश उनकी तत्काल प्रतिक्रिया को सन्दर्भित करता है, और दूसरा यह दर्शाता है कि उन्होंने आगे के दिनों में क्या किया।

Luke 9:37

यीशु की चकाचौंध कर देने वाली उपस्थिति के अगले दिन, यीशु ने दुष्टात्मा से ग्रसित एक लड़के को ठीक किया जिसे चेले चंगा करने में असमर्थ हुए थे।

Luke 9:38

καὶ ἰδοὺ, ἀνὴρ ἀπὸ τοῦ ὄχλου

शब्द ""देख"" हमें कहानी में नए व्यक्ति के प्रति सचेत करता है। आपकी भाषा में ऐसा करने का कोई तरीका हो सकता है। अंग्रेजी ""भीड़ में एक व्यक्ति था जो"" का उपयोग करता है (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

Luke 9:39

καὶ ἰδοὺ, πνεῦμα

वाक्यांश ""और देख"" हमें मनुष्य की कहानी में दुष्ट आत्मा के बारे में बताता है। आपकी भाषा में ऐसा करने का कोई तरीका हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसमें एक बुरी आत्मा है जो"" (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

μετὰ ἀφροῦ

फेन उसके मुँह से निकलता है। जब किसी व्यक्ति को दुष्टात्मा जकड़ लेती है, तो उसे सांस लेने या निगलने में परेशानी हो सकती है। इससे सफेद फेन उनके मुँह में से निकलने का कारण बन जाती है।

Luke 9:41

ἀποκριθεὶς δὲ ὁ Ἰησοῦς εἶπεν

यीशु यह कहते हुए उत्तर देता है

ὦ γενεὰ ἄπιστος καὶ διεστραμμένη

यीशु ने यह इक्ट्ठा हुई भीड़ से कहा, और यह उसके चेलों के लिए नहीं था।

γενεὰ…διεστραμμένη

हठीले लोगों

ἕως πότε ἔσομαι πρὸς ὑμᾶς καὶ ἀνέξομαι ὑμῶν?

यहाँ शब्द ""तुम्हारा"" बहुवचन है। यीशु इन दुखों को व्यक्त करने के लिए इन प्रश्नों का उपयोग करता है कि लोग विश्वास नहीं करते थे। इन्हें कथनों के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं तुम्हारे साथ इतने लम्बे समय से हूँ, फिर भी तुम विश्वास नहीं करते। मुझे आश्चर्य है कि मुझे तुम्हें कब तक सहना होगा। ""(देखें: तुम के प्रारूप और भाषणगत प्रश्न)

προσάγαγε ὧδε τὸν υἱόν σου

यहाँ ""तुम्हारी"" एकवचन है। यीशु सीधे उस पिता से बात कर रहा है जिसने उसे सम्बोधित किया था। (देखें: तुम के प्रारूप)

Luke 9:43

ἐξεπλήσσοντο δὲ πάντες ἐπὶ τῇ μεγαλειότητι τοῦ Θεοῦ

यीशु आश्चर्यकर्म करता है, परन्तु भीड़ स्वीकार करती है कि चंगाई के पीछे परमेश्वर की सामर्थ्य ने कार्य किया है।

πᾶσιν οἷς ἐποίει

सब कुछ यीशु कर रहा था

Luke 9:44

θέσθε ὑμεῖς εἰς τὰ ὦτα ὑμῶν τοὺς λόγους τούτους

यह एक ऐसा मुहावरा है जिसका अर्थ है कि उन्हें ध्यान देना चाहिए। वैकल्पिक अनुवाद: ""ध्यान से सुनो और स्मरण रखों"" या ""इसे मत भूलना"" (देखें: मुहावरे)

ὁ γὰρ Υἱὸς τοῦ Ἀνθρώπου μέλλει παραδίδοσθαι εἰς χεῖρας ἀνθρώπων

इसे एक सक्रिय कारक के रूप में कहा जा सकता है। यहाँ ""हाथ"" सामर्थ्य या नियन्त्रण को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे मनुष्य के पुत्र को धोखा दे देंगे और उसे मनुष्यों के नियन्त्रण में डाल देंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और लक्षणालंकार)

ὁ γὰρ Υἱὸς τοῦ Ἀνθρώπου μέλλει παραδίδοσθαι εἰς χεῖρας ἀνθρώπων

यीशु तीसरे व्यक्ति में स्वयं के बारे में होने की बात कर रहा है। शब्द ""हाथ"" उन लोगों के लिए एक विरोधाभासी अंलकार है जिनके वे हाथ में हैं या उन हाथों को उपयोग करने वाली सामर्थ्य का उपनाम है। आपको यह स्पष्ट करने की आवश्यकता हो सकती है कि ये लोग कौन हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझ, मनुष्य के पुत्र को मनुष्यों के हाथों से धोखा दिया जाएगा"" या ""मनुष्य के पुत्र को अपने शुत्रुओं की सामर्थ्य से धोखा दिया जाएगा"" या ""मुझ, मनुष्य के पुत्र को मेरे शुत्रुओं द्वारा धोखा दिया जाएगा"" (देखें: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष और उपलक्षण अलंकार और लक्षणालंकार और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 9:45

καὶ ἦν παρακεκαλυμμένον ἀπ’ αὐτῶν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उनसे अर्थ को छिपा दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 9:46

चेले इस बारे में तर्क वितर्क करना आरम्भ करते हैं कि उनमें से सबसे शक्तिशाली कौन होगा।

ἐν αὐτοῖς

चेलों के बीच में से

Luke 9:47

εἰδὼς τὸν διαλογισμὸν τῆς καρδίας αὐτῶν

यहाँ ""मन"" उनके हृदय के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उनके हृदय के तर्क को जानना"" या ""यह जानना कि वे क्या सोच रहे थे"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 9:48

ἐπὶ τῷ ὀνόματί μου

यह किसी व्यक्ति के द्वारा यीशु के प्रतिनिधि के रूप में कुछ करने का सन्दर्भ देता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे कारण"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἐπὶ τῷ ὀνόματί μου, ἐμὲ δέχεται

इस रूपक को एक उपमा के रूप में भी कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे नाम में, मानो कि वह मेरा स्वागत कर रहा है"" (देखें: रूपक)

τὸν ἀποστείλαντά με

परमेश्वर जिसने मुझे भेजा

οὗτός ἐστιν μέγας

जिसको परमेश्वर सबसे महत्वपूर्ण मानता है

Luke 9:49

ἀποκριθεὶς…Ἰωάννης

उत्तर में, यूहन्ना ने कहा या ""यूहन्ना ने यीशु को उत्तर दिया।"" यूहन्ना ने सबसे बड़ा होने के बारे में जो कहा था, उसका यीशु उत्तर दे रहा था। वह एक प्रश्न का उत्तर नहीं दे रहा था।

εἴδομέν

यूहन्ना स्वयं के बारे में बोलता है परन्तु यीशु नहीं, इसलिए ""हमने"" यहाँ एकांतिक है। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

ἐν τῷ ὀνόματί σου

इसका अर्थ है कि वह व्यक्ति यीशु की सामर्थ्य और अधिकार में होकर बात कर रहा था। (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 9:50

μὴ κωλύετε

इसे सकारात्मक रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसे करते रहने की अनुमति दो

ὃς…οὐκ ἔστιν καθ’ ὑμῶν, ὑπὲρ ὑμῶν ἐστιν

कुछ आधुनिक भाषाओं में ऐसी कहावतें हैं जिनका अर्थ एक ही जैसी बात कहना होता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि कोई व्यक्ति आपको काम करने से नहीं रोकता है, तो ऐसा प्रतीत होता है कि वह आपकी सहायता कर रहा था"" या ""यदि कोई आपके विरूद्ध कार्य नहीं कर रहा है, तो वह आपके साथ कार्य कर रहा है

Luke 9:51

अब यह स्पष्ट है कि यीशु ने यरूशलेम जाने का निर्णय लिया था।

ἐν τῷ συνπληροῦσθαι τὰς ἡμέρας τῆς ἀναλήμψεως αὐτοῦ

जब उसके जाने के लिए समय आ पहुँचा या ""जब उसके लिए जाने का लगभग समय पहुँचा

τὸ πρόσωπον ἐστήρισεν

इस मुहावरे का अर्थ है कि उसने ""दृढ़ता से निर्णय लिया।"" वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने अपना मन बना लिया"" या ""निर्णय ले लिया"" (देखें: मुहावरे)

Luke 9:52

ὡς ἑτοιμάσαι αὐτῷ

इसका अर्थ है कि वहाँ पहुँचने के लिए प्रबन्ध करना, सम्भवतः प्रचार करने का स्थान, रहने का स्थान और भोजन इत्यादि इसमें सम्मिलित हैं।

Luke 9:53

οὐκ ἐδέξαντο αὐτόν

वे नहीं चाहते थे कि वह वहाँ रहे

ὅτι τὸ πρόσωπον αὐτοῦ ἦν πορευόμενον εἰς Ἰερουσαλήμ

सामरी और यहूदी एक-दूसरे से घृणा करते थे। इसलिए सामरी यीशु को यहूदी राजधानी यरूशलेम की यात्रा पर सहायता प्रदान नहीं करते। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 9:54

ἰδόντες

देखा कि सामरियों ने यीशु को स्वीकार नहीं किया था

εἴπωμεν πῦρ καταβῆναι ἀπὸ τοῦ οὐρανοῦ καὶ ἀναλῶσαι αὐτούς

याकूब और यूहन्ना ने न्याय के इस तरीके का सुझाव दिया क्योंकि उन्हें पता था कि इसी तरह एलिय्याह जैसे भविष्यवक्ताओं ने उन लोगों का न्याय किया था जिन्होंने परमेश्वर का इन्कार कर दिया था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 9:55

στραφεὶς…ἐπετίμησεν αὐτοῖς

यीशु उनकी ओर मुड़ा और याकूब और यूहन्ना की ताड़ना की। यीशु ने सामरियों की निन्दा नहीं की जैसा कि चेलों ने अपेक्षा की थी।

Luke 9:57

τις

यह उसके चेलों में से एक था।

Luke 9:58

αἱ ἀλώπεκες φωλεοὺς ἔχουσιν…οὐκ ἔχει ποῦ τὴν κεφαλὴν κλίνῃ

यीशु ने उस व्यक्ति को अपने शिष्य होने के बारे में शिक्षा देने के लिए एक नीतिवचन के साथ उत्तर दिया।। यीशु का तात्पर्य है कि यदि वह व्यक्ति उसका अनुसरण करना चाहता था, तो उस व्यक्ति के पास भी उसका घर नहीं हो सकता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोमड़ियों के भट होतें हैं... सिर रखने की जगह भी नहीं है। तो अपेक्षा न करें कि आपके पास घर होगा ""(देखें: लोकोक्तियाँ और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

αἱ ἀλώπεκες

ये छोटे कुत्तों के समान भूमि के जानवर हैं। वे भूमि में एक मांद या एक गुफा में सोते हैं।

τὰ πετεινὰ τοῦ οὐρανοῦ

पक्षी जो हवा में उड़ते हैं

ὁ…Υἱὸς τοῦ Ἀνθρώπου…τὴν κεφαλὴν

यीशु तीसरे व्यक्ति में स्वयं के बारे में होने की बात कर रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं, मनुष्य का पुत्र, हूँ, मेरे पास सिर... "" (देखें: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

οὐκ ἔχει ποῦ τὴν κεφαλὴν κλίνῃ

मेरे पास सिर रखने का भी स्थान नहीं या ""सोने के लिए कोई स्थान नहीं।"" यीशु इस बात पर जोर देने के लिए बढ़ा चढ़ा कर बोल रहा था कि उसके पास कोई स्थायी घर नहीं है और लोगों ने उसे अक्सर उसके साथ रहने के लिए आमंत्रित नहीं करते थे। (देखें: अतिशयोक्ति)

Luke 9:59

यीशु सड़क के किनारे चल रहे लोगों के साथ निरन्तर बात करता रहता है।

ἀκολούθει μοι

यह कहकर यीशु ने उस व्यक्ति को अपना शिष्य बनने के लिए और उसके साथ चलने के लिए कहा।

ἐπίτρεψόν μοι ἀπελθόντι, πρῶτον θάψαι τὸν πατέρα μου

यह अस्पष्ट है कि यदि उस के पिता की मृत्यु हुई थी या नहींऔर वह उसे तुरन्त उसे दफन करने के लिए जाना था, या यदि वह व्यक्ति लम्बे समय तक अपने पिता के साथ जब तक कि उसकी मृत्यु नहीं हो जाती ताकि वह उसे दफन कर सके। मुख्य बात यह है कि मनुष्य यीशु के पीछे चलने से पहले कुछ और करना चाहता है।

ἐπίτρεψόν μοι ἀπελθόντι, πρῶτον

इससे पहले कि मैं तेरे साथ चलूँ, मुझे यह करने दे।

Luke 9:60

ἄφες τοὺς νεκροὺς θάψαι τοὺς ἑαυτῶν νεκρούς

यीशु का शाब्दिक अर्थ यह नहीं है कि मरे लोग अन्य मरे हुए लोगों को दफन करेंगे। ""मरे"" हुओं का सम्भावित अर्थ 1) यह उन लोगों के लिए एक रूपक है जो शीघ्र ही मरने वाले थे, या 2) यह उन लोगों के लिए एक रूपक है जो यीशु के पीछे नहीं चलना चाहते हैं और आत्मिक रूप से मर चुके हैं। मुख्य बात यह है कि एक शिष्य को यीशु का पीछे चलने में कुछ भी देरी नहीं करनी चाहिए। (देखें: रूपक)

τοὺς νεκροὺς

यह सामान्य रूप से मरे हुए लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मरे हुए लोग"" (देखें: आम विशेषण)

Luke 9:61

ἀκολουθήσω σοι

मैं तेरे एक शिष्य के रूप में तेरे पीछे हो लूँगा या ""मैं तेरा अनुसरण करने के लिए तैयार हूँ

πρῶτον…ἐπίτρεψόν μοι ἀποτάξασθαι τοῖς εἰς τὸν οἶκόν μου

ऐसा करने से पहले, मैं मेरे घर के लोगों बता दूँ कि मैं उन्हें छोड़ रहा हूँ

Luke 9:62

οὐδεὶς…εὔθετός ἐστιν τῇ Βασιλείᾳ τοῦ Θεοῦ

यीशु ने अपने शिष्य होने के बारे में शिक्षा देने के लिए एक नीतिवचन के साथ उत्तर दिया। यीशु का अर्थ है कि एक व्यक्ति ईश्वर के राज्य के लिए तब तक उपयुक्त नहीं है जब तक कि वह यीशु का अनुसरण करने की अपेक्षा अपने अतीत के लोगों पर केन्द्रित है। (देखें: लोकोक्तियाँ और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

οὐδεὶς ἐπιβαλὼν τὴν χεῖρα αὐτοῦ ἐπ’ ἄροτρον

यहाँ ""अपना हाथ रखता है"" ऐसा मुहावरा है जिसका अर्थ है कि व्यक्ति कुछ करना आरम्भ कर देता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कोई ऐसा नहीं है जो अपने खेत को जोतना आरम्भ न करे"" (देखें: मुहावरे और अज्ञात का अनुवाद)

βλέπων εἰς τὰ ὀπίσω

कोई भी जो खेत जोतते समय पीछे मुड़कर देखता है वह अपने हल को मार्गदर्शन नहीं दे सकता जिधर उसे चलना है। उस व्यक्ति को अच्छी तरह से हल को चलाने के लिए आगे ध्यान केन्द्रित करना चाहिए।

εὔθετός ἐστιν τῇ Βασιλείᾳ τοῦ Θεοῦ

परमेश्वर के राज्य के लिए उपयोगी या ""परमेश्वर के राज्य के लिए उपयुक्त

Luke 10

लूका 10 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय की विशेष धारणाएँ

फसल

फसल तब होती है जब लोग अपने द्वारा लगाए गए भोजन को पाने के लिए खेतों में निकल जाते हैं ताकि वे उसे अपने घरों में ला सकें और उसे खा सकें। यीशु ने अपने अनुयायियों को शिक्षा देने के लिए एक रूपक के रूप में इसका उपयोग किया कि उन्हें लोगों के पास जाने और उन्हें यीशु के बारे में अन्य लोगों को बताने की आवश्यकता है ताकि वे लोग परमेश्वर के राज्य के भागी बन सकें। (देखें: विश्वास)

पड़ोसी

पड़ोसी कोई भी होता है जो आपके पास रहता है। यहूदी ने अपने यहूदी पड़ोसियों की सहायता करते थे जिन्हें सहायता की आवश्यकता होती थी, और वे अपेक्षा करते थे कि उनके यहूदी पड़ोसी उनकी भी सहायता करें।। यीशु चाहता था कि वे यह समझें कि जो लोग यहूदी नहीं थे वे भी उनके पड़ोसी थे, इसलिए उसने उन्हें एक दृष्टांत बताया (लूका 10:29-36). (देखें: दृष्टांत)

Luke 10:1

यीशु ने उनसे पहले 70 और लोगों को भेजा था। वे 70 हर्ष के साथ लौटते हैं, और यीशु अपने स्वर्गीय पिता को महिमा स्वरूप उत्तर देता है

δὲ

इस शब्द का उपयोग यहाँ कहानी में एक नई घटना को चिन्हित करने के लिए किया गया है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἑβδομήκοντα

70 कुछ संस्करण ""बहत्तर"" या ""72"" कहते हैं। आप एक फुटनोट सम्मिलित कर सकते हैं जो इसे बताता हो। (देखें: संख्याएँ)

ἀπέστειλεν αὐτοὺς ἀνὰ δύο

उन्हें दो-दो के समूहों में भेज दिया या ""प्रत्येक समूह में दो लोगों के साथ उन्हें भेज दिया

Luke 10:2

ἔλεγεν δὲ πρὸς αὐτούς

यह वास्तव में लोगों के जाने से पहले घटित हुआ था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने उनसे कहा था"" या ""उनके जाने से पहले उसने उनसे कहा"" (देखें: घटनाओं का क्रम)

ὁ μὲν θερισμὸς πολύς, οἱ δὲ ἐργάται ὀλίγοι

एक बड़ी फसल है, परन्तु इसे काटने के लिए पर्याप्त श्रमिक नहीं हैं। यीशु का अर्थ है कि बहुत से लोग परमेश्वर के राज्य में प्रवेश करने के लिए तैयार हैं, परन्तु लोगों को शिक्षा देने और सहायता प्रदान करने के लिए पर्याप्त चेले नहीं हैं। (देखें: रूपक)

Luke 10:3

ὑπάγετε

शहरों में जाओ या ""लोगों के पास जाओ

ἀποστέλλω ὑμᾶς ὡς ἄρνας ἐν μέσῳ λύκων

भेड़िए आक्रमण करते और भेड़ को मार डालते है। इसलिए इस रूपक का अर्थ ऐसे लोग हैं जो यीशु के भेजे हुए चेलों को नुकसान पहुँचाने का प्रयास करेंगे। अन्य जानवरों के नामों को यहाँ उपयोग किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब मैं तुम्हें भेज रहा हूँ, तो लोग तुम पर आक्रमण करना चाहेंगे, क्योंकि भेड़िए भेड़ पर आक्रमण करते हैं"" (देखें: उपमा)

Luke 10:4

μὴ βαστάζετε βαλλάντιον, μὴ πήραν, μὴ ὑποδήματα

आप के साथ न बटुआ, न यात्रा का झोला, या न ही जुत्ती लो

μηδένα κατὰ τὴν ὁδὸν ἀσπάσησθε

मार्ग में किसी को भी नमस्कार न करो। यीशु इस बात पर जोर दे रहा था कि उन्हें शीघ्रता के साथ कस्बों में जाना चाहिए और इस कार्य को करना चाहिए। वह उन्हें कठोर होने के लिए नहीं कह रहा था।

Luke 10:5

εἰρήνη τῷ οἴκῳ τούτῳ

यह एक अभिवादन और आशीष दोनों ही था। यहाँ ""घर"" उन लोगों को सन्दर्भित करता है जो घर में रहते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस घर के लोगों की शान्ति बनी रहे"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 10:6

υἱὸς εἰρήνης

एक शान्तिपूर्ण व्यक्ति यह वह व्यक्ति है जो परमेश्वर और लोगों के साथ शान्ति चाहता है।

ἐπαναπαήσεται ἐπ’ αὐτὸν ἡ εἰρήνη ὑμῶν

यहां ""शान्ति"" को एक जीवित वस्तु के रूप में वर्णित किया गया है जो कहाँ रहनी है को चुन सकती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसके पास शान्ति होगी जिसको तुमने आशीष दी है"" (देखें: मानवीकरण)

εἰ…μή γε

पूरे वाक्यांश को पुन कहा जाना सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि वहाँ शान्ति चाहने वाला कोई व्यक्ति नहीं है"" या ""यदि घर का स्वामी शान्तिपूर्ण चाहने वाला व्यक्ति नहीं है"" (देखें: पदन्यूनता)

ἐφ’ ὑμᾶς ἀνακάμψει

यहाँ ""शान्ति"" को एक जीवित वस्तु के रूप में वर्णित किया गया है जो किसी को छोड़ देने का विकल्प चुन सकती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हारे पास शान्ति होगी"" या ""वह उस शान्ति को प्राप्त नहीं करेगा जिसकी तुमने आशीष दी है"" (देखें: मानवीकरण)

Luke 10:7

ἐν αὐτῇ δὲ τῇ οἰκίᾳ μένετε

यीशु यह नहीं कह रहा था कि उन्हें पूरे दिन उसी घर में रहना चाहिए, परन्तु उन्हें प्रत्येक रात उसी घर में सोना चाहिए, जहाँ वे रह रहे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""उस घर में ही निरन्तर सोना चाहिए

ἄξιος γὰρ ὁ ἐργάτης τοῦ μισθοῦ αὐτοῦ

यह एक सामान्य सिद्धान्त है जिसे यीशु उन पुरुषों के ऊपर लागू कर रहा था जिन्हें वह भेज रहा था। क्योंकि वे लोगों को शिक्षा देंगे और उन्हें चंगा करेंगे, लोगों को उन्हें रहने के लिए स्थान और भोजन प्रदान करना चाहिए।

μὴ μεταβαίνετε ἐξ οἰκίας εἰς οἰκίαν

एक घर से दूसरे घर जाने का अर्थ विभिन्न घरों में जाने से है। इसे स्पष्ट किया जा सकता है कि वह विभिन्न घरों में रात को ठहरने के बारे में बात कर रहा था। ""प्रत्येक रात एक भिन्न घर में सोने नहीं जाना"" (देखें: मुहावरे और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 10:8

καὶ δέχωνται ὑμᾶς

यदि वे तुम्हारा स्वागत करें

ἐσθίετε τὰ παρατιθέμενα ὑμῖν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो कुछ भी वे तुम्हें दें उसे ही खाएँ"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 10:9

τοὺς…ἀσθενεῖς

यह सामान्य रूप से बीमार लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""बीमार लोग"" (देखें: आम विशेषण)

ἤγγικεν ἐφ’ ὑμᾶς ἡ Βασιλεία τοῦ Θεοῦ

भाववाचक संज्ञा ""राज्य"" क्रिया ""शासन"" या ""आधिपत्य"" के साथ व्यक्त किया जा सकता है। सम्भावित अर्थ 1) परमेश्वर का राज्य शीघ्र आरम्भ हो जाएगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर शीघ्र ही राजा के रूप में प्रत्येक स्थान पर शासन करेगा"" या 2) परमेश्वर के राज्य की गतिविधियां आपके चारों ओर हो रही हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रमाण यह है कि परमेश्वर आपके चारों ओर शासन कर रहा है"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Luke 10:10

καὶ μὴ δέχωνται ὑμᾶς

यदि शहर के लोग तुम्हें अस्वीकार करते हैं

Luke 10:11

καὶ τὸν κονιορτὸν τὸν κολληθέντα ἡμῖν, ἐκ τῆς πόλεως ὑμῶν εἰς τοὺς πόδας ἀπομασσόμεθα ὑμῖν

यह दिखाने के लिए एक प्रतीकात्मक कार्यवाही है कि उन्होंने शहर के लोगों को अस्वीकृत कर दिया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""ठीक वैसे ही जैसे तुमने हमें अस्वीकृत किया है, हम तुम्हें पूरी तरह से अस्वीकार कर देते हैं। हम तुम्हारे शहर की धूल को भी अस्वीकृत कर देते हैं जो हमारे पैरों से चिपक जाता है"" (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

ἀπομασσόμεθα

क्योंकि यीशु इन लोगों को दो-दो के समूहों में भेज रहा था, इसलिए ऐसा यह दो लोग कहेंगे। इसलिए जिन भाषाओं में ""हम"" का दोहरा रूप है, वे इसका उपयोग करेंगे। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

πλὴν τοῦτο γινώσκετε, ὅτι ἤγγικεν ἡ Βασιλεία τοῦ Θεοῦ

वाक्यांश ""यह जान लो कि"" एक चेतावनी का परिचय देता है। इसका अर्थ है कि ""भले ही आप हमें अस्वीकार करते हैं, यह इस तथ्य को परिवर्तित नहीं करेगा कि परमेश्वर का राज्य निकट है!

ἤγγικεν ἡ Βασιλεία τοῦ Θεοῦ

भाववाचक संज्ञा ""राज्य"" क्रिया ""शासन"" या ""आधिपत्य"" के साथ व्यक्त किया जा सकता है। देखो तुमने लूका 10:8 में इसी प्रकार के वाक्य का अनुवाद कैसे किया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर शीघ्र ही राजा के रूप में प्रत्येक स्थान पर शासन करेगा"" या प्रमाण यह है कि परमेश्वर आपके चारों ओर शासन कर रहा है"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Luke 10:12

λέγω ὑμῖν

यीशु इन 70 लोगों को यह कह रहा था जिन्हें वह भेज रहा था। उसने यह दिखाने के लिए कहा कि वह कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण कहने वाला था।

τῇ ἡμέρᾳ ἐκείνῃ

चेले समझ गए होंगे कि यह पापियों के अन्तिम न्याय के समय को सन्दर्भित करता है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Σοδόμοις…ἀνεκτότερον ἔσται, ἢ τῇ πόλει ἐκείνῃ

परमेश्वर सदोम को उतना अधिक गम्भीर रूप से न्याय नहीं करेगा जैसा कि वह उस शहर का न्याय करेगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर सदोम के लोगों का न्याय करने की तुलना में उस शहर के लोगों का न्याय अधिक गंभीरता से करेगा"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 10:13

οὐαί σοι, Χοραζείν! οὐαί σοι, Βηθσαϊδά!

यीशु ऐसा कहता है मानों खुराजीन और बैतसैदा के नगरों के लोग उसे सुन रहे हैं, परन्तु वे सुन नहीं रहे हैं। (देखें: संबोधक चिन्ह और नामों का अनुवाद कैसे करें और लक्षणालंकार)

ὅτι εἰ ἐν Τύρῳ καὶ Σιδῶνι ἐγενήθησαν αἱ δυνάμεις, αἱ γενόμεναι ἐν ὑμῖν

यीशु एक ऐसी स्थिति का वर्णन कर रहा है जो अतीत में घटित हुई होगी परन्तु ऐसा नहीं हुआ है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि किसी ने सूर और सैदा के लोगों के लिए आश्चर्यकर्म किए हैं तो वह मैं हूँ"" (देखें: काल्पनिक परिस्थितियाँ और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πάλαι ἂν…καθήμενοι μετενόησαν

वहाँ रहने वाले दुष्ट लोग दिखाते है कि उन्हें वहीं रहते हुए अपने अपने पापों के लिए खेद है

ἐν…σάκκῳ καὶ σποδῷ καθήμενοι

टाट वाले वस्त्र पहिने हुए और राख में बैठे हुए

Luke 10:14

πλὴν Τύρῳ καὶ Σιδῶνι, ἀνεκτότερον ἔσται ἐν τῇ κρίσει ἢ ὑμῖν

उनको दण्ड देने के निर्णय को स्पष्ट रूप से बताया जाना सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु क्योंकि तुमने पश्चाताप नहीं किया और मुझ पर भरोसा नहीं किया, भले ही मैने तुम्हारे लिए आश्चर्यकर्म किए, परमेश्वर तुम्हारा न्याय सूर और सैदा के लोगों की तुलना में अधिक गम्भीरता से करेगा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना और लक्षणालंकार)

ἐν τῇ κρίσει

उस अन्तिम दिन जब परमेश्वर सभों का न्याय करेगा

Luke 10:15

σύ, Καφαρναούμ

यीशु अब कफरनहूम शहर के लोगों से बात करता है जो कि मानो उसकी सुन रहे हैं, परन्तु वे सुन नहीं रहे होते। (देखें: संबोधक चिन्ह और लक्षणालंकार)

μὴ ἕως οὐρανοῦ ὑψωθήσῃ?

यीशु उनके घमण्ड के लिए कफरनहूम के लोगों को ताड़ना देने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम निश्चित ही स्वर्ग नहीं जाआगे!"" या ""परमेश्वर तुम्हारा सम्मान नहीं करेगा!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἕως οὐρανοῦ ὑψωθήσῃ

इस अभिव्यक्ति का अर्थ है ""बहुत अधिक ऊँचा"" किया जाना है।

τοῦ ᾍδου καταβήσῃ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""आप अधोलोक में जाओगे"" या ""परमेश्वर तुम्हें अधोलोक मेंभेज देगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 10:16

ὁ ἀκούων ὑμῶν, ἐμοῦ ἀκούει

उपमा के रूप में तुलना को स्पष्ट रूप से बताया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब कोई तुम्हारी सुनता है, ऐसा प्रतीत होता है कि मानो वे मुझे सुन रहे हैं"" (देखें: उपमा)

ὁ…ἀθετῶν ὑμᾶς, ἐμὲ ἀθετεῖ

उपमा के रूप में तुलना को स्पष्ट रूप से बताया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब कोई तुम्हें अस्वीकार करता है, ऐसा प्रतीत होता है कि मानो वह मुझे अस्वीकार कर रहा है"" (देखें: उपमा)

ὁ…ἐμὲ ἀθετῶν, ἀθετεῖ τὸν ἀποστείλαντά με

उपमा के रूप में तुलना को स्पष्ट रूप से बताया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब कोई तुम्हें अस्वीकार करता है, ऐसा प्रतीत होता है कि मानो वह मुझे अस्वीकार कर रहा है"" (देखें: उपमा)

τὸν ἀποστείλαντά με

यह परमेश्वर पिता को सन्दर्भित करता है, जिसने इस विशेष कार्य के लिए यीशु को नियुक्त किया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर, जिसने मुझे भेजा है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 10:17

ὑπέστρεψαν δὲ οἱ ἑβδομήκοντα

कुछ भाषाओं को यह कहना होगा कि सत्तर वास्तव में गए थे जैसा कि यूएसटी अनुवाद करता है। यह अंतर्निहित जानकारी है जिसे स्पष्ट किया जा सकता है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἑβδομήκοντα

आप यहाँ एक फुटनोट जोड़ सकते हैं: ""कुछ संस्करणों में '70' की अपेक्षा '72' है।"" (देखें: संख्याएँ)

ἐν τῷ ὀνόματί σου

यहाँ ""नाम"" यीशु की सामर्थ्य और अधिकार को सन्दर्भित करता है। (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 10:18

ἐθεώρουν τὸν Σατανᾶν ὡς ἀστραπὴν ἐκ τοῦ οὐρανοῦ πεσόντα

यीशु एक उपमा का उपयोग इस बात की तुलना करने के लिए करता है कि कैसे परमेश्वर शैतान को बिजली के जैसे नीचे गिराते हुए पराजित कर रहा था जब उसके 70 चेले प्रचार कर रहे थे। (देखें: उपमा)

ὡς ἀστραπὴν ἐκ τοῦ οὐρανοῦ πεσόντα

सम्भावित अर्थ 1) जितनी शीघ्रता के साथ आकाश की बिजली गिरती है, या 2) स्वर्ग से नीचे वैसे गिर गया जैसे बिजली नीचे की ओर गिरती है। क्योंकि दोनों अर्थ सम्भव हैं, इसलिए चित्र को रखना सबसे अच्छा हो सकता है।

Luke 10:19

τὴν ἐξουσίαν τοῦ πατεῖν ἐπάνω ὄφεων καὶ σκορπίων

सांपों और बिच्छुओं को कुचल देने का अधिकार। सम्भावित अर्थ 1) सांप और बिच्छु दुष्ट आत्माओं के लिए एक रूपक हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""दुष्ट आत्माओं को हराने का अधिकार"" या 2) यह वास्तविक सांपों और बिच्छुओं को सन्दर्भित करता है। (देखें: रूपक)

τοῦ πατεῖν ἐπάνω ὄφεων καὶ σκορπίων

इसका तात्पर्य है कि वे ऐसा करेंगे और घायल नहीं होंगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""सांपों और बिच्छुयों पर चलोगे और वे तुम्हें चोट नहीं पहुँचाएँगे"" (देखें: पदन्यूनता)

σκορπίων

बिच्छु छोटे पंजे वाले जानवर होते हैं जिनमें दो पंजे और उनकी पूंछ पर एक जहरीला डंक होता है।

ἐπὶ πᾶσαν τὴν δύναμιν τοῦ ἐχθροῦ

मैंने तुम्हें शत्रुओं की शक्ति को कुचलने का अधिकार दिया है या ""मैंने तुम्हें शत्रुओं को हराने के लिए अधिकार दिया है।"" शत्रु शैतान है। (देखें: पदन्यूनता और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 10:20

ἐν τούτῳ μὴ χαίρετε, ὅτι τὰ πνεύματα ὑμῖν ὑποτάσσεται, χαίρετε δὲ ὅτι τὰ ὀνόματα ὑμῶν ἐνγέγραπται ἐν τοῖς οὐρανοῖς

इसलिए मात्र आनन्द न मनाएँ कि आत्माएँ तुम्हारे अधीन हो जाती हैं को भी सकारात्मक रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""आनन्दित हो कि आत्माएँ तुम्हारे आधीन हो जाती हैं, परन्तु इससे भी ज्यादा आनन्दित इसलिए कि तुम्हारे नाम स्वर्ग में लिखे गए हैं

τὰ ὀνόματα ὑμῶν ἐνγέγραπται ἐν τοῖς οὐρανοῖς

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने स्वर्ग में तुम्हारे नाम को लिखा है"" या ""तुम्हारे नाम उन लोगों की सूची में हैं, जो स्वर्ग के नागरिक हैं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 10:21

Πάτερ

यह परमेश्वर के लिए एक महत्वपूर्ण पदवी है। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

Κύριε τοῦ οὐρανοῦ καὶ τῆς γῆς

स्वर्ग और ""पृथ्वी"" विद्यमान सभी वस्तुओं का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रत्येक के ऊपर और स्वर्ग और पृथ्वी में विद्यमान सब कुछ के ऊपर स्वामी"" (देखें: विभज्योतक)

ταῦτα

यह चेलों के अधिकार के बारे में यीशु की पहले दी हुई शिक्षा को दर्शाता है। मात्र ""इन सब बातों को"" कहना ही सबसे अच्छा हो सकता है और पाठक को इनका अर्थ निर्धारित करने दें।

σοφῶν καὶ συνετῶν

शब्द ""ज्ञानी"" और ""समझदार"" नाममात्र के विशेषण हैं जो इन गुणों वाले लोगों को प्रकट हैं। क्योंकि परमेश्वर ने उनसे सत्य को छुपाया था, ये लोग वास्तव में बुद्धिमान और समझदार में नहीं थे, चाहे उन्होंने ऐसा सोचा था कि वे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन लोगों से जो सोचते हैं कि वे बुद्धिमान और समझदार हैं"" (देखें: व्यंग्यात्मक और आम विशेषण)

νηπίοις

यह उन लोगों को दर्शाता है जिनके पास अधिक शिक्षा न हो, परन्तु जो यीशु की शिक्षाओं को उसी तरह से स्वीकार करने के लिए इच्छुक हैं, जैसे कि छोटे बच्चे स्वेच्छा से उन लोगों को सुनते हैं जिन पर वे भरोसा करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग जिनके पास थोड़ी शिक्षा हैं, परन्तु छोटे बच्चों के रूप में परमेश्वर की सुनते हैं"" (देखें: पदन्यूनता और उपमा)

ὅτι οὕτως εὐδοκία ἐγένετο ἔμπροσθέν σου

क्योंकि तुझे यही अच्छा लगा

Luke 10:22

πάντα μοι παρεδόθη ὑπὸ τοῦ Πατρός μου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे पिता ने सब कुछ मेरे हाथ में सौंप दिया है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τοῦ Πατρός…ὁ Υἱὸς

ये महत्वपूर्ण पदवियाँ हैं जो परमेश्वर और यीशु के मध्य के सम्बन्धों का वर्णन करते हैं। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

γινώσκει τίς ἐστιν ὁ Υἱὸς

जो शब्द यहाँ ""जानता"" के रूप में अनुवादित हुआ है उसका अर्थ व्यक्तिगत् अनुभव से जानना है। परमेश्वर पिता इस तरह से यीशु को जानता है।

ὁ Υἱὸς

यीशु स्वयं को तीसरे व्यक्ति में प्रकट कर रहा है। (देखें: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

εἰ μὴ ὁ Πατήρ

इसका अर्थ है कि केवल पिता ही जानता है कि पुत्र कौन है।

τίς ἐστιν ὁ Πατὴρ

जो शब्द यहाँ ""जानता"" के रूप में अनुवादित हुआ है उसका अर्थ व्यक्तिगत् अनुभव से जानना है। परमेश्वर पिता इस तरह से यीशु को जानता है।

εἰ μὴ ὁ Υἱὸς

इसका अर्थ है कि केवल पुत्र ही जानता है कि पिता कौन है।

ᾧ ἐὰν βούληται ὁ Υἱὸς ἀποκαλύψαι

जिस किसी को भी पुत्र पिता को दिखाना चाहता है वह दिखाता है

Luke 10:23

καὶ στραφεὶς πρὸς τοὺς μαθητὰς κατ’ ἰδίαν

शब्द ""अकेले में"" इंगित करता है कि वह अपने चेलों के साथ अकेला था। वैकल्पिक अनुवाद: ""बाद में, जब वह अपने चेलों के साथ अकेला था, तो वह उनके पास गया और कहा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

μακάριοι οἱ ὀφθαλμοὶ οἱ βλέποντες ἃ βλέπετε!

यह सम्भवतः यीशु के अच्छे कामों और आश्चर्यकर्मों को प्रकट करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन लोगों के लिए यह कितना अच्छा है जो स्वयं मुझे उन कामों को करते हुए देखते हैं जिन्हें तुम देख रहे हो"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 10:24

καὶ οὐκ εἶδαν

इसका तात्पर्य है कि यीशु अभी तक उन कामों को नहीं कर रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु उन्हें नहीं देख सके क्योंकि मैं अभी तक उन्हें नहीं कर रहा था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἃ ἀκούετε

यह कदाचित् यीशु की शिक्षा को दर्शाता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिन बातों को तुमने मुझ से सुना है, वे कहती हैं"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

καὶ οὐκ ἤκουσαν

इसका तात्पर्य है कि यीशु अभी तक उनकी शिक्षा नहीं दे रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु उन्हें नहीं सुन सका क्योंकि मैंने अभी तक उनकी शिक्षा देनी आरम्भ नहीं की है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 10:25

यीशु ने यहूदी व्यवस्था कानून के एक विशेषज्ञ को एक कहानी के साथ उत्तर दिया जो यीशु की जाँच करना चाहता है। (देखें: दृष्टांत)

καὶ ἰδοὺ, νομικός τις

यह हमें एक नई घटना और कहानी में एक नए व्यक्ति के प्रति सचेत करती है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय और नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἐκπειράζων αὐτὸν

यीशु को चुनौति

κληρονομήσω

ताकि परमेश्वर मुझे दे

Luke 10:26

ἐν τῷ νόμῳ τί γέγραπται? πῶς ἀναγινώσκεις?

यीशु जानकारी नहीं मांग रहा है। वह व्यवस्था का विशेषज्ञ अर्थात् व्यवस्थापक के ज्ञान की जाँच करने के लिए इन प्रश्नों का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझे बता कि मूसा ने व्यवस्था में क्या लिखा था और तुझे क्या लगता है कि इसका क्या अर्थ है।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἐν τῷ νόμῳ τί γέγραπται? πῶς ἀναγινώσκεις?

इसे क्रिया के सक्रिय रूप में पूछा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मूसा ने व्यवस्था में क्या लिखा था?"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πῶς ἀναγινώσκεις?

तुने इसमें क्या पढ़ा है? या ""तू क्या समझता है कि यह क्या कहती है?

Luke 10:27

ἀγαπήσεις…τὸν πλησίον σου ὡς σεαυτόν

उस व्यक्ति ने उद्धृत किया कि मूसा ने व्यवस्था में क्या लिखा था।

ἐν ὅλῃ τῇ ψυχῇ σου, καὶ ἐν ὅλῃ τῇ ἰσχύϊ σου, καὶ ἐν ὅλῃ τῇ διανοίᾳ σου

यहाँ ""मन"" और ""प्राण"" किसी व्यक्ति के आन्तरिक प्राणी के लिए समानार्थी शब्द हैं। इन चार वाक्यांशों का एक साथ ""पूरी तरह से"" या ""ईमानदारी से"" के अर्थ को देने के लिए उपयोग किया गया है। (देखें: लक्षणालंकार और दोहरात्मक)

τὸν πλησίον σου ὡς σεαυτόν

इस उपमा को अधिक स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अपने पड़ोसी से जितना हो सके उतना अधिक प्रेम करें"" (देखें: उपमा)

Luke 10:28

ζήσῃ

परमेश्वर आपको अनन्त जीवन देगा

Luke 10:29

ὁ δὲ θέλων δικαιῶσαι ἑαυτὸν, εἶπεν

परन्तु विशेषज्ञ स्वयं को धर्मी ठहराने के लिए एक तरीके की खोज करना चाहता था, इसलिए उसने कहा था ""परन्तु धर्मी दिखना चाहता है, विशेषज्ञ ने कहा

τίς ἐστίν μου πλησίον?

वह व्यक्ति जानना चाहता था कि उसे किससे प्रेम करना था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझे अपने पड़ोसी के रूप में किस के लिए विचार करना चाहिए और किस से प्रेम करना चाहिए जैसे मैं स्वयं से प्रेम करता हूँ?"" या ""कौन से लोग मेरे पड़ोसी हैं जिन्हें मुझे प्रेम करना चाहिए?"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 10:30

ὑπολαβὼν δὲ Ἰησοῦς εἶπεν

यीशु एक दृष्टांत बताकर उस व्यक्ति के प्रश्न का उत्तर देता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उस व्यक्ति के प्रश्न के उत्तर के रूप में, यीशु ने उसे यह कहानी सुनाई"" (देखें: दृष्टांत)

ἄνθρωπός τις

यह दृष्टांत में एक नया पात्र को प्रस्तुत करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

λῃσταῖς περιέπεσεν, οἳ

वह लुटेरों से घिरा हुआ था, या ""कुछ लुटेरों ने उस पर आक्रमण किया था। वे

ἐκδύσαντες

उसका सब कुछ ले लिया जो उसके पास था या ""उसकी सारी वस्तुएँ लूट ली

ἡμιθανῆ

इस मुहावरे का अर्थ ""लगभग मरा"" हुआ होने से है (देखें: मुहावरे)

Luke 10:31

κατὰ συνκυρίαν

यह ऐसा कुछ नहीं था जिस की किसी भी व्यक्ति ने योजना बनाई थी।

ἱερεύς τις

यह अभिव्यक्ति कहानी में एक नया व्यक्ति का परिचय देती है , परन्तु उसे नाम से पहचान नहीं देती है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἰδὼν αὐτὸν

जब याजक ने घायल व्यक्ति को देखा। एक याजक एक बहुत ही धार्मिक व्यक्ति होता है, इसलिए दर्शकों को लगता है कि वह घायल व्यक्ति की सहायता करेगा। क्योंकि उसने सहायता नहीं की, इस वाक्यांश को ""अप्रत्याशित परिणाम पर ध्यान देने के लिए"" कहा गया था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἀντιπαρῆλθεν

यह निहित है कि उसने व्यक्ति की सहायता नहीं की। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने घायल व्यक्ति की सहायता नहीं की, अपितु उसे देखते हुए सड़क के दूसरी ओर से चला गया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 10:32

Λευείτης…ἀντιπαρῆλθεν

लेवी मन्दिर में सेवा करते थे। उससे अपने साथी यहूदी व्यक्ति की सहायता करने की अपेक्षा की जानी थी। क्योंकि उसने सहायता नहीं की, ऐसा कहने में सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक लेवी ... दूसरी ओर और उसकी सहायता नहीं की"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 10:33

Σαμαρείτης δέ τις

यह बिना किसी के नाम को लिए कहानी में एक नया व्यक्ति परिचित करता है। हम केवल इतना जानते हैं कि वह सामरिया से था। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

Σαμαρείτης…τις

यहूदियों ने समरियों को तुच्छ मान लिया और अनुमान लगाया कि वह घायल यहूदी व्यक्ति की सहायता नहीं करेगा। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἰδὼν

जब सामरी ने घायल व्यक्ति को देखा

ἐσπλαγχνίσθη

उसे बहुत ज्यादा दुख महूसस हुआ

Luke 10:34

κατέδησεν τὰ τραύματα αὐτοῦ, ἐπιχέων ἔλαιον καὶ οἶνον

वह पहले घावों पर तेल और दाखरस डालता है, और फिर घावों पर पट्टियाँ बाँधता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने घावों पर दाखरस और तेल डाला और उन्हें कपड़े से लपेट दिया"" (देखें: घटनाओं का क्रम)

ἐπιχέων ἔλαιον καὶ οἶνον

घाव को साफ करने के लिए दाखरस का उपयोग किया जाता था, और तेल का प्रयोग कदाचित् संक्रमण को रोकने के लिए किया जाता था। यह कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्हें ठीक करने के लिए सहायता देने के लिए तेल और दाखरस डालना"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

τὸ ἴδιον κτῆνος

उसका अपनी सवारी वाला पशु यह एक ऐसा जानवर था जो वह भारी भार को उठा लेता था। यह कदाचित् एक गधा था।

Luke 10:35

δύο δηνάρια

दो दिन की मजदूरी। ""देनारिल"" ""दीनार"" का बहुवचन है। (देखें: बाइबल में धन)

τῷ πανδοχεῖ

सराय का रखवाला या ""वह व्यक्ति जिसने सराय में देखभाल की

ὅ τι ἂν προσδαπανήσῃς, ἐγὼ ἐν τῷ ἐπανέρχεσθαί με ἀποδώσω σοι

इसे फिर से लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब मैं वापस आऊँगा, तो मैं जो कुछ भी आपने इस पर धन खर्च किया है उसे अपितु इससे भी अधिक दे दूँगा

Luke 10:36

τίς τούτων τῶν τριῶν πλησίον δοκεῖ σοι…τοὺς λῃστάς?

इसे दो प्रश्नों के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम क्या सोचते हो? इन तीनों में से कौन पड़ोसी था ... लुटेरे?

πλησίον…γεγονέναι

स्वयं को एक सच्चा पड़ोसी होना दिखाया

τοῦ ἐμπεσόντος εἰς τοὺς λῃστάς

उस व्यक्ति को जिस पर लुटेरों ने आक्रमण किया था

Luke 10:37

πορεύου καὶ σὺ ποίει ὁμοίως

अधिक जानकारी देना सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसी तरह, तुम्हें भी जाना चाहिए और लोगों की जितना अधिक सम्भव हो उतनी सहायता करनी चाहिए"" (देखें: पदन्यूनता)

Luke 10:38

यीशु मार्था के घर आते हैं जहाँ उसकी बहन मरियम बहुत ध्यान से यीशु की बात सुनती है।

δὲ

एक नई घटना को चिह्नित करने के लिए इस शब्द का उपयोग यहाँ किया गया है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἐν…τῷ πορεύεσθαι αὐτοὺς

क्योंकि यीशु और उसके चेले एक साथ यात्रा कर रहे थे

κώμην τινά

यह गांव को एक नए स्थान के रूप में परिचित कराता है, परन्तु इसका नाम नहीं है।

γυνὴ…τις ὀνόματι Μάρθα

यह मार्था को एक नए पात्र के रूप में प्रस्तुत करता है। आपकी भाषा में नए लोगों का परिचय देने का एक तरीका हो सकता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

Luke 10:39

καὶ παρακαθεσθεῖσα πρὸς τοὺς πόδας τοῦ Ἰησοῦ

उस समय एक शिक्षार्थी के लिए यह सामान्य और सम्मानजनक स्थिति थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु के पास भूमि पर बैठे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἤκουεν τὸν λόγον αὐτοῦ

यह मार्था के घर पर यीशु ने जो कुछ भी शिक्षा दी थी, उसे प्रकट करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रभु को शिक्षा देते हुए सुनना"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 10:40

περιεσπᾶτο

बहुत अधिक व्यस्त या ""अत्याधिक व्यस्त

οὐ μέλει σοι…μόνην με κατέλιπεν διακονεῖν?

मार्था शिकायत कर रही है कि प्रभु मरियम को उसे सुनने के लिए अनुमति दे रहा है जबकि उसके पास करने के लिए बहुत काम है। वह प्रभु का सम्मान करती है, इसलिए वह अपनी शिकायत को अधिक विनम्र बनाने के लिए एक उदारता से भरे हुए प्रश्न का उपयोग करती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ऐसा लगता है कि जैसे आप परवाह ही नहीं करते ... अकेली।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 10:41

Μάρθα, Μάρθα

यीशु ने जोर के लिए मार्था के नाम को दोहराया। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रिय मार्था"" या ""तू, मार्था

Luke 10:42

ἑνός…ἐστιν χρεία

मार्था जो कुछ कर रही थी यीशु उसकी तुलना मरियम के द्वारा किए जा रहे कार्य के साथ करते हैं। इसे स्पष्ट करना सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""केवल एक बात जो वास्तव में आवश्यक है वह मेरी शिक्षा को सुनना है"" या ""भोजन की तैयारी करने से मेरी शिक्षा सुनना आवश्यक है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἥτις οὐκ ἀφαιρεθήσεται ἀπ’ αὐτῆς

सम्भावित अर्थ 1) ""मैं इस अवसर को उससे दूर नहीं करूँगा"" या 2) ""वह मुझे जो सुन रही थी वह उसे नहीं खोएगी क्योंकि वह मुझे सुन रही थी"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 11

लूका 11 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

यूएलटी अनुवाद पंक्ति के बाकी के भाग की तुलना में पृष्ठ पर दाएँ से 11: 2-4 में पंक्तियों में निर्धारित करता है क्योंकि वे एक विशेष प्रार्थना हैं।

इस अध्याय की विशेष धारणाएँ

प्रभु की प्रार्थना

जब यीशु के अनुयायियों ने उससे प्रार्थना के ऊपर शिक्षा देने के लिए कहा कि उन्हें कैसे प्रार्थना करनी चाहिए, तो उन्होंने उन्हें इस प्रार्थना को सिखाया। उन्होंने उससे हर बार एक ही शब्द का उपयोग करने की अपेक्षा नहीं की थी जब भी वे प्रार्थना करते थे, परन्तु वह चाहता था कि वे यह जान लें कि परमेश्वर क्या चाहता है कि वे कैसी प्रार्थना करें।

योना

योना पुराने नियम का एक भविष्यद्वक्ता था जिसे अन्यजाति शहर नीनवे के लोगों के पास पश्चाताप करने के लिए भेजा गया था। जब उसने उन्हें पश्चाताप करने के लिए कहा, तो उन्होंने पश्चाताप किया। (देखें: भविष्यद्वक्ता, भविष्यवाणी, भविष्यद्वाणी, द्रष्टा, भविष्यद्वक्तिन और पाप, पापो, पाप करना, पापमय, पापी, पाप करते रहना और मन फिराना, (पश्चाताप),मन फिराव)

प्रकाश और अन्धकार

बाइबल अक्सर अधर्मी लोगों की बात करती है, यह ऐसे लोग हैं जो ऐसे काम नहीं करते हैं जिससे परमेश्वर प्रसन्न होता है, मानो कि वे अन्धकार में घूम रहे हैं। यह प्रकाश की बात करता है मानो कि यह उन पापी लोगों को धर्मी बनने में सक्षम बनाता है, यह समझता है कि वे क्या गलत कर रहे हैं और परमेश्वर की आज्ञा का पालन करना आरम्भ कर दें। (देखें: धर्मी, धार्मिक, अधर्मी, अधर्मी, ईमानदार, ईमानदार)

धो कर शुद्ध होना

फरीसी स्वयं को और जिन वस्तुओं को जिनके साथ उन्होंने खाया होता था धो लेते थे। वे ऐसी वस्तुओं को भी धोते थे जो गन्दी नहीं होती थीं। मूसा की व्यवस्था ने उन्हें इन वस्तुओं को धोने के लिए नहीं बताया था, परन्तु वे वैसे ही उन्हें धोते थे। ऐसा इसलिए था क्योंकि वे सोचते थे कि यदि वे दोनों नियमों का पालन करते हैं एक जिन्हें परमेश्वर ने दिए थे और दूसरा कुछ नियम जिन्हें परमेश्वर ने नहीं दिया था, तो परमेश्वर सोचेगा कि वे बेहतर लोग थे। (देखें: व्यवस्था, मूसा की व्यवस्था, परमेश्वर की व्यवस्था, यहोवा की व्यवस्था और शुद्ध, शुद्ध करेगा, शुद्ध किया, शुद्ध करना, शुद्ध, शुद्ध होने, धुलाई, धुलाई, धोया, धोया)

Luke 11:1

यह कहानी के अगले भाग का आरम्भ है। यीशु अपने चेलों को प्रार्थना करने की शिक्षा देता है।

καὶ ἐγένετο

इस वाक्यांश का उपयोग कहानी के एक नए भाग के आरम्भ को चिह्नित करने के लिए किया गया है। यदि आपकी भाषा में ऐसा करने का कोई और तरीका है, तो आप इसे यहाँ उपयोग करने पर विचार कर सकते हैं। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἐν τῷ εἶναι αὐτὸν…τις

ऐसा कहने के लिए और अधिक स्वाभाविक हो सकता है कि शिष्य के द्वारा प्रश्न पूछने से पहले उसने प्रार्थना को समाप्त कर लिया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि यीशु एक निश्चित स्थान पर प्रार्थना कर रहा था। जब उसने प्रार्थना समाप्त कर लिया, तब

Luke 11:2

εἶπεν δὲ αὐτοῖς

यीशु ने अपने चेलों से कहा

Πάτερ

यीशु चेलों को प्रार्थना करते वक्त परमेश्वर को ""पिता"" के रूप में सम्बोधित करते हुए पिता परमेश्वर को पिता के नाम से सम्मान देना का आदेश दे रहा है। यह परमेश्वर के लिए एक महत्वपूर्ण पदवी है। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

ἁγιασθήτω τὸ ὄνομά σου

हर किसी को अपने नाम का सम्मान करने का कारण बना। अक्सर ""नाम"" पूरे व्यक्ति को दर्शाता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सभी लोग तुझे सम्मान दे"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἐλθέτω ἡ βασιλεία σου

हर किसी के ऊपर परमेश्वर के शासन की कार्यवाही की इस तरह की बात की जा रही है मानो कि यह स्वयं परमेश्वर है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तू आए और प्रत्येक व्यक्ति के ऊपर शासन करे"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 11:3

यीशु अपने चेलों को कैसे प्रार्थना करने की शिक्षा देता है।

δίδου ἡμῖν

यह एक आज्ञार्थक क्रिया है, परन्तु इसे एक आदेश की अपेक्षा एक अनुरोध के रूप में अनुवादित किया जाना चाहिए। उन्हें यह स्पष्ट करने के लिए ""कृपया"" जैसे कुछ शब्दों को जोड़ना सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कृपया हमें दे

τὸν ἄρτον ἡμῶν τὸν ἐπιούσιον

रोटी एक सस्ता भोजन था जिसे लोग प्रति दिन खाते थे। इसका उपयोग सामान्य रूप से भोजन को दर्शाने के लिए किया गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""भोजन जिस की आश्यकता हमें प्रति दिन होती है"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Luke 11:4

καὶ ἄφες ἡμῖν…μὴ εἰσενέγκῃς ἡμᾶς

यह एक आज्ञार्थक क्रिया है, परन्तु इसे एक आदेश की अपेक्षा एक अनुरोध के रूप में अनुवादित किया जाना चाहिए। उन्हें यह स्पष्ट करने के लिए ""कृपया"" जैसे कुछ शब्दों को जोड़ना सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""हमें क्षमा कर दीजिए ... कृपया हमें उस ओर न ले चल

ἄφες ἡμῖν τὰς ἁμαρτίας ἡμῶν

हमें तेरे विरुद्ध पाप करने के लिए क्षमा कर या ""हमारे पापों को क्षमा करें

καὶ γὰρ αὐτοὶ ἀφίομεν

क्योंकि हम भी क्षमा करते हैं

ὀφείλοντι ἡμῖν

जिन्होंने हमारे विरुद्ध पाप किया है या ""जिन्होंने हमारे साथ गलत किया है

μὴ εἰσενέγκῃς ἡμᾶς εἰς πειρασμόν

इसे सकारात्मक रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""हमें प्रलोभन से दूर ले जाएँ

Luke 11:5

यीशु अपने चेलों को प्रार्थना के बारे में शिक्षा देता है।

χρῆσόν μοι τρεῖς ἄρτους

मुझे रोटी के तीन टुकड़े उधार लेने हैं या ""मुझे तीन रोटी दीजिये और मैं इन्हें आपको बाद में लौटा दूँगा।"" मेजबान के पास अपने अतिथि को देने के लिए कोई भोजन तैयार नहीं है।

τρεῖς ἄρτους

सामान्य रूप से भोजन का प्रतिनिधित्व करने के लिए रोटी का उपयोग अक्सर किया जाता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक समय के लिए पका हुआ पर्याप्त भोजन"" या ""एक व्यक्ति के खाने के लिए तैयार पर्याप्त भोजन का होना"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Luke 11:6

यीशु ने एक प्रश्न को पूछना आरम्भ किया जो पद 5 में आरम्भ होता है।

ἐπειδὴ φίλος…παραθήσω αὐτῷ

यीशु चेलों को शिक्षा देने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। ""मान लें कि आप में से किसी एक के पास है ... उसके सामने रख दें।"" या ""मान लें कि आपके पास है... उसके सामने रख दें।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

παρεγένετο ἐξ ὁδοῦ πρός με

यहाँ इसका तात्पर्य यह है कि आगन्तुक अपने घर से दूर आया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यात्रा कर रहा था और बस मेरे ही घर आया है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ὃ παραθήσω αὐτῷ

कोई भोजन उसे देने के लिए यदि तैयार है

Luke 11:7

οὐ δύναμαι ἀναστὰς

मेरे लिए उठना अभी सुविधाजनक नहीं है

Luke 11:8

λέγω ὑμῖν

यीशु चेलों से बात कर रहा था। शब्द ""तुझे"" बहुवचन है। (देखें: तुम के प्रारूप)

δώσει αὐτῷ…διὰ τὸ εἶναι…αὐτοῦ…αὐτοῦ…αὐτῷ…χρῄζει

यीशु चेलों को सम्बोधित करता है मानो कि ये वे लोग जो उनसे रोटी मांग रहे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसे रोटी दें क्योंकि उसे ... उसकी ... वह ... उसे चाहिए

διά γε τὴν ἀναίδειαν αὐτοῦ

भाववाचक संज्ञा लज्जा छोड़कर अर्थात् ""दृढ़ता"" को खत्म करने के लिए वाक्यांश को दोहराया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि तू लज्जा छोड़कर दृढ़ता में बना हुआ हैं"" या ""क्योंकि तू साहसपूर्वक उससे माँगता रहा है"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Luke 11:9

αἰτεῖτε…ζητεῖτε…κρούετε

यीशु इन आदेशों को अपने चेलों को निरन्तर प्रार्थना करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए देता है। कुछ भाषाओं में इन क्रियाओं के साथ अधिक जानकारी देने की आवश्यकता हो सकती है। ""तुम"" के भिन्न रूप का प्रयोग करें जो इस सन्दर्भ में सबसे उपयुक्त होगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हें जो चाहिए उसे निरन्तर माँगते रहो... परमेश्वर से आपको जो चाहिए उस की खोज करते रहो... उसे ढूंढें ... दरवाजे को खटखटाते रहें"" (देखें: तुम के प्रारूप और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

δοθήσεται ὑμῖν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर तुम्हें यह दे देगा"" या ""तुम इसे प्राप्त कर लोगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

κρούετε

दरवाजे को खटखटाना का अर्थ इसे कुछ बार थपथपाना है जिससे कि घर के अन्दर व्यक्ति को पता होता है कि आप बाहर खड़े है। इसका अनुवाद उस तरीके जैसे ""ऊँची आवाज में बुलाना"" या ""खांसना"" या ""ताली बजाना"" इत्यादि में भी किया जा सकता है जिस तरह से आपकी संस्कृति में लोग दिखाते हैं कि वे आपके यहाँ आ पहुँचे हैं। यहाँ, इसका अर्थ है कि एक व्यक्ति को तब तक प्रार्थना करनी चाहिए जब तक कि उसे परमेश्वर से उत्तर प्राप्त नहीं हो जाता। (देखें: रूपक)

ἀνοιγήσεται ὑμῖν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर तुम्हारे लिए दरवाजा खोल देगा"" या ""परमेश्वर आपको भीतर आने के लिए स्वागत करेगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 11:11

यीशु अपने चेलों को प्रार्थना के बारे में शिक्षा देता है।

τίνα δὲ ἐξ ὑμῶν τὸν πατέρα…ἰχθύος, ὄφιν αὐτῷ ἐπιδώσει?

यीशु अपने चेलों को शिक्षा देने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। इसे एक कथन के रूप में भी लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम में से कोई पिता भी ... एक मछली"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 11:12

ἢ καὶ αἰτήσει…αὐτῷ σκορπίον?

यीशु अपने चेलों को शिक्षा देने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। इसे एक कथन के रूप में भी लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""और यदि वह अंडा मांगे तो तुम उसे एक बिच्छू कभी नहीं दोगे"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

σκορπίον

एक बिच्छू एक मकड़ी के जैसे होता है, परन्तु उसमें एक जहरीली डंक वाली पूंछ होती है। यदि बिच्छुओं को आप नहीं जानते हैं, तो आप इसे ""जहरीले मकड़ी"" या ""मकड़ी जो डंक मारती"" है के रूप में अनुवाद कर सकते हैं (देखें: अज्ञात का अनुवाद)

Luke 11:13

εἰ…ὑμεῖς πονηροὶ ὑπάρχοντες, οἴδατε

क्योंकि तुम जो बुरे हो जानते हो या ""भले ही तुम पापी हो, तुम जानते हो

πόσῳ μᾶλλον ὁ Πατὴρ ὁ ἐξ οὐρανοῦ, δώσει Πνεῦμα Ἅγιον…αὐτόν?

यह कितना अधिक निश्चित है कि स्वर्ग में तुम्हारा पिता उसे पवित्र आत्मा.... देगा? यीशु अपने चेलों को शिक्षा देने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। इसे एक कथन के रूप में भी लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम यह सुनिश्चित कर सकते हो कि स्वर्ग से तुम्हारा पिता उसे पवित्र आत्मा... देगा।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 11:14

एक गूँगे व्यक्ति में से दुष्टात्मा को निकाल दिए जाने के पश्चात् यीशु से प्रश्न किया जाता है।

καὶ

लेखक एक नई घटना के आरम्भ को चिह्नित करने के लिए इस शब्द का उपयोग करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἦν ἐκβάλλων δαιμόνιον

अतिरिक्त जानकारी जोड़ना सहायतापूर्ण हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु एक व्यक्ति में से दुष्टात्मा निकाल रहा था"" या ""यीशु दुष्टात्मा को एक व्यक्ति को छोड़ देने का कारण बन रहा था"" (देखें: पदन्यूनता)

δαιμόνιον κωφόν

दुष्टात्माओं के पास लोगों को बोलने से रोकने की शक्ति है। वैकल्पिक अनुवाद: ""दुष्टात्मा जिसने उस व्यक्ति को बोलने में असमर्थ बनाया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

καὶ

इस शब्द का उपयोग यह पता लगाने के लिए किया जाता है कि कार्यवाही कहाँ आरम्भ होती है। यदि आपकी भाषा में ऐसा करने का कोई और तरीका है, तो आप इसे यहाँ उपयोग करने पर विचार कर सकते हैं। जब दुष्टात्मा मनुष्य से निकलता है, तो कुछ लोग यीशु की आलोचना करते हैं, और जो यीशु को दुष्ट आत्माओं के बारे में शिक्षा देने का कारण बनता है।

τοῦ δαιμονίου ἐξελθόντος

अतिरिक्त जानकारी जोड़ने सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब दुष्टात्मा उस व्यक्ति से बाहर चला गया"" या ""जब दुष्टात्मा ने उस व्यक्ति को छोड़ दिया"" (देखें: पदन्यूनता)

ἐλάλησεν ὁ κωφός

वह व्यक्ति जो अब बोलने में असमर्थ था, अब बोलता है

Luke 11:15

ἐν Βεελζεβοὺλ τῷ ἄρχοντι τῶν δαιμονίων, ἐκβάλλει τὰ δαιμόνια

वह दुष्टात्माओं को उनके शासक बालजबूल की शक्ति से बाहर निकाल रहा है

Luke 11:16

यीशु भीड़ को उत्तर देना आरम्भ कर देता है।

ἕτεροι δὲ πειράζοντες

अन्य लोगों ने यीशु की जाँच की। वे चाहते थे कि वह यह प्रमाणित करे कि उसका अधिकार परमेश्वर की ओर से था।

σημεῖον ἐξ οὐρανοῦ ἐζήτουν παρ’ αὐτοῦ

और उसे स्वर्ग से एक चिन्ह देने के लिए कहा या ""यह मांग की कि वह स्वर्ग से एक चिन्ह दे।"" इस तरह वे चाहते थे कि वह प्रमाणित करे कि उसका अधिकार परमेश्वर की ओर से था।

Luke 11:17

πᾶσα βασιλεία ἐφ’ ἑαυτὴν διαμερισθεῖσα ἐρημοῦται

यहाँ राज्य लोगों को प्रकट करता है। इसे क्रिया के सक्रिय रूप में भी कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि एक राज्य के लोग आपस में ही लड़ते हैं, तो वे अपने राज्य को नष्ट कर देंगे"" (देखें: लक्षणालंकार और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

οἶκος ἐπὶ οἶκον πίπτει

यहाँ ""घर"" एक परिवार को दर्शाता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि परिवार के सदस्य एक-दूसरे से लड़ते हैं, तो वे स्वयं ही परिवार को नष्ट कर देंगे"" (देखें: लक्षणालंकार)

πίπτει

उजड़ जाता और नष्ट हो जाता है। घर गिरने का यह चित्र एक परिवार के नाश को दर्शाता है जब सदस्य एक-दूसरे से लड़ते हैं। (देखें: रूपक)

Luke 11:18

εἰ…ὁ Σατανᾶς ἐφ’ ἑαυτὸν διεμερίσθη

शैतान यहाँ उन दुष्टात्माओं की बात कर रहा है जो शैतान के साथ-साथ शैतान का अनुसरण करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि शैतान और उसके राज्य के सदस्य ही आपस में एक दूसरे के साथ लड़ रहे हैं तो"" (देखें: लक्षणालंकार)

εἰ…ὁ Σατανᾶς…πῶς σταθήσεται ἡ βασιλεία αὐτοῦ?

यीशु लोगों को शिक्षा देने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। इसे एक कथन के रूप में भी लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि शैतान ... उसका राज्य नहीं टिकेगा।"" या ""यदि शैतान ... उसका राज्य नष्ट हो जाएगा।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ὅτι λέγετε, ἐν Βεελζεβοὺλ ἐκβάλλειν με τὰ δαιμόνια

क्योंकि तुम कहते हैं कि यह बालजबूल की शक्ति से है जिसकी सहायता से मैं दुष्टात्माओं को लोगों में से निकालता हूँ। उनके तर्क के अगले भाग को स्पष्ट रूप से बताया जा सकता है: वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि तुम कहते हो कि यह बालजबूल की शक्ति से है जिसकी सहायता से मैं दुष्टात्माओं को लोगों में से निकालता हूँ। इसका अर्थ यह होगा कि शैतान स्वयं अपने विरुद्ध विभाजित हो गया है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 11:19

εἰ δὲ ἐγὼ…οἱ υἱοὶ ὑμῶν ἐν τίνι ἐκβάλλουσιν?

यदि मैं... किसकी शक्ति से तुम्हारे अनुयायी लोगों में दुष्टात्माओं को लोगों में से निकाल जाने के लिए मजबूर करते हैं? यीशु लोगों को शिक्षा देने के लिए एक प्रश्न का प्रयोग करता है। इसे एक कथन के रूप में अनुवादित किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि मैं ... तो हमें इस बात से सहमत होना चाहिए कि तुम्हारे अनुयायी भी बालजबूल की शक्ति से दुष्टात्माओं को बाहर निकालते हैं। परन्तु तुम विश्वास नहीं करते कि यह सत्य है। ""(देखें: भाषणगत प्रश्न और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

αὐτοὶ ὑμῶν κριταὶ ἔσονται

तेरे अनुयायी जो परमेश्वर की सामर्थ्य से दुष्टात्माओं को बाहर निकालते हैं, वे ऐसा कहने के साथ दोष लगाएँगे कि मैंने बालजबूल की शक्ति से दुष्टात्माओं को बाहर निकाला है

Luke 11:20

ἐν δακτύλῳ Θεοῦ

परमेश्वर की ऊँगली"" परमेश्वर की शक्ति को प्रकट करती है। (देखें: लक्षणालंकार)

ἄρα ἔφθασεν ἐφ’ ὑμᾶς ἡ Βασιλεία τοῦ Θεοῦ

इससे पता चलता है कि परमेश्वर का राज्य तुम्हारे पास आ गया है

Luke 11:21

ὅταν ὁ ἰσχυρὸς…ἐν εἰρήνῃ ἐστὶν τὰ ὑπάρχοντα αὐτοῦ

यह यीशु के बारे में शैतान और उसकी दुष्टात्माओं को पराजित करने के बारे में बताता है मानो कि यीशु एक सामर्थी व्यक्ति था जो एक शक्तिशाली व्यक्ति से वह सब कुछ को ले लेता है जो उससे सम्बन्धित होता है। (देखें: रूपक)

ἐν εἰρήνῃ ἐστὶν τὰ ὑπάρχοντα αὐτοῦ

कोई भी उसकी वस्तुओं को चुरा नहीं सकता है

Luke 11:22

ἐπὰν…ἰσχυρότερος αὐτοῦ…τὰ σκῦλα αὐτοῦ διαδίδωσιν

यह यीशु के बारे में शैतान और उसकी दुष्टात्माओं को पराजित करने के बारे में बताता है मानो कि यीशु एक सामर्थी व्यक्ति था जो एक शक्तिशाली व्यक्ति से वह सब कुछ को ले लेता है जो उससे सम्बन्धित होता है। (देखें: रूपक)

τὴν πανοπλίαν αὐτοῦ αἴρει

व्यक्ति के हथियार और सुरक्षा को हटा देता है

τὰ σκῦλα αὐτοῦ διαδίδωσιν

उसकी सम्पत्ति को चुरा लेता है या ""वह सब कुछ ले लेता है जिसे वह चाहता है

Luke 11:23

ὁ μὴ ὢν μετ’ ἐμοῦ, κατ’ ἐμοῦ ἐστιν; καὶ ὁ μὴ συνάγων μετ’ ἐμοῦ, σκορπίζει

यह किसी भी व्यक्ति या लोगों के किसी भी समूह को प्रकट करता है। ""जो कोई मेरे साथ नहीं है वह मेरे विरूद्ध है, और जो कोई मेरे साथ इकट्ठा नहीं करता बिखरा देता है"" या ""जो मेरे साथ नहीं हैं वे मेरे विरूद्ध हैं, और जो मेरे साथ इकट्ठे नहीं करते बिखरा देते हैं

ὁ μὴ ὢν μετ’ ἐμοῦ

जो मेरा समर्थन नहीं करता या ""जो मेरे साथ काम नहीं करता

κατ’ ἐμοῦ ἐστιν

मेरे विरूद्ध कार्य करता है

ὁ μὴ συνάγων μετ’ ἐμοῦ, σκορπίζει

यीशु उन चेलों को इकट्ठा करने का वर्णन कर रहा है जो उसके पीछे चलते हैं। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कोई भी जो लोगों को मेरे पास आने और मेरे पीछे आने का कारण नहीं बनाता है, उन्हें मुझसे दूर ले जाने का कारण बनता है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 11:24

ἀνύδρων τόπων

यह ""निर्जन स्थानों"" को दर्शाता है जहाँ दुष्ट आत्माएँ घूमती हैं।

μὴ εὑρίσκον

यदि दुष्टात्मा को वहाँ कोई विश्राम नहीं मिलता है

τὸν οἶκόν μου, ὅθεν ἐξῆλθον

यह उस व्यक्ति को दर्शाता है जिसमें वह रहती थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिस व्यक्ति में मैं रहती थी"" (देखें: रूपक)

Luke 11:25

εὑρίσκει σεσαρωμένον καὶ κεκοσμημένον

यह रूपक एक ऐसे व्यक्ति के बारे में बोलता है मानो कि वह एक घर था जो साफ हो गया था और जिसमें वस्तुएँ अपने स्थान पर रखी गई थीं। इसका तात्पर्य यह है कि घर अभी भी खाली है। इसे क्रिया के सक्रिय रूप में बताया जा सकता है कि उस जानकारी को स्पष्ट किया गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह पता चलता है कि एक व्यक्ति एक ऐसे घर जैसा है जिसमें किसी के साफ किया हो और स्थान अनुसार रहने के लिए सब वस्तुओं को डाल दिया हो, परन्तु यह खाली हो गया है"" या ""यह पता चला है कि एक व्यक्ति एक ऐसे घर जैसा है जो स्वच्छ और व्यवस्थित है, परन्तु खाली है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और रूपक)

Luke 11:26

χείρονα τῶν πρώτων

शब्द ""पहले"" मनुष्य की उस अवस्था को बतलाता है, जब उसके पास अशुद्ध आत्मा थी, इससे पहले कि वह उसे छोड़ देती। वैकल्पिक अनुवाद: ""आत्मा के छोड़ कर जाने से पहले उसकी अवस्था बुरी थी"" (देखें: पदन्यूनता)

Luke 11:27

यहाँ यीशु की शिक्षाओं में एक विराम है। एक स्त्री एक आशीष को देती है और यीशु उत्तर देता है।

ἐγένετο δὲ

कहानी में एक महत्वपूर्ण घटना को चिन्हित करने के लिए इस वाक्यांश का उपयोग यहां किया गया है। यदि आपकी भाषा में ऐसा करने का कोई और तरीका है, तो आप इसे यहाँ उपयोग करने पर विचार कर सकते हैं। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἐπάρασά…φωνὴν…ἐκ τοῦ ὄχλου

इस मुहावरे का अर्थ ""भीड़ के शोर से अधिक ऊँची आवाज में बात करना"" (देखें: मुहावरे)

μακαρία ἡ κοιλία ἡ βαστάσασά σε, καὶ μαστοὶ οὓς ἐθήλασας

एक स्त्री के शरीर के भागों का उपयोग पूरी स्त्री को दर्शाने के लिए किया गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उस स्त्री के लिए कितना अच्छा है जिसने तुझे जन्म दिया और उसने तुझे अपने स्तनों से दूध पिलाया"" या ""जिस स्त्री ने तुझे जन्म दिया और उसे अपने स्तनों से तुझे दूध पिलाया उसे कितना अधिक हर्षित होना चाहिए"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Luke 11:28

μενοῦν, μακάριοι οἱ ἀκούοντες

यह उन लोगों के लिए भी उत्तम है

οἱ ἀκούοντες τὸν λόγον τοῦ Θεοῦ

उस सन्देश को सुने जिसे परमेश्वर ने कहा

Luke 11:29

यीशु ने भीड़ को शिक्षा देना जारी रखा।

τῶν δὲ ὄχλων ἐπαθροιζομένων

जब और अधिक लोग भीड़ में सम्मिलित हो रहे थे या ""जब भीड़ बढ़ रही थी

ἡ γενεὰ αὕτη γενεὰ πονηρά ἐστιν;…ζητεῖ…αὐτῇ

यहाँ ""पीढ़ी"" लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस समय रहने वाले लोग बुरे लोग हैं। वे उनसे... चाहते है"" या ""इस समय रहने वाले तुम लोग बुरे लोग हो। तुम अपने लिए.... चाहते हो

σημεῖον ζητεῖ

किस प्रकार के चिन्ह की खोज, के इस बारे में जानकारी स्पष्ट की जा सकती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह चाहते हो कि मैं प्रमाण के रूप में एक आश्चर्यकर्म करूँ कि मैं परमेश्वर की ओर से आया हूँ"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

σημεῖον οὐ δοθήσεται αὐτῇ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर इसे एक चिन्ह के रूप में नहीं देगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὸ σημεῖον Ἰωνᾶ

योना के साथ क्या हुआ था या ""आश्चर्यकर्म जो परमेश्वर ने योना के लिए किया था

Luke 11:30

καθὼς γὰρ ἐγένετο Ἰωνᾶς…σημεῖον, οὕτως…τῇ γενεᾷ ταύτῃ

इसका अर्थ यह है कि यीशु उस दिन यहूदियों के लिए परमेश्वर से एक चिन्ह देने के लिए ठीक वैसे ही कार्य करेगा जैसा कि योना नीनवे के लोगों के लिए परमेश्वर की ओर एक चिन्ह के रूप में ठहरा था।

ὁ Υἱὸς τοῦ Ἀνθρώπου

यीशु स्वयं को ही प्रकट कर रहा है।

τῇ γενεᾷ ταύτῃ

आज के दिन रहते हुए लोग

Luke 11:31

βασίλισσα νότου

यह शीबा की रानी को बतलाता है। शीबा इस्राएल के दक्षिण में एक साम्राज्य था।

ἐγερθήσεται ἐν τῇ κρίσει μετὰ τῶν ἀνδρῶν τῆς γενεᾶς ταύτης

उठ खड़े होंगे और इस समय के लोगों का न्याय करेंगे

ἦλθεν ἐκ τῶν περάτων τῆς γῆς

इस मुहावरे का अर्थ यह है कि वह बहुत दूर से आई थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह बहुत ही दूरी से आई थी"" या ""वह बहुत दूर के स्थान से आई थी"" (देखें: मुहावरे)

πλεῖον Σολομῶνος ὧδε

यीशु स्वयं के बारे में बात कर रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं, जो सुलैमान से बड़ा हूँ, यहां हूँ"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

πλεῖον Σολομῶνος

यीशु स्वयं के बारे में बात कर रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं सुलैमान से बड़ा हूँ"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 11:32

ἄνδρες Νινευεῖται

स्पष्ट रूप से यह बताने में सहायक हो सकता है कि यह प्राचीन शहर नीनवे को प्रकट करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे लोग जो प्राचीन शहर नीनवे में रहते थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἄνδρες

इसमें पुरुष और स्त्री दोनों ही सम्मिलित हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग"" (देखें: जब पुल्लिंग शब्दों में स्त्रियाँ शामिल होती हैं)

τῆς γενεᾶς ταύτης

इस समय के लोग

ὅτι μετενόησαν

नीनवे के लोगों के लिए पश्चाताप किया

πλεῖον Ἰωνᾶ ὧδε

यीशु स्वयं के बारे में बात कर रहा है। स्पष्ट रूप से यह बताने में सहायक हो सकता है कि उन्होंने उसकी बात नहीं सुनी। वैकल्पिक अनुवाद: ""यद्यपि मैं ही योना से बड़ा हूँ, फिर भी तुमने पश्चाताप नहीं किया है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 11:33

पद 33-36 एक रूपक हैं जहाँ यीशु अपनी शिक्षा के बारे में ""प्रकाश"" के रूप में बोलता है जो यह चाहता है कि उसके चेले उनका पालन करें और दूसरों के साथ साझा करें। वह उन लोगों के बारे में बोलता है जो उसकी शिक्षा को नहीं जानते और उसे ""अन्धेरे"" के रूप में मान कर स्वीकार नहीं करते हैं। (देखें: रूपक)

यीशु भीड़ को शिक्षा देना समाप्त करता है।

εἰς κρύπτην τίθησιν, οὐδὲ ὑπὸ τὸν μόδιον

इसे छुपाता है या टोकरी के नीचे रखता है

ἀλλ’ ἐπὶ τὴν λυχνίαν

इस उपवाक्य में समझे हुए विषय और क्रिया की आपूर्ति की जा सकती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु एक व्यक्ति इसे दीवट पर रखता है"" या ""परन्तु एक व्यक्ति इसे एक मेज के ऊपर रखता है"" (देखें: पदन्यूनता)

Luke 11:34

ὁ λύχνος τοῦ σώματός ἐστιν ὁ ὀφθαλμός σου

रूपक के इस भाग में, जिन बातों को उन्होंने यीशु को करते हुए देखा उनके समझ प्रदान की ठीक वैसे ही जैसे एक आँख शरीर को प्रकाश प्रदान करती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तेरी आँख शरीर के लिए दीपक की तरह है"" (देखें: रूपक)

ὁ ὀφθαλμός σου

आँख दृष्टि के समानार्थी के जैसे है। (देखें: लक्षणालंकार)

τοῦ σώματός

शरीर किसी व्यक्ति के जीवन के लिए एक समानार्थी के जैसे है। (देखें: उपलक्षण अलंकार)

ὅταν ὁ ὀφθαλμός σου ἁπλοῦς ᾖ

यहाँ ""आँख"" दृष्टि के लिए समानार्थी के जैसे है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब आपकी दृष्टि अच्छी होती है"" या ""जब आप अच्छी तरह से देखते हैं"" (देखें: लक्षणालंकार)

καὶ ὅλον τὸ σῶμά σου φωτεινόν ἐστιν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रकाश तेरे पूरे शरीर को भर देगा"" या ""तू सब कुछ स्पष्ट रूप से देख पाएगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐπὰν…πονηρὸς ᾖ

यहाँ ""आँख"" दृष्टि के लिए समानार्थी जैसा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब तेरी दृष्टि खराब होती है"" या ""जब तू ठीक से नहीं देख पाता है"" (देखें: लक्षणालंकार)

καὶ τὸ σῶμά σου σκοτεινόν

तू कुछ भी देखने में सक्षम नहीं होगा

Luke 11:35

σκόπει…μὴ τὸ φῶς τὸ ἐν σοὶ σκότος ἐστίν

सुनिश्चित करें कि जिसे आप प्रकाश सोचते हैं वह वास्तव में कहीं अन्धेरा तो नहीं है या ""सुनिश्चित करें कि आप जानते हैं कि प्रकाश क्या है और सुनिश्चित करें कि आप जानते हैं कि अन्धेरा क्या है

Luke 11:36

ἔσται φωτεινὸν ὅλον, ὡς ὅταν ὁ λύχνος τῇ ἀστραπῇ φωτίζῃ σε

यीशु एक ही जैसे सत्य को उपमा के रूप में बताता है। वह उन लोगों के बारे में बोलता है जो सत्य से भरे हुए हैं मानो कि वे एक दीपक हैं जो चमक से उजाला देता है। (देखें: उपमा)

Luke 11:37

यीशु को फरीसी के घर में खाने के लिए आमन्त्रित किया जाता है।

ἐν δὲ τῷ λαλῆσαι

लेखक एक नई घटना के आरम्भ को चिन्हित करने के लिए इन शब्दों का उपयोग करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

यह फरीसी के घर को दर्शाता है।

ἀνέπεσεν

यह एक आराम से भोजन करने के लिए एक रिवाज था जैसे कि खाने के लिए आराम से मेज के चारों ओर झुकते हुए भोजन के लिए इस रात्रिभोज का दिया जाना। आप लोगों द्वारा भोजन खाए जाने वाले तरीके के लिए आपकी भाषा में उपयोग होने वाले शब्दों का उपयोग अनुवाद करने के लिए सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेज पर बैठे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 11:38

οὐ πρῶτον ἐβαπτίσθη

फरीसियों का एक रिवाज था कि लोगों को परमेश्वर के सामने अनुष्ठानिक रूप से शुद्ध होने के लिए अपने हाथों को धोना होता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""अपने हाथ धोए"" या ""अनुष्ठानिक रीति से शुद्ध होने के लिए अपने हाथ धोए"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 11:39

यीशु एक रूपक का उपयोग कर फरीसी से बात करना आरम्भ कर देता है। वह प्याले और कटोरे को साफ करने के तरीके की तुलना स्वयं को कैसे साफ करते हैं से करता है। (देखें: रूपक)

τὸ ἔξωθεν τοῦ ποτηρίου καὶ τοῦ πίνακος

बर्तनों के बाहर धोना फरीसियों की अनुष्ठानिक प्रथाओं का भाग था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

τὸ δὲ ἔσωθεν ὑμῶν γέμει ἁρπαγῆς καὶ πονηρίας

रूपक का यह भाग सावधानीपूर्वक तरीके से बर्तनों को बाहर से साफ करने के विपरीत है जिसमें वे अपनी आन्तरिक अवस्था को अनदेखा करते हैं। (देखें: रूपक)

Luke 11:40

ἄφρονες!

यह अभिव्यक्ति पुरुषों और स्त्रियों को प्रकट कर सकती है, यद्यपि वे सभी फरीसी जिनके साथ यीशु यहाँ बात कर रहे थे वे ही पुरुष थे।

οὐχ ὁ ποιήσας τὸ ἔξωθεν, καὶ τὸ ἔσωθεν ἐποίησεν?

यीशु फरीसियों को ताड़ना देने के लिए एक प्रश्न का प्रयोग करता है क्योंकि वे यह नहीं समझते थे कि उनके मन जो है, वह परमेश्वर के लिए अति महत्वपूर्ण है। इसे एक कथन के रूप में भी लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिसने बाहरी भाग को बनाया उसी ने भीतर भाग को भी बनाया है!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 11:41

τὰ ἐνόντα δότε ἐλεημοσύνην

यह प्रकट है कि उन्हें अपने प्याले और कटोरे के साथ क्या करना चाहिए। वैकल्पिक अनुवाद: ""गरीबों को दान कर दें जो आपके प्याले और कटोरे के भीतर हैं"" या ""गरीबों के प्रति उदार रहें"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

πάντα καθαρὰ ὑμῖν ἐστιν

आप पूरी तरह से साफ हो जाएँगे या ""आप भीतर और बाहर दोनों से साफ हो जाएँगे

Luke 11:42

ἀποδεκατοῦτε τὸ ἡδύοσμον, καὶ τὸ πήγανον, καὶ πᾶν λάχανον

तुम परमेश्वर को अपने बाग के पोदीने और सुदाब का, और सब भाँति के साग-पात का दसवाँ अंश देते हो। यीशु एक उदाहरण दे रहा था कि फरीसी अपनी आय का दसवाँ अंश देते थे।

τὸ ἡδύοσμον, καὶ τὸ πήγανον

ये जड़ी बूटीयाँ अर्थात् सुदाब हैं। लोग स्वाद लेने के लिए इन पत्तियों में से कुछ को ही अपने भोजन में डालते थे। यदि लोगों को पता नहीं है कि सुदाब और पोदीना क्या हैं, तो आप उन जड़ी-बूटियों के नाम को या एक सामान्य अभिव्यक्ति जैसे ""जड़ी बूटियों को"" उपयोग कर सकते हैं जिन्हें वे जानते हैं। (देखें: अज्ञात का अनुवाद)

πᾶν λάχανον

सम्भावित अर्थ 1) ""हर दूसरी सब्जी"" 2) ""हर दूसरे बगीचे की जड़ी बूटी"" या 3) ""हर दूसरे बगीचे के पौधे""।

τὴν ἀγάπην τοῦ Θεοῦ

परमेश्वर से प्रेम या ""परमेश्वर के लिए प्रेम।"" परमेश्वर वह है जिसे प्रेम किया जाता है।

κἀκεῖνα μὴ παρεῖναι

असफल हुए बिना जोर दिया जाता है कि ऐसा सदैव किया जाना चाहिए। इसे सकारात्मक रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""और सदैव अन्य अच्छी बातों को करने के लिए"" (देखें: विडंबना)

Luke 11:43

यीशु फरीसी से बात करना समाप्त कर देता है।

τὴν πρωτοκαθεδρίαν

सबसे उत्तम आसन

τοὺς ἀσπασμοὺς

तुम लोगों को विशेष सम्मान के साथ अभिवादन को लिए जाना पसन्द आता है

Luke 11:44

ἐστὲ ὡς τὰ μνημεῖα τὰ ἄδηλα, καὶ οἱ ἄνθρωποι οἱ περιπατοῦντες ἐπάνω οὐκ οἴδασι

फरीसी अज्ञात् कब्रों की तरह हैं क्योंकि वे अनुष्ठानिक रूप से शुद्ध दिखते हैं, परन्तु वे अपने आस-पास के लोगों को अशुद्ध कर देने का कारण बनते हैं। (देखें: उपमा)

τὰ μνημεῖα τὰ ἄδηλα

ये कब्रें भूमि में खोदे हुए गड्ड़े ऐसे थे जहाँ एक मृत शरीर को दफनाया जाता था। उनके पास सफेद पत्थर नहीं थे जिन्हें लोग सामान्य रूप से कब्रों पर रख देते थे ताकि अन्य उन्हें देख सकें।

οὐκ οἴδασιν

जब यहूदी कब्र पर चले जाते थे, तो वे अनुष्ठानिक रीति से अशुद्ध हो जाते थे। इन अज्ञात् कब्रों ने उन्हें गलती से ऐसा करने का कारण बना दिया। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसे पहचाने बिना और अनुष्ठानिक रीति से अशुद्ध हो जाते थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 11:45

यीशु एक यहूदी शिक्षक को उत्तर देना आरम्भ कर देता है।

τις τῶν νομικῶν

यह कहानी में एक नया पात्र को पेश करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ταῦτα λέγων, καὶ ἡμᾶς ὑβρίζεις

फरीसियों के बारे में यीशु की टिप्पणियाँ यहूदी व्यवस्था के शिक्षकों पर भी लागू होती थीं।

Luke 11:46

ὑμῖν τοῖς νομικοῖς οὐαί!

यीशु ने यह स्पष्ट किया कि वह फरीसियों के साथ व्यवस्था के शिक्षकों के कार्यों की भी निन्दा करना चाहता था।

φορτίζετε τοὺς ἀνθρώπους φορτία δυσβάστακτα

तुम लोगों पर बोझ डालते हैं जो बहुत भारी होता और जिसे वे नहीं ले जा सकते हैं। यीशु लोगों को कई नियम देने के बारे में बोलता है मानो कि एक व्यक्ति उन्हें कोई भारी वस्तु ले जाने को दे रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम लोगों को उनका पालन करने के लिए बहुत सारे नियम देकर बोझ देते हैं"" (देखें: रूपक)

ἑνὶ τῶν δακτύλων ὑμῶν οὐ προσψαύετε τοῖς φορτίοις

सम्भावित अर्थ 1) ""लोगों को उन बोझों को ले जाने में सहायता करने के लिए कुछ भी करें"" या 2) ""उन बोझों को स्वयं ले जाने के लिए कोई प्रयास करें।

Luke 11:48

ἄρα μαρτυρεῖτε καὶ συνευδοκεῖτε

यीशु फरीसियों और व्यवस्था के शिक्षकों को ताड़ना दे रहा है। वे भविष्यवक्ताओं की हत्या के बारे में जानते हैं, परन्तु उन्हें मारने के लिए अपने पूर्वजों की निन्दा नहीं करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस तरह से, उन्हें अस्वीकार करने की अपेक्षा, तुम पुष्टि करते और सहमति देते हो"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 11:49

διὰ τοῦτο

यह पिछले कथन को प्रकट करता है कि व्यवस्था के शिक्षकों ने नियमों को देने के साथ लोगों को बोझ दिया।

ἡ σοφία τοῦ Θεοῦ εἶπεν

ज्ञान को ऐसे लिया जाता है जैसे कि वह परमेश्वर के लिए बोलने में सक्षम था। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने अपने ज्ञान में होकर कहा"" या ""परमेश्वर ने बुद्धिमानी से कहा"" (देखें: मानवीकरण)

ἀποστελῶ εἰς αὐτοὺς προφήτας καὶ ἀποστόλους

मैं अपने लोगों के पास भविष्यद्वक्ताओं और प्रेरितों को भेजूँगा। परमेश्वर ने पहले ही घोषित किया था कि वह यहूदी दर्शकों के पूर्वजों के पास भविष्यद्वक्ताओं और प्रेरितों को भेज देगा जिनके साथ यीशु बात कर रहा था।

ἐξ αὐτῶν ἀποκτενοῦσιν καὶ διώξουσιν

मेरे लोग कुछ भविष्यद्वक्ताओं और प्रेरितों को सताएँगे और मार देंगे। परमेश्वर ने पहले ही घोषित कर दिया था कि यहूदी दर्शकों के पूर्वज जिन से यीशु बात कर रहा था, भविष्यद्वक्ताओं और प्रेरितों को सताएँगे और मार डालेंगे।

Luke 11:50

ἐκζητηθῇ τὸ αἷμα πάντων τῶν προφητῶν, τὸ ἐκχυννόμενον…ἀπὸ τῆς γενεᾶς ταύτης

जिन लोगों से यीशु बात कर रहा था, वे अपने पूर्वजों के द्वारा भविष्यद्वक्ताओं की हत्या के लिए उत्तरदायी होंगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसलिए, परमेश्वर ने इस पीढ़ी को भविष्यवक्ताओं की सभी मौतों के लिए उत्तरदायी ठहराएगा जिन्हें लोगों ने मारा है"" (देखें: लक्षणालंकार और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὸ αἷμα πάντων τῶν προφητῶν, τὸ ἐκχυννόμενον

लूह ... बहाया"" का अर्थ है कि जब वे मारे गए थे तो खून बहने लगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""भविष्यवक्ताओं की हत्या"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 11:51

Ζαχαρίου

यह कदाचित् पुराने नियम में याजक था जिसने मूर्तिपूजा के लिए इस्राएल के लोगों को डांटा था। यह यूहन्ना बपतिस्मा देने वालो का पिता नहीं था।

τοῦ ἀπολομένου

इसे क्रिया के सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों ने मारा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 11:52

यीशु यहूदी शिक्षक को उत्तर देना समाप्त करता है।

ἤρατε τὴν κλεῖδα τῆς γνώσεως…τοὺς εἰσερχομένους ἐκωλύσατε

यीशु परमेश्वर की सच्चाई के बारे में बोलता है मानो कि वह एक ऐसा घर था जिसमें शिक्षकों ने प्रवेश करने से इन्कार कर दिया और दूसरों को प्रवेश करने की कुँजी नहीं देनी चाही। इसका अर्थ यह है कि शिक्षक वास्तव में परमेश्वर को नहीं जानते हैं, और वे दूसरों को भी उसे जानने से रोकते हैं। (देखें: रूपक)

τὴν κλεῖδα

यह किसी घर या भण्डार कक्ष के रूप में उन तक पहुँचने के साधनों का प्रतिनिधित्व करता है।

αὐτοὶ οὐκ εἰσήλθατε

तुम स्वयं ज्ञान पाने के लिए नहीं जाते हो

Luke 11:53

यह कहानी के उस भाग का अन्त है जहाँ यीशु फरीसी के घर पर खाता है। ये पद पाठक को बताते हैं कि कहानी के मुख्य भाग के पश्चात् क्या होता है।

κἀκεῖθεν ἐξελθόντος αὐτοῦ

यीशु के द्वारा फरीसी के घर छोड़ दिए जाने के पश्चात्

ἀποστοματίζειν αὐτὸν περὶ πλειόνων

शास्त्रियों और फरीसियों ने अपने विचारों के बचाव में तर्क नहीं दिए, परन्तु यीशु को पकड़ने के प्रयास करने लगे ताकि वे उस पर परमेश्वर की व्यवस्था को तोड़ने का आरोप लगा सकें।

Luke 11:54

αὐτὸν θηρεῦσαί τι ἐκ τοῦ στόματος αὐτοῦ

इसका अर्थ है कि वे चाहते थे कि यीशु कुछ गलत कहें ताकि वे उस पर आरोप लगा सकें। शास्त्रियों और फरीसियों ने अपने विचारों के बचाव में तर्क नहीं दिए, परन्तु यीशु को पकड़ने के प्रयास करने लगे ताकि वे उस पर परमेश्वर की व्यवस्था को तोड़ने का आरोप लगा सकें। (देखें: रूपक)

Luke 12

लूका 12 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय की विशेष धारणाएँ

""आत्मा के विरुद्ध ईशनिन्दा""

कोई भी यह सुनिश्चित रूप से यह नहीं जानता है कि लोग क्या करते हैं या जब वे इस पाप को करते हैं तो वे क्या कहते हैं। यद्यपि, वे कदाचित् ही पवित्र आत्मा और उसके काम का अपमान करते हैं। पवित्र आत्मा के काम का भाग लोगों को यह समझाना है कि वे पापी हैं और उन्हें परमेश्वर की क्षमा को प्राप्त करने की आवश्यकता है। इसलिए, जो भी पाप करना बन्द करने का प्रयास नहीं करता है वह कताचित् आत्मा के विरूद्ध ईशनिन्दा का कार्य कर रहा है। (देखें: निंदा, निन्दा करना, निन्दक और पवित्र आत्मा, परमेश्वर की आत्मा, प्रभु की आत्मा, आत्मा)

सेवक

परमेश्वर अपने लोगों से यह स्मरण रखने की अपेक्षा करता है कि संसार में सब कुछ परमेश्वर से ही सम्बन्धित है। परमेश्वर अपने लोगों को वस्तुएँ देता है ताकि वे उसकी सेवा कर सकें। वह चाहता है कि वह उन्हें वह सब कुछ कर दे जो वह उन्हें देता है जो उसने उन्हें दिया है। एक दिन यीशु अपने सेवकों से पूछेगा कि उसने जो कुछ भी उन्हें दिया था, उसके साथ उन्होंने क्या किया है। वह उन लोगों को प्रतिफल देगा जिन्होंने उन कार्यों को किया है जिसे वह चाहता था, और वह उन लोगों को दंडित करेगा जिन्होंने उन कार्यों को नहीं किया।

विभाजन

यीशु जानता था कि जो लोग उसका अनुसरण नहीं करना चाहते थे वे उनसे घृणा करेंगे जिन्होंने उसका अनुसरण करना चुना। वह यह भी जानता था कि अधिकांश लोग किसी दूसरे की तुलना में अपने परिवार से ज्यादा प्रेम करते हैं। इसलिए वह अपने अनुयायियों को यह समझाना चाहता था कि उनके परिवार को प्रेम करने की अपेक्षा उसके पीछे चलना और उसे प्रसन्न करना उनके लिए अधिक महत्वपूर्ण होना चाहिए (लूका 12: 51-56)।

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

""मनुष्य का पुत्र""

यीशु इस अध्याय में स्वयं को ""मनुष्य का पुत्र"" के रूप में प्रकट करता है ([लूका 12; 8] (./8.md) )। आपकी भाषा लोगों को स्वयं के लिए ऐसे बात करने की अनुमति न दे जैसे कि वे किसी और के बारे में बात कर रहे थे। (देखें: मनुष्य का पुत्र, मनुष्य का पुत्र और प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

Luke 12:1

यीशु अपने चेलों को हजारों लोगों के सामने ही शिक्षा देना आरम्भ कर देता है।

ἐν οἷς

कदाचित् यह उस समय की बात जब शास्त्री और फरीसी उसे फंसाने के लिए एक तरीके की खोज कर रहे थे। लेखक एक नई घटना के आरम्भ को चिन्हित करने के लिए इन शब्दों का उपयोग करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἐπισυναχθεισῶν τῶν μυριάδων τοῦ ὄχλου, ὥστε καταπατεῖν ἀλλήλους

यह पृष्ठभूमि की जानकारी है जो कहानी के सन्दर्भ को बताती है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

τῶν μυριάδων τοῦ ὄχλου

एक बहुत बड़ी भीड़

καταπατεῖν ἀλλήλους

यह शायद इस बात पर जोर देने के लिए बढ़ा चढ़ा कर बोला गया है कि इतने सारे लोग एक साथ इक्ट्ठे थे कि वे एक कदम भी आगे नहीं जा सकते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे एक दूसरे पर गिर पड़ रहे थे"" या ""वे एक दूसरे के पैर पर पैर रख रहे थे"" (देखें: अतिशयोक्ति)

ἤρξατο λέγειν πρὸς τοὺς μαθητὰς αὐτοῦ πρῶτον

यीशु ने सबसे पहले अपने चेलों से बात करनी आरम्भ की, और उनसे कहा

προσέχετε ἑαυτοῖς ἀπὸ τῆς ζύμης, τῶν Φαρισαίων, ἥτις ἐστὶν ὑπόκρισις

जैसे खमीर रोटी के आटे के पूरे टुकड़े में फैल जाता है, उनका पाखण्ड पूरे समुदाय के माध्यम से फैल रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""फरीसियों के पाखण्ड से स्वयं को बचाओ, जो खमीर की तरह है"" या ""सावधान रहें कि आप फरीसियों की तरह ढोंगी नहीं बनें। उनका बुरा व्यवहार हर किसी को प्रभावित करता है जैसे कि खमीर आटे के एक भाग को प्रभावित कर देता है ""(देखें: रूपक)

Luke 12:2

οὐδὲν δὲ…ἐστὶν

शब्द ""परन्तु"" इस पद के आरम्भ में फरीसियों के पाखण्ड के बारे में पिछले पद को जोड़ता है। (देखें: शब्दों और वाक्यांशों को जोड़ना)

οὐδὲν…συνκεκαλυμμένον ἐστὶν, ὃ οὐκ ἀποκαλυφθήσεται

छुपा हुआ सब कुछ सामने आ जाएगा। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग गुप्त रूप से जो कुछ भी करते हैं उसके बारे में पता चल जाएगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

καὶ κρυπτὸν ὃ οὐ γνωσθήσεται

इसका अर्थ यह है कि जो वाक्य के पहले भाग में है वही बात जो इसके सत्य पर जोर देती है। इसे क्रिया के सक्रिय रूप में भी कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग उन बातों के बारे में जानेंगे जिन्हें दूसरों से छिपाने का प्रयास करते हैं"" (देखें: समरूपता और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 12:3

ὧν ὅσα ἐν τῇ σκοτίᾳ εἴπατε, ἐν τῷ φωτὶ ἀκουσθήσεται

यहां ""अन्धेरा"" ""रात"" के लिए एक उपनाम है जो ""व्यक्तिगत्"" होने के लिए एक नाम है। और ""प्रकाश"" ""दिन"" के लिए एक उपनाम है जो ""सार्वजनिक"" होने के लिए एक उपनाम है। वाक्यांश ""सुना जाएगा"" को सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो भी तुमने रात में व्यक्तिगत् रूप से कहा है, लोग उसे दिन के उजाले में सुनेंगे"" (देखें: लक्षणालंकार और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πρὸς τὸ οὖς ἐλαλήσατε

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""किसी अन्य व्यक्ति से फुसफुसाना"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

ἐν τοῖς ταμείοις

एक बन्द कमरे में। यह व्यक्तिगत् रूप से भाषण को दिए जाने को प्रकट करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""गोपनीयता से"" या ""गुप्त रूप से

κηρυχθήσεται

उँची आवाज से चिल्लाया जाएगा। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग घोषणा करेंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐπὶ τῶν δωμάτων

इस्राएल के घरों की समत्तल छतें थीं, इसलिए लोग ऊपर जा सकते थे और उनके ऊपर खड़े हो सकते थे। यदि पाठक यह कल्पना करने का प्रयास कर रहे हैं कि लोग घर के शीर्ष पर कैसे जाएँगे, इसका अनुवाद अधिक सामान्य अभिव्यक्ति के साथ भी किया जा सकता है, जैसे कि ""एक उच्च स्थान से ताकि सभी सुन सकें।

Luke 12:4

λέγω δὲ ὑμῖν, τοῖς φίλοις μου

इस घटना में, यीशु ने अपने चेलों को एक नए विषय पर बोलने के लिए परिवर्तन करता है, ताकि उन्हें न डरने के बारे में बात करने के लिए प्रेरित करे।

μὴ ἐχόντων περισσότερόν τι ποιῆσαι

वे कोई और नुकसान नहीं पहुँचा सकते हैं

Luke 12:5

φοβήθητε τὸν μετὰ…ἔχοντα ἐξουσίαν

वाक्यांश ""जिसको"" परमेश्वर को प्रकट करता है। इसे दोहराया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर से डरें, जिसके पास ... अधिकार है"" या ""परमेश्वर से डर, क्योंकि ... उसके पास अधिकार है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

μετὰ τὸ ἀποκτεῖναι

तुझे मारने के पश्चात्

ἔχοντα ἐξουσίαν ἐμβαλεῖν εἰς τὴν Γέενναν

यह लोगों का न्याय करने के लिए परमेश्वर के अधिकार के बारे में एक सामान्य कथन है। इसका अर्थ यह नहीं है कि यह चेलों के साथ होगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों को नरक में डाल देने का अधिकार है

Luke 12:6

οὐχὶ πέντε στρουθία πωλοῦνται ἀσσαρίων δύο?

यीशु चेलों को शिक्षा देने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम जानते हैं कि केवल दो छोटे सिक्के में पाँच चिड़ियों को बेचा जाता है।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

στρουθία

बहुत छोटे, बीजों को-खाने वाले पक्षी

ἓν ἐξ αὐτῶν οὐκ ἔστιν ἐπιλελησμένον ἐνώπιον τοῦ Θεοῦ

यह सक्रिय और सकारात्मक रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर कभी उनमें से किसी को नहीं भूलता"" या ""परमेश्वर वास्तव में प्रत्येक गौरेया को स्मरण रखता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और विडंबना)

Luke 12:7

καὶ αἱ τρίχες τῆς κεφαλῆς ὑμῶν πᾶσαι ἠρίθμηνται

इसे क्रिया के सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर जानता है कि तुम्हारे सिर के ऊपर कितने बाल हैं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

μὴ φοβεῖσθε

डर का कारण नहीं बताया गया है। सम्भावित अर्थ 1) ""मत डरो कि आपके साथ क्या होगा"" या 2) ""तो उन लोगों से डरो मत जो तुम्हें चोट पहुँचा सकते हैं।

πολλῶν στρουθίων διαφέρετε

तुम कई चिड़ियों की तुलना में परमेश्वर के लिए अधिक मूल्यवान हो

Luke 12:8

λέγω δὲ ὑμῖν

इस घटना में, यीशु ने अपनी शिक्षा में एक नए विषय के ऊपर एक परिवर्तन को चिह्नित करने के लिए अपने दर्शकों को सम्बोधित किया, यह पापांगीकार के बारे में बात करना था।

πᾶς ὃς ἂν ὁμολογήσῃ ἐν ἐμοὶ ἔμπροσθεν τῶν ἀνθρώπων

अंगीकार किया गया है को स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो कोई दूसरों को बताता है कि वह मेरा शिष्य है"" या ""कोई भी जो दूसरों के सामने स्वीकार करता है कि वह मेरे प्रति विश्वासयोग्य है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ὁ Υἱὸς τοῦ Ἀνθρώπου

यीशु स्वयं को ही प्रकट कर रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं, मनुष्य का पुत्र

Luke 12:9

ὁ δὲ ἀρνησάμενός με ἐνώπιον τῶν ἀνθρώπων

वह जो मुझे लोगों के सामने अस्वीकार करता है। अस्वीकार किया जा सकता है को स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो कोई दूसरों के सामने यह स्वीकार करने से इन्कार कर देता है कि वह मेरा शिष्य नहीं है"" या ""यदि कोई यह कहने से इन्कार कर देता है कि वह मेरे प्रति विश्वासयोग्य नहीं है, तो वह"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἀπαρνηθήσεται

उसे अस्वीकार कर दिया जाएगा। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मनुष्य का पुत्र उसे अस्वीकार कर देगा"" या ""मैं इनकार कर दूँगा कि वह मेरा शिष्य है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 12:10

καὶ πᾶς ὃς ἐρεῖ λόγον εἰς τὸν Υἱὸν τοῦ Ἀνθρώπου

जो कोई मनुष्य के पुत्र के बारे में कुछ बुरा कहता है

ἀφεθήσεται αὐτῷ

उसे क्षमा किया जाएगा। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर उसे इसके लिए क्षमा करेगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

εἰς τὸ Ἅγιον Πνεῦμα βλασφημήσαντι

पवित्र आत्मा के विरूद्ध बुरा बोलता है

τῷ δὲ…οὐκ ἀφεθήσεται

इसे क्रिया के सक्रिय रूप के साथ व्यक्त किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु वह ... परमेश्वर उसे क्षमा नहीं करेगा"" या ""परन्तु वह ... परमेश्वर उसे सदैव के लिए दोषी मानेगा ""(देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और विडंबना)

Luke 12:11

ὅταν δὲ εἰσφέρωσιν ὑμᾶς

यह नहीं बताया गया है कि कौन दण्ड को लाता है।

ἐπὶ τὰς συναγωγὰς

यहूदी सभागृहों में धार्मिक अगुवों के सामने तुमसे पहले प्रश्न किए जाएँगे

τὰς ἀρχὰς, καὶ τὰς ἐξουσίας

इन्हें एक कथन में जोड़ना आवश्यक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अन्य लोग जिनके पास देश में अधिकार है

Luke 12:12

ἐν αὐτῇ τῇ ὥρᾳ

उस समय या ""तब

Luke 12:13

यहाँ यीशु की शिक्षाओं में एक विराम है। एक व्यक्ति यीशु से कुछ करने के लिए कहता है और यीशु उसे उत्तर देता है।

μερίσασθαι μετ’ ἐμοῦ τὴν κληρονομίαν

उस संस्कृति में, सामान्य रूप से पिता की मृत्यु के पश्चात्, पिता से विरासत आती थी। आपको यह स्पष्ट करने की आवश्यकता हो सकती है कि बोलने वाले के पिता की मृत्यु हो गई थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे पिता की सम्पत्ति अब मुझे बाँट दे क्योंकि हमारे पिता मर चुके हैं"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 12:14

ἄνθρωπε

सम्भावित अर्थ 1) यह एक अज्ञात् व्यक्ति को सम्बोधित करने का एक तरीका है या 2) यीशु उस व्यक्ति को ताड़ना दे रहा है। आपकी भाषा में इन तरीकों से लोगों को सम्बोधित करने का और कोई तरीका हो सकता है। कुछ लोग इस वचन का बिल्कुल भी अनुवाद नहीं करते हैं।

τίς με κατέστησεν κριτὴν ἢ μεριστὴν ἐφ’ ὑμᾶς?

यीशु व्यक्ति को ताड़ना देने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। कुछ भाषाएं ""तुझे"" या ""तेरा"" के लिए बहुवचन रूप का उपयोग करेंगी। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं तेरा न्यायाधीश या मध्यस्थ नहीं हूँ।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 12:15

εἶπεν δὲ πρὸς αὐτούς

यहाँ शब्द ""उनसे"" कदाचित् लोगों की पूरी भीड़ को प्रकट करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""और यीशु ने भीड़ से कहा

φυλάσσεσθε ἀπὸ πάσης πλεονεξίας

लोभ के प्रत्येक रूप से स्वयं को बचाओ। वैकल्पिक अनुवाद: ""वस्तुओं को रखने में स्वयं को उनके प्रेम में न पड़ने दो"" या ""अधिक वस्तुओं को पाने की इच्छा आपको नियन्त्रित करे

ἡ ζωὴ αὐτοῦ

यह तथ्य का एक सामान्य कथन है। यह किसी विशेष व्यक्ति का सन्दर्भ को नहीं देता है। कुछ भाषाओं में इसके व्यक्त करने का एक तरीका है।

τῷ περισσεύειν…ἐκ τῶν ὑπαρχόντων αὐτῷ

उसके पास कितनी वस्तुएँ हैं या ""उसके पास कितना अधिक धन है

Luke 12:16

यीशु एक दृष्टांत बताकर अपनी शिक्षा को आगे बढ़ता है । (देखें: दृष्टांत)

εἶπεν δὲ…αὐτοὺς

कदाचित् यीशु अभी भी पूरी भीड़ से ही बात कर रहा था।

εὐφόρησεν

एक बहुत अच्छी फसल पैदा हुई

Luke 12:17

τί ποιήσω, ὅτι οὐκ ἔχω ποῦ συνάξω τοὺς καρπούς μου?

यह प्रश्न दर्शाता है कि व्यक्ति स्वयं के लिए क्या सोच रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझे नहीं पता है कि क्या करना है, क्योंकि मेरे पास मेरी सभी फसलों को भण्डार करने के लिए पर्याप्त स्थान नहीं है!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 12:18

τὰς ἀποθήκας

भवन जहाँ किसान अपनी ने कटनी की हुई फसल को संग्रहित किया करते हैं

τὰ ἀγαθά

धन-सम्पत्ति

Luke 12:19

καὶ ἐρῶ τῇ ψυχῇ μου, ψυχή, ἔχεις πολλὰ ἀγαθὰ κείμενα εἰς ἔτη πολλά; ἀναπαύου, φάγε, πίε, εὐφραίνου.

मैं स्वयं से कहूंगा, 'मेरे पास... वर्षों के लिए है। चैन कर ... मजा ले। ' या ""मैं स्वयं को कहूँगा कि मेरे पास ... वर्षों के लिए है, इसलिए मैं चैन....आनन्द के साथ रह सकता हूँ।"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Luke 12:20

यीशु उद्धृत करता है कि परमेश्वर धनी व्यक्ति को कैसे प्रतिक्रिया देता है, जब इसे वह अपने दृष्टांत में बताता है।

ταύτῃ τῇ νυκτὶ, τὴν ψυχήν σου ἀπαιτοῦσιν ἀπὸ σοῦ

प्राण"" यहाँ किसी व्यक्ति के जीवन को प्रकट करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तू आज रात मर जाएगा"" या ""मैं आज रात से तेरे जीवन ले लूँगा"" (देखें: शिष्टोक्ति और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἃ δὲ ἡτοίμασας, τίνι ἔσται?

जो तूने जो संग्रह किया है उसका मालिक कौन होगा? या ""तूने जो तैयार किया है वह किसका होगा?"" यीशु मनुष्य को यह समझने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है कि वह अब उन वस्तुओं के ऊपर और अधिक अधिकार नहीं रखेगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो वस्तुएँ तूने तैयार की हैं वे किसी और की हैं!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 12:21

ὁ θησαυρίζων

मूल्यवान वस्तुओं को बचाता है

μὴ εἰς Θεὸν πλουτῶν

परमेश्वर के लिए महत्वपूर्ण वस्तुओं के लिए अपने समय और सम्पत्ति का उपयोग नहीं किया है

Luke 12:22

यीशु भीड़ के सामने ही अपने चेलों को शिक्षा देता रहता है।

διὰ τοῦτο

इसी कारण से या ""इस कहानी के कारण जो शिक्षा देती है

λέγω ὑμῖν

मैं तुम्हें कुछ महत्वपूर्ण बताना चाहता हूँ या ""तुम्हें इसे ध्यान से सुनने की आश्यकता है

τῷ σώματι τί ἐνδύσησθε

तेरे शरीर के बारे में तू क्या पहनेगा या ""तेरे शरीर के ऊपर पहनने के लिए पर्याप्त कपड़ों के होने के बारे में

Luke 12:23

ἡ γὰρ ψυχὴ πλεῖόν ἐστιν τῆς τροφῆς

यह ध्यान देने योग्य एक सामान्य कथन है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तेरे द्वारा खाए जाने वाले भोजन की तुलना में जीवन अधिक महत्वपूर्ण है

τὸ σῶμα τοῦ ἐνδύματος

तेरे शरीर के ऊपर पहनने वाले कपड़े से जीवन अधिक महत्वपूर्ण है

Luke 12:24

τοὺς κόρακας

यह या तो 1) कौवों को, जो एक प्रकार का ऐसा पक्षी है जो अधिकतर अनाज को खाता है, या 2) जंगली गिद्धों को, एक प्रकार का पक्षी जो मृत जानवरों के मांस को खाते हैं, दर्शाता है। यीशु के दर्शकों ने गिद्धों को बेकार माना होगा क्योंकि यहूदी लोग इस प्रकार के पक्षियों को नहीं खा सकते थे।

ταμεῖον…ἀποθήκη

ये वे स्थान हैं जहाँ भोजन संग्रह किया जाता है।

πόσῳ μᾶλλον ὑμεῖς διαφέρετε τῶν πετεινῶν!

यह एक विस्मयादिबोधक है, प्रश्न नहीं। यीशु इस तथ्य पर जोर देते हैं कि लोग परमेश्वर के लिए पक्षियों से कहीं अधिक मूल्यवान हैं। (देखें: विस्मयादिबोधक)

Luke 12:25

τίς δὲ ἐξ ὑμῶν…ὴν ἡλικίαν αὐτοῦ προσθεῖναι πῆχυν?

यीशु अपने चेलों को शिक्षा देने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""आप में से कोई भी चिन्तित होने से अपने जीवन को और अधिक नहीं बढ़ा सकता!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἐπὶ τὴν ἡλικίαν αὐτοῦ προσθεῖναι πῆχυν

यह एक रूपक है क्योंकि एक हाथ उस समय की तुलना में लम्बाई की माप है। यह चित्र दिया गया है कि एक व्यक्ति का जीवन ऐसा फैला हुआ कि मानो यह एक बोर्ड, रस्सी, या कोई अन्य भौतिक वस्तु थी। (देखें: रूपक)

Luke 12:26

εἰ οὖν οὐδὲ ἐλάχιστον δύνασθε, τί περὶ τῶν λοιπῶν μεριμνᾶτε?

यीशु अपने चेलों को शिक्षा देने के लिए एक और प्रश्न का उपयोग करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि तुम इस जैसी छोटी सी बात को भी नहीं कर सकते हो, इसलिए तुम्हें अन्य बातों के बारे में चिन्ता नहीं करनी चाहिए।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 12:27

κατανοήσατε τὰ κρίνα πῶς αὐξάνει

सोसन का फूल कैसे बढ़ता है इसके बारे में सोचें

τὰ κρίνα

सोसन सुन्दर फूल होते हैं जो जंगली स्थानों में हो जाते हैं। यदि आपकी भाषा में सोसन के लिए कोई शब्द नहीं है, तो आप इस तरह के किसी अन्य फूल के नाम का उपयोग कर सकते हैं या इसे ""फूल"" के रूप में अनुवाद कर सकते हैं (देखें: अज्ञात का अनुवाद)

οὐδὲ νήθει

कपड़े के लिए धागे या सूत को बनाने की प्रक्रिया को ""कताई"" कहा जाता है। इसे स्पष्ट करने में सहायतापूर्ण हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""न तो कपड़े बनाने के लिए वे धागे बनाते हैं"" या ""और न ही वे खत्ते बनाते हैं"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Σολομὼν ἐν πάσῃ τῇ δόξῃ αὐτοῦ

सुलैमान, जिसके पास बहुत अधिक सम्पति थी या ""सुलैमान, जो सुन्दर कपड़े पहने हुए था

Luke 12:28

εἰ δὲ ἐν ἀγρῷ τὸν χόρτον ὄντα

यदि परमेश्वर मैदान की घास को पहनाता है या ""यदि परमेश्वर मैदान में घास को सुन्दर कपड़े की तरह देते है।"" परमेश्वर घास को सुन्दर बनाते है जैसे कि परमेश्वर घास को सुन्दर कपड़े पहना रहे हो। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि परमेश्वर मैदान में घास को इस तरह सुन्दर बनाता हैं, और यह"" (देखें: रूपक)

εἰς κλίβανον βαλλόμενον

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कोई इसे आग में फेंकता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πόσῳ μᾶλλον ὑμᾶς

यह एक अचरज की बात है, प्रश्न नहीं। यीशु ने जोर दिया कि वह निश्चित् रूप से घास की तुलना में लोगों की अधिक अच्छी तरह से देखभाल करेगा। इसे स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह निश्चित् रूप से और अधिक उत्तम वस्त्रों को पहना देगा"" (देखें: विस्मयादिबोधक)

Luke 12:29

ὑμεῖς μὴ ζητεῖτε τί φάγητε, καὶ τί πίητε

तुम जो कुछ खाओ और पीओ उसके ऊपर पर ध्यान न दो या ""खाने और पीने के लिए ज्यादा इच्छा न करो

Luke 12:30

πάντα τὰ ἔθνη τοῦ κόσμου

यहाँ ""जातियों"" का अर्थ ""अविश्वासियों"" से है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अन्य राष्ट्रों के सभी लोग"" या ""संसार के सभी अविश्वासी"" (देखें: लक्षणालंकार)

ὑμῶν…ὁ Πατὴρ

यह परमेश्वर के लिए एक महत्वपूर्ण पदवी है। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

Luke 12:31

ζητεῖτε τὴν βασιλείαν αὐτοῦ

परमेश्वर के राज्य पर ध्यान केंद्रित करें या ""परमेश्वर के राज्य की बहुत अधिक इच्छा करें

ταῦτα προστεθήσεται ὑμῖν

इन वस्तुओं को भी तुम्हें दिया जाएगा। ""ये वस्तुएँ"" भोजन और कपड़ों को प्रकट करती हैं। इसे क्रिया के सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर तुम्हें इन वस्तुओं को भी देगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 12:32

τὸ μικρὸν ποίμνιον

यीशु अपने चेलों को एक झुण्ड कह रहा है। एक झुण्ड भेड़ या बकरियों का एक समूह है जिसकी देखभाल एक चरवाहा करता है। जैसे चरवाहा अपनी भेड़ों की देखभाल करता है, परमेश्वर यीशु के चेलों की देखभाल करते है। वैकल्पिक अनुवाद: ""छोटा समूह"" या ""प्रिय समूह"" (देखें: रूपक)

ὁ Πατὴρ ὑμῶν

यह परमेश्वर के लिए एक महत्वपूर्ण पदवी है। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

Luke 12:33

δότε ἐλεημοσύνην

यह बताने में सहायक हो सकता है कि उन्हें क्या मिलेगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""अपने वस्तुओं को बेच कर कमाई गई धनराशि को गरीब लोगों को दें"" (देखें: पदन्यूनता)

ποιήσατε ἑαυτοῖς βαλλάντια…θησαυρὸν…ἐν τοῖς οὐρανοῖς

स्वर्ग में बटुए और खजाने का होना एक ही बात है। वे दोनों स्वर्ग में परमेश्वर की आशीष का प्रतिनिधित्व करते हैं। (देखें: रूपक)

ποιήσατε ἑαυτοῖς

यह गरीबों को देने का परिणाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस तरह आप स्वयं के लिए बनायेंगे

βαλλάντια μὴ παλαιούμενα

धन के ऐसे थैले जिनमें छेद नहीं हो पाएगा

ἀνέκλειπτον

नष्ट नहीं होता है या ""कम नहीं होता है

κλέπτης οὐκ ἐγγίζει

चोर निकट नहीं आते है

οὐδὲ σὴς διαφθείρει

कीड़ा नष्ट नहीं करता

σὴς

एक ""कीड़ा"" एक छोटा कीट होता है जो कपड़े को खा जाता है। आपको एक भिन्न कीड़े, जैसे चींटी या पतंगे का उपयोग करने की आवश्यकता हो सकती है।

Luke 12:34

ὅπου…ἐστιν ὁ θησαυρὸς ὑμῶν, ἐκεῖ καὶ ἡ καρδία ὑμῶν ἔσται

तेरा मन उस पर ध्यान केन्द्रित करेगा जहाँ तूने अपने खजाने को रखा हुआ हैं

ἡ καρδία ὑμῶν

यहाँ ""मन"" एक व्यक्ति के विचारों को दर्शाता है। (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 12:35

यीशु एक दृष्टान्त कहना आरम्भ करता है। (देखें: दृष्टांत)

ἔστωσαν ὑμῶν αἱ ὀσφύες περιεζωσμέναι

लोग लम्बे हिलने वाले वस्त्र पहनते थे। जब वे काम करते थे तो वे कपड़े को कमर के साथ बाँधते हुए उन पर अपने कमर कस को लगा देते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""अपने कपड़ों को अपने कमर कस के साथ बाँध देना ताकि तुम सेवा करने के लिए तैयार रहो"" या ""कपड़ों को अच्छी तरह बाँधे रहें और सेवा करने के लिए तैयार रहो"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

οἱ λύχνοι καιόμενοι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हारे दीपक जलते रहें"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 12:36

ὅμοιοι ἀνθρώποις προσδεχομένοις τὸν κύριον ἑαυτῶν

यीशु ने चेलों को आज्ञा दी कि वे उसके लिए ठीक वैसे ही तैयार रहते हुए बाट जोहते रहें, जैसे कि नौकर अपने स्वामी के लिए तैयार रहते हुए बाट जोहते रहते है। (देखें: उपमा)

ἀναλύσῃ ἐκ τῶν γάμων

विवाह के उत्सव से घर लौटता है

ἀνοίξωσιν αὐτῷ

यह स्वामी के घर के दरवाजे को प्रकट करता है। उसके सेवकों को उसके लिए द्वार खोलने का उत्तरदायित्व था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 12:37

μακάριοι

यह कितना अच्छा है

οὓς ἐλθὼν, ὁ Κύριος εὑρήσει γρηγοροῦντας

जिनके मालिक उन्हें लौटते समय बाट जोहते पाते हैं या ""जो उस समय तैयार हैं जब स्वामी लौट रहा होता है

ὅτι περιζώσεται καὶ ἀνακλινεῖ αὐτοὺς

क्योंकि सेवक विश्वासयोग्य और अपने स्वामी की सेवा करने के लिए तैयार हैं, इसलिए स्वामी अब उन्हें उनकी सेवा के लिए प्रतिफल देगा।

Luke 12:38

ἐν τῇ δευτέρᾳ…φυλακῇ

दूसरे पहर का समय 9:00 बजे से लेकर आधी रात तक का था। वैकल्पिक अनुवाद: ""देर रात में"" या ""आधी रात से पहले

κἂν ἐν τῇ τρίτῃ φυλακῇ

तीसरा पहर आधी रात से 3:00 बजे तक का था। वैकल्पिक अनुवाद: ""या यदि वह रात में बहुत देर से आता था

Luke 12:39

ᾔδει…ποίᾳ ὥρᾳ

पहले से जानता था कि कब

οὐκ ἂν ἀφῆκεν διορυχθῆναι τὸν οἶκον αὐτοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह चोर को अपने घर को तोड़ने नहीं देता"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 12:40

ὅτι ᾗ ὥρᾳ οὐ δοκεῖτε, ὁ Υἱὸς τοῦ Ἀνθρώπου ἔρχεται

चोर और मनुष्य के पुत्र के मध्य एकमात्र समानता यह है कि लोग नहीं जानते कि कोई भी कब आएगा, इसलिए उन्हें तैयार होने की आवश्यकता है।

ᾗ ὥρᾳ οὐ δοκεῖτε

नहीं जानते कि किस समय

ὁ Υἱὸς τοῦ Ἀνθρώπου ἔρχεται

यीशु स्वयं के बारे में बात कर रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब मैं, मनुष्य का पुत्र, आ जाएगा

Luke 12:41

पद 41 में, कहानी में एक विराम है क्योंकि पतरस यीशु से पिछले दृष्टान्त के बारे में एक प्रश्न पूछता है।

पद 42 में, यीशु एक और दृष्टान्त बताना आरम्भ करता है।

Luke 12:42

τίς ἄρα ἐστὶν…ἐν καιρῷ τὸ σιτομέτριον?

यीशु अप्रत्यक्ष रूप से पतरस के प्रश्न का उत्तर देने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। वह उन लोगों से अपेक्षा करता था जो यह समझते हुए विश्वासयोग्य सन्देशवाहक बनना चाहते थे कि दृष्टान्त उनके बारे में था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैंने इसे हर किसी के लिए कहा जो... सही समय।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ὁ πιστὸς οἰκονόμος ὁ φρόνιμος

यीशु एक और दृष्टान्त बताता है कि कैसे अपने मालिक के लौटने की प्रतीक्षा करते समय सेवकों को विश्वासयोग्य होना चाहिए। (देखें: दृष्टांत)

ὃν καταστήσει ὁ Κύριος ἐπὶ τῆς θεραπείας αὐτοῦ

जिसे उसका स्वामी अपने दूसरे कर्मचारियों के ऊपर प्रभारी ठहराता है

Luke 12:43

μακάριος ὁ δοῦλος ἐκεῖνος

उस नौकर के लिए कितना अच्छा है

ὃν ἐλθὼν, ὁ κύριος αὐτοῦ εὑρήσει ποιοῦντα οὕτως

यदि उसका स्वामी उसे वापस आने पर काम करता हुआ पाता है

Luke 12:44

ἀληθῶς λέγω ὑμῖν

इस अभिव्यक्ति का अर्थ है कि उन्हें जो कुछ कहना है, उस पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

ἐπὶ πᾶσιν τοῖς ὑπάρχουσιν αὐτοῦ καταστήσει αὐτόν

उसे अपनी सारी सम्पत्ति का प्रभारी बना देगा

Luke 12:45

ὁ δοῦλος ἐκεῖνος

यह उस सेवक को प्रकट करता है जिसको उसके स्वामी ने उसे अन्य सेवकों के ऊपर प्रभारी बना दिया था।

εἴπῃ…τῇ καρδίᾳ αὐτοῦ

यहाँ ""मन"" किसी व्यक्ति के हृदय या आन्तरिक प्राणी के लिए एक समानार्थी के जैसे है। वैकल्पिक अनुवाद: ""स्वयं में सोचता है"" (देखें: लक्षणालंकार)

χρονίζει ὁ κύριός μου ἔρχεσθαι

मेरा स्वामी शीघ्र वापस नहीं आएगा

τοὺς παῖδας καὶ τὰς παιδίσκας

जिन शब्दों का अनुवाद यहाँ ""दास और दासियों"" के रूप में किया जाता है, उन्हें सामान्य रूप से ""लड़कों"" और ""लड़कियों"" के रूप में अनुवादित किया जाता है। वे संकेत दे सकते हैं कि नौकर युवा थे या वे अपने स्वामी के प्रिय थे।

Luke 12:46

ἐν ἡμέρᾳ ᾗ οὐ προσδοκᾷ, καὶ ἐν ὥρᾳ ᾗ οὐ γινώσκει

शब्द ""दिन"" और ""घड़ी"" समय की एक ऐसी विशेषता है जो किसी भी समय को प्रकट करती है, और शब्द ""प्रतीक्षा"" और ""जानता"" समान अर्थ रखते हैं, इसलिए यहाँ दो वाक्यांश एक जैसे इस तरह से हैं कि मानो प्रभु के आगमन पर जोर दिया गया है जो कि सेवक के लिए पूरी तरह से आश्चर्य है। यद्यपि, वाक्यांशों को तब तक जोड़ा नहीं जाना चाहिए जब तक आपकी भाषा में ""जानता"" और ""अपेक्षा"" या ""दिन"" और ""घड़ी"" के लिए कोई भिन्न शब्द न हो। वैकल्पिक अनुवाद: ""ऐसा समय जब सेवक उसके आने की अपेक्षा नहीं कर रहा है"" (देखें: विभज्योतक और समरूपता)

διχοτομήσει αὐτὸν, καὶ τὸ μέρος αὐτοῦ μετὰ τῶν ἀπίστων θήσει

सम्भावित अर्थ 1) यह सेवक के प्रति कठोर दण्ड के दिए जाने को बढ़ा चढ़ाकर बोलता है, या 2) यह बताता है कि जिस तरीके से सेवक को मारा जाएगा और दण्ड स्वरूप दफना दिया जाएगा। (देखें: अतिशयोक्ति)

Luke 12:47

यीशु यह दृष्टान्त बताना समाप्त करता है।

ἐκεῖνος δὲ ὁ δοῦλος, ὁ γνοὺς τὸ θέλημα τοῦ κυρίου αὐτοῦ, καὶ μὴ ἑτοιμάσας ἢ ποιήσας πρὸς τὸ θέλημα αὐτοῦ, δαρήσεται πολλάς

इसका सक्रिय रूप में अनुवाद किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु जो सेवक अपने स्वामी की इच्छा को जानता है, उसके लिए तैयार नहीं होता है या उसके अनुसार नहीं करता है, तो सेवक बहुत अधिक मार खाएगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὸ θέλημα τοῦ κυρίου αὐτοῦ…πρὸς τὸ θέλημα αὐτοῦ

उसका स्वामी उससे इस कार्य... को चाहता था

Luke 12:48

ὁ δὲ…ὀλίγας

दोनों दास जो स्वामी की इच्छा को जानते थे और जो दास इसे नहीं जानता है, उसे वह दण्ड देता है, परन्तु ""वह दास"" (पद 47) से आरम्भ होने वाले शब्द उसे दर्शाता हैं जो जानबूझ कर अपने स्वामी की अवज्ञा करता है, उसे दूसरे दास की तुलना में अधिक गम्भीरता से दण्डित किया जाता है।

παντὶ δὲ ᾧ ἐδόθη πολύ, πολὺ ζητηθήσεται παρ’ αὐτοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्हें उससे अधिक की आवश्यकता होगी जिसने बहुत अधिक प्राप्त किया है"" या ""स्वामी ने जितना अधिक दिया है वह उससे कहीं अधिक की मांग करेगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ᾧ…πολύ, περισσότερον αἰτήσουσιν αὐτόν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""स्वामी एक व्यक्ति से अधिक पूछेगा... जिसे अधिक"" या ""स्वामी को और भी अधिक की अपेक्षा होगी...जिसे अधिक"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ᾧ παρέθεντο πολύ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिस व्यक्ति को स्वामी ने देखभाल करने के लिए बहुत अधिक सम्पत्ति दी है"" या ""जिस व्यक्ति को स्वामी ने अधिक उत्तरदायित्व दिया है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 12:49

यीशु निरन्तर अपने चेलों को शिक्षा देता रहता है।

πῦρ ἦλθον βαλεῖν ἐπὶ τὴν γῆν

मैं पृथ्वी पर आग फेंकने के लिए आया था या ""मैं पृथ्वी पर आग लगाने आया था।"" सम्भावित अर्थ 1) यीशु लोगों का न्याय करने आया है या 2) यीशु विश्वासियों को शुद्ध करने आया है या 3) यीशु लोगों के मध्य विभाजन का कारण बन गया है। (देखें: रूपक)

τί θέλω εἰ ἤδη ἀνήφθη

यह विस्मयादिबोधक इस बात पर ज़ोर देता है कि वह ऐसा कितना अधिक करना चाहता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरी बहुत अधिक इच्छा है कि यह पहले से ही जला दी गई थी"" या ""मैं कितना अधिक चाहता हूँ कि यह पहले ही आरम्भ हो चुकी है"" ((देखें: विस्मयादिबोधक)

Luke 12:50

βάπτισμα…ἔχω βαπτισθῆναι

यहाँ ""बपतिस्मा"" का अर्थ यीशु के दुख को उठाने से है। जैसे पानी बपतिस्मा के समय एक व्यक्ति को ढकता है, वैसे ही पीड़ा यीशु को अपने अधीन कर लेगी। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझे भयानक पीड़ा के बपतिस्मा में से होकर जाना है"" या ""मुझे पीड़ा से अभिभूत होना है क्योंकि बपतिस्मा लेने वाले व्यक्ति को पानी से ढक दिया जाता है"" (देखें: रूपक और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

δὲ

वचन में शब्द ""परन्तु"" यह दिखाने के लिए प्रयोग किया गया है कि वह तब तक पृथ्वी पर आग नहीं लगा सकता है जब तक कि वह बपतिस्मा न ले।

πῶς συνέχομαι ἕως ὅτου τελεσθῇ!

यह विस्मयादिबोधक जोर देता है कि वह कितना निराश था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं बहुत अधिक निराश हूँ और तब तक ऐसे ही रहूँगा जब तक मैं पीड़ा के इस बपतिस्मा को पूरा नहीं करता"" (देखें: विस्मयादिबोधक)

Luke 12:51

δοκεῖτε ὅτι εἰρήνην παρεγενόμην δοῦναι ἐν τῇ γῇ? οὐχί, λέγω ὑμῖν, ἀλλ’ ἢ διαμερισμόν

यीशु ने उन्हें यह बताने के लिए एक प्रश्न पूछा कि वह उनकी गलत समझ को सही करने जा रहा है। आपको शब्द ""मैं आया"" की आपूर्ति करने की आवश्यकता हो सकती है जो कि दूसरे वाक्य में छोड़ दिया गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हें लगता है कि मैं पृथ्वी पर शान्ति लाने के लिए आया हूँ, परन्तु मैं तुम्हें बताता हूँ कि मैं ऐसा नहीं करने आया हूँ। इस की अपेक्षा, मैं विभाजन को लाने के लिए आया हूँ"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

διαμερισμόν

शत्रुता या ""विवाद

Luke 12:52

ἔσονται…πέντε ἐν ἑνὶ οἴκῳ

यह बताने में सहायक हो सकता है कि यह लोगों को प्रकट कर रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक घर में पाँच लोग होंगे"" (देखें: पदन्यूनता)

ἐπὶ…ἐπὶ

विरोध करेंगे....विरोध करेंगे

Luke 12:53

ἐπὶ

विरोध करेंगे

Luke 12:54

यीशु भीड़ से बात करना आरम्भ करता है

ὅταν ἴδητε νεφέλην ἀνατέλλουσαν…γίνεται οὕτως

सामान्य रूप से इस स्थिति का अर्थ यह था कि इस्राएल में वर्षा आने वाली थी। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ὄμβρος ἔρχεται

वर्षा आ रही है या ""वर्षा होने वाली है

Luke 12:55

ὅταν νότον πνέοντα

सामान्य रूप से इस स्थिति का अर्थ था कि इस्राएल में गर्मी ऋतु आने पर थी। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 12:56

τοῦ οὐρανοῦ καὶ τῆς γῆς

पृथ्वी और आकाश

τὸν καιρὸν δὲ τοῦτον, πῶς οὐκ οἴδατε δοκιμάζειν?

यीशु भीड़ को ताड़ना देने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। यीशु उन्हें दोषी ठहराने के लिए इस प्रश्न का उपयोग करता है। इसका अनुवाद एक कथन के रूप में किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हें पता होना चाहिए कि वर्तमान समय की व्याख्या कैसे करते हैं।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 12:57

τί δὲ καὶ ἀφ’ ἑαυτῶν, οὐ κρίνετε τὸ δίκαιον?

यीशु भीड़ को ताड़ना देने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। इसका अनुवाद एक कथन के रूप में किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हें स्वयं समझना चाहिए कि सही क्या है।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἀφ’ ἑαυτῶν

तुम्हारी स्वयं की पहल पर

Luke 12:58

ὡς γὰρ ὑπάγεις…εἰς φυλακήν

यीशु भीड़ को शिक्षा देने के लिए एक काल्पनिक स्थिति का उपयोग करता है। उसका विषय यह है कि उन्हें उन बातों का समाधान करना चाहिए जिन्हें वे सार्वजनिक न्यायालयों को सम्मिलित किए बिना समाधान करने में सक्षम हैं। यह स्पष्ट करने के लिए फिर से कहा जा सकता है कि ऐसा घटित नहीं हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि यदि तू जा रहा है तो.... कैद में"" (देखें: काल्पनिक परिस्थितियाँ)

ὡς…ὑπάγεις

यद्यपि यीशु भीड़ से बातें कर रहा है, तथापि वह जिस स्थिति को प्रस्तुत कर रहा है वह ऐसी है जिसमें से एक व्यक्ति अकेले ही जाता है। तो कुछ भाषाओं में शब्द ""तू"" एकवचन होगा। (देखें: तुम के प्रारूप)

ἀπηλλάχθαι ἀπ’ αὐτοῦ

इस विरोध को अपने विरोधी के साथ निपट ले

τὸν κριτήν

यह मजिस्ट्रेट को दर्शाता है, परन्तु यहाँ शब्द अधिक विशेष और धमकी भरा है।

σε παραδώσει

तुझे वहाँ नही खीचता है

Luke 12:59

λέγω σοι…καὶ τὸ ἔσχατον λεπτὸν ἀποδῷς

यह काल्पनिक स्थिति का अन्त है, जो पद 58 में आरम्भ होती है, जिसे कि यीशु भीड़ को शिक्षा देने के लिए उपयोग करते हैं। उसका विषय यह है कि उन्हें उन बातों का समाधान करना चाहिए जिन्हें वे सार्वजनिक न्यायालयों को सम्मिलित किए बिना समाधान करने में सक्षम हैं। यह स्पष्ट करने के लिए इसे पुनः कहा जा सकता है कि ऐसा घटित नहीं हो सकता है। (देखें: काल्पनिक परिस्थितियाँ)

καὶ τὸ ἔσχατον λεπτὸν

पूरी राशि जिसे तेरा शत्रु तुझ से मांगता है

Luke 13

लूका 13 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय में अनुवाद सम्भावित कठिनाइयाँ

अज्ञात् घटनाएँ

लोग और यीशु दो घटनाओं के बारे में बोलते हैं जिनके बारे में वे जानते थे, परन्तु जिनके बारे में कोई भी आज लूका के द्वारा लिखे हुए को छोड़कर और कुछ भी नहीं जानते हैं ([लूका 13: 1-5] (./01.md))। आपके अनुवाद को केवल उतना ही बताना चाहिए जितना लूका बताता है।

विरोधाभास

एक विरोधाभास एक ऐसा सच्चा कथन है जो कुछ का असंभव वर्णन करता हुआ प्रतीत होता है। इस अध्याय में एक विरोधाभास प्रगट होता है: ""कितने पिछले हैं वे प्रथम होंगे, और जो सबसे महत्वपूर्ण हैं, वे अंतिम होंगे।"" (लूका 13:30)।

Luke 13:1

यीशु अभी भी भीड़ के सामने बोल रहा है। भीड़ में कुछ लोग उस से एक प्रश्न को पूछते हैं और वह उत्तर देना आरम्भ कर देता है। इससे कहानी आगे बढ़ती है जो लूका 12:1 में आरम्भ होती है।

ἐν αὐτῷ τῷ καιρῷ

यह वाक्यांश इस घटना को अध्याय 12 के अन्त तक जोड़ता है, जब यीशु लोगों की भीड़ को शिक्षा दे रहा था।

ὧν τὸ αἷμα Πειλᾶτος ἔμιξεν μετὰ τῶν θυσιῶν αὐτῶν

यहाँ ""लहू"" गलीलियों की मृत्यु को प्रकट करता है। वे कदाचित् उनकी बलि चढ़ाने के समय मारे गए थे। यह यूएसटी अनुवाद में स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ὧν τὸ αἷμα Πειλᾶτος ἔμιξεν μετὰ τῶν θυσιῶν αὐτῶν

पिलातुस ने कदाचित् स्वयं से मारने की अपेक्षा अपने सैनिकों को लोगों को मारने का आदेश दिया। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिन्हें पिलातुस के सैनिकों ने मारा था तब वे जानवरों का बलिदान चढ़ा रहे थे"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 13:2

δοκεῖτε ὅτι οἱ Γαλιλαῖοι οὗτοι, ἁμαρτωλοὶ…ταῦτα πεπόνθασιν?

क्या गलील के ये लोग अधिक पापी थे ... किसी तरह से? या ""क्या यह प्रमाणित करता है कि गलील के ये लोग अधिक पापी थे ... किस तरह से?"" यीशु लोगों की समझ को चुनौती देने के लिए इस प्रश्न का उपयोग करता है।

Luke 13:3

οὐχί, λέγω ὑμῖν; ἀλλ’ ἐὰν μὴ μετανοῆτε, πάντες ὁμοίως ἀπολεῖσθε

लोगों की समझ को चुनौती देने के लिए, यीशु इस प्रश्न का उपयोग करता है, जो इन शब्दों से आरम्भ होता है ""क्या तुम्हें लगता है कि ये गलीली अन्य लोगों से अधिक पापी थे ... इस तरह से?"" (पद 2)। ""क्या तुम्हें लगता है कि ये गलीली अन्य लोगों से अधिक पापी थे ... इस तरह से, परन्तु वे ऐसे नहीं थे। परन्तु यदि तुम पश्चाताप् नहीं करते ... उसी तरह से"" या ""ऐसा मत सोचो कि ये गलील के लोग अधिक पापी थे ... उसी तरह से। यदि तुम पश्चाताप् नहीं करते ... उसी तरह से"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

οὐχί, λέγω ὑμῖν

यहाँ ""मैं तुम से कहता हूँ"" ""नहीं"" के ऊपर जोर देता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे निश्चित् रूप से अधिक पापी नहीं थे"" या ""तुम यह सोचने में गलत हो कि उनके दुख से प्रमाणित होता है कि वे अधिक पापी थे

πάντες ὁμοίως ἀπολεῖσθε

तुम सब मर जाओगे। ""इसी रीति से"" वाक्यांश का अर्थ है कि वे एक ही परिणाम का अनुभव करेंगे, न कि वे एक ही तरीके से मरेंगे।

ἀπολεῖσθε

मरेंगे

Luke 13:4

ἢ ἐκεῖνοι

यह उन लोगों का यीशु का दूसरा उदाहरण है जो पीड़ित थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""या उन पर विचार करें"" या ""उन लोगों के बारे में सोचें

οἱ δεκαοκτὼ

18 लोग (देखें: संख्याएँ)

τῷ Σιλωὰμ

यह यरूशलेम में स्थित एक क्षेत्र का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

δοκεῖτε ὅτι αὐτοὶ ὀφειλέται ἐγένοντο παρὰ…Ἰερουσαλήμ?

क्या यह प्रमाणित करता है कि वे अधिक पापी थे ... यरूशलेम? यीशु लोगों की समझ को चुनौती देने के लिए इस प्रश्न का उपयोग करता है।

αὐτοὶ ὀφειλέται ἐγένοντο παρὰ

भीड़ ने अनुमान लगाया कि वे बड़े भयानक तरीके से मरे थे क्योंकि वे विशेष रूप से पापी थे। इसे स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे मर गए क्योंकि वे बुरी तरह के पापी लोग थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

अन्य लोग। यहाँ शब्द एक व्यक्ति के लिए सामान्य शब्द है। (देखें: जब पुल्लिंग शब्दों में स्त्रियाँ शामिल होती हैं)

Luke 13:5

οὐχί, λέγω

यीशु इस प्रश्न का उपयोग करता है, जो इन शब्दों से आरम्भ होता है ""क्या तुम्हें लगता है कि वे अधिक पापी थे ... यरूशलेम?"", लोगों की समझ को चुनौती देने के लिए।"" तुम्हें लगता है कि वे अधिक पापी थे ... यरूशलेम, परन्तु मैं कहता हूँ कि वे नहीं थे"" या ""मैं कहता हूँ कि तुम्हें यह नहीं सोचना चाहिए कि वे अधिक पापी थे ... यरूशलेम"" या ""वे निश्चित् रूप से मारे नहीं गए इसलिए कि वे अधिक पापी थे"" या ""तुम यह सोचने में गलत हो कि उनके दुख से प्रमाणित होता है कि वे अधिक पापी थे ""(देखें: भाषणगत प्रश्न or अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἀπολεῖσθε

मरेंगे

Luke 13:6

यीशु ने भीड़ को अपने आखिरी कथन को समझाने के लिए एक दृष्टान्त बताना आरम्भ किया, ""परन्तु यदि तुम पश्चाताप् नहीं करते हैं, तो तुम भी सभी नष्ट हो जाआगे।"" (देखें: दृष्टांत)

συκῆν εἶχέν τις πεφυτευμένην ἐν τῷ ἀμπελῶνι αὐτοῦ

दाख की बारी के मालिक ने एक माली के द्वारा बारी में एक अंजीर का पेड़ लगाया था।

Luke 13:7

ἵνα τί καὶ τὴν γῆν καταργεῖ?

यह व्यक्ति इस बात पर जोर देने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है कि पेड़ बेकार है और माली को इसे काट देना चाहिए। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस से भूमि बर्बाद न हो।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 13:8

यीशु ने दृष्टान्त को बताना समाप्त किया। यह कहानी का अन्त है जो लूका 12:1 में आरम्भ हुई थी।

ἄφες αὐτὴν

पेड़ के साथ कुछ भी मत करो या ""इसे न काट

βάλω κόπρια

मिट्टी में खाद डाल दिया। खाद पशु का गोबर होती है। पौधों और पेड़ों के लिए मिट्टी को अच्छा बनाने के लिए लोग इसे भूमि में डाल देते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""उस पर उर्वरक डालें"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 13:9

κἂν μὲν ποιήσῃ καρπὸν εἰς τὸ μέλλον

यह बताने में सहायक हो सकता है कि क्या होगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि अगले वर्ष इसमें अंजीर हैं, तो हम इसे बढ़ते रहने की अनुमति दे सकते हैं"" (देखें: पदन्यूनता)

ἐκκόψεις αὐτήν

नौकर एक सुझाव दे रहा था; वह मालिक को आदेश नहीं दे रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझे इसे काटने के लिए कह"" या ""मैं इसे काट दूँगा

Luke 13:10

यह पद कहानी के इस भाग के सन्दर्भ को और कहानी में प्रस्तुत की गई एक अपंग महिला के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देता हैं। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

δὲ

लेखक एक नई घटना के आरम्भ को चिन्हित करने के लिए इस शब्द का उपयोग करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἐν τοῖς Σάββασιν

एक सब्त के दिन। कुछ भाषाएँ ""एक सब्त"" कहेंगी क्योंकि हम नहीं जानते कि यह विशेष सब्त का दिन कौन सा था।

Luke 13:11

ἰδοὺ, γυνὴ

पद में शब्द ""देखो"" यहाँ हमें कहानी में एक नए व्यक्ति के आगमन के प्रति सचेत करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἔτη δεκαοκτώ

18 वर्षों से (देखें: संख्याएँ)

πνεῦμα…ἀσθενείας

एक दुष्ट आत्मा जिसने उसे कमजोर बना दिया

Luke 13:12

γύναι, ἀπολέλυσαι τῆς ἀσθενείας σου

स्त्री, तू अपनी बीमारी से ठीक हो गई है। इसे एक सक्रिय क्रिया के साथ व्यक्त किया जा सकता है: वैकल्पिक अनुवाद: ""हे स्त्री, मैंने तुझे तेरी कमजोरी से मुक्त कर दिया है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

γύναι, ἀπολέλυσαι τῆς ἀσθενείας σου

यह कहकर, यीशु ने उसे ठीक कर दिया। इसे एक वाक्य या एक आदेश के साथ व्यक्त किया जा सकता है जो दिखाता है कि वह ऐसा होने वाला था। वैकल्पिक अनुवाद: ""हे स्त्री, अब मैं तुझे तेरी कमजोरी से मुक्त करता हूँ"" या ""हे स्त्री, अपनी कमजोरी से मुक्त हो जा"" (देखें: कथन - अन्य उपयोग)

Luke 13:13

ἐπέθηκεν αὐτῇ τὰς χεῖρας

उसने उसे स्पर्श किया

ἀνωρθώθη

इसे क्रिया के सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह सीधी खड़ी हुई"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 13:14

ἀγανακτῶν

बहुत गुस्से में था

ἀποκριθεὶς…ἔλεγεν

कहा या ""उत्तर दिया

ἐν αὐταῖς…θεραπεύεσθε

इसे क्रिया के सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि कहीं कोई तुझे छह दिनों के बीच में ठीक करे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τῇ ἡμέρᾳ τοῦ Σαββάτου

एक सब्त के दिन। कुछ भाषाएँ ""एक सब्त"" कहेंगी क्योंकि हम नहीं जानते कि यह विशेष सब्त का दिन कौन सा था।

Luke 13:15

ἀπεκρίθη δὲ αὐτῷ ὁ Κύριος

प्रभु ने सभागृह के सरदार से यह कहा

ὑποκριταί

यीशु सीधे ही सभागृह के सरदार से बात करता है, परन्तु इसका बहुवचनीय रूप अन्य धार्मिक शासकों को भी सम्मिलित करते हैं। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तू और तेरे साथी धार्मिक अगुवे ढोंगी हैं"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἕκαστος ὑμῶν τῷ Σαββάτῳ οὐ λύει τὸν βοῦν αὐτοῦ, ἢ τὸν ὄνον ἀπὸ τῆς φάτνης, καὶ ἀπαγαγὼν ποτίζει

यीशु उन्हें किसी ऐसी बात के प्रति सोचने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है जिसे वे पहले से ही जानते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम में से प्रत्येक अपने बैल या गधे को थान से खोलता और उसे सब्त के दिन पानी पिलाता है।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

τὸν βοῦν αὐτοῦ…τὸν ὄνον

ये वे जानवर हैं जो लोग पानी पिला कर उनकी देखभाल करते हैं।

τῷ Σαββάτῳ

सब्त के दिन कुछ भाषाएँ ""एक सब्त"" कहेंगी क्योंकि हम नहीं जानते कि यह विशेष सब्त का दिन कौन सा था।

Luke 13:16

θυγατέρα Ἀβραὰμ

यह एक मुहावरा है जिसका अर्थ, ""अब्राहम के वंशज्"" से है (देखें: मुहावरे)

ἣν ἔδησεν ὁ Σατανᾶς

यीशु ने लोगों को इस बीमारी से स्त्री बँधे हुए होने के तरीके की तुलना पशुओं को बांधने से की। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिसे शैतान ने उसकी बीमारी के कारण अपंग बना रखा"" या ""जिसे शैतान ने बीमारी से बांध दिया था"" (देखें: रूपक)

δέκα καὶ ὀκτὼ ἔτη

18 वर्षों से यहाँ वर्षों ""से"" अर्थात् लम्बा समय शब्द जोर देता है कि अठारह साल स्त्री के पीड़ित होने के लिए बहुत लम्बा समय था। दूसरी भाषाओं में इस पर जोर देने के अन्य तरीके हो सकते हैं। (देखें: संख्याएँ)

οὐκ ἔδει λυθῆναι ἀπὸ τοῦ δεσμοῦ τούτου τῇ ἡμέρᾳ τοῦ Σαββάτου?

यीशु सभागृह शासकों को यह बताने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है कि वे गलत हैं। यीशु स्त्रियों की बीमारी के बारे में बोलता है मानो कि वे ऐसी रस्सी थीं जो उन्हें बांध देती थीं। इसे एक सक्रिय कथन के रूप में अनुवादित किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसे इस बीमारी के बन्धनों से मुक्त करने का अधिकार है... दिन।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 13:17

καὶ ταῦτα λέγοντος

जब यीशु ने ये बातें कही

τοῖς ἐνδόξοις τοῖς γινομένοις ὑπ’ αὐτοῦ

जिन महिमामयी बातों को यीशु कर रहा था

Luke 13:18

यीशु सभागृह में लोगों को एक दृष्टान्त बताना आरम्भ कर देता है। (देखें: दृष्टांत)

τίνι ὁμοία ἐστὶν ἡ Βασιλεία τοῦ Θεοῦ, καὶ τίνι ὁμοιώσω αὐτήν?

यीशु जिन बातों की शिक्षा देने पर था उनके परिचय के लिए दो प्रश्नों का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं तुम्हें बताऊँगा कि परमेश्वर का राज्य कैसा है ... मैं इसकी तुलना किस से करूँ।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

τίνι ὁμοιώσω αὐτήν?

यह मूल रूप से पिछले प्रश्न के जैसे ही है। कुछ भाषाएँ दोनों प्रश्नों का ही उपयोग कर सकती हैं, और कुछ केवल एक का ही उपयोग करेंगी। (देखें: समरूपता)

Luke 13:19

ὁμοία ἐστὶν κόκκῳ σινάπεως

यीशु राज्य की तुलना सरसों के बीज से करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर का राज्य सरसों के बीज की तरह है"" (देखें: उपमा)

κόκκῳ σινάπεως

एक सरसों का बीज एक बहुत छोटा बीज होता है जो एक बड़े पौधे को उगा देता है। यदि यह बीज ज्ञात् नहीं है, तो वाक्यांश का अनुवाद किसी अन्य बीज के नाम से या बस ""एक छोटे बीज"" के रूप में किया जा सकता है। (देखें: अज्ञात का अनुवाद)

ἔβαλεν εἰς κῆπον ἑαυτοῦ

अपने बगीचे में लगाया। लोगों ने बगीचे में फेंककर बिखराते हुए कई प्रकार के बीजों को लगाया। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

δένδρον

शब्द ""बढ़कर"" एक बढ़ा चढ़ा कर बोला गया शब्द है जो छोटे बीज के साथ पेड़ का विरोधाभास है। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक बहुत बड़ी झाड़ी"" (देखें: अतिशयोक्ति)

τὰ πετεινὰ τοῦ οὐρανοῦ

आकाश के पक्षियों ने। वैकल्पिक अनुवाद: ""पक्षियों ने जो आकाश में उड़ते हैं"" या ""पक्षियों

Luke 13:20

यीशु सभागृह में लोगों से बात करना समाप्त कर देता है। यह कहानी के इस भाग का अन्त है।

τίνι ὁμοιώσω τὴν Βασιλείαν τοῦ Θεοῦ?

यीशु जिस शिक्षा को देने पर था उसका परिचय देने के लिए एक और प्रश्न का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं तुम्हें एक और बात बताऊँगा जिसके साथ मैं परमेश्वर के राज्य से तुलना कर सकता हूँ।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 13:21

ὁμοία ἐστὶν ζύμῃ

यीशु रोटी के आटे में खमीर के साथ परमेश्वर के राज्य की तुलना करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर का राज्य खमीर की तरह है"" (देखें: उपमा)

ὁμοία…ζύμῃ

बहुत सारे आटा को खमीर करने के लिए खमीर की केवल थोड़ी सी आवश्यकता होती है। यह स्पष्ट किया जा सकता है, क्योंकि यह यूएसटी अनुवाद में है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἀλεύρου σάτα τρία

आटा यह बड़ी मात्रा में है, क्योंकि प्रत्येक माप लगभग 13 लीटर था। आपको उस शब्द का उपयोग करने की आवश्यकता हो सकती है जिसे आपकी संस्कृति आटा मापने के लिए उपयोग करती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""आटे की बड़ी मात्रा

Luke 13:22

यीशु परमेश्वर के राज्य में प्रवेश करने के बारे में एक रूपक का उपयोग करके एक प्रश्न का उत्तर देता है। (देखें: रूपक)

Luke 13:23

εἰ ὀλίγοι οἱ σῳζόμενοι?

इसे क्रिया के सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्या परमेश्वर केवल कुछ लोगों को बचाएगा?"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 13:24

ἀγωνίζεσθε εἰσελθεῖν διὰ τῆς στενῆς θύρας

संकरे द्वार के माध्यम से जाने के लिए कड़ी मेहनत करें। यीशु परमेश्वर के राज्य के प्रवेश द्वार के बारे में बात कर रहा है जैसे कि यह घर के लिए एक छोटा सा द्वार था। क्योंकि यीशु एक समूह से बात कर रहा है, इसलिए इस आदेश में उल्लेखित ""तुम"" बहुवचन है। (देखें: रूपक और तुम के प्रारूप)

τῆς στενῆς θύρας

तथ्य यह है कि दरवाजा संकरा है इसका तात्पर्य है कि इसे पार करना कठिन है। इसमें रोके जाने के अर्थ को बनाए रखने के तरीके से अनुवाद करें। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

πολλοί…ζητήσουσιν εἰσελθεῖν καὶ οὐκ ἰσχύσουσιν

इसका तात्पर्य यह है कि वे प्रवेश करने में कठिनाई आने के कारण प्रवेश नहीं कर पाएँगे। अगला पद इस कठिनाई को बताता है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 13:25

यीशु परमेश्वर के राज्य में प्रवेश करने के बारे में बात बताते रहते है।

घर के स्वामी के पश्चात्

ὁ οἰκοδεσπότης

यह पिछले पदों में दिए हुए संकरे दरवाजे के साथ घर के मालिक को प्रकट करता है। यह परमेश्वर के लिए राज्य के शासक के रूप में एक रूपक है। (देखें: रूपक)

ἄρξησθε ἔξω ἑστάναι

यीशु भीड़ से बात कर रहा था। ""तुम"" का रूप बहुवचन है। वह उन्हें सम्बोधित कर रहा है मानो कि वे राज्य में संकरे द्वार के माध्यम से प्रवेश नहीं करेंगे। (देखें: तुम के प्रारूप)

κρούειν τὴν θύραν

दरवाजे को खटखटाना। यह स्वामी का ध्यान प्राप्त करने का प्रयास है।

Luke 13:27

ἀπόστητε ἀπ’ ἐμοῦ

मेरे पास से चले जाओ

Luke 13:28

यीशु परमेश्वर के राज्य में प्रवेश करने के बारे में बात बताते रहते है। यह इस वार्तालाप का अन्त है।

ὁ κλαυθμὸς καὶ ὁ βρυγμὸς τῶν ὀδόντων

ये गतिविधियाँ प्रतीकात्मक कार्य हैं, जो बहुत अधिक शोक और उदासी का संकेत देते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""उनके बड़े शोक के कारण रोना और दाँतों को पीसना होगा"" (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

ὅταν ὄψησθε

यीशु भीड़ से बात करता रहता है मानो कि वे स्वर्ग के राज्य में प्रवेश नहीं करेंगे।

ὑμᾶς δὲ ἐκβαλλομένους ἔξω

परन्तु तुम ही को बाहर फेंक दिया जाएगा। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु परमेश्वर ने तुम्हें बाहर रहने के लिए मजबूर किया है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 13:29

ἀπὸ ἀνατολῶν…δυσμῶν…βορρᾶ καὶ νότου

इसका अर्थ ""प्रत्येक दिशा से"" है। (देखें: विभज्योतक)

ἀπὸ ἀνατολῶν καὶ δυσμῶν καὶ ἀπὸ βορρᾶ καὶ νότου

परमेश्वर के राज्य में आनन्द को उत्सव के रूप में बात करना सामान्य बात थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे परमेश्वर के राज्य में उत्सव मनाएँगे"" (देखें: रूपक)

Luke 13:30

ἔσονται πρῶτοι…ἔσονται ἔσχατοι

सबसे पहले महत्वपूर्ण या सम्मानित होने का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सबसे पहला होगा ... सबसे पिछला होगा"" या ""परमेश्वर सम्मान करेगा ... परमेश्वर शर्मिंदा करेगा"" (देखें: रूपक)

Luke 13:31

कहानी के इस भाग में यह अगली घटना है। यीशु यरूशलेम की ओर यात्रा पर है जब कुछ फरीसी हेरोदेस के बारे में उससे बात करते हैं।

ἐν αὐτῇ τῇ ὥρᾳ

यीशु ने बोलने के तुरन्त पश्चात्

ἔξελθε καὶ πορεύου ἐντεῦθεν, ὅτι Ἡρῴδης θέλει σε ἀποκτεῖναι

इसे यीशु को चेतावनी दिए जाने के रूप में अनुवाद करें। वे उसे कहीं और जाने और सुरक्षित होने का उपदेश दे रहे थे।

Ἡρῴδης θέλει σε ἀποκτεῖναι

हेरोदेस लोगों को यीशु को मारने का आदेश देगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""हेरोदेस तुझे मारने के लिए अपने लोगों को भेजना चाहता है

Luke 13:32

τῇ ἀλώπεκι ταύτῃ

यीशु हेरोदेस को लोमड़ी कह रहा था। एक लोमड़ी एक छोटा जंगली कुत्ता होता है। सम्भावित अर्थ 1) हेरोदेस एक बहुत बड़ा खतरा बिल्कुल भी नहीं था 2) हेरोदेस धोखेबाज था। (देखें: रूपक)

Luke 13:33

πλὴν

तथापि या ""यद्यपि"" या ""चाहे कुछ भी क्यों न हो

οὐκ ἐνδέχεται προφήτην ἀπολέσθαι ἔξω Ἰερουσαλήμ

यहूदी अगुवो ने परमेश्वर की सेवा करने का दावा किया था। और फिर भी उनके पूर्वजों ने यरूशलेम में परमेश्वर के कई भविष्यवक्ताओं को मार डाला, और यीशु जानता था कि वे उसे भी मार देंगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""ऐसा यरूशलेम में हुआ कि यहूदी अगुवों ने परमेश्वर के सन्देशवाहकों को मार डाला था"" (देखें: व्यंग्यात्मक)

Luke 13:34

यीशु ने फरीसियों को उत्तर दिया। यह कहानी के इस भाग का अन्त है।

Ἰερουσαλὴμ, Ἰερουσαλήμ

यीशु ऐसा कहता है कि मानो यरूशलेम के लोग उसे सुन रहे हैं। यीशु ने ऐसा दो बार यह दिखाने के लिए कहा कि वह उनके लिए कितना दुखी है। (देखें: संबोधक चिन्ह)

ἡ ἀποκτείνουσα τοὺς προφήτας, καὶ λιθοβολοῦσα τοὺς ἀπεσταλμένους πρὸς αὐτήν

यदि शहर को सम्बोधित करना अनोखी बात है, तो आप यह स्पष्ट कर सकते हैं कि यीशु वास्तव में शहर के लोगों को सम्बोधित कर रहा था: ""तुम लोग जो भविष्यद्वक्ताओं को मारते हो और जो तुम्हारे पास भेजे हुओं को पत्थर से मारते हो"" (देखें: लक्षणालंकार)

τοὺς ἀπεσταλμένους πρὸς αὐτήν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्हें जिन्हें परमेश्वर ने तुम्हारे पास भेजा है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ποσάκις ἠθέλησα

मैंने कितना अधिक चाहा। यह एक विस्मयादिबोधक है और प्रश्न नहीं है।

ἐπισυνάξαι τὰ τέκνα σου

यरूशलेम के लोगों को उसके ""बच्चों"" के रूप में वर्णित किया गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अपने लोगों को इकट्ठा करने"" या ""यरूशलेम के लोगों को इकट्ठा करने के लिए"" (देखें: लक्षणालंकार)

ὃν τρόπον ὄρνις τὴν ἑαυτῆς νοσσιὰν ὑπὸ τὰς πτέρυγας

यह वर्णन करता है कि कैसे एक मुर्गी अपने बच्चों को अपने पंखों से ढककर नुकसान होने से बचाती है। (देखें: रूपक)

Luke 13:35

ἀφίεται ὑμῖν ὁ οἶκος ὑμῶν

यह कुछ ऐसा घटित होने की भविष्यवाणी है जो शीघ्र ही होगा। इसका अर्थ है कि परमेश्वर ने यरूशलेम के लोगों की रक्षा करना बन्द कर दिया है, इसलिए शत्रु उस पर आक्रमण कर सकते हैं और लोगों को वहाँ से निकाल सकते हैं। सम्भावित अर्थ 1) परमेश्वर उन्हें त्याग देगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर तुम्हें त्याग देगा"" या 2) उनका शहर खाली हो जाएगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हारा घर त्याग दिया जाएगा"" ((देखें: रूपक)

οὐ μὴ με ἴδητέ ἕως ἥξει ὅτε εἴπητε

तुम मुझे तब तक नहीं देख पाओगे जब तक समय नहीं आ जाता तब तक तुम यह कहोगे या ""अगली बार जब तुम मुझे देखोगे, तो यह कहोगें

ὀνόματι Κυρίου

यहाँ ""नाम"" प्रभु की सामर्थ्य और अधिकार को प्रकट करता है। (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 14

लूका 14 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

पद 3 कहता है, ""यीशु ने यहूदी व्यवस्थापकों और फरीसियों से कहा, “क्या सब्त के दिन अच्छा करना उचित है, कि नहीं?” कई बार, फरीसी ने सब्त के दिन ठीक करने के कारण यीशु के प्रति क्रोधित हो गए थे। इस प्रसंग में, यीशु फरीसियों को चुप करा देता है। यह सामान्य रूप से फरीसि थे जो यीशु को फंसाने का प्रयास करते थे।

विषय में परिवर्तन

इस अध्याय में कई बार लूका विषय में बिना किसी परिवर्तन को चिन्हित किए एक विषय से दूसरे विषय की ओर चला जाता है।

इस अध्याय के महत्वपूर्ण अलंकार

दृष्टान्त

यीशु ने लूका 14:15-24 में दृष्टान्त को यह शिक्षा देने के लिए कहा कि परमेश्वर का राज्य ऐसा कुछ होगा कि जिसका आनन्द प्रत्येक व्यक्ति ले सकता है। परन्तु लोग इसके भागी बनने से इनकार कर देंगे। (देखें: रूपक और परमेश्‍वर का राज्य, स्वर्ग का राज्य)

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

विरोधाभास

एक विरोधाभास एक ऐसा सच्चा कथन है जो कुछ का असंभव वर्णन करता हुआ प्रतीत होता है। इस अध्याय में एक विरोधाभास प्रगट होता है: ""क्योंकि जो कोई अपने आप को बड़ा बनाएगा, वह छोटा किया जाएगा; और जो कोई अपने आप को छोटा बनाएगा, वह बड़ा किया जाएगा।"" (लूका 14:11).

Luke 14:1

यह सब्त का दिन है, और यीशु फरीसी के घर पर है। पद 1 आगे घटने वाली घटना के लिए पृष्ठभूमि की जानकारी देता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

καὶ ἐγένετο…Σαββάτῳ

यह एक नई घटना को इंगित करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

φαγεῖν ἄρτον

खाना या ""भोजन के लिए""। रोटी भोजन का एक महत्वपूर्ण भाग थी और भोजन के सन्दर्भ में इस वाक्य में प्रयोग किया जाता है। (देखें: उपलक्षण अलंकार)

αὐτοὶ ἦσαν παρατηρούμενοι αὐτόν

वे देखना चाहते थे कि यदि वे उसमें कुछ भी गलती पाते हुए उस पर दोष लगा सकें।

Luke 14:2

καὶ ἰδοὺ, ἄνθρωπός…ἔμπροσθεν αὐτοῦ

वचन में आया शब्द ""देखो"" हमें कहानी में एक नए व्यक्ति के आगमन के प्रति सचेत करता है। आपकी भाषा में इसे बताने का कोई अन्य तरीका हो सकता है। अंग्रेजी ""उसके सामने एक व्यक्ति था"" का उपयोग करता है (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἦν ὑδρωπικὸς

शरीर के कुछ भागों में पानी के इक्ट्ठा हो जाने के कारण जलोधर के रोग से सूजन आ जाती है। कुछ भाषाओं में ऐसी स्थिति के लिए नाम हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह पीड़ित था क्योंकि उसके शरीर के कुछ भाग पानी के कारण सूज गए थे

Luke 14:3

ἔξεστιν τῷ Σαββάτῳ θεραπεῦσαι ἢ οὔ?

क्या व्यवस्था हमें सब्त के दिन ठीक करने की अनुमति देती है, या यह इसे मना करता है

Luke 14:4

οἱ δὲ ἡσύχασαν

धार्मिक अगुवों ने यीशु के प्रश्न का उत्तर देने से इन्कार कर दिया।

καὶ ἐπιλαβόμενος

इसलिए यीशु ने उस व्यक्ति को पकड़ा जो जलोधर से पीड़ित था

Luke 14:5

τίνος ὑμῶν υἱὸς ἢ βοῦς εἰς φρέαρ πεσεῖται…ἀνασπάσει αὐτὸν ἐν ἡμέρᾳ τοῦ Σαββάτου?

यीशु एक प्रश्न का उपयोग करता है, क्योंकि वह चाहता था कि वह यह स्वीकार करे कि वे सब्त के दिन भी अपने पुत्र या बैल की सहायता करेंगे। इसलिए, उनके लिए सब्त के दिन भी लोगों को चंगा करना ठीक था। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम में से ऐसा कौन है, जिसका पुत्र या बैल कुएँ में गिर जाए और वह सब्त के दिन उसे तुरन्त बाहर न निकाले ।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 14:6

καὶ οὐκ ἴσχυσαν ἀνταποκριθῆναι

उन्हें उत्तर पता था और यीशु सही था, परन्तु वे यह स्वीकार नहीं करना चाहते थे कि वह सही था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उनके पास कहने के लिए कुछ नहीं था

Luke 14:7

यीशु फरीसी के घर में आए हुए मेहमानों से बात करता रहता है, जिसने उसे भोजन में आमंत्रित किया था।

τοὺς κεκλημένους

इन लोगों की पहचान करना और क्रिया के सक्रिय रूप में यह बताने में सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिन्हें फरीसियों के अगुवे ने भोजन में आमंत्रित किया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὰς πρωτοκλισίας

सम्मानित लोगों की कुर्सी या ""महत्वपूर्ण लोगों के लिए कुर्सियाँ

Luke 14:8

ὅταν κληθῇς ὑπό τινος

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब कोई आपको आमंत्रित करता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ὅταν κληθῇς…σου

तुझे"" का वाक्य में आना एकवचन हैं। यीशु समूह से ऐसे बात कर रहा है कि मानो यह प्रत्येक व्यक्ति के लिए हो। (देखें: तुम के प्रारूप)

μήποτε ἐντιμότερός σου ᾖ κεκλημένος ὑπ’ αὐτοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि मेजबान ने उस व्यक्ति को आमंत्रित किया हो जो आपसे अधिक महत्वपूर्ण है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 14:9

ἐρεῖ σοι…ἄρξῃ

तुझे"" और ""इसको"" का वाक्य में आना एकवचन हैं। यीशु समूह से ऐसे बात कर रहा है कि मानो यह प्रत्येक व्यक्ति के लिए हो। (देखें: तुम के प्रारूप)

इसको"" वाक्य में आना उन दो लोगों को सन्दर्भित करता है जो सम्मान की एक ही कुर्सी चाहते हैं। (देखें: तुम के प्रारूप)

μετὰ αἰσχύνης

आप शर्मिंदा महसूस करेंगे और

τὸν ἔσχατον τόπον

कम महत्वपूर्ण जगह या ""कम महत्वपूर्ण व्यक्ति के लिए जगह

Luke 14:10

यीशु फरीसी के घर में लोगों से बात करता रहता है।

ὅταν κληθῇς

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब कोई आपको आमंत्रित करता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὸν ἔσχατον τόπον

वह कुर्सी जो कम से कम महत्वपूर्ण व्यक्ति के लिए है

προσανάβηθι ἀνώτερον

अधिक महत्वपूर्ण व्यक्ति की कुर्सी पर जाएँ

τότε ἔσται σοι δόξα

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""फिर जिसने आपको आमंत्रित किया वह आपको सम्मान देगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 14:11

ὁ ὑψῶν ἑαυτὸν

जो महत्वपूर्ण दिखने का प्रयास करता है या ""कौन महत्वपूर्ण स्थान लेता है

ταπεινωθήσεται

को महत्वहीन दिखाया जाएगा या ""एक महत्वपूर्ण स्थान दिया जाएगा।"" इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर विनम्र होंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ὁ ταπεινῶν ἑαυτὸν

जो महत्वहीन दिखने का विकल्प चुनता है या ""जो एक महत्वपूर्ण स्थान लेता है

ὑψωθήσεται

महत्वपूर्ण प्रमाणित होगा या ""एक महत्वपूर्ण स्थान दिया जाएगा।"" इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर महान होंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 14:12

यीशु फरीसी के घर में बात कर रहा है, परन्तु सीधे अपने मेजबान को सम्बोधित करता है।

τῷ κεκληκότι αὐτόν

फरीसी जिसने उसे भोजन के लिए अपने घर में आमंत्रित किया था

ὅταν ποιῇς

तू एकवचन है क्योंकि यीशु सीधे उस फरीसी से बात कर रहा है जिसने उसे आमंत्रित किया था। (देखें: तुम के प्रारूप)

μὴ φώνει

इसका कदाचित् यह अर्थ नहीं है कि वे इन लोगों को कभी भी आमंत्रित नहीं कर सकते हैं। अधिक संभावना है कि इसका अर्थ है कि उन्हें दूसरों को भी आमंत्रित करना चाहिए से है। वैकल्पिक अनुवाद: ""केवल आमंत्रित न करें"" या ""सदैव आमंत्रित न करें

μήποτε καὶ αὐτοὶ ἀντικαλέσωσίν σε

क्योंकि वे कर सकते हैं

ἀντικαλέσωσίν σε

आपको अपने भोजन या भोज में आमंत्रित करते हैं

γένηται ἀνταπόδομά σοι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस तरह वे आपको चुकाएंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 14:13

यीशु फरीसी से बात कर रहा है, जिसने उसे अपने घर में आमंत्रित किया था।

κάλει πτωχούς

यह ""कथन"" जोड़ने में सहायक हो सकता है, क्योंकि यह कथन कदाचित् अटल सत्य नहीं है। वैकल्पिक अनुवाद: ""गरीबों को भी आमंत्रित करें

Luke 14:14

μακάριος ἔσῃ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर आपको आशीष देंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

οὐκ ἔχουσιν ἀνταποδοῦναί σοι

वे आपको बदले में एक भोज में आमंत्रित नहीं कर सकते हैं

ἀνταποδοθήσεται…σοι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर आपको इसका बदला देंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐν τῇ ἀναστάσει τῶν δικαίων

यह अन्तिम न्याय को प्रकट करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब परमेश्वर धर्मी लोगों को वापस जीवन में ले आते है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 14:15

मेज पर पुरुषों में से एक यीशु से बात करता है और यीशु एक दृष्टान्त बताकर उसे उत्तर देता है। (देखें: दृष्टांत)

τις τῶν συνανακειμένων

यह एक नया व्यक्ति प्रस्तुत करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

μακάριος

यह व्यक्ति एक विशेष व्यक्ति के बारे में बात नहीं कर रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रत्येक वह धन्य"" या ""प्रत्येक के लिए यह कितना अच्छा है

ὅστις φάγεται ἄρτον

पूरे भोजन को सन्दर्भित करने के लिए ""रोटी"" शब्द का उपयोग किया जाता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह जो भोजन खाएगा"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Luke 14:16

ὁ δὲ εἶπεν αὐτῷ

यीशु एक दृष्टान्त बताते हैं। (देखें: दृष्टांत)

ἄνθρωπός τις ἐποίει δεῖπνον μέγα, καὶ ἐκάλεσεν πολλούς

पाठक यह अनुमान लगाने में सक्षम होना चाहिए कि उस व्यक्ति ने कदाचित् अपने दासों का भोजन तैयार किया और मेहमानों को आमंत्रित किया। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἄνθρωπός τις

यह वाक्यांश उसकी पहचान के बारे में कोई विशेष जानकारी दिए बिना व्यक्ति को वर्णऩ करने का एक तरीका है।

ἐκάλεσεν πολλούς

कई लोगों को आमंत्रित किया या ""कई मेहमानों को आमंत्रित किया

Luke 14:17

τῇ ὥρᾳ τοῦ δείπνου

रात के भोजन के समय या ""जब रात का भोजन आरम्भ होने वाला था

τοῖς κεκλημένοις

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने आमंत्रित किया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 14:18

आमंत्रित किए गए सभी लोगों के लिए दास ने बहाना बताया कि वे भोज में क्यों नहीं आ सके थे।

यीशु अपने दृष्टान्त को बताते रहा।

παραιτεῖσθαι

यह कहना कि वे रात के भोजन के लिए क्यों नहीं आ पाए थे

ὁ πρῶτος εἶπεν αὐτῷ

पाठक यह अनुमान लगाने में सक्षम होना चाहिए कि इन लोगों ने सीधे उस दास से बात की जिसे स्वामी ने भेजा था (लूका 14:17)। वैकल्पिक अनुवाद: ""पहले उसे एक सन्देश भेजा,"" या ""पहले नौकर ने कहा था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐρωτῶ σε ἔχε με παρῃτημένον

कृप्या मुझे क्षमा कर दो या ""कृप्या मेरी क्षमा स्वीकार करें

Luke 14:19

ἕτερος εἶπεν

पाठक यह अनुमान लगाने में सक्षम होना चाहिए कि इन लोगों ने सीधे उस दास से बात की जिसे स्वामी ने भेजा था (लूका 14:17)। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक और ने एक सन्देश भेजा,"" या ""एक और नौकर ने कहा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ζεύγη βοῶν…πέντε

खेती के उपकरण को खींचने के लिए बैलों के जोड़े का उपयोग किया जाता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे खेतों में काम करने के लिए 10 बैल"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 14:20

καὶ ἕτερος εἶπεν

पाठक यह अनुमान लगाने में सक्षम होना चाहिए कि इन लोगों ने सीधे उस दास से बात की जिसे स्वामी ने भेजा था (लूका 14:17)। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक और व्यक्ति ने एक सन्देश भेजा,"" या ""एक और व्यक्ति ने नौकर को यह कहने के लिए कहा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

γυναῖκα ἔγημα

अपनी भाषा में प्रयोग होने वाली स्वभाविक अभिव्यक्ति का प्रयोग करें। कुछ भाषाएँ ""विवाह कर लिया गया है"" या ""एक पत्नी ले ली"" कह सकते हैं।

Luke 14:21

ὀργισθεὶς

उन लोगों से नाराज हो गए जिन्हें उन्होंने आमंत्रित किया था

εἰσάγαγε ὧδε

रात्रिभोज खाने के लिए यहाँ आमंत्रित करें

Luke 14:22

καὶ εἶπεν ὁ δοῦλος

यह निहित जानकारी को स्पष्ट करना आवश्यक हो सकता है कि नौकर ने जो किया वह स्वामी ने उसे करने की आज्ञा दी थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""नौकर के बाहर जाने के बाद और वह किया, वह वापस आया और कहा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

γέγονεν ὃ ἐπέταξας

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैंने जो किया जिसकी आज्ञा आपने दी "" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 14:23

यीशु ने अपना दृष्टान्त पूरा किया।

τὰς ὁδοὺς καὶ φραγμοὺς

यह शहर के बाहर सड़कों और मार्गों को प्रकट करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""शहर के बाहर की मुख्य सड़कों और मार्ग

ἀνάγκασον εἰσελθεῖν

कह कि वे अंदर आ जाएँ

ἀνάγκασον

लोगों"" शब्द किसी को भी ले आने के लिए नौकरों को प्रकट करता है। ""किसी को भी आने के लिए मजबूर करें

ἵνα γεμισθῇ μου ὁ οἶκος

ताकि लोग मेरे घर को भर सकें

Luke 14:24

λέγω γὰρ ὑμῖν

शब्द ""तुम"" बहुवचन है, इसलिए यह स्पष्ट नहीं है कि इस से किसे सम्बोधित किया गया है। (देखें: तुम के प्रारूप)

τῶν ἀνδρῶν ἐκείνων

शब्द ""लोगों"" के लिए यहाँ अर्थ है ""वयस्क पुरुषों"" से है और न कि केवल सामान्य लोगों के लिए।

τῶν…κεκλημένων

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिसे मैंने आमंत्रित किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

γεύσεταί μου τοῦ δείπνου

मेरे द्वारा तैयार किए गए रात्रिभोज का आनन्द लें

Luke 14:25

यीशु उस भीड़ को सिखाता है जो उसके साथ यात्रा कर रही थी।

Luke 14:26

εἴ τις ἔρχεται πρός με, καὶ οὐ μισεῖ τὸν πατέρα ἑαυτοῦ…οὐ δύναται εἶναί μου μαθητής

यहाँ, ""अप्रिय"" कम प्रेम लोगों के लिए यीशु के अतिरिक्त अन्य लोगों को दिखाने के लिए बढ़ा चढ़ा कर बोला गया शब्द है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि कोई मेरे पास आता है और मुझसे प्रेम नहीं करता है तो वह मेरे पिता से प्रेम नहीं करता है ... वह मेरा शिष्य नहीं हो सकता"" या ""केवल वही व्यक्ति जो मेरे पिता से प्रेम करता है, मुझसे प्रेम करता है ... मेरा शिष्य हो सकता है"" (देखें: अतिशयोक्ति और दोहरे नकारात्मक)

Luke 14:27

ὅστις οὐ βαστάζει τὸν σταυρὸν αὐτοῦ καὶ ἔρχεται ὀπίσω μου, οὐ δύναται εἶναί μου μαθητής

इसे क्रिया के सकारात्मक रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि कोई मेरा शिष्य बनना चाहता है, तो उसे अपना स्वयं का क्रूस उठा लेना चाहिए और मेरा अनुसरण करना चाहिए"" (देखें: दोहरे नकारात्मक)

βαστάζει τὸν σταυρὸν αὐτοῦ

यीशु का अर्थ यह नहीं है कि हर मसीही विश्वासी को क्रूस पर चढ़ाया जाना चाहिए। रोमियों ने प्रायः लोगों को इसलिए अपना क्रूस स्वयं उठा कर ले जाने के लिए मजबूर किया क्योंकि वे रोम के प्रति लोगों की अधीनता चाहते थे। इस रूपक का अर्थ है कि उन्हें परमेश्वर के प्रति अधीन होना होगा और यीशु के चेलों के रूप में किसी भी तरह से दुख उठाने को तैयार रहना होगा। (देखें: रूपक और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 14:28

यीशु भीड़ की व्याख्या करता है एक शिष्य होने के मूल्य गिनना कितना महत्वपूर्ण है।

τίς γὰρ ἐξ ὑμῶν θέλων πύργον οἰκοδομῆσαι, οὐχὶ πρῶτον καθίσας, ψηφίζει τὴν δαπάνην, εἰ ἔχει εἰς ἀπαρτισμόν?

यीशु इस प्रश्न का उपयोग यह प्रमाणित करने के लिए करता है कि लोग आरम्भ करने से पहले एक परियोजना की लागत को गिनते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि कोई व्यक्ति मीनार बनाना चाहता था, तो वह निश्चित रूप से पहले बैठेगा और यह निर्धारित करेगा कि उसके पास इसे पूरा करने के लिए पर्याप्त पैसा है या नहीं।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

πύργον

यह एक मीनार हो सकती है। ""एक ऊँचा भवन"" या ""एक ऊँचा बड़ा मंच

Luke 14:29

ἵνα μήποτε

अधिक जानकारी देना सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि वह पहले खर्च न जोड़े"" (देखें: पदन्यूनता)

θέντος αὐτοῦ θεμέλιον

जब उसने नींव को बनाया या ""जब उसने भवन के पहले भाग को पूरा किया है

μὴ ἰσχύοντος ἐκτελέσαι

यह समझा गया है कि वह समाप्त नहीं कर सका क्योंकि उसके पास पर्याप्त पैसा नहीं था। ऐसा कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पूरा करने में सक्षम होने के लिए पर्याप्त धन नहीं है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 14:31

यीशु भीड़ की व्याख्या करता है एक शिष्य होने के मूल्य गिनना कितना महत्वपूर्ण है।

यीशु ने इस शब्द का उपयोग एक और परिस्थिति को प्रस्तुत करने के लिए किया जहाँ लोग निर्णय लेने से पहले लागत की गणना करते हैं।

τίς βασιλεὺς…οὐχὶ καθίσας πρῶτον βουλεύσεται…εἴκοσι χιλιάδων ἐρχομένῳ ἐπ’ αὐτόν?

यीशु ने लागत की गिनती के बारे में भीड़ को सिखाने के लिए एक और प्रश्न का उपयोग किया। वैकल्पिक अनुवाद: ""आप जानते हैं कि एक राजा ... पहले बैठेगा और परामर्श लेगा ... लोगों से।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

βουλεύσεται

सम्भावित अर्थ 1) ""ध्यान से सोचें"" या 2) ""अपने उपदेशको की सुनो।

δέκα χιλιάσιν…εἴκοσι χιλιάδων

10,000 ... 20,000 (देखें: संख्याएँ)

Luke 14:32

εἰ δὲ μή γε

अधिक जानकारी देने में सहायतापूर्ण हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि वह महसूस करता है कि वह दूसरे राजा को पराजित नहीं कर पाएगा"" (देखें: पदन्यूनता)

τὰ πρὸς εἰρήνην

युद्ध समाप्त करने के लिए या ""युद्ध समाप्त करने के लिए दूसरा राजा क्या करना चाहता है

Luke 14:33

πᾶς ἐξ ὑμῶν ὃς οὐκ ἀποτάσσεται πᾶσιν τοῖς ἑαυτοῦ ὑπάρχουσιν, οὐ δύναται εἶναί μου μαθητής

यह क्रिया के सकारात्मक रूप के साथ कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""केवल आप में से जो लोग अपना सब कुछ त्याग देते हैं, वे मेरे चेले हो सकते हैं"" (देखें: दोहरे नकारात्मक)

ἀποτάσσεται πᾶσιν τοῖς ἑαυτοῦ ὑπάρχουσιν

जो कुछ तेरे पास है उसे छोड़ दे

Luke 14:34

यीशु भीड़ को शिक्षा देना समाप्त करता है।

καλὸν οὖν τὸ ἅλας

नमक उपयोगी है। यीशु उन लोगों के बारे में शिक्षा दे रहा है जो उसके शिष्य बनना चाहते हैं। (देखें: रूपक)

ἐν τίνι ἀρτυθήσεται

यीशु भीड़ को सिखाने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसे फिर से नमकीन नहीं बनाया जा सकता है।"" या ""कोई भी इसे नमकीन नहीं बना सकता है।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 14:35

κοπρίαν

लोग बागों और खेतों को उर्वरित करने के लिए खाद का उपयोग करते हैं। स्वाद के बिना नमक इतना अधिक व्यर्थ है कि यह खाद के साथ मिश्रण के योग्य भी नहीं है। वैकल्पिक अनुवाद: ""खाद का ढेर"" या ""उर्वरक

ἔξω βάλλουσιν αὐτό

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""किसी ने इसे फेंक दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ὁ ἔχων ὦτα ἀκούειν, ἀκουέτω

यीशु इस बात पर ज़ोर दे रहा है कि उसने जो कहा है वह महत्वपूर्ण है और अभ्यास करने और व्यवहार में लाने के लिए कुछ प्रयास किया जा सकता है। वाक्यांश ""सुनने के कान"" यहाँ समझने और पालन करने की इच्छा के लिए एक उपनाम है। देखें कि आपने इस वाक्यांश का अनुवाद लूका 8:8 में कैसे किया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो सुनना चाहता है, सुनें"" या ""वह जो समझने को तैयार है, उसे समझे और आज्ञा का पालन करे"" (देखें: लक्षणालंकार)

क्योंकि यीशु सीधे अपने दर्शकों से बातें कर रहा है, इसलिए आप यहाँ दूसरे व्यक्ति का उपयोग करना पसन्द कर सकते हैं। देखें कि आपने इस वाक्यांश का अनुवाद लूका 8:8 में कैसे किया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि आप सुनना चाहते हैं, सुने"" या ""यदि आप समझने के इच्छुक हैं, तो समझें और आज्ञा का पालन"" (देखें: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

Luke 15

लूका 15 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

उड़ाऊ पुत्र का दृष्टान्त

लूका 15:11-32उड़ाऊ पुत्र का दृष्टान्त है। अधिकांश लोग सोचते हैं कि कहानी में पिता ने ईश्वर (पिता) का प्रतिनिधित्व किया, पापी छोटे पुत्र ने उन लोगों का प्रतिनिधित्व किया जो पश्चाताप् करते हैं और यीशु में विश्वास करते हैं, और स्व-धर्मी पुत्र बड़े फरीसियों का प्रतिनिधित्व करते हैं। कहानी में बड़े पुत्र पिता के ऊपर नाराज हो जाता है क्योंकि पिता ने छोटे पुत्र के पापों को क्षमा कर दिया, और वह पिता के पास नहीं गए क्योंकि छोटे पुत्र ने पश्चाताप् किया था। ऐसा इसलिए था क्योंकि यीशु जानता था कि फरीसी चाहते थे कि परमेश्वर सोचें कि केवल वे ही अच्छे थे और वे अन्य लोगों के पापों को क्षमा नहीं करते थे। वह उन्हें सिखा रहा था कि वे कभी भी परमेश्वर के राज्य का हिस्सा नहीं होंगे क्योंकि उन्होंने इस तरह से सोचा था। (देखें: पाप, पापो, पाप करना, पापमय, पापी, पाप करते रहना और क्षमा कर, क्षमा करता, क्षमा किया, क्षमा और दृष्टांत))

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

पापियों

जब यीशु ने अपने समय के लोगों ने ""पापियों"" की बात की, तो वे उन लोगों के बारे में बात कर रहे थे जिन्होंने पालन नहीं किया मूसा के नियम और इसकी अपेक्षा चोरी या यौन पापों जैसे पाप किए। परन्तु यीशु ने तीन दृष्टान्त (लूका 15:4-7, लूका 15:8-10, और लूका15:11-32) यह सिखाने के लिए कि जो लोग मानते हैं कि वे पापी हैं और पश्चाताप करेंगे वे वास्तव में परमेश्वर को प्रसन्न करते हैं। (देखें: पाप, पापो, पाप करना, पापमय, पापी, पाप करते रहना और मन फिराना, (पश्चाताप),मन फिराव और दृष्टांत)

Luke 15:1

हम नहीं जानते कि यह कहाँ पर घटित होता है; यह तो केवल एक दिन घटित हो जाता है जब यीशु शिक्षा दे रहा है।

δὲ

यह एक नई घटना के आरम्भ को चिह्नित करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

πάντες οἱ τελῶναι

इस बात पर बढ़ा चढ़ा कर जोर देना है कि उनमें से बहुत से थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""कई कर संग्रहकर्ता"" (देखें: अतिशयोक्ति)

Luke 15:2

οὗτος ἁμαρτωλοὺς προσδέχεται

यह व्यक्ति पापियों को अपनी उपस्थिति में आने देता है या ""यह व्यक्ति पापियों के साथ सहयोग करता है

οὗτος

वे यीशु के बारे में बात कर रहे थे।

συνεσθίει αὐτοῖς

शब्द ""यह"" से पता चलता है कि उन्होंने सोचा था कि यह इतना बुरा था कि यीशु ने पापियों को उसके पास आने की अनुमति दी, परन्तु इससे भी बुरा यह था कि वह उनके साथ खाता था।

Luke 15:3

यीशु कई दृष्टान्तों को बताना आरम्भ करता है। ये दृष्टान्त उन बातों के बारे में काल्पनिक परिस्थितियाँ हैं जिन्हें कोई भी अनुभव कर सकता है। वे विशेष लोगों के बारे में नहीं हैं। पहला दृष्टान्त यह है कि यदि कोई भेड़ खो गई है तो एक व्यक्ति क्या करेगा। (देखें: दृष्टांत और काल्पनिक परिस्थितियाँ)

πρὸς αὐτοὺς

यहाँ ""उनसे"" धार्मिक अगुवों को प्रकट करता है।

Luke 15:4

τίς ἄνθρωπος ἐξ ὑμῶν…οὐ καταλείπει…ἕως εὕρῃ αὐτό?

यीशु लोगों को स्मरण दिलाने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है कि यदि उनमें से कोई भी अपनी भेड़ों में से एक खो देता है, तो वे निश्चित रूप से उसकी खोज करेंगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""आप में से प्रत्येक ... निश्चित रूप से छोड़ देगा ... जब तक वह इसे नहीं पाता"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

τίς ἄνθρωπος ἐξ ὑμῶν, ἔχων ἑκατὸν πρόβατα

क्योंकि दृष्टान्त ""आप में से कौन सा"" आरम्भ होता है, इसलिए कुछ भाषाएँ दृष्टान्त को सर्वनाम का उपयोग करते हुए करेंगी। वैकल्पिक अनुवाद: ""आप में से कौन, यदि आपके पास सौ भेड़ें हैं"" (देखें: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

ἑκατὸν…ἐνενήκοντα ἐννέα

100 ... 99 (देखें: संख्याएँ)

Luke 15:5

ἐπιτίθησιν ἐπὶ τοὺς ὤμους αὐτοῦ

इस तरह एक चरवाहा भेड़ को ले चलता है। ऐसा कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसे घर ले जाने के लिए उसे अपने कंधों में रखता है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 15:6

καὶ ἐλθὼν εἰς τὸν οἶκον

जब भेड़ों का मालिक घर आता है या ""जब आप घर आते हैं।"" जैसा कि आपने पिछले वचन में किया था, भेड़ों के मालिक का सन्दर्भ लें।

Luke 15:7

οὕτως

उसी तरह या ""जैसे चरवाहा और उसके दोस्त और पड़ोसी आनन्दित होंगे

χαρὰ ἐν τῷ οὐρανῷ ἔσται

स्वर्ग में हर कोई आन्नदित होगा

ἐνενήκοντα ἐννέα δικαίοις, οἵτινες οὐ χρείαν ἔχουσιν μετανοίας

यीशु कटाक्ष के रूप में कहता है कि फरीसियों का यह सोचना गलत था कि उन्हें पश्चाताप् करने की आवश्यकता नहीं थी। इस विचार को व्यक्त करने के लिए आपकी भाषा का एक अलग तरीका हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""आपके जैसे नब्बे व्यक्ति, जो सोचते हैं कि वे धर्मी हैं और उन्हें पश्चाताप् करने की आवश्यकता नहीं है"" (देखें: अतिशयोक्ति)

ἐνενήκοντα ἐννέα

99 (देखें: संख्याएँ)

Luke 15:8

यीशु एक और दृष्टान्त कहने लगा। यह 10 चाँदी के सिक्कों वाली एक स्त्री के बारे में है।

ἢ τίς γυνὴ…οὐχὶ ἅπτει λύχνον…καὶ ζητεῖ ἐπιμελῶς, ἕως οὗ εὕρῃ?

यीशु लोगों को स्मरण दिलाने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है कि यदि वे एक चाँदी का सिक्का खो देते हैं, तो वे निश्चित रूप से इसे खोजने के लिए परिश्रम करेंगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""कोई स्त्री ... निश्चित रूप से दीपक को जलाएगी ... और जब तक उसे यह नहीं मिल जाता तब तक परिश्रम के साथ खोजेगी।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἐὰν ἀπολέσῃ

यह एक काल्पनिक स्थिति है और एक वास्तविक स्त्री के बारे में एक कहानी नहीं है। कुछ भाषाओं में इसे दिखाने के तरीके हैं। (देखें: काल्पनिक परिस्थितियाँ)

Luke 15:10

οὕτως

इसी तरह या ""वैसे ही लोग स्त्री के साथ आनन्दित होंगे

ἐπὶ ἑνὶ ἁμαρτωλῷ μετανοοῦντι

जब एक पापी पश्चाताप करता है

Luke 15:11

यीशु एक और दृष्टान्त कहने लगा। यह एक जवान व्यक्ति के बारे में है जो अपने पिता से विरासत के अपने भाग की मांग करता है। (देखें: दृष्टांत)

ἄνθρωπός τις

यह दृष्टान्त में एक नया चरित्र को प्रस्तुत करता है। कुछ भाषाएँ कह सकती हैं ""एक व्यक्ति था जो"" (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

Luke 15:12

δός μοι

पुत्र चाहता था कि उसके पिता उसे तुरन्त दे दें। ऐसी भाषाएँ जिनमें आदेश का रूप होता है जिसका अर्थ है कि वे चाहते हैं कि यह कार्य तुरन्त हो इसलिए आदेश के रूप का उपयोग होना चाहिए।

τὸ ἐπιβάλλον μέρος τῆς οὐσίας

जब आप मर जाएंगे तो मुझे प्राप्त होने वाली सम्पत्ति जिसे आपने मुझे देने की योजना बनाई है

αὐτοῖς

अपने दो पुत्र के मध्य

Luke 15:13

συναγαγὼν πάντα

अपना समान इकट्ठा किया या ""अपनी वस्तुएँ थैले में रखीं

ζῶν ἀσώτως

अपने कार्यों के परिणामों के बिना या ""जंगली जीवन को जीने"" को सोचे विचारे जीना

Luke 15:14

δὲ

यह शब्द कहानी की मुख्य रेखा में अवरोध को चिन्हित करने के लिए यहाँ उपयोग किया गया है। यहाँ यीशु बताता है कि कैसे छोटा पुत्र आवश्यकता से अधिक पर्याप्त मात्रा में लेकर चला गया।

ἐγένετο λιμὸς ἰσχυρὰ κατὰ τὴν χώραν ἐκείνην

वहाँ सूखा पड़ा और पूरे देश में पर्याप्त भोजन नहीं था

ὑστερεῖσθαι

उसकी आवश्यकता पूरी नहीं हो रही थीं या ""पर्याप्त नहीं है

Luke 15:15

καὶ πορευθεὶς

शब्द ""वह"" छोटे पुत्र को प्रकट करता है।

ἐκολλήθη

नौकरी ले ली या ""के लिए काम करना आरम्भ किया

ἑνὶ τῶν πολιτῶν τῆς χώρας ἐκείνης

उस देश का एक व्यक्ति

βόσκειν χοίρους

व्यक्ति को सूअरों का खाना दिया गया

Luke 15:16

καὶ ἐπεθύμει χορτασθῆναι

बहुत अधिक इच्छा रखता था कि वह उसे वही खाने को मिल जाए। यह समझा जाता है कि ऐसा इसलिए है क्योंकि उसे बहुत अधिक भूख लगी थी। ऐसा कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह इतना भूखा था कि उसने इसे बहुत अधिक हर्ष से खाया होता"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

κερατίων

ये वे फलियाँ हैं जो वृक्षों पर उगती हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""हल्की लाल रंग वाली फलियाँ"" या ""वृक्षों पर उगने वाली फलियाँ"" (देखें: अज्ञात का अनुवाद)

Luke 15:17

εἰς ἑαυτὸν…ἐλθὼν

इस कहावत का अर्थ है कि उसे पता चल गया कि सच्चाई क्या थी, उसने एक भयानक गलती की थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने अपनी स्थिति को स्पष्ट रूप से समझ लिया था"" (देखें: मुहावरे)

πόσοι μίσθιοι τοῦ πατρός μου περισσεύονται ἄρτων

यह विस्मयादिबोधक का भाग है, न कि एक प्रश्न है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे पिता के घर पर काम करने वाले कर्मचारियों के पास खाने के लिए पर्याप्त भोजन है

λιμῷ…ἀπόλλυμαι

यह कदाचित् एक अधिक बढ़ा चढ़ा कर नहीं बोला गया है। युवक वास्तव में भूखा हो सकता है।

Luke 15:18

ἥμαρτον εἰς τὸν οὐρανὸν

यहूदी लोग कभी-कभी ""परमेश्वर"" शब्द कहने से परहेज करते थे और इसकी अपेक्षा ""स्वर्ग"" शब्द का उपयोग करते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैंने परमेश्वर के विरूद्ध पाप किया है"" (देखें: लक्षणालंकार)

Luke 15:19

οὐκέτι εἰμὶ ἄξιος κληθῆναι υἱός σου

मैं तेरा पुत्र कहलाने योग्य नहीं हूं। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं आपका पुत्र कहलाने के योग्य नहीं हूँ"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ποίησόν με ὡς ἕνα τῶν μισθίων σου

मुझे एक कर्मचारी के रूप में नौकरी पर रख लें या ""मुझे नौकरी पर रख लें और मैं आपके नौकरों में से एक बन जाऊँगा।"" यह एक विनती है, आदेश नहीं। जैसा यूएसटी अनुवाद करता है, इसमें शब्द ""कृप्या"" जोड़ना सहायक हो सकता है।

Luke 15:20

καὶ ἀναστὰς, ἦλθεν πρὸς τὸν πατέρα ἑαυτοῦ

तब उसने उस देश को छोड़ दिया और अपने पिता के पास वापस जाना आरम्भ कर दिया। शब्द ""तब"" एक ऐसी घटना को चिन्हित करता है कि कुछ और इससे पहले हुआ था। इस घटना में, जवान व्यक्ति को आवश्यकता थी और उसने घर जाने का निर्णय लिया था।

ἔτι δὲ αὐτοῦ μακρὰν ἀπέχοντος

जबकि वह अभी भी अपने घर से बहुत दूर था या ""जबकि वह अभी भी अपने पिता के घर से बहुत दूर था

ἐσπλαγχνίσθη

उस पर दया की थी या ""उसे अपने मन से गहराई से प्रेम किया

ἐπέπεσεν ἐπὶ τὸν τράχηλον αὐτοῦ καὶ κατεφίλησεν αὐτόν

पिता ने अपने पुत्र को ऐसा यह दिखाने के लिए किया कि वह उससे प्रेम करता था और आनन्दित था कि पुत्र घर आ रहा था। यदि लोग सोचते हैं कि किसी व्यक्ति को छूना या गले लगाने और अपने पुत्र को चूमने के लिए यह अनोखा या गलत है, तो आप इसके स्थान पर कोई और तरीके का उपयोग कर सकते हैं, जिस के द्वारा आपकी संस्कृति में पुरुष अपने पुत्रों से स्नेह दिखाते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसे प्रेम से स्वागत किया

Luke 15:21

ἥμαρτον εἰς τὸν οὐρανὸν

यहूदी लोग कभी-कभी ""परमेश्वर"" शब्द कहने से परहेज करते थे और इसकी अपेक्षा ""स्वर्ग"" शब्द का उपयोग करते थे। देखें कि आपने इसका अनुवाद कैसे किया है लूका 15:18। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैंने परमेश्वर के विरूद्ध पाप किया है"" (देखें: लक्षणालंकार)

οὐκέτι εἰμὶ ἄξιος κληθῆναι υἱός σου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। देखें कि आपने लूका 15:18 के जैसे वाक्यांश का अनुवाद कैसे किया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं आपका पुत्र कहलाने के योग्य नहीं हूँ"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 15:22

στολὴν τὴν πρώτην

घर में सबसे अच्छा वस्त्र। वैकल्पिक अनुवाद: ""सबसे अच्छा कोटि का"" या ""सर्वश्रेष्ठ वस्त्र

δότε δακτύλιον εἰς τὴν χεῖρα αὐτοῦ

एक अँगूठी अधिकार का संकेत थी जिसे पुरुष ने अपनी ऊँगलियों में पहनते थे।

ὑποδήματα

उस समय के धनी लोग जुती पहनते थे। यद्यपि, कई संस्कृतियों में इसका आधुनिक समकक्ष ""जूते"" होगा।

Luke 15:23

μόσχον τὸν σιτευτόν

एक बछड़ा एक युवा गाय है। लोग अपने बछड़ों में से एक को विशेष भोजन के रूप में दे देते थे ताकि वह अच्छी तरह से बढ़े, और फिर जब वे लोग विशेष समारोह को मनाना चाहते थे, तो वे उस बछड़े को खाएँ। वैकल्पिक अनुवाद: ""सबसे अच्छा बछड़ा"" या ""युवा जानवर जिसे हम मोटा कर रहे थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

θύσατε

अस्पष्ट जानकारी कि वे मांस को पकाते थे उन्हें स्पष्ट किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसे मारो और इसे पकाओ"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 15:24

ὁ υἱός μου νεκρὸς ἦν καὶ ἀνέζησεν

यह रूपक पुत्र के बारे में बताता है कि मानो वह मर चुका था। वैकल्पिक अनुवाद: ""ऐसा जान पड़ता है जैसे मेरा पुत्र मर गया और फिर जीवित हो गया"" या ""मुझे लगा जैसे मेरे पुत्र की मृत्यु हो गई थी, परन्तु वह अब जीवित है"" (देखें: रूपक)

ἦν ἀπολωλὼς καὶ εὑρέθη

यह रूपक पुत्र के बारे में बताता है जैसे वह खो गया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""ऐसा प्रतित होता है कि जैसे मेरा पुत्र खो गया था और अब मैंने उसे पाया"" या ""मेरा पुत्र खो गया था और घर लौट आया"" (देखें: रूपक)

Luke 15:25

δὲ

यह शब्द कहानी की मुख्य रेखा में अवरोध को चिन्हित करने के लिए यहाँ उपयोग किया गया है। यहाँ यीशु बड़े पुत्र के बारे में कहानी का एक नया भाग बताना आरम्भ कर देता है।

ἐν ἀγρῷ

यह निहित है कि वह मैदान में बाहर ही था क्योंकि वह वहाँ काम कर रहा था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 15:26

ἕνα τῶν παίδων

जिस शब्द का अनुवाद ""दास"" के रूप में किया जाता है, उसी का सामान्य रूप से ""लड़के"" के रूप में अनुवाद किया जाता है। यह संकेत दे सकता है कि नौकर बहुत छोटा था।

τί ἂν εἴη ταῦτα

क्या घटित हो रहा था

Luke 15:27

τὸν μόσχον τὸν σιτευτόν

एक बछड़ा एक युवा गाय है। लोग अपने बछड़ों में से एक को विशेष भोजन के रूप में दे देते थे ताकि वह अच्छी तरह से बढ़े, और फिर जब वे लोग विशेष समारोह को मनाना चाहते थे, तो वे उस बछड़े को खाएँ। देखें कि आपने इस वाक्यांश का अनुवाद कैसे किया है [लूका 15:23] (../ 15 / 23.md)। वैकल्पिक अनुवाद: ""सबसे अच्छा बछड़ा"" या ""युवा जानवर जिसे हम मोटा कर रहे थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 15:29

τοσαῦτα ἔτη

बहुत वर्षों के लिए

δουλεύω σοι

मैंने आपके लिए बहुत मेहनत की है या ""मैंने आपके लिए दास के रूप में कड़ी मेहनत की है

οὐδέποτε ἐντολήν σου παρῆλθον

कभी भी आपके किसी भी आदेश का उल्लंघन नहीं किया या ""सदैव जो कुछ आपने आदेश दिया उसका पालन किया

ἔριφον

बकरी का एक बच्चा बछड़े की तुलना में छोटी और कम महँगी थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""यहाँ तक कि बकरी का एक बच्चा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 15:30

ὁ υἱός σου οὗτος

तेरा यह पुत्र बड़ा पुत्र यह दिखाने के लिए अपने भाई को इस तरह से सन्दर्भित करता है कि वह कितना गुस्से में है।

ὁ καταφαγών σου τὸν βίον

भोजन धन के लिए एक रूपक है। भोजन खाने के बाद, भोजन अब और अधिक नहीं रहा जाता है और खाने के लिए कुछ भी नहीं है। भाई को जो पैसा मिला था वह अब वहाँ नहीं था और खर्च करने के लिए और कुछ नहीं था। वैकल्पिक अनुवाद: ""आपकी सारी संपत्ति व्यर्थ गवाँ दी"" या ""अपने सारे पैसे फेंक दिये"" (देखें: रूपक)

μετὰ πορνῶν

सम्भावित अर्थ 1) उन्होंने माना कि इस तरह उनके भाई ने धन खर्च किया है या 2) वह ""दूर देश"" में अपने भाई के पाप से भरे हुए वेश्याओं वाले कार्यों की बात बढ़ा चढ़ा कर करता है (लूका 15:13). (देखें: अतिशयोक्ति)

τὸν σιτευτὸν μόσχον

एक बछड़ा एक युवा गाय है। लोग अपने बछड़ों में से एक को विशेष भोजन के रूप में दे देते थे ताकि वह अच्छी तरह से बढ़े, और फिर जब वे लोग विशेष समारोह को मनाना चाहते थे, तो वे उस बछड़े को खाएँ। देखें कि आपने इस वाक्यांश का अनुवाद कैसे किया है लूका 15:23। वैकल्पिक अनुवाद: ""सबसे अच्छा बछड़ा"" या ""युवा जानवर जिसे हम मोटा कर रहे थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 15:31

ὁ δὲ εἶπεν αὐτῷ

शब्द ""उस से"" बड़े पुत्र को प्रकट करता है।

Luke 15:32

ὁ ἀδελφός σου οὗτος

पिता बड़े पुत्र को स्मरण दिला रहे थे कि जो घर आया वह उसका भाई था।

ὁ ἀδελφός σου οὗτος, νεκρὸς ἦν καὶ ἔζησεν

यह रूपक भाई के बारे में बोलता है जो कि मानो मर चुका था। देखें कि आपने इस वाक्यांश का अनुवाद कैसे किया है लूका 15:24। वैकल्पिक अनुवाद: ""ऐसा प्रतीत होता है जैसे तेरा भाई मर चुका था और फिर जीवित हो गया"" या ""तेरा यह भाई मर गया था, परन्तु वह अब जीवित है"" (देखें: रूपक)

ἀπολωλὼς καὶ εὑρέθη

यह रूपक पुत्र के बारे में बताता है जैसे वह खो गया था। देखें कि आपने इस वाक्यांश का अनुवाद कैसे किया है लूका 15:24। वैकल्पिक अनुवाद: ""ऐसा प्रतीत होता है जैसे वह खो गया था और अब मैंने उसे पाया"" या ""वह खो गया था और घर लौट आया"" (देखें: रूपक)

Luke 16

लूका 16 सामान्य टिप्पणियाँ

Luke 16:1

यीशु एक और दृष्टान्त कहने लगा। यह एक स्वामी और उसके देनदार के प्रबन्धक के बारे में है। यह अभी भी कहानी का एक ही भाग है और उसी दिन लूका 15:3 में आरम्भ हुआ था। (देखें: दृष्टांत)

ἔλεγεν δὲ καὶ πρὸς τοὺς μαθητάς

अन्तिम भाग फरीसियों और शास्त्रियों की ओर निर्देशित किया गया था, यद्यपि यीशु के चेले भीड़ में इसे सुनने का भाग हो सकते हैं।

ἄνθρωπός τις ἦν πλούσιος

यह दृष्टान्त एक नया चरित्र को प्रस्तुत करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

οὗτος διεβλήθη αὐτῷ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों ने धनी व्यक्ति को बताया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

διασκορπίζων τὰ ὑπάρχοντα αὐτοῦ

मूर्खतापूर्वक धनी व्यक्ति की सम्पत्ति का प्रबन्ध

Luke 16:2

τί τοῦτο ἀκούω περὶ σοῦ?

धनी व्यक्ति प्रबन्धक को डाँटने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैंने सुना है कि आप क्या कर रहे हो।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἀπόδος τὸν λόγον τῆς οἰκονομίας σου

किसी और को देने के लिए अपने दस्तावेजों को ठीक करो या ""मेरे पैसे के बारे में तेरे द्वारा लिखे गए दस्तावेज को तैयार कर

Luke 16:3

τί ποιήσω…τὴν οἰκονομίαν ἀπ’ ἐμοῦ?

प्रबन्धक अपने विकल्पों की समीक्षा करने के साधन के रूप में स्वयं के इस प्रश्न से पूछता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझे इस के बारे में सोचना चाहिए कि मुझे क्या करना चाहिए ... नौकरी"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ὁ κύριός μου

यह धनी व्यक्ति को दर्शाता है। प्रबन्धक दास नहीं था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरा स्वामी

σκάπτειν οὐκ ἰσχύω

मैं मिट्टी खोदने के कार्य को नहीं कर सकता हूँ या ""मैं खोदने के कार्य में सक्षम नहीं हूँ

Luke 16:4

ὅταν μετασταθῶ ἐκ τῆς οἰκονομίας

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब मैं प्रबन्धक की नौकरी खो देता हूँ"" या ""जब मेरा स्वामी मुझसे प्रबन्धक की नौकरी ले लेता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

δέξωνταί με εἰς τοὺς οἴκους αὐτῶν

इसका तात्पर्य है कि वे लोग नौकरी, या अन्य वस्तुएँ जो उन्हें जीने के लिए आवश्यक रूप से चाहिए, प्रदान करेंगे। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Luke 16:5

τῶν χρεοφιλετῶν τοῦ κυρίου ἑαυτοῦ

वे लोग जो अपने स्वामी के कर्जदार थे या ""जो लोग अपने स्वामी की वस्तुओं के कर्जदार हों।"" इस कहानी में देनदारों ने जैतून का तेल और गेहूँ का बकाया देना था।

Luke 16:6

ὁ δὲ εἶπεν…ὁ δὲ εἶπεν αὐτῷ

देनदार ने कहा ... प्रबन्धक ने देनदार से कहा

ἑκατὸν βάτους ἐλαίου

यह लगभग 3,000 लीटर जैतून का तेल था। (देखें: बाइबलीय मात्रा)

ἑκατὸν…πεντήκοντα

100 ... 50 (देखें: संख्याएँ)

δέξαι σου τὰ γράμματα

एक ""बिल"" कागज का वह टुकड़ा है जो बताता है कि कितना बकाया है।

Luke 16:7

ἔπειτα ἑτέρῳ εἶπεν…ὁ δὲ εἶπεν…λέγει αὐτῷ

प्रबन्धक ने एक और देनदार से कहा ... देनदार ने कहा ... प्रबन्धक ने देनदार से कहा

ἑκατὸν κόρους σίτου

आप इसे एक आधुनिक माप में परिवर्तित कर सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""गेहूँ का बीस हजार किलो"" या ""गेहूँ की एक हजार बोरी"" (देखें: बाइबलीय मात्रा)

γράψον ὀγδοήκοντα

गेहूँ का अस्सी मन लिखो। आप इसे एक आधुनिक माप में परिवर्तित कर सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""सोलह हजार किलो लिखो"" या ""आठ सौ बोरी लिखो

ὀγδοήκοντα

80 (देखें: संख्याएँ)

Luke 16:8

यीशु स्वामी और उसके देनदारों के प्रबन्धक के बारे में दृष्टान्त बताता है। वचन 9 में, यीशु अपने चेलों को उपदेश देता रहता है।

καὶ ἐπῄνεσεν ὁ κύριος

मूल पाठ यह नहीं कहता कि स्वामी ने प्रबन्धक की गतिविधि के बारे में कैसे सीखा।

ἐπῄνεσεν

प्रशंसा की या ""अच्छी बात की"" या ""अनुमोदित किया

φρονίμως ἐποίησεν

उसने चालाकी से काम किया था या ""उसने एक समझदारी की बात की थी

οἱ υἱοὶ τοῦ αἰῶνος τούτου

यह उन लोगों को प्रकट करता है जो अनैतिक प्रबन्धक हैं जो परमेश्वर के बारे में नहीं जानते या उसकी चिन्ता नहीं करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस संसार के लोग"" या ""सांसारिक लोग

τοὺς υἱοὺς τοῦ φωτὸς

यहाँ ""ज्योति"" जो भक्तिपूर्ण है उसके एक रूपक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर के लोग"" या ""ईश्वरीय लोग"" (देखें: रूपक)

Luke 16:9

ἐγὼ ὑμῖν λέγω

मैं यीशु को प्रकट करता हूँ। वाक्यांश ""मैं आपसे कहता हूँ"" कहानी के अन्त को चिन्हित करता है और अब यीशु लोगों को बताता है कि कहानी को उनके जीवन में कैसे लागू करें।

ἑαυτοῖς ποιήσατε φίλους ἐκ τοῦ μαμωνᾶ τῆς ἀδικίας

यहाँ पर ध्यान अन्य लोगों की सहायता के लिए धन का उपयोग करने से है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों को सांसारिक सम्पत्ति के साथ सहायता करके अपने लिए मित्र बनाओ

ἐκ τοῦ μαμωνᾶ τῆς ἀδικίας

सम्भावित अर्थ 1) यीशु बढ़ा चढ़ा कर बोल जाने का उपयोग करता है जब वह धन को ""अधर्म"" कहता है क्योंकि इसका कोई शाश्वत मूल्य नहीं होता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""धन का उपयोग करके, जिसका कोई शाश्वत मूल्य नहीं है"" या ""सांसारिक धन का उपयोग करके"" या 2) जब यीशु धन को ""अधर्म"" कहता है तो यीशु उपनाम का उपयोग करता है क्योंकि लोग कभी-कभी इसे कमाते हैं या अयोग्य तरीके से इसका उपयोग करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""बेईमानी से अर्जित धन का उपयोग करके"" (देखें: लक्षणालंकार और अतिशयोक्ति)

δέξωνται

यह 1) स्वर्ग में परमेश्वर का उल्लेख हो सकता है, जो प्रसन्न है कि आपने लोगों की सहायता करने के लिए धन का उपयोग किया था, या 2) जिन मित्रों को आपने अपने धन के साथ सहायता की थी।

αἰωνίους σκηνάς

यह स्वर्ग को दर्शाता है, जहाँ परमेश्वर रहता है।

Luke 16:10

ὁ πιστὸς…καὶ…πιστός ἐστιν…ὁ…ἄδικος…καὶ…ἄδικός ἐστιν

जो लोग विश्वासयोग्य हैं ... भी विश्वासयोग्य लोग होते हैं ... जो लोग अधर्मी हैं ... भी अन्यायी भी होते हैं। इसमें स्त्रियाँ भी सम्मिलित हैं। (देखें: जब पुल्लिंग शब्दों में स्त्रियाँ शामिल होती हैं)

πιστὸς ἐν ἐλαχίστῳ

थोड़ी बातों में विश्वासयोग्य। सुनिश्चित करें कि यह ऐसा प्रतीत नहीं होता है कि वे बहुत अधिक विश्वासयोग्य नहीं हैं।

ἐν ἐλαχίστῳ ἄδικος

थोड़ी बातों में भी अन्यायी। सुनिश्चित करें कि यह ऐसा प्रतीत नहीं होता है कि वे अक्सर अधर्मी नहीं होते हैं।

Luke 16:11

τῷ ἀδίκῳ μαμωνᾷ

देखें कि आपने इसका अनुवाद कैसे किया है लूका 16:9। सम्भावित अर्थ 1) यीशु उपनाम का उपयोग करता है जब वह धन को ""अधर्म"" कहता है क्योंकि लोग कभी-कभी इसे कमाते हैं या अनैतिक तरीकों से इसका उपयोग करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""यहाँ तक कि धन जिसे आपने बेईमानी से अर्जित किया है"" या 2) यीशु बढ़ा चढ़ा कर बोले जाने का उपयोग करता है जब वह धन ""अधर्म"" कहता है क्योंकि इसका कोई शाश्वत मूल्य नहीं होता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""धन, जिसका कोई शाश्वत मूल्य नहीं है"" या ""सांसारिक धन का उपयोग करके"" (देखें: लक्षणालंकार और अतिशयोक्ति)

τὸ ἀληθινὸν τίς ὑμῖν πιστεύσει?

यीशु लोगों को सिखाने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कोई भी आपके ऊपर सच्चे धन के साथ भरोसा नहीं करेगा।"" या ""कोई भी आपको सच्चे धन का प्रबन्ध करने के लिए नहीं देगा।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

τὸ ἀληθινὸν

यह उस धन को प्रकट करता है जो धन की तुलना में अधिक वास्तविक, असल, या स्थायी है।

Luke 16:12

τὸ ὑμέτερον τίς ὑμῖν δώσει

यीशु लोगों को सिखाने के लिए इस प्रश्न का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कोई भी आपको अपने लिए धन नहीं देगा।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Luke 16:13

οὐδεὶς οἰκέτης δύναται

एक नौकर नहीं कर सकता

δυσὶ κυρίοις δουλεύειν

यह निहित है कि वह ""एक ही समय में दो अलग-अलग स्वामी की सेवा नहीं कर सकता

ἢ γὰρ…μισήσει…ἢ…ἀνθέξεται

ये दो उपवाक्य अनिवार्य रूप से एक जैसे ही हैं। एकमात्र महत्वपूर्ण भिन्नता यह है कि पहले स्वामी के साथ पहले उपवाक्य में घृणा है, परन्तु दूसरे स्वामी के साथ दूसरे उपवाक्य में घृणा की जाती है।

μισήσει

नौकर घृणा करेगा

ἑνὸς ἀνθέξεται

किसी के साथ दृढ़ता से प्रेम करो

τοῦ ἑτέρου καταφρονήσει

दूसरे को अवमानना करने में पकड़े या ""दूसरे से घृणा करें

καταφρονήσει

इसका अर्थ पिछले उपवाक्य में अनिवार्य रूप से पाई जाने वाली ""घृणा"" जैसा ही है।

οὐ δύνασθε…δουλεύειν

यीशु लोगों के एक समूह से बात कर रहा था, इसलिए जिन भाषाओं में ""आप"" का बहुवचन रूप है, उनका उपयोग करें। (देखें: तुम के प्रारूप)

Luke 16:14

यह यीशु की शिक्षाओं में अवरोध है, क्योंकि वचन 14 हमें पृष्ठभूमि की जानकारी देता है कि कैसे फरीसियों ने यीशु को ठट्ठों में उड़ाया। वचन 15, यीशु फरीसियों को शिक्षा और उत्तर देता रहता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

δὲ

यह शब्द पृष्ठभूमि की जानकारी में आए परिवर्तन को चिन्हित करता है।

φιλάργυροι ὑπάρχοντες

जो धन पसन्द करते थे या ""जो धन के लिए बहुत अधिक लालची थे

ἐξεμυκτήριζον αὐτόν

फरीसियों ने यीशु का मज़ाक उड़ाया

Luke 16:15

καὶ εἶπεν αὐτοῖς

और यीशु ने फरीसियों से कहा

ὑμεῖς ἐστε οἱ δικαιοῦντες ἑαυτοὺς ἐνώπιον τῶν ἀνθρώπων

तुम लोगों के सामने स्वयं को अच्छा बनाने का प्रयास करते हो

ὁ δὲ Θεὸς γινώσκει τὰς καρδίας ὑμῶν

यहाँ ""मन"" लोगों की इच्छाओं को प्रकट करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर आपकी सच्ची इच्छाओं को समझता है"" या ""परमेश्वर आपके उद्देश्यों को जानता है"" (देखें: लक्षणालंकार)

τὸ ἐν ἀνθρώποις ὑψηλὸν, βδέλυγμα ἐνώπιον τοῦ Θεοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन बातों को जो लोग सोचते हैं कि वे बहुत महत्वपूर्ण हैं, उनसे परमेश्वर घृणा करता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 16:16

ὁ νόμος καὶ οἱ προφῆται

यह उस समय तक लिखे गए परमेश्वर के सारे वचन को सन्दर्भित करता है।

μέχρι

अधिकार था या ""क्या लोगों को आज्ञा मानने की आवश्यकता थी

Ἰωάννου

यह यूहन्ना बपतिस्मा देने वाले को प्रकट करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यूहन्ना बपतिस्मा देने वाला आया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἡ Βασιλεία τοῦ Θεοῦ εὐαγγελίζεται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं लोगों को परमेश्वर के राज्य के शुभ सन्देश के बारे में सिखा रहा हूँ"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πᾶς εἰς αὐτὴν βιάζεται

यह उन लोगों को दर्शाता है जो यीशु के शिक्षा को सुन रहे थे और स्वीकार कर रहे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""बहुत से लोग इसमें प्रवेश करने के लिए सभी शिक्षाओं का पालन कर रहे हैं

Luke 16:17

εὐκοπώτερον δέ ἐστιν τὸν οὐρανὸν καὶ τὴν γῆν παρελθεῖν, ἢ τοῦ νόμου μίαν κερέαν πεσεῖν

इसकी तुलना को विपरीत क्रम में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""व्यवस्था का छोटा सा अक्षर भी तब तक बना रहेगा जब तक आकाश और पृथ्वी बने रहेंगे

ἢ…μίαν κερέαν

एक ""अक्षर"" एक शब्द का सबसे छोटा भाग होता है। यह व्यवस्था में किसी ऐसी बात को प्रयोग करता जो महत्वहीन प्रतीत हो सकती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""व्यवस्था के सबसे छोटे विवरण के तुलना में"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

πεσεῖν

लुप्त हो जाना या ""अस्तित्व में न रहना

Luke 16:18

πᾶς ὁ ἀπολύων τὴν γυναῖκα αὐτοῦ

कोई भी जो अपनी पत्नी को तलाक देता है या ""कोई भी व्यक्ति जो अपनी पत्नी को तलाक देता है

μοιχεύει

व्यभिचार का दोषी है

ὁ ἀπολελυμένην…γαμῶν

कोई भी व्यक्ति जो उस स्त्री से विवाह करता है

Luke 16:19

ये वचन यीशु के धनी व्यक्ति और लाजर के बारे में बताने वाली कहानी के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देते हैं। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

जब यीशु लोगों को सिखाता है, तब वह एक कहानी बताने लगता है। यह एक धनी व्यक्ति और लाजर के बारे में है।

δέ

यह यीशु की शिक्षा में आए हुए एक परिवर्तन को दर्शाता है क्योंकि वह एक कहानी बताने लगता है जो लोगों को यह समझने में सहायता करेगा कि वह उन्हें क्या सिखा रहा था।

ἄνθρωπος…τις…πλούσιος

यह वाक्यांश यीशु की कहानी में एक व्यक्ति को प्रस्तुत करता है। यह स्पष्ट नहीं है कि यह वास्तविक व्यक्ति है या क्या वह एक कहानी में एक व्यक्ति है जिसके बारे यीशु किसी विशेष बात को कहने जा रहा है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἐνεδιδύσκετο πορφύραν καὶ βύσσον

जो अच्छे मलमल के और बैंगनी वस्त्र पहनता था या ""बहुत महंगे कपड़ों को पहनता था।"" मलमल के और बैंगनी वस्त्र के कपड़े बहुत महँगे थे।

εὐφραινόμενος καθ’ ἡμέραν λαμπρῶς

उसने हर दिन महंगे भोजन खाने का आनन्द लिया या ""बहुत पैसा खर्च किया और जो भी वह चाहता था उसे खरीदा

Luke 16:20

πτωχὸς…τις ὀνόματι Λάζαρος, ἐβέβλητο πρὸς τὸν πυλῶνα αὐτοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों ने उसके द्वार पर लाजर नाम का एक विशेष भिखारी बैठा दिया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और नामों का अनुवाद कैसे करें)

πτωχὸς…τις ὀνόματι Λάζαρος

यह वाक्यांश यीशु की कहानी में एक और व्यक्ति प्रस्तुत करता है। यह स्पष्ट नहीं है कि यह एक वास्तविक व्यक्ति है या बस एक कहानी में पाया जाना वाला एक व्यक्ति है जिसका उपयोग यीशु एक विशेष बात को करने के लिए रख रहा है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

πρὸς τὸν πυλῶνα αὐτοῦ

धनी व्यक्ति के घर के द्वार पर या ""धनी व्यक्ति की सम्पत्ति के प्रवेश द्वार पर

εἱλκωμένος

अपने शरीर पर घावों के साथ

Luke 16:21

ἐπιθυμῶν χορτασθῆναι ἀπὸ τῶν πιπτόντων

इच्छा करता है कि वह गिरने वाले भोजन के टुकड़ों को खा सके

καὶ οἱ κύνες ἐρχόμενοι

शब्द ""चाहता था कि"" यहाँ दिखाता है कि लाज़र के बारे में जो कुछ भी पहले ही बताया गया है उससे भी बुरी स्थिति थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसके अतिरिक्त, कुत्ते आते हैं"" या ""और भी अधिक बुरे, कुत्ते आते हैं

οἱ κύνες

यहूदियों ने कुत्तों को अशुद्ध जानवरों के रूप में माना। कुत्तों को अपने घावों को चाटने से रोकने में लाजर बहुत ही अधिक बीमार और कमजोर था।

Luke 16:22

ἐγένετο δὲ

कहानी में घटना को चिन्हित करने के लिए इस वाक्यांश का उपयोग यहाँ किया गया है। यदि आपकी भाषा में ऐसा करने का कोई तरीका है, तो आप इसे यहाँ उपयोग करने पर विचार कर सकते हैं। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἀπενεχθῆναι…ὑπὸ τῶν ἀγγέλων

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""स्वर्गदूत उसे दूर ले गए"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

εἰς τὸν κόλπον Ἀβραάμ

इसका तात्पर्य है कि अब्राहम और लाजर एक दूसरे के बगल में बैठे थे, जैसा कि यूनानी शैली के त्यौहार में होता था। स्वर्ग में आनन्द अक्सर पवित्रशास्त्र में त्यौहार के विचार से दर्शाया जाता है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐτάφη

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों ने उसे गाड़ दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Luke 16:23

ἐν τοῖς κόλποις αὐτοῦ