हिन्दी, हिंदी (Hindi): translationNotes

Updated ? hours ago # views See on DCS Draft Material

Acts

Acts front

प्रेरितों के काम की पुस्तक परिचय

भाग 1: सामान्य परिचय

प्रेरितों के काम की पुस्तक

1 की रूपरेखा। कलीसिया और उसके मिशन का आरम्भ(1:1–2:41) 1 यरूशलेम में आरम्भिक कलीसिया (2:42–6:7) 1 बढ़ता हुआ विरोध और स्तिफनुस की शहादत (6:8–7:60) 1 कलीसिया के ऊपर सताव और फिलिप्पुस की सेवकाई (8:1–40) 1 पौलुस एक प्रेरित बन गया (9:1–31) 1 पतरस की सेवकाई और पहला अन्यजाति मन परिवर्तन (9:32–12:24) 1 पौलुस, अन्यजातियों के लिए प्रेरित, यहूदी व्यवस्था, और यरूशलेम में कलीसिया के अगुवों की परिषद (12:25–16:5) 1 मध्य भूमध्य क्षेत्र और एशिया माइनर में कलीसिया का विस्तार (16:6–19:20) 1 पौलुस यरूशलेम की ओर यात्रा करता है और रोम में कैदी बन जाता है (19:21–28:31)

प्रेरितों के काम की पुस्तक का विषय क्या है?

प्रेरितों के काम की पुस्तक आरम्भिक कलीसिया की कहानी को बताती है जब अधिक से अधिक लोग विश्वास करने लगते हैं। यह आरम्भिक मसीहियों की सहायता करने वाले पवित्र आत्मा की सामर्थ्य दिखाता है। इस पुस्तक की घटनाएँ तब आरम्भ हुईं जब यीशु स्वर्ग लौट गया और लगभग तीस वर्षों बाद समाप्त हुई।

इस पुस्तक का शीर्षक कैसे अनुवादित किया जाना चाहिए?

अनुवादक इस पुस्तक को अपने पारम्परिक शीर्षक, "" प्रेरितों के काम"" से ही पुकारना चुन सकते हैं। या अनुवादक एक ऐसा शीर्षक चुन सकते हैं जो स्पष्ट हो, उदाहरण के लिए, ""प्रेरितों के माध्यम से पवित्र आत्मा के कार्य।""

प्रेरितों के काम की पुस्तक किसने लिखी?

यह पुस्तक लेखक के नाम को नहीं बतलाती। यद्यपि, यह थियुफिलुस को सम्बोधित किया गया है, यह वही व्यक्ति है जिसे लूका के सुसमाचार को सम्बोधित किया गया है। इसके अतिरिक्त, पुस्तक के कुछ हिस्सों में, लेखक ""हम"" शब्द का उपयोग करता है। यह इंगित करता है कि लेखक ने पौलुस के साथ यात्रा की है। अधिकांश विद्वानों का मानना ​​है कि लूका वह व्यक्ति है जो पौलुस के साथ यात्रा कर रहा था। इसलिए, प्रारंभिक मसीही काल से, अधिकांश मसीहियों ने सोचा है कि लूका, प्रेरितों के काम की पुस्तक के साथ-साथ लूका के सुसमाचार का लेखक भी है।

लूका एक चिकित्सक था। उसके लेखन के तरीके से पता चलता है कि वह एक शिक्षित व्यक्ति था। वह कदाचित् एक गैर यहूदी था। उसने प्रेरितों के काम की पुस्तक में वर्णित कई घटनाओं को देखा।

भाग 2: महत्वपूर्ण धार्मिक और सांस्कृतिक धारणाएँ

कलीसिया क्या है?

कलीसिया उन लोगों का समूह है जो मसीह में विश्वास करते हैं। कलीसिया में यहूदी और गैर यहूदी दोनों विश्वासियों को सम्मिलित किया गया है। इस पुस्तक की घटनाएँ दिखाती है कि परमेश्वर कलीसिया की सहायता कर रहा हैं। उसने विश्वासियों को अपने पवित्र आत्मा के माध्यम से धार्मिक जीवन जीने के लिए सशक्त किया।

भाग 3: महत्वपूर्ण अनुवाद के मुद्दे

प्रेरितों के काम की पुस्तक के पाठ में प्रमुख विषय क्या हैं?

ये प्रेरितों के काम में सबसे महत्वपूर्ण पाठ्यात्मक विषय हैं:

निम्नलिखित वचन बाइबल के पुराने संस्करणों में पाए जाते हैं, परन्तु वे बाइबल की सबसे अच्छी प्राचीन प्रतियों में नहीं हैं। कुछ आधुनिक संस्करणों ने वचनों को वर्गाकार कोष्ठक में रखा गया है (\ [])। यूएलटी अनुवाद और यूएसटी अनुवाद ने उन्हें एक फुटनोट में डाल देते हैं।

  • ""फिलिप्पुस ने कहा, 'यदि तू सारे मन से विश्वास करता है तो बपतिस्मा ले सकता है।' इथियोपीया के खोजे ने उत्तर दिया, 'मैं विश्वास करता हूँ कि यीशु मसीह परमेश्वर का पुत्र है' ""(प्रेरितों 8:37)।

    • परन्तु सीलास को वहाँ रहने के लिए अच्छा लग रहा था। ""(प्रेरितों 15:34)
    • ""और हम चाहते थे हमारी व्यवस्था के अनुसार उसका न्याय किया जाए। परन्तु वह अधिकारी, लूसियास आया और बलपूर्वक उसे हमारे हाथों से छीन कर, तुम्हारे पास भेजने के लिए बाहर ले गया। ""(प्रेरितों के काम 24: 6ब-8अ) *"" जब उसने इन बातों को कहा तो यहूदी आपस में बहुत विवाद करने लगे और वहाँ से चले गए"" (प्रेरितों के काम 28:29)

    निम्नलिखित वचनों में, यह अनिश्चित है कि मूल पाठ ने क्या कहा। अनुवादकों को यह चुनने की आवश्यकता होगी कि कौन से पाठ को अनुवाद करना है। यूएलटी अनुवाद में पहला पाठ है परन्तु पाद टिप्पणी में दूसरे पाठ को सम्मिलित करता है।

  • ""वे यरूशलेम से लौट आए"" (प्रेरितों के काम 12:25)। कुछ संस्करण कहते हैं, ""वे यरूशलेम को लौट गए (या वहाँ पर)।""

    • ""वह उनकी सहता रहा"" (प्रेरितों के काम 13:18)। कुछ संस्करण कहते हैं, ""उसने उनकी देखभाल की।""
    • ""यह वही प्रभु कहता है जो जगत की उत्पत्ति से इन बातों का समाचार देता आया है।"" (प्रेरितों 15:17-18)। कुछ पुराने संस्करण कहते हैं, ""प्रभु यही कहता है, जिसे प्राचीनकाल से उसके सभी कामों के कारण जाना जाता है।""

    (देखें: लेखों के भेद)

Acts 1

प्रेरितों के काम 01 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

इस अध्याय में एक घटना लिपिबद्ध होती है, जिसे सामान्य रूप से ""स्वर्गारोहण"" कहा जाता है, जब यीशु फिर से जीवित होने के बाद स्वर्ग लौट आया। वह तब तक वापस नहीं आएगा जब तक कि उनका ""दूसरा आगमन"" न होता है। (देखें: स्वर्ग, आकाश, आकाशमण्डल, स्वर्गीय और पुनरुत्थान)

यूएसटी अनुवाद ने दूसरे शब्दों के बजाए ""प्रिय थियुफिलुस"" शब्दों को निर्धारित किया है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अंग्रेजी बोलने वाले अक्सर इस तरह से पत्रों को आरम्भ करते हैं। हो सकता है कि आप इस पुस्तक को उस तरीके से आरम्भ करना चाहें जैसे आपकी संस्कृति में लोग पत्रों को आरम्भ करते हैं।

कुछ अनुवाद पुराने नियम के उद्धरणों को शेष पाठ की तुलना में पृष्ठ पर दाईं ओर व्यवस्थित करते हैं । यूएलटी अनुवाद 1:20 में भजन संहिता के दो उद्धरणों के साथ ऐसा करता है।

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

बपतिस्मा

इस अध्याय में ""बपतिस्मा"" शब्द के दो अर्थ हैं। यह यूहन्ना के पानी के बपतिस्मा और पवित्र आत्मा के बपतिस्मा को सन्दर्भित करता है (प्रेरितों के काम 1:5)। (देखें: बपतिस्मा देना, बपतिस्मा लिया, बपतिस्मा)

""उसने परमेश्वर के राज्य के बारे में बात की""

कुछ विद्वानों का मानना ​​है कि जब यीशु ने ""परमेश्वर के राज्य के बारे में बात की,"" तो उसने चेलों को समझाया कि क्यों परमेश्वर का राज्य उसके मरने से पहले नहीं आएगा। दूसरों का मानना ​​है कि परमेश्वर का राज्य तब ही आरम्भ हुआ जब यीशु जीवित था और यहाँ यीशु यह समझा रहा था कि यह एक नए रूप में आरम्भ हो रहा था।

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

बारह चेले

बारह चेलों की सूची निम्नलिखित हैं:

मत्ती में:

शमौन (पतरस), अन्द्रियास, जब्दी का पुत्र याकूब, जब्दी का पुत्र यूहन्ना, फिलिप्पुस, बरतुल्मै, थोमा, मत्ती, हलफई का पुत्र याकूब, तद्दै, शमौन कनानी और यहूदा इस्करियोती।

मरकुस में:

शमौन (पतरस), अन्द्रियास, जब्दी का पुत्र याकूब और जब्दी का पुत्र यूहन्ना (जिसे उसने बुअनरगिस नाम दिया, यानी, गर्जन के पुत्र) , फिलिप्पुस, बरतुल्मै, मत्ती, थोमा, हलफईस का पुत्र याकूब, तद्दै, शमौन कनानी, और यहूदा इस्करियोती।

लूका में:

शमौन (पतरस), अन्द्रियास, याकूब, यूहन्ना, फिलिप्पुस, बरतुल्मै, मत्ती, थोमा, हलफईस का पुत्र याकूब, शमौन (जो कनानी कहलाता है), याकूब का पुत्र यहूदा और यहूदा इस्करियोती।

तद्दै सम्भवतः याकूब के पुत्र यहूदा वाला व्यक्ति है।

हकलदमा

यह इब्रानी या अरामी में एक वाक्यांश है। लूका ने यूनानी अक्षरों का उपयोग किया है ताकि उसके पाठकों को यह मालूम हो जाए कि यह कैसे सुनाई दिया है और तब उसने उसका अर्थ बताया है। आपको सम्भवतः इसे अपनी भाषा में वैसे ही उच्चारण करना चाहिए जैसे यह सुनाई देता है और तब उसका अर्थ बताएँ। (देखें: शब्दों की प्रति बनाना या उधार लेना)

Acts 1:1

τὸν μὲν πρῶτον λόγον ἐποιησάμην

लूका का सुसमाचार इससे पहले की पुस्तक है।

ὦ Θεόφιλε

लूका ने इस पुस्तक को थियुफिलुस नाम के एक व्यक्ति को लिखा था। कुछ अनुवाद एक पत्र को सम्बोधित करने के लिए अपनी स्वयं की संस्कृति के तरीके का पालन करते हैं और वाक्य के आरम्भ में ""प्रिय थियुफिलुस"" लिखते हैं। थियुफिलुस का अर्थ है ""परमेश्वर का मित्र"" (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 1:2

ἄχρι ἧς ἡμέρας…ἀνελήμφθη

यह स्वर्ग में यीशु के स्वर्गारोहण को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिस दिन परमेश्वर ने उसे स्वर्ग में उठा लिया"" या ""उस दिन तक जब तक कि वह स्वर्ग में नहीं चढ़ गया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐντειλάμενος…διὰ Πνεύματος Ἁγίου

पवित्र आत्मा ने यीशु को अपने प्रेरितों को कुछ बातों पर निर्देश देने के लिए अगुवाई की।

Acts 1:3

μετὰ τὸ παθεῖν αὐτὸν

यह क्रूस पर यीशु की पीड़ा और मृत्यु को सन्दर्भित करता है।

οἷς…παρέστησεν ἑαυτὸν ζῶντα

यीशु अपने प्रेरितों और कई अन्य चेलों के सामने प्रकट हुआ।

Acts 1:4

यहाँ ""वह"" शब्द यीशु को सन्दर्भित करता है। अन्यथा ध्यान दिए जाने के अतिरिक्त, प्रेरितों के काम की पुस्तक में ""तुम"" शब्द बहुवचन है। (देखें: तुम के प्रारूप)

यह घटना 40 दिनों के समय में हुई जब यीशु मरे हुओं में से जी उठने के बाद अपने अनुयायियों के सामने प्रकट हुआ।

καὶ συναλιζόμενος

जब यीशु अपने प्रेरितों के साथ मुलाकात कर रहा था

τὴν ἐπαγγελίαν τοῦ Πατρὸς

यह पवित्र आत्मा का एक सन्दर्भ है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पवित्र आत्मा, जिसे पिता ने भेजने की प्रतिज्ञा की थी"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἣν

यदि आपने ""पवित्र आत्मा"" शब्द को सम्मिलित करने के लिए पिछले वाक्यांश का अनुवाद किया है, तो आप ""जिसकी"" को ""जिसके"" शब्द से बदल सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिसके बारे में यीशु ने कहा

Acts 1:5

Ἰωάννης μὲν ἐβάπτισεν ὕδατι;…ἐν Πνεύματι βαπτισθήσεσθε Ἁγίῳ

कैसे यूहन्ना ने पानी में लोगों को बपतिस्मा दिया से परमेश्वर पवित्र आत्मा में विश्वासियों को कैसे बपतिस्मा देंगे की यीशु तुलना करता है।

Ἰωάννης μὲν ἐβάπτισεν ὕδατι

यूहन्ना ने वास्तव में पानी से लोगों को बपतिस्मा दिया

ὑμεῖς…βαπτισθήσεσθε

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर तुम्हें बपतिस्मा देंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 1:6

यहाँ ""उन्होंने"" शब्द प्रेरितों को सन्दर्भित करता है।

εἰ ἐν τῷ χρόνῳ τούτῳ, ἀποκαθιστάνεις τὴν βασιλείαν τῷ Ἰσραήλ

क्या तू अब फिर से इस्राएल को एक महान साम्राज्य बना देगा

Acts 1:7

χρόνους ἢ καιροὺς

सम्भावित अर्थ है 1) ""समयों"" और ""कालों"" शब्द विभिन्न प्रकार के समय का सन्दर्भ देते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""समय की सामान्य अवधि या विशिष्ट तिथि"" या 2) यह दो शब्द मूल रूप से समानार्थी हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""सही समय"" (देखें: दोहरात्मक)

Acts 1:8

λήμψεσθε δύναμιν,…καὶ ἔσεσθέ μου μάρτυρες,

प्रेरितों को सामर्थ्य मिलेगी जो उन्हें यीशु के लिए गवाह बनने में सक्षम बनाएगी। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे गवाह बनने के लिए ... परमेश्वर तुम्हें सशक्त बनाएगा

ἕως ἐσχάτου τῆς γῆς

सम्भावित अर्थ हैं 1) ""पूरे संसार में"" या 2) ""पृथ्वी के उन स्थानों पर जो बहुत दूर हैं"" (देखें: मुहावरे)

Acts 1:9

βλεπόντων αὐτῶν

जब उन्होंने देखा। प्रेरित यीशु की ओर ""ऊपर देख रहे थे"" क्योंकि यीशु आकाश में उठ गया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब वे आकाश में देख रहे थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐπήρθη

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह आकाश में ऊपर उठ गया था"" या ""परमेश्वर ने उसे आकाश में ऊपर उठा लिया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

νεφέλη ὑπέλαβεν αὐτὸν ἀπὸ τῶν ὀφθαλμῶν αὐτῶν

एक बादल ने उनके देखने को रोक दिया ताकि वे अब उसे और अधिक न देख पाएँ

Acts 1:10

ἀτενίζοντες…εἰς τὸν οὐρανὸν

आकाश को घूरते हुए या ""आकाश की ओर टकटकी लगाए

Acts 1:11

ἄνδρες, Γαλιλαῖοι

स्वर्गदूत प्रेरितों को गलील के पुरुषों के रूप में सम्बोधित करते हैं।

ἐλεύσεται ὃν τρόπον

यीशु आकाश में से वैसे ही लौट आएगा, जैसे स्वर्ग जाते समय बादलों ने उसे ढक लिया था जब वह स्वर्ग में गया था।

Acts 1:12

τότε ὑπέστρεψαν

प्रेरित लौट आए

Σαββάτου ἔχον ὁδόν

यह उस दूरी को सन्दर्भित करता है, जिसे कि रब्बियों की परम्परा के अनुसार, एक व्यक्ति को सब्त के दिन चलने की अनुमति दी गई थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""लगभग एक किलोमीटर दूर"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 1:13

καὶ ὅτε εἰσῆλθον

जब वे अपने गंतव्य तक पहुँचे। वचन 12 का कहना है कि वे यरूशलेम लौट रहे थे।

τὸ ὑπερῷον

घर का ऊपरी मंजिल वाला कमरा

Acts 1:14

οὗτοι πάντες ἦσαν…ὁμοθυμαδὸ

इसका अर्थ है कि प्रेरितों और विश्वासियों सभी ने एक सामान्य प्रतिबद्धता और उद्देश्य को साझा किया, और उनमें कोई विवाद नहीं था।

προσκαρτεροῦντες…τῇ προσευχῇ

इसका अर्थ है कि चेले नियमित रूप से प्रार्थना करते थे।

Acts 1:15

यह घटना उस समय हुई जब पतरस और अन्य विश्वासियों ऊपरी कमरे में एक साथ रह रहे थे।

ἐν ταῖς ἡμέραις

ये शब्द कहानी के एक नए हिस्से के आरम्भ को चिन्हित करते हैं। ऊपरी कमरे में बैठक करते समय चेले यीशु के स्वर्गारोहण के बाद के समय की अवधि का उल्लेख करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""उस समय में"" (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἑκατὸν εἴκοσι

एक सौ बीस लोग (देखें: संख्याएँ)

ἐν μέσῳ τῶν ἀδελφῶν

यहाँ ""भाई"" शब्द साथी विश्वासियों को सन्दर्भित करता है और इसमें पुरुषों और स्त्रियों दोनों सम्मिलित करता है।

Acts 1:16

ἔδει πληρωθῆναι τὴν Γραφὴν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिन बातों के बारे में हमने पवित्रशास्त्र में पढ़ा था, उन्हें पूरा होना था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

διὰ στόματος Δαυεὶδ

मुँह"" शब्द उन शब्दों को सन्दर्भित करता है जिन्हें दाऊद ने लिखा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""दाऊद के वचनों के माध्यम से"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 1:17

18-19 के वचनों में लेखक पाठकों की पृष्ठभूमि की जानकारी बताता है कि यहूदा की मृत्यु कैसे हुई और लोगों ने उस खेत को किस नाम से पुकारा जहाँ वह मरा था। यह पतरस के प्रचार का हिस्सा नहीं है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

यद्यपि पतरस लोगों के पूरे समूह को सम्बोधित कर रहा है, परन्तु यहाँ ""हम"" शब्द केवल प्रेरितों को सन्दर्भित करता है। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

वचन 17 में पतरस विश्वासियों को प्रचार करना जारी रखता है जिसे उसने प्रेरितों के काम 1:16 में आरम्भ किया था।

Acts 1:18

οὗτος…οὖν

उसने"" शब्द यहूदा इस्करियोती को सन्दर्भित करता है।

μισθοῦ τῆς ἀδικίας

वह धन जो उसने बुरे काम से कमाया था। ""उसका अधर्म"" शब्द यहूदा इस्करियोती के यीशु को उसको मार डालने वाले लोगों को पकड़वाए जाने को सन्दर्भित करता है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

πρηνὴς γενόμενος, ἐλάκησεν μέσος, καὶ ἐξεχύθη πάντα τὰ σπλάγχνα αὐτοῦ

इससे पता चलता है कि यहूदा इस्कारियोती केवल गिर पड़ने की अपेक्षा, एक ऊँचे स्थान से नीचे गिरा था। उसका नीचे गिरना उसके शरीर के फट जाने के लिए पर्याप्त कारण था। पवित्रशास्त्र के अन्य अनुच्छेद उल्लेख करते हैं कि उसने स्वयं फाँसी लगाई थी। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 1:19

Χωρίον Αἵματος

जब यरूशलेम में रहनेवाले लोगों ने यहूदा के मरने के तरीके के बारे में सुना, तो उन्होंने खेत का नाम बदल दिया।

Acts 1:20

यहूदा इस्कारियोती की स्थिति के आधार पर पतरस इस घटना से सम्बन्धित दाऊद के दो भजनों को स्मरण करता है। इस वचन के अन्त में वह उद्धरण समाप्त होता है।

पतरस विश्वासियों को वह प्रचार करना जारी रखता है जिसे उसने प्रेरितों के काम 1:16 में आरम्भ किया था।

γέγραπται γὰρ ἐν βίβλῳ Ψαλμῶν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि दाऊद ने भजन संहिता की पुस्तक में लिखा था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

γενηθήτω ἡ ἔπαυλις αὐτοῦ ἔρημος, καὶ μὴ ἔστω ὁ κατοικῶν ἐν αὐτῇ

इन दो वाक्यांशों का अर्थ मूल रूप एक ही बात है। दूसरा वाक्यांश उन्हीं शब्दों के साथ एक ही विचार को दोहराकर पहले वाले के अर्थ पर जोर देता है। (देखें: समरूपता)

γενηθήτω ἡ ἔπαυλις αὐτοῦ ἔρημος

सम्भावित अर्थ हैं 1) कि ""खेत"" शब्द उस क्षेत्र को सन्दर्भित करता है, जहाँ यहूदा इस्कारियोती की मृत्यु हुई थी या 2) ""खेत"" शब्द यहूदा इस्कारियोती के निवास स्थान को सन्दर्भित करता है और उसके परिवारिक वंश के लिए एक रूपक है। (देखें: रूपक)

γενηθήτω…ἔρημος

उजड़ जाए

Acts 1:21

यहाँ ""हमारे"" शब्द प्रेरितों को सन्दर्भित करता है और इसमें उन दर्शकों को सम्मिलित नहीं करता है जिनसे पतरस बोल रहा है। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

पतरस विश्वासियों पर अपना प्रचार करना समाप्त करता है जिसे उसने प्रेरितों के काम 1:16 में आरम्भ किया था।

δεῖ οὖν

पवित्र शास्त्र के आधार पर उसने जो उद्धरित किया और यहूदा इस्कारियोती ने जो किया, पतरस समूह को बताता है कि उन्हें क्या करना चाहिए।

εἰσῆλθεν καὶ ἐξῆλθεν ἐφ’ ἡμᾶς ὁ Κύριος Ἰησοῦς

लोगों के एक समूह में बराबर आना और जाना खुले रूप से उस समूह का हिस्सा बनने का एक रूपक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह प्रभु यीशु हमारे बीच रहता था"" (देखें: मुहावरे)

Acts 1:22

ἀρξάμενος ἀπὸ τοῦ βαπτίσματος Ἰωάννου ἕως τῆς ἡμέρας ἧς ἀνελήμφθη ἀφ’ ἡμῶν, μάρτυρα τῆς ἀναστάσεως αὐτοῦ σὺν ἡμῖν, γενέσθαι ἕνα τούτων

नए प्रेरित के लिए योग्यता जो ""यह उचित है ... कि हमारे साथ रहे पुरुषों में से एक"" शब्दों के साथ वचन 21 में आरम्भ हुई थी यहाँ समाप्त होती है। इस क्रिया ""हो जाए"" का विषय इसी प्रकार से ""पुरुषों में से एक"" में है। यहाँ वाक्य का घटित रूप दिया गया है: ""यह आवश्यक है ... कि उनमें से एक पुरुष जो हमारे साथ ... यूहन्ना के बपतिस्मा के दिनों से हैं ... हमारे साथ एक गवाह हो जाए।

ἀρξάμενος ἀπὸ τοῦ βαπτίσματος Ἰωάννου

इस ""बपतिस्मा"" संज्ञा का अनुवाद क्रिया के रूप में किया जा सकता है। सम्भावित अर्थ: 1) ""उस समय से जब यूहन्ना ने यीशु को बपतिस्मा दिया था"" या 2) ""उस समय से जब यूहन्ना ने लोगों को बपतिस्मा दिया था"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

ἕως τῆς ἡμέρας ἧς ἀνελήμφθη ἀφ’ ἡμῶν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उस दिन तक जब तक कि यीशु हमें छोड़ कर ऊपर स्वर्ग में न चला गया"" या ""उस दिन तक जब तक कि परमेश्वर ने उसे हमारे पास से ऊपर नहीं उठा लिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

μάρτυρα τῆς ἀναστάσεως αὐτοῦ σὺν ἡμῖν, γενέσθαι

उसके पुनरुत्थान के बारे में हमारे साथ गवाही देना आरम्भ कर दे

Acts 1:23

ἔστησαν δύο

यहाँ ""उन्होंने"" शब्द उन सभी विश्वासियों को सन्दर्भित करता है जो उपस्थित थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने दो पुरुषों का प्रस्ताव रखा जो पतरस के द्वारा सूचीबद्ध आवश्यकताओं को पूरा करते थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Ἰωσὴφ τὸν καλούμενον Βαρσαββᾶν, ὃς ἐπεκλήθη Ἰοῦστος

इसका एक सक्रिय रूप से अनुवाद किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यूसुफ, जिसे लोग बरसबा और यूस्तुस भी कहते थे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 1:24

προσευξάμενοι, εἶπαν

यहाँ ""उन्होंने"" शब्द सभी विश्वासियों को सन्दर्भित करता है, परन्तु सम्भवतः यह उन प्रेरितों में से एक था जिसने इन शब्दों को बोला था। वैकल्पिक अनुवाद: ""विश्वासियों ने एक साथ प्रार्थना की और प्रेरितों में से एक ने कहा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

σὺ Κύριε, καρδιογνῶστα πάντων

यहाँ शब्द ""मन"" विचारों और उद्देश्यों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""हे परमेश्वर, तू सभी के विचारों और उद्देश्यों को जानता है"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 1:25

λαβεῖν τὸν τόπον τῆς διακονίας ταύτης καὶ ἀποστολῆς

यहाँ ""प्रेरिताई"" शब्द परिभाषित करता है कि यह किस तरह की ""सेवकाई"" है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस प्रेरितीय सेवकाई में यहूदा इस्कारियोती का स्थान लेने को"" या ""प्रेरित के रूप में सेवा करने हेतु यहूदा का स्थान लेने को"" (देखें: दोहरात्मक)

ἀφ’ ἧς παρέβη Ἰούδας

यहाँ अभिव्यक्ति ""छोड़कर"" का अर्थ है कि यहूदा ने इस सेवकाई को करना बन्द कर दिया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिसे यहूदा ने पूरा करना बन्द कर दिया

πορευθῆναι εἰς τὸν τόπον τὸν ἴδιον

यह वाक्यांश यहूदा की मृत्यु को और मृत्यु के बाद उसके न्याय की सम्भावना को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वहाँ जाने के लिए जहाँ से वह सम्बन्धित है"" (देखें: शिष्टोक्ति)

Acts 1:26

ἔδωκαν κλήρους αὐτοῖς

यूसुफ और मत्तियाह के बीच निर्णय लेने के लिए प्रेरित चिट्ठी डालते हैं।

ἔπεσεν ὁ κλῆρος ἐπὶ Μαθθίαν

चिट्ठी ने संकेत दिया कि यहूदा के स्थान को लेने वाला वह जन मत्तियाह था।

συνκατεψηφίσθη μετὰ τῶν ἕνδεκα ἀποστόλων

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""विश्वासियों ने उसे अन्य ग्यारहों के साथ एक प्रेरित माना"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 2

प्रेरितों के काम 02 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

कुछ अनुवाद पढ़ने के लिए आसान बनाने के लिए पाठ के शेष हिस्सों की तुलना में कविता की प्रत्येक पंक्ति को दाईं ओर व्यवस्थित करते हैं । यूएलटी अनुवाद पुराने नियम के काव्य के साथ ऐसा करता है 2: 17-21, 25-28, और 34-35 में उद्धृत किया गया है।

कुछ अनुवाद पुराने नियम से उद्धरण को बाकी की तुलना में पृष्ठ के दाएं ओर व्यवस्थित करते हैं यूएलटी अनुवाद उद्धृत सामग्री के साथ 2:31 में करता है।

इस अध्याय में वर्णित घटनाओं को सामान्य रूप से ""पिन्तेकुस्त"" कहा जाता है। बहुत से लोग मानते हैं कि जब पवित्र आत्मा इस अध्याय में विश्वासियों के अन्दर रहने के लिए आया था तब कलीसिया के अस्तित्व का आरम्भ हुआ था।

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

जीभें

""जीभें"" शब्द के इस अध्याय में दो अर्थ हैं। लूका बताता है कि जीभों के रूप में स्वर्ग से नीचे क्या आया (प्रेरितों के काम 2:3) जो आग की तरह दिखी थी। यह ""आग की जीभ"" से अलग है, जो कि जीभ की तरह दिखने वाली एक आग है। लूका भी पवित्र आत्मा से भरने के द्वारा बोली जाने वाली भाषाओं का वर्णन करने के लिए ""जीभ"" शब्द का उपयोग करता है (प्रेरितों के काम 2:4).

अन्तिम दिन

कोई भी निश्चित रूप से नहीं जानता है कि ""अन्तिम दिन"" (प्रेरितों के काम 2:17) कब आरम्भ हुए। यूएलटी अनुवाद इसके बारे में जो कहता है आपका अनुवाद उससे अधिक नहीं कहना चाहिए। (देखें: अन्तिम दिन, उत्तरवर्ती दिन)

बपतिस्मा दिया

इस अध्याय में ""बपतिस्मा"" शब्द मसीही बपतिस्मे (प्रेरितों के काम 2:38-41) को सन्दर्भित करता है। यद्यपि प्रेरितों के काम 2:1-11 में वर्णित घटना पवित्र आत्मा का बपतिस्मा है जिसकी प्रतिज्ञा यीशु ने प्रेरितों के काम 1:5 में की थी, शब्द ""बपतिस्मा"" यहाँ उस घटना को सन्दर्भित नहीं करता है। (देखें: बपतिस्मा देना, बपतिस्मा लिया, बपतिस्मा)

योएल की भविष्यवाणी

कई बातें जो योएल ने कही थीं कि घटित होंगी वे पिन्तेकुस्त के दिन घटित हुईं (प्रेरितों के काम 2:17-18), परन्तु कुछ बातें जो योएल कही थीं वे घटित नहीं हुईं (प्रेरितों के काम 2:19-20)। (देखें: भविष्यद्वक्ता, भविष्यवाणी, भविष्यद्वाणी, द्रष्टा, भविष्यद्वक्तिन)

आश्चर्यकर्म और चिन्ह

ये शब्द उन बातों को सन्दर्भित करते हैं जो केवल परमेश्वर ही कर सकते हैं जो दिखाता है कि यीशु वही है जो चेलों ने कहा कि वह है।

Acts 2:1

यह एक नई घटना है; यह फसह के 50 दिन बाद अब पिन्तेकुस्त का दिन है।

यहाँ ""वे"" शब्द प्रेरितों और अन्य 120 विश्वासियों को सन्दर्भित करता है जिनका लूका ने प्रेरितों के काम 1:15 में उल्लेख किया है।

Acts 2:2

ἄφνω

यह शब्द एक घटना को सन्दर्भित करता है जो अप्रत्याशित रूप से घटित होती है।

ἐγένετο…ἐκ τοῦ οὐρανοῦ ἦχος

सम्भावित अर्थ हैं 1) ""स्वर्ग"" उस स्थान को सन्दर्भित करता है जहाँ परमेश्वर रहता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""स्वर्ग से एक आवाज आई"" या 2) ""स्वर्ग"" आकाश को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""आकाश से एक आवाज आई

ἦχος, ὥσπερ φερομένης πνοῆς βιαίας

एक शोर जो बहुत तेज हवा चलने की तरह सुनाई दिया था

ὅλον τὸν οἶκον

यह एक घर या एक बड़ा भवन हो सकता है।

Acts 2:3

ὤφθησαν αὐτοῖς…γλῶσσαι ὡσεὶ πυρός

ये वास्तविक जीभें या आग नहीं हो सकती हैं, परन्तु कुछ ऐसा है जो उनकी तरह दिखता था। सम्भावित अर्थ हैं 1) जीभें जो आग से बनी हुई दिखती थी या 2) आग की छोटी लपटें जो जीभों की तरह दिखती थीं। जब एक छोटी सी जगह में आग जलती है, जैसे कि दीपक पर, तो उस लौ की आकार की जीभ की तरह हो सकता है। (देखें: उपमा)

διαμεριζόμεναι…καὶ ἐκάθισεν ἐφ’ ἕνα ἕκαστον αὐτῶν

इसका अर्थ है कि ""आग की जैसी जीभें"" फैल गई जो कि वहाँ उपस्थित प्रत्येक व्यक्ति पर थी।

Acts 2:4

ἐπλήσθησαν πάντες Πνεύματος Ἁγίου, καὶ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पवित्र आत्मा ने उन सभी को भर दिया जो वहाँ थे और वे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

λαλεῖν ἑτέραις γλώσσαις

वे उन भाषाओं में बात कर रहे थे जिन्हें वे पहले से ही नहीं जानते थे।

Acts 2:5

यहाँ शब्द ""उन्हें"" विश्वासियों को सन्दर्भित करता है; शब्द ""उसका"" भीड़ में प्रत्येक व्यक्ति को सन्दर्भित करता है। वचन 5 यरूशलेम में रहने वाले यहूदियों की बड़ी सँख्या के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देता है, जिनमें से कई इस घटना के समय उपस्थित थे। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

ἄνδρες εὐλαβεῖς

यहाँ ""भक्त लोग"" उन लोगों को सन्दर्भित करता है जो परमेश्वर की आराधना में समर्पित थे और उन्होंने सभी यहूदी व्यवस्थाओं का पालन करने की कोशिश की थी।

παντὸς ἔθνους τῶν ὑπὸ τὸν οὐρανόν

संसार का प्रत्येक देश। ""हर"" शब्द एक अतिशयोक्ति है जो जोर देता है कि लोग कई अलग-अलग राष्ट्रों से आए हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""कई अलग-अलग राष्ट्र"" (देखें: अतिशयोक्ति)

Acts 2:6

γενομένης δὲ τῆς φωνῆς ταύτης

यह उस आवाज को सन्दर्भित करता है जो एक तेज हवा के जैसी थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब उन्होंने यह आवाज सुनी"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὸ πλῆθος

लोगों की बड़ी भीड़

Acts 2:7

ἐξίσταντο δὲ πάντες καὶ ἐθαύμαζον

ये दो शब्द समान अर्थ को साझा करते हैं। एक साथ में वे आश्चर्य की तीव्रता पर जोर देते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे बहुत ही अधिक आश्चर्यचकित थे"" (देखें: दोहरात्मक)

οὐχ ἰδοὺ, ἅπαντες οὗτοί εἰσιν οἱ λαλοῦντες Γαλιλαῖοι

अपने विस्मय को व्यक्त करने के लिए लोग इस प्रश्न को पूछते हैं। प्रश्न विस्मयबोधक में बदला जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ये सभी गलीली सम्भवतः हमारी भाषाओं को नहीं जानते!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न और विस्मयादिबोधक)

Acts 2:8

καὶ πῶς ἡμεῖς ἀκούομεν ἕκαστος τῇ ἰδίᾳ διαλέκτῳ ἡμῶν, ἐν ᾗ ἐγεννήθημεν

सम्भावित अर्थ हैं 1) यह एक अलंकारिक प्रश्न है जो व्यक्त करता है कि वे कितने आश्चर्यचकित थे या 2) यह एक वास्तविक प्रश्न है जिसके लिए लोग उत्तर चाहते थे। (देखें: भाषणगत प्रश्न)

τῇ ἰδίᾳ διαλέκτῳ ἡμῶν, ἐν ᾗ ἐγεννήθημεν

हमारी अपनी भाषाओं में जिनको हमने जन्म से सीखा है

Acts 2:9

Πάρθοι,…Μῆδοι,…Ἐλαμεῖται

ये जातिसमूहों के नाम हैं। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

τὴν Μεσοποταμίαν, Ἰουδαίαν;…Καππαδοκίαν, Πόντον,…Ἀσίαν;

ये भूमि के बड़े क्षेत्रों के नाम हैं। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 2:10

Φρυγίαν,…Παμφυλίαν, Αἴγυπτον,…Λιβύης…Κυρήνην

ये भूमि के बड़े क्षेत्रों के नाम हैं। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 2:11

Κρῆτες…Ἄραβες

ये जातिसमूहों के नाम हैं। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

προσήλυτοι

यहूदी धर्म से परिवर्तित लोग

Acts 2:12

ἐξίσταντο…καὶ διηποροῦντο

ये दो शब्द समान अर्थ को साझा करते हैं। साथ में वे जोर देते हैं कि लोग समझ नहीं पाए कि क्या हो रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""आश्चर्यचकित और उलझन में"" (देखें: दोहरात्मक)

Acts 2:13

γλεύκους μεμεστωμένοι εἰσίν

कुछ लोग विश्वासियों पर बहुत अधिक शराब को पीए हुए होने का आरोप लगाते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे नशे में हैं"" (देखें: मुहावरे)

γλεύκους

यह मदिरा को सन्दर्भित करता है जो कि किण्वन की प्रक्रिया में है।

Acts 2:14

पतरस पिन्तेकुस्त के दिन वहाँ उपस्थित यहूदियों को अपना भाषण देना आरम्भ करता है।

σταθεὶς…σὺν τοῖς ἕνδεκα

सभी प्रेरित पतरस के कथन के समर्थन में खड़े हुए।

ἐπῆρεν τὴν φωνὴν αὐτοῦ

यह ""ऊँची आवाज से बोले जाने"" के लिए एक मुहावरा है। (देखें: https://git.door43.org/Door43-Catalog/hi_ta/src/branch/master/translate/figs-idiom/01.md)

τοῦτο ὑμῖν γνωστὸν ἔστω

इसका अर्थ है कि जो कुछ लोगों ने देखा था पतरस उसके अर्थ को उनको समझाने वाला है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसे बात को जानें"" या ""मैं तुमको यह समझाता हूँ"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐνωτίσασθε τὰ ῥήματά μου

पतरस उस बात को सन्दर्भित कर रहा था जो वह कह रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""ध्यान से सुनो कि मैं क्या कह रहा हूँ"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 2:15

γὰρ…ὥρα τρίτη τῆς ἡμέρας

सुबह के केवल नौ बजे है। पतरस ने अपने दर्शकों से यह जान लेने की अपेक्षा की कि लोग दिन इतनी सुबह नशा नहीं करते हैं। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 2:16

यहाँ पतरस उन्हें एक सन्दर्भ बताता है जिसके बारे में भविष्यवक्ता योएल ने पुराने नियम में लिखा था जो कि उन भाषाओं के साथ जो हो रहा है, जिसमें विश्वासियों ने बात की थी से सम्बन्धित था। यह कविता के रूप में और साथ ही उद्धरण के रूप में लिखा गया है।

τοῦτό ἐστιν τὸ εἰρημένον διὰ τοῦ προφήτου Ἰωήλ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यही है जो परमेश्वर ने भविष्यवक्ता योएल को लिखने के लिए कहा"" या ""यही है जो भविष्यद्वक्ता योएल ने कहा था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 2:17

ἔσται

यही है जो घटित होगा या ""यही है जो मैं करूँगा

ἐκχεῶ ἀπὸ τοῦ Πνεύματός μου ἐπὶ πᾶσαν σάρκα

यहाँ ""उण्डेलना"" शब्द का अर्थ उदारतापूर्वक और बहुतायत से देना है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं सभी लोगों को अपनी आत्मा बहुतायत से दूँगा"" (देखें: मुहावरे)

Acts 2:18

पतरस भविष्यवक्ता योएल का उद्धरण देना जारी रखता है।

τοὺς δούλους μου, καὶ ἐπὶ τὰς δούλας

मेरे पुरुष और स्त्री दोनों दासों। ये शब्द इस बात पर जोर देते हैं कि परमेश्वर अपने सभी दासों, पुरुषों और स्त्रियों दोनों पर अपने आत्मा को डालेगा।

ἐκχεῶ ἀπὸ τοῦ Πνεύματός μου

यहाँ ""उण्डेलना"" शब्द का अर्थ उदारतापूर्वक और बहुतायत से देना है। देखें कि आपने इसका अनुवाद कैसे किया है प्रेरितों के काम 2:17। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं सभी लोगों को अपनी आत्मा बहुतायत से दूँगा"" (देखें: मुहावरे)

Acts 2:19

ἀτμίδα καπνοῦ

धुएँ के गहरे बादल या ""धुएँ के बादल

Acts 2:20

पतरस योएल को उद्धरित करना समाप्त करता है।

ὁ ἥλιος μεταστραφήσεται εἰς σκότος

इसका अर्थ है कि सूर्य प्रकाश के स्थान पर अन्धकारमय रूप में दिखाई देगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""सूर्य अन्धकारमय हो जाएगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἡ σελήνη εἰς αἷμα

इसका अर्थ है कि चन्द्रमा लहू की तरह लाल दिखाई देगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""चन्द्रमा लाल दिखाई देगा"" (देखें: रूपक और पदन्यूनता)

ἡμέραν…τὴν μεγάλην καὶ ἐπιφανῆ

महान"" और ""तेजस्वी"" शब्द समान अर्थ को साझा करते हैं और महानता की गहनता पर जोर देते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""बहुत ही महान दिन"" (देखें: दोहरात्मक)

ἐπιφανῆ

महान और सुन्दर

Acts 2:21

πᾶς ὃς ἂν ἐπικαλέσηται τὸ ὄνομα Κυρίου σωθήσεται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर उन सभी को बचाएगा जो उसे पुकारते हैं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और लक्षणालंकार)

Acts 2:22

पतरस यहूदियों को अपना भाषण देना जारी रखता है जिसे उसने प्रेरितों के काम 1:16 में आरम्भ किया था।

ἀκούσατε τοὺς λόγους τούτους

सुनो कि मैं क्या कहने वाला हूँ

ἀποδεδειγμένον ἀπὸ τοῦ Θεοῦ εἰς ὑμᾶς δυνάμεσι, καὶ τέρασι, καὶ σημείοις

इसका अर्थ है कि परमेश्वर ने प्रमाणित किया कि उसने यीशु को अपने विशेष कार्य के लिए नियुक्त किया था, और उसके कई आश्चर्यकर्मों के द्वारा यह प्रमाणित किया कि वह कौन था।

Acts 2:23

τῇ, ὡρισμένῃ βουλῇ καὶ προγνώσει τοῦ Θεοῦ

योजना"" और ""पूर्वज्ञान"" संज्ञाओं को क्रियाओं के रूप में अनुवाद किया जा सकता है। इसका अर्थ है कि परमेश्वर ने योजना बनाई थी और पहले से जान लिया था कि यीशु के साथ क्या होगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि परमेश्वर ने योजना बनाई थी और जो भी होगा, उसे वह सब पहले से पता था"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

τοῦτον…ἔκδοτον

सम्भावित अर्थ: 1) ""तुमने यीशु को शत्रुओं के हाथों में सौंप दिया"" या 2) ""यहूदा ने यीशु को पकड़वा दिया।"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

διὰ χειρὸς ἀνόμων, προσπήξαντες ἀνείλατε

यद्यपि ""अधर्मी पुरुषों"" ने वास्तव में यीशु को क्रूस पर चढ़ाया था, फिर भी पतरस ने उसे मारने के लिए भीड़ पर आरोप लगाया क्योंकि उन्होंने उसकी मृत्यु की माँग की थी।

διὰ χειρὸς ἀνόμων

यहाँ ""हाथ"" अधर्मी पुरुषों के कार्यों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: "" अधर्मी पुरुषों के कार्यों के माध्यम से"" या ""जो अधर्मी पुरुषों ने किया उसके द्वारा"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἀνόμων

सम्भावित अर्थ हैं 1) अविश्वासी यहूदी जिन्होंने यीशु पर अपराधों का आरोप लगाया था या 2) रोमी सैनिक जिन्होंने यीशु के मारने के कार्य को पूरा किया था।

Acts 2:24

ὃν ὁ Θεὸς ἀνέστησεν

जी उठना यहाँ किसी मरे हुए व्यक्ति के फिर से जीवित होने के लिए दिया गया एक मुहावरा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु परमेश्वर उसे फिर से जीवित कर दिया"" (देखें: मुहावरे)

λύσας τὰς ὠδῖνας τοῦ θανάτου

पतरस मरने की बात ऐसे करता है कि मानो मृत्यु एक व्यक्ति हो जो लोगों को पीड़ादायक रस्सियों से बाँध देती है और उन्हें बंदी बना लेती है। वह परमेश्वर द्वारा यीशु मसीह की मृत्यु को समाप्त करने के विषय में बोलता है जैसे कि परमेश्वर ने उन रस्सियों को तोड़ दिया जिनसे मसीह जकड़ा हुआ था और मसीह को मुक्त कर दिया। वैकल्पिक अनुवाद: ""मृत्यु की पीड़ा को समाप्त करना"" (देखें: रूपक और मानवीकरण)

κρατεῖσθαι αὐτὸν ὑπ’ αὐτοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मृत्यु का उसे थामे रखना"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

κρατεῖσθαι αὐτὸν ὑπ’ αὐτοῦ

पतरस मसीह के मेरा रहने के बारे में बोलता है जैसे कि मानो मृत्यु एक व्यक्ति था जिसने उसे बंदी बना लिया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसके लिए मरा रहना"" (देखें: मानवीकरण)

Acts 2:25

यहाँ पतरस उस सन्दर्भ को उद्धरित करता है जिसे दाऊद ने एक भजन में लिखा था जो यीशु के क्रूस पर चढ़ाए जाने और पुनरुत्थान से सम्बन्धित है। क्योंकि पतरस कहता है कि दाऊद ने यीशु के बारे में ये शब्द कहे थे, ""मैं"" और ""मेरा"" शब्द यीशु को सन्दर्भित करते हैं और शब्द ""प्रभु"" और ""वह"" परमेश्वर का सन्दर्भ देते हैं।

ἐνώπιόν μου

मेरे सामने। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरी उपस्थिति में"" या ""मेरे साथ"" (देखें: उपलक्षण अलंकार और मुहावरे)

ἐκ δεξιῶν μού

किसी के ""दाहिने हाथ"" होने का अर्थ अक्सर सहायता करना और उसे बनाए रखने की स्थिति में होना होता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरी बगल में दाहिनी ओर"" या ""मेरी सहायता करने के लिए मेरे साथ"" (देखें: उपलक्षण अलंकार और मुहावरे)

μὴ σαλευθῶ

यहाँ शब्द ""डिगना"" का अर्थ परेशान होना है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग मुझे परेशान करने में सक्षम नहीं होंगे"" या ""मुझे कुछ भी परेशान नहीं करेगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 2:26

ηὐφράνθη ἡ καρδία μου, καὶ ἠγαλλιάσατο ἡ γλῶσσά μου

लोग ""मन"" को भावनाओं का केन्द्र मानते हैं और ""जीभ"" उन भावनाओं को आवाज देती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं प्रसन्न और आनन्दित था"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

ἡ σάρξ μου κατασκηνώσει ἐπ’ ἐλπίδι

शरीर"" शब्द का सम्भावित अर्थ हैं 1) वह एक नश्वर प्राणी है जो मर जाएगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""भले ही मैं केवल नश्वर प्राणी हूँ, मुझे परमेश्वर पर भरोसा होगा"" या 2) यह उसके स्वयं के पूरे व्यक्ति के लिए उपलक्ष्य अलंकार है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं परमेश्वर पर विश्वास के साथ जीऊँगा"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 2:27

क्योंकि पतरस कहता है कि दाऊद ने यीशु के बारे में ये शब्द कहे था, ""मेरा,"" ""पवित्र जन,"" और ""मैं"" शब्द यीशु को सन्दर्भित करते हैं और ""तू"" और ""तेरा"" शब्द परमेश्वर को सन्दर्भित करते हैं।

पतरस दाऊद को उद्धरित करना समाप्त करता है।

οὐδὲ δώσεις τὸν Ὅσιόν σου ἰδεῖν διαφθοράν

मसीह, यीशु, स्वयं को ""तेरा पवित्र जन"" शब्दों से सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""न ही तू मेरे लिए, जो तेरा पवित्र जन है, ऐसा होने देगा कि वह सड़ जाए"" (देखें: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

ἰδεῖν διαφθοράν

यहाँ ""देखने"" शब्द का अर्थ कुछ अनुभव करना है। ""सड़ना"" शब्द मृत्यु के बाद उसके शरीर के अपघटन को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सड़ना"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 2:28

ὁδοὺς ζωῆς

ऐसे तरीके जो जीवन की ओर ले जाते हैं

πληρώσεις με εὐφροσύνης μετὰ τοῦ προσώπου σου

यहाँ ""दर्शन"" शब्द परमेश्वर की उपस्थिति को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब मैं तुझे देखता हूँ तो बहुत आनन्दित होता हूँ"" या ""जब मैं तेरी उपस्थिति में होता हूँ तो बहुत आनन्दित हूँ"" (देखें: लक्षणालंकार)

εὐφροσύνης

आनन्द, हर्ष

Acts 2:29

वचन 29 और 30 में, ""वह,"" ""उसका, "" और ""उसे"" शब्द दाऊद का सन्दर्भ देते हैं। वचन 31 में, पहला ""उसने"" दाऊद को सन्दर्भित करता है और उद्धरण के भीतर ""वह"" और ""उसका"" शब्द मसीह का सन्दर्भ देते हैं।

पतरस अपने भाषण को जारी रखता है जिसे उसने प्रेरितों के काम 1:16 उसके आसपास के उन यहूदियों को और यरूशलेम में रहने वाले अन्य विश्वासियों को देना आरम्भ किया था।

ἀδελφοί, ἐξὸν

मेरे साथी यहूदियों, मैं

καὶ ἐτελεύτησεν καὶ ἐτάφη

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह मर गया और लोगों ने उसे गाड़ दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 2:30

ἐκ καρποῦ τῆς ὀσφύος αὐτοῦ, καθίσαι ἐπὶ τὸν θρόνον αὐτοῦ

परमेश्वर दाऊद के सिंहासन पर दाऊद के वंशजों में से एक को नियुक्त करेगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर दाऊद के स्थान पर राजा बनने के लिए दाऊद के वंशजों में से एक को नियुक्त करेगा"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἐκ καρποῦ τῆς ὀσφύος αὐτοῦ

यहाँ ""फल"" शब्द ""उसका शरीर"" जो उत्पन्न करता है उसे सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उनके वंशजों में से एक"" (देखें: मुहावरे)

Acts 2:31

οὔτε ἐνκατελείφθη εἰς ᾍδην

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उसे अधोलोक में नहीं छोड़ा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

οὔτε ἡ σὰρξ αὐτοῦ εἶδεν διαφθοράν

यहाँ ""देखने"" शब्द का अर्थ कुछ अनुभव करना है। ""सड़ना"" शब्द मृत्यु के बाद उसके शरीर के अपघटन को सन्दर्भित करता है। देखें कि आपने इसका अनुवाद कैसे किया है प्रेरितों के काम 2:27। वैकल्पिक अनुवाद: ""न ही उसका शरीर सड़ा"" या ""और न ही वह उसके शरीर के सड़ने के लिए पर्याप्त लम्बे समय तक मरा रहा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 2:32

यहाँ, दूसरा ""यह"" शब्द चेलों को पवित्र आत्मा प्राप्त करने पर अन्य भाषाओं में बोलने का सन्दर्भ देता है। ""हम"" शब्द चेलों और उन लोगों को सन्दर्भित करता है जिन्होंने उसकी मृत्यु के बाद जी उठे यीशु की गवाही दी थी। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

ἀνέστησεν ὁ Θεός

यह एक मुहावरा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उसे फिर से जीवित कर दिया"" (देखें: मुहावरे)

Acts 2:33

τῇ δεξιᾷ…τοῦ Θεοῦ ὑψωθεὶς

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि परमेश्वर ने यीशु को अपने दाहिने हाथ तक ऊँचा उठाया है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τῇ δεξιᾷ…τοῦ Θεοῦ ὑψωθεὶς

यहाँ परमेश्वर का दाहिना हाथ एक मुहावरा है जिसका अर्थ है कि मसीह परमेश्वर के अधिकार के साथ परमेश्वर के रूप में शासन करेगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""मसीह परमेश्वर की अवस्था में है"" (देखें: मुहावरे)

ἐξέχεεν…ὃ

यहाँ ""उण्डेल दिया"" शब्द का अर्थ है कि यीशु, जो परमेश्वर है, ने इन घटनाओं को होने के लिए बनाया है। यह निहित है कि वह विश्वासियों को पवित्र आत्मा देने के द्वारा ऐसा करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने इन बातों को होने दिया कि"" (देखें: मुहावरे और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐξέχεεν

यहाँ ""उण्डेलना"" शब्द का अर्थ उदारतापूर्वक और बहुतायत से देना है। देखें कि आपने प्रेरितों के काम 2:17 में एक ऐसे ही वाक्यांश का अनुवाद कैसे किया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""बहुतायत से दिया गया"" (देखें: मुहावरे)

Acts 2:34

पतरस फिर से दाऊद के एक भजन को उद्धरित करता है। दाऊद इस भजन में स्वयं की बात नहीं कर रहा है। ""प्रभु"" और ""मेरा"" परमेश्वर को सन्दर्भित हैं; ""मेरे प्रभु"" और ""तुम्हारा"" यीशु मसीह को सन्दर्भित करते हैं।

पतरस यहूदियों को अपना भाषण देना समाप्त करता है जिसे उसने Acts 1:16 में आरम्भ किया था।

κάθου ἐκ δεξιῶν μου

परमेश्वर के दाहिने हाथ"" पर बैठना परमेश्वर से महान सम्मान और अधिकार प्राप्त करने का एक प्रतीकात्मक कार्य है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे बगल में सम्मान के स्थान पर बैठ"" (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

Acts 2:35

ἕως ἂν θῶ τοὺς ἐχθρούς σου ὑποπόδιον τῶν ποδῶν σου

इसका अर्थ है कि परमेश्वर मसीह के शत्रुओं को पूरी तरह से पराजित करेगा और उन्हें उसके अधीन बनाएगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब तक मैं तेरे सभी शत्रुओं के ऊपर तुझे विजयी नहीं करता"" (देखें: रूपक)

Acts 2:36

πᾶς οἶκος Ἰσραὴλ

यह पूरे इस्राएल देश को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रत्येक इस्राएली"" (देखें: मुहावरे)

Acts 2:37

यहाँ ""वे"" शब्द उन भीड़ के लोगों को सन्दर्भित करता है जिनसे पतरस ने बात की थी।

यहूदी पतरस के भाषण का प्रतिउत्तर देते हैं और पतरस उन्हें उत्तर देता है।

ἀκούσαντες

जब लोगों ने वह सुना जो पतरस ने कहा था

κατενύγησαν τὴν καρδίαν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पतरस के शब्दों ने उनके मनों को छेद दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

κατενύγησαν τὴν καρδίαν

इसका अर्थ है कि लोगों ने दोषी महसूस किया और बहुत दुःखी हो गए। वैकल्पिक अनुवाद: ""अत्यधिक परेशान"" (देखें: मुहावरे)

Acts 2:38

βαπτισθήτω

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हें बपतिस्मा देने की हमें अनुमति दो"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐπὶ τῷ ὀνόματι Ἰησοῦ Χριστοῦ

के नाम से"" यहाँ ""के अधिकार के द्वारा"" के लिए एक उपनाम है वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु मसीह के अधिकार के द्वारा"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 2:39

πᾶσι τοῖς εἰς μακρὰν

इसका अर्थ है या तो 1) ""सभी लोग जो दूर रहते हैं"" या 2) ""सभी लोग जो परमेश्वर से दूर हैं।

Acts 2:40

यह पिन्तेकुस्त के दिन हुई कहानी के उस हिस्से का अन्त है। वचन 42 एक खण्ड आरम्भ करता है जो बताता है कि विश्वासियों ने पिन्तेकुस्त के दिन के बाद जीवन को कैसे आगे बढ़ाया। (देखें: कहानी का अंत)

διεμαρτύρατο, καὶ παρεκάλει αὐτοὺς

उसने गम्भीरता से उनसे कहा और उनसे आग्रह किया। यहाँ ""गवाही"" और ""समझाया"" शब्द समान अर्थ को साझा करते हैं और जोर देते हैं कि पतरस ने उनसे दृढ़ता से उसके लिए प्रतिउत्तर देने का अनुरोध किया था जो वह कह रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने दृढ़ता से उनसे आग्रह किया"" (देखें: दोहरात्मक)

σώθητε ἀπὸ τῆς γενεᾶς τῆς σκολιᾶς ταύτης

यह निहितार्थ है कि परमेश्वर ""इस दुष्ट पीढ़ी"" को दण्डित करेगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""उस दण्ड से स्वयं को बचाओ जो ये दुष्ट लोग भुगतेंगे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 2:41

οἱ…ν ἀποδεξάμενοι τὸν λόγον αὐτοῦ

यहाँ ""ग्रहण किया"" शब्द का अर्थ है कि उन्होंने स्वीकार किया कि पतरस ने जो कहा वह सच था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने उस पर विश्वास किया जो पतरस ने कहा था"" (देखें: मुहावरे)

ἐβαπτίσθησαν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों ने उन्हें बपतिस्मा दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

προσετέθησαν ἐν τῇ ἡμέρᾳ ἐκείνῃ, ψυχαὶ ὡσεὶ τρισχίλιαι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उस दिन लगभग तीन हजार मनुष्य उन विश्वासियों में जुड़ गए"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ψυχαὶ ὡσεὶ τρισχίλιαι

यहाँ ""मनुष्य"" शब्द लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लगभग 3,000 लोग"" (देखें: उपलक्षण अलंकार और संख्याएँ)

Acts 2:42

κλάσει τοῦ ἄρτου

रोटी उनके भोजन का हिस्सा थी। सम्भावित अर्थ हैं 1) यह किसी भी भोजन जो वे एक साथ खा सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक साथ भोजन खाना"" या 2) यह उन भोजनों को सन्दर्भित करता है जो वे मसीह की मृत्यु और पुनरुत्थान को स्मरण रखने के लिए एक साथ खाते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रभु के भोज को एक साथ खाना"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 2:43

ἐγίνετο δὲ πάσῃ ψυχῇ φόβος

यहाँ ""भय"" शब्द परमेश्वर के लिए गहरे सम्मान और डर को सन्दर्भित करता है। ""आत्मा"" शब्द पूरे व्यक्ति को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रत्येक व्यक्ति को परमेश्वर के प्रति गहरा सम्मान और भय महसूस हुआ"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

πολλά τε τέρατα καὶ σημεῖα διὰ τῶν ἀποστόλων ἐγίνετο

सम्भावित अर्थ हैं 1) ""प्रेरितों ने कई आश्चर्यकर्म और चिन्ह प्रगट किए"" या 2) ""परमेश्वर ने प्रेरितों के माध्यम से कई आश्चर्यकर्म और चिन्ह प्रगट किए"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τέρατα καὶ σημεῖα

आश्चर्यजनक कार्य और अलौकिक घटनाएँ। देखें कि आपने इसका अनुवाद कैसे किया है प्रेरितों के काम 2:22.।

Acts 2:44

πάντες δὲ οἱ πιστεύοντες ἦσαν ἐπὶ τὸ αὐτὸ

सम्भावित अर्थ हैं 1) ""उन सभी ने एक ही बात को माना था"" या 2) ""जिन लोगों ने विश्वास किया था वे सब एक साथ एक ही स्थान पर थे।

εἶχον ἅπαντα κοινά

एक दूसरे के साथ अपने सामान को साझा किया

Acts 2:45

κτήματα καὶ τὰς ὑπάρξεις

उनके स्वामित्व की भूमि और वस्तुएँ

διεμέριζον αὐτὰ πᾶσιν

यहाँ ""उन्हें"" शब्द उस लाभ को सन्दर्भित करता है जो उन्होंने अपनी सम्पत्ति और वस्तुओं को बेचने से प्राप्त किया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""लाभ को सभी में बाँट दिया"" (देखें: लक्षणालंकार)

καθότι ἄν τις χρείαν εἶχεν

उन्होंने अपनी सम्पत्ति और वस्तुओं को बेचने से अर्जित की हुई आय को किसी भी आवश्यकताग्रस्त विश्वासी को बाँट दिया।

Acts 2:46

προσκαρτεροῦντες ὁμοθυμαδὸν

सम्भावित अर्थ हैं 1) ""उन्होंने एक साथ मिलना जारी रखा"" या 2) ""उन सभी ने एक ही जैसा व्यवहार रखा।

κλῶντές…κατ’ οἶκον ἄρτον

रोटी उनके भोजन का हिस्सा थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे अपने घरों में एक साथ भोजन खाते हैं"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

ἐν ἀγαλλιάσει καὶ ἀφελότητι καρδίας

यहाँ ""मन"" व्यक्ति की भावनाओं के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""आनन्द से और विनम्रतापूर्वक"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 2:47

αἰνοῦντες τὸν Θεὸν καὶ ἔχοντες χάριν πρὸς ὅλον τὸν λαόν

परमेश्वर की प्रशंसा करना सभी लोग उनसे प्रसन्न थे

τοὺς σῳζομένους

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे जिन्हें परमेश्वर ने बचाया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 3

प्रेरितों के काम 03 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

परमेश्वर की अब्राहम के साथ बाँधी गई वाचा

यह अध्याय बताता है कि यीशु यहूदियों के पास आया क्योंकि परमेश्वर ने जो वाचा अब्राहम के साथ बाँधी थी वह उसका हिस्सा पूरा कर रहा था। पतरस ने सोचा था कि यहूदी ही थे जो वास्तव में यीशु को मारने के लिए दोषी थे, परन्तु वह

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

""तूने उसे छुड़ा लिया""

""वे रोमी ही थे जिन्होंने यीशु को मारा, परन्तु उन्होंने उसे इसलिए मार डाला था क्योंकि यहूदियों ने उसे पकड़ा था, उसे रोमियों के पास लाए, और रोमियों को उसे मारने के लिए कहा था। इस कारण से पतरस ने सोचा कि ये ही थे जो वास्तव में यीशु को मारने के दोषी थे। परन्तु वह उन्हें बताता है कि वे ही पहले व्यक्ति हैं जिनके पास परमेश्वर ने यीशु के अनुयायियों को पश्चाताप करने के लिए आमंत्रित करने को भेजा है (लूका 3:26)। (देखें: मन फिराना, (पश्चाताप),मन फिराव)

Acts 3:1

वचन 2 लंगड़े व्यक्ति के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

एक दिन पतरस और यूहन्ना मन्दिर जाते हैं।

εἰς τὸ ἱερὸν

वे मन्दिर के भवन में नहीं गए जहाँ जाने की केवल याजकों की अनुमति थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""मन्दिर के आँगन में"" या ""मन्दिर परिसर में

Acts 3:2

τις ἀνὴρ, χωλὸς ἐκ κοιλίας μητρὸς αὐτοῦ ὑπάρχων, ἐβαστάζετο, ὃν ἐτίθουν καθ’ ἡμέραν πρὸς τὴν θύραν τοῦ ἱεροῦ, τὴν λεγομένην Ὡραίαν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""हर दिन, लोग एक जन्म से लंगड़े व्यक्ति को लाते थे, और सुन्दर गेट के पास बैठा देते थे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

χωλὸς

चलने में असमर्थ

Acts 3:4

ἀτενίσας…Πέτρος εἰς αὐτὸν σὺν τῷ Ἰωάννῃ εἶπεν

पतरस और यूहन्ना दोनों ने उस व्यक्ति की ओर देखा, परन्तु केवल पतरस ने बात की।

ἀτενίσας…εἰς αὐτὸν

सम्भावित अर्थ हैं 1) ""सीधे उसे देख रहे हैं"" या 2) ""उसे ध्यान से देख रहे हैं"" (देखें: मुहावरे)

Acts 3:5

ὁ…ἐπεῖχεν αὐτοῖς

यहाँ शब्द ""ताकने"" का अर्थ किसी चीज़ पर ध्यान देना है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लंगड़े व्यक्ति ने उन पर विशेष ध्यान दिया

Acts 3:6

ἀργύριον καὶ χρυσίον

ये शब्द धन को सन्दर्भित करते हैं। (देखें: लक्षणालंकार)

ὃ…ἔχω

यह समझा गया है कि पतरस के पास उस व्यक्ति को ठीक करने की क्षमता है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐν τῷ ὀνόματι Ἰησοῦ Χριστοῦ

यहाँ ""नाम"" शब्द सामर्थ्य और अधिकार को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु मसीह के अधिकार से"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 3:7

ἤγειρεν αὐτόν

पतरस ने उसे खड़ा कर दिया

Acts 3:8

εἰσῆλθεν…εἰς τὸ ἱερὸν

वह मन्दिर के भवन के अन्दर नहीं गए जहाँ केवल याजकों को अनुमति थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने प्रवेश किया ... मन्दिर परिसर में"" या ""उसने प्रवेश किया ... मन्दिर के आंगन में

Acts 3:10

ἐπεγίνωσκον…ὅτι αὐτὸς ἦν ὁ

जान लिया कि यह वही व्यक्ति था या ""उसे उस व्यक्ति के रूप में पहचाना

τῇ Ὡραίᾳ Πύλῃ

यह मन्दिर परिसर के प्रवेश द्वारों में से एक का नाम था। देखें कि आपने इस जैसे ही वाक्यांश का अनुवाद कैसे किया है प्रेरितों के काम 3:2

ἐπλήσθησαν θάμβους καὶ ἐκστάσεως

यहाँ ""अचम्भित"" और ""चकित"" शब्द समान अर्थ को साझा करते हैं और लोगों के आश्चर्य की गहनता पर जोर देते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे बेहद आश्चर्यचकित थे"" (देखें: दोहरात्मक)

Acts 3:11

वाक्यांश ""उस ओसारे में जो सुलैमान का कहलाता है"" यह स्पष्ट करता है कि वे मन्दिर के अन्दर नहीं थे जहाँ केवल याजकों को प्रवेश करने की अनुमति थी। यहाँ ""हम"" और ""सब"" शब्द पतरस और यूहन्ना का उल्लेख करते हैं, परन्तु उस भीड़ का नहीं, जिससे पतरस बात कर रहा है। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

उस व्यक्ति को ठीक करने के बाद जो चल नहीं सकता था, पतरस लोगों से बात करता है।

τῇ στοᾷ τῇ καλουμένῃ Σολομῶντος

सुलैमान का ओसारा। यह एक ढका हुआ रास्ता था जिसमें छत को सहारा देने वाले खम्भों की पंक्तियाँ थीं, और लोगों के द्वारा राजा सुलैमान के ऊपर उसका नाम रखा गया था।

ἔκθαμβοι

अत्यन्तआश्चर्यचकित

Acts 3:12

ἰδὼν δὲ, ὁ Πέτρος

यहाँ ""इस"" शब्द लोगों के आश्चर्य को सन्दर्भित करता है।

ἄνδρες, Ἰσραηλεῖται

साथी इस्राएलियों पतरस भीड़ को सम्बोधित कर रहा था।

τί θαυμάζετε

पतरस जोर देने के लिए इस प्रश्न को पूछता है कि जो कुछ हुआ था उससे उन्हें आश्चर्यचकित नहीं होना चाहिए। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हें आश्चर्यचकित नहीं होना चाहिए"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἡμῖν τί ἀτενίζετε, ὡς ἰδίᾳ δυνάμει ἢ εὐσεβείᾳ πεποιηκόσιν τοῦ περιπατεῖν αὐτόν

पतरस जोर देने के लिए इस प्रश्न को पूछता है कि लोगों को यह नहीं सोचना चाहिए कि उसने और यूहन्ना ने उस व्यक्ति को अपनी क्षमताओं से ठीक किया था। इसे दो कथनों के रूप में लिखा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""हम पर अपनी आँखें न लगाओ। हमने उसे अपनी सामर्थ्य या ईश्वरीयता से चलने योग्य नहीं बनाया"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἡμῖν…ἀτενίζετε

इसका अर्थ है कि वे बिना रुके उन्हें बड़े ध्यान से देख रहे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""हमारी ओर ताकते हो"" या ""हमारी ओर देखते हो"" (देखें: मुहावरे)

Acts 3:13

पतरस निरन्तर यहूदियों को प्रचार करता रहा जिसे उसने \ [प्रेरितों 3:12] (../ 03 / 12.md) में आरम्भ किया था।

ἠρνήσασθε κατὰ πρόσωπον Πειλάτου

यहाँ वाक्यांश ""उसके सामने"" का अर्थ है ""उपस्थिति में।"" वैकल्पिक अनुवाद: ""पिलातुस की उपस्थिति में अस्वीकार कर दिया"" (देखें: मुहावरे)

κρίναντος ἐκείνου ἀπολύειν

जब पिलातुस ने यीशु को छोड़ने का निर्णय कर लिया था

Acts 3:14

ᾐτήσασθε ἄνδρα, φονέα χαρισθῆναι ὑμῖν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि पिलातुस को एक हत्यारे को छोडना था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 3:15

यहाँ ""हम"" शब्द केवल पतरस और यूहन्ना को सम्मिलित करता है। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

Ἀρχηγὸν τῆς ζωῆς

यह यीशु को सन्दर्भित करता है। सम्भावित अर्थ हैं 1) ""वह व्यक्ति जो लोगों को अनन्त जीवन देता है"" या 2) ""जीवन का शासक"" या 3) ""जीवन का कर्ता"" या 4) ""वह व्यक्ति जो लोगों को जीवन की ओर ले जाता है"" (देखें: रूपक)

Acts 3:16

καὶ

यह ""अब,"" शब्द दर्शकों के ध्यान को लंगड़े व्यक्ति की ओर कर देता है।

ἐστερέωσεν

उसे अच्छा कर दिया

Acts 3:17

καὶ νῦν

यहाँ पतरस लंगड़े व्यक्ति पर से दर्शकों के ध्यान को हटाता है और सीधे तौर पर उनसे बात करना जारी रखता है।

κατὰ ἄγνοιαν ἐπράξατε

सम्भावित अर्थ हैं 1) कि लोगों को यह नहीं पता था कि यीशु मसीह था या 2) कि जो कुछ भी वे कर रहे थे लोगों को उसका महत्व समझ में नहीं आया था।

Acts 3:18

ὁ…Θεὸς…προκατήγγειλεν διὰ στόματος πάντων τῶν προφητῶν

जब भविष्यवक्ताओं ने बात की, तो ऐसा लगता था कि परमेश्वर स्वयं बोल रहा था, क्योंकि उसने उनसे कहा था कि क्या कहना है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने सभी भविष्यवक्ताओं को यह कहकर पहले ही बता दिया था कि क्या कहना है

ὁ…Θεὸς…προκατήγγειλεν

परमेश्वर ने समय से पहले बोला था या ""परमेश्वर ने बातों के घटने से पहले उनके बारे में बताया था

στόματος πάντων τῶν προφητῶν

यहाँ ""मुख"" शब्द उन वचनों को सन्दर्भित करता है जिन्हें भविष्यवक्ताओं ने बोला और लिखा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""सभी भविष्यवक्ताओं के वचन"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 3:19

καὶ ἐπιστρέψατε

और परमेश्वर की ओर लौट आओ। यहाँ "" लौट आना"" परमेश्वर की आज्ञापालन आरम्भ करने के लिए एक रूपक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""और परमेश्वर का आज्ञापालन करना आरम्भ करो"" (देखें: रूपक)

πρὸς τὸ ἐξαλειφθῆναι ὑμῶν τὰς ἁμαρτίας

यहाँ ""मिटाएँ जाएँ"" क्षमा करने के लिए एक रूपक है। पापों को इस तरह कहा गया है कि जैसे वे एक पुस्तक में लिखे गए हैं और परमेश्वर उन्हें उस पुस्तक से मिटा देता है जब वह उनको क्षमा करता है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ताकि परमेश्वर तुमको उसके विरूद्ध पाप करने के लिए क्षमा कर देंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और रूपक)

Acts 3:20

καιροὶ ἀναψύξεως ἀπὸ προσώπου τοῦ Κυρίου

प्रभु की उपस्थिति में विश्रान्ति का समय। सम्भावित अर्थ हैं 1) ""ऐसे समय जब परमेश्वर तुम्हारी आत्माओं को दृढ़ करेगा"" या 2) ""ऐसे समय जब परमेश्वर तुम्हें पुनर्जीवित करेगा

ἀπὸ προσώπου τοῦ Κυρίου

यहाँ ""प्रभु के सम्मुख"" शब्द स्वयं परमेश्वर के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रभु की ओर से"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἀποστείλῃ τὸν προκεχειρισμένον ὑμῖν Χριστὸν

ताकि वह फिर से मसीह को भेज दे। यह फिर से मसीह के आने को सन्दर्भित करता है।

τὸν προκεχειρισμένον ὑμῖν

यह सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिसे उन्होंने तुम्हारे लिए नियुक्त किया है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 3:21

जो कुछ मसीह के आने से पहले मूसा ने बताया था उसे 22-23 के वचनों में पतरस उद्धरित करता है।

पतरस अपने भाषण को जारी रखता है जिसे उसने मन्दिर परिसर में खड़े यहूदियों को प्रेरितों के काम 3:12 में देना आरम्भ किया था।

ὃν δεῖ οὐρανὸν μὲν δέξασθαι

वही है जिसका स्वर्ग स्वागत करे। पतरस स्वर्ग की बात ऐसे करता है जैसे कि वह एक व्यक्ति था जो यीशु को अपने घर में स्वागत करता है। (देखें: मानवीकरण)

δεῖ οὐρανὸν μὲν δέξασθαι, ἄχρι

इसका अर्थ है कि यीशु के लिए स्वर्ग में रहना आवश्यक है, क्योंकि परमेश्वर ने यही योजना बनाई है।

ἄχρι χρόνων ἀποκαταστάσεως πάντων

सम्भावित अर्थ हैं 1) ""उस समय तक जब परमेश्वर सभी बातों को पहले जैसा कर देगा"" या 2) ""उस समय तक जब परमेश्वर भविष्यवाणी की गई सब बातों को पूरा करेगा।

ὧν ἐλάλησεν ὁ Θεὸς διὰ στόματος τῶν ἁγίων ἀπ’ αἰῶνος αὐτοῦ προφητῶν

जब भविष्यवक्ताओं ने बहुत पहले बात की थी, ऐसा लगता था जैसे परमेश्वर स्वयं बोल रहा था क्योंकि उसने उनसे कहा था कि क्या कहना है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिन बातों के बारे में परमेश्वर ने अपने पवित्र भविष्यद्वक्ताओं को उनके बारे में बोलने के लिए बहुत पहले बात की थी

στόματος τῶν ἁγίων…αὐτοῦ προφητῶν

यहाँ ""मुख"" शब्द उन वचनों को सन्दर्भित करता है जिन्हें भविष्यवक्ताओं ने बोला और लिखा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसके पवित्र भविष्यवक्ताओं के वचन"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 3:22

προφήτην…ἀναστήσει…ἐκ τῶν ἀδελφῶν ὑμῶν, ὡς ἐμέ

तेरे भाइयों में से एक को एक सच्चा भविष्यद्वक्ता बना देगा, और हर कोई उसके बारे में जानेगा

τῶν ἀδελφῶν ὑμῶν

तेरी जाति

Acts 3:23

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उस भविष्यवक्ता को, परमेश्वर पूरी तरह से नष्ट कर देगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 3:24

पतरस अपने भाषण को समाप्त करता है जिसे उसने यहूदियों को प्रेरितों के काम 3:12 में देना आरम्भ किया था।

καὶ πάντες δὲ οἱ προφῆται

वास्तव में, सभी भविष्यवक्ताओं ने। यहाँ ""हाँ"" शब्द आने वाली निम्न बातों के ऊपर जोर डालता है।

ἀπὸ Σαμουὴλ καὶ τῶν καθεξῆς

शमूएल से आरम्भ होकर और उन भविष्यवक्ताओं के साथ आगे बढ़ते हुए जो उसके बाद आए थे

τὰς ἡμέρας ταύτας

इन दिनों का या ""इन बातों का जो अब घटित हो रही हैं

Acts 3:25

ὑμεῖς ἐστε οἱ υἱοὶ τῶν προφητῶν, καὶ τῆς διαθήκης

यहाँ ""सन्तान"" शब्द वारिसों को सन्दर्भित करता है जो उन चीजों को प्राप्त करेंगे जिनका भविष्यवक्ताओं और वाचा ने वादा किया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम भविष्यद्वक्ताओं के उत्तराधिकारी और वाचा के उत्तराधिकारी हो"" (देखें: मुहावरे और पदन्यूनता)

ἐν τῷ σπέρματί σου

तेरी सन्तान के कारण

ἐνευλογηθήσονται πᾶσαι αἱ πατριαὶ τῆς γῆς

यहाँ ""घराने"" शब्द जातिसमूहों या राष्ट्रों को सन्दर्भित करता है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं संसार के सभी जातिसमूहों को आशीष दूँगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 3:26

ἀναστήσας ὁ Θεὸς τὸν παῖδα αὐτοῦ

परमेश्वर के यीशु को अपना दास बना लेने और उसे प्रसिद्ध कर देने के बाद

τὸν παῖδα αὐτοῦ

यह मसीह, यीशु को सन्दर्भित करता है।

τῷ ἀποστρέφειν ἕκαστον ἀπὸ τῶν πονηριῶν ὑμῶν

यहाँ ""से ... फेरकर"" किसी को कुछ करने से रोकने के लिए एक रूपक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम में से हर किसी को दुष्ट कामों को करने से रोक देना"" या ""तुम में से हर किसी को अपनी दुष्टता से पश्चाताप करवाना"" (देखें: रूपक)

Acts 4

प्रेरितों के काम 04 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

कुछ अनुवाद पढ़ने के लिए आसान बनाने के लिए पाठ के शेष हिस्सों की तुलना में कविता की प्रत्येक पंक्ति को दाहिनी ओर व्यवस्थित करते हैं । यूएलटी अनुवाद पुराने नियम के काव्य के साथ ऐसा करता है जो 4:25-26 में उद्धरित किया गया है।

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

एकता

आरम्भिक मसीही अधिक से अधिक इकट्ठे रहना चाहते थे। वे एक ही जैसी बातों पर विश्वास करना और उनके स्वामित्व वाली सभी वस्तुओं को साझा करना और उन लोगों की सहायता करना चाहते थे जिन्हें सहायता चाहिए थी।

""चिन्ह और आश्चर्यकर्म""

यह वाक्यांश उन वस्तुओं को सन्दर्भित करता है जो केवल परमेश्वर ही कर सकता है। मसीही चाहते थे कि परमेश्वर ऐसा करे जो केवल वही कर सकता है ताकि लोग विश्वास करें कि यीशु के बारे में उन्होंने जो कहा वह सच था।

इस अध्याय के महत्वपूर्ण अलंकार

कोने का पत्थर

कोने का पत्थर वह पत्थर का पहला टुकड़ा था जिसे लोग भवन बनाते समय रखते थे। यह किसी वस्तु के उस सबसे महत्वपूर्ण भाग के लिए एक रूपक है, जिस पर सब कुछ निर्भर करता है। यह कहना कि यीशु कलीसिया के कोने का पत्थर है यह कहना हुआ कि कलीसिया में कुछ भी यीशु की तुलना में अधिक महत्वपूर्ण नहीं है और कलीसिया का सब कुछ यीशु पर निर्भर करता है। (देखें: रूपक और विश्वास)

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

नाम

""लोगों के बीच स्वर्ग के नीचे कोई अन्य नाम नहीं है जिसके द्वारा हम उद्धार पा सकें"" (प्रेरितों के काम 4:12)। इन शब्दों के साथ पतरस कह रहा था कि पृथ्वी पर कभी भी कोई अन्य व्यक्ति ऐसा नहीं हुआ है या न कभी भी पृथ्वी पर होगा, जो लोगों को बचा सकता है।

Acts 4:1

पतरस के द्वारा एक जन्म से लंगड़े को चंगा कर देने के पश्चात् पतरस और यूहन्ना को धार्मिक अगुवे गिरफ्तार कर लेते हैं।

ἐπέστησαν αὐτοῖς

उनसे सम्पर्क किया या ""उनके पास आया

Acts 4:2

διαπονούμενοι

वे बहुत गुस्से में थे। पतरस और यूहन्ना जो कुछ कह रहे थे, सदूकी, विशेष रूप से, उसके बारे में क्रोधित हो रहे होंगे क्योंकि वे पुनरुत्थान में विश्वास नहीं करते थे। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

καταγγέλλειν ἐν τῷ Ἰησοῦ τὴν ἀνάστασιν, τὴν ἐκ νεκρῶν

पतरस और यूहन्ना कह रहे थे कि परमेश्वर मरे हुओं में से लोगों को उसी तरह जी उठाएगा जैसा उसने यीशु को मरे हुओं में से जी उठाया था। इस तरह से इसका अनुवाद करें कि जो ""पुनरुत्थान"" को यीशु के पुनरुत्थान और अन्य लोगों के सामान्य पुनरुत्थान दोनों को सन्दर्भित करने की अनुमति देता है।

τὴν ἐκ νεκρῶν

उन सभी लोगों में से जो मर गए हैं। यह अभिव्यक्ति अधोलोक के सभी मृत लोगों को एक साथ बताती है। उनमें से वापस आना फिर से जीवित होने की बात कहता है।

Acts 4:3

ἐπέβαλον αὐτοῖς

याजकों, मन्दिर के सरदार, और सदूकियों ने पतरस और यूहन्ना को गिरफ्तार कर लिया

ἦν γὰρ ἑσπέρα

लोगों से रात में प्रश्न न करना सामान्य बात थी।

Acts 4:4

ἀριθμὸς τῶν ἀνδρῶν

यह केवल पुरुषों को सन्दर्भित करता है और कितनी महिलाओं या बच्चों ने विश्वास किया था उनको सम्मिलित नहीं करता है।

ἐγενήθη…ὡς χιλιάδες πέντε

लगभग पाँच हजार तक बढ़ी

Acts 4:5

यहाँ ""उनके"" शब्द यहूदी लोगों को पूरी तरह से सन्दर्भित करता है।

पतरस और यूहन्ना से शासक प्रश्न करते हैं जो डर के बिना उत्तर देते हैं।

ἐγένετο

यहाँ इस वाक्यांश का उपयोग यह चिन्हित करने के लिए किया गया है कि गतिविधि कहाँ आरम्भ होती है। यदि आपकी भाषा में ऐसा करने का कोई तरीका है, तो आप उसे यहाँ उपयोग करने पर विचार कर सकते हैं।

τοὺς ἄρχοντας, καὶ τοὺς πρεσβυτέρους, καὶ τοὺς γραμματεῖς

यह यहूदी शासकीय अदालत, यहूदी महासभा का एक सन्दर्भ है, जिसमें इन तीन समूहों के लोग सम्मिलित थे। (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 4:6

Ἰωάννης, καὶ Ἀλέξανδρος

ये दो पुरुष महायाजक के परिवार के सदस्य थे। यह प्रेरित वाला वही यूहन्ना नहीं है।

Acts 4:7

ἐν ποίᾳ δυνάμει

तुम्हें सामर्थ्य किसने दी

ἐν ποίῳ ὀνόματι

यहाँ ""नाम"" शब्द अधिकार को दर्शा रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""किसके अधिकार से"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 4:8

τότε Πέτρος πλησθεὶς Πνεύματος Ἁγίου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। देखें कि आपने इसका अनुवाद कैसे किया है प्रेरितों के काम 2:4। वैकल्पिक अनुवाद: ""पवित्र आत्मा ने पतरस और उसे भर दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 4:9

εἰ ἡμεῖς σήμερον ἀνακρινόμεθα…ἐν τίνι οὗτος σέσωσται

पतरस स्पष्ट करने के लिए इस प्रश्न को पूछता है कि यह वास्तविक कारण था कि उनकी जाँच चल रही थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम आज हम से पूछ रहे हो ... इसका अर्थ है कि हमने इस व्यक्ति को अच्छा किया है"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἡμεῖς σήμερον ἀνακρινόμεθα

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम आज हम से पूछताछ कर रहे हो"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐν τίνι οὗτος σέσωσται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसका अर्थ है कि हमने इस व्यक्ति को चंगा किया है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 4:10

γνωστὸν ἔστω πᾶσιν ὑμῖν καὶ παντὶ τῷ λαῷ Ἰσραὴλ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम सब और इस्राएल के सभी लोग यह जान लें"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πᾶσιν ὑμῖν καὶ παντὶ τῷ λαῷ Ἰσραὴλ

तुम और इस्राएल के अन्य सभी लोग जो हम से पूछताछ कर रहे हैं

ἐν τῷ ὀνόματι Ἰησοῦ Χριστοῦ τοῦ Ναζωραίου

यहाँ ""नाम"" शब्द सामर्थ्य और अधिकार को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""नासरत के यीशु मसीह की सामर्थ्य से"" (देखें: लक्षणालंकार)

ὃν ὁ Θεὸς ἤγειρεν ἐκ νεκρῶν

जी उठना यहाँ किसी मरे हुए व्यक्ति के फिर से जीवित होने के लिए दिया गया एक मुहावरा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिसे परमेश्वर ने फिर से जीवित कर दिया"" (देखें: मुहावरे)

Acts 4:11

यहाँ ""हम"" शब्द पतरस और साथ ही जिनसे वह बोल रहा है, को सन्दर्भित करता है। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

पतरस यहूदी धार्मिक शासकों को अपना भाषण देना पूरा करता है जिसे उसने प्रेरितों के काम 4:8 में आरम्भ किया था।

οὗτός ἐστιν ὁ λίθος…ὁ γενόμενος εἰς κεφαλὴν γωνίας

पतरस भजन से उद्धरित कर रहा है। यह एक रूपक है जिसका अर्थ है कि धार्मिक अगुवों ने राजमिस्त्रियों की तरह यीशु को अस्वीकार कर दिया, परन्तु परमेश्वर उसे ही अपने राज्य में सबसे महत्वपूर्ण बना दिया, जैसे भवन में कोने का पत्थर महत्वपूर्ण होता है। (देखें: रूपक)

κεφαλὴν

यहाँ ""सिरे"" शब्द का अर्थ है ""सबसे महत्वपूर्ण"" या ""महत्वपूर्ण""।

ὑμῶν, τῶν οἰκοδόμων

तुमने राजमिस्त्रियों की तरह अस्वीकार कर दिया या ""तुम ने राजमिस्त्रियों की तरह बेकार जानकर अस्वीकार कर दिया

Acts 4:12

καὶ οὐκ ἔστιν ἐν ἄλλῳ οὐδενὶ

उद्धार"" संज्ञा का अनुवाद क्रिया के रूप में किया जा सकता है। इसे सकारात्मक रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह ऐसा अकेला व्यक्ति है जो बचाने में सक्षम है"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

οὐδὲ γὰρ ὄνομά ἐστιν ἕτερον ὑπὸ τὸν οὐρανὸν τὸ δεδομένον ἐν ἀνθρώποις

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""स्वर्ग के नीचे कोई अन्य नाम नहीं है जिसे परमेश्वर ने मनुष्यों के बीच दिया है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

οὐδὲ…ὄνομά…ἕτερον…δεδομένον ἐν ἀνθρώποις

वाक्यांश ""नाम ... मनुष्यों के बीच दिया है"" यीशु के व्यक्तित्व को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""स्वर्ग के नीचे कोई अन्य व्यक्ति नहीं, जो लोगों के बीच दिया गया है, जिसके द्वारा"" (देखें: लक्षणालंकार)

ὑπὸ τὸν οὐρανὸν

यह संसार में हर स्थान को उद्धरित करने का एक तरीका है। वैकल्पिक अनुवाद: ""संसार में"" (देखें: मुहावरे)

ἐν ᾧ δεῖ σωθῆναι ἡμᾶς

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो हमें बचा सकता है"" या ""कौन हमें बचा सकता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 4:13

यहाँ ""वे"" का दूसरा उदाहरण पतरस और यूहन्ना को सन्दर्भित करता है। इस खण्ड में ""वे"" शब्द की सभी अन्य घटनाएँ यहूदी अगुवों को सन्दर्भित करती हैं।

τὴν τοῦ Πέτρου παρρησίαν καὶ Ἰωάννου

यहाँ भाववाचक संज्ञा ""साहस"" जिस तरह से पतरस और यूहन्ना ने यहूदी अगुवों को प्रतिउत्तर दिया उसे सन्दर्भित करती है, और इसे एक क्रिया-विशेषण या विशेषण के साथ अनुवाद किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पतरस और यूहन्ना ने कितने साहसपूर्ण बात की थी"" या ""पतरस और यूहन्ना कितने साहसी थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना और भाववाचक संज्ञा)

παρρησίαν

बिना किसी डर के

καταλαβόμενοι ὅτι ἄνθρωποι ἀγράμματοί εἰσιν καὶ ἰδιῶται

पतरस और यूहन्ना ने जिस तरह से बात की थी, उसके कारण यहूदी अगुवों ने यह ""जान"" लिया था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

καὶ καταλαβόμενοι

और समझ गए थे

ἄνθρωποι ἀγράμματοί…ἰδιῶτα

साधारण"" और ""अनपढ़"" शब्द समान अर्थ साझा करते हैं। वे जोर देते हैं कि पतरस और यूहन्ना को यहूदी व्यवस्था में कोई औपचारिक प्रशिक्षण नहीं मिला था। (देखें: दोहरात्मक)

Acts 4:14

τόν…ἄνθρωπον…τὸν τεθεραπευμένον

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह व्यक्ति जिसे पतरस और यूहन्ना ने ठीक किया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

οὐδὲν εἶχον ἀντειπεῖν

पतरस और यूहन्ना के व्यक्ति के उपचार के विरूद्ध कहने को कुछ भी नहीं है। यहाँ ""यह"" शब्द पतरस और यूहन्ना ने जो किया था उसे सन्दर्भित करता है।

Acts 4:15

αὐτοὺς

यह पतरस और यूहन्ना को सन्दर्भित करता है।

Acts 4:16

τί ποιήσωμεν τοῖς ἀνθρώποις τούτοις

यहूदी अगुवे इस प्रश्न को निराश होकर पूछते हैं क्योंकि वे विचार नहीं कर पाए कि पतरस और यूहन्ना के साथ क्या करना है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ऐसा कुछ भी नहीं है जो हम इन पुरुषों के साथ कर सकते हैं!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

γὰρ γνωστὸν σημεῖον γέγονεν δι’ αὐτῶν, πᾶσιν τοῖς κατοικοῦσιν Ἰερουσαλὴμ φανερόν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि यरूशलेम में रहने वाले हर किसी को यह पता है कि उन्होंने एक असाधारण आश्चर्यकर्म किया है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πᾶσιν τοῖς κατοικοῦσιν Ἰερουσαλὴμ

यह एक सामान्यकरण है। यह दिखाने के लिए एक अतिशयोक्ति भी हो सकती है कि अगुवों को लगता है कि यह एक बहुत बड़ी समस्या है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यरूशलेम में रहने वाले बहुत से लोग"" या ""जो लोग पूरे यरूशलेम में रहते हैं"" (देखें: अतिशयोक्ति)

Acts 4:17

ἵνα μὴ ἐπὶ πλεῖον διανεμηθῇ

यहाँ ""यह"" शब्द पतरस और यूहन्ना द्वारा किए जाने वाले किसी भी आश्चर्यकर्मों और शिक्षा को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ताकि इस आश्चर्यकर्म का समाचार आगे नहीं फैले"" या ""ताकि इस आश्चर्यकर्म के बारे में और अधिक लोग नहीं सुनें"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

μηκέτι λαλεῖν ἐπὶ τῷ ὀνόματι τούτῳ μηδενὶ ἀνθρώπων

यहाँ ""नाम"" शब्द यीशु के व्यक्तित्व को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस व्यक्ति, यीशु के बारे में अब किसी से भी बात न करें"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 4:19

यहाँ ""हम"" शब्द पतरस और यूहन्ना को सन्दर्भित करता है, परन्तु उन लोगों को नहीं जिन्हें वे सम्बोधित कर रहे हैं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

εἰ δίκαιόν ἐστιν ἐνώπιον τοῦ Θεοῦ

यहाँ ""परमेश्वर के निकट"" वाक्यांश परमेश्वर की सोच को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्या परमेश्वर सोचता है कि यह सही है"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 4:21

वचन 22 उस लंगड़े व्यक्ति की आयु के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देता है जो ठीक हो गया था। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

οἱ δὲ προσαπειλησάμενοι

यहूदी अगुवों ने फिर से पतरस और यूहन्ना को दण्डित करने की धमकी दी।

μηδὲν εὑρίσκοντες τὸ πῶς κολάσωνται αὐτούς

यद्यपि यहूदी अगुवों ने पतरस और यूहन्ना को धमकी दी, परन्तु उन्हें लोगों के दंगा करने के बिना उनको दण्डित करने का कोई कारण नहीं मिला।

ἐπὶ τῷ γεγονότι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो पतरस और यूहन्ना ने किया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 4:22

ὁ ἄνθρωπος, ἐφ’ ὃν γεγόνει τὸ σημεῖον τοῦτο τῆς ἰάσεως

वह व्यक्ति जिसे पतरस और यूहन्ना ने आश्चर्यजनक रूप से ठीक किया था

Acts 4:23

एक साथ बोलते हुए, वे लोग पुराने नियम से दाऊद के एक भजन संहिता को उद्धरित करते हैं। यहाँ ""उनसे"" शब्द बाकी विश्वासियों को सन्दर्भित करता है, परन्तु पतरस और यूहन्ना को नहीं।

ἦλθον πρὸς τοὺς ἰδίους

वाक्यांश ""अपने साथियों"" बाकी विश्वासियों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अन्य विश्वासियों के पास गए"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 4:24

ὁμοθυμαδὸν ἦραν φωνὴν πρὸς τὸν Θεὸν

आवाज ऊँची करना बोलने के लिए एक मुहावरा है। ""उन्होंने एक साथ परमेश्वर से बात करना आरम्भ किया"" (देखें: https://git.door43.org/Door43-Catalog/hi_ta/src/branch/master/translate/figs-idiom/01.md)

Acts 4:25

ὁ τοῦ πατρὸς ἡμῶν, διὰ Πνεύματος Ἁγίου στόματος Δαυεὶδ παιδός σου εἰπών

इसका अर्थ है कि जो परमेश्वर ने कहा था उसे दाऊद को बोलने या लिखने के लिए पवित्र आत्मा ने प्रेरित किया।

τοῦ πατρὸς ἡμῶν…στόματος Δαυεὶδ παιδός σου

यहाँ ""मुख"" शब्द उन शब्दों को सन्दर्भित करता है जिन्हें दाऊद ने कहा या लिखा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""तेरे दास, हमारे पिता दाऊद के शब्दों के द्वारा"" (देखें: लक्षणालंकार)

τοῦ πατρὸς ἡμῶν…Δαυεὶδ

यहाँ ""पिता"" का अर्थ है ""पूर्वज/

ἵνα τί ἐφρύαξαν ἔθνη, καὶ λαοὶ ἐμελέτησαν κενά

यह एक अलंकारिक प्रश्न है जो परमेश्वर का विरोध करने की निरर्थकता पर जोर देता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अन्यजाति राष्ट्रों को क्रोधित नहीं होना चाहिए था, और लोगों को व्यर्थ की बातों की कल्पना नहीं करनी चाहिए"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

λαοὶ ἐμελέτησαν κενά

इन ""व्यर्थ की बातों"" में परमेश्वर का विरोध करने की योजनाएँ सम्मिलित हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग परमेश्वर के विरूद्ध व्यर्थ की बातों की कल्पना करते हैं"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

λαοὶ

लोगों के समूह

Acts 4:26

विश्वासी भजन संहिता में से राजा दाऊद अपना उद्धरण देना पूरा करते हैं जिसे उन्होंने प्रेरितों के काम 4:25 में आरम्भ किया था।

παρέστησαν οἱ βασιλεῖς τῆς γῆς καὶ οἱ ἄρχοντες συνήχθησαν ἐπὶ τὸ αὐτὸ κατὰ τοῦ Κυρίου

इन दो पंक्तियों का अर्थ मूल रूप से एक ही बात है। दोनों पंक्तियाँ परमेश्वर का विरोध करने के लिए पृथ्वी के शासकों के संयुक्त प्रयास पर जोर देती हैं। (देखें: समरूपता)

παρέστησαν…συνήχθησαν

इन दो वाक्यांशों का अर्थ है कि उन्होंने युद्ध लड़ने के लिए अपनी सेनाओं को एक साथ सम्मिलित कर लिया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अपनी सेनाओं को एक साथ स्थापित करें ... अपने सैनिकों को एक साथ इकट्ठा किया"" (देखें: लक्षणालंकार)

κατὰ τοῦ Κυρίου, καὶ κατὰ τοῦ Χριστοῦ αὐτοῦ

यहाँ ""प्रभु"" शब्द परमेश्वर को सन्दर्भित करता है। भजन संहिता में, ""मसीह"" शब्द मसीहा या परमेश्वर के अभिषिक्त जन को सन्दर्भित करता है।

Acts 4:27

विश्वासी निरन्तर प्रार्थना करते रहे।

ἐν τῇ πόλει ταύτῃ

यह शहर यरूशलेम को सन्दर्भित करता है।

τὸν ἅγιον παῖδά σου Ἰησοῦν

यीशु जो तेरी ईमानदारी से सेवा करता है

Acts 4:28

ποιῆσαι ὅσα ἡ χείρ σου, καὶ ἡ βουλὴ σου προώρισεν

यहाँ ""हाथ"" शब्द का उपयोग परमेश्वर की सामर्थ्य के अर्थ में किया गया है। इसके अतिरिक्त, वाक्यांश ""तेरी सामर्थ्य और तेरी मति से ठहरा"" परमेश्वर की सामर्थ्य और योजना को दिखाता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह सब करने के लिए जो तूने निर्धारित किया था क्योंकि तू सामर्थी है और तूने जो भी योजना बनाई थी वह किया है"" (देखें: लक्षणालंकार और उपलक्षण अलंकार)

Acts 4:29

विश्वासी अपनी प्रार्थना को पूरा करते हैं जिसे उन्होंने प्रेरितों के काम 4:24 में आरम्भ किया था।

ἔπιδε ἐπὶ τὰς ἀπειλὰς αὐτῶν

यहाँ ""को देख"" शब्द परमेश्वर की ओर से उस पर ध्यान दिए जाने के अनुरोध के बारे में हैं जिस तरीके से यहूदी अगुवों ने विश्वासियों को धमकी दी थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""ध्यान दे कि कैसे वे हमें दण्डित करने की धमकी देते हैं"" (देखें: मुहावरे)

μετὰ παρρησίας πάσης λαλεῖν τὸν λόγον σου

यहाँ ""वचन"" शब्द परमेश्वर के सन्देश के लिए एक उपनाम है। भाववाचक संज्ञा ""साहस"" का अनुवाद एक क्रिया के रूप में किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तेरा सन्देश साहस से बोलें"" या ""जब हम आपका सन्देश बोलते हैं तो साहसी हो जाएँ"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 4:30

τὴν χεῖρά σου, ἐκτείνειν σε εἰς ἴασιν

यहाँ ""हाथ"" शब्द परमेश्वर की सामर्थ्य को सन्दर्भित करता है। यह परमेश्वर से यह दिखाने का अनुरोध है कि वह कितना शक्तिशाली है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब तुम लोगों को चंगा करके अपनी सामर्थ्य दिखाते हो"" (देखें: लक्षणालंकार)

διὰ τοῦ ὀνόματος τοῦ ἁγίου παιδός σου, Ἰησοῦ

यहाँ ""नाम"" शब्द सामर्थ्य और अधिकार को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तेरे पवित्र सेवक यीशु की सामर्थ्य के माध्यम से"" (देखें: लक्षणालंकार)

τοῦ ἁγίου παιδός σου, Ἰησοῦ

यीशु जो तेरी ईमानदारी से सेवा करता है। देखें कि आपने इसका अनुवाद कैसे किया है प्रेरितों के काम 4:27

Acts 4:31

ἐσαλεύθη ὁ τόπος

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह स्थान ... हिल गया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐπλήσθησαν ἅπαντες τοῦ Ἁγίου Πνεύματος

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। देखें कि आपने इसका अनुवाद कैसे किया है प्रेरितों के काम 2:4। वैकल्पिक अनुवाद: ""पवित्र आत्मा ने उन सब को भर दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 4:32

ἦν καρδία καὶ ψυχὴ μία

यहाँ ""चित्त"" शब्द विचारों को सन्दर्भित करता है और ""मन"" शब्द भावनाओं को सन्दर्भित करता है। एक साथ वे एक पूर्ण व्यक्ति को सन्दर्भित करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक ही तरीके से सोचा और एक समान ही चीज़ों की चाह की"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἦν αὐτοῖς πάντα κοινά

एक दूसरे के साथ अपने सामान साझा किया। देखें कि आपने इसका अनुवाद कैसे किया है प्रेरितों के काम 2:44

Acts 4:33

χάρις τε μεγάλη ἦν ἐπὶ πάντας αὐτούς

सम्भावित अर्थ हैं: 1) कि परमेश्वर विश्वासियों को बहुत आशीष दे रहा था या 2) कि यरूशलेम में रहने वाले लोग विश्वासियों को बहुत अधिक सम्मान देते थे।

Acts 4:34

ὅσοι…κτήτορες χωρίων ἢ οἰκιῶν ὑπῆρχον

सब"" शब्द यहाँ एक सामान्यकरण है। वैकल्पिक अनुवाद: ""बहुत से लोग जिनके पास भूमि या घर थे"" या ""जिन लोगों के पास भूमि या घर थे"" (देखें: अतिशयोक्ति)

κτήτορες χωρίων ἢ οἰκιῶν ὑπῆρχον

स्वामित्व वाली भूमि या घर

τὰς τιμὰς τῶν πιπρασκομένων

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह धन जो उन्होंने बेची गई वस्तुओं से प्राप्त किया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 4:35

ἐτίθουν παρὰ τοὺς πόδας τῶν ἀποστόλων

इसका अर्थ है कि उन्होंने प्रेरितों को वह धन उपहार में दिया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसे प्रेरितों को उपहार में दिया"" या ""इसे प्रेरितों को दे दिया"" (देखें: मुहावरे)

διεδίδετο…ἑκάστῳ, καθότι ἄν τις χρείαν εἶχεν

संज्ञा ""आवश्यकता"" का अनुवाद क्रिया के साथ किया जा सकता है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने प्रत्येक विश्वासी को वह धन वितरित कर दिया जिसे उसकी आवश्यकता थी"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और भाववाचक संज्ञा)

Acts 4:36

लूका कहानी में बरनबास को प्रस्तुत करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

υἱὸς παρακλήσεως

प्रेरितों ने यह दिखाने के लिए इस नाम का उपयोग किया कि यूसुफ एक ऐसा व्यक्ति था जिसने दूसरों को प्रोत्साहित किया था। ""का पुत्र"" एक मुहावरा है जो किसी व्यक्ति के व्यवहार या चरित्र का वर्णन करने के लिए प्रयोग किया गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रोत्साहित करने वाला"" या ""वह जो प्रोत्साहित करता है"" (देखें: मुहावरे)

Acts 4:37

ἔθηκεν παρὰ τοὺς πόδας τῶν ἀποστόλων

इसका अर्थ है कि उन्होंने प्रेरितों को उपहार में धन दिया था। देखें कि आपने इसका अनुवाद कैसे किया है प्रेरितों के काम 4:35। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसे प्रेरितों को उपहार में दिया"" या ""इसे प्रेरितों को दे दिया"" (देखें: मुहावरे)

Acts 5

प्रेरितों के काम 05 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

""शैतान ने तेरे मन को पवित्र आत्मा से झूठ बोलने के लिए भर दिया है""

कोई भी निश्चित रूप से यह नहीं जानता है कि क्या हनन्याह और सफीरा वास्तव में मसीही थे जब उन्होंने बेची गई भूमि के बारे में झूठ बोलने का निर्णय किया था (प्रेरितों के काम 5:1-10), क्योंकि लूका नहीं बताता है। यद्यपि, पतरस जानता था कि उन्होंने विश्वासियों से झूठ बोला था, और वह जानता था कि उन्होंने शैतान की बात सुनी और उसकी आज्ञा मानी थी।

जब उन्होंने विश्वासियों से झूठ बोला, तो उन्होंने पवित्र आत्मा से झूठ बोला। ऐसा इसलिए है क्योंकि पवित्र आत्मा विश्वासियों के भीतर रहता है।

Acts 5:1

कैसे नए मसीहियों द्वारा अपनी वस्तुओं को अन्य विश्वासियों के साथ साझा करने की कहानी को जारी रखते हुए, लूका दो विश्वासियों, हनन्याह और सफीरा के बारे में बताता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी और नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

δέ

इस शब्द का उपयोग कहानी के एक नए हिस्से को बताने के लिए मुख्य कहानी में एक विराम को चिन्हित करने के लिए किया गया है।

Acts 5:2

συνειδυίης καὶ τῆς γυναικός

उसकी पत्नी को भी यह पता था कि उसने बिक्री के धन के हिस्से को वापस रख लिया है

παρὰ τοὺς πόδας τῶν ἀποστόλων ἔθηκεν

इसका अर्थ है कि उन्होंने प्रेरितों को उपहार में धन दिया था। देखें कि आपने इसका अनुवाद कैसे किया है प्रेरितों के काम 4:35। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसे प्रेरितों को उपहार में दिया"" या ""इसे प्रेरितों को दे दिया"" (देखें: मुहावरे)

Acts 5:3

यदि आपकी भाषा अलंकारिक प्रश्नों का उपयोग नहीं करती है, तो आप इन्हें कथनों के रूप में पुनः निर्दिष्ट कर सकते हैं।

διὰ τί ἐπλήρωσεν ὁ Σατανᾶς τὴν καρδίαν σου, ψεύσασθαί σε τὸ Πνεῦμα τὸ Ἅγιον, καὶ νοσφίσασθαι ἀπὸ τῆς τιμῆς τοῦ χωρίου

हनन्याह को डाँटने के लिए पतरस इस प्रश्न का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हें शैतान को तुम्हारे मन में झूठ को नहीं डालने देना चाहिए था ... भूमि के।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἐπλήρωσεν ὁ Σατανᾶς τὴν καρδίαν σου

यहाँ ""मन"" शब्द इच्छा और भावनाओं के लिए एक उपनाम है। ""शैतान ने तुम्हारे मन में डाला"" वाक्यांश एक रूपक है। रूपक के सम्भावित अर्थ हैं 1) ""शैतान ने पूरी तरह से तुम्हें नियन्त्रित किया"" या 2) ""शैतान ने तुम्हें विश्वास दिलाया"" (देखें: लक्षणालंकार और रूपक)

ψεύσασθαί σε τὸ Πνεῦμα τὸ Ἅγιον, καὶ νοσφίσασθαι ἀπὸ τῆς τιμῆς

इसका तात्पर्य है कि हनन्याह ने प्रेरितों से कहा था कि वह अपनी भूमि बेचने से प्राप्त हुई पूरी राशि दे रहा था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 5:4

οὐχὶ μένον σοὶ ἔμενεν, καὶ πραθὲν ἐν τῇ σῇ ἐξουσίᾳ ὑπῆρχεν

हनन्याह को डाँटने के लिए पतरस इस प्रश्न का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब यह बिकी नहीं थी, तो यह तुम्हारे ही थी ... नियन्त्रण में।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ἔμενεν

जब तुमने इसे बेचा नहीं था

πραθὲν ἐν τῇ σῇ ἐξουσίᾳ ὑπῆρχεν

हनन्याह को डाँटने के लिए पतरस इस प्रश्न का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसे बेचने के बाद, तुम्हें प्राप्त धन पर तुम्हारा नियंत्रण था।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

πραθὲν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसे बेचने के बाद"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τί ὅτι ἔθου ἐν τῇ καρδίᾳ σου τὸ πρᾶγμα τοῦτο

हनन्याह को डाँटने के लिए पतरस इस प्रश्न का उपयोग करता है। यहाँ ""मन"" शब्द इच्छा और भावनाओं को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हें यह काम करने का विचार नहीं करना चाहिए था"" (देखें: भाषणगत प्रश्न और लक्षणालंकार)

Acts 5:5

πεσὼν ἐξέψυξεν

यहाँ ""प्राण छोड़ दिए"" का अर्थ है ""अपनी अन्तिम साँस ली"" और यह कहने का एक विनम्र तरीका है कि वह मर गया था। हनन्याह गिर गया क्योंकि वह मर गया था; वह इसलिए नहीं मरा क्योंकि वह गिर गया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मर गया और भूमि पर गिर गया था"" (देखें: शिष्टोक्ति)

Acts 5:7

ἡ γυνὴ αὐτοῦ…εἰσῆλθεν

हनन्याह की पत्नी भीतर आई या ""सफीरा अन्दर आई

τὸ γεγονὸς

कि उसके पति की मृत्यु हो गई थी

Acts 5:8

τοσούτου

इतने पैसे के लिए। यह हनन्याह द्वारा प्रेरितों को दिए गए धन की मात्रा को सन्दर्भित करता है।

Acts 5:9

यहाँ ""तुम"" शब्द बहुवचन है तथा हनन्याह और सफीरा दोनों को सन्दर्भित करता है। (देखें: तुम के प्रारूप)

यह हनन्याह और सफीरा के बारे में कहानी के हिस्से की समाप्ति है।

τί ὅτι συνεφωνήθη ὑμῖν πειράσαι τὸ Πνεῦμα Κυρίου

सफीरा को डाँटने के लिए पतरस इस प्रश्न को पूछता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुमको परमेश्वर की आत्मा की परीक्षा करने के लिए एक साथ सहमत नहीं होना चाहिए था!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

συνεφωνήθη ὑμῖν

तुम दोनों एक साथ सहमत हो गए हों

πειράσαι τὸ Πνεῦμα Κυρίου

यहाँ ""परीक्षा"" शब्द का अर्थ चुनौती देना या प्रमाणित करना है। वे यह देखने का प्रयास कर रहे थे कि क्या वे दण्ड प्राप्त किए बिना परमेश्वर से झूठ बोल कर जा सकते हैं।

οἱ πόδες τῶν θαψάντων τὸν ἄνδρα σου

यहाँ वाक्यांश ""खड़े हैं"" पुरुषों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे पुरुष जिन्होंने तेरे पति को गाड़ा है"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 5:10

ἔπεσεν…πρὸς τοὺς πόδας αὐτοῦ

इसका अर्थ है कि जब वह मर गई, तो वह पतरस के सामने भूमि पर गिर गई थी। इस अभिव्यक्ति को किसी व्यक्ति के पैरों पर नम्रता के संकेत के रूप में दण्डवत करने से भ्रमित नहीं किया जाना चाहिए।

ἐξέψυξεν

यहाँ ""प्राण छोड़ दिए"" का अर्थ है ""अपनी अन्तिम साँस ली"" और यह कहने का एक विनम्र तरीका है कि ""वह मर गई थी।"" देखें कि आपने प्रेरितों के काम 5:5 में इस जैसे ही वाक्यांश का अनुवाद कैसे किया है। (देखें: शिष्टोक्ति)

Acts 5:12

यहाँ ""वे"" और ""वे"" शब्द विश्वासियों को सन्दर्भित करते हैं।

लूका यह बताता रहता है कि कलीसिया के आरम्भिक दिनों में क्या होता है।

διὰ δὲ τῶν χειρῶν τῶν ἀποστόλων, ἐγίνετο σημεῖα καὶ τέρατα πολλὰ

या ""प्रेरितों के हाथों से लोगों के बीच कई चिन्ह और आश्चर्यकर्म हुए।"" इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रेरितों ने लोगों के बीच कई चिन्ह और आश्चर्यकर्म किए"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

σημεῖα καὶ τέρατα

अलौकिक घटनाएँ और आश्चर्यकर्म। देखें कि आपने इन स्थितियों का अनुवाद प्रेरितों के काम 2:22 में कैसे किया है।

διὰ…τῶν χειρῶν τῶν ἀποστόλων

यहाँ ""हाथ"" शब्द प्रेरितों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रेरितों के माध्यम से"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Στοᾷ Σολομῶντος

यह एक ढका हुआ रास्ता था जिसमें छत को सहारा देने वाले खम्भों की पंक्तियाँ थीं, और लोगों के द्वारा राजा सुलैमान के ऊपर उसका नाम रखा गया था। देखें कि आपने प्रेरितों के काम 3:11 में ""सुलैमान के ओसारे"" का अनुवाद कैसे किया है।

Acts 5:13

ἐμεγάλυνεν αὐτοὺς ὁ λαός

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग विश्वासियों को उच्च सम्मान देते थे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 5:14

यहाँ ""वे"" शब्द उन लोगों को सन्दर्भित करता है जो यरूशलेम में रहते थे।

μᾶλλον…προσετίθεντο πιστεύοντες τῷ Κυρίῳ

यह सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। देखें कि आपने प्रेरितों के काम 2:41 में ""जुड़ गए"" का कैसे अनुवाद किया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""अधिक लोग परमेश्वर पर विश्वास कर रहे थे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 5:15

ἡ σκιὰ ἐπισκιάσῃ τινὶ αὐτῶν

यह निहितार्थ है कि यदि पतरस की छाया उन्हें छूए तो परमेश्वर उन्हें ठीक कर देंगे। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 5:16

ὀχλουμένους ὑπὸ πνευμάτων ἀκαθάρτων

वे जिन्हें अशुद्ध आत्माओं ने पीड़ित किया था

ἐθεραπεύοντο ἅπαντες

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उन सब को ठीक किया"" या ""प्रेरितों ने उन सब को ठीक किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 5:17

धार्मिक अगुवों ने विश्वासियों पर अत्याचार करना आरम्भ कर दिया।

δὲ

यह एक विरोधाभासी कहानी को आरम्भ करता है। आप ऐसे तरीके से इसे अनुवाद कर सकते हैं कि आपकी भाषा एक विपरीत कथा को परिचित करती है।

ἀναστὰς…ὁ ἀρχιερεὺς

यहाँ वाक्यांश ""भर उठे"" का अर्थ है कि महायाजक ने कार्यवाही करने का निर्णय किया, न कि वह बैठी अवस्था से खड़ा हुआ था। वैकल्पिक अनुवाद: ""महायाजक ने कार्यवाही की"" (देखें: मुहावरे)

ἐπλήσθησαν ζήλου

भाववाचक संज्ञा ""ईर्ष्या"" का अनुवाद विशेषण के रूप में किया जा सकता है। यह सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे बहुत ईर्ष्यालु हो गए"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और भाववाचक संज्ञा)

Acts 5:18

ἐπέβαλον τὰς χεῖρας ἐπὶ τοὺς ἀποστόλους

इसका अर्थ है कि उन्होंने प्रेरितों को बलपूर्वक पकड़ लिया। उन्होंने रक्षकों को ऐसा करने का आदेश दिया होगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""रक्षकों ने प्रेरितों को गिरफ्तार किया था"" (देखें: मुहावरे और लक्षणालंकार)

Acts 5:19

यहाँ ""उन्हें"" और ""वे"" शब्द प्रेरितों का सन्दर्भ देते हैं।

Acts 5:20

ἐν τῷ ἱερῷ

यहाँ यह वाक्यांश मन्दिर के आँगन को सन्दर्भित करता है, मन्दिर भवन को नहीं, जहाँ केवल याजकों को जाने की अनुमति थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""मन्दिर के आँगन में"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

πάντα τὰ ῥήματα τῆς ζωῆς ταύτης

यहाँ ""वचन"" शब्द उस सन्देश के लिए एक उपनाम है जिसे प्रेरितों ने पहले ही घोषित कर दिया था। सम्भावित अर्थ हैं 1) ""अनन्त जीवन का यह सारा सन्देश"" या 2) ""जीवन जीने के इस नए तरीके का पूरा सन्देश"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 5:21

εἰς τὸ ἱερὸν

वे मन्दिर के आँगन में गए, मन्दिर भवन में नहीं, जहाँ केवल याजकों को जाने की अनुमति थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""मन्दिर के आँगन में"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ὑπὸ τὸν ὄρθρον

जैसे ही उजाला होना आरम्भ हुआ। यद्यपि स्वर्गदूत उन्हें रात के समय जेल से बाहर ले आया था, प्रेरितों के मन्दिर के आँगन में पहुँचने के समय तक सूर्योदय हो रहा था।

ἀπέστειλαν εἰς τὸ δεσμωτήριον ἀχθῆναι αὐτούς

इसका अर्थ है कि कोई जेल गया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रेरितों को लाने के लिए किसी को जेल भेजा"" (देखें: पदन्यूनता)

Acts 5:23

ἔσω οὐδένα εὕρομεν

कोई नहीं"" शब्द प्रेरितों को सन्दर्भित करते हैं। इसका तात्पर्य है कि प्रेरितों के अतिरिक्त जेल की कोठरी में कोई और नहीं था। वैकल्पिक अनुवाद: ""हमें वे अन्दर नहीं मिले हैं"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 5:24

यहाँ ""तुमने"" शब्द बहुवचन है और मन्दिर के सरदार और प्रधान याजकों को सन्दर्भित करता है। (देखें: तुम के प्रारूप)

διηπόρουν

वे बहुत उलझन में थे या ""वे बहुत अधिक परेशान थे

περὶ αὐτῶν

उन शब्दों के बारे में जो उन्होंने अभी सुने थे या ""इन बातों के विषय में

τί ἂν γένοιτο τοῦτο

और परिणामस्वरूप क्या होगा

Acts 5:25

ἐν τῷ ἱερῷ, ἑστῶτες

वे मन्दिर भवन के उस हिस्से में नहीं गए जहाँ केवल याजकों को जाने की अनुमति थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""मन्दिर के आँगन में खड़े हुए"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 5:26

इस खण्ड में ""वे"" शब्द सरदार और अधिकारियों को सन्दर्भित करता है। ""डरते थे कि लोग उन पर पत्थराव न करें"" वाक्यांश में ""उन पर"" शब्द सरदार और अधिकारियों को सन्दर्भित करता है। इस अंश में ""उन्हें"" की सभी अन्य घटनाएँ प्रेरितों को सन्दर्भित करती हैं। यहाँ ""तुम्हें"" शब्द बहुवचन है और प्रेरितों को सन्दर्भित करता है। (देखें: तुम के प्रारूप)

सरदार और अधिकारी प्रेरितों को यहूदी धार्मिक परिषद के समक्ष लाते हैं।

ἐφοβοῦντο

वे डरते थे

Acts 5:27

ἐπηρώτησεν αὐτοὺς ὁ ἀρχιερεὺς

महायाजक ने उनसे प्रश्न किया। ""पूछा"" शब्द का अर्थ किसी से यह जानने के लिए प्रश्न पूछना है कि क्या सच है।

Acts 5:28

ἐπὶ τῷ ὀνόματι τούτῳ

यहाँ ""नाम"" शब्द यीशु के व्यक्तित्व को सन्दर्भित करता है। देखें कि आपने इसका अनुवाद कैसे किया है प्रेरितों के काम 4:17। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस व्यक्ति, यीशु के बारे में और बात नहीं करना"" (देखें: लक्षणालंकार)

πεπληρώκατε τὴν Ἰερουσαλὴμ τῆς διδαχῆς ὑμῶν

एक शहर में कई लोगों को उपदेश देने को ऐसे कहा गया है कि वे एक उपदेश से शहर को भर रहे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुमने उसके बारे में यरूशलेम में बहुत से लोगों को उपदेश दिया"" या ""तुमने पूरे यरूशलेम में उसके बारे में सिखाया है"" (देखें: रूपक)

βούλεσθε ἐπαγαγεῖν ἐφ’ ἡμᾶς τὸ αἷμα τοῦ ἀνθρώπου τούτου

यहाँ ""लहू"" शब्द मृत्यु के लिए एक उपनाम है, और किसी का लहू लोगों पर लाना यह कहने के लिए एक रूपक है कि वे उस व्यक्ति की मृत्यु के दोषी हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस व्यक्ति की मृत्यु के लिए हमें उत्तरदायी बनाना चाहते हो"" (देखें: लक्षणालंकार और रूपक)

Acts 5:29

यहाँ ""हम"" शब्द प्रेरितों को सन्दर्भित करता है, न कि दर्शकों को। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

ἀποκριθεὶς…Πέτρος καὶ οἱ ἀπόστολοι

पतरस ने सभी प्रेरितों की ओर से बात की जब उसने निम्नलिखित शब्दों को कहा।

Acts 5:30

ὁ Θεὸς τῶν πατέρων ἡμῶν ἤγειρεν Ἰησοῦν

यहाँ ""जिलाया"" एक मुहावरा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""हमारे पूर्वजों के परमेश्वर ने यीशु को फिर से जीवित कर दिया"" (देखें: मुहावरे)

κρεμάσαντες ἐπὶ ξύλου

यहाँ पतरस लकड़ी से बने क्रूस को सन्दर्भित करने के लिए ""वृक्ष"" शब्द का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसे एक क्रूस पर लटकाकर"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 5:31

τοῦτον ὁ Θεὸς…ὕψωσεν, τῇ δεξιᾷ αὐτοῦ

परमेश्वर के दाहिने हाथ"" पर होना परमेश्वर से महान सम्मान और अधिकार प्राप्त करने का एक प्रतीकात्मक कार्य है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उसे अपने बगल में सम्मान के स्थान पर ऊँचा किया"" (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

τοῦ δοῦναι μετάνοιαν τῷ Ἰσραὴλ καὶ ἄφεσιν ἁμαρτιῶν

पश्चाताप"" और ""क्षमा"" शब्दों को क्रियाओं के रूप में अनुवाद किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस्राएल के लोगों को पश्चाताप करने का अवसर दे और परमेश्वर उनके पापों को क्षमा करें"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

τῷ Ἰσραὴλ

इस्राएल"" शब्द यहूदी लोगों को सन्दर्भित करता है। (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 5:32

τοῖς πειθαρχοῦσιν αὐτῷ

वे लोग जो परमेश्वर के अधिकार के अधीन हो जाते हैं

Acts 5:33

गमलीएल परिषद के सदस्यों को सम्बोधित करता है।

Acts 5:34

Γαμαλιήλ, νομοδιδάσκαλος τίμιος παντὶ τῷ λαῷ

लूका गमलीएल को प्रस्तुत करता है और उसके बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी प्रदान करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय और पृष्ठभूमि की जानकारी)

τίμιος παντὶ τῷ λαῷ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिसे सभी लोगों ने सम्मानित किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐκέλευσεν ἔξω…τοὺς ἀνθρώπους ποιῆσαι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""रक्षकों को प्रेरितों को बाहर ले जाने का आदेश दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 5:35

προσέχετε

के बारे में सावधानी से सोचो या ""के बारे में सावधान रहो।"" गमलीएल उन्हें कुछ ऐसा नहीं करने की चेतावनी दे रहा था जिसका उनको बाद में पछतावा होगा।

Acts 5:36

ἀνέστη Θευδᾶς

सम्भावित अर्थ हैं 1) ""थियूदास ने विद्रोह किया"" या 2) ""थियूदास प्रकट हुआ।

λέγων εἶναί τινα

कोई महत्वपूर्ण जन होने का दावा करते हुए

ὃς ἀνῃρέθη

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों ने उसे मार डाला"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πάντες ὅσοι ἐπείθοντο αὐτῷ διελύθησαν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सभी लोग तितर बितर हो गए जो उसके पीछे चले रहे थे"" या ""जो लोग उसके पीछे चले रहे थे वे अलग-अलग दिशाओं में चले गए"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐγένοντο εἰς οὐδέν

इसका अर्थ है कि उन्होंने वह नहीं किया जो उन्होंने करने की योजना बनाई थी।

Acts 5:37

μετὰ τοῦτον

थियूदास के बाद

ἐν ταῖς ἡμέραις τῆς ἀπογραφῆς

जनगणना के समय में

ἀπέστησε λαὸν ὀπίσω αὐτοῦ

इसका अर्थ है कि उसने कुछ लोगों को रोमी सरकार के विरूद्ध अपने साथ विद्रोह करने के लिए सहमत किया। वैकल्पिक अनुवाद: ""कई लोगों को उसका अनुसरण करने के लिए उकसाया"" या ""कई लोगों ने विद्रोह में उससे जुड़ने के लिए उकसाया"" (देखें: मुहावरे)

Acts 5:38

गमलीएल परिषद के सदस्यों को सम्बोधित करना समाप्त करता है। यद्यपि उन्होंने प्रेरितों को पीटा, उन्हें आदेश दिया कि वे यीशु के बारे में न सिखाएँ, और उन्हें जाने दिया, तौभी चेले उपदेश देते रहे और प्रचार करते रहे।

ἀπόστητε ἀπὸ τῶν ἀνθρώπων τούτων καὶ ἄφετε αὐτούς

अब गमलीएल यहूदी अगुवों को प्रेरितों को और अधिक दण्डित नहीं करने या उन्हें जेल में वापस नहीं रखने के लिए कह रहा है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐὰν ᾖ ἐξ ἀνθρώπων, ἡ βουλὴ αὕτη ἢ τὸ ἔργον τοῦτο

यदि पुरुषों ने इस योजना को तैयार किया है या इस काम को कर रहे हैं

καταλυθήσεται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कोई इसे उखाड़ फेंकेगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 5:39

εἰ…ἐκ Θεοῦ ἐστιν

यहाँ ""इसे"" शब्द ""इस योजना या काम"" को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यदि परमेश्वर ने इस योजना को तैयार किया है या इन लोगों को यह काम करने का आदेश दिया है"" (देखें: पदन्यूनता)

ἐπείσθησαν δὲ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अतः गमलीएल ने उन्हें सहमत किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 5:40

यहाँ पहला ""वे"" शब्द परिषद के सदस्यों को सन्दर्भित करता है। शेष ""उन्हें,"" ""वे,"" और ""वे"" शब्द प्रेरितों को सन्दर्भित करते हैं।

προσκαλεσάμενοι τοὺς ἀποστόλους, δείραντες

परिषद के सदस्यों ने मन्दिर के रक्षकों को इन कामों को करने का आदेश दिया होगा। (देखें: लक्षणालंकार)

λαλεῖν ἐπὶ τῷ ὀνόματι τοῦ Ἰησοῦ

यहाँ ""नाम"" यीशु के अधिकार को सन्दर्भित करता है। देखें कि आपने प्रेरितों के काम 4:18 में इस जैसे ही वाक्यांश का अनुवाद कैसे किया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु के अधिकार में अब और बात करने के लिए"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 5:41

κατηξιώθησαν ὑπὲρ τοῦ ὀνόματος ἀτιμασθῆναι

प्रेरितों ने आनन्द मनाया क्योंकि परमेश्वर ने यहूदी अगुवों के उन्हें अपमानित करने के द्वारा सम्मानित किया था। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उन्हें नाम के लिए अपमान को सहने के योग्य माना था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ὑπὲρ τοῦ ὀνόματος

यहाँ ""नाम"" यीशु को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु के लिए"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 5:42

πᾶσάν τε ἡμέραν

उस दिन के बाद, हर दिन। यह वाक्यांश चिन्हित करता है कि उस दिन के बाद से प्रेरितों ने हर दिन क्या किया था।

ἐν τῷ ἱερῷ καὶ κατ’ οἶκον

वे मन्दिर के भवन में नहीं गए जहाँ केवल याजकों को जाने की अनुमति थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""मन्दिर के आँगन में और विभिन्न लोगों के घरों में"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 6

प्रेरितों के काम 06 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

विधवाओं को वितरण

यरूशलेम में विश्वासियों ने हर दिन उन स्त्रियों को भोजन दिया जिनके पतियों की मृत्यु हो गई थी। वे सभी यहूदियों के रूप में पले बढ़े थे, परन्तु उनमें से कुछ यहूदिया में रहते थे और इब्रानी बोलते थे, और दूसरे अन्यजाति क्षेत्रों में रहते थे और यूनानी बोलते थे। जो लोग भोजन बाँटा करते थे, वे इसे इब्रानी बोलने वाली विधवाओं को देते थे, परन्तु यूनानी बोलने वाली विधवाओं को नहीं देते थे। परमेश्वर को प्रसन्न करने के लिए, कलीसिया के अगुवों ने यूनानी बोलने वाले पुरुषों को यह सुनिश्चित करने के लिए नियुक्त किया कि यूनानी बोलने वाली विधवाओं को भोजन का अपना हिस्सा प्राप्त हुआ है। इन यूनानी बोलने वाले पुरुषों में से एक स्तिफनुस था।

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

""उसका मुख एक स्वर्गदूत के चेहरे की तरह था""

कोई भी यह निश्चित रूप से नहीं जानता कि स्तिफनुस के चेहरे के बारे में यह क्या है कि वह एक स्वर्गदूत के चेहरे की तरह था, क्योंकि लूका हमें नहीं बताता है। इसके बारे में यूएलटी जो कुछ कहता है, अनुवाद में वही कहना सबसे अच्छा है।

Acts 6:1

यह कहानी के एक नए हिस्से का आरम्भ है। लूका कहानी को समझने के लिए महत्वपूर्ण पृष्ठभूमि की जानकारी देता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

ἐν δὲ ταῖς ἡμέραις ταύταις

इस बात पर विचार करें कि आपकी भाषा में एक कहानी के नए हिस्सों को कैसे प्रस्तुत किया गया है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

πληθυνόντων

बहुत अधिक बढ़ रहे थे

Ἑλληνιστῶν

ये ऐसे यहूदी थे जिन्होंने इस्राएल के बाहर कहीं रोमी साम्राज्य में अपने अधिकांश जीवन को व्यतीत किया था, और यूनानी बोलते हुए पले-बढ़े थे। उनकी भाषा और संस्कृति उन लोगों से कुछ अलग थी जो इस्राएल में पले-बढ़े थे।

τοὺς Ἑβραίους

ये ऐसे यहूदी थे जो इस्राएल में इब्रानी या अरामी बोलते हुए पले-बढ़े थे। कलीसिया में केवल यहूदी सम्मिलित थे और जो अब तक यहूदी धर्म में परिवर्तित हुए थे।

αἱ χῆραι

जिन स्त्रियों के पति की मृत्यु हो गई थी

παρεθεωροῦντο…αἱ χῆραι αὐτῶν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे इब्रानी विश्वासी यूनानी विधवाओं को अनदेखा कर रहे थे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

παρεθεωροῦντο

अनदेखा किया जा रहा है या ""भुलाया जा रहा है।"" वहाँ ऐसे बहुत से लोग थे जिन्हें सहायता की आवश्यकता थी जिनमें से कुछ को छोड़ दिया गया था।

διακονίᾳ τῇ καθημερινῇ

प्रेरितों को जो पैसा दिया जा रहा था, उसे आरम्भिक कलीसिया की विधवाओं के लिए भोजन खरीदने के लिए उपयोग किया गया था।

Acts 6:2

यहाँ ""तुम"" शब्द विश्वासियों को सन्दर्भित करता है। ""हमारे"" और ""हम"" शब्द यहाँ 12 प्रेरितों का उल्लेख करते हैं। जहाँ लागू हो, अपनी भाषा में विशेष रूप का उपयोग करें। (देखें: तुम के प्रारूप और विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

οἱ δώδεκα

यह ग्यारह प्रेरितों और मत्तियाह, जिसे प्रेरितों के काम 1:26 में चुना गया था को सन्दर्भित करता है।

τὸ πλῆθος τῶν μαθητῶν

सभी चेले को या ""सभी विश्वासियों को

καταλείψαντας τὸν λόγον τοῦ Θεοῦ

यह परमेश्वर के वचन को सिखाने के उनके कार्य के महत्व पर जोर देने के लिए एक अतिशयोक्ति है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर के वचन का प्रचार करना और शिक्षा देना बन्द कर दें"" (देखें: अतिशयोक्ति)

διακονεῖν τραπέζαις

यह एक वाक्यांश है जिसका अर्थ लोगों को भोजन देना है। (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 6:3

ἄνδρας…πλήρεις Πνεύματος καὶ σοφίας

सम्भावित अर्थ हैं 1) ऐसे पुरुषों के पास तीन गुण हों - एक अच्छी प्रतिष्ठा, आत्मा से भरे होना, और ज्ञान से भरे होना या 2) ऐसे पुरुषों के पास दो गुण होने की प्रतिष्ठा हो - आत्मा से भरा होना, और ज्ञान से भरा होना।

ἄνδρας…μαρτυρουμένους

ऐसे पुरुष जिनको लोग अच्छा मानते हैं या ""ऐसे पुरुष जिन पर लोग भरोसा करते हैं

ἐπὶ τῆς χρείας ταύτης

इस काम को करने के लिए उत्तरदायी होना

Acts 6:4

τῇ διακονίᾳ τοῦ λόγου

अधिक जानकारी जोड़ने में यह सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सन्देश की शिक्षा देने और प्रचार करने की सेवकाई"" (देखें: पदन्यूनता)

Acts 6:5

ἤρεσεν ὁ λόγος ἐνώπιον παντὸς τοῦ πλήθους

सभी चेलों को उनका सुझाव पसन्द आया

Στέφανον,…καὶ Πνεύματος Ἁγίου, καὶ Φίλιππον, καὶ Πρόχορον, καὶ Νικάνορα

ये यूनानी नाम हैं, और सुझाव देते हैं कि चुने गए सभी लोग यूनानी भाषी यहूदी विश्वासियों के समूह से थे। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

προσήλυτον

एक अन्यजाति जो यहूदी धर्म में परिवर्तित हो गया

Acts 6:6

ἐπέθηκαν αὐτοῖς τὰς χεῖρας

इसने सात लोगों को सेवकाई करने के लिए आशीर्वाद देने और उत्तरदायित्व और अधिकार दिए जाने का प्रतिनिधित्व किया। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

Acts 6:7

यह वचन कलीसिया के विकास की जानकारी देता है।

λόγος τοῦ Θεοῦ ηὔξανεν

लेखक उन लोगों की बढ़ती संख्या के बारे में बोलता है जिन्होंने इस वचन पर विश्वास किया जैसे कि परमेश्वर का वचन स्वयं एक बड़े क्षेत्र तक पहुँच रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर के वचन पर विश्वास करने वाले लोगों की संख्या में वृद्धि हुई"" या ""परमेश्वर से सन्देश पर विश्वास करने वाले लोगों की संख्या में वृद्धि हुई"" (देखें: रूपक)

ὑπήκουον τῇ πίστει

नई मान्यता वाली शिक्षा का पालन किया

τῇ πίστει

सम्भावित अर्थ हैं 1) यीशु पर विश्वास का सुसमाचार सन्देश या 2) कलीसिया की शिक्षा या 3) मसीही शिक्षा।

Acts 6:8

ये वचन स्तिफनुस और अन्य लोगों के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देते हैं जो कहानी को समझने के लिए महत्वपूर्ण है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

यह कहानी के एक नए हिस्से का आरम्भ है।

Στέφανος δὲ

यह कहानी के इस हिस्से में मुख्य चरित्र के रूप में स्तिफनुस को प्रस्तुत करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

Στέφανος…πλήρης χάριτος καὶ δυνάμεως, ἐποίει

यहाँ ""अनुग्रह"" और ""सामर्थ्य"" शब्द परमेश्वर की ओर से सामर्थ्य को सन्दर्भित करते हैं। यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: "" स्तिफनुस को ऐसा करने के लिए परमेश्वर सामर्थ्य दे रहा था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 6:9

συναγωγῆς, τῆς λεγομένης Λιβερτίνων

स्वतंत्र किए हुए लोग सम्भवतः इन अलग-अलग स्थानों से पूर्व-गुलाम थे। यह स्पष्ट नहीं है कि सूचीबद्ध अन्य लोग आराधनालय का हिस्सा थे या उन्होंने केवल स्तिफनुस के साथ वाद-विवाद में भाग लिया था।

συνζητοῦντες τῷ Στεφάνῳ

स्तिफनुस के साथ वाद-विवाद करना

Acts 6:10

यहाँ ""हमने"" शब्द केवल उन पुरुषों को सन्दर्भित करता है जिन्हें उन्होंने झूठ बोलने के लिए मना लिया था। ""वे"" शब्द वापस स्वतंत्र लोगों के आराधनालय के उन लोगों को सन्दर्भित करता है जो प्रेरितों के काम 6:9 में हैं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

वचन 10 के माध्यम से प्रेरितों के काम 6:8 में आरम्भ हुई पृष्ठभूमि की जानकारी आगे बढ़ती है।

οὐκ ἴσχυον ἀντιστῆναι

इस वाक्यांश का अर्थ है कि वे उस झूठ को प्रमाणित नहीं कर सके जो उसने कहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसके विरूद्ध वाद-विवाद नहीं कर सके"" (देखें: मुहावरे)

Πνεύματι

यह पवित्र आत्मा को सन्दर्भित करता है

Acts 6:11

ἄνδρας λέγοντας

उन्हें झूठी गवाही देने के लिए पैसे दिए गए थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""कुछ पुरुष झूठ बोलते हैं और कहते हैं"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ῥήματα βλάσφημα εἰς

के बारे में बुरी बातें

Acts 6:12

वे"" शब्द के प्रत्येक प्रयोग की उन लोगों को सन्दर्भित करने की सबसे अधिक सम्भावना है जो लोग प्रेरितों के काम 6:9 में स्वतंत्र किए हुए लोगों के आराधनालय में हैं। वे झूठे गवाहों और परिषद, प्राचीनों, शास्त्रियों और अन्य लोगों को उत्तेजित करने के लिए उत्तरदायी थे। यहाँ ""हम"" शब्द केवल उस झूठे गवाह को सन्दर्भित करता है जिसे वे गवाही देने के लिए लाए थे। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

συνεκίνησάν…τὸν λαὸν, καὶ τοὺς πρεσβυτέρους, καὶ τοὺς γραμματεῖς

लोगों को, प्राचीनों को और शास्त्रियों को स्तिफनुस पर बहुत क्रोधित कर दिया

συνήρπασαν αὐτὸν

उसे पकड़ लिया और उसे थाम लिया ताकि वह कहीं न जा सके

Acts 6:13

οὐ παύεται λαλῶν

निरन्तर बोलता है

Acts 6:14

παρέδωκεν ἡμῖν

सौंपी हैं"" वाक्यांश का अर्थ है ""पहुँचाई हैं।"" वैकल्पिक अनुवाद: ""हमारे पूर्वजों को सिखाई"" (देखें: मुहावरे और लक्षणालंकार)

Acts 6:15

ἀτενίσαντες εἰς αὐτὸν

यह एक मुहावरा है जिसका अर्थ है कि उन्होंने उसकी तरफ बड़े ध्यान से देखा था। यहाँ ""आँखें"" दृष्टि के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसकी तरफ बड़े ध्यान से देखा"" या ""उसे घूर कर देखा"" (देखें: मुहावरे)

ὡσεὶ πρόσωπον ἀγγέλου

यह वाक्यांश उसके चेहरे की तुलना एक स्वर्गदूत के साथ करता है, परन्तु विशेष रूप से यह नहीं कहता कि उनमें आपस में क्या समान है। (देखें: उपमा)

Acts 7

प्रेरितों के काम 07 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

कुछ अनुवाद पढ़ने के लिए आसान बनाने के लिए पाठ के शेष हिस्सों की तुलना में कविता की प्रत्येक पंक्ति को दाईं ओर व्यवस्थित करते हैं । यूएलटी अनुवाद कविता के साथ ऐसा ही करता है जिसे पुराने नियम में 7:42-43 और 49-50 से उद्धरित किया गया है।

ऐसा लगता है कि 8:1 इस अध्याय की कथा का हिस्सा है।

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

""स्तिफनुस ने कहा""

स्तिफनुस ने इस्राएल के इतिहास को बहुत ही संक्षेप में बताया। उसने उन समयों पर विशेष ध्यान दिया जब इस्राएलियों ने उन लोगों को अस्वीकार कर दिया था जिनको परमेश्वर ने उनका नेतृत्व करने के लिए चुना था। कहानी के अन्त में, उसने कहा कि जिन यहूदी अगुवों से वह बात कर रहा था, उन्होंने यीशु को बिलकुल वैसे ही अस्वीकार कर दिया था जैसे कि दुष्ट इस्राएलियों ने सदैव उन अगुवों को अस्वीकार किया था जिन्हें परमेश्वर ने उनके लिए नियुक्त किया था।

""पवित्र आत्मा से भरा हुआ""

पवित्र आत्मा ने पूरी तरह से स्तिफनुस को नियंत्रित किया इसलिए वह केवल उतना ही और वही कह सका जो परमेश्वर चाहता था कि वह कहे।

प्रतिछाया

जब कोई लेखक किसी ऐसी चीज की बात करता है जो उस समय महत्वपूर्ण नहीं है परन्तु बाद में कहानी में महत्वपूर्ण होगी, तो इसे प्रतिछाया कहा जाता है। लूका यहाँ शाऊल का उल्लेख करता है, जिसे पौलुस के नाम से भी जाना जाता है, भले ही वह कहानी के इस हिस्से में एक महत्वपूर्ण व्यक्ति नहीं है। ऐसा इसलिए है क्योंकि पौलुस प्रेरितों के काम की पुस्तक के बाकी हिस्सों में एक महत्वपूर्ण व्यक्ति है।

इस अध्याय के महत्वपूर्ण अलंकार

निहितार्थ जानकारी

स्तिफनुस यहूदियों से बात कर रहा था जो अच्छी तरह से मूसा की व्यवस्था को जानते थे इसलिए उसने उन बातों की व्याख्या नहीं की जो उनके सुनने वालों को पहले से ही पता थीं। परन्तु आपको इनमें से कुछ बातों को समझाने की आवश्यकता हो सकती है जो स्तिफनुस क्या कह रहा था आपके पाठक उसे समझने में सक्षम होंगे। उदाहरण के लिए, आपको यह स्पष्ट करने की आवश्यकता हो सकती है कि जब यूसुफ के भाइयों ने उसे ""मिस्र में बेच दिया"" (प्रेरितों के काम 7:9), तो यूसुफ मिस्र में एक दास होने जा रहा था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

उपनाम

स्तिफनुस ने यूसुफ को ""मिस्र पर"" और फिरौन के पूरे घराने पर शासन करते हुए बताया। इसके द्वारा उसका अर्थ था कि यूसुफ ने मिस्र के लोगों पर और फिरौन के घराने के लोगों और संपत्ति पर शासन किया था। (देखें: लक्षणालंकार)

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

पृष्ठभूमि का ज्ञान

वे यहूदी अगुवे जिनसे स्तिफनुस ने बात की थी पहले से ही उन घटनाओं के बारे में बहुत कुछ जानते थे जिनके बारे में वह उन्हें बता रहा था। वे जानते थे कि मूसा ने उत्पत्ति की पुस्तक में क्या लिखा था। यदि उत्पत्ति की पुस्तक का अनुवाद आपकी भाषा में नहीं किया गया है, तो आपके पाठकों के लिए यह समझना कठिन हो सकता है कि स्तिफनुस ने क्या कहा था।

Acts 7:1

हमारा"" शब्द स्तिफनुस को, उस यहूदी परिषद को जिससे उसने बात की थी, दोनों को और सारे दर्शकों को सम्मिलित करता है। ""तू"" शब्द अब्राहम को सन्दर्भित करता एकवचन है। (देखें: तुम के प्रारूप)

स्तिफनुस के बारे में कहानी का वह हिस्सा, जो प्रेरितों के काम 6:8 में आरम्भ हुआ, आगे बढ़ता है। स्तिफनुस इस्राएल के इतिहास में हुई बातों के बारे में बात करके महायाजक और परिषद को अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करना आरम्भ करता है। इस इतिहास का अधिकांश भाग मूसा के लेखन से आता है।

Acts 7:2

ἀδελφοὶ καὶ πατέρες, ἀκούσατε

स्तिफनुस विस्तारित परिवार के रूप में बधाई देने में परिषद के प्रति बहुत अधिक सम्मान व्यक्त करता है।

Acts 7:4

वचन 4 में ""वह,"" ""उसका,"" और ""उसे"" शब्द अब्राहम का सन्दर्भ देते हैं। वचन 5 में ""वह"" और ""वह"" शब्द परमेश्वर को सन्दर्भित करते हैं, परन्तु ""उसे"" शब्द अब्राहम को सन्दर्भित करता है।

यहाँ ""तुम"" शब्द यहूदी परिषद और दर्शकों को सन्दर्भित करता है। (देखें: तुम के प्रारूप)

Acts 7:5

οὐκ ἔδωκεν…ἐν αὐτῇ

उसने इसमें से कोई भी नहीं दिया

οὐδὲ βῆμα ποδός

इस वाक्यांश के लिए सम्भावित अर्थ हैं 1) खड़े होने के लिए पर्याप्त भूमि या 2) एक कदम लेने के लिए पर्याप्त भूमि। वैकल्पिक अनुवाद: ""भूमि का एक बहुत छोटा टुकड़ा"" (देखें: मुहावरे)

εἰς κατάσχεσιν αὐτὴν, καὶ τῷ σπέρματι αὐτοῦ μετ’ αὐτόν

अब्राहम के प्राप्त करने और उसके वंशजों को देने के लिए

Acts 7:6

ἐλάλησεν…οὕτως ὁ Θεὸς

यह बताना सहायक हो सकता है कि पिछले वचन के कथन के बाद यह घटित हुआ था। वैकल्पिक अनुवाद: ""बाद में परमेश्वर ने अब्राहम से कहा

ἔτη τετρακόσια

400 वर्ष (देखें: संख्याएँ)

Acts 7:7

τὸ ἔθνος…κρινῶ ἐγώ

राष्ट्र इसमें रहने वाले लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं राष्ट्रों के लोगों का न्याय करूँगा"" (देखें: लक्षणालंकार)

τὸ ἔθνος ᾧ ἐὰν δουλεύσωσιν

वे राष्ट्र जिसकी वे सेवा करेंगे

Acts 7:8

ἔδωκεν αὐτῷ διαθήκην περιτομῆς

यहूदी समझ गए होंगे कि इस वाचा के लिए अब्राहम को अपने परिवार के पुरुषों का खतना करने की आवश्यकता थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""अब्राहम के साथ उसके परिवार के पुरुषों का खतना करने के लिए एक वाचा बाँधी"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

οὕτως ἐγέννησεν τὸν Ἰσαὰκ

कहानी अब्राहम के वंशजों की ओर परिवर्तित होती है।

Ἰακὼβ τοὺς

याकूब पिता बन गया। स्तिफनुस ने इसे छोटा कर दिया। (देखें: पदन्यूनता)

Acts 7:9

οἱ πατριάρχαι

याकूब के बड़े बेटे या ""यूसुफ के बड़े भाई

ἀπέδοντο εἰς Αἴγυπτον

यहूदियों को पता था कि उनके पूर्वजों ने यूसुफ को मिस्र में गुलाम बनने के लिए बेच दिया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसे मिस्र में गुलाम के रूप में बेच दिया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἦν…μετ’ αὐτοῦ

यह किसी की सहायता करने के लिए एक मुहावरा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसकी सहायता की"" (देखें: मुहावरे)

Acts 7:10

ἐπ’ Αἴγυπτον

यह मिस्र के लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मिस्र के सभी लोगों पर"" (देखें: लक्षणालंकार)

ὅλον τὸν οἶκον αὐτοῦ

यह उसकी सारी संपत्तियों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसके स्वामित्व का सब कुछ"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 7:11

ἦλθεν…λιμὸς

एक अकाल आया भूमि ने भोजन उत्पन्न करना बन्द कर दिया था।

οἱ πατέρες ἡμῶν

यह याकूब और उसके पुत्रों को सन्दर्भित करता है, जो यहूदी लोगों के पूर्वज थे। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 7:12

σιτία

उस समय अनाज सबसे सामान्य भोजन था।

τοὺς πατέρας ἡμῶν

यहाँ यह वाक्यांश याबोब के पुत्रों, यूसुफ के बड़े भाइयों को सन्दर्भित करता है।

Acts 7:13

ἐν τῷ δευτέρῳ

उनकी अगली यात्रा पर (देखें: क्रमसूचक संख्याएँ)

ἀνεγνωρίσθη

यूसुफ ने अपने भाइयों पर उनका भाई होने रूप में अपनी पहचान प्रकट की।

φανερὸν ἐγένετο τῷ Φαραὼ τὸ γένος Ἰωσήφ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""फिरौन को मालूम हुआ कि वे यूसुफ के परिवार थे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 7:14

ἀποστείλας

अपने भाइयों को वापस कनान भेजा या ""अपने भाइयों को घर वापस भेज दिया

Acts 7:15

ἐτελεύτησεν

सुनिश्चित करें कि यह ऐसा न लगे कि जैसे ही वह मिस्र में पहुँचा वैसे ही वह मर गया। वैकल्पिक अनुवाद: ""अन्ततः याकूब की मृत्यु हो गई

αὐτὸς καὶ οἱ πατέρες ἡμῶν

याकूब और उसके बेटे जो हमारे पूर्वज बन गए

Acts 7:16

καὶ μετετέθησαν…καὶ ἐτέθησαν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""याकूब के वंशज याकूब के शरीर और उसके पुत्र के शरीर को ले गए ... और उन्हें दफनाया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τιμῆς ἀργυρίου

धन के साथ

Acts 7:17

हमारे"" शब्द स्तिफनुस और उसके दर्शकों को सम्मिलित करता है। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

कुछ भाषाओं में यह कहना कि लोगों की सँख्या में वृद्धि हुई थी सहायक हो सकता है, इस बात को कहने से पहले कि प्रतिज्ञा का समय आ गया है।

ἤγγιζεν ὁ χρόνος τῆς ἐπαγγελίας

यह उस समय के निकट था जब परमेश्वर अब्राहम के साथ अपनी प्रतिज्ञा को पूरा करेगा।

Acts 7:18

ἀνέστη βασιλεὺς ἕτερος

एक और राजा ने शासन करना आरम्भ कर दिया

ἐπ’ Αἴγυπτον

मिस्र, मिस्र के लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मिस्र के लोग"" (देखें: लक्षणालंकार)

ὃς οὐκ ᾔδει τὸν Ἰωσήφ

यूसुफ, यूसुफ की प्रतिष्ठा को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कौन नहीं जानता था कि यूसुफ ने मिस्र की सहायता की थी"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 7:20

ἐν ᾧ καιρῷ ἐγεννήθη Μωϋσῆς

यह मूसा को कहानी में प्रस्तुत करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἦν ἀστεῖος τῷ Θεῷ

यह वाक्यांश एक मुहावरा है जिसका अर्थ है कि मूसा बहुत सुन्दर था। (देखें: मुहावरे)

ἀνετράφη

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसके माता-पिता ने उसे पाला-पोसा"" या ""उसके माता-पिता ने उसकी देखभाल की"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 7:21

ἐκτεθέντος δὲ αὐτοῦ

फिरौन के आदेश के कारण मूसा को ""बाहर रखा गया"" था। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब उसके माता-पिता ने उसे बाहर रखा"" या ""जब उन्होंने उसे त्याग दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἡ θυγάτηρ Φαραὼ, καὶ ἀνεθρέψατο αὐτὸν ἑαυτῇ εἰς υἱόν

उसने उसके लिए हर अच्छा काम किया जो एक माँ अपने बेटे के लिए करेगी। अपनी भाषा के सामान्य शब्द का प्रयोग करें कि एक माँ यह सुनिश्चित करने के लिए क्या करती है कि उसका बेटा एक स्वस्थ वयस्क बने।

εἰς υἱόν

जैसे कि वह उसका अपना बेटा था

Acts 7:22

ἐπαιδεύθη Μωϋσῆς

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मिस्र के लोगों ने मूसा को शिक्षित किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πάσῃ σοφίᾳ Αἰγυπτίων

यह जोर देने के लिए एक अतिशयोक्ति है कि उसे मिस्र के सर्वश्रेष्ठ विद्यालयों में प्रशिक्षित किया गया था। (देखें: अतिशयोक्ति)

δυνατὸς ἐν λόγοις καὶ ἔργοις αὐτοῦ

अपने भाषण और कार्यों में प्रभावी या ""जो उसने कहा और किया उसमें प्रभावशाली

Acts 7:23

ἀνέβη ἐπὶ τὴν καρδίαν αὐτοῦ

मस्तिष्क"" के लिए यहाँ ""मन"" एक उपनाम है। वाक्यांश ""उसके मन में आया कि"" एक मुहावरा है जिसका अर्थ कुछ निर्धारित करना है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह उसके मस्तिष्क में आया"" या ""उसने निर्णय किया"" (देखें: लक्षणालंकार और मुहावरे)

ἐπισκέψασθαι τοὺς ἀδελφοὺς αὐτοῦ, τοὺς υἱοὺς Ἰσραήλ

यह उसके लोगों को सन्दर्भित करता है, और केवल उसके परिवार को नहीं। वैकल्पिक अनुवाद: ""देखें कि उसके अपने लोग, इस्राएल के वंशज, कैसे कर रहे थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 7:24

καὶ ἰδών τινα ἀδικούμενον, ἠμύνατο καὶ ἐποίησεν ἐκδίκησιν τῷ καταπονουμένῳ, πατάξας τὸν Αἰγύπτιον

इस क्रम को पुन: व्यवस्थित करने के द्वारा सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक मिस्री को एक इस्राएली के साथ दुर्व्यवहार करते हुए देखकर, मूसा ने उस इस्राएली का बचाव किया और उस मिस्री पर हमला करके उसका बदला लिया जो उस पर अत्याचार कर रहा था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πατάξας τὸν Αἰγύπτιον

मूसा ने उस मिस्री को इतनी कठोरता से मारा कि वह मर गया।

Acts 7:25

ἐνόμιζεν

उसने कल्पना की

διὰ χειρὸς αὐτοῦ δίδωσιν σωτηρίαν αὐτοῖς

यहाँ ""हाथ"" मूसा के कार्यों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मूसा जो कर रहा था उसके माध्यम से उन्हें बचा रहा था"" या ""उन्हें बचाने के लिए मूसा के गतिविधियों का उपयोग कर रहा था"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 7:26

यहाँ ""हम"" शब्द इस्राएलियों को सन्दर्भित करता है परन्तु इसमें मूसा सम्मिलित नहीं है। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

αὐτοῖς

दर्शकों को निर्गमन में दिए विवरण से पता था कि ये दो पुरुष थे, परन्तु स्तिफनुस इसे निर्दिष्ट नहीं करता है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

συνήλλασσεν αὐτοὺς εἰς εἰρήνην

उन्हें लड़ना बन्द करा दिया

ἄνδρες, ἀδελφοί ἐστε

मूसा उन इस्राएली लोगों को सम्बोधित कर रहा था जो लड़ रहे थे।

ἱνα τί ἀδικεῖτε ἀλλήλου

मूसा ने उनको लड़ने से रुक जाने को प्रोत्साहित करने के लिए इस प्रश्न को पूछा। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हें एक दूसरे को चोट नहीं पहुँचाना चाहिए!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Acts 7:27

τίς σε κατέστησεν ἄρχοντα καὶ δικαστὴν ἐφ’ ἡμῶν?

उस व्यक्ति ने मूसा को डाँटने के लिए इस प्रश्न का उपयोग किया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""तेरा हमारे ऊपर कोई अधिकार नहीं है!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Acts 7:28

μὴ ἀνελεῖν με σὺ θέλεις, ὃν τρόπον ἀνεῖλες ἐχθὲς τὸν Αἰγύπτιον

उस व्यक्ति ने इस प्रश्न का उपयोग मूसा को चेतावनी देने के लिए किया था कि वह और सम्भवतः दूसरों को पता था कि मूसा ने उस मिस्री को मार डाला था।

Acts 7:29

स्तिफनुस के दर्शकों को पहले ही पता था कि मिस्र से भागने पर मूसा ने मिद्यानी स्त्री से विवाह किया था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐν τῷ λόγῳ τούτῳ

निहित जानकारी यह है कि मूसा समझ गया था कि इस्राएली जानते थे कि उसने एक दिन पहले एक मिस्र को मार डाला था (प्रेरितों के काम 7:28)। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 7:30

καὶ πληρωθέντων ἐτῶν τεσσεράκοντα

40 वर्ष बीतने के बाद। यह मिद्यान में मूसा के रहने के समय की मात्रा थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""मूसा के मिस्र से भागने के चालीस वर्ष बाद"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ὤφθη…ἄγγελος

स्तिफनुस के दर्शकों को पता था कि परमेश्वर ने स्वर्गदूत के माध्यम से बात की थी। यूएसटी अनुवाद यह स्पष्ट करता है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 7:31

ἐθαύμασεν τὸ ὅραμα

मूसा आश्चर्यचकित था कि झाड़ी आग में भस्म नहीं हो रही थी। यह पहले ही स्तिफनुस के दर्शकों द्वारा जाना गया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि झाड़ी भस्म नहीं हो रही थी"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

προσερχομένου δὲ αὐτοῦ κατανοῆσαι

इसका अर्थ यह हो सकता है कि आरम्भ में जाँच करने के लिए मूसा झाड़ी के निकट गया था।

Acts 7:32

ἐγὼ ὁ Θεὸς τῶν πατέρων σου

मैं वह परमेश्वर हूँ जिसकी तेरे पूर्वजों ने आराधना की थी

ἔντρομος δὲ γενόμενος, Μωϋσῆς οὐκ ἐτόλμα κατανοῆσαι

इसका अर्थ यह हो सकता है कि जब मूसा ने आवाज सुनी तो वह डर के मारे पीछे हट गया था।

ἔντρομος…γενόμενος, Μωϋσῆς

मूसा डर से काँप गया। यह स्पष्ट किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मूसा डर से भयभीत हो गया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 7:33

λῦσον τὸ ὑπόδημα

परमेश्वर ने मूसा को यह इसलिए बताया कि वह परमेश्वर का सम्मान करेगा। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

ὁ γὰρ τόπος ἐφ’ ᾧ ἕστηκας γῆ ἁγία ἐστίν

निहित जानकारी यह है कि जहाँ परमेश्वर विद्यमान होता है, परमेश्वर के आसपास के तत्काल क्षेत्र को परमेश्वर द्वारा पवित्र माना जाता है या पवित्र किया जाता है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 7:34

ἰδὼν, εἶδον

निश्चित रूप से देखा। निश्चित रूप से शब्द देखे जाने पर जोर देता है।

τοῦ λαοῦ μου

मेरा"" शब्द जोर देता है कि ये लोग परमेश्वर से सम्बन्धित थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""अब्राहम, इसहाक और याकूब के वंशज

κατέβην ἐξελέσθαι αὐτούς

व्यक्तिगत रूप से उनका छुटकारा करेगा

νῦν δεῦρο

तैयार हो जाओ। परमेश्वर यहाँ एक आदेश का उपयोग करता है।

Acts 7:35

35-38 के वचनों में मूसा को उद्धरित करने वाले जुड़े हुए वाक्यांशों की एक श्रृंखला है। प्रत्येक वाक्यांश ""जिस मूसा को"" या ""उसी मूसा को"" या ""यही व्यक्ति"" या ""यह वही मूसा है"" जैसे कथन के साथ आरम्भ होता है। यदि सम्भव हो, तो मूसा पर जोर देने के लिए समान कथन का प्रयोग करें। इस्राएलियों ने मिस्र छोड़ने के बाद, उन्होंने 40 वर्ष जंगल के चारों ओर घूमते हुए बिताए, इससे पहले कि परमेश्वर ने उन्हें उस देश में ले जाए जिसकी उसने उनसे प्रतिज्ञा की थी।

τοῦτον τὸν Μωϋσῆν, ὃν ἠρνήσαντο

यह प्रेरितों के काम 7:27-28 में वर्णित घटनाओं को वापस सन्दर्भित करता है।

λυτρωτὴν

बचानेवाला

σὺν χειρὶ ἀγγέλου τοῦ ὀφθέντος αὐτῷ ἐν τῇ βάτῳ

हाथ किसी व्यक्ति द्वारा की गई कार्यवाही के लिए एक उपनाम है। इस विषय में, स्वर्गदूत ने मूसा को मिस्र लौटने का आदेश दिया था। स्तिफनुस ऐसे बोलता है जैसे कि स्वर्गदूत के पास एक शारीरिक हाथ था। आपको यह स्पष्ट करने की आवश्यकता हो सकती है कि स्वर्गदूत ने क्या गतिविधि की। वैकल्पिक अनुवाद: ""स्वर्गदूत की गतिविधि से"" या ""स्वर्गदूत होने के द्वारा ... झाड़ी ने उसे मिस्र लौटने का आदेश दिया"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 7:36

ἔτη τεσσεράκοντα

स्तिफनुस के दर्शकों को इस्राएलियों के जंगल में बिताए गए चालीस वर्षों के बारे में पता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""40 वर्षों के दौरान कि इस्राएली लोग जंगल में रहते थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 7:37

προφήτην…ἀναστήσει

एक व्यक्ति को एक भविष्यद्वक्ता बनाता है

ἐκ τῶν ἀδελφῶν ὑμῶν

तेरे अपने लोगों के बीच से

Acts 7:38

वचन 40 में आया उद्धरण मूसा के लेखन से है।

οὗτός ἐστιν ὁ γενόμενος ἐν τῇ ἐκκλησίᾳ

यह वही व्यक्ति मूसा है जो इस्राएलियों में से था

οὗτός ἐστιν ὁ γενόμενος

यह वाक्यांश ""यह वही व्यक्ति है"" मूसा को सन्दर्भित करता है।

ὃς ἐδέξατο λόγια ζῶντα δοῦναι ὑμῖν

वह परमेश्वर ही था जिसने उन वचनों को दिया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह वही व्यक्ति है जिससे हमें देने के लिए परमेश्वर ने जीवित वचनों को बोला था

λόγια ζῶντα

सम्भावित अर्थ हैं 1) ""एक सन्देश जो बना रहता है"" या 2) ""वचन जो जीवन देते हैं।"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 7:39

ἀπώσαντο

यह रूपक मूसा के अस्वीकार किए जाने पर जोर देता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने उसे अपने अगुवे के रूप में अस्वीकार कर दिया"" (देखें: रूपक)

ἐστράφησαν ἐν ταῖς καρδίαις αὐτῶν

यहाँ ""मन"" लोगों के विचारों के लिए एक उपनाम है। मन में कुछ करने का अर्थ कुछ करने की इच्छा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे वापस जाना चाहते थे"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 7:40

जब उन्होंने मिस्र लौटने का निर्णय किया

Acts 7:41

यहाँ स्तिफनुस का उद्धरण भविष्यद्वक्ता आमोस से है।

ἐμοσχοποίησαν

स्तिफनुस के दर्शकों को पता था कि उन्होंने जो बछड़ा बनाया था वह एक मूर्ति थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने एक मूर्ति बनाई जो एक बछड़े की तरह दिखती थी"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐμοσχοποίησαν…εἰδώλῳ…τοῖς ἔργοις τῶν χειρῶν αὐτῶν

ये सभी वाक्यांश उसी बछड़े की मूर्ति को सन्दर्भित करते हैं।

Acts 7:42

ἔστρεψεν…ὁ Θεὸς

परमेश्वर दूर हो गया। यह गतिविधि व्यक्त करती है कि परमेश्वर उन लोगों से प्रसन्न नहीं था और अब उनकी और सहायता नहीं की थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उन्हें सुधारना बन्द कर दिया"" (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

παρέδωκεν αὐτοὺς

उन्हें छोड़ दिया

τῇ στρατιᾷ τοῦ οὐρανοῦ

मूल वाक्यांश के लिए सम्भावित अर्थ हैं 1) केवल तारों को या 2) सूर्य, चन्द्रमा, और तारों को।

βίβλῳ τῶν προφητῶν

यह स्पष्ट रूप से पुराने नियम के भविष्यवक्ताओं के एक कुण्डल पत्र में लेखन का संग्रह था। इसमें आमोस के लेखन को भी सम्मिलित किया होगा।

σφάγια καὶ θυσίας προσηνέγκατέ μοι, ἔτη τεσσεράκοντα ἐν τῇ ἐρήμῳ, οἶκος Ἰσραήλ

परमेश्वर ने इस प्रश्न को इस्राएल को यह दिखाने के लिए पूछा कि उन्होंने उनके बलिदानों के साथ उसकी आराधना नहीं की थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब तुमने जानवर मारे और बलि चढ़ाए तो तुमने मेरा सम्मान नहीं किया ... इस्राएल ""(देखें: भाषणगत प्रश्न)

οἶκος Ἰσραήλ

यह पूरे इस्राएल देश को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम सभी इस्राएली लोग"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 7:43

भविष्यद्वक्ता आमोस का उद्धरण यहाँ जारी रहता है।

स्तिफनुस महायाजक और परिषद के प्रति अपनी प्रतिक्रिया देना जारी रखता है जिसे उसने प्रेरितों के काम 7:2 में आरम्भ किया था।

ἀνελάβετε

यह निहित है कि उन्होंने जंगल में यात्रा के समय इन मूर्तियों को अपने साथ ले लिया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम एक स्थान से दूसरे स्थान अपने साथ ले गए"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

σκηνὴν τοῦ Μολὸχ

वह तम्बू जिसमें झूठा देवता मोलेक वास करता था

ὸ ἄστρον τοῦ θεοῦ…Ῥαιφάν

वह तारा जो झूठे देवता रिफान के साथ पहचाना जाता है

τοὺς τύπους οὓς ἐποιήσατε

उन्होंने आराधना करने के लिए मोलेक और रिफान देवताओं की मूर्तियों या प्रतिमाओं को बनाया।

μετοικιῶ ὑμᾶς ἐπέκεινα Βαβυλῶνος

मैं तुम्हें बेबीलोन से भी कहीं दूर के स्थानों पर भेज दूँगा। यह निर्णय परमेश्वर का कार्य होगा।

Acts 7:44

ἡ σκηνὴ τοῦ μαρτυρίου

वह तम्बू जो उस वाचा के सन्दूक (एक बक्से) का वास था जिसमें पत्थर पर खुदी हुई 10 आज्ञाएँ थीं।

Acts 7:45

ἣν…εἰσήγαγον, διαδεξάμενοι οἱ πατέρες ἡμῶν μετὰ Ἰησοῦ

वाक्यांश ""यहोशू के अधीन"" का अर्थ है कि उनके पूर्वजों ने यहोशू के मार्गदर्शन के पालन में इन कामों को किया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""यहोशू के निर्देशों के अनुसार, हमारे पूर्वजों ने तंबू को प्राप्त किया और उसे अपने साथ ले गए

τῇ κατασχέσει τῶν ἐθνῶν, ὧν ἐξῶσεν ὁ Θεὸς ἀπὸ προσώπου τῶν πατέρων ἡμῶν

यह वाक्य बताता है कि वे पूर्वज भूमि को अपने अधीन करने में क्यों सक्षम थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उन जातियों को हमारे पूर्वजों के सामने देश को छोड़ने के लिए मजबूर किया

τῇ κατασχέσει τῶν ἐθνῶν…ὁ Θεὸς ἀπὸ προσώπου τῶν πατέρων ἡμῶν

यहाँ ""हमारे पूर्वजों के सामने"" उनके पूर्वजों की उपस्थिति को सन्दर्भित करता है। सम्भावित अर्थ हैं 1) ""जैसा कि हमारे पूर्वजों ने देखा, परमेश्वर ने उन जातियों से देश को ले लिया और उन्हें बाहर निकाल दिया"" या 2) ""जब हमारे पूर्वज आए, तो परमेश्वर ने उन जातियों से देश को ले लिया और उन्हें बाहर निकाल दिया"" (देखें: लक्षणालंकार)

τῶν ἐθνῶν

यह उन लोगों को सन्दर्भित करता है जो इस्राएल से पहले उस देश में रहते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे लोग जो पहले यहाँ रहते थे"" (देखें: लक्षणालंकार)

ὧν ἐξῶσεν

उन्हें देश छोड़ने के लिए मजबूर किया

Acts 7:46

σκήνωμα τῷ οἴκῳ Ἰακώβ

सन्दूक के लिए एक निवासस्थान जहाँ याकूब का परमेश्वर रह सके। दाऊद सन्दूक के यरूशलेम में रहने के लिए एक स्थायी स्थान चाहता था, न कि तम्बू में।

Acts 7:47

49 और 50 के वचनों में, स्तिफनुस भविष्यवक्ता यशायाह से उद्धरित करता है। इस उद्धरण में, परमेश्वर स्वयं के बारे में बात कर रहा है।

Acts 7:48

χειροποιήτοις

हाथ पूरे व्यक्ति के लिए एक उपलक्ष्य अलंकार है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों द्वारा बनाया गया"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 7:49

ὁ οὐρανός μοι θρόνος, ἡ δὲ γῆ ὑποπόδιον τῶν ποδῶν μου

भविष्यवक्ता परमेश्वर की उपस्थिति की महानता की तुलना कर रहा है कि परमेश्वर के पृथ्वी पर आराम करने के लिए एक स्थान बनाना मनुष्य के लिए कितना असम्भव है क्योंकि पूरी पृथ्वी कुछ भी नहीं अपितु परमेश्वर के चरणों को विश्राम देने के लिए एक स्थान है।

ποῖον οἶκον οἰκοδομήσετέ μοι

परमेश्वर इस प्रश्न को यह प्रगट करने के लिए पूछता है कि कैसे मनुष्य के प्रयास परमेश्वर की परवाह करने के लिए व्यर्थ हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम मेरे लिए एक योग्य घर नहीं बना सकते!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

τίς τόπος τῆς καταπαύσεώς μου

परमेश्वर इस प्रश्न को मनुष्य पर यह प्रगट करने के लिए पूछता है कि वह परमेश्वर को किसी तरह का कोई विश्राम नहीं दे सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे लिए विश्राम का कोई अच्छा स्थान नहीं है!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Acts 7:50

οὐχὶ ἡ χείρ μου ἐποίησεν ταῦτα πάντα

परमेश्वर इस प्रश्न को यह प्रगट करने के लिए पूछता है कि मनुष्य ने कुछ भी नहीं बनाया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे हाथ ने इन सभी चीजों को बनाया है!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Acts 7:51

एक कठोर उलाहने के साथ, महायाजक और परिषद को स्तिफनुस अपना प्रतिउत्तर देना समाप्त करता है, जिसे उसने [प्रेरितों के काम 7:2] (../07/02.md) में आरम्भ किया था।

σκληροτράχηλοι

यहूदी अगुवों के साथ पहचाने जाने के बदले स्तिफनुस उन्हें डाँटने की तरफ परिवर्तित हो गया।

σκληροτράχηλοι

इसका अर्थ यह नहीं है कि उनकी गर्दनें कठोर थीं, अपितु वे ""हठीले"" थे। (देखें: मुहावरे)

ἀπερίτμητοι καρδίαις καὶ τοῖς ὠσίν

यहूदियों ने खतनारहित लोगों को परमेश्वर के प्रति अनाज्ञाकारी माना था। स्तिफनुस उन यहूदी अगुवों का प्रतिनिधित्व करने के लिए ""मन और कान"" का उपयोग करता है जिन्होंने अन्यजातियों के जैसे कार्य किया जब वे परमेश्वर की आज्ञा नहीं मानते या सुनते नहीं थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम मानने और सुनने से इंकार करते हो"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 7:52

τίνα τῶν προφητῶν οὐκ ἐδίωξαν οἱ πατέρες ὑμῶν

स्तिफनुस ने इस प्रश्न को उन पर यह प्रगट करने के लिए पूछा कि उन्होंने अपने पूर्वजों की गलतियों से कुछ भी नहीं सीखा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हारे पूर्वजों ने हर भविष्यवक्ता को सताया!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Δικαίου

यह उस मसीहा, मसीह को सन्दर्भित करता है।

ὑμεῖς προδόται καὶ φονεῖς ἐγένεσθε

तुमने उसे धोखा देकर पकड़ा और हत्या कर दी

φονεῖς

धर्मी व्यक्ति के हत्यारे या ""मसीह के हत्यारे

Acts 7:53

τὸν νόμον εἰς διαταγὰς ἀγγέλων

वह व्यवस्था जिसे परमेश्वर ने हमारे पूर्वजों को देने के लिए स्वर्गदूतों को प्रेरित किया

Acts 7:54

परिषद स्तिफनुस के शब्दों पर प्रतिक्रिया करती है।

ἀκούοντες δὲ ταῦτα

यही बदलाव वाला क्षण है; उपदेश समाप्त होता है और परिषद के सदस्य प्रतिक्रिया करते हैं।

διεπρίοντο

हृदय छिद गए"" एक व्यक्ति को बहुत अधिक गुस्सा कर देने के लिए एक मुहावरा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""बहुत क्रोधित थे"" या ""बहुत गुस्सा हो गए"" (देखें: मुहावरे)

ἔβρυχον τοὺς ὀδόντας ἐπ’ αὐτόν

इस कार्यवाही ने स्तिफनुस पर उनके दृढ़ क्रोध को या स्तिफनुस के प्रति उनकी घृणा को व्यक्त किया। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे इतने गुस्सा हो गए कि वे अपने दाँतों को एक साथ पीसने लगे"" या ""स्तिफनुस को देखते हुए अपने दाँत आगे पीछे करने लगे"" (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

Acts 7:55

ἀτενίσας εἰς τὸν οὐρανὸν

स्वर्ग की ओर ऊपर देखा। ऐसा प्रतीत होता है कि केवल स्तिफनुस ने इस दर्शन को देखा और भीड़ में से किसी अन्य ने नहीं देखा।

εἶδεν δόξαν Θεοῦ

लोगों ने सामान्य तौर पर एक उज्ज्वल प्रकाश के रूप में परमेश्वर की महिमा का अनुभव किया। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर की ओर से एक उज्ज्वल प्रकाश देखा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

καὶ Ἰησοῦν ἑστῶτα ἐκ δεξιῶν τοῦ Θεοῦ

परमेश्वर के दाहिने हाथ"" पर खड़ा होना परमेश्वर से महान सम्मान और अधिकार प्राप्त करने का एक प्रतीकात्मक कार्य है। वैकल्पिक अनुवाद: ""और उसने यीशु को परमेश्वर के बगल में सम्मान और अधिकार के स्थान पर खड़ा देखा"" (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

Acts 7:56

Υἱὸν τοῦ Ἀνθρώπου

स्तिफनुस ""मनुष्य का पुत्र"" शीर्षक से यीशु को सन्दर्भित करता है।

Acts 7:57

συνέσχον τὰ ὦτα αὐτῶν

अपने हाथों को अपने कानों पर रखा। उन्होंने यह दिखाने के लिए ऐसा किया कि स्तिफनुस ने जो कुछ भी कहा था, उसे वे और नहीं सुनना चाहते थे। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

Acts 7:58

ἐκβαλόντες ἔξω τῆς πόλεως

उन्होंने स्तिफनुस को पकड़ लिया और बलपूर्वक उसे शहर से बाहर ले गए

τὰ ἱμάτια

ये कपड़े या वस्त्र हैं जो वे गर्म रहने के लिए बाहर से पहनते थे, जैसे कि समारोहों में कोई जैकेट या कोट।

παρὰ τοὺς πόδας

के सामने। उन्हें वहाँ रखा गया ताकि शाऊल उन्हें देख सके।

νεανίου

शाऊल सम्भवतः उस समय लगभग 30 वर्ष की आयु का था।

Acts 7:59

यह स्तिफनुस की कहानी को समाप्त करता है।

δέξαι τὸ πνεῦμά μου

मेरी आत्मा को ले लो यह दिखाने के लिए ""कृपया"" शब्द को जोड़ना सहायक हो सकता है कि यह एक अनुरोध था। वैकल्पिक अनुवाद: ""कृपया मेरी आत्मा ग्रहण करें

Acts 7:60

θεὶς δὲ τὰ γόνατα

यह परमेश्वर को समर्पित होने का एक कार्य है। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

μὴ στήσῃς αὐτοῖς ταύτην τὴν ἁμαρτίαν

यह एक सकारात्मक तरीके से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्हें इस पाप के लिए क्षमा करें"" (देखें: विडंबना)

ἐκοιμήθη

सो जाना यहाँ मर जाने के लिए एक व्यंजना है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मृत्यु हो गई"" (देखें: शिष्टोक्ति)

Acts 8

प्रेरितों के काम 08 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

कुछ अनुवाद पढ़ने के लिए आसान बनाने के लिए पाठ के शेष हिस्सों की तुलना में कविता की प्रत्येक पंक्ति को दाईं ओर व्यवस्थित करते हैं । यूएलटी 8:32-33 में उद्धरित पुराने नियम के काव्य के साथ ऐसा ही करता है।

वचन 1 का पहला वाक्य अध्याय 7 की घटनाओं के विवरण को समाप्त करता है। लूका ने अपने इतिहास का एक नया हिस्सा ""तो वहाँ आरम्भ किया"" शब्दों के साथ आरम्भ करता है।

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

पवित्र आत्मा प्राप्त करना

इस अध्याय में पहली बार लूका पवित्र आत्मा प्राप्त करने वाले लोगों के बारे में बोलता है (प्रेरितों के काम 8:1519)। पवित्र आत्मा ने पहले ही विश्वासियों को अन्यभाषा में बोलने, बीमारों को ठीक करने और समुदाय के रूप में रहने में सक्षम किया था, और उसने स्तिफनुस को भी भर दिया था। परन्तु जब यहूदियों ने विश्वासियों को जेल में डालना आरम्भ किया, तो वे विश्वास करने वाले जो यरूशलेम को छोड़ सकते थे, और उन्होंने ऐसा किया भी, उन्होंने जाकर अन्य लोगों को यीशु के बारे में बताया। जब यीशु के बारे में सुने हुए लोगों ने पवित्र आत्मा प्राप्त किया, तो कलीसिया के अगुवों ने जान लिया कि वे लोग वास्तव में विश्वास करने वाले बन गए थे।

घोषणा की

प्रेरितों के काम की पुस्तक में किसी भी अन्य अध्याय से अधिक यह अध्याय विश्वासियों द्वारा वचन की घोषणा को, सुसमाचार के प्रचार को, और यह घोषणा करना कि यीशु ही मसीह है को बताता है। ""घोषणा"" शब्द एक यूनानी शब्द का अनुवाद है जिसका अर्थ किसी बात के बारे में अच्छे समाचार को बताना है।

Acts 8:1

यूएसटी के जैसे स्तिफनुस के बारे में कहानी के इन हिस्सों को स्थानांतरित करने के लिए एक वचन के सम्पर्क का उपयोग करना आपके दर्शकों के लिए यह सहायक हो सकता है। (देखें: पद सेतु)

इन वचनों में कहानी स्तिफनुस से शाऊल की ओर मुड़ जाती है।

ἐγένετο…ἐν ἐκείνῃ τῇ ἡμέρᾳ, διωγμὸς μέγας ἐπὶ τὴν ἐκκλησίαν, τὴν ἐν Ἱεροσολύμοις. πάντες δὲ διεσπάρησαν κατὰ τὰς χώρας τῆς Ἰουδαίας καὶ Σαμαρείας, πλὴν τῶν ἀποστόλων

वचन 1 का यह हिस्सा स्तिफनुस की मृत्यु के बाद आरम्भ होने वाले सताव के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी है। यह बताता है कि शाऊल वचन 3 में विश्वासियों को क्यों सता रहा था। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

ἐκείνῃ τῇ ἡμέρᾳ

यह उस दिन को सन्दर्भित करता है, जब स्तिफनुस की मृत्यु हुई (प्रेरितों के काम 7:59-60)।

πάντες…διεσπάρησαν

सब"" शब्द यह अभिव्यक्त करने का एक सामान्यकरण है कि सताव के कारण बड़ी संख्या में विश्वासियों ने यरूशलेम को छोड़ दिया। (देखें: अतिशयोक्ति)

πλὴν τῶν ἀποστόλων

इस कथन का तात्पर्य है कि प्रेरित यरूशलेम में ही रहे, भले ही उन्होंने भी इस बड़े सताव का अनुभव किया। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 8:2

ἄνδρες εὐλαβεῖς

परमेश्वर से डरने वाले पुरुष या ""वे पुरुष जो परमेश्वर से डरते थे

ἐποίησαν κοπετὸν μέγαν ἐπ’ αὐτῷ

उसकी मृत्यु का बहुत शोक किया

Acts 8:3

σύρων τε ἄνδρας καὶ γυναῖκας

शाऊल ने यहूदी विश्वासियों को बलपूर्वक उनके घर से निकाला और उन्हें जेल में डाल दिया।

κατὰ τοὺς οἴκους

एक-एक के घर

σύρων τε ἄνδρας καὶ γυναῖκας

बलपूर्वक पुरुषों और स्त्रियों को पकड़ लिया

ἄνδρας καὶ γυναῖκας

यह उन पुरुषों और स्त्रियों को सन्दर्भित करता है जो यीशु पर विश्वास करते थे। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 8:4

यह फिलिप्पुस की कहानी आरम्भ करता है, जिसे लोगों ने डीकन के रूप में चुना था (प्रेरितों के काम 6:5)।

διασπαρέντες

तितर बितर होने के कारण, सताव को, पहले ही बताया गया है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो बड़े सताव से भागे और चले गए"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὸν λόγον

यह ""सन्देश"" के लिए एक उपनाम है। आपको यह स्पष्ट करने की आवश्यकता हो सकती है कि यह सन्देश यीशु के बारे में था। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु के बारे में सन्देश"" (देखें: लक्षणालंकार और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 8:5

κατελθὼν εἰς τὴν πόλιν τῆς Σαμαρείας

यहाँ ""में जाकर"" वाक्यांश का प्रयोग इसलिए किया गया है क्योंकि यरूशलेम की ऊँचाई की तुलना में सामरिया नीचे है।

τὴν πόλιν τῆς Σαμαρείας

सम्भावित अर्थ हैं 1) लूका ने पाठकों से यह जान लेने की अपेक्षा की कि वह किस शहर के बारे में लिख रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""सामरिया का मुख्य शहर"" या 2) लूका ने अपने पाठकों से यह जान लेने की अपेक्षा नहीं की कि वह किस शहर के बारे में लिख रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""सामरिया का एक शहर

ἐκήρυσσεν αὐτοῖς τὸν Χριστόν

मसीह"" शीर्षक यीशु, मसीहा को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्हें बताया कि यीशु ही मसीहा है"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 8:6

δὲ οἱ ὄχλοι

जब सामरिया शहर के कई लोगों ने। यह स्थान प्रेरितों के काम 8:5 में निर्दिष्ट किया गया था।

προσεῖχον

लोगों के ध्यान देने का कारण फिलिप्पुस के द्वारा की गई सारी चंगाई थी।

Acts 8:7

ἐχόντων πνεύματα ἀκάθαρτα

जो उनमें थीं या ""जो अशुद्ध आत्माओं द्वारा नियंत्रित थे

Acts 8:8

ἐγένετο δὲ πολλὴ χαρὰ ἐν τῇ πόλει ἐκείνῃ

वह शहर"" वाक्यांश उन लोगों को सन्दर्भित करता है जो आनन्दित थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसलिए उस शहर के लोग आनन्दित थे"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 8:9

फिलिप्पुस की कहानी से शमौन को प्रस्तुत किया गया है। यह वचन शमौन के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी के आरम्भ को और वह सामरियों में से कौन था इसको देता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

ἀνὴρ δέ τις ὀνόματι Σίμων

यह कहानी में एक नए व्यक्ति को प्रस्तुत करने का एक तरीका है। कहानी में एक नए व्यक्ति प्रस्तुत करने के लिए आपकी भाषा अलग शब्दों का उपयोग कर सकती है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

τῇ πόλει

सामरिया का शहर (प्रेरितों के काम 8:5)

Acts 8:10

फिलिप्पुस की कहानी से शमौन को प्रस्तुत किया गया है। यह वचन शमौन के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी के आरम्भ को और वह सामरियों में से कौन था इसको देना जारी रखता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

πάντες

सब"" शब्द एक सामान्यकरण है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सामरी लोगों में से कई"" या ""शहर के सामरी लोग"" (देखें: अतिशयोक्ति)

ἀπὸ μικροῦ ἕως μεγάλου

ये दो वाक्यांश सभी के लिए एक चरम से दूसरे चरम को सन्दर्भित करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""कोई मायने नहीं रखता कि वे कितने महत्वपूर्ण थे"" (देखें: विभज्योतक)

οὗτός ἐστιν ἡ Δύναμις τοῦ Θεοῦ, ἡ καλουμένη Μεγάλη

लोग कह रहे थे कि शमौन वह दिव्य सामर्थ्य था जो ""महान शक्ति"" कहलाती है।

ἡ Δύναμις τοῦ Θεοῦ, ἡ καλουμένη Μεγάλη

सम्भावित अर्थ हैं 1) परमेश्वर का सामर्थ्यशाली प्रतिनिधि या 2) परमेश्वर या 3) सबसे सामर्थ्यशाली व्यक्ति या 4) और स्वर्गदूत। क्योंकि यह परिस्थिति अस्पष्ट है, इसलिए सामान्य रूप से इसे ""परमेश्वर की महान सामर्थ्य"" के रूप में अनुवाद करना सबसे उत्तम होगा।

Acts 8:11

फिलिप्पुस की कहानी से शमौन को प्रस्तुत किया गया है। यह वचन शमौन के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी को और वह सामरियों में से कौन था इसको समाप्त करता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

Acts 8:12

ये वचन शमौन और उन कुछ सामरियों के बारे में जानकारी देते हैं, जो यीशु पर विश्वास में आ रहे थे।

ἐβαπτίζοντο

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""फिलिप्पुस ने उन्हें बपतिस्मा दिया"" या ""फिलिप्पुस ने नए विश्वासियों को बपतिस्मा दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 8:13

ὁ…Σίμων…αὐτὸς ἐπίστευσεν

स्वयं"" शब्द का यहाँ प्रयोग इस पर जोर देने के लिए किया गया है कि शमौन ने विश्वास किया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""शमौन भी उन लोगों में से एक था जिन्होंने विश्वास किया था"" (देखें: कर्मकर्त्ता सर्वनाम)

βαπτισθεὶς

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""फिलिप्पुस ने शमौन को बपतिस्मा दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

θεωρῶν τε σημεῖα

यह एक नए वाक्य को आरम्भ कर सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब उसने देखा

Acts 8:14

सामरिया में जो हो रहा था लूका इस समाचार को बताना जारी रखता है।

ἀκούσαντες δὲ οἱ ἐν Ἱεροσολύμοις ἀπόστολοι

यह सामरियों के विश्वासी हो जाने वाली कहानी के एक नए हिस्से के आरम्भ को चिन्हित करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἡ Σαμάρεια

यह पूरे सामरिया जिले के उन बहुत से लोगों को सन्दर्भित करता है जो विश्वासी हो गए थे। (देखें: उपलक्षण अलंकार)

δέδεκται

विश्वास किया था या ""स्वीकार किया था

Acts 8:15

οἵτινες καταβάντες

जब पतरस और यूहन्ना नीचे आ गए थे

καταβάντες

इस वाक्यांश का प्रयोग यहाँ इसलिए किया गया है क्योंकि यरूशलेम की ऊँचाई की तुलना में सामरिया नीचे है।

προσηύξαντο περὶ αὐτῶν

पतरस और यूहन्ना ने सामरी विश्वासियों के लिए प्रार्थना की

ὅπως λάβωσιν Πνεῦμα Ἅγιον

ताकि सामरी विश्वासियों को पवित्र आत्मा प्राप्त हो सके

Acts 8:16

μόνον…βεβαπτισμένοι ὑπῆρχον

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""फिलिप्पुस ने केवल सामरी विश्वासियों को बपतिस्मा दिया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

μόνον…βεβαπτισμένοι ὑπῆρχον εἰς τὸ ὄνομα τοῦ Κυρίου Ἰησοῦ

यहाँ ""नाम"" अधिकार का प्रतिनिधित्व करता है, और उसके नाम में बपतिस्मा लेना उसके अधिकार के अधीन होने के लिए बपतिस्मा लेने का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने केवल प्रभु यीशु के चेले बनने के लिए बपतिस्मा लिया था"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 8:17

ἐπετίθεσαν τὰς χεῖρας ἐπ’ αὐτούς

उन्हें"" शब्द उन सामरी लोगों को सन्दर्भित करता है, जिन्होंने स्तिफनुस के सुसमाचार के सन्देश पर विश्वास किया था।

ἐπετίθεσαν τὰς χεῖρας ἐπ’ αὐτούς

यह प्रतीकात्मक गतिविधि यह प्रकट करती है कि पतरस और यूहन्ना चाहते थे कि परमेश्वर विश्वासियों को पवित्र आत्मा दें। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

Acts 8:18

διὰ τῆς ἐπιθέσεως τῶν χειρῶν τῶν ἀποστόλων δίδοται τὸ Πνεῦμα

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रेरितों ने लोगों पर अपना हाथ रखकर पवित्र आत्मा दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 8:19

ἵνα ᾧ ἐὰν ἐπιθῶ τὰς χεῖρας, λαμβάνῃ Πνεῦμα Ἅγιον

ताकि जिस किसी पर भी मैं अपने हाथों को रखता हूँ उसे मैं पवित्र आत्मा दे सकूँ

Acts 8:20

यहाँ उससे, तेरे, तूने और तेरा सारे शब्द शमौन को सन्दर्भित करते हैं।

τὸ ἀργύριόν σου, σὺν σοὶ εἴη εἰς ἀπώλειαν

तू और तेरे रुपये नष्ट हो जाएँ

τὴν δωρεὰν τοῦ Θεοῦ

यहाँ यह किसी के ऊपर अपने हाथों को रखकर पवित्र आत्मा देने की क्षमता को सन्दर्भित करता है।

Acts 8:21

οὐκ ἔστιν σοι μερὶς οὐδὲ κλῆρος ἐν τῷ λόγῳ τούτῳ

भाग"" और ""हिस्सा"" शब्दों का अर्थ एक ही बात है और जोर देने के लिए उपयोग किए गए हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""तू इस काम में भाग नहीं ले"" (देखें: दोहरात्मक)

ἡ γὰρ καρδία σου οὐκ ἔστιν εὐθεῖα

यहाँ ""मन"" किसी व्यक्ति के विचारों या उद्देश्यों के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तू अपने मन में सही नहीं हैं"" या ""तेरे दिमाग के उद्देश्य सही नहीं हैं"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 8:22

ἡ ἐπίνοια τῆς καρδίας σου

यहाँ ""मन"" किसी व्यक्ति के विचारों के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो तू करना चाहता था उसके लिए"" या ""जो तू करने के बारे में सोच रहा था उसके लिए"" (देखें: लक्षणालंकार)

τῆς κακίας…ταύτης

ये बुरे विचार

εἰ ἄρα ἀφεθήσεταί

शायद वह क्षमा करना चाहे

Acts 8:23

εἰς…χολὴν πικρίας

यहाँ ""पित्त की सी कड़वाहट"" बहुत ईर्ष्यालु के लिए एक रूपक है। यह ईर्ष्या की बात करता है, जैसे कि यह उस व्यक्ति को कड़वा और जहरीला स्वाद देता है जो ईर्ष्यालु है। वैकल्पिक अनुवाद: ""बहुत ईर्ष्यालु"" (देखें: रूपक)

σύνδεσμον ἀδικίας

अधर्म के बन्धन"" वाक्यांश को ऐसे कहा गया है, जैसे कि पाप शमौन को रोक सकता है और उसे कैदी बना सकता है। यह रूपक है जिसका अर्थ है कि शमौन स्वयं को पाप करने से रोकने में सक्षम नहीं है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि तू पाप करते रहता है तू एक कैदी की तरह है"" या ""तू पाप के लिए एक कैदी की तरह है"" (देखें: रूपक)

Acts 8:24

यहाँ ""तुम"" शब्द पतरस और यूहन्ना को सन्दर्भित करता है।

ὅπως μηδὲν ἐπέλθῃ ἐπ’ ἐμὲ

इसे किसी दूसरे तरीके से भी कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो बातें तूने कही हैं ... मेरे साथ न हों

ὅπως μηδὲν ἐπέλθῃ ἐπ’ ἐμὲ

यह शमौन के उसकी चाँदी के साथ नष्ट होने के बारे में पतरस की डाँट को सन्दर्भित करता है।

Acts 8:25

यह शमौन और सामरियों के बारे में कहानी के हिस्से का समापन करता है।

διαμαρτυράμενοι

पतरस और यूहन्ना ने सामरियों को वह बताया जो वे यीशु के बारे में व्यक्तिगत रूप से जानते थे।

λαλήσαντες τὸν λόγον τοῦ Κυρίου

वचन यहाँ ""सन्देश"" के लिए एक उपनाम है। पतरस और यूहन्ना ने सामरियों को यीशु के बारे में सन्देश बताया। (देखें: लक्षणालंकार)

πολλάς…κώμας τῶν Σαμαρειτῶν

यहाँ ""गाँवों"" उनमें रहने वाले लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सामरिया के कई गाँवों के लोगों को"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 8:26

वचन 27 कूश के व्यक्ति के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

यह फिलिप्पुस और कूश के व्यक्ति के बारे में कहानी के हिस्से को आरम्भ करता है।

δὲ

यह कहानी में एक परिवर्तन को चिन्हित करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ἀνάστηθι καὶ πορεύου

ये क्रियाएँ इस बात पर जोर देने के लिए एक साथ कार्य करती हैं कि उसे एक लम्बी यात्रा आरम्भ करने के लिए तैयार होना चाहिए जिसमें कुछ समय लगेगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""यात्रा करने के लिए तैयार हो जाओ

τὴν καταβαίνουσαν ἀπὸ Ἰερουσαλὴμ εἰς Γάζαν

उस मार्ग पर"" वाक्यांश का प्रयोग यहाँ इसलिए किया गया है क्योंकि गाजा की तुलना में यरूशलेम ऊँचाई पर है।

αὕτη ἐστὶν ἔρημος

अधिकांश विद्वानों का मानना ​​है कि लूका ने इस टिप्पणी को उस क्षेत्र का वर्णन करने के लिए जोड़ा जिसके माध्यम से फिलिप्पुस यात्रा करेगा। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

Acts 8:27

ἰδοὺ

देखो"" शब्द हमें कहानी में एक नए व्यक्ति की ओर सचेत करता है। आपकी भाषा में ऐसा करने का कोई तरीका हो सकता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

εὐνοῦχος

यहाँ ""खोजे"" के ऊपर जोर कूशी के एक उच्च सरकारी अधिकारी होने के बारे में है, नपुंसक होने की उसकी शारीरिक स्थिति को अधिकता से नहीं।

Κανδάκης

यह कूश की रानियों के लिए एक पदवी थी। यह मिस्र के राजाओं के लिए उपयोग किए गए फ़िरौन शब्द के समान ही है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

ὃς ἐληλύθει προσκυνήσων εἰς Ἰερουσαλήμ

इसका तात्पर्य है कि वह एक अन्यजाति था जिसने परमेश्वर पर विश्वास किया था और यहूदी मन्दिर में आराधना करने आया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह यरूशलेम के मन्दिर में परमेश्वर की आराधना करने आया था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 8:28

τοῦ ἅρματος

सम्भावित रूप से ""गाड़ी"" या ""रथ"" इस सन्दर्भ में अधिक उपयुक्त है। रथों को सामान्य रूप से पर युद्ध के लिए वाहन के रूप में वर्णित किया गया है, न कि लम्बी दूरी की यात्रा के लिए वाहन के रूप में। इसके अतिरिक्त, लोग रथों में सवारी करने के लिए खड़े होते थे।

ἀνεγίνωσκεν τὸν προφήτην Ἠσαΐαν

यह पुराने नियम की पुस्तक यशायाह है। वैकल्पिक अनुवाद: ""भविष्यद्वक्ता यशायाह की पुस्तक से पढ़ता हुआ"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 8:29

κολλήθητι τῷ ἅρματι τούτῳ

फिलिप्पुस समझ गया कि इसका अर्थ उसका रथ में सवारी करने वाले व्यक्ति के निकट रहना था। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस रथ में बैठे व्यक्ति के साथ"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 8:30

ἀναγινώσκοντος Ἠσαΐαν τὸν προφήτην

यह पुराने नियम की पुस्तक यशायाह है। वैकल्पिक अनुवाद: ""भविष्यद्वक्ता यशायाह की पुस्तक से पढ़ता हुआ"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἆρά…γινώσκεις ἃ ἀναγινώσκεις

वह कूशी बुद्धिमान था और पढ़ सकता था, परन्तु उसमें आत्मिक सूझबूझ की कमी थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्या तू जो पढ़ रहा है उसका अर्थ समझता है?

Acts 8:31

πῶς…δυναίμην ἐὰν μή τις ὁδηγήσει με

इस प्रश्न को जोरदार ढंग से यह व्यक्त करने के लिए पूछा गया था कि वह सहायता के बिना समझ नहीं सकता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब तक कोई मेरा मार्गदर्शन नहीं करता तब तक मैं समझ नहीं सकता हूँ"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

παρεκάλεσέν…τὸν Φίλιππον, ἀναβάντα καθίσαι σὺν αὐτῷ

यहाँ यह अस्पष्ट है कि फिलिप्पुस पवित्र शास्त्र की व्याख्या करने के लिए उनके साथ यात्रा करने पर सहमत हो गया था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 8:32

यह यशायाह की पुस्तक से एक सन्दर्भ है। यहाँ ""वह"" और ""उसने"" शब्द मसीह का उल्लेख करते हैं।

ὡς ἀμνὸς ἐναντίον τοῦ κείραντος αὐτὸν ἄφωνος

एक ऊन कतरने वाला वह व्यक्ति होता है जो भेड़ों के ऊन को कतरता है, ताकि इसका उपयोग किया जा सके।

Acts 8:33

ἐν τῇ ταπεινώσει, ἡ κρίσις αὐτοῦ ἤρθη

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह अपमानित किया गया था और उन्होंने उसका न्याय निष्पक्ष रूप से नहीं किया था"" या ""उसने स्वयं को अपने आरोपियों के आगे नम्र कर दिया और उसने अन्याय का सामना किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὴν γενεὰν αὐτοῦ τίς διηγήσεται

इस प्रश्न का उपयोग इस पर जोर देने के लिए किया गया था कि उसका वंश नहीं होगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""कोई भी उसके वंशज के बारे में बात करने में सक्षम नहीं होगा, क्योंकि कोई भी नहीं होगा"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

αἴρεται ἀπὸ τῆς γῆς ἡ ζωὴ αὐτοῦ

यह उसकी मृत्यु को सन्दर्भित किया गया है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों ने उसे मार डाला"" या ""लोगों ने पृथ्वी से उसका जीवन उठा लिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 8:34

δέομαί σου

कृपया मुझे बता

Acts 8:35

τῆς Γραφῆς ταύτης

यह पुराने नियम में यशायाह के लेखों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यशायाह के लेखों में"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 8:36

ἐπορεύοντο κατὰ τὴν ὁδόν

वे मार्ग पर यात्रा करते रहे

τί κωλύει με βαπτισθῆναι

खोजा इस प्रश्न का उपयोग फिलिप्पुस से बपतिस्मा लेने की अनुमति के लिए पूछने के तरीके के रूप में करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कृपया मुझे बपतिस्मा लेने की अनुमति दो"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Acts 8:38

ἐκέλευσεν στῆναι τὸ ἅρμα

रथ के चालक को रुकने के लिए कहा

Acts 8:39

यह फिलिप्पुस और कूश के व्यक्ति के बारे में कहानी के हिस्से का समापन है। फिलिप्पुस की कहानी कैसरिया में समाप्त होती है।

οὐκ εἶδεν αὐτὸν οὐκέτι ὁ εὐνοῦχος

खोजे ने फिर फिलिप्पुस हो नहीं देखा

Acts 8:40

Φίλιππος…εὑρέθη εἰς Ἄζωτον

फिलिप्पुस ने जहाँ उस कूशी व्यक्ति को बपतिस्मा दिया और वहाँ से उसकी अश्दोद के बीच की यात्रा का कोई संकेत नहीं था। वह अचानक गाजा के रास्ते पर लुप्त हो गया और अश्दोद शहर में फिर से प्रकट हो गया।

διερχόμενος

यह अश्दोद शहर के आसपास के क्षेत्र को सन्दर्भित करता है।

τὰς πόλεις πάσας

उस क्षेत्र के सभी शहरों में

Acts 9

प्रेरितों के काम 09 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

""मत""

निश्चित रूप से कोई भी यह नहीं जानता कि किसने पहली बार विश्वासियों को ""इस मत के अनुयायी"" कहना आरम्भ किया था। यह सम्भवतः वही है जिससे विश्वासियों ने स्वयं को पुकारा था, क्योंकि बाइबल अक्सर किसी रीति से जीवन को जीने वाले व्यक्ति की बात ऐसे करती है जैसे कि वह व्यक्ति किसी पथ या ""मत"" पर चल रहा था। यदि यह सच है, तो विश्वासियों ने परमेश्वर को प्रसन्न करने के तरीके से जीने के द्वारा ""परमेश्वर के पथ का अनुसरण किया""।

""दमिश्क के आराधनालयों के लिए चिट्ठियाँ""

जिन ""चिट्ठियों"" को पौलुस माँगा था वे सम्भवतः कानूनी दस्तावेज थे, जिन्होंने उसे मसीहियों को जेल में डाल देने की अनुमति दी थी। दमिश्क में आराधनालयों के अगुवों को इस चिट्ठी का पालन करना होगा, क्योंकि इन्हें महायाजक ने लिखा था। यदि रोमियों ने इन चिट्ठियों को देखा था, तो उन्होंने भी शाऊल को मसीहियों पर अत्याचार करने की अनुमति दी होगी, क्योंकि उन्होंने यहूदियों को उन लोगों के साथ जैसा वे चाहें वैसा करने की अनुमति दी थी, जिन्होंने उनकी धार्मिक व्यवस्था को तोड़ा था।

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

जब शाऊल ने यीशु से मुलाकात की तो उसने क्या देखा

यह स्पष्ट है कि शाऊल ने एक प्रकाश देखा और यह इस प्रकाश के कारण था कि वह ""भूमि पर गिर गया।"" कुछ लोग सोचते हैं कि किसी मानवीय रूप को देखे बिना शाऊल जानता था कि परमेश्वर ने उससे बात की थी, क्योंकि बाइबल अक्सर परमेश्वर को प्रकाश के रूप में और प्रकाश में रहने के रूप में बोलती है। अन्य लोग सोचते हैं कि बाद में पौलुस अपने जीवन में यह कहने में सक्षम था, ""मैंने प्रभु यीशु को देखा है"" क्योंकि यह एक मानवीय रूप था जिसे उसने यहाँ देखा था।

Acts 9:1

ये वचन हमें बताते हुए पृष्ठभूमि की जानकारी देते हैं कि शाऊल स्तिफनुस को पत्थरवाह करने के बाद से क्या कर रहा है। यहाँ ""उससे"" शब्द महायाजक को सन्दर्भित करता है और ""वह"" शाऊल को सन्दर्भित करता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

कहानी वापस शाऊल और उसके उद्धार में बदल जाती है।

ἔτι ἐμπνέων ἀπειλῆς καὶ φόνου εἰς τοὺς μαθητὰς

हत्या"" संज्ञा का अनुवाद क्रिया के रूप में किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अभी भी चेलों को धमकाने, यहाँ तक कि उनकी हत्या करने के लिए भी बोल रहा है"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Acts 9:2

πρὸς τὰς συναγωγάς

यह आराधनालयों के लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""आराधनालयों के लोगों के लिए"" या ""आराधनालयों के अगुवों के लिए"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἐάν τινας εὕρῃ

जब वह किसी को पाए या ""यदि उसे कोई मिले

τῆς ὁδοῦ, ὄντας

जिन्होंने यीशु मसीह की शिक्षाओं का पालन किया

τῆς ὁδοῦ

यह परिस्थिति उस समय मसीही धर्म के लिए एक शीर्षक रही प्रतीत होती है।

δεδεμένους ἀγάγῃ εἰς Ἰερουσαλήμ

वह उन्हें यरूशलेम में कैदियों के रूप में ले जा सकता था। पौलुस के उद्देश्य को यह जोड़कर स्पष्ट किया जा सकता है ""ताकि यहूदी अगुवे उनका न्याय कर सकें और उन्हें दण्डित कर सकें"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 9:3

महायाजक के द्वारा शाऊल को चिट्ठी दिए जाने के बाद, शाऊल दमिश्क के लिए चला गया।

ἐν…τῷ πορεύεσθαι

शाऊल ने यरूशलेम छोड़ दिया और अब दमिश्क की यात्रा करता है।

ἐγένετο

यह एक अभिव्यक्ति है जो यह दिखाने के लिए कहानी में बदलाव को चिन्हित करती है कि कुछ अलग होने वाला है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

τε αὐτὸν περιήστραψεν φῶς ἐκ τοῦ οὐρανοῦ

स्वर्ग से एक प्रकाश उसके चारों ओर चमका

ἐκ τοῦ οὐρανοῦ

सम्भावित अर्थ हैं 1) स्वर्ग, जहाँ परमेश्वर रहता है या 2) आकाश। पहला अर्थ सर्वोत्तम है। उस अर्थ का प्रयोग करें यदि आपकी भाषा में इसके लिए एक अलग शब्द है।

Acts 9:4

πεσὼν ἐπὶ τὴν γῆν

सम्भावित अर्थ हैं कि 1) ""शाऊल ने स्वयं को भूमि पर गिरा दिया"" या 2) ""प्रकाश ने उसे भूमि पर गिरा दिया"" या 3) ""शाऊल इस तरह से भूमि पर गिरा था, जैसे कोई बेहोश होकर गिरा था।"" शाऊल अकस्मात नहीं गिरा था।

τί με διώκεις

यह अलंकारिक प्रश्न शाऊल को एक डाँट पहुँचाता है। कुछ भाषाओं में एक कथन अधिक स्वभाविक होगा (वैकल्पिक अनुवाद): ""तू मुझे सता रहा है!"" या एक आदेश (वैकल्पिक अनुवाद): ""मुझे सताना बन्द करो!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Acts 9:5

यहाँ आया हुआ प्रत्येक ""तू"" शब्द एकवचन है।

τίς εἶ, κύριε

शाऊल यह स्वीकार नहीं कर रहा था कि यीशु प्रभु है। वह उस शीर्षक का उपयोग इसलिए करता है क्योंकि वह समझ गया था कि उसने किसी अलौकिक सामर्थ्य वाले के साथ बात की थी।

Acts 9:6

ἀλλὰ ἀνάστηθι καὶ εἴσελθε εἰς τὴν πόλιν

उठ और दमिश्क शहर में जा

λαληθήσεταί σοι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कोई तुझे बताएगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 9:7

ἀκούοντες μὲν τῆς φωνῆς, μηδένα δὲ θεωροῦντες

उन्होंने आवाज सुनी, परन्तु उन्होंने किसी को नहीं देखा

μηδένα δὲ θεωροῦντες

परन्तु किसी को नहीं देखा। स्पष्ट रूप से केवल शाऊल ने ही प्रकाश का अनुभव किया था।

Acts 9:8

ἀνεῳγμένων…τῶν ὀφθαλμῶν αὐτοῦ

इसका तात्पर्य है कि उसने अपनी आँखें बन्द कर ली थीं क्योंकि प्रकाश बहुत ही उज्ज्वल था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

οὐδὲν ἔβλεπεν

वह कुछ भी नहीं देख सका। शाऊल अन्धा हो गया था।

Acts 9:9

ἦν…μὴ βλέπων

अन्धा था या ""कुछ भी नहीं देख सकता था

οὐκ ἔφαγεν οὐδὲ ἔπιεν

यह नहीं कहा गया है कि उसने आराधना के भाव में नहीं खाने या पीने का निर्णय किया है, या उसे भूख नहीं थी क्योंकि वह अपनी अवस्था से बहुत अधिक परेशान था। कारण को निर्दिष्ट नहीं करना सर्वोत्तम है।

Acts 9:10

शाऊल की कहानी आगे बढ़ती है परन्तु लूका हनन्याह नाम के एक और व्यक्ति को प्रस्तुत करता है। यह वह हनन्याह नहीं है, जो पहले प्रेरितों के काम 5:3 में मर गया था। आप इस नाम का अनुवाद उसी तरह कर सकते हैं जैसे आपने प्रेरितों के काम 5:1 में किया था। यद्यपि नए नियम में एक से अधिक यहूदा वर्णित हैं, परन्तु सम्भव है कि यह इस यहूदा की एकमात्र उपस्थिति है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

ἦν δέ

यह हनन्याह को एक नए चरित्र के रूप में प्रस्तुत करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ὁ…εἶπεν

हनन्याह ने कहा

Acts 9:11

πορεύθητι ἐπὶ τὴν ῥύμην τὴν καλουμένην Εὐθεῖαν

सीधी गली में जा

οἰκίᾳ Ἰούδα

यह यहूदा वह चेला नहीं है, जिसने यीशु को पकड़वा दिया था। यह यहूदा दमिश्क में एक घर का मालिक था, जहाँ शाऊल रह रहा था।

Σαῦλον ὀνόματι Ταρσέα

तरसुस शहर का एक व्यक्ति शाऊल या ""तरसुस का शाऊल

Acts 9:12

ἐπιθέντα αὐτῷ χεῖρας

यह शाऊल को आत्मिक आशीष देने का प्रतीक था। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

ἀναβλέψῃ

वह उसके देखने की क्षमता को वापस पा सकता है

Acts 9:13

ἁγίοις σου

यहाँ ""पवित्र लोग"" मसीहियों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यरूशलेम में रहने वाले लोग जो तुझ पर विश्वास करते हैं

Acts 9:14

ὧδε…ἐξουσίαν…δῆσαι πάντας

यह निहित है कि इस समय तक शाऊल को दी गई सामर्थ्य और अधिकार की सीमा यहूदी लोगों तक ही सीमित थी। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

τοὺς ἐπικαλουμένους τὸ ὄνομά σου

यहाँ ""तेरा नाम"" यीशु को सन्दर्भित करता है। (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 9:15

σκεῦος ἐκλογῆς ἐστίν μοι οὗτος

चुना गया पात्र उस वस्तु को सन्दर्भित करता है, जिसे सेवा के लिए अलग किया गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैंने उसे मेरी सेवा करने के लिए चुन लिया है"" (देखें: लक्षणालंकार)

τοῦ βαστάσαι τὸ ὄνομά μου

यह यीशु को पहचानने या उसके लिए बोलने की अभिव्यक्ति है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ताकि वह मेरे बारे में बात कर सके"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 9:16

ὑπὲρ τοῦ ὀνόματός μου

यह एक अभिव्यक्ति है जिसका अर्थ है ""मेरे बारे में लोगों को बताने के लिए।"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 9:17

यहाँ ""तू"" शब्द एकवचन है और शाऊल को सन्दर्भित करता है। (देखें: तुम के प्रारूप)

हनन्याह उस घर को जाता है, जहाँ शाऊल रह रहा है। शाऊल के ठीक होने के बाद, कहानी हनन्याह से वापस शाऊल की ओर चली जाती है।

ἀπῆλθεν δὲ Ἁνανίας καὶ εἰσῆλθεν εἰς τὴν οἰκίαν

यह बताना सहायक हो सकता है कि उस घर में प्रवेश करने से पहले हनन्याह उस घर को गया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसलिए हनन्याह गया, और उस घर के मिल जाने के बाद, जहाँ शाऊल था, उसने उसमें प्रवेश किया

ἐπιθεὶς ἐπ’ αὐτὸν τὰς χεῖρας

हनन्याह ने शाऊल पर अपने हाथ रखे। यह शाऊल को आशीष देने का प्रतीक था। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

ὅπως ἀναβλέψῃς καὶ πλησθῇς Πνεύματος Ἁγίου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझे भेजा है ताकि तू फिर से देख सके और पवित्र आत्मा तुझे भर सके"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 9:18

ἀπέπεσαν…ὡς λεπίδες

आँखों से छिलके की तरह दिखाई देने वाला कुछ गिरा

ἀνέβλεψέν

वह फिर से देखने में सक्षम था

ἀναστὰς ἐβαπτίσθη

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह उठा और हनन्याह ने उसे बपतिस्मा दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 9:20

यहाँ केवल दूसरा ""वह"" परमेश्वर के पुत्र, यीशु को सन्दर्भित करता है। पहला ""वह"" और दूसरे वाले शाऊल को सन्दर्भित करते हैं।

Υἱὸς τοῦ Θεοῦ

यह मसीह के लिए एक महत्वपूर्ण उपाधि है. (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

Acts 9:21

πάντες οἱ ἀκούοντες

सब"" शब्द एक सामान्यकरण है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिन्होंने उसे सुना था"" या ""बहुत से जिन्होंने उसे सुना था"" (देखें: अतिशयोक्ति)

οὐχ οὗτός ἐστιν ὁ πορθήσας ἐν Ἰερουσαλὴμ τοὺς ἐπικαλουμένους τὸ ὄνομα τοῦτο

यह एक अलंकारिक और नकारात्मक प्रश्न है, जो जोर देता है कि शाऊल वास्तव में वह व्यक्ति था, जिसने विश्वासियों को सताया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""यही वह व्यक्ति है जिसने यरूशलेम में उन लोगों को नष्ट कर दिया जो इस नाम यीशु को लेते थे!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

τὸ ὄνομα τοῦτο

यहाँ ""नाम"" यीशु को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु का नाम"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 9:22

συνέχυννεν τοὺς Ἰουδαίους

वे इस विचार में परेशान थे कि उन्हें शाऊल के तर्कों का खण्डन करने का कोई तरीका नहीं मिला कि यीशु मसीह था।

Acts 9:23

इस खंड में ""उसको"" शब्द शाऊल को सन्दर्भित करता है।

οἱ Ἰουδαῖοι

यह यहूदियों के अगुवों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यहूदी अगुवे"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 9:24

ἐγνώσθη δὲ τῷ Σαύλῳ ἡ ἐπιβουλὴ αὐτῶν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु किसी ने शाऊल को उनकी योजना बता दी"" या ""परन्तु शाऊल ने उनकी योजना के बारे में जान लिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

παρετηροῦντο…καὶ τὰς πύλας

इस शहर के चारों ओर एक दीवार थी। लोग सामान्य रूप से फाटकों के माध्यम से शहर में प्रवेश कर सकते हैं और बाहर निकल सकते हैं।

Acts 9:25

οἱ μαθηταὶ αὐτοῦ

वे लोग जिन्होंने यीशु के बारे में शाऊल के सन्देश पर विश्वास किया था और उसकी शिक्षा का पालन कर रहे थे

διὰ τοῦ τείχους, καθῆκαν αὐτὸν, χαλάσαντες ἐν σπυρίδι

दीवार के एक झरोखे से उसे एक बड़ी टोकरी में रस्सियों का उपयोग करते हुए नीचे उतार दिया

Acts 9:26

यहाँ ""वह"" और ""उसे"" शब्द सब शाऊल को परन्तु एक बार सन्दर्भित करते हैं। वचन 27 में ""और 'उसने' उसे बताया कि कैसे"" बरनबास को सन्दर्भित करता है।

καὶ πάντες ἐφοβοῦντο αὐτόν

यहाँ ""वे सब डरते थे"" एक सामान्यकरण है, परन्तु यह सम्भव है कि यह हर व्यक्ति को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु वे उससे डरते थे"" (देखें: अतिशयोक्ति)

Acts 9:27

ἐπαρρησιάσατο ἐν τῷ ὀνόματι τοῦ Ἰησοῦ

यह कहने का एक तरीका है कि उसने बिना डर के यीशु मसीह के सुसमाचार सन्देश का प्रचार किया या सिखाया। वैकल्पिक अनुवाद: ""खुले रूप से यीशु के बारे में सन्देश का प्रचार किया था"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 9:28

ἦν μετ’ αὐτῶν

यहाँ ""वह"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करता है। ""उन्हें"" शब्द सम्भवतः यरूशलेम में प्रेरितों और अन्य चेलों को सन्दर्भित करता है।

ἐν τῷ ὀνόματι τοῦ Κυρίου

सम्भावित अर्थ हैं 1) यह सामान्य रूप से प्रभु यीशु को सन्दर्भित करता है और बताता है कि पौलुस ने किसके बारे में बात की थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रभु यीशु के बारे में"" या 2) ""नाम"" अधिकार के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रभु यीशु के अधिकार के अधीन"" या ""उस अधिकार से जो प्रभु यीशु ने उसे दिया था"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 9:29

συνεζήτει πρὸς τοὺς Ἑλληνιστάς

शाऊल ने यूनानी बोलने वाले यहूदियों के साथ तर्क करने की प्रयास किया।

Acts 9:30

οἱ ἀδελφοὶ

भाई"" शब्द यरूशलेम में विश्वासियों को सन्दर्भित करता है।

κατήγαγον αὐτὸν εἰς Καισάρειαν

में उसे ले आए"" वाक्यांश का यहाँ प्रयोग इसलिए किया गया है, क्योंकि यरूशलेम की तुलना में कैसरिया नीचे है।

ἐξαπέστειλαν αὐτὸν εἰς Ταρσόν

कैसरिया एक बन्दरगाह था। उन भाइयों ने सम्भवतः शाऊल को जहाज से तरसुस भेज दिया। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 9:31

वचन 31 एक कथन है, जो कलीसिया की बढ़ौत्तरी की जानकारी देता है।

वचन 32 में, यह कहानी शाऊल से पतरस के बारे में कहानी के एक नए हिस्से की ओर मुड़ जाती है।

ἡ…ἐκκλησία καθ’ ὅλης τῆς Ἰουδαίας, καὶ Γαλιλαίας, καὶ Σαμαρείας

यह एक से अधिक स्थानीय मंडली को सन्दर्भित करने के लिए एकवचन ""कलीसिया"" का पहला उपयोग है। यहाँ यह पूरे इस्राएल के सभी समूहों के सभी विश्वासियों को सन्दर्भित करता है।

εἶχεν εἰρήνην

शान्तिपूर्वक रहते थे। इसका अर्थ है कि स्तिफनुस की हत्या के साथ आरम्भ हुआ सताव समाप्त हो गया था।

οἰκοδομουμένη

वह प्रतिनिधि या तो परमेश्वर था या पवित्र आत्मा था। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उन्हें बढ़ने में सहायता की"" या ""पवित्र आत्मा ने उन्हें निर्मित किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πορευομένη τῷ φόβῳ τοῦ Κυρίου

यहाँ चलना ""जीवित"" के लिए एक रूपक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर की आज्ञाकारिता में जीना"" या ""परमेश्वर का सम्मान करते रहना"" (देखें: रूपक)

τῇ παρακλήσει τοῦ Ἁγίου Πνεύματος

पवित्र आत्मा के उन्हें दृढ़ करने और प्रोत्साहित करने के द्वारा

Acts 9:32

ἐγένετο δὲ

इस वाक्यांश का उपयोग कहानी के एक नए हिस्से को चिन्हित करने के लिए किया गया है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

διὰ πάντων

यह पतरस का यहूदिया, गलील और सामरिया क्षेत्र के कई स्थानों पर विश्वासियों से मुलाकात करने के लिए एक सामान्यकरण है। (देखें: अतिशयोक्ति)

κατελθεῖν

पास भी पहुँचा"" वाक्यांश का प्रयोग यहाँ इसलिए किया गया है, क्योंकि लुद्दा उन अन्य स्थानों की तुलना में नीचे है, जहाँ वह यात्रा कर रहा था।

Λύδδα

लुद्दा एक शहर है जो याफा के लगभग 18 किलोमीटर दक्षिण पूर्व में स्थित है। इस शहर को पुराने नियम और आधुनिक इस्राएल में लूद कहा जाता था।

Acts 9:33

εὗρεν…ἐκεῖ ἄνθρωπόν τινα

पतरस जानबूझकर एक लकवाग्रस्त व्यक्ति की खोज नहीं कर रहा था, परन्तु ऐसा उसके साथ हुआ था। वैकल्पिक अनुवाद: ""वहाँ पतरस एक व्यक्ति से मिला

ἄνθρωπόν τινα ὀνόματι Αἰνέαν

यह ऐनियास को कहानी में एक नए चरित्र के रूप में प्रस्तुत करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

κατακείμενον ἐπὶ κραβάττου, ὃς ἦν παραλελυμένος

यह ऐनियास के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

παραλελυμένος

चलने में असमर्थ, सम्भवतः कमर के नीचे हिलने में असमर्थ था

Acts 9:34

στρῶσον σεαυτῷ

अपनी चटाई को लपेट ले

Acts 9:35

πάντες οἱ κατοικοῦντες Λύδδα καὶ τὸν Σαρῶνα

यह एक सामान्यकरण है, जो वहाँ पर कई लोगों को सन्दर्भित कर रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे लोग जो लुद्दा और शारोन में रहते थे"" या ""बहुत से लोग जो लोग लुद्दा और शारोन में रहते थे"" (देखें: अतिशयोक्ति)

Λύδδα καὶ τὸν Σαρῶνα

लुद्दा शहर शारोन के मैदान में स्थित था।

εἶδαν αὐτὸν

यह कहना सहायक हो सकता है कि उन्होंने देखा कि वह ठीक हो गया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उस व्यक्ति को देखा जिसे पतरस ने ठीक किया था

οἵτινες ἐπέστρεψαν ἐπὶ τὸν Κύριον

यहाँ ""प्रभु की ओर फिरे"" प्रभु की आज्ञा मानना आरम्भ करने के लिए एक रूपक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""और उन्होंने अपने पापों का पश्चाताप किया और प्रभु की आज्ञा मानना आरम्भ किया"" (देखें: रूपक)

Acts 9:36

ये वचन तबीता नाम की स्त्री के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देते हैं। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

लूका पतरस के बारे में एक नई घटना के साथ कहानी को जारी रखता है।

δέ…ἦν

यह कहानी में एक नया हिस्सा प्रस्तुत करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

Ταβειθά, ἣ διερμηνευομένη λέγεται, Δορκάς

अरामी भाषा में उसका नाम तबीता है, और यूनानी भाषा में उसका नाम दोरकास है। दोनों नामों का अर्थ ""छोटा सुंदर हिरण"" है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यूनानी भाषा में उसका नाम दोरकास था"" (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

πλήρης ἔργων ἀγαθῶν

कई अच्छे काम कर रही थी

Acts 9:37

ἐγένετο δὲ ἐν ταῖς ἡμέραις ἐκείναις

यह उस समय को सन्दर्भित करता है, जब पतरस याफा में था। यह कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह तब हुआ जब पतरस निकट ही था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

λούσαντες…αὐτὴν

यह उसे गाड़ने को तैयार करने के लिए नहलाना था।

ἔθηκαν ἐν ὑπερῴῳ

अन्तिम संस्कार प्रक्रिया के समय यह शरीर का एक अस्थायी प्रदर्शन था।

Acts 9:38

ἀπέστειλαν δύο ἄνδρας πρὸς αὐτὸν

चेलों ने पतरस के पास दो पुरुष भेजे

Acts 9:39

εἰς τὸ ὑπερῷον

सीढ़ियों से ऊपर के कमरे में जहाँ दोरकास का शरीर रखा हुआ था

πᾶσαι αἱ χῆραι

यह सम्भव है कि उस शहर की सभी विधवाएँ वहाँ थीं, क्योंकि यह एक बड़ा शहर नहीं था।

χῆραι

वे स्त्रियाँ जिनके पतियों की मृत्यु हो गई थी और इसलिए उन्हें सहायता की आवश्यकता थी

μετ’ αὐτῶν οὖσα

जिस समय वह चेलों के साथ जीवित थी

Acts 9:40

तबीता की कहानी वचन 42 में समाप्त होती है। वचन 43 हमें बताता है कि कहानी समाप्त होने के बाद पतरस के साथ क्या होता है। (देखें: कहानी का अंत)

ἐκβαλὼν…ἔξω πάντας

उन सभी को कमरे चले जाने के लिए बोला। पतरस ने सभी को बाहर कर दिया था ताकि वह तबीता के लिए प्रार्थना करने के लिए अकेला हो सके।

Acts 9:41

δοὺς…αὐτῇ χεῖρα, ἀνέστησεν αὐτήν

पतरस ने उसके हाथ को पकड़ लिया और उसे खड़े होने में सहायता की।

τοὺς ἁγίους καὶ τὰς χήρα

वे विधवाएँ सम्भवतः विश्वासिनी भी थीं, परन्तु विशेष रूप से उल्लेख किया गया है, क्योंकि तबीता उनके लिए बहुत महत्वपूर्ण थीं।

Acts 9:42

γνωστὸν δὲ ἐγένετο καθ’ ὅλης τῆς Ἰόππη

यह पतरस के द्वारा मृतकों में से तबीता को जिलाने के आश्चर्यकर्म को सन्दर्भित करता है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सम्पूर्ण याफा के लोगों ने इस बात के बारे में सुना"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐπίστευσαν…ἐπὶ τὸν Κύριον

प्रभु यीशु के सुसमाचार पर विश्वास किया

Acts 9:43

ἐγένετο

यह उसके बारे में आया है। इस कहानी में अगली घटना के आरम्भ के में प्रस्तुत करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

Σίμωνι, βυρσεῖ

शमौन नाम का एक व्यक्ति जो जानवर की खालों से चमड़ा बनाता था

Acts 10

प्रेरितों के काम 10 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

अशुद्ध

यहूदियों का मानना ​​था कि यदि वे एक अन्यजाति के साथ मिले या उसके साथ भोजन खाया तो वे परमेश्वर की दृष्टि में अशुद्ध हो सकते हैं। ऐसा इसलिए था क्योंकि फरीसियों ने इसके विरूद्ध एक नियम बना दिया था, क्योंकि वे लोगों को उन खाद्य पदार्थों को खाने से रोकना चाहते थे जिनको मूसा की व्यवस्था ने अशुद्ध कहा था। मूसा की व्यवस्था ने कहा था कि कुछ खाद्य पदार्थ अशुद्ध थे, परन्तु इसने यह नहीं कहा था कि परमेश्वर के लोग अन्यजातियों के साथ नहीं मिल सकते थे या उनके साथ नहीं खा सकते थे। (देखें: शुद्ध, शुद्ध करेगा, शुद्ध किया, शुद्ध करना, शुद्ध, शुद्ध होने, धुलाई, धुलाई, धोया, धोया और व्यवस्था, मूसा की व्यवस्था, परमेश्वर की व्यवस्था, यहोवा की व्यवस्था)

बपतिस्मा और पवित्र आत्मा

पवित्र आत्मा उन पर ""उतर आया"" जो पतरस को सुन रहे थे। इसने यहूदी विश्वासियों को दिखाया कि अन्यजाति परमेश्वर का वचन प्राप्त कर सकते हैं और यहूदी विश्वासियों के समान ही पवित्र आत्मा प्राप्त कर सकते हैं। इसके बाद, अन्यजातियों को बपतिस्मा दिया गया था।

Acts 10:1

ये वचन कुरनेलियुस के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देते हैं। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

यह कुरनेलियुस के बारे में कहानी के हिस्से का आरम्भ है।

ἀνὴρ δέ τις

यह ऐतिहासिक विवरण के इस हिस्से में एक नए व्यक्ति को प्रस्तुत करने का एक तरीका था। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ὀνόματι Κορνήλιος, ἑκατοντάρχης ἐκ Σπείρης τῆς καλουμένης Ἰταλικῆς

उसका नाम कुरनेलियुस था। वह रोमी सेना के इतालियानी खण्ड के 100 सैनिकों का प्रभारी अधिकारी था।

Acts 10:2

εὐσεβὴς καὶ φοβούμενος τὸν Θεὸν

वह परमेश्वर में विश्वास करता था और अपने जीवन में परमेश्वर की आराधना और आदर करने की चाहत रखता था

φοβούμενος τὸν Θεὸν

यहाँ ""डरता था"" के लिए दिए गए शब्द में गहरे सम्मान और भय का विचार है।

δεόμενος τοῦ Θεοῦ διὰ παντός

बराबर"" एक सामान्यकरण है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने परमेश्वर से बहुत प्रार्थना की"" या ""उसने नियमित रूप से परमेश्वर से प्रार्थना की"" (देखें: अतिशयोक्ति)

Acts 10:3

ὥραν ἐνάτην

दोपहर में तीन बजे। यहूदियों के लिए यह दोपहर की प्रार्थना का सामान्य समय है।

εἶδεν…φανερῶς

कुरनेलियुस ने स्पष्ट रूप से देखा

Acts 10:4

αἱ προσευχαί σου, καὶ αἱ ἐλεημοσύναι σου, ἀνέβησαν εἰς μνημόσυνον ἔμπροσθεν τοῦ Θεοῦ

यह निहित है कि परमेश्वर द्वारा उसके उपहार और प्रार्थनाएँ स्वीकार की गई थीं। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर तेरी प्रार्थनाओं और तेरे उपहारों से प्रसन्न है ... एक स्मारक भेंट के रूप में उसके सामने"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 10:6

βυρσεῖ

एक व्यक्ति जो पशु की खालों से चमड़ा बनाता है

Acts 10:7

ὡς δὲ ἀπῆλθεν ὁ ἄγγελος ὁ λαλῶν αὐτῷ

जब कुरनेलियुस का स्वर्गदूत का दर्शन समाप्त हो गया था।

στρατιώτην εὐσεβῆ τῶν προσκαρτερούντων αὐτῷ

उन सैनिकों में से एक जिन्होंने उसकी सेवा की थी, उन्होंने भी परमेश्वर की आराधना की थी। इस सैनिक ने परमेश्वर की आराधना की थी। रोमी सेना में यह दुर्लभ था, इसलिए कुरनेलियुस के अन्य सैनिकों ने सम्भवतः परमेश्वर की आराधना नहीं की थी।

εὐσεβῆ

एक ऐसे व्यक्ति का वर्णन करने के लिए एक विशेषण जिसने परमेश्वर की आराधना की थी और उसकी सेवा की थी।

Acts 10:8

ἐξηγησάμενος ἅπαντα αὐτοῖς

कुरनेलियुस ने अपने दो सेवकों और अपने सैनिकों में से एक को अपना दर्शन बताया।

ἀπέστειλεν αὐτοὺς εἰς τὴν Ἰόππην

अपने दो सेवकों को और एक सैनिक को याफा भेजा।

Acts 10:9

यहाँ ""वे"" शब्द कुरनेलियुस के दो सेवकों और कुरनेलियुस के आदेश के अधीन सैनिक (प्रेरितों के काम 10:7) को सन्दर्भित करता है)।

यह कहानी हमें यह बताने के लिए कुरनेलियुस से पतरस की ओर मुड़ जाती है कि परमेश्वर उसके साथ क्या कर रहा है।

περὶ ὥραν ἕκτην

दोपहर के आसपास

ἀνέβη…ἐπὶ τὸ δῶμα

उन घरों की छतें समतल थीं, और लोग अक्सर उन पर कई अलग-अलग गतिविधियाँ किया करते थे।

Acts 10:10

παρασκευαζόντων…αὐτῶν

लोगों के खाना पकाना समाप्त करने से पहले

ἐγένετο ἐπ’ αὐτὸν ἔκστασις

परमेश्वर ने उसे एक दर्शन दिया या ""उसने एक दर्शन देखा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 10:11

θεωρεῖ τὸν οὐρανὸν ἀνεῳγμένον

यह पतरस के दर्शन का आरम्भ था। यह एक नया वाक्य हो सकता है।

ὡς ὀθόνην μεγάλην, τέσσαρσιν ἀρχαῖς

वह पात्र जिसमें जानवर थे उसकी बनावट एक बड़े चौकोर कपड़े के टुकड़े के समान थी।

τέσσαρσιν ἀρχαῖς καθιέμενον

इसके चार कोनों से लटकाया हुआ या ""इसके चार कोनों को इसके बाकी हिस्से से ऊँचा किया हुआ

Acts 10:12

πάντα τὰ τετράποδα, καὶ ἑρπετὰ τῆς γῆς, καὶ πετεινὰ τοῦ οὐρανοῦ

अगले वचन में पतरस की प्रतिक्रिया से, यह बताया जा सकता है कि मूसा के व्यवस्था ने यहूदियों को आदेश दिया था कि उनमें से कुछ को न खाएँ। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे जानवर और पक्षी जिनको मूसा की व्यवस्था ने यहूदियों को खाने से मना किया हुआ था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 10:13

ἐγένετο φωνὴ πρὸς αὐτόν

बोलने वाला व्यक्ति निर्दिष्ट नहीं है। यह ""वाणी"" सम्भवतः परमेश्वर ही था, यद्यपि यह सम्भवतः परमेश्वर की ओर से एक स्वर्गदूत हो सकता था। (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 10:14

μηδαμῶς

मैं ऐसा नहीं करूँगा

οὐδέποτε ἔφαγον πᾶν κοινὸν καὶ ἀκάθαρτον

यह निहित है कि पात्र में कुछ जानवर अशुद्ध थे जैसा कि मूसा के नियम द्वारा परिभाषित किया गया था और मसीह की मृत्यु से पहले रहने वाले विश्वासियों द्वारा खाए नहीं गए थे। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 10:15

ἃ ὁ Θεὸς ἐκαθάρισεν

यदि बोलने वाला परमेश्वर ही है, तो वह स्वयं को तीसरे व्यक्ति में सन्दर्भित कर रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिसे मैं, परमेश्वर, ने शुद्ध किया है"" (देखें: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

Acts 10:16

τοῦτο…ἐγένετο ἐπὶ τρίς

यह सम्भावना नहीं है कि पतरस ने जो कुछ भी देखा वह तीन बार हुआ था। इसका सम्भवतः अर्थ है कि यह वाक्यांश, ""जो कुछ परमेश्वर ने शुद्ध ठहराया है, उसे अशुद्ध मत कह,"" तीन बार दोहराया गया था। यद्यपि, विस्तार से व्याख्या करने का प्रयास करने की अपेक्षा सामान्य रूप से ""यह तीन बार हुआ"" कहना उत्तम हो सकता है।

Acts 10:17

διηπόρει ὁ Πέτρος

इसका अर्थ है कि पतरस को समझने में कठिनाई हो रही थी कि दर्शन का अर्थ क्या था।

ἰδοὺ

देख"" शब्द यहाँ हमें इस मामले में आने वाली आश्चर्यजनक जानकारी पर ध्यान देने के लिए सचेत करता है कि द्वार पर खड़े दो पुरुष खड़े हैं।

ἐπέστησαν ἐπὶ τὸν πυλῶνα

घर के द्वार के सामने खड़े थे। यह निहित है कि सम्पत्ति में प्रवेश करने के लिए इस घर में एक द्वार वाली एक दीवार थी। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

διερωτήσαντες τὴν οἰκίαν

यह उनके उस घर पहुँचने से पहले हुआ था। इसे पहले वचन में कहा जा सकता है, जैसा यूएसटी करता है।

Acts 10:18

φωνήσαντες

पतरस के बारे में पूछते समय कुरनेलियुस के पुरुष द्वार के बाहर ही रहे।

Acts 10:19

διενθυμουμένου περὶ τοῦ ὁράματος

दर्शन के अर्थ के बारे में सोच रहा है

τὸ Πνεῦμα

पवित्र आत्मा

ἰδοὺ

ध्यान दो, क्योंकि जो मैं कहने वाला हूँ वह सत्य और महत्वपूर्ण दोनों है: तीन

ἄνδρες τρεῖς ζητοῦσιν σε

कुछ प्राचीन ग्रंथों में पुरुषों की एक भिन्न संख्या पाई जाती है। (देखें: लेखों के भेद)

Acts 10:20

κατάβηθι

घर की छत से नीचे जा

πορεύου σὺν αὐτοῖς, μηδὲν διακρινόμενος

पतरस के लिए यह स्वाभाविक होगा कि वह उनके साथ न जाना चाहे, क्योंकि वे अजनबी थे और वे अन्यजाति थे।

Acts 10:21

ἐγώ εἰμι ὃν ζητεῖτε

मैं ही वह व्यक्ति हूँ, जिसे तुम ढूँढ रहे हो

Acts 10:22

उन्होंने"" और ""उन्हें"" शब्द यहाँ कुरनेलियुस के दो सेवकों और सैनिक (प्रेरितों के काम 10:7) का उल्लेख करते हैं।

Κορνήλιος, ἑκατοντάρχης ἀνὴρ δίκαιος, καὶ φοβούμενος τὸν Θεὸν, μαρτυρούμενός τε ὑπὸ ὅλου τοῦ ἔθνους τῶν Ἰουδαίων, ἐχρηματίσθη ὑπὸ ἀγγέλου ἁγίου, μεταπέμψασθαί σε εἰς τὸν οἶκον αὐτοῦ, καὶ ἀκοῦσαι ῥήματα παρὰ σοῦ

इसे कई वाक्यों में विभाजित किया जा सकता है और सक्रिय रूप में कहा जा सकता है जैसा यूएसटी करता है। (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

φοβούμενος τὸν Θεὸν

यहाँ ""डरनेवाला"" के लिए दिए गए शब्द में गहरे सम्मान और भय का विचार है।

ὅλου τοῦ ἔθνους τῶν Ἰουδαίων

यहूदियों के बीच वह कितना प्रसिद्ध था, इस पर जोर देने के लिए लोगों की संख्या को ""सारी"" शब्द से बढ़ा चढ़ा कर बोला गया है। (देखें: अतिशयोक्ति)

Acts 10:23

εἰσκαλεσάμενος οὖν αὐτοὺς ἐξένισεν

उस दोपहर में कैसरिया की यात्रा आरम्भ करना उनके लिए बहुत लम्बी थी।

ἐξένισεν

उसके मेहमान बनो

τινες τῶν ἀδελφῶν τῶν ἀπὸ Ἰόππης

यह उन विश्वासियों को सन्दर्भित करता है, जो याफा में रहते थे।

Acts 10:24

τῇ…ἐπαύριον

उनके याफा छोड़ने के बाद यह अगला दिन था। कैसरिया की यात्रा ने एक दिन से अधिक समय लिया था।

ὁ δὲ Κορνήλιος ἦν προσδοκῶν αὐτοὺς

कुरनेलियुस ने उनसे अपेक्षा की

Acts 10:25

ὡς…τοῦ εἰσελθεῖν τὸν Πέτρον

जब पतरस घर में प्रवेश किया

πεσὼν ἐπὶ τοὺς πόδας, προσεκύνησεν

उसने घुटने टेक दिए और अपना मुँह को पतरस के पैरों के निकट रख दिया। उसने पतरस का सम्मान करने के लिए ऐसा किया। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

πεσὼν

वह जानबूझकर यह दिखाने के लिए भूमि की ओर मुँह करके लेट जाता है कि वह आराधना कर रहा है।

Acts 10:26

ἀνάστηθι, καὶ ἐγὼ…ἄνθρωπός εἰμι

यह कुरनेलियुस को हल्की डाँट या सुधार था कि वह पतरस की आराधना न करे। वैकल्पिक अनुवाद: ""ऐसा करना बन्द करो! मैं तो केवल एक व्यक्ति हूँ, जैसा कि तुम हो

Acts 10:27

उसके"" शब्द यहाँ कुरनेलियुस को सन्दर्भित करता है। यहाँ ""तुम"" और ""तुमसे"" शब्द बहुवचन हैं और कुरनेलियुस के साथ-साथ वहाँ उपस्थित अन्यजाति भी इसमें सम्मिलित हैं। (देखें: तुम के प्रारूप)

पतरस उन लोगों को सम्बोधित करता है, जो कुरनेलियुस के घर में इकट्ठे हुए हैं।

συνεληλυθότας πολλούς

कई अन्यजाति लोग एक साथ इकट्ठे हुए। यह निहित है कि जिन लोगों को कुरनेलियुस ने आमंत्रित किया था वे अन्यजाति थे। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 10:28

ὑμεῖς ἐπίστασθε

पतरस कुरनेलियुस और उनके आमंत्रित अतिथियों को सम्बोधित कर रहा है।

ἀθέμιτόν ἐστιν ἀνδρὶ Ἰουδαίῳ

यह एक यहूदी व्यक्ति के लिए मना किया गया है। यह यहूदी धार्मिक व्यवस्था को सन्दर्भित करता है।

ἀλλοφύλῳ

यह उन लोगों को सन्दर्भित करता है, जो यहूदी नहीं थे और विशेष रूप से वहाँ से नहीं थे जहाँ वे रहते थे।

Acts 10:30

वचन 31 और 32 में कुरनेलियुस उद्धरित करता है कि जब नौवें घंटे में उसे स्वर्गदूत ने दर्शन दिया तो उसने उससे क्या कहा था। ""तूने"" और ""तेरे"" शब्द सभी एकवचन हैं। ""हम"" शब्द पतरस को सम्मिलित नहीं करता है। (देखें: तुम के प्रारूप और विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

कुरनेलियुस पतरस के प्रश्न का उत्तर देता है।

ἀπὸ τετάρτης ἡμέρας

कुरनेलियुस पतरस से बात करने से पहले तीसरी रात से पहले वाले दिन को उद्धरित कर रहा है। बाइबल की संस्कृति वर्तमान दिन की गणना करती है, इसलिए तीन रात पहले वाला दिन ""चार दिन पहले"" था। वर्तमान पश्चिमी संस्कृति वर्तमान दिन की गणना नहीं करती है, इसलिए कई पश्चिमी अनुवाद लिखते हैं, ""तीन दिन पहले।

προσευχόμενος

कुछ प्राचीन अधिकारियों ने सामान्य रूप से ""प्रार्थना"" की अपेक्षा ""उपवास और प्रार्थना"" कहा है। (देखें: लेखों के भेद)

τὴν ἐνάτην

सामान्य दोपहर का समय जब यहूदी परमेश्वर से प्रार्थना करते हैं।

Acts 10:31

εἰσηκούσθη σου ἡ προσευχὴ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने तेरी प्रार्थना सुन ली है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐμνήσθησαν ἐνώπιον τοῦ Θεοῦ

तुझे परमेश्वर के ध्यान में लाए। यह इस बात का तात्पर्य नहीं है कि परमेश्वर भूल गया था।

Acts 10:32

μετακάλεσαι Σίμωνα, ὃς ἐπικαλεῖται Πέτρος

शमौन को जिसे पतरस भी कहा जाता है तेरे पास आने के लिए कहो

Acts 10:33

ἐξαυτῆς

उसी समय

σύ τε καλῶς ἐποίησας παραγενόμενος

यह अभिव्यक्ति पतरस को आने के लिए धन्यवाद देने का एक विनम्र तरीका है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं निश्चित रूप से आने के लिए तेरा धन्यवाद देता हूँ

ἐνώπιον τοῦ Θεοῦ

यह परमेश्वर की उपस्थिति को सन्दर्भित करता है।

τὰ προστεταγμένα σοι ὑπὸ τοῦ Κυρίου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने तुझे जो कहने के लिए बताया है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 10:34

पतरस कुरनेलियुस के घर में हर एक से बात करना आरम्भ कर देता है।

ἀνοίξας δὲ Πέτρος τὸ στόμα εἶπεν

पतरस ने उनसे बात करना आरम्भ कर दिया

ἐπ’ ἀληθείας

इसका अर्थ है कि वह जो कहने वाला है, वह जानना विशेष रूप से महत्वपूर्ण है।

οὐκ ἔστιν προσωπολήμπτης ὁ Θεός

परमेश्वर कुछ निश्चित लोगों का पक्ष नहीं लेता है

Acts 10:35

ὁ φοβούμενος αὐτὸν καὶ ἐργαζόμενος δικαιοσύνην, δεκτὸς αὐτῷ ἐστιν

वह किसी को भी स्वीकार करता है, जो उससे डरता है और धार्मिक कार्यों को करता है

φοβούμενος

यहाँ दिए गए ""डरता है"" शब्द में गहरे सम्मान और भय का विचार है।

Acts 10:36

यहाँ ""उसे"" शब्द यीशु को सन्दर्भित करता है।

पतरस कुरनेलियुस और उसके मेहमानों से बात करना जारी रखता है।

οὗτός ἐστιν πάντων Κύριος

यहाँ ""सब का"" का अर्थ है ""सभी लोग।

Acts 10:37

καθ’ ὅλης τῆς Ἰουδαίας

सब"" शब्द एक सामान्यकरण है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पूरे यहूदिया में"" या ""यहूदिया के कई स्थानों में"" (देखें: अतिशयोक्ति)

μετὰ τὸ βάπτισμα ὃ ἐκήρυξεν Ἰωάννης

यूहन्ना के लोगों को पश्चाताप करने के लिए उपदेश देने और फिर उन्हें बपतिस्मा देने के बाद

Acts 10:38

Ἰησοῦν τὸν ἀπὸ Ναζαρέθ, ὡς ἔχρισεν αὐτὸν ὁ Θεὸς Πνεύματι Ἁγίῳ καὶ δυνάμει

इस लम्बे वाक्य को, जो वचन 36 में आरम्भ होता है, कई वाक्यों में छोटा किया जा सकता है जैसे यूएसटी में है। ""तुम जानते हो ... सब का। तुम स्वयं जानते हो ... प्रचार के बाद। तुम उन बातों को जानते हो ... सामर्थ्य के साथ

ἔχρισεν αὐτὸν ὁ Θεὸς Πνεύματι Ἁγίῳ καὶ δυνάμει

पवित्र आत्मा और परमेश्वर की सामर्थ्य इस तरह बोले गए हैं, जैसे कि वे कोई ऐसी चीज हैं, जो किसी व्यक्ति पर उण्डेली जा सकती हैं। (देखें: रूपक)

πάντας τοὺς καταδυναστευομένους ὑπὸ τοῦ διαβόλου

सब"" शब्द एक सामान्यकरण है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे जो शैतान द्वारा पीड़ित थे"" या ""बहुत से लोग जो शैतान द्वारा पीड़ित थे"" (देखें: अतिशयोक्ति)

ὁ Θεὸς ἦν μετ’ αὐτοῦ

उसके साथ था"" इस मुहावरे का अर्थ है ""उसकी सहायता कर रहा था।"" (देखें: मुहावरे)

Acts 10:39

हम"" और ""हमको"" शब्द यहाँ पतरस और उन प्रेरितों और विश्वासियों को सन्दर्भित करते हैं, जो यीशु के साथ थे जब वह पृथ्वी पर था। ""उसके"" और ""उसे"" शब्द यहाँ यीशु का सन्दर्भ देते हैं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

ἔν…τῇ χώρᾳ τῶν Ἰουδαίων

यह मुख्य रूप से उस समय के यहूदिया को सन्दर्भित करता है।

κρεμάσαντες ἐπὶ ξύλου

यह एक और अभिव्यक्ति है जो क्रूस पर चढ़ाए जाने को सन्दर्भित करती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसे लकड़ी के क्रूस पर ठोक दिया

Acts 10:40

τοῦτον ὁ Θεὸς ἤγειρεν

जी उठना यहाँ किसी मरे हुए व्यक्ति के फिर से जीवित होने के लिए दिया गया एक मुहावरा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उसे फिर से जीवित कर दिया"" (देखें: मुहावरे)

τῇ τρίτῃ ἡμέρᾳ

उसकी मृत्यु के बाद तीसरे दिन

ἔδωκεν αὐτὸν ἐμφανῆ γενέσθαι

मृतकों में से जिलाए जाने के बाद कई लोगों को उसे देखने की अनुमति दी गई

Acts 10:41

ἐκ νεκρῶν

उन सभी लोगों में से जो मर गए हैं। यह अभिव्यक्ति अधोलोक के सभी मृत लोगों को एक साथ बताती है।

Acts 10:42

यहाँ ""हमें"" शब्द में पतरस और विश्वासियों को सम्मिलित करता है। यह उसके दर्शकों को बाहर रखता है। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

पतरस कुरनेलियुस के घर में सभों के लिए अपने भाषण को पूरा करता है, जिसे उसने प्रेरितों के काम 10:34 में आरम्भ किया था।

ὅτι οὗτός ἐστιν ὁ ὡρισμένος ὑπὸ τοῦ Θεοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि परमेश्वर ने इस यीशु को चुना"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ζώντων καὶ νεκρῶν

यह उन लोगों को सन्दर्भित करता है जो अभी भी जीवित हैं और जो लोग मर चुके हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो लोग जीवित हैं और जो लोग मर चुके हैं"" (देखें: आम विशेषण)

Acts 10:43

τούτῳ πάντες οἱ προφῆται μαρτυροῦσιν

सभी भविष्यवक्ता यीशु को गवाही देते हैं

ἄφεσιν ἁμαρτιῶν λαβεῖν…πάντα τὸν πιστεύοντα εἰς αὐτὸν

यह सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु ने जो कुछ किया है, उसके कारण यीशु में विश्वास रखने वाले हर किसी के पापों को परमेश्वर क्षमा करेगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

διὰ τοῦ ὀνόματος αὐτοῦ

यहाँ ""उसके नाम"" यीशु के कार्यों को सन्दर्भित करता है। उसके नाम का अर्थ है परमेश्वर जो बचाता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु ने उनके लिए जो किया है उसके द्वारा"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 10:44

ἐπέπεσε τὸ Πνεῦμα τὸ Ἅγιον

यहाँ ""उतर आया"" शब्द का अर्थ है ""अचानक से हुआ।"" वैकल्पिक अनुवाद: ""पवित्र आत्मा अचानक से आया

πάντας τοὺς ἀκούοντας

यहाँ ""सब"" घर के सभी अन्यजाति लोगों को सन्दर्भित करता है, जो पतरस को सुन रहे थे।

Acts 10:45

ἡ δωρεὰ τοῦ Ἁγίου Πνεύματος

यह स्वयं पवित्र आत्मा को सन्दर्भित करता है, जो उन्हें दिया गया था।

τοῦ Ἁγίου Πνεύματος ἐκκέχυται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने पवित्र आत्मा को उण्डेल दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐκκέχυται

पवित्र आत्मा के बारे में ऐसे बात की गई है जैसे वह कुछ ऐसा था जो लोगों पर उण्डेला जा सकता था। इसका तात्पर्य एक उदार राशि है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उदारतापूर्वक दिया गया"" (देखें: रूपक)

ἡ δωρεὰ

मुफ्त उपहार

καὶ ἐπὶ τὰ ἔθνη

यहाँ ""पर भी"" इस तथ्य को सन्दर्भित करता है कि यहूदी विश्वासियों को पवित्र आत्मा पहले से ही दिया गया था।

Acts 10:46

उसने"" और ""उससे"" शब्द पतरस का सन्दर्भ देते हैं।

यह कुरनेलियुस के बारे में कहानी के हिस्से का अन्त है।

αὐτῶν λαλούντων γλώσσαις, καὶ μεγαλυνόντων τὸν Θεόν

ये बोली जाने वाली प्रसिद्ध भाषाएँ थीं जो यहूदियों द्वारा यह स्वीकार करने का कारण हुईं कि अन्यजाति वास्तव में परमेश्वर की स्तुति कर रहे थे।

Acts 10:47

μήτι τὸ ὕδωρ δύναται κωλῦσαί τις τοῦ μὴ βαπτισθῆναι τούτους, οἵτινες τὸ Πνεῦμα τὸ Ἅγιον ἔλαβον, ὡς καὶ ἡμεῖς

पतरस यहूदी मसीहियों को मनाने के लिए इस प्रश्न का उपयोग करता है कि अन्यजाति विश्वासियों का बपतिस्मा होना चाहिए। वैकल्पिक अनुवाद: ""किसी को भी इन लोगों से पानी को दूर नहीं रखना चाहिए! हमें उन्हें बपतिस्मा देना चाहिए क्योंकि उन्होंने प्राप्त किया है ... हमारे समान!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 10:48

προσέταξεν…αὐτοὺς…βαπτισθῆναι

यह निहित है कि वे यहूदी मसीही ही थे जो उन्हें बपतिस्मा देंगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""पतरस ने अन्यजाति विश्वासियों को यहूदी मसीहियों को उनको बपतिस्मा देने की अनुमति देने का आदेश दिया"" या ""पतरस ने यहूदी मसीहियों को उन्हें बपतिस्मा देने का आदेश दिया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐν τῷ ὀνόματι Ἰησοῦ Χριστοῦ βαπτισθῆναι

यहाँ ""यीशु मसीह के नाम में"" व्यक्त करता है कि उनके बपतिस्मा का कारण यह था कि वे यीशु पर विश्वास करते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु मसीह में विश्वासियों के रूप में बपतिस्मा लें"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 11

प्रेरितों के काम 11 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

""अन्यजातियों को भी परमेश्वर का वचन प्राप्त हुआ था""

पहले सारे ही विश्वासी लगभग यहूदी थे। लूका इस अध्याय में लिखता है कि कई अन्यजातियों ने यीशु पर विश्वास करना आरम्भ कर दिया था। उनका मानना था कि यीशु के बारे में वह सन्देश सत्य था और इसलिए ""परमेश्वर के वचन को प्राप्त करना"" आरम्भ किया। यरूशलेम में कुछ विश्वासियों को यह विश्वास नहीं था कि अन्यजाति वास्तव में यीशु का अनुसरण कर सकते थे, इसलिए पतरस उनके पास गया और उनको बताया कि उसके साथ क्या हुआ था और कैसे उसने देखा कि अन्यजातियों को परमेश्वर का वचन प्राप्त हुआ और पवित्र आत्मा प्राप्त हुआ।

Acts 11:1

इस कहानी में एक नई घटना का आरम्भ है।

पतरस यरूशलेम में आता है और वहाँ यहूदियों से बात करना आरम्भ कर देता है।

δὲ

यह कहानी के एक नए हिस्से को चिन्हित करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

οἱ…ἀδελφοὶ

यहाँ ""भाइयों"" वाक्यांश यहूदिया के विश्वासियों को सन्दर्भित करता है।

οἱ ὄντες κατὰ τὴν Ἰουδαίαν

जो यहूदिया प्रान्त में थे

ἐδέξαντο τὸν λόγον τοῦ Θεοῦ

यह अभिव्यक्ति इस तथ्य को सन्दर्भित करती है कि अन्यजातियों ने यीशु के बारे में सुसमाचार सन्देश पर विश्वास किया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु के बारे में परमेश्वर के सन्देश पर विश्वास किया"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 11:2

ἀνέβη…εἰς Ἰερουσαλήμ

यरूशलेम इस्राएल के लगभग किसी अन्य स्थान से अधिक ऊँचाई पर स्थित था, इसलिए इस्राएलियों के लिए यरूशलेम को ऊपर आने और उससे नीचे जाने के बारे में बात करना सामान्य था।

οἱ ἐκ περιτομῆς

यह उन कुछ यहूदियों का एक सन्दर्भ है जो मानते थे कि प्रत्येक विश्वासी का खतना किया जाना चाहिए। वैकल्पिक अनुवाद: ""यरूशलेम में कुछ यहूदी विश्वासी जो चाहते थे कि मसीह के सभी अनुयायियों का खतना होना चाहिए"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 11:3

ἄνδρας, ἀκροβυστίαν ἔχοντας

वाक्यांश ""खतनारहित पुरुषों"" अन्यजातियों को सन्दर्भित करता है। (देखें: लक्षणालंकार)

συνέφαγεν αὐτοῖς

यहूदियों के लिए अन्यजाति लोगों के साथ भोजन करना यहूदी परम्पराओं के विरूद्ध था।

Acts 11:4

पतरस यहूदियों को अपने दर्शन के बारे में और कुरनेलियुस के घर में जो हुआ था, उसके बारे में बताकर उत्तर देता है।

ἀρξάμενος…Πέτρος ἐξετίθετο

पतरस ने यहूदी विश्वासियों की आलोचना नहीं की परन्तु एक मित्रता भरे व्याख्यात्मक तरीके से प्रतिक्रिया व्यक्त की।

καθεξῆς

असल में जो घटित हुआ था

Acts 11:5

ὡς ὀθόνην μεγάλην

वह पात्र जिसमें जानवर थे उसकी बनावट एक बड़े चौकोर कपड़े के टुकड़े के समान थी। देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरितों के काम 10:11 में कैसे किया है।

τέσσαρσιν ἀρχαῖς

इसके चार कोनों से लटकाया हुआ या ""इसके चार कोनों को इसके बाकी हिस्से से ऊँचा किया हुआ"" देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरितों के काम 10:11 में कैसे किया है।

Acts 11:6

τετράποδα τῆς γῆς

पतरस की प्रतिक्रिया से, यह बताया जा सकता है कि मूसा की व्यवस्था ने यहूदियों को आदेश दिया था कि उनमें से कुछ को न खाएँ। देखें कि आपने प्रेरितों के काम 10:12 में एक समान वाक्यांश का अनुवाद कैसे किया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे जानवर और पक्षी जिनको मूसा की व्यवस्था ने यहूदियों को खाने से मना किया हुआ था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

θηρία

यह सम्भवतः उन जानवरों को सन्दर्भित करता है जिनको लोग पालन या नियन्त्रित नहीं करते या कर नहीं सकते हैं।

ἑρπετὰ

ये सरीसृप हैं।

Acts 11:7

ἤκουσα…φωνῆς

बोलने वाले व्यक्ति को निर्दिष्ट नहीं किया गया है। यह ""वाणी"" सम्भवतः परमेश्वर ही था, यद्यपि यह सम्भवतः परमेश्वर की ओर से एक स्वर्गदूत हो सकता था। देखें कि आपने ""एक वाणी"" का अनुवाद प्रेरितों के काम 10:13 में कैसे किया है। (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 11:8

μηδαμῶς

मैं ऐसा नहीं करूँगा। देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरितों के काम 10:14 में कैसे किया है।

κοινὸν ἢ ἀκάθαρτον οὐδέποτε εἰσῆλθεν εἰς τὸ στόμα μου

स्पष्ट रूप से चादर में ऐसे जानवर थे जिनको पुराने नियम में यहूदी व्यवस्था ने यहूदियों को खाने से मना कर दिया था। इसे सकारात्मक तरीके से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैंने केवल पवित्र और स्वच्छ जानवरों से माँस को ही खाया है"" (देखें: लक्षणालंकार और दोहरे नकारात्मक)

ἀκάθαρτον

पुराने नियम की यहूदी व्यवस्था में, एक व्यक्ति विभिन्न तरीकों द्वारा धार्मिक रीति से ""अशुद्ध"" बन गया था, जैसे कि कुछ प्रतिबन्धित जानवरों को खाने से।

Acts 11:9

ἃ ὁ Θεὸς ἐκαθάρισεν, σὺ μὴ κοίνου

यह चादर में जानवरों को सन्दर्भित करता है। (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 11:10

τοῦτο…ἐγένετο ἐπὶ τρίς

यह सम्भावना नहीं है कि सब कुछ तीन बार दोहराया गया था। इसका सम्भवतः अर्थ है कि ""जो कुछ परमेश्वर ने शुद्ध ठहराया है, उसे अशुद्ध मत कह"" तीन बार दोहराया गया था। यद्यपि, विस्तार से व्याख्या करने का प्रयास करने की अपेक्षा सामान्य रूप से ""यह तीन बार हुआ"" कहना उत्तम हो सकता है। देखें कि आपने ""यह तीन बार हुआ"" प्रेरितों के काम 10:16 में कैसे अनुवाद किया है।

Acts 11:11

यहाँ ""हम"" पतरस और याफा के विश्वासियों को सन्दर्भित करता है। यह यरूशलेम में उसके वर्तमान दर्शकों को सम्मिलित नहीं करता है। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

ἰδοὺ

यह शब्द हमें कहानी में नए लोगों की ओर सचेत करता है। आपकी भाषा में ऐसा करने का एक तरीका हो सकता है।

ἐξαυτῆς

तत्काल या ""उसी पल में

ἀπεσταλμένοι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""किसी ने उन्हें भेजा था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 11:12

μηδὲν διακρίναντα

कि मुझे चिन्तित नहीं होना चाहिए कि वे अन्यजाति थे

ἦλθον…σὺν ἐμοὶ…οἱ ἓξ ἀδελφοὶ οὗτοι

ये छः भाई मेरे साथ कैसरिया गए

οἱ ἓξ ἀδελφοὶ οὗτοι

ये छः यहूदी विश्वासी

εἰς τὸν οἶκον τοῦ ἀνδρός

यह कुरनेलियुस के घर को सन्दर्भित करता है।

Acts 11:13

Σίμωνα, τὸν ἐπικαλούμενον Πέτρον

शमौन जिसे पतरस भी कहा जाता है। देखें कि आपने समान वाक्यांश का अनुवाद प्रेरितों के काम 10:32 में कैसे किया है।

Acts 11:14

πᾶς ὁ οἶκός σου

यह उस घर में सभी लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""हर कोई जो तेरे घर में रहता है"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 11:15

यहाँ ""हम"" शब्द पतरस, प्रेरितों और किसी भी उस यहूदी विश्वासी को सन्दर्भित करता है जिन्हें पिन्तेकुस्त के दिन में पवित्र आत्मा मिला था। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

ἐν…τῷ ἄρξασθαί με λαλεῖν, ἐπέπεσεν τὸ Πνεῦμα τὸ Ἅγιον ἐπ’ αὐτοὺς

इसका तात्पर्य है कि पतरस ने बोलना समाप्त नहीं किया था, परन्तु अधिक कहना चाहता था।

ἐπέπεσεν τὸ Πνεῦμα τὸ Ἅγιον ἐπ’ αὐτοὺς, ὥσπερ καὶ ἐφ’ ἡμᾶς ἐν ἀρχῇ

कहानी को छोटा रखने के लिए पतरस कुछ बातों को छोड़ देता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पवित्र आत्मा वैसे ही अन्यजाति विश्वासियों पर उतर आया, जैसे वह पिन्तेकुस्त के दिन में यहूदी विश्वासियों पर उतर आया था"" (देखें: पदन्यूनता)

ἐν ἀρχῇ

पतरस पिन्तेकुस्त के दिन को उद्धरित कर रहा है।

Acts 11:16

ὑμεῖς…βαπτισθήσεσθε ἐν Πνεύματι Ἁγίῳ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर तुमको पवित्र आत्मा से बपतिस्मा देगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 11:17

उन्हें"" शब्द कुरनेलियुस और उसके अन्यजाति अतिथियों और घराने के लोगों को सन्दर्भित करता है। पतरस यरूशलेम में यहूदी विश्वासियों के लिए अपने विवरण में उन्हें अन्यजाति नहीं कहता है। ""वे"" शब्द यहूदी विश्वासियों को सन्दर्भित करता है जिनसे पतरस ने बात की थी। ""हम"" शब्द सभी यहूदी विश्वासियों को सम्मिलित करता है। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

पतरस अपने प्रचार को (जिसे उसने प्रेरितों के काम 11:4) में आरम्भ किया था) यहूदियों को अपने दर्शन के बारे में और कुरनेलियुस के घर में क्या हुआ था, के बारे में बताते हुए पूरा करता है।

εἰ οὖν τὴν ἴσην δωρεὰν ἔδωκεν αὐτοῖς ὁ Θεὸς, ὡς καὶ ἡμῖν πιστεύσασιν ἐπὶ τὸν Κύριον Ἰησοῦν Χριστόν, ἐγὼ τίς ἤμην δυνατὸς κωλῦσαι τὸν Θεόν

पतरस इस प्रश्न का प्रयोग इस बात पर जोर देने के लिए करता है कि वह केवल परमेश्वर की आज्ञा का पालन कर रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि परमेश्वर ने उन्हें दिया ... मैंने निर्णय किया कि मैं परमेश्वर का विरोध नहीं कर सकता हूँ! ""(देखें: भाषणगत प्रश्न)

τὴν ἴσην δωρεὰν

पतरस पवित्र आत्मा के वरदान को सन्दर्भित करता है।

Acts 11:18

ἡσύχασαν

उन्होंने पतरस के साथ वाद-विवाद नहीं किया

καὶ τοῖς ἔθνεσιν ὁ Θεὸς τὴν μετάνοιαν εἰς ζωὴν ἔδωκεν

परमेश्वर ने पश्चाताप का इंतिजाम किया है जो अन्यजातियों को भी जीवन की ओर ले जाता है। यहाँ ""जीवन"" अनन्त जीवन को सन्दर्भित करता है। भाववाचक संज्ञा ""पश्चाताप"" और ""जीवन"" का अनुवाद ""पश्चाताप करना"" और ""जीना"" क्रियाओं के रूप में किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने अन्यजातियों को भी पश्चाताप करने और सदैव के लिए जीने की अनुमति दी है"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Acts 11:19

स्तिफनुस को पत्थरवाह होने के बाद भागने वाले विश्वासियों के साथ क्या हुआ इसके बारे में लूका बताता है।

οὖν

यह कहानी के नए हिस्से को प्रस्तुत करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

οἱ…διασπαρέντες ἀπὸ τῆς θλίψεως τῆς γενομένης ἐπὶ Στεφάνῳ, διῆλθον

यहूदियों ने यीशु के अनुयायियों को सताना आरम्भ किया क्योंकि स्तिफनुस ने उन बातों को कहा और किया था जो यहूदियों को पसन्द नहीं आई थीं। इस सताव के कारण, यीशु के कई अनुयायियों ने यरूशलेम छोड़ दिया और कई अलग-अलग स्थानों पर गए।

οἱ…διῆλθον

वे कई अलग-अलग दिशाओं में चले गए

διασπαρέντες ἀπὸ τῆς θλίψεως

इसका सक्रिय रूप में अनुवाद किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिन्हें यहूदियों ने सताया था और इसलिए यरूशलेम छोड़ दिया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τῆς θλίψεως τῆς γενομένης ἐπὶ Στεφάνῳ

स्तिफनुस ने जो कहा और किया था उसके कारण हुआ सताव

εἰ μὴ μόνον Ἰουδαίοις

विश्वासियों ने सोचा कि परमेश्वर का सन्देश यहूदी लोगों के लिए था, न कि अन्यजातियों के लिए।

Acts 11:20

ἐλάλουν καὶ πρὸς τοὺς Ἑλληνιστάς

ये यूनानी भाषी लोग अन्यजाति थे, यहूदी नहीं। वैकल्पिक अनुवाद: ""यूनानी बोलने वाले अन्यजाति लोगों से भी बात की"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 11:21

ἦν χεὶρ Κυρίου μετ’ αὐτῶν

परमेश्वर का हाथ उसकी सामर्थ्यशाली सहायता का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर उन विश्वासियों को प्रभावी ढंग से प्रचार करने में सक्षम बना रहा था"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἐπέστρεψεν ἐπὶ τὸν Κύριον

यहाँ ""परमेश्वर की ओर फिरे"" परमेश्वर का आज्ञापालन करना आरम्भ करने के लिए एक रूपक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""और उन्होंने अपने पापों से पश्चाताप किया और परमेश्वर का आज्ञापालन करना आरम्भ किया"" (देखें: रूपक)

Acts 11:22

इन वचनों में, ""वह"" शब्द बरनबास को सन्दर्भित करता है। ""उन्होंने"" शब्द यरूशलेम में कलीसिया के विश्वासियों को सन्दर्भित करता है। ""उन्हें"" और ""उनके"" शब्द नए विश्वासियों को सन्दर्भित करते हैं (प्रेरितों के काम 11:20)।

ὦτα τῆς ἐκκλησίας

यहाँ ""सुनने में"" घटना के बारे में विश्वासियों के द्वारा सुनने को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कलीसिया में विश्वासियों के"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 11:23

ἰδὼν τὴν χάριν τὴν τοῦ Θεοῦ

देखा कि परमेश्वर ने विश्वासियों के प्रति दयालु तरीके से कैसे काम किया

παρεκάλει πάντας

वह उन्हें प्रोत्साहित करता रहा

προσμένειν τῷ Κυρίῳ

परमेश्वर के प्रति विश्वासयोग्य रहने के लिए या ""परमेश्वर पर भरोसा बनाए रखने के लिए

τῇ προθέσει τῆς καρδίας

यहाँ ""मन"" व्यक्ति की इच्छा और चाहत को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उनकी सभी इच्छाओं के साथ"" या ""पूर्ण प्रतिबद्धता के साथ"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 11:24

πλήρης Πνεύματος Ἁγίου

पवित्र आत्मा ने बरनबास को नियन्त्रित किया क्योंकि उसने पवित्र आत्मा का आज्ञा पालन किया था।

προσετέθη ὄχλος ἱκανὸς τῷ Κυρίῳ

यहाँ ""आ मिले"" का अर्थ है कि वे दूसरों के समान ही विश्वास करने लगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""बहुत से लोगों ने परमेश्वर पर भी विश्वास किया था"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 11:25

यहाँ ""वह"" शब्द बरनबास को सन्दर्भित करता है और ""उससे"" शाऊल को सन्दर्भित करता है।

ἐξῆλθεν…εἰς Ταρσὸν

तरसुस शहर से बाहर

Acts 11:26

καὶ εὑρὼν

बरनबास को शाऊल का पता लगाने में बहुत समय और प्रयास लगा।

ἐγένετο

यह कहानी में एक नई घटना को आरम्भ करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

αὐτοῖς…συναχθῆναι ἐν τῇ ἐκκλησίᾳ

बरनबास और शाऊल कलीसिया के साथ इकट्ठे हुए

χρηματίσαι…ἐν Ἀντιοχείᾳ τοὺς μαθητὰς, Χριστιανούς

इसका तात्पर्य है कि अन्य लोगों ने इस नाम से विश्वासियों को पुकारा। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अन्ताकिया के लोगों ने चेलों को मसीही पुकारा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πρώτως ἐν Ἀντιοχείᾳ

पहली बार अन्ताकिया में

Acts 11:27

यहाँ लूका अन्ताकिया में एक भविष्यवाणी के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी बताता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

δὲ

कहानी की मुख्य-धारा में विराम को चिन्हित करने के लिए यहाँ इस शब्द का उपयोग किया गया है।

κατῆλθον ἀπὸ Ἱεροσολύμων…εἰς Ἀντιόχειαν

यरूशलेम अन्ताकिया की तुलना में ऊँचा था, इसलिए इस्राएलियों के लिए यरूशलेम को ऊपर जाने या उससे नीचे जाने के बारे में बात करना सामान्य था।

Acts 11:28

ὀνόματι Ἅγαβος

जिसका नाम अगबुस था

ἐσήμανεν διὰ τοῦ Πνεύματος

पवित्र आत्मा ने उसे भविष्यवाणी करने में सक्षम किया

λιμὸν μεγάλην μέλλειν ἔσεσθαι

भोजन की बड़ी कमी पैदा होगी

ἐφ’ ὅλην τὴν οἰκουμένην

यह एक सामान्यकरण था जो संसार के उस हिस्से को सन्दर्भित कर रहा था जिसमें वे रुचि रखते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""बसावट वाले पूरे संसार में"" या ""पूरे रोमी साम्राज्य में"" (देखें: अतिशयोक्ति)

ἐπὶ Κλαυδίου

लूका के दर्शकों को पता चलेगा कि उस समय क्लौदियुस रोम का सम्राट था। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब क्लौदियुस रोमी सम्राट था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना और नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 11:29

उन्होंने"" और ""उन्होंने"" शब्द अन्ताकिया में कलीसिया में विश्वासियों का उल्लेख करते हैं (प्रेरितों के काम 11:27)।

δὲ

इस शब्द का अर्थ एक ऐसी घटना को चिन्हित करता है जो पहले घटित हुई किसी अन्य बात के कारण घटित हुई थी। इस विषय में, उन्होंने अगबुस की भविष्यवाणी या अकाल के कारण पैसा भेजा।

καθὼς εὐπορεῖτό τις

धनी लोगों ने अधिक भेजा; गरीब लोगों ने कम भेजा।

ἐν τῇ Ἰουδαίᾳ ἀδελφοῖς

यहूदिया में रहने वाले विश्वासियों को

Acts 11:30

διὰ χειρὸς Βαρναβᾶ καὶ Σαύλου

हाथ पूरे व्यक्ति की गतिविधि के लिए एक उपलक्ष्य अलंकार है। वैकल्पिक अनुवाद: ""बरनबास और शाऊल द्वारा उनके पास ले जाना"" (देखें: मुहावरे)

Acts 12

प्रेरितों 12 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

अध्याय 12 बताता है कि राजा हेरोदेस के साथ क्या हुआ, जिस समय बरनबास शाऊल को तरसुस से वापस ला रहा था और वे अन्ताकिया के पैसे यरूशलेम को दे रहे थे (11: 25-30)। उसने कलीसिया के कई अगुवों को मार डाला, और उसने पतरस को जेल में डाल दिया। परमेश्वर के पतरस को जेल से निकलने में सहायता करने के बाद, हेरोदेस ने जेल के सिपाहियों को मार डाला, और फिर परमेश्वर ने हेरोदेस को मार डाला। इस अध्याय के अन्तिम वचन में, लूका बताता है कि कैसे बरनबास और शाऊल अन्ताकिया लौटते हैं।

इस अध्याय के महत्वपूर्ण अलंकार

अवतार

""परमेश्वर का वचन"" ऐसे बोला गया है जैसे कि यह एक जीवित वस्तु थी जो उन्नति कर सकती थी और कई सारी हो सकती थी। (देखें: परमेश्‍वर के वचन, परमेश्वर के वचनों, यहोवा के वचन, प्रभु का वचन, पवित्रशास्त्र, पवित्रशास्त्र और मानवीकरण)

Acts 12:1

हेरोदेस के याकूब की हत्या के बारे में यह पृष्ठभूमि की जानकारी है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

पहले याकूब की मौत और फिर पतरस का कारावास और फिर उसे छुड़ाना यह नए सताव को आरम्भ करता है।

δὲ

यह कहानी का एक नए हिस्से को आरम्भ करता है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

κατ’ ἐκεῖνον…τὸν καιρὸν

यह अकाल के समय को सन्दर्भित करता है।

ἐπέβαλεν…τὰς χεῖρας…τινας

इसका अर्थ है कि हेरोदेस ने विश्वासियों को गिरफ्तार किया था। देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरितों के काम 5:18 में कैसे किया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""गिरफ्तार करने के लिए सैनिकों को भेजा"" (देखें: मुहावरे)

τινας τῶν ἀπὸ τῆς ἐκκλησίας

केवल याकूब और पतरस निर्दिष्ट हैं, जिसका अर्थ है कि वे यरूशलेम में कलीसिया के अगुवे थे। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

κακῶσαί

विश्वासियों को सताने के लिए

Acts 12:2

ἀνεῖλεν δὲ Ἰάκωβον, τὸν ἀδελφὸν Ἰωάννου, μαχαίρῃ

यह उस तरीके को बताता है जिस प्रकार याकूब की हत्या हुई थी।

ἀνεῖλεν…Ἰάκωβον

सम्भावित अर्थ हैं 1) स्वयं हेरोदेस ने याकूब को मारा था या 2) हेरोदेस ने किसी को याकूब को मारने का आदेश दिया। वैकल्पिक अनुवाद: ""हेरोदेस ने आदेश दिया और उन्होंने याकूब को मार डाला"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 12:3

यहाँ ""उसने"" शब्द हेरोदेस (प्रेरितों के काम 12:1) को सन्दर्भित करता है।

ἰδὼν δὲ ὅτι ἀρεστόν ἐστιν τοῖς Ἰουδαίοις

जब हेरोदेस को जान लिया कि याकूब को मार डालने से यहूदी अगुवों को प्रसन्नता हुई थी

ρεστόν ἐστιν τοῖς Ἰουδαίοις

यहूदी अगुवों को आनन्दित कर दिया

ὅτι…ἐστιν

हेरोदेस ने यह किया या ""ऐसा हुआ

ἡμέραι τῶν Ἀζύμων

यह फसह पर्व के समय में यहूदी धार्मिक त्योहार के समय को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह त्योहार जिसमें यहूदी लोग अखमीरी रोटी खाते थे

Acts 12:4

τέσσαρσιν τετραδίοις στρατιωτῶν

सैनिकों के चार समूह। प्रत्येक दल में चार सैनिक थे जिन्होंने पतरस की निगरानी की थी, एक समय में एक समूह। उन समूहों को 24 घंटे का दिन चार बदलावों में विभाजित किया। हर समय दो सैनिक उसके बगल में और अन्य दो सैनिक प्रवेश द्वार पर होते थे।

βουλόμενος…ἀναγαγεῖν αὐτὸν τῷ λαῷ

हेरोदेस ने लोगों की उपस्थिति में पतरस का न्याय करने की योजना बनाई थी या ""हेरोदेस ने यहूदी लोगों के सामने पतरस का न्याय करने की योजना बनाई थी

Acts 12:5

ὁ μὲν οὖν Πέτρος ἐτηρεῖτο ἐν τῇ φυλακῇ

इसका तात्पर्य है कि सैनिकों ने जेल में लगातार पतरस की निगरानी की थी। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसलिए सैनिकों ने जेल में पतरस की निगरानी की थी"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

προσευχὴ…ἦν ἐκτενῶς γινομένη ὑπὸ τῆς ἐκκλησίας πρὸς τὸν Θεὸν περὶ αὐτοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यरूशलेम में विश्वासियों के समूह ने ईमानदारी से परमेश्वर से उसके लिए प्रार्थना की"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐκτενῶς

निरंतर और समर्पण के साथ

Acts 12:6

ἤμελλεν προαγαγεῖν αὐτὸν ὁ Ἡρῴδης τῇ νυκτὶ ἐκείνῃ

हेरोदेस ने उसे मार डालने की योजना बनाई थी इसे स्पष्ट किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उस दिन के आने से पहले जब हेरोदेस उस पर मुकदमा चलाने के लिए पतरस को जेल से बाहर लाने और फिर उसे मार डालने जा रहा था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

δεδεμένος ἁλύσεσιν δυσίν

दो जंजीरों से बन्धा हुआ या ""दो जंजीरों से कसा हुआ।"" प्रत्येक जंजीर पतरस के अगल-बगल रहने वाले दो सौनिकों में से एक से जुड़ी होती थी।

ἐτήρουν τὴν φυλακήν

जेल के दरवाजों की रक्षा कर रहे थे

Acts 12:7

उसे"" और ""उसके"" शब्द पतरस को सन्दर्भित करते हैं।

ἰδοὺ

यह शब्द हमें आने वाली आश्चर्यजनक जानकारी पर ध्यान देने के लिए सचेत करता है।

ἐπέστη

उसके पास में या ""उसके बगल में

ἐν τῷ οἰκήματι

जेल के कमरे में

πατάξας…τοῦ Πέτρου

स्वर्गदूत ने पतरस को थपथपाया या ""स्वर्गदूत ने पतरस को उंगली चुभाई।"" पतरस स्पष्ट रूप से इतनी पर्याप्त गहरी नींद में सो रहा था कि उसे उठाने के लिए यह करने की आवश्यकता थी।

ἐξέπεσαν αὐτοῦ αἱ ἁλύσεις ἐκ τῶν χειρῶν

स्वर्गदूत ने जंजीरों को छूए बिना पतरस के शरीर से गिर जाने दिया।

Acts 12:8

ἐποίησεν…οὕτως

स्वर्गदूत ने उसे जो करने के लिए कहा पतरस ने वह किया या ""पतरस ने आज्ञा मानी

Acts 12:9

यहाँ ""वह"" शब्द पतरस को सन्दर्भित करता है। ""वे"" और ""वे"" शब्द पतरस और स्वर्गदूत का उल्लेख करते हैं।

οὐκ ᾔδει

वह नहीं समझा

ἀληθές ἐστιν τὸ γινόμενον διὰ τοῦ ἀγγέλου

इसे सक्रिय रूप में बदला जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""स्वर्गदूत के कार्य असली थे"" या ""जो स्वर्गदूत ने किया वह वास्तव में हुआ था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 12:10

διελθόντες δὲ πρώτην φυλακὴν καὶ δευτέραν

यह निहित है कि पतरस और स्वर्गदूत को सैनिक देख पाने में सक्षम नहीं थे जब वे पास से निकले थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""पहले और दूसरे पहरुओं ने उन्हें नहीं देखा जब वे उनके पास से निकले, और फिर"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

διελθόντες

चले गए थे

καὶ δευτέραν

पहरुए"" शब्द पिछले वाक्यांश से समझा जाता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""और दूसरा पहरुआ"" (देखें: पदन्यूनता)

ἦλθαν ἐπὶ τὴν πύλην τὴν σιδηρᾶν

पतरस और स्वर्गदूत लोहे के फाटक पर पहुँचे

τὴν φέρουσαν εἰς τὴν πόλιν

जो शहर की ओर खोला गया था या ""जो जेल से शहर में गया था

ἥτις αὐτομάτη ἠνοίγη αὐτοῖς

यहाँ ""स्वयं से"" का अर्थ है न तो पतरस और न ही स्वर्गदूत ने इसे खोला। वैकल्पिक अनुवाद: ""फाटक उनके लिए झूल कर खुल गया"" या ""फाटक स्वयं ही उनके लिए खुल गया"" (देखें: कर्मकर्त्ता सर्वनाम)

προῆλθον ῥύμην μίαν

एक गली से होकर गए

εὐθέως ἀπέστη…ἀπ’ αὐτοῦ

अचानक पतरस को छोड़ दिया या ""अचानक लुप्त हो गया

Acts 12:11

καὶ ὁ Πέτρος ἐν ἑαυτῷ γενόμενος

यह एक मुहावरा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब पतरस पूरी तरह से जागृत और सतर्क हो गया"" या ""जब पतरस ने जान लिया कि जो हुआ था वह वास्तविक था"" (देखें: मुहावरे)

ἐξείλατό με ἐκ χειρὸς Ἡρῴδου

यहाँ ""हेरोदेस का हाथ"" ""हेरोदेस की पकड़"" या ""हेरोदेस की योजनाओं"" को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""हेरोदेस ने मेरे लिए हानि की जो योजना बनाई थी उससे मुझे छुड़ा लिया"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἐξείλατό με

मुझे बचा लिया

πάσης τῆς προσδοκίας τοῦ λαοῦ τῶν Ἰουδαίων

यहाँ ""यहूदियों की"" सम्भवतः मुख्य रूप से यहूदी अगुवों को सन्दर्भित करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह सब जो यहूदी अगुवों ने सोचा था कि मेरे साथ होगा"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 12:12

συνιδών

उसने जान लिया कि परमेश्वर ने उसे बचा लिया था।

Ἰωάννου, τοῦ ἐπικαλουμένου Μάρκου

यूहन्ना को मरकुस भी कहा जाता था। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यूहन्ना, जिसे लोग मरकुस भी कहते हैं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 12:13

यहाँ ""उसने"" और ""उससे"" सारे शब्द दासी लड़की रूदे को सन्दर्भित करते हैं। यहाँ ""उन्होंने"" और ""उन्होंने"" शब्द उन लोगों को सन्दर्भित करते हैं जो अन्दर प्रार्थना कर रहे थे (प्रेरितों के काम 12:12)।

κρούσαντος…αὐτοῦ

पतरस ने खटखटाया। दरवाजे पर थपथपाना दूसरों को यह बताने का एक सामान्य यहूदी रिवाज था कि आप उनसे मिलना चाहते हैं। आपको अपनी संस्कृति में अनुकूल करने के लिए इसे बदलने की आवश्यकता हो सकती है।

τὴν θύραν τοῦ πυλῶνος

बाहरी दरवाजे पर या ""गली से आँगन में प्रवेश के द्वार पर

προσῆλθε…ὑπακοῦσαι

यह पूछने के लिए फाटक पर आई कि कौन खटखटा रहा था

Acts 12:14

ἀπὸ τῆς χαρᾶς

क्योंकि वह बहुत आनन्दित थी या ""अत्यधिक उत्तेजित हो रही थी

οὐκ ἤνοιξεν τὸν πυλῶνα

दरवाजा नहीं खोला या ""दरवाजा खोलना भूल गई

εἰσδραμοῦσα

आप ऐसे कहना चुन सकते हैं ""भाग कर घर के कमरे में गई

ἀπήγγειλεν

उसने उनसे कहा या ""उसने कहा

ἑστάναι…πρὸ τοῦ πυλῶνος

दरवाजे के बाहर खड़ा है। पतरस अभी भी बाहर खड़ा था।

Acts 12:15

μαίνῃ

लोगों ने न केवल उसका विश्वास ही नहीं किया थे, परन्तु उसे यह कह कर डाँटा कि वह पागल थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम पागल हो

ἡ…διϊσχυρίζετο οὕτως ἔχειν

उसने जोर देकर कहा कि उसने जो कहा वह सच था

οἱ…ἔλεγον

उन्होंने उत्तर दिया

ὁ ἄγγελός ἐστιν αὐτοῦ

तूने जिसे देखा है वह पतरस का स्वर्गदूत है। कुछ यहूदी रक्षक स्वर्गदूतों में विश्वास करते थे और सम्भवतः सोचा होगा कि पतरस का स्वर्गदूत उनके पास आया था।

Acts 12:16

यहाँ ""उन्होंने"" और ""उन्हें"" शब्द घर के लोगों को सन्दर्भित करते हैं। ""उसने"" और ""उसने"" शब्द पतरस को सन्दर्भित करते हैं।

ὁ δὲ Πέτρος ἐπέμενεν κρούων

ही रहा"" शब्द का अर्थ है कि पतरस उस समय तक खटखटाता रहा जब जो अन्दर थे वे बात कर रहे थे।

Acts 12:17

ἀπαγγείλατε…ταῦτα

इन बातों को बताओ

τοῖς ἀδελφοῖς

अन्य विश्वासियों को

Acts 12:18

उसकी"" शब्द यहाँ पतरस को सन्दर्भित करता है। ""उसने"" शब्द हेरोदेस को सन्दर्भित करता है।

δὲ

कहानी की मुख्य-धारा में एक विराम को चिन्हित करने के लिए इस शब्द का उपयोग किया गया है। समय बीत गया; अब यह अगला दिन है।

γενομένης…ἡμέρας

सुबह में

ἦν τάραχος οὐκ ὀλίγος ἐν τοῖς στρατιώταις, τί ἄρα ὁ Πέτρος ἐγένετο

यह वाक्यांश वास्तव में जो हुआ था उस पर जोर देने के लिए प्रयोग किया गया है। इसे एक सकारात्मक तरीके से कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पतरस के साथ क्या हुआ था इस पर सैनिकों के बीच एक बड़ी हलचल थी"" (देखें: विडंबना)

ἦν τάραχος οὐκ ὀλίγος ἐν τοῖς στρατιώταις, τί ἄρα ὁ Πέτρος ἐγένετο

भाववाचक संज्ञा ""हलचल"" को ""परेशानी"" या ""घबराहट"" जैसे शब्दों के साथ व्यक्त किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सैनिक इसके बारे में बहुत परेशान थे कि पतरस के साथ क्या हुआ था"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Acts 12:19

Ἡρῴδης δὲ ἐπιζητήσας αὐτὸν καὶ μὴ εὑρὼν

जब हेरोदेस ने पतरस की खोज की और वह उसे नहीं मिला

Ἡρῴδης δὲ ἐπιζητήσας αὐτὸν

सम्भावित अर्थ यह हैं कि 1) ""जब हेरोदेस ने सुना कि पतरस गायब था, तो वह स्वयं खोज करने के लिए जेल में चला गया"" या 2) ""जब हेरोदेस ने सुना कि पतरस गायब था, तो उसने अन्य सैनिकों को खोज करने के लिए जेल में भेजा।

ἀνακρίνας τοὺς φύλακας, ἐκέλευσεν ἀπαχθῆναι

यदि उनके कैदी भाग गए थे तो रोमी सरकार के द्वारा पहरुओं को मार डालना सामान्य सजा थी।

καὶ κατελθὼν

वाक्यांश ""में जाकर"" का प्रयोग यहाँ इसलिए किया गया है क्योंकि यहूदिया की तुलना में कैसरिया नीचे है।

Acts 12:20

लूका हेरोदेस के जीवन की एक और घटना के साथ आगे बढ़ता है।

δὲ

कहानी में अगली घटना को चिन्हित करने के लिए यहाँ इस शब्द का उपयोग किया गया है। (देखें: नर्इ घटनाओं का परिचय)

ὁμοθυμαδὸν…παρῆσαν πρὸς αὐτόν

यहाँ ""वे"" शब्द एक सामान्यकरण है। यह असम्भव है कि सोर और सीदोन के सभी लोग हेरोदेस के पास गए थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""सोर और सीदोन के लोगों का प्रतिनिधित्व करने वाले पुरुष हेरोदेस से बात करने के लिए एक साथ उसके पास गए"" (देखें: अतिशयोक्ति)

πείσαντες Βλάστον

इन पुरुषों ने बलास्तुस को राजी किया

Βλάστον

बलास्तुस राजा हेरोदेस का एक सहायक या एक अधिकारी था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

ᾐτοῦντο εἰρήνην

इन पुरुषों ने शान्ति का अनुरोध किया

τὸ τρέφεσθαι αὐτῶν τὴν χώραν ἀπὸ τῆς βασιλικῆς

उन्होंने सम्भवतः यह भोजन खरीदा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""सोर और सीदोन के लोगों ने उन लोगों से अपना सारा भोजन खरीदा जिन पर हेरोदेस शासन करता था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

τὸ τρέφεσθαι αὐτῶν

यह निहित है कि हेरोदेस ने भोजन की इस आपूर्ति को प्रतिबन्धित कर दिया था क्योंकि वह सोर और सीदोन के लोगों से क्रोधित था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 12:21

τακτῇ…ἡμέρᾳ

यह सम्भवतः वह दिन था जिसमें हेरोदेस प्रतिनिधियों से मिलने के लिए सहमत हो गया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उस दिन जब हेरोदेस उनसे मिलने के लिए तैयार हो गया

ἐσθῆτα βασιλικὴν

महंगे कपड़े जो प्रदर्शित करेंगे कि वह राजा था

καθίσας ἐπὶ τοῦ βήματο

यह वह स्थान थी जहाँ से हेरोदेस ने औपचारिक रूप से उन लोगों को सम्बोधित किया जो उससे मिलने आए थे।

Acts 12:22

यह हेरोदेस के बारे में कहानी के हिस्से का अन्त है।

Acts 12:23

παραχρῆμα…ἄγγελος

तुरन्त एक स्वर्गदूत या ""जिस समय लोग हेरोदेस की प्रशंसा कर रहे थे, एक स्वर्गदूत

ἐπάταξεν αὐτὸν

हेरोदेस को पीड़ित किया या ""हेरोदेस को बहुत बीमार कर दिया

οὐκ ἔδωκεν τὴν δόξαν τῷ Θεῷ

हेरोदेस ने उन लोगों को परमेश्वर की आराधना करने की अपेक्षा अपनी आराधना करने दी।

γενόμενος σκωληκόβρωτος, ἐξέψυξεν

यहाँ ""कीड़े"" शरीर के अन्दर कीड़ों को, सम्भवतः आँतों में कीड़ों को सन्दर्भित करता है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कीड़ों ने हेरोदेस का आन्तरिक भाग खा लिया और वह मर गया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 12:24

वचन 23 के इतिहास को वचन 24 आगे बढ़ाता है। 11:30 में दिए हुए इतिहास को वचन 25 आगे बढ़ाता है। (देखें: कहानी का अंत)

ὁ…λόγος τοῦ Θεοῦ ηὔξανεν καὶ ἐπληθύνετο

परमेश्वर के वचन को इस तरह बोला गया है जैसे कि यह एक जीवित पौधा था जो बढ़ने और पुनरुत्पादन करने में सक्षम था। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर का सन्देश अधिक स्थानों पर फैल गया और अधिक लोगों ने उस पर विश्वास किया"" (देखें: रूपक)

ὁ…λόγος τοῦ Θεοῦ

वह सन्देश जो परमेश्वर ने यीशु के बारे में भेजा था

Acts 12:25

πληρώσαντες τὴν διακονίαν

यह वापस प्रेरितों के काम 11:29-30 को सन्दर्भित करता है जब वे अन्ताकिया में विश्वासियों से धन लाए थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""यरूशलेम में कलीसिया के अगुवों को धन पहुँचा दिया था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ὑπέστρεψαν εἰς Ἰερουσαλὴμ

वे यरूशलेम से अन्ताकिया वापस चले गए। वैकल्पिक अनुवाद: ""बरनबास और शाऊल अन्ताकिया लौट आए"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 13

प्रेरितों के काम 13 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

कुछ अनुवाद पुराने नियम से उद्धरण को शेष पाठ की तुलना में पृष्ठ पर दाईं ओर व्यवस्थित करते हैं । यूएलटी अनुवाद ऐसा 13: 33-35 में भजन संहिता के तीन उद्धरणों के साथ करता है।

कुछ अनुवाद पढ़ने के लिए आसान बनाने के लिए पाठ के शेष हिस्सों की तुलना में कविता की प्रत्येक पंक्ति को दाईं ओर से व्यवस्थित करते हैं । यूएलटी अनुवाद ऐसा कविता के साथ करता है जिसे 13:41 में पुराने नियम से उद्धरित किया गया है।

यह अध्याय वह है जहाँ से प्रेरितों के काम की पुस्तक का दूसरा अर्धभाग आरम्भ होता है। लूका पतरस के बारे में लिखने से अधिक पौलुस के बारे में लिखता है, और यह वर्णन करता है कि कैसे वह अन्यजाति है, न कि यहूदी जिनको विश्वासियों ने यीशु के बारे में सन्देश सुनाया।

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

अन्यजातियों के लिए प्रकाश

बाइबल अक्सर अधर्मी लोगों की बात ऐसे करती है जैसे कि वे अन्धेरे में घूम रहे थे, ऐसे लोग जो वह नहीं करते जिससे परमेश्वर प्रसन्न होता है। यह प्रकाश की बात ऐसे करता है जैसे कि यह वह चीज थी जो उन पापपूर्ण लोगों को धर्मी बनने में सक्षम बनाती है, यह समझने के लिए कि वे क्या गलत कर रहे हैं और परमेश्वर की आज्ञा का पालन करना आरम्भ कर देते हैं। यहूदियों ने सभी अन्यजातियों को अन्धेरे में चलने के समान माना, परन्तु पौलुस और बरनबास ने अन्यजातियों को यीशु के बारे में बताने की बात की जैसे कि वे उनके पास शारीरिक प्रकाश लाने जा रहे थे। (देखें: रूपक और धर्मी, धार्मिक, अधर्मी, अधर्मी, ईमानदार, ईमानदार)

Acts 13:1

वचन 1 अन्ताकिया में कलीसिया के लोगों के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देता है। यहाँ पहला ""वे"" शब्द सम्भवतः इन पाँच अगुवों को सन्दर्भित करता है परन्तु अन्य विश्वासियों को भी सम्मिलित कर सकता है। अगले ""उन्होंने"" और ""अपने"" शब्द सम्भवतः उन अन्य तीन अगुवों को सन्दर्भित करते हैं जिनमें बरनबास और शाऊल सम्मिलित नहीं हैं परन्तु अन्य विश्वासियों को सम्मिलित कर सकते हैं। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

लूका उन मिशन यात्राओं के बारे में बताना आरम्भ कर देता है जिस पर अन्ताकिया की कलीसिया बरनबास और शाऊल को भेजती है।

δὲ ἐν Ἀντιοχείᾳ κατὰ τὴν οὖσαν ἐκκλησίαν

उस समय अन्ताकिया की कलीसिया में

Συμεὼν…Νίγερ…Λούκιος…Μαναήν

ये पुरुषों के नाम हैं। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Ἡρῴδου τοῦ τετράρχου σύντροφος

मनाहेम सम्भवतः हेरोदेस के साथ बढ़ता हुआ उसका जोड़ीदार या घनिष्ठ मित्र था।

Acts 13:2

ἀφορίσατε…μο

मेरी सेवा करने के लिए नियुक्त करो

προσκέκλημαι αὐτούς

यहाँ क्रिया का अर्थ है कि परमेश्वर ने उन्हें यह काम करने के लिए चुना है।

Acts 13:3

ἐπιθέντες τὰς χεῖρας αὐτοῖς

उन पुरुषों पर हाथ रखे जिन्हें परमेश्वर ने अपनी सेवा के लिए अलग किया था। इस गतिविधि से पता चला कि अगुवों ने इस बात पर सहमति व्यक्त की कि पवित्र आत्मा ने बरनबास और शाऊल को यह काम करने के लिए बुलाया था। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

ἀπέλυσαν

उन पुरुषों को भेज दिया या ""उन पुरुषों को वह काम करने के लिए भेजा जो पवित्र आत्मा ने उन्हें करने के लिए कहा था

Acts 13:4

यहाँ ""वे,"" ""वे,"" और ""उनका"" शब्द बरनबास और शाऊल का उल्लेख करते हैं।

οὖν

यह शब्द एक घटना को चिन्हित करता है जो एक पिछली घटना के कारण घटी थी। इस विषय में, पिछली घटना बरनबास और शाऊल को पवित्र आत्मा द्वारा अलग किया जाना है।

κατῆλθον

वाक्यांश ""को गए"" का उपयोग यहाँ इसलिए किया गया है क्योंकि अन्ताकिया की तुलना में सिलूकिया नीचे है।

Σελεύκιαν

समुद्र तट पर बसा एक शहर

Acts 13:5

Σαλαμῖνι

सलमीस शहर साइप्रस द्वीप पर था।

κατήγγελλον τὸν λόγον τοῦ Θεοῦ

यहाँ परमेश्वर का वचन ""परमेश्वर के सन्देश"" के लिए एक उपलक्ष्य अलंकार है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर के सन्देश की घोषणा की"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

συναγωγαῖς τῶν Ἰουδαίων

सम्भावित अर्थ यह हैं कि 1) ""सलमीस शहर में कई यहूदी आराधनालय थे जहाँ बरनबास और शाऊल ने प्रचार किया था"" या 2) ""बरनबास और शाऊल ने सलमीस के यहूदी आराधनालय से प्रचार आरम्भ किया और जो भी आराधनालय उनको मिले वे उन सभी में प्रचार करते रहे जिस समय उन्होंने साइप्रस द्वीप के चारों ओर यात्रा की थी।

εἶχον δὲ καὶ Ἰωάννην, ὑπηρέτην

यूहन्ना मरकुस उनके साथ गया था और उनकी सहायता कर रहा था

ὑπηρέτην

सहायक

Acts 13:6

यहाँ ""उन्हें"" शब्द पौलुस, बरनबास और यूहन्ना मरकुस को सन्दर्भित करता है। ""उसने"" शब्द ""सिरगियुस पौलुस"" को सन्दर्भित करता है। पहला ""उसने"" शब्द सिरगियुस पौलुस, हाकिम को सन्दर्भित करता है; दूसरा ""उसने"" शब्द एलीमास (जिसे बार-यीशु भी कहा जाता है), जादूगर को बतलाता है।

ὅλην τὴν νῆσον

वे उस द्वीप के एक तरफ से दूसरी तरफ चले गए और वे जिस किसी भी शहर से होकर गुजरे, उसमें उन्होंने सुसमाचार सन्देश को सुनाया।

Πάφου

साइप्रस द्वीप पर एक प्रमुख शहर जहाँ हाकिम रहता था

εὗρον

यहाँ ""मिला"" का अर्थ है कि उसे ढूँढ़े बिना वे उसके पास आए। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे मिले"" या ""वे आए

ἄνδρα, τινὰ μάγον

एक विशेष व्यक्ति जो जादू-टोने करता है या ""एक व्यक्ति जो अलौकिक जादुई कला को करता है

ᾧ ὄνομα Βαριησοῦς

बार-यीशु का अर्थ है ""यीशु का पुत्र।"" इस व्यक्ति और यीशु मसीह के बीच कोई सम्बन्ध नहीं है। यीशु उस समय एक सामान्य नाम था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 13:7

σὺν

अक्सर साथ था या ""की संगति में अक्सर था

ἀνθυπάτῳ

यह एक रोमी प्रान्त के प्रभारी राज्यपाल था। वैकल्पिक अनुवाद: ""राज्यपाल

ἀνδρὶ συνετῷ

यह सिरगियुस पौलुस के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

Acts 13:8

Ἐλύμας ὁ μάγος

यह बार-यीशु था, जिसे ""जादूगर"" भी कहा जाता था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

οὕτως…μεθερμηνεύεται τὸ ὄνομα αὐτοῦ

यही नाम था जिससे उसे यूनानी में पुकारा जाता था

ἀνθίστατο…αὐτοῖς…ζητῶν διαστρέψαι

विरोध करके उनको विश्वास करने से रोका या ""उनको विश्वास करने से रोकने का प्रयास किया

ζητῶν διαστρέψαι τὸν ἀνθύπατον ἀπὸ τῆς πίστεως

यहाँ ""करने से ... रोकना चाहा"" किसी को कुछ नहीं करने के लिए राजी करने के लिए एक रूपक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""राज्यपाल को सुसमाचार सन्देश पर विश्वास न करने के लिए मनाने का प्रयास किया"" (देखें: रूपक)

Acts 13:9

उसकी"" शब्द जादूगर एलीमास को सन्दर्भित करता है, जिसे बार-यीशु भी कहा जाता है (प्रेरितों के काम 13:6-8)।

पाफुस द्वीप पर रहते, पौलुस एलीमास से बात करना आरम्भ कर देता है।

Σαῦλος…ὁ καὶ Παῦλος

शाऊल उसका यहूदी नाम था, और ""पौलुस"" उसका रोमी नाम था। क्योंकि वह रोमी अधिकारी से बात कर रहा था, इसलिए उसने अपने रोमी नाम का उपयोग किया। वैकल्पिक अनुवाद: ""शाऊल, जो अब स्वयं को पौलुस कहता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἀτενίσας εἰς αὐτὸν

उसकी ओर टकटकी लगाकर देखा

Acts 13:10

υἱὲ διαβόλου

पौलुस कह रहा है कि वह व्यक्ति शैतान की तरह अभिनय कर रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तू शैतान की तरह है"" या ""तू शैतान की तरह कार्य करता है"" (देखें: लक्षणालंकार)

ὦ πλήρης παντὸς δόλου καὶ πάσης ῥᾳδιουργίας

तू सदैव झूठ का उपयोग करके दूसरों को उन बातों पर विश्वास कराने की मंशा रखता है जो सत्य नहीं है और सदैव वह कर रहा है जो गलत है

ῥᾳδιουργίας

इस सन्दर्भ में इसका अर्थ आलसी होना और परमेश्वर के नियमों का पालन करने में मेहनती नहीं होना है।

ἐχθρὲ πάσης δικαιοσύνης

पौलुस एलीमास को शैतान के साथ समूहीकृत कर रहा है। जैसे शैतान परमेश्वर का दुश्मन है और धर्म के विरूद्ध है, वैसे ही एलीमास भी था।

οὐ παύσῃ διαστρέφων τὰς ὁδοὺς τοῦ Κυρίου τὰς εὐθείας

पौलुस परमेश्वर का विरोध करने के लिए एलीमास को डाँटने के लिए इस प्रश्न का उपयोग करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तू सदैव कह रहा है कि प्रभु परमेश्वर के बारे में सच्चाई झूठी है!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

τὰς ὁδοὺς τοῦ Κυρίου τὰς εὐθείας

यहाँ ""सीधे मार्गों को"" उन तरीकों का उल्लेख करता है जो सत्य हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रभु के सही तरीके"" (देखें: मुहावरे)

Acts 13:11

तू"" और ""उसका"" शब्द एलीमास जादूगर का सन्दर्भ देते हैं। ""उसने"" शब्द सिरगियुस पौलुस, हाकिम (पाफुस के राज्यपाल) के विषय है।

पौलुस एलीमास से बात करना खत्म कर देता है।

χεὶρ Κυρίου ἐπὶ σέ

यहाँ ""हाथ"" परमेश्वर की सामर्थ्य का प्रतिनिधित्व करता है और ""तुझ पर"" का तात्पर्य दण्ड है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रभु तुझे दण्डित करेगा"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἔσῃ τυφλὸς

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर तुझे अन्धा बना देगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

μὴ βλέπων τὸν ἥλιον

एलीमास पूरी तरह से ऐसा अन्धा हो जाएगा कि वह सूर्य को भी देखने में सक्षम नहीं होगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""तू सूर्य को भी नहीं देखेगा

ἄχρι καιροῦ

निश्चित समय के लिए या ""परमेश्वर द्वारा नियुक्त समय तक

ἔπεσεν ἐπ’ αὐτὸν ἀχλὺς καὶ σκότος

एलीमास की आँखें धुंधली हो गईं और फिर अन्धेरा छा गया या ""एलीमास ने अस्पष्टता से देखना आरम्भ कर दिया और फिर वह कुछ भी नहीं देख सका

περιάγων

एलीमास इधर उधर भटकने लगा या ""एलीमास ने इधर उधर टटोलना आरम्भ किया और

Acts 13:12

ἀνθύπατος

यह एक रोमी प्रान्त के प्रभारी राज्यपाल था। वैकल्पिक अनुवाद: ""राज्यपाल

ἐπίστευσεν

वह यीशु पर विश्वास किया था

ἐκπλησσόμενος ἐπὶ τῇ διδαχῇ τοῦ Κυρίου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रभु के बारे में शिक्षा ने उसे चकित किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 13:13

कहानी के इस हिस्से के बारे में वचन 13 और 14 पृष्ठभूमि की जानकारी देते हैं। ""पौलुस और उसके साथी"" बरनबास और यूहन्ना मरकुस (जिसे यूहन्ना भी कहा जाता है) थे। इस स्थान से आगे, प्रेरितों के काम में शाऊल को पौलुस कहा गया है। पौलुस का नाम पहले सूचीबद्ध है जो संकेत करता है कि वह उस समूह का अगुवा बन गया था। इस क्रम को अनुवाद में रखना महत्वपूर्ण है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

यह पिसिदिया के अन्ताकिया में पौलुस के बारे में कहानी का एक नया हिस्सा है।

δὲ

यह कहानी के एक नए हिस्से की आरम्भ को चिन्हित करता है।

ἀναχθέντες…ἀπὸ τῆς Πάφου

पाफुस से पानी के जहाज के द्वारा यात्रा की

ἦλθον εἰς Πέργην τῆς Παμφυλίας

पिरगा में पहुँचे जो पम्फूलिया में है

Ἰωάννης δὲ ἀποχωρήσας ἀπ’ αὐτῶν

परन्तु यूहन्ना मरकुस ने पौलुस और बरनबास को छोड़ दिया

Acts 13:14

Ἀντιόχειαν τὴν Πισιδίαν

पिसिदिया जिले में अन्ताकिया शहर

Acts 13:15

μετὰ δὲ τὴν ἀνάγνωσιν τοῦ νόμου καὶ τῶν προφητῶν

व्यवस्था और भविष्यद्वक्ताओं"" यहूदी पवित्र शास्त्र के कुछ हिस्सों का उल्लेख करते हैं जिन्हें पढ़ा गया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""किसी के द्वारा व्यवस्था की पुस्तकों और भविष्यद्वक्ताओं के लेखों से पढ़ने के बाद"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

ἀπέστειλαν…πρὸς αὐτοὺς λέγοντες

किसी से कहने के लिए बोला या ""किसी से कहने के लिए कहा

ἀδελφοί

भाइयों"" उपाधि का उपयोग यहाँ यहूदी आराधनालय के लोगों द्वारा पौलुस और बरनबास को साथी यहूदियों के रूप में सन्दर्भित करने के लिए किया गया है।

εἴ τίς ἐστιν ἐν ὑμῖν λόγος παρακλήσεως

यदि आप हमें प्रोत्साहित करने के लिए कुछ कहना चाहते हैं

λέγετε

कृपया वह कहो या ""कृपया हमें बताओ

Acts 13:16

पहला ""उसने"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करता है। दूसरा ""वह"" शब्द परमेश्वर को सन्दर्भित करता है। यहाँ ""हमारे"" शब्द पौलुस और उसके साथी यहूदियों को सन्दर्भित करता है। ""ये"" और ""उनकी"" शब्द इस्राएलियों का सन्दर्भ देते हैं। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

पौलुस पिसिदिया के अन्ताकिया में यहूदी आराधनालय में उन लोगों के लिए अपना भाषण आरम्भ करता है। वह इस्राएल के इतिहास में हुई बातों के बारे में बात करके आरम्भ करता है।

κατασείσας τῇ χειρὶ

यह एक संकेत के रूप में उसके हाथों को हिलाए जाने को सन्दर्भित कर सकता है कि वह बोलने के लिए तैयार था। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह दिखाने के लिए अपने हाथों को हिलाया कि वह बोलने वाला था"" (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

οἱ φοβούμενοι τὸν Θεόν

यह उन अन्यजाति लोगों को सन्दर्भित करता है जो यहूदी धर्म में परिवर्तित हो गए थे। ""तुम जो इस्राएल नहीं परन्तु परमेश्वर की आराधना करते हो

τὸν Θεόν, ἀκούσατε

परमेश्वर, मेरी सुन या ""परमेश्वर, सुनो जो मैं कहने वाला हूँ

Acts 13:17

ὁ Θεὸς τοῦ λαοῦ τούτου Ἰσραὴλ

वह परमेश्वर जिसकी इस्राएल के लोग आराधना करते हैं

τοὺς πατέρας ἡμῶν

हमारे पूर्वज

τὸν λαὸν ὕψωσεν

उन्हें संख्या में बहुत अधिक बना दिया

μετὰ βραχίονος ὑψηλοῦ

यह परमेश्वर की बलशाली सामर्थ्य को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""महान सामर्थ्य के साथ"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἐξ αὐτῆς

मिस्र देश से बाहर निकाला

Acts 13:18

ἐτροποφόρησεν αὐτοὺς

इसका अर्थ है ""उन्होंने उन्हें सहन किया।"" कुछ संस्करणों में एक अलग शब्द है जिसका अर्थ है ""उन्होंने उनका ध्यान रखा।"" वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उनकी अनाज्ञाकारिता सहन की"" या ""परमेश्वर ने उनकी देखभाल की

Acts 13:19

यहाँ ""वह"" शब्द परमेश्वर को सन्दर्भित करता है। ""उनका देश"" शब्द उस देश को सन्दर्भित करते हैं जिसको सात जातियों ने पहले से अधिकार में किया हुआ था। ""उनकी"" शब्द इस्राएल के लोगों को सन्दर्भित करता है। ""हमारा"" शब्द पौलुस और उसके दर्शकों को सन्दर्भित करता है। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

ἔθνη

यहाँ ""जातियों"" शब्द लोगों के विभिन्न समूहों को सन्दर्भित करता है न कि भौगोलिक सीमाओं के लिए।

Acts 13:20

ὡς ἔτεσι τετρακοσίοις καὶ πεντήκοντα

पूरा करने के लिए 450 से अधिक वर्षों का समय लगा

ἕως Σαμουὴλ προφήτου

भविष्यद्वक्ता शमूएल के समय तक

Acts 13:21

यहाँ उद्धरण शमूएल के इतिहास और पुराने नियम में एतान के एक भजन में से है।

ἔτη τεσσεράκοντα

चालीस वर्षों तक उनके राजा बनने के लिए

Acts 13:22

μεταστήσας αὐτὸν

इस अभिव्यक्ति का अर्थ है कि परमेश्वर ने शाऊल को राजा होने से रोक दिया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""शाऊल के राजा होने को अस्वीकार कर दिया

ἤγειρεν τὸν Δαυεὶδ αὐτοῖς εἰς βασιλέα

परमेश्वर ने दाऊद को उनका राजा चुना

βασιλέα

इस्राएल का राजा या ""इस्राएलियों पर राजा

ᾧ…εἶπεν

परमेश्वर ने दाऊद के बारे में यह कहा

εὗρον

मैंने यह देखा है

ἄνδρα κατὰ τὴν καρδίαν μου

इस अभिव्यक्ति का अर्थ है कि यह ""वही व्यक्ति है जो वही चाहता है जो मैं चाहता हूँ।"" (देखें: मुहावरे)

Acts 13:23

यहाँ यह उद्धरण सुसमाचारों से है।

τούτου…ἀπὸ τοῦ σπέρματος

दाऊद के वंशजों से। इसे वाक्य के आरम्भ में इस पर जोर देने के लिए रखा गया है कि उद्धारकर्ता को दाऊद के वंशजों में से एक होना था (प्रेरितों के काम 13:22)।

ἤγαγεν τῷ Ἰσραὴλ

यह इस्राएल के लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस्राएल के लोगों को दिया"" (देखें: लक्षणालंकार)

κατ’ ἐπαγγελίαν

जैसे कि परमेश्वर ने प्रतिज्ञा की थी कि वह करेगा

Acts 13:24

βάπτισμα μετανοίας

आप ""मन फिराव"" शब्द को ""पश्चाताप करना"" क्रिया के रूप में अनुवाद कर सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""पश्चाताप करने के लिए बपतिस्मा"" या ""वह बपतिस्मा जिसके लिए लोग तब अनुरोध करते थे जब वे अपने पाप के लिए पश्चाताप करना चाहते थे"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Acts 13:25

τί ἐμὲ ὑπονοεῖτε εἶναι?

यूहन्ना ने यह प्रश्न लोगों को यह सोचने के लिए मजबूर करने के लिए पूछा कि वह कौन था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं कौन हूँ इसके बारे में सोचो"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

οὐκ εἰμὶ ἐγώ

यूहन्ना मसीह को सन्दर्भित कर रहा था, जिसके आने की वे अपेक्षा कर रहे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं मसीह नहीं हूँ"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἀλλ’ ἰδοὺ

यह इस बात के महत्व पर जोर देता है कि वह आगे क्या कहेगा।

ἔρχεται μετ’ ἐμὲ

यह भी मसीह को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मसीह जल्दी ही आएगा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

οὗ οὐκ εἰμὶ ἄξιος τὸ ὑπόδημα τῶν ποδῶν λῦσαι

मैं उसके जूते के फीते खोलने के योग्य भी नहीं हूँ। मसीह यूहन्ना से इतना महान है कि उसने उसके लिए छोटे से छोटा काम करने के योग्य भी महसूस नहीं किया था।

Acts 13:26

उन्होंने"" और ""उनके"" शब्द यरूशलेम में रहने वाले यहूदियों को सन्दर्भित करते हैं। यहाँ ""तुम्हारे"" शब्द पौलुस और आराधनालय में उसके पूरे दर्शकों को सम्मिलित करता है। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

ἀδελφοί, υἱοὶ γένους Ἀβραὰμ, καὶ οἱ ἐν ὑμῖν φοβούμενοι τὸν Θεό

पौलुस अपने यहूदियों और यहूदी धर्म में परिवर्तित हुए अन्यजाति दर्शकों को उन्हें सच्चे परमेश्वर की आराधना के रूप में उनकी विशेष स्थिति को स्मरण दिलाने के लिए सम्बोधित करता है।

ὁ λόγος τῆς σωτηρίας ταύτης ἐξαπεστάλη

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने इस उद्धार के बारे में सन्देश भेजा है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τῆς σωτηρίας ταύτης

उद्धार"" शब्द का अनुवाद ""बचाया"" क्रिया के साथ किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि परमेश्वर लोगों को बचाएगा"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Acts 13:27

τοῦτον ἀγνοήσαντες

यह नहीं पता था कि यह पुरुष यीशु ही वह था जिसे परमेश्वर ने उन्हें बचाने के लिए भेजा था

τὰς φωνὰς τῶν προφητῶν

यहाँ ""बातें"" शब्द भविष्यद्वक्ताओं के सन्देशों का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""भविष्यद्वक्ताओं के लेख"" या ""भविष्यद्वक्ताओं का सन्देश"" (देखें: लक्षणालंकार)

τὰς…ἀναγινωσκομένας

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिसे कोई पढ़ता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὰς φωνὰς τῶν προφητῶν…ἐπλήρωσαν

उन्होंने वास्तव में वही किया जो भविष्यद्वक्ताओं की पुस्तकों में भविष्यद्वक्ताओं ने कहा कि वे करेंगे

Acts 13:28

यहाँ ""वे"" शब्द यहूदी लोगों और उनके धार्मिक अगुवों को यरूशलेम में सन्दर्भित करता है। शब्द उसे"" यहाँ यीशु को सन्दर्भित करता है।

μηδεμίαν αἰτίαν θανάτου εὑρόντες

उन्हें कोई कारण नहीं मिला कि किसी को भी यीशु को क्यों मार डालना चाहिए था

ᾐτήσαντο Πειλᾶτον

यहाँ ""विनती की"" शब्द माँग करना, याचना करना या अनुरोध करना का एक मजबूत शब्दार्थ है।

Acts 13:29

ὡς δὲ ἐτέλεσαν πάντα τὰ περὶ αὐτοῦ γεγραμμένα

जब यीशु ने उन सभी बातों को किया जो भविष्यवक्ताओं ने कही थीं कि उसके साथ ऐसा होगा

καθελόντες ἀπὸ τοῦ ξύλου

स्पष्ट रूप से यह कहना सहायक हो सकता है कि ऐसा होने से पहले यीशु की मृत्यु हो गई थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने यीशु को मार डाला और फिर उसकी मृत्यु के बाद उसे क्रूस से नीचे उतार लिया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἀπὸ τοῦ ξύλου

क्रूस से। यह एक अलग तरीका था जिससे उस समय के लोगों ने क्रूस को सन्दर्भित किया था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 13:30

ὁ δὲ Θεὸς ἤγειρεν αὐτὸν

परन्तु लोगों ने जो किया और परमेश्वर ने जो किया, इसके बीच एक मजबूत अन्तर को दर्शाता है।

ἤγειρεν αὐτὸν ἐκ νεκρῶν

उसे उसने बीच में से जीवित कर दिया जो मर चुके थे। ""मरे हुओं"" के साथ रहने का अर्थ है कि यीशु मर चुका था।

ἤγειρεν αὐτὸν

यहाँ, जी उठना किसी ऐसे व्यक्ति को जो मर गया है फिर से जीवित कर देने के लिए एक मुहावरा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसे फिर से जीवित कर दिया"" (देखें: मुहावरे)

ἐκ νεκρῶν

उन सभी लोगों में से जो मर गए हैं। यह अभिव्यक्ति अधोलोक के सभी मृत लोगों को एक साथ बताती है। उनमें से किसी को जी उठाना उस व्यक्ति को फिर से जीवित करने की बात कहता है।

Acts 13:31

ὃς ὤφθη ἐπὶ ἡμέρας πλείους τοῖς συναναβᾶσιν αὐτῷ ἀπὸ τῆς Γαλιλαίας εἰς Ἰερουσαλήμ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिन चेलों ने यीशु के साथ गलील से यरूशलेम में यात्रा की थी, उन्हें कई दिनों तक उसे देखा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἡμέρας πλείους

हम अन्य लेखों से जानते हैं कि यह अवधि 40 दिन थी। ""कई दिनों"" का अनुवाद एक ऐसी स्थिति के साथ करें जो उस अवधि के लिए उचित होगी।

νῦν εἰσιν μάρτυρες αὐτοῦ πρὸς τὸν λαόν

यीशु के बारे में अब लोगों को गवाही दे रहे हैं या ""यीशु के बारे में अब लोगों को बता रहे हैं

Acts 13:32

यहाँ दूसरा उद्धरण भविष्यद्वक्ता यशायाह से है।

καὶ

यह शब्द एक घटना को चिन्हित करता है जो पिछले घटना के कारण हुई थी। इस विषय में, पिछली घटना है कि परमेश्वर यीशु को मृतकों में से जिला रहे हैं।

τοὺς πατέρας

हमारे पूर्वज। पौलुस अभी भी यहूदियों और परिवर्तित हुए अन्यजाति लोगों से पिसिदिया के अन्ताकिया में आराधनालय में बात कर रहा है। ये यहूदियों के शारीरिक पूर्वज, और परिवर्तित हुए लोगों के आत्मिक पूर्वज थे।

Acts 13:33

ἐκπεπλήρωκεν τοῖς τέκνοις ἡμῶν, ἀναστήσας

आपको इस वाक्य के हिस्सों को पुनर्व्यवस्थित करने की आवश्यकता हो सकती है, जो पद 32 में आरम्भ होता है। ""के द्वारा परमेश्वर ने हमारे, उनकी सन्तानों के लिए, इन प्रतिज्ञाओं को पूरा किया है जिनको उसने हमारे पूर्वजों के साथ बाँधा था,"" (देखें: पद सेतु)

τοῖς τέκνοις ἡμῶν

हमारे लिए, जो हमारे पूर्वजों की सन्तान हैं। पौलुस अभी भी यहूदियों और परिवर्तित हुए अन्यजाति लोगों से पिसिदिया के अन्ताकिया में आराधनालय में बात कर रहा है। ये यहूदियों के शारीरिक पूर्वज, और परिवर्तित हुए लोगों के आत्मिक पूर्वज थे।

ἀναστήσας Ἰησοῦν

यहाँ, जी उठना किसी ऐसे व्यक्ति को जो मर गया है फिर से जीवित कर देने के लिए एक मुहावरा है । वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु को फिर से जीवित करके"" (देखें: मुहावरे)

ὡς…ἐν τῷ ψαλμῷ γέγραπται τῷ δευτέρῳ

यही है जो दूसरे भजन संहिता में लिखा था

τῷ ψαλμῷ…τῷ δευτέρῳ

भजन संहिता 2

Υἱός…γεγέννηκά σε

ये महत्वपूर्ण पदवी हैं जो यीशु और परमेश्वर के बीच के सम्बन्ध का वर्णन करते हैं। (देखें: पुत्र और पिता का अनुवाद करना)

Acts 13:34

ὅτι δὲ ἀνέστησεν αὐτὸν ἐκ νεκρῶν, μηκέτι μέλλοντα ὑποστρέφειν εἰς διαφθοράν, οὕτως εἴρηκεν

परमेश्वर ने यीशु को उसके फिर से जीवित करने के बारे में इन शब्दों को बोला ताकि वह फिर कभी नहीं मरेगा

ἐκ νεκρῶν

उन सभी लोगों में से जो मर गए हैं। यह अभिव्यक्ति अधोलोक के सभी मृत लोगों को एक साथ बताती है। उनमें से वापस आना फिर से जीवित होने की बात कहता है।

τὰ ὅσια…τὰ πιστά

निश्चित आशीष

Acts 13:35

διότι καὶ ἐν ἑτέρῳ λέγει

पौलुस के दर्शकों ने यह समझा होगा कि यह भजन मसीह को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""दाऊद के एक और भजन में भी, वह मसीह के बारे में कहता है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

καὶ…λέγει

दाऊद भी कहता है। दाऊद भजन संहिता 16 का लेखक है, जिससे यह उद्धरण लिया गया है।

οὐ δώσεις τὸν Ὅσιόν σου ἰδεῖν διαφθοράν

सड़ने न देगा"" वाक्यांश ""सड़ने"" के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तू अपने पवित्र जन के शरीर को गलने की अनुमति नहीं देगा"" (देखें: लक्षणालंकार)

οὐ δώσεις

दाऊद यहाँ परमेश्वर से बात कर रहा है।

Acts 13:36

ἰδίᾳ γενεᾷ

अपने जीवनकाल में

ὑπηρετήσας τῇ τοῦ Θεοῦ βουλῇ

वह किया जो परमेश्वर उससे चाहता था या ""वह किया जिसने परमेश्वर को प्रसन्न किया

ἐκοιμήθη

यह मृत्यु का उल्लेख करने का एक विनम्र तरीका था। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह मर गया"" (देखें: शिष्टोक्ति)

προσετέθη πρὸς τοὺς πατέρας αὐτοῦ

उसे अपने पूर्वजों के साथ दफनाया गया जो मर गए थे

εἶδεν διαφθοράν

सड़ भी गया"" वाक्यांश ""उसका शरीर सड़ गया"" के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसका शरीर गल गया"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 13:37

ὃν δὲ

परन्तु यीशु जिसको

ὁ Θεὸς ἤγειρεν

यहाँ, जी उठना किसी ऐसे व्यक्ति को जो मर गया है फिर से जीवित कर देने के लिए एक मुहावरा है । वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने फिर से जीवित कर दिया"" (देखें: मुहावरे)

οὐκ εἶδεν διαφθοράν

सड़ने नहीं पाया"" वाक्यांश ""उसका शरीर नहीं सड़ा"" कहने का एक तरीका है। वैकल्पिक अनुवाद: ""नहीं गला"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 13:38

यहाँ ""उसके"" शब्द यीशु को सन्दर्भित करता है।

γνωστὸν…ἔστω ὑμῖν

यह जानो या ""यह जानना आपके लिए महत्वपूर्ण है

ἀδελφοί

पौलुस इस उपाधि का उपयोग इसलिए करता है क्योंकि वे उसके साथी-यहूदी और यहूदी धर्म के अनुयायी हैं। इस स्थान पर वे मसीही विश्वासी नहीं हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे साथी इस्राएलियों और अन्य मित्रों

ὅτι διὰ τούτου, ὑμῖν ἄφεσις ἁμαρτιῶν καταγγέλλεται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि हम तुम पर यह घोषणा करते हैं कि तुम्हारे पापों को यीशु के माध्यम से क्षमा किया जा सकता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἄφεσις ἁμαρτιῶν

भाववाचक संज्ञा ""क्षमा"" का अनुवाद ""क्षमा करने"" क्रिया के साथ किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि परमेश्वर तुम्हारे पापों को क्षमा कर सकता है"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Acts 13:39

ἐν τούτῳ πᾶς ὁ πιστεύων

उसके द्वारा हर व्यक्ति जो विश्वास करता है या ""हर कोई जो उस पर विश्वास करता है

ἐν τούτῳ πᾶς ὁ πιστεύων δικαιοῦται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु हर किसी विश्वास करने वाले को धर्मी ठहराता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

सारे पाप

Acts 13:40

पौलुस आराधनालय में लोगों को अपने सन्देश में, भविष्यद्वक्ता हबक्कूक को उद्धरित करता है। यहाँ ""मैं"" शब्द परमेश्वर को सन्दर्भित करता है।

पिसिदिया अन्ताकिया में आराधनालय में पौलुस अपने भाषण को समाप्त करता है, जिसे उसने प्रेरितों के काम 13:16 में आरम्भ किया था।

βλέπετε

यह निहित है कि जिस चीज के बारे में उन्हें सावधान रहना चाहिए वह पौलुस का सन्देश है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैंने जो बातें कही हैं उन पर ध्यान दो"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

τὸ εἰρημένον ἐν τοῖς προφήταις

ताकि जिसके बारे में भविष्यद्वक्ताओं ने कहा था

Acts 13:41

ἴδετε, οἱ καταφρονηταί

तुम जो तिरस्कार ​​महसूस करते हो या ""तुम जो उपहास करते हो

θαυμάσατε

चकित हो या ""चौंक जाओ

καὶ ἀφανίσθητε

फिर मर जाओ

ἔργον ἐργάζομαι

कुछ कर रहा हूँ या ""एक काम कर रहा हूँ

ἐν ταῖς ἡμέραις ὑμῶν

तुम्हारे जीवनकाल में

ἔργον ὃ

मैं कुछ कर रहा हूँ जो

ἐάν τις ἐκδιηγῆται ὑμῖν

भले ही कोई तुमको इसके बारे में बताता है

Acts 13:42

ἐξιόντων δὲ

जब पौलुस और बरनबास जा रहे थे

παρεκάλουν

का उनसे आग्रह किया

τὰ ῥήματα ταῦτα

यहाँ ""बातें"" उस सन्देश को सन्दर्भित करता है जिसे पौलुस ने कहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""यही सन्देश"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 13:43

λυθείσης δὲ τῆς συναγωγῆς

सम्भावित अर्थ हैं 1) ""पौलुस और बरनबास के निकलते समय"" यह वचन 42 में फिर से कहा जाता है या 2) पौलुस और बरनबास समाप्त होने से पहले सभा से चले गए और बाद में ऐसा हुआ।

προσηλύτων

ये अन्यजाति लोग थे जो यहूदी धर्म में परिवर्तित हो गए थे।

οἵτινες προσλαλοῦντες αὐτοῖς, ἔπειθον αὐτοὺς

और पौलुस और बरनबास ने उन लोगों से बात की और उनसे आग्रह किया

προσμένειν τῇ χάριτι τοῦ Θεοῦ

यह निहित है कि उन्होंने पौलुस के सन्देश पर विश्वास किया था कि यीशु ही मसीह था। वैकल्पिक अनुवाद: ""इस बात पर भरोसा करते रहे कि यीशु के कामों के कारण परमेश्वर लोगों के पापों को क्षमा करता है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 13:44

यहाँ ""उसका"" शब्द पौलुस के संदर्भ में है।

σχεδὸν πᾶσα ἡ πόλις

नगर"" शब्द नगर के लोगों का प्रतिनिधित्व करता है। इस वाक्यांश का प्रयोग परमेश्वर के वचन के लिए महान प्रतिक्रिया दिखाने के लिए किया गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""नगर के लगभग सभी लोग"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἀκοῦσαι τὸν λόγον τοῦ Κυρίου

यह निहित है कि पौलुस और बरनबास ही वे लोग थे जिन्होंने परमेश्वर के वचन की बात की थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""पौलुस और बरनबास को प्रभु यीशु के बारे में बोलते हुए सुनने के लिए"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 13:45

οἱ Ἰουδαῖοι

यहूदी"" यहाँ यहूदी अगुवों का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यहूदी अगुवे"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

ἐπλήσθησαν ζήλου

यहाँ ईर्ष्या की बात ऐसे की गई है जैसे कि यह ऐसा कुछ था जो किसी व्यक्ति को भर सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""बहुत अधिक ईर्ष्यापूर्ण हो गए"" (देखें: रूपक)

ἀντέλεγον

विरोधाभास या ""विरोध

τοῖς ὑπὸ Παύλου λαλουμένοις

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे बातें जो पौलुस ने कहीं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 13:46

तुम"" शब्द के पहले दो उदाहरण बहुवचन हैं और उन यहूदियों को सन्दर्भित करते हैं जिनसे पौलुस बोल रहा है। यहाँ ""हम"" और ""हमें"" शब्द पौलुस और बरनबास को सन्दर्भित करते हैं, परन्तु उस भीड़ को नहीं जो उपस्थित थी। पौलुस का उद्धरण पुराने नियम में से यशायाह भविष्यद्वक्ता से है। मूल सन्दर्भ में, ""मैं"" शब्द परमेश्वर के विषय में है और ""तुम"" शब्द एकवचन है और मसीह को सन्दर्भित करता है। यहाँ, पौलुस और बरनबास ऐसा कहते हुए प्रतीत हो रहे हैं कि उद्धरण भी उनकी सेवकाई को सन्दर्भित करता है। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

ἦν ἀναγκαῖον

इसका तात्पर्य है कि ऐसा होने के लिए परमेश्वर ने आदेश दिया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने आदेश दिया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ὑμῖν…ἀναγκαῖον πρῶτον λαληθῆναι τὸν λόγον τοῦ Θεοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। ""परमेश्वर का वचन"" यहाँ ""परमेश्वर से सन्देश"" के लिए एक उपलक्ष्य अलंकार है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि हम पहले तुमको परमेश्वर का सन्देश बताते हैं"" या ""कि हम पहले तुमको परमेश्वर का वचन बताते हैं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य और उपलक्षण अलंकार)

ἐπειδὴ ἀπωθεῖσθε αὐτὸν

उनके परमेश्वर के वचन को अस्वीकार करने के बारे में ऐसे बताया गया है, जैसे कि मानो यह कुछ चीज थी जिसे उन्होंने दूर कर दिया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि तुम परमेश्वर के वचन को अस्वीकार करते हो"" (देखें: रूपक)

οὐκ ἀξίους κρίνετε ἑαυτοὺς τῆς αἰωνίου ζωῆς

दिखाया है कि तुम अनन्त जीवन के योग्य नहीं हो या ""ऐसे बर्ताव करते हो जैसे कि तुम अनन्त जीवन के योग्य नहीं हो

στρεφόμεθα εἰς τὰ ἔθνη

हम अन्यजातियों के पास जाएँगे। पौलुस और बरनबास यह संकेत कर रहे थे कि वे अन्यजातियों में प्रचार करेंगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""हम तुम्हें छोड़ देंगे और अन्यजातियों पर प्रचार करना आरम्भ करेंगे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 13:47

εἰς φῶς

यीशु के बारे में सच्चाई को जिसका पौलुस प्रचार कर रहा था यहाँ ऐसे कहा गया है, जैसे कि यह एक प्रकाश था जिसने लोगों को देखने में सक्षम किया था। (देखें: रूपक)

εἰς σωτηρίαν ἕως ἐσχάτου τῆς γῆς

अमूर्त शब्द ""उद्धार"" का अनुवाद ""बचाने के लिए"" क्रिया के साथ किया जा सकता है। ""छोर तक"" वाक्यांश हर स्थान को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""संसार के हर स्थान के लोगों को बताओ कि मैं उन्हें बचाना चाहता हूँ"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Acts 13:48

ἐδόξαζον τὸν λόγον τοῦ Κυρίου

यहाँ ""वचन"" यीशु के बारे में सन्देश को सन्दर्भित करता है जिसे उन्होंने माना था। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रभु यीशु के बारे में सन्देश के लिए परमेश्वर की प्रशंसा की"" (देखें: लक्षणालंकार)

ὅσοι ἦσαν τεταγμένοι εἰς ζωὴν αἰώνιον

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जितने लोगों को परमेश्वर ने अनन्त जीवन के लिए नियुक्त किया था उन्होंने विश्वास किया"" या ""उन सभी लोगों ने जिन्हें परमेश्वर ने अनन्त जीवन प्राप्त करने के लिए चुना था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 13:49

διεφέρετο…ὁ λόγος τοῦ Κυρίου δι’ ὅλης τῆς χώρας

यहाँ ""वचन"" यीशु के बारे में सन्देश को सन्दर्भित करता है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिन लोगों ने विश्वास किया था उन्होंने उस पूरे क्षेत्र में परमेश्वर के वचन को फैला दिया"" या ""जिन लोगों ने विश्वास किया था वे उस क्षेत्र के प्रत्येक स्थान पर चले गए और दूसरों को यीशु के सन्देश के बारे में बताया"" (देखें: लक्षणालंकार और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 13:50

यहाँ ""वे"" शब्द पौलुस और बरनबास को सन्दर्भित करता है।

यह पिसिदिया के अन्ताकिया में पौलुस और बरनबास के समय को समाप्त करता है और वे इकुनियुम जाते हैं।

οἱ…Ἰουδαῖοι

यह सम्भवतः यहूदियों के अगुवों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यहूदी अगुवे"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

παρώτρυναν

राजी किया या ""भड़का दिया

τοὺς πρώτους

प्रमुख लोगों को

ἐπήγειραν διωγμὸν ἐπὶ τὸν Παῦλον καὶ Βαρναβᾶν

उन्होंने महत्वपूर्ण पुरुषों और स्त्रियों को पौलुस और बरनबास को सताने के लिए राजी कर लिया

ἐξέβαλον αὐτοὺς ἀπὸ τῶν ὁρίων αὐτῶν

अपने शहर से पौलुस और बरनबास को निकाल दिया

Acts 13:51

ἐκτιναξάμενοι τὸν κονιορτὸν τῶν ποδῶν ἐπ’ αὐτοὺς

यह विश्वास न करने वाले लोगों की ओर संकेत करने का एक प्रतीकात्मक कार्य था कि परमेश्वर ने उन्हें अस्वीकार कर दिया था और उन्हें दण्डित करेगा। (देखें: प्रतीकात्मक भाषा)

Acts 13:52

οἵ…μαθηταὶ

यह सम्भवतः पिसिदिया के अन्ताकिया में नए विश्वासियों को सन्दर्भित करता है कि पौलुस और सीलास चले गए थे।

Acts 14

प्रेरितों के काम 14 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

""उसके अनुग्रह का सन्देश""

यीशु का सन्देश यह सन्देश है कि परमेश्वर उन लोगों पर कृपा दिखाएगा जो यीशु पर विश्वास करते हैं। (देखें: अनुग्रह, अनुग्रहकारी और विश्वास करना, विश्वासी, विश्वास, अविश्वासी, अविश्वास)

ज्यूस और हिर्मेस

रोमी साम्राज्य की अन्यजातियों ने कई अलग-अलग झूठे देवताओं की आराधना करते थे जो वास्तव में विद्यमान नहीं हैं। पौलुस और बरनबास ने उन्हें ""जीवित परमेश्वर"" में विश्वास करने के लिए कहा। (देखें: देवता, झूठे देवता, देवियाँ, मूर्ति, मूर्तिपूजक, मूर्ति पूजा)

इस अध्याय में अन्य संभावित अनुवाद की कठिनाइयाँ

""हमें बड़े क्लेश उठाकर परमेश्वर के राज्य में प्रवेश करना होगा।""

यीशु ने मरने से पहले अपने अनुयायियों से कहा था उसके पीछे चलने वाले हर एक को बहुत दुःख उठाना पडेगा। पौलुस अलग-अलग शब्दों का उपयोग करके वही बात कह रहा है।

Acts 14:1

इकुनियुम में पौलुस और बरनबास की कहानी आगे बढ़ती है।

ἐγένετο δὲ, ἐν Ἰκονίῳ

यहाँ सम्भावित अर्थ हैं 1) ""यह इकुनियुम में हुआ कि"" या 2) ""सामान्य रूप से इकुनियुम में

λαλῆσαι οὕτως

बड़े सामर्थी रूप से बात की। यह कहना सहायक हो सकता है कि उन्होंने यीशु के बारे में सन्देश बताया। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु के बारे में सन्देश बड़े सामर्थी रूप से बोला"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 14:2

οἱ…ἀπειθήσαντες Ἰουδαῖοι

यह उन यहूदियों के एक दल को सन्दर्भित करता है जिन्होंने यीशु के बारे में सन्देश पर विश्वास नहीं किया था।

ἐπήγειραν…τὰς ψυχὰς τῶν ἐθνῶν

अन्यजातियों के क्रोधित करने को ऐसे बताया गया है जैसे कि मानो शान्त पानी में हलचल हो गई थी। (देखें: रूपक)

τὰς ψυχὰς

यहाँ ""के मन"" शब्द लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अन्यजाति"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

τῶν ἀδελφῶν

यहाँ ""भाइयों"" पौलुस और बरनबास और नए विश्वासियों को सन्दर्भित करता है।

Acts 14:3

यहाँ ""वह"" शब्द परमेश्वर को सन्दर्भित करता है।

μὲν οὖν…διέτριψαν

फिर भी वे वहाँ रहे। पौलुस और बरनबास उन लोगों की सहायता के लिए इकुनियुम में रहे थे जिन्होंने प्रेरितों के काम 14:1 में विश्वास किया था। यदि ""और"" पाठ में भ्रम को जोड़ता है तो इसे छोड़ा जा सकता है।

τῷ μαρτυροῦντι τῷ λόγῳ τῆς χάριτος αὐτοῦ

दिखाया कि उनके अनुग्रह के बारे में सन्देश सत्य था

τῷ λόγῳ τῆς χάριτος αὐτοῦ

परमेश्वर की कृपा के सन्देश के बारे में

διδόντι σημεῖα καὶ τέρατα γίνεσθαι διὰ τῶν χειρῶν αὐτῶν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पौलुस और बरनबास को चिन्ह और आश्चर्यकर्म करने के लिए सक्षम करके"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

διὰ τῶν χειρῶν αὐτῶν

यहाँ ""हाथों से"" पवित्र आत्मा द्वारा निर्देशित इन दोनों पुरुषों की इच्छा और प्रयास को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पौलुस और बरनबास की सेवकाई द्वारा"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 14:4

ἐσχίσθη…τὸ πλῆθος τῆς πόλεως

नगर"" यहाँ नगर के लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""नगर के अधिकांश लोग विभाजित हो गए थे"" या ""नगर के अधिकांश लोग एक-दूसरे से सहमत नहीं हुए थे"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἦσαν σὺν τοῖς Ἰουδαίοις

यहूदियों का समर्थन किया या ""यहूदियों के साथ सहमत हुए।"" उल्लेख किया गया पहला समूह अनुग्रह के बारे में सन्देश से सहमत नहीं हुआ था।

σὺν τοῖς ἀποστόλοις

उल्लेख किया गया दूसरा समूह अनुग्रह के बारे में सन्देश के साथ सहमत हुआ था। क्रिया को पुन: व्यक्त करना सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रेरितों के पक्ष में हो गए"" (देखें: पदन्यूनता)

τοῖς ἀποστόλοις

लूका पौलुस और बरनबास को सन्दर्भित करता है। यहाँ ""प्रेरित"" का उपयोग ""भेजे गए लोगों"" की सामान्य समझ में किया जा सकता है।

Acts 14:5

यहाँ ""वे"" शब्द पौलुस और बरनबास को सन्दर्भित करता है।

ἐγένετο ὁρμὴ…τοῖς ἄρχουσιν αὐτῶν

इकुनियुम के अगुवों को मनाने का प्रयास किया। यहाँ ""कोशिश की"" का तात्पर्य है कि प्रेरितों के नगर छोड़ने से पहले वे उन्हें पूरी तरह से मनाने में सक्षम नहीं थे।

ὑβρίσαι καὶ λιθοβολῆσαι αὐτούς

पौलुस और बरनबास को पीटने के लिए और उन पर पत्थरवाह करके मार डालने के लिए

Acts 14:6

τῆς Λυκαονίας

एशिया माइनर में एक जिला (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Λύστραν

एशिया माइनर में इकुनियुम के दक्षिण में और दिरबे के उत्तर में एक शहर (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Δέρβην

एशिया माइनर में इकुनियुम और लुस्त्रा के दक्षिण में एक शहर (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 14:7

κἀκεῖ εὐαγγελιζόμενοι ἦσαν

जहाँ पौलुस और बरनबास शुभ सुमाचार का प्रचार करते रहे

Acts 14:8

पहला ""वह"" शब्द लंगड़े व्यक्ति को सन्दर्भित करता है; दूसरा शब्द ""वह"" पौलुस को सन्दर्भित करता है। ""उसकी"" शब्द लंगड़े व्यक्ति को सन्दर्भित करता है।

पौलुस और बरनबास अब लुस्त्रा में हैं।

τις ἀνὴρ…ἐκάθητο

यह कहानी में एक नए व्यक्ति प्रस्तुत करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἀδύνατος…τοῖς ποσὶν

अपने पैरों को हिलाने में असमर्थ या ""अपने पैरों पर चलने में असमर्थ

χωλὸς ἐκ κοιλίας μητρὸς αὐτοῦ

एक लंगड़े के रूप में जन्म लिया था

χωλὸς

व्यक्ति जो चल नहीं सकता है

Acts 14:9

ὃς ἀτενίσας αὐτῷ

पौलुस ने सीधे उसकी ओर देखा

ἔχει πίστιν τοῦ σωθῆναι

भाववाचक संज्ञा ""विश्वास"" का अनुवाद ""भरोसा"" क्रिया के साथ किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""भरोसा किया कि यीशु उसे चंगा कर सकता है"" या ""भरोसा किया कि यीशु उसे अच्छा कर सकता है"" (देखें: भाववाचक संज्ञा और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 14:10

ἥλατο

हवा में छलांग लगाई इसका तात्पर्य है कि उसके पैर पूरी तरह से ठीक हो गए थे।

Acts 14:11

ὃ ἐποίησεν Παῦλος

यह पौलुस का लंगड़े व्यक्ति को ठीक करने का सन्दर्भ देता है।

ἐπῆραν τὴν φωνὴν αὐτῶν

आवाज ऊँची करना जोर से बोलना है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने जोर से बोला"" (देखें: https://git.door43.org/Door43-Catalog/hi_ta/src/branch/master/translate/figs-idiom/01.md)

οἱ θεοὶ…κατέβησαν πρὸς ἡμᾶς

बड़ी संख्या में लोगों ने मान लिया ​​था कि पौलुस और बरनबास उनकी मूर्तियों वाले देवता थे जो स्वर्ग से नीचे आए थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे देवता स्वर्ग से नीचे हमारे पास आए हैं"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Λυκαονιστὶ

अपनी लुकाउनियाई भाषा में। लुस्त्रा के लोग लुकाउनियाई भाषा के साथ-साथ यूनानी भी बोलते थे।

ὁμοιωθέντες ἀνθρώποις

इन लोगों ने मान लिया ​​था कि मनुष्यों की तरह दिखने के लिए इन देवताओं को अपने दिखावे को बदलने की आवश्यकता थी।

Acts 14:12

Δία

ज्यूस अन्य सभी मूर्तियों वाले देवताओं पर राजा था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Ἑρμῆν

हिर्मेस मूर्तियों वाला देवता था जो ज्यूस और अन्य देवताओं के सन्देशों को लोगों तक लाता था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 14:13

ὅ τε ἱερεὺς τοῦ Διὸς, τοῦ ὄντος πρὸ τῆς πόλεως…ἐνέγκας

पुजारी के बारे में अतिरिक्त जानकारी सम्मिलित करना सहायक हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""शहर के बाहर एक मन्दिर था जहाँ लोग ज्यूस की आराधना करते थे। जब मन्दिर में सेवा करने वाले पुजारी ने वह सुना जो पौलुस और बरनबास ने किया था, तो वह लेकर आया ""(देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ταύρους καὶ στέμματα

बैलों को बलिदान किया जाना था। वे हार या तो पौलुस और बरनबास के मुकुट के लिए थे, या बलिदान के बैलों के ऊपर रखने के लिए थे।

ἐπὶ τοὺς πυλῶνας

शहरों के फाटकों को अक्सर शहर के लोगों के लिए एक सभास्थल के रूप में उपयोग किया गया था।

ἤθελεν θύειν

पौलुस और बरनबास के लिए ज्यूस और हिर्मेस देवता के रूप में बलिदान चढ़ाना चाहता था

Acts 14:14

οἱ ἀπόστολοι Βαρναβᾶς καὶ Παῦλος

लूका यहाँ सम्भवतः ""प्रेरित"" को सामान्य अर्थ में ""भेजा गया जन"" के रूप में उपयोग कर रहा है।

διαρρήξαντες τὰ ἱμάτια ἑαυτῶν

यह दिखाने के लिए एक प्रतीकात्मक गतिविधि थी कि वे बहुत व्यथित और परेशान थे कि भीड़ उनके लिए बलिदान करना चाहती थी।

Acts 14:15

ἄνδρες, τί ταῦτα ποιεῖτε

बरनबास और पौलुस लोगों को बलिदान करने का प्रयास करने के लिए डाँट रहे हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""हे लोगों, तुमको इन बातों को नहीं करना चाहिए!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ταῦτα ποιεῖτε

हमारी आराधना करना

καὶ ἡμεῖς ὁμοιοπαθεῖς ἐσμεν ὑμῖν ἄνθρωποι

इस कथन से, बरनबास और पौलुस कह रहे हैं कि वे देवता नहीं हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""हम केवल तुम्हारे जैसे मनुष्य हैं। हम देवता नहीं हैं!

ὁμοιοπαθεῖς…ὑμῖν

हर तरह से तुम्हारी तरह

ἀπὸ τούτων τῶν ματαίων ἐπιστρέφειν ἐπὶ Θεὸν ζῶντα

यहाँ ""से ... की ओर फिरो"" एक रूपक है जिसका अर्थ है किसी एक काम को करने से रुकना और कुछ और करना आरम्भ करना। वैकल्पिक अनुवाद: ""इन झूठे देवताओं की आराधना करना बन्द करो जो तुम्हारी सहायता नहीं कर सकते हैं, और इसकी अपेक्षा जीवित परमेश्वर की आराधना करना आरम्भ करो"" (देखें: रूपक)

Θεὸν ζῶντα

एक परमेश्वर जो वास्तव में विद्यमान है या ""एक परमेश्वर जो जीवित है

Acts 14:16

ἐν ταῖς παρῳχημέναις γενεαῖς

पिछले समयों में या ""अब तक

πορεύεσθαι ταῖς ὁδοῖς αὐτῶν

एक मार्ग पर चलना, या एक पथ पर चलना, किसी जीवित जन के जीवन के लिए एक रूपक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अपने जीवनों को जिस तरह से वे चाहते थे वैसे जीने से"" या ""जो कुछ भी वे करना चाहते थे उसको करने से"" (देखें: रूपक)

Acts 14:17

पौलुस और बरनबास लुस्त्रा शहर के बाहर भीड़ से बात करना जारी रखते हैं (प्रेरितों के काम 14:8)।

οὐκ ἀμάρτυρον αὑτὸν ἀφῆκεν

यह सकारात्मक रूप में भी कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने निश्चित रूप से एक गवाह छोड़ा है"" या ""परमेश्वर ने वास्तव में गवाही दी है"" (देखें: विडंबना)

ἀγαθουργῶν

जैसा कि तथ्य से दिखाया गया है कि

ἐμπιπλῶν τροφῆς καὶ εὐφροσύνης τὰς καρδίας ὑμῶν

यहाँ ""तुम्हारे मन"" लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""खाने के लिए पर्याप्त भोजन और आनन्द प्रदान करने वाली वस्तुएँ तुमको देता रहा"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 14:18

μόλις κατέπαυσαν τοὺς ὄχλους τοῦ μὴ θύειν αὐτοῖς

पौलुस और बरनबास ने भीड़ को उनके लिए बलिदान करने से रोक दिया, परन्तु ऐसा करना कठिन था।

μόλις κατέπαυσαν

रोकने में कठिनाई हुई थी

Acts 14:19

यहाँ ""वह"" और ""उसे"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करते हैं।

πείσαντες τοὺς ὄχλους

यह स्पष्ट रूप से यह बताने में सहायतापूर्ण होगा कि उन्होंने भीड़ को क्या करने के लिए मना लिया। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों को पौलुस और बरनबास पर विश्वास नहीं करने और उनके विरूद्ध होने के लिए मना लिया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

τοὺς ὄχλους

यह पिछले वचन में ""भीड़"" वाला वही समान समूह नहीं हो सकता है। कुछ समय बीत चुका था, और यह एक अलग समूह हो सकता है जो एक साथ इकट्ठा हुआ था।

νομίζοντες αὐτὸν τεθνηκέναι

क्योंकि उन्होंने सोचा कि वह पहले ही मर चुका था

Acts 14:20

τῶν μαθητῶν

ये लुस्त्रा शहर में नए विश्वासी थे।

εἰσῆλθεν εἰς τὴν πόλιν

पौलुस ने विश्वासियों के साथ लुस्त्रा में फिर से प्रवेश किया

ἐξῆλθεν σὺν τῷ Βαρναβᾷ εἰς Δέρβην

पौलुस और बरनबास दिरबे शहर को गए

Acts 14:21

यहाँ ""वे"" और ""वे"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करते हैं। यहाँ ""हमें"" शब्द पौलुस, बरनबास और विश्वासियों को सम्मिलित करता है। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

τὴν πόλιν ἐκείνην

दिरबे (प्रेरितों के काम 14:20)

Acts 14:22

ἐπιστηρίζοντες τὰς ψυχὰς τῶν μαθητῶν

यहाँ ""मन"" चेलों को सन्दर्भित करता है। यह उनके आंतरिक विचारों और विश्वास पर जोर देता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पौलुस और बरनबास ने विश्वासियों से आग्रह किया कि वे यीशु के बारे में सन्देश पर विश्वास करते रहें"" या ""पौलुस और बरनबास ने विश्वासियों से यीशु के साथ अपने सम्बन्ध में दृढ़ता से बढ़ते रहने के लिए आग्रह किया (देखें: उपलक्षण अलंकार)

παρακαλοῦντες ἐμμένειν τῇ πίστει

विश्वासियों को यीशु पर भरोसा करते रहने के लिए प्रोत्साहित करना

καὶ ὅτι διὰ πολλῶν θλίψεων, δεῖ ἡμᾶς εἰσελθεῖν εἰς τὴν Βασιλείαν τοῦ Θεοῦ

कुछ संस्करण इसे अप्रत्यक्ष उद्धरण के रूप में अनुवाद करते हैं, ""कहते हुए कि हमें कई पीड़ाओं के माध्यम से परमेश्वर के राज्य में प्रवेश करना होगा।"" यहाँ ""हमें"" शब्द में लूका और पाठक सम्मिलित हैं। (देखें: उद्धरण एवं उद्धरण हासिये और समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

δεῖ ἡμᾶς εἰσελθεῖν

पौलुस अपने सुनने वालों को सम्मिलित करता है, इसलिए ""हम"" शब्द समावेशी है। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

Acts 14:23

वे"" शब्द के तीसरे उपयोग को छोड़कर, जो उन लोगों को सन्दर्भित करता है जिनको पौलुस और बरनबास ने परमेश्वर की ओर अग्रसर किया था, सभी ""वे"" शब्द यहाँ पौलुस और बरनबास का उल्लेख करते हैं।

χειροτονήσαντες δὲ αὐτοῖς κατ’ ἐκκλησίαν πρεσβυτέρους

जब पौलुस और बरनबास ने विश्वासियों के प्रत्येक नए समूह में अगुवों को नियुक्त किया था

παρέθεντο αὐτοὺς

सम्भावित अर्थ हैं 1) ""पौलुस और बरनबास ने उन प्राचीनों को सौंपा जिन्हें उन्होंने नियुक्त किया था"" या 2) ""पौलुस और बरनबास ने अगुवों और अन्य विश्वासियों को सौंपा

εἰς ὃν πεπιστεύκεισαν

पिछली टिप्पणी में ""उन्हें"" के अर्थ के लिए आपकी पसन्द की निर्भरता को ""वे"" सन्दर्भित करता है (या तो प्राचीन या अगुवे और अन्य विश्वासी)

Acts 14:25

καὶ λαλήσαντες ἐν Πέργῃ τὸν λόγον

यहाँ वचन ""परमेश्वर के सन्देश"" के लिए एक उपनाम है। वैकल्पिक अनुवाद: ""(देखें: लक्षणालंकार)

κατέβησαν εἰς Ἀττάλιαν

यहाँ ""में आए"" वाक्यांश का प्रयोग इसलिए किया गया है क्योंकि पिरगा की तुलना में अत्तालिया नीचे है।

Acts 14:26

ὅθεν ἦσαν παραδεδομένοι τῇ χάριτι τοῦ Θεοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जहाँ अन्ताकिया के विश्वासियों और अगुवों ने पौलुस और बरनबास को परमेश्वर की कृपा में समर्पित किया था"" या ""जहाँ अन्ताकिया के लोगों ने प्रार्थना की थी कि परमेश्वर पौलुस और बरनबास की देखभाल करेगा और उनकी रक्षा करेगा

Acts 14:27

यहाँ ""उन्होंने,"" ""उनके,"" और ""वे"" शब्द पौलुस और बरनबास को सन्दर्भित करते हैं। ""उसने"" शब्द परमेश्वर को सन्दर्भित करता है।

συναγαγόντες τὴν ἐκκλησίαν

एक साथ मिलने के लिए स्थानीय विश्वासियों को बुलाया

ἤνοιξεν τοῖς ἔθνεσιν θύραν πίστεως

परमेश्वर का अन्यजातियों को विश्वास करने में सक्षम बनाना ऐसे बोला गया है जैसे कि उसने एक दरवाजा खोल दिया था जिसने उन्हें विश्वास में प्रवेश करने से रोका था। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने अन्यजातियों के लिए विश्वास करना सम्भव बना दिया"" (देखें: रूपक)

Acts 15

प्रेरितों के काम 15 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

कुछ अनुवाद पढ़ने के लिए आसान बनाने के लिए पाठ के शेष हिस्सों की तुलना में कविता की प्रत्येक पंक्ति को दाईं ओर व्यवस्थित करते हैं । यूएलटी अनुवाद कविता के साथ ऐसा करता है जिसे 15:16-17 में पुराने नियम से उद्धरित किया गया है।

इस अध्याय में लूका का वर्णन करने वाली बैठक को सामान्य तौर पर ""यरूशलेम की परिषद"" कहा जाता है। यह एक समय था जब कई कलीसिया के अगुवे यह निर्धारित करने के लिए एक साथ मिले कि क्या विश्वासियों को मूसा की सम्पूर्ण व्यवस्था का पालन करने की आवश्यकता है।

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

भाइयों

इस अध्याय में लूका साथी मसीहियों के सन्दर्भ में साथी यहूदियों की अपेक्षा ""भाइयों"" शब्द का प्रयोग करना आरम्भ करता है।

मूसा की व्यवस्था का पालन करना

कुछ विश्वासी चाहते थे कि अन्यजातियों का खतना किया जाए क्योंकि परमेश्वर ने अब्राहम और मूसा को बताया था कि हर कोई जो उससे सम्बन्धित होना चाहता था उसका खतना किया जाना था और यह एक व्यवस्था थी जो सदैव विद्यमान रहेगी। परन्तु पौलुस और बरनबास ने देखा था कि परमेश्वर खतनारहित अन्यजातियों को पवित्र आत्मा का उपहार देता है, इसलिए उन्होंने नहीं चाहा था कि अन्यजातियों का खतना हो। दोनों समूह यरूशलेम गए थे ताकि कलीसिया के अगुवों से यह निर्धारित करा सकें कि उन्हें क्या करना चाहिए।

""मूर्तियों को बलि की हुई चीजों से, लहू से, गला घोटे हुओं से और यौन अनैतिकता से दूर रहें""

यह सम्भव है कि कलीसिया के अगुवों ने इन व्यवस्थाओं पर निर्णय किया ताकि यहूदी और अन्यजाति न केवल एक साथ रह सकें अपितु एक साथ एक ही भोजन को खा सकें।

Acts 15:1

जब अन्यजातियों और खतना के बारे में विवाद होता है तो उस समय पौलुस और बरनबास अन्ताकिया में ही हैं।

τινες

कुछ लोग। आप स्पष्ट कर सकते हैं कि ये लोग यहूदी थे जिन्होंने मसीह पर विश्वास किया था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

κατελθόντες ἀπὸ τῆς Ἰουδαίας

यहाँ ""से आकर"" वाक्यांश का उपयोग इसलिए किया गया है क्योंकि अन्ताकिया की तुलना में यहूदिया ऊँचाई पर है।

ἐδίδασκον τοὺς ἀδελφοὺς

यहाँ ""भाइयों"" मसीह में विश्वासियों का प्रतीक है। यह निहित है कि वे अन्ताकिया में थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""अन्ताकिया में विश्वासियों को सिखाया"" या ""अन्ताकिया में विश्वासियों को सिखा रहे थे"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐὰν μὴ περιτμηθῆτε τῷ ἔθει τῷ Μωϋσέως, οὐ δύνασθε σωθῆναι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब तक कोई तुम्हारा मूसा की रीति के अनुसार खतना नहीं करता, परमेश्वर तुम्हें बचा नहीं सकता"" या ""जब तक तुम मूसा की व्यवस्था के अनुसार खतना नहीं करवाते परमेश्वर तुमको तुम्हारे पापों से नहीं बचाएगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 15:2

στάσεως καὶ ζητήσεως οὐκ ὀλίγης…πρὸς αὐτοὺς

भाववाचक संज्ञा ""बहुत मतभेद"" और ""विवाद"" क्रियाओं के रूप में वर्णित किया जा सकता है और वे पुरुष कहाँ से आए इसे स्पष्ट किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यहूदिया से आए पुरुषों के साथ सामना था और विवाद हुआ था"" (देखें: भाववाचक संज्ञा और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἀναβαίνειν…εἰς Ἰερουσαλὴμ

यरूशलेम इस्राएल में लगभग किसी भी अन्य स्थान से ऊँचाई पर स्थित था, इसलिए इस्राएलियों के लिए यरूशलेम को ऊपर जाने की बात करना सामान्य था।

τοῦ ζητήματος τούτου

यह विषय

Acts 15:3

यहाँ ""वे,"" ""उन्होंने,"" और ""उनके"" शब्द पौलुस, बरनबास और कुछ अन्य लोगों को सन्दर्भित करते हैं (प्रेरितों के काम 15:2)।

οἱ μὲν οὖν προπεμφθέντες ὑπὸ τῆς ἐκκλησίας

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""इसलिए विश्वासियों के समुदाय ने उन्हें अन्ताकिया से यरूशलेम भेज दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

προπεμφθέντες ὑπὸ τῆς ἐκκλησίας

यहाँ ""कलीसिया"" उन लोगों का प्रतीक है जो कलीसिया का एक हिस्सा थे। (देखें: लक्षणालंकार)

διήρχοντο τήν τε Φοινίκην καὶ Σαμάρειαν, ἐκδιηγούμενο

होते हुए"" और ""सुनाते गए"" शब्द संकेत करते हैं कि उन्होंने कुछ समय अलग-अलग स्थानों में उन बातों को विस्तार में बताते हुए बिताया कि परमेश्वर क्या कर रहा था।

ἐκδιηγούμενοι τὴν ἐπιστροφὴν τῶν ἐθνῶν

भाववाचक संज्ञा ""मन फिराने"" का अर्थ है कि अन्यजाति अपने झूठे देवताओं को अस्वीकार कर रहे थे और परमेश्वर पर विश्वास कर रहे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन स्थानों में विश्वासियों के समुदाय पर घोषणा की कि अन्यजाति लोग परमेश्वर पर विश्वास कर रहे थे"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

ἐποίουν χαρὰν μεγάλην πᾶσι τοῖς ἀδελφοῖς

उनके सन्देश का भाइयों को आनन्दित करना ऐसे बताया गया है जैसे कि ""आनन्द"" एक वस्तु थी जिसे वे भाइयों के पास लाए थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने जो कहा उसने उनके साथी विश्वासियों को आनन्दित कर दिया"" (देखें: रूपक)

τοῖς ἀδελφοῖς

यहाँ ""भाइयों"" साथी विश्वासियों को सन्दर्भित करता है।

Acts 15:4

παρεδέχθησαν ὑπὸ τῆς ἐκκλησίας, καὶ τῶν ἀποστόλων, καὶ τῶν πρεσβυτέρων

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रेरितों, प्राचीनों, और विश्वासियों के बाकी समुदाय ने उनका स्वागत किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

μετ’ αὐτῶν

उनके द्वारा

Acts 15:5

यहाँ ""उन्हें"" शब्द अन्यजाति विश्वासियों को संदर्भ में है जिनका खतना नहीं हुआ था और जिन्होंने परमेश्वर की पुराने नियम की व्यवस्थाओं का पालन नहीं किया था।

पौलुस और बरनबास अब प्रेरितों और प्राचीनों से मिलने के लिए यरूशलेम में हैं।

δέ τινες

यहाँ लूका उन लोगों से जो मानते हैं कि उद्धार केवल यीशु में है उन लोगों का विरोधाभास करता है जो विश्वास करते हैं कि उद्धार यीशु के द्वारा है, तौभी यह भी मानते हैं कि उद्धार के लिए खतना करवाना आवश्यक है।

τηρεῖν τὸν νόμον Μωϋσέως

मूसा की व्यवस्थाओं का पालन करने के लिए

Acts 15:6

ἰδεῖν περὶ τοῦ λόγου τούτου

कलीसिया के अगुवों ने यह चर्चा करने का निर्णय किया कि क्या अन्यजातियों को खतना करवाने और मूसा की व्यवस्थाओं का पालन करने की आवश्यकता है या नहीं ताकि परमेश्वर उन्हें उनके पापों से बचाए।

Acts 15:7

पहला ""उनसे"" शब्द प्रेरितों और प्राचीनों को सन्दर्भित करता है (प्रेरितों के काम 15:6) और दूसरे ""उनको"" और ""उनके"" शब्द विश्वास करने वाले अन्यजाति लोगों को सन्दर्भित करते हैं। यहाँ ""तुम"" शब्द बहुवचन है और प्रेरितों और प्राचीनों को सन्दर्भित करता है। ""उसने"" शब्द परमेश्वर को सन्दर्भित करता है। यहाँ ""हम"" बहुवचन है और पतरस, प्रेरितों और प्राचीनों और सभी यहूदी विश्वासियों को सामान्य रूप से सन्दर्भित करता है। (देखें: तुम के प्रारूप और समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

पतरस प्रेरितों और प्राचीनों से बात करना आरम्भ कर देता है जो इस बात पर चर्चा करने के लिए इकट्ठे हुए थे कि क्या अन्यजातियों को खतना करवाना चाहिए था और व्यवस्था का पालन करना चाहिए था (प्रेरितों के काम 15:5-6)।

ἀδελφοί

पतरस उन सभी विश्वासियों को सम्बोधित कर रहा है जो उपस्थित थे।

διὰ τοῦ στόματός μου

यहाँ ""मुँह"" पतरस को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझ से"" या ""मेरे द्वारा"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

ἀκοῦσαι τὰ ἔθνη

अन्यजाति लोग सुनेंगे

τὸν λόγον τοῦ εὐαγγελίου

वचन"" यहाँ एक सन्देश का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु के बारे में सन्देश"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 15:8

ὁ καρδιογνώστης

मन"" यहाँ ""दिमाग"" या ""अन्तर्मन"" को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो लोगों के दिमाग को जानता है"" या ""जो जानता है कि लोग क्या सोचते हैं"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἐμαρτύρησεν αὐτοῖς

अन्यजातियों की गवाही दी

δοὺς τὸ Πνεῦμα τὸ Ἅγιον

उनके ऊपर पवित्र आत्मा आने देकर

Acts 15:9

οὐδὲν διέκρινεν

परमेश्वर ने यहूदी विश्वासियों के साथ अन्यजाति विश्वासियों से अलग व्यवहार नहीं किया था।

τῇ πίστει καθαρίσας τὰς καρδίας αὐτῶν

परमेश्वर के अन्यजातियों के पापों को क्षमा करने को ऐसे बोला गया है जैसे मानो उसने वास्तव में उनके हृदयों को शुद्ध कर दिया है। यहाँ ""मन"" व्यक्ति के अन्तर्मन का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उनके पापों को क्षमा करके क्योंकि उन्होंने यीशु पर विश्वास किया था"" (देखें: रूपक और लक्षणालंकार)

Acts 15:10

पतरस ""हमारे"" और ""हम"" के उपयोग से अपने दर्शकों को सम्मिलित करता है। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

पतरस प्रेरितों और प्राचीनों से बात करना समाप्त करता है।

νῦν

इसका अर्थ यह नहीं है कि ""इसी पल में"", परन्तु इसका उपयोग आने वाले महत्वपूर्ण बिन्दु पर ध्यान आकर्षित करने के लिए किया गया है।

τί πειράζετε τὸν Θεόν, ἐπιθεῖναι ζυγὸν ἐπὶ τὸν τράχηλον τῶν μαθητῶν, ὃν οὔτε οἱ πατέρες ἡμῶν οὔτε ἡμεῖς ἰσχύσαμεν βαστάσαι

पतरस यहूदी विश्वासियों को यह बताने के लिए एक शब्द-चित्र के साथ एक प्रश्न का उपयोग करता है, कि बचाए जाने के लिए अन्यजाति विश्वासियों को खतना करवाने की आवश्यकता नहीं है। वैकल्पिक अनुवाद: ""गैर-यहूदी विश्वासियों पर बोझ डालने के द्वारा परमेश्वर की परीक्षा न करो जिसे हम यहूदी भी सहन करने में सक्षम नहीं थे!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न और रूपक)

οἱ πατέρες ἡμῶν

यह उनके यहूदी पूर्वजों को सन्दर्भित करता है।

Acts 15:11

ἀλλὰ διὰ τῆς χάριτος τοῦ Κυρίου Ἰησοῦ, πιστεύομεν σωθῆναι καθ’ ὃν τρόπον κἀκεῖνοι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु हम मानते हैं कि प्रभु यीशु हमें उसकी कृपा से बचाएगा, जैसे कि उसने गैर-यहूदी विश्वासियों को बचाया था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 15:12

यहाँ ""उनके"" शब्द पौलुस और बरनबास को सन्दर्भित करता है।

πᾶν τὸ πλῆθος

हर कोई या ""पूरा समूह"" (प्रेरितों के काम 15:6)

ἐποίησεν ὁ Θεὸς

परमेश्वर ने किया था या ""परमेश्वर ने होने दिया था

Acts 15:13

यहाँ ""वे"" शब्द पौलुस और बरनबास को सन्दर्भित करता है (प्रेरितों के काम 15:12)।

याकूब प्रेरितों और प्राचीनों से बात करना आरम्भ कर देता है (प्रेरितों के काम 15:6)।

ἀδελφοί, ἀκούσατέ

हे साथी विश्वासियों, सुनो। याकूब सम्भवतः केवल पुरुषों से बोल रहा था।

Acts 15:14

λαβεῖν ἐξ ἐθνῶν λαὸν

ताकि वह उनमें से अपने लिए लोगों को चुन सके

τῷ ὀνόματι αὐτοῦ

परमेश्वर के नाम के लिए। यहाँ ""नाम"" परमेश्वर को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""स्वयं के लिए"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 15:15

यहाँ ""मैं"" परमेश्वर को सन्दर्भित करता है जिसने अपने भविष्यद्वक्ता के वचनों के माध्यम से बात की थी।

याकूब पुराने नियम से भविष्यद्वक्ता आमोस को उद्धरित करता है।

συμφωνοῦσιν οἱ λόγοι τῶν προφητῶν

बातें"" यहाँ एक सन्देश का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""भविष्यद्वक्ताओं ने जो कहा इससे सहमत हैं"" या ""भविष्यद्वक्ता सहमत हैं"" (देखें: लक्षणालंकार)

τούτῳ συμφωνοῦσιν

इस सत्य की पुष्टि करना

καθὼς γέγραπται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जैसा कि उन्होंने लिखा"" या ""जैसा कि भविष्यद्वक्ता आमोस ने बहुत पहले लिखा था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 15:16

ἀνοικοδομήσω τὴν σκηνὴν Δαυεὶδ τὴν πεπτωκυῖαν, καὶ τὰ κατεστραμμένα αὐτῆς, ἀνοικοδομήσω καὶ ἀνορθώσω αὐτήν

यह परमेश्वर द्वारा दाऊद के वंशजों में से एक को उसके लोगों पर शासन करने के लिए फिर से चुनने की बात ऐसे करता है कि मानो वह एक तम्बू को उसके गिरने के बाद फिर से स्थापित कर रहा था। (देखें: रूपक)

σκηνὴν

यहाँ ""तम्बू"" दाऊद के परिवार का प्रतीक है। (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 15:17

ἐκζητήσωσιν οἱ κατάλοιποι τῶν ἀνθρώπων τὸν Κύριον

यह लोगों द्वारा परमेश्वर की आज्ञा मानने और उसके बारे में अधिक जानने की चाह करने के बारे में ऐसे बोलता है कि मानो वे सचमुच उसकी खोज में थे। (देखें: रूपक)

κατάλοιποι τῶν ἀνθρώπων

यहाँ ""पुरुषों"" नरों और नारियों को सम्मिलित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""बचे हुए लोग"" (देखें: जब पुल्लिंग शब्दों में स्त्रियाँ शामिल होती हैं)

ἐκζητήσωσιν…τὸν Κύριον

तृतीय पुरुष में परमेश्वर स्वयं के बारे में बात कर रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझ, परमेश्वर को खोजें"" (देखें: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरुष)

καὶ πάντα τὰ ἔθνη, ἐφ’ οὓς ἐπικέκληται τὸ ὄνομά μου ἐπ’ αὐτούς

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मेरे नाम की कहलाने वाली सारी अन्यजातियों समेत"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὸ ὄνομά μου

मेरे नाम"" यहाँ परमेश्वर का प्रतीक है। (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 15:18

γνωστὰ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों को पता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 15:19

यहाँ ""हम"" याकूब, प्रेरितों और प्राचीनों को सम्मिलित करता है। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

याकूब प्रेरितों और प्राचीनों से बात करना समाप्त करता है। (देखें: Acts 15:2 और Acts 15:13)

μὴ παρενοχλεῖν τοῖς ἀπὸ τῶν ἐθνῶν

आप स्पष्ट कर सकते हैं कि याकूब किस तरह से अन्यजातियों को परेशान नहीं करना चाहता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""हमें अन्यजातियों को खतना करने और मूसा के व्यवस्थाओं का पालन करने की आवश्यकता की माँग नहीं करनी चाहिए"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἐπιστρέφουσιν ἐπὶ τὸν Θεόν

एक व्यक्ति जो परमेश्वर का पालन करना आरम्भ करता है, उसके लिए इस तरह बोला गया है जैसे कि वह व्यक्ति शारीरिक रूप से परमेश्वर की ओर मुड़ रहा है। (देखें: रूपक)

Acts 15:20

ἀπέχεσθαι τῶν ἀλισγημάτων τῶν εἰδώλων, καὶ τῆς πορνείας, καὶ τοῦ πνικτοῦ, καὶ τοῦ αἵματος

यौन अनैतिकता, गला घोंटे हुए जानवर, और लहू खाना अक्सर मूर्तियों और झूठे देवताओं की आराधना करने के समारोहों का हिस्सा थे।

ἀλισγημάτων τῶν εἰδώλων

यह सम्भवतः किसी ऐसे जानवर के माँस को खाने के लिए सन्दर्भित करता है जिसे किसी ने मूर्ति को बलि में दिया है या जिसका मूर्तिपूजा के साथ कुछ लेना देना है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

τοῦ πνικτοῦ, καὶ τοῦ αἵματος

परमेश्वर ने यहूदियों को उस माँस को खाने की अनुमति नहीं दी, जिसमें अभी भी लहू था। इसके अतिरिक्त, उत्पत्ति में मूसा के लेख में भी, परमेश्वर ने लहू को पीने से मना कर दिया था। इसलिए, वे एक ऐसे जानवर नहीं खा सकते थे जिसका किसी ने गला घोंटा था क्योंकि लहू को जानवर के शरीर से ठीक तरह से निकाला नहीं गया था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 15:21

Μωϋσῆς γὰρ ἐκ γενεῶν ἀρχαίων κατὰ πόλιν τοὺς κηρύσσοντας αὐτὸν, ἔχει ἐν ταῖς συναγωγαῖς κατὰ πᾶν Σάββατον ἀναγινωσκόμενος.

याकूब यह कह रहा है कि अन्यजाति जानते हैं कि ये नियम कितने महत्वपूर्ण हैं क्योंकि यहूदियों ने उन्हें उस प्रत्येक शहर में प्रचार किया है जहाँ आराधनालय है। यह इस बात को भी दर्शाता है कि अन्यजाति इन नियमों के बारे में अधिक जानने के लिए आराधनालयों के शिक्षकों के पास जा सकते हैं। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Μωϋσῆς…τοὺς κηρύσσοντας

मूसा"" यहाँ मूसा की व्यवस्था का प्रतिनिधित्व करता है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मूसा का नियम प्रचार किया गया है"" या ""यहूदियों ने मूसा की व्यवस्था को सिखाया है"" (देखें: लक्षणालंकार और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

κατὰ πόλιν

यहाँ ""हर"" शब्द एक सामान्यकरण है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कई शहरों में"" (देखें: अतिशयोक्ति)

ἀναγινωσκόμενος

यहाँ ""वह"" मूसा को सन्दर्भित करता है, जिसका नाम यहाँ उसकी व्यवस्था का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""और व्यवस्था पढ़ी जाती है"" या ""और वे व्यवस्था पढ़ते हैं"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 15:22

यहाँ ""उन्हें"" शब्द यहूदा और सीलास को सन्दर्भित करता है। ""वे"" शब्द यरूशलेम में प्रेरितों, प्राचीनों और कलीसिया के अन्य विश्वासियों को सन्दर्भित करता है।

ὅλῃ τῇ ἐκκλησίᾳ

यहाँ ""कलीसिया"" उन लोगों को सन्दर्भित करता है जो यरूशलेम में कलीसिया का एक हिस्सा हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""यरूशलेम में कलीसिया"" या ""यरूशलेम में विश्वासियों का पूरा समुदाय"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना और लक्षणालंकार)

Ἰούδαν τὸν καλούμενον Βαρσαββᾶν

यह एक व्यक्ति का नाम है। ""बरसब्बास"" एक दूसरा नाम है जिससे लोग उसे बुलाते थे। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 15:23

οἱ ἀπόστολοι καὶ οἱ πρεσβύτεροι, ἀδελφοὶ, τοῖς κατὰ τὴν Ἀντιόχειαν, καὶ Συρίαν, καὶ Κιλικίαν, ἀδελφοῖς τοῖς ἐξ ἐθνῶν, χαίρειν

यह पत्र का परिचय है। आपकी भाषा में पत्र के लेखक को और जिसे यह लिखा गया है उसको प्रस्तुत करने का एक तरीका हो सकता है वैकल्पिक अनुवाद: ""यह पत्र तुम्हारे भाइयों, प्रेरितों और प्राचीनों की ओर से है। हम तुम अन्ताकिया, सीरिया और किलिकिया में अन्यजाति विश्वासियों को लिख रहे हैं। तुमको नमस्कार"" या ""अन्ताकिया, सीरिया और किलिकिया में हमारे यहूदी भाइयों के लिए। प्रेरितों, और प्राचीनों, और तुम्हारे भाइयों की ओर से नमस्कार

ἀδελφοὶ, τοῖς κατὰ τὴν Ἀντιόχειαν

यहाँ ""भाइयों"" शब्द साथी विश्वासियों को सन्दर्भित करता है। इन शब्दों का उपयोग करके, प्रेरितों और प्राचीनों ने अन्यजाति विश्वासियों को आश्वासन दिया कि वे उन्हें साथी विश्वासियों के रूप में स्वीकार करते हैं।

Κιλικίαν

यह साइप्रस द्वीप के उत्तर में एशिया माइनर उत्तर के तट पर एक प्रान्त का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 15:24

यहाँ ""हमने,"" ""हमारे,"" और ""हम"" के सभी उदाहरण यरूशलेम में कलीसिया में विश्वासियों का उल्लेख करते हैं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’ और Acts 15:22)

ὅτι τινὲς

कि कुछ लोगों ने

οἷς οὐ διεστειλάμεθα

भले ही हमने उनको जाने के लिए कोई आदेश नहीं दिया

ἐτάραξαν ὑμᾶς λόγοις ἀνασκευάζοντες τὰς ψυχὰς ὑμῶν

यहाँ ""मन"" लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन बातों को सिखाया है जिसने तुम्हें परेशान किया है"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 15:25

ἐκλεξαμένοις ἄνδρας

जिन लोगों को उन्होंने भेजा वे बरसब्बास कहलाने वाला यहूदा और सीलास थे (प्रेरितों के काम 15:22)।

Acts 15:26

τοῦ ὀνόματος τοῦ Κυρίου ἡμῶν, Ἰησοῦ Χριστοῦ

यहाँ ""नाम"" पूरे व्यक्ति को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि वे हमारे प्रभु यीशु मसीह पर विश्वास करते हैं"" या ""क्योंकि वे हमारे प्रभु यीशु मसीह की सेवा करते हैं"" (देखें: लक्षणालंकार)।

Acts 15:27

यहाँ ""हमने"" और ""हमको"" शब्द यरूशलेम में कलीसिया के अगुवों और विश्वासियों का उल्लेख करते हैं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’ और Acts 15:22)

यह अन्ताकिया में अन्यजाति विश्वासियों के लिए यरूशलेम की कलीसिया से आए हुए पत्र को समाप्त करता है।

αὐτοὺς διὰ λόγου ἀπαγγέλλοντας τὰ αὐτά

यह वाक्यांश जोर देता है कि यहूदा और सीलास वही बातें कहेंगे जो प्रेरितों और प्राचीनों ने लिखी थीं। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो स्वयं तुमको वही बातें बताएँगे जिनके बारे में हमने लिखा है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 15:28

μηδὲν πλέον ἐπιτίθεσθαι ὑμῖν βάρος, πλὴν τούτων τῶν ἐπάναγκες

यह व्यवस्थाओं के बारे में जिन्हें लोगों को मानने की आश्यकता है ऐसे बोलता है जैसे कि ये वे वस्तुएँ हैं जो लोग अपने कंधों पर उठाते हैं। (देखें: रूपक)

Acts 15:29

εἰδωλοθύτων

इसका अर्थ है कि उन्हें किसी ऐसे जानवर के माँस को खाने की अनुमति नहीं है जिसे कोई मूर्ति को बलि करता है।

αἵματος

यह उसमें से लहू पीने या माँस खाने से सन्दर्भित करता है जिससे लहू निकाला नहीं गया है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

πνικτῶν

एक गला घोंटा हुआ जानवर मारा तो गया था परन्तु उसका लहू नहीं बहाया गया था।

ἔρρωσθε

यह पत्र के अन्त की घोषणा करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अलविदा

Acts 15:30

पौलुस, बरनबास, यहूदा और सीलास अन्ताकिया के लिए निकलते हैं।

οἱ μὲν οὖν ἀπολυθέντες, κατῆλθον εἰς Ἀντιόχειαν

वे"" शब्द पौलुस, बरनबास, यहूदा और सीलास को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अतः जब वे चार लोग चले गए थे, तो वे अन्ताकिया में आए

ἀπολυθέντες

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब प्रेरितों और प्राचीनों ने उन चार लोगों को जाने दिया"" या ""जब यरूशलेम के विश्वासियों ने उन्हें भेजा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

κατῆλθον εἰς Ἀντιόχειαν

वाक्यांश ""में पहुँचे"" का प्रयोग यहाँ किया जाता है क्योंकि यरूशलेम की तुलना में अन्ताकिया नीचे है।

Acts 15:31

ἀναγνόντες…ἐχάρησαν

अन्ताकिया के विश्वासी आनन्दित हुए

ἐπὶ τῇ παρακλήσει

भाववाचक संज्ञा ""उपदेश"" को ""प्रोत्साहित"" क्रिया के साथ व्यक्त किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि जो प्रेरितों और प्राचीनों ने लिखा था उसने उन्हें प्रोत्साहित किया था"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Acts 15:32

καὶ…προφῆται

परमेश्वर द्वारा उनसे बोलने के लिए भविष्यद्वक्ता अधिकृत शिक्षक थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि वे भविष्यद्वक्ता थे"" या ""जो भविष्यद्वक्ता भी थे

τοὺς ἀδελφοὺς

साथी विश्वासियों को

ἐπεστήριξαν

किसी को यीशु पर और भी निर्भर रहने में सहायता करने को ऐसे कहा गया है जैसे कि वे उन्हें शारीरिक रूप से मजबूत बना रहे थे। (देखें: रूपक)

Acts 15:33

यहूदा और सीलास यरूशलेम लौटते हैं जबकि पौलुस और बरनबास अन्ताकिया में रहते हैं।

ποιήσαντες δὲ χρόνον

यह समय के बारे में ऐसे बताता है जैसे कि यह एक वस्तु थी जिसे एक व्यक्ति खर्च कर सकता था। ""वे"" शब्द यहूदा और सीलास को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उनके कुछ समय वहाँ रहने के बाद"" (देखें: रूपक)

ἀπελύθησαν μετ’ εἰρήνης ἀπὸ τῶν ἀδελφῶν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""भाइयों ने यहूदा और सीलास को शान्ति से वापस भेजा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τῶν ἀδελφῶν

यह अन्ताकिया के विश्वासियों को सन्दर्भित करता है।

πρὸς τοὺς ἀποστείλαντας αὐτούς

यरूशलेम के विश्वासियों के पास जिन्होंने यहूदा और सीलास को भेजा था (प्रेरितों के काम 15:22)।

Acts 15:35

τὸν λόγον τοῦ Κυρίου

वचन"" यहाँ एक सन्देश का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर के बारे में सन्देश"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 15:36

पौलुस और बरनबास अलग-अलग यात्राओं पर जाते हैं।

ἐπιστρέψαντες δὴ

मेरा सुझाव है कि हमें अब वापस चलना चाहिए

ἐπισκεψώμεθα τοὺς ἀδελφοὺς

भाइयों की देखभाल या ""विश्वासियों की सहायता करने का प्रस्ताव

τὸν λόγον τοῦ Κυρίου

वचन"" यहाँ एक सन्देश का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर के बारे में सन्देश"" (देखें: लक्षणालंकार)

πῶς ἔχουσιν

जानें कि वे कैसा कर रहे हैं। वे भाइयों की वर्तमान स्थिति और वे परमेश्वर की सच्चाई को पकड़े रहने में कैसे हैं इसके बारे में जानना चाहते हैं।

Acts 15:37

συνπαραλαβεῖν καὶ τὸν Ἰωάννην, τὸν καλούμενον Μᾶρκον

यूहन्ना को लेने के लिए, जिसे मरकुस भी कहा जाता था

Acts 15:38

Παῦλος…ἠξίου…μὴ…συνπαραλαμβάνειν τοῦτον

अच्छा न"" शब्द अच्छे के विपरित को कहने के लिए उपयोग किए गए हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""पौलुस ने सोचा कि मरकुस को लेना बुरा होगा"" (देखें: विडंबना)

Παμφυλίας

यह एशिया माइनर में एक प्रान्त था। देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरितों के काम 2:10 में कैसे किया है।

μὴ συνελθόντα αὐτοῖς εἰς τὸ ἔργον

तब उनके साथ काम पर नहीं गया था या ""उनके साथ सेवा जारी नहीं रखी

Acts 15:39

यहाँ ""वे"" शब्द बरनबास और पौलुस को सन्दर्भित करता है।

ἐγένετο δὲ παροξυσμὸς

भाववाचक संज्ञा ""विवाद"" को ""असहमति"" क्रिया के रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे दृढ़ता से एक-दूसरे से असहमत थे"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Acts 15:40

παραδοθεὶς τῇ χάριτι τοῦ Κυρίου ὑπὸ τῶν ἀδελφῶν

किसी को सौंपने का अर्थ है कि किसी व्यक्ति को किसी अन्य व्यक्ति या किसी चीज की देखभाल और उत्तरदायित्व के लिए रखना। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अन्ताकिया के विश्वासियों के पौलुस को परमेश्वर की कृपा में सौंपने के बाद"" या ""अन्ताकिया के विश्वासियों के पौलुस की देखभाल करने और उसके प्रति दयालुता दिखाने के लिए परमेश्वर से प्रार्थना के बाद"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 15:41

διήρχετο

पिछले वाक्य का तात्पर्य है कि सीलास पौलुस के साथ था। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे गए"" या ""पौलुस और सीलास गए"" या ""पौलुस ने सीलास को साथ लिया और चला गया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

διήρχετο…τὴν Συρίαν καὶ τὴν Κιλικίαν

ये साइप्रस द्वीप के पास एशिया माइनर में प्रान्त या क्षेत्र हैं।

ἐπιστηρίζων τὰς ἐκκλησίας

कलीसियाओं में विश्वासियों को प्रोत्साहित करना को ऐसे बोला गया है जैसे मानो पौलुस और सीलास विश्वासियों को शारीरिक रूप से मजबूत बना रहे थे। ""कलीसियाओं"" शब्द सीरिया और किलिकिया में विश्वासियों के समूहों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कलीसियाओं में विश्वासियों को प्रोत्साहित करते हुए"" या ""विश्वासियों के समुदाय को यीशु में और भी निर्भर रहने में सहायता करते हुए"" (देखें: रूपक और लक्षणालंकार)

Acts 16

प्रेरितों के काम 16 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

तीमुथियुस की खतना

पौलुस ने तीमुथियुस का खतना किया क्योंकि वे यहूदियों और अन्जातियों को यीशु का सन्देश बता रहे थे। पौलुस चाहता था कि यहूदी यह जान लें कि उसने मूसा की व्यवस्था का सम्मान किया है, भले ही यरूशलेम में कलीसिया के अगुवों ने निर्णय किया था कि मसीहियों को खतना करने की आवश्यकता नहीं है।

जिस स्त्री में भावी कहने की आत्मा थी

अधिकांश लोग भविष्य को जानने के बहुत इच्छुक हैं, परन्तु मूसा की व्यवस्था ने कहा है कि भविष्य के बारे में जानने के लिए मृत लोगों की आत्माओं से बात करना पाप है। ऐसा लगता है कि यह स्त्री भविष्य को बहुत अच्छी तरह से बताने में सक्षम रही है। वह एक दासी थी, और उसके स्वामी ने उसके काम से बहुत पैसा कमाया था। पौलुस चाहता था कि वह पाप करना बन्द कर दे, इसलिए उसने उस आत्मा को उसे छोड़ देने के लिए कहा था। लूका यह नहीं कहता कि उसने यीशु का अनुसरण करना आरम्भ किया या हमें उसके बारे में और कुछ ननहीं बताता है।

Acts 16:1

उसका"" शब्द का पहला, तीसरा और चौथा उदाहरण तीमुथियुस को सन्दर्भित करता है। दूसरा ""उसके"" पौलुस को सन्दर्भित करता है।

यह सीलास के साथ पौलुस की मिशनरी यात्रा को आगे बढ़ाता है। तीमुथियुस को कहानी में प्रस्तुत किया गया है और वह पौलुस और सीलास के साथ हो जाता है। वचन 1 और 2 तीमुथियुस के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देते हैं। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

κατήντησεν…καὶ

यहाँ ""आया"" का अनुवाद ""चला गया"" के रूप में किया जा सकता है। (देखें: जाओ और आओ)

Δέρβην

यह एशिया माइनर में एक शहर का नाम है। देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरितों के काम 14:6 में कैसे किया है।

ἰδοὺ

देखो"" शब्द हमें कहानी में एक नए व्यक्ति के लिए सचेत करता है। आपकी भाषा में ऐसा करने का एक तरीका हो सकता है।

πιστῆς

मसीह पर"" शब्द समझ लिए गए हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिसने मसीह पर विश्वास किया था"" (देखें: पदन्यूनता)

Acts 16:2

ὃς ἐμαρτυρεῖτο ὑπὸ τῶν…ἀδελφῶν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""भाइयों ने उसके बारे में अच्छी बातें बताईं"" या ""तीमुथियुस की भाइयों के बीच अच्छी प्रतिष्ठा थी"" या ""भाइयों ने उसके बारे में अच्छी बातें कहीं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ὑπὸ τῶν…ἀδελφῶν

यहाँ ""भाइयों"" विश्वासियों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""विश्वासियों के द्वारा

Acts 16:3

περιέτεμεν αὐτὸν

यह सम्भव है कि स्वयं पौलुस ने तीमुथियुस का खतना किया हो, परन्तु यह संभावना अधिक है कि उसने किसी दूसरे के द्वारा तीमुथियुस का खतना करवाया था।

διὰ τοὺς Ἰουδαίους τοὺς ὄντας ἐν τοῖς τόποις ἐκείνοις

उन क्षेत्रों में रहने वाले यहूदियों के कारण जहाँ पौलुस और तीमुथियुस यात्रा करेंगे

ᾔδεισαν γὰρ ἅπαντες, ὅτι Ἕλλην ὁ πατὴρ αὐτοῦ ὑπῆρχεν

क्योंकि यूनानी लोगों ने अपने पुत्रों के खतने नहीं करवाए थे, इसलिए यहूदियों को पता होगा कि तीमुथियुस का खतना नहीं किया गया था, और इसलिए उन्होंने मसीह के सन्देश को सुनने से पहले पौलुस और तीमुथियुस को इंकार कर दिया होगा। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 16:4

वे"" शब्द यहाँ पौलुस, सीलास (प्रेरितों के काम 15:40), और तीमुथियुस (प्रेरितों के काम 16:3) को सन्दर्भित करता है।

αὐτοῖς φυλάσσειν

कलीसिया के सदस्यों के मानने के लिए या ""विश्वासियों के मानने के लिए

τὰ κεκριμένα ὑπὸ τῶν ἀποστόλων καὶ πρεσβυτέρων τῶν ἐν Ἱεροσολύμοις

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि यरूशलेम में प्रेरितों और प्राचीनों ने लिखा था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

यहाँ यह कलीसियाओं में विश्वासियों का प्रतीक है। (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 16:5

αἱ…ἐκκλησίαι ἐστερεοῦντο τῇ πίστει, καὶ ἐπερίσσευον τῷ ἀριθμῷ καθ’ ἡμέραν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""विश्वासी अपने विश्वास में मजबूत हो गए, और हर दिन अधिक से अधिक लोग विश्वास करने वाले होते जा रहे थे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

αἱ…ἐκκλησίαι ἐστερεοῦντο τῇ πίστει

यह किसी को अधिक आत्मविश्वास के साथ विश्वास करने में सहायता करने की बात ऐसे करता है जैसे कि यह उन्हें शारीरिक रूप से मजबूत बनाता था। (देखें: रूपक)

Acts 16:6

τὴν Φρυγίαν

यह एशिया में एक क्षेत्र है। देखें कि आपने इस नाम का अनुवाद प्रेरितों के काम 2:10 में कैसे किया था।

κωλυθέντες ὑπὸ τοῦ Ἁγίου Πνεύματος

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पवित्र आत्मा ने उन्हें मना कर दिया था"" या ""पवित्र आत्मा ने उन्हें अनुमति नहीं दी"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὸν λόγον

वचन"" यहाँ ""सन्देश"" का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मसीह के बारे में सन्देश"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 16:7

ἐλθόντες δὲ

यहाँ ""आए"" का अनुवाद ""गए"" या ""पहुँचे"" के रूप में किया जा सकता है। (देखें: जाओ और आओ)

Μυσίαν…Βιθυνίαν

ये एशिया में दो और क्षेत्र हैं। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

τὸ Πνεῦμα Ἰησοῦ

पवित्र आत्मा

Acts 16:8

κατέβησαν εἰς Τρῳάδα

यहाँ ""में आए"" वाक्यांश का प्रयोग इसलिए किया गया है क्योंकि मूसिया की तुलना में त्रोआस नीचे है।

κατέβησαν

यहाँ ""आया"" का अनुवाद ""चला गया"" के रूप में किया जा सकता है। (देखें: जाओ और आओ)

Acts 16:9

ὅραμα…τῷ Παύλῳ ὤφθη

पौलुस ने परमेश्वर की ओर से एक दर्शन को देखा या ""पौलुस को परमेश्वर की ओर से एक दर्शन मिला था

παρακαλῶν αὐτὸν

उससे निवेदन करता हुआ या ""उसे आमंत्रित करता हुआ

διαβὰς εἰς Μακεδονίαν

वाक्यांश ""में आ"" का प्रयोग इसलिए किया गया है क्योंकि मकिदुनिया त्रोआस से समुद्र के पार स्थित है।

Acts 16:10

ἐζητήσαμεν ἐξελθεῖν εἰς Μακεδονίαν, συμβιβάζοντες ὅτι προσκέκληται ἡμᾶς ὁ Θεὸς εὐαγγελίσασθαι αὐτούς

यहाँ ""हमने"" और ""हमें"" शब्द पौलुस और उनके साथियों को सन्दर्भित करते हैं जिनमें लूका, प्रेरितों के काम का लेखक सम्मिलित है।

Acts 16:11

पौलुस और उसके साथी अब फिलिप्पी में अपनी मिशनरी यात्रा पर हैं। वचन 13 लुदिया की कहानी आरम्भ करता है। यह छोटी कहानी पौलुस की यात्रा के दौरान घटित होती है।

Σαμοθρᾴκην…Νέαν Πόλιν

ये मकिदुनिया में फिलिप्पी के पास तटीय शहर हैं। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

εἰς Νέαν Πόλιν

यहाँ ""में आए"" का अनुवाद ""में गए"" या ""में पहुँचे"" के रूप में किया जा सकता है। (देखें: जाओ और आओ)

Acts 16:12

κολωνία

यह इटली के बाहर एक शहर है जहाँ रोम से आए कई लोग रहते थे। वहाँ के लोगों के पास इटली में शहरों में रहने वाले लोगों के समान ही अधिकार और स्वतंत्रताएँ थीं। वे स्वयं पर शासन कर सकते थे और उन्हें कर चुकाना नहीं था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 16:14

यह लुदिया की कहानी को समाप्त करता है।

τις γυνὴ ὀνόματι Λυδία

यहाँ ""कोई स्त्री"" कहानी में एक नया व्यक्ति प्रस्तुत करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लुदिया नाम की एक स्त्री थी"" (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

πορφυρόπωλις

यहाँ ""कपड़ा"" समझ लिया गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक व्यापारी जो बैंगनी कपड़ा बेचती है"" (देखें: पदन्यूनता)

Θυατείρων

यह एक शहर का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

σεβομένη τὸν Θεόν

परमेश्वर का एक आराधक एक ऐसा अन्यजाति है जो परमेश्वर की स्तुति करता है और उसका अनुसरण करता है, परन्तु सभी यहूदी व्यवस्थाओं का पालन नहीं करता है।

ἧς ὁ Κύριος διήνοιξεν τὴν καρδίαν, προσέχειν

परमेश्वर के लिए किसी को ध्यान देने और एक संदेश पर विश्वास करने को प्रेरित करने को ऐसे बोला गया है जैसे कि वह उस व्यक्ति के मन को खोल रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर ने उसे अच्छी तरह से सुनने के लिए और विश्वास करने के लिए प्रेरित किया"" (देखें: रूपक)

ἧς…διήνοιξεν τὴν καρδίαν

मन"" यहाँ एक व्यक्ति के दिमाग का प्रतीक है। इसके अतिरिक्त, लेखक ""मन"" या ""दिमाग"" के बारे में ऐसे बोलता है जैसे कि यह एक डिब्बा था जिसे एक व्यक्ति खोल सकता था ताकि यह किसी के द्वारा इसे भर देने के लिए तैयार है। (देखें: लक्षणालंकार और रूपक)

τοῖς λαλουμένοις ὑπὸ τοῦ Παύλου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पौलुस ने जो कहा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 16:15

ὡς δὲ ἐβαπτίσθη καὶ ὁ οἶκος αὐτῆς

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब उन्होंने लुदिया और उसके घर के सदस्यों को बपतिस्मा दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ὁ οἶκος αὐτῆς

यहाँ ""घर"" उन लोगों का प्रतिनिधित्व करता है जो उसके घर में रहते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसके घर के सदस्य"" या ""उसका परिवार और घर के दास"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 16:16

यहाँ यह बताने के लिए पृष्ठभूमि की जानकारी दी गई है कि इस युवा भावी कहने वाली ने लोगों के भाग्य का अनुमान लगाकर अपने स्वामियों को बहुत अधिक वित्तीय लाभ कमा कर प्रदान किया था। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

पौलुस की यात्राओं के दौरान एक और छोटी कहानी में यह पहली घटना आरम्भ होती है; यह एक युवा भावी कहने वाली के बारे में है।

ἐγένετο δὲ

यह वाक्यांश कहानी के एक नए हिस्से के आरम्भ को चिन्हित करता है। यदि आपकी भाषा में ऐसा करने का कोई तरीका है, तो आप उसे यहाँ उपयोग करने पर विचार कर सकते हैं।

παιδίσκην τινὰ

वाक्यांश ""कोई"" कहानी के लिए एक नए व्यक्ति को प्रस्तुत करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक जवान स्त्री थी"" (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

πνεῦμα Πύθωνα

एक दुष्ट आत्मा अक्सर लोगों के तत्काल भविष्य के बारे में उससे बात करती थी।

Acts 16:17

ὁδὸν σωτηρίας

एक व्यक्ति को कैसे बचाया जा सकता है, इसको यहाँ ऐसे बताया गया है जैसे कि यह एक रास्ता या पथ था जिस पर कोई व्यक्ति चलता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर तुमको कैसे बचा सकता है"" (देखें: रूपक)

Acts 16:18

διαπονηθεὶς δὲ Παῦλος, καὶ ἐπιστρέψας

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु उसने पौलुस को बहुत परेशान कर दिया इसलिए वह पीछे मुड़ा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἐν ὀνόματι Ἰησοῦ Χριστοῦ

नाम"" यहाँ अधिकार या यीशु मसीह के प्रतिनिधि के रूप में बोलने का प्रतीक है। (देखें: लक्षणालंकार)

ἐξῆλθεν αὐτῇ τῇ ὥρᾳ

वह आत्मा तुरन्त बाहर आ गई

Acts 16:19

οἱ κύριοι αὐτῆς

दासी लड़की के स्वामी

ἰδόντες…οἱ κύριοι αὐτῆς, ὅτι ἐξῆλθεν ἡ ἐλπὶς τῆς ἐργασίας αὐτῶν

यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है कि वे अब पैसा कमाने की अपेक्षा क्यों नहीं करते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब उसके स्वामियों ने देखा कि वह अब और अधिक भावी कहकर उनके लिए पैसे कमा कर नहीं दे सकती है"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

εἰς τὴν ἀγορὰν

सार्वजनिक चौक में। यह व्यवसाय का एक सार्वजनिक स्थान है, जहाँ सामान, पशुओं या सेवाओं की खरीद और बिक्री होती है।

ἐπὶ τοὺς ἄρχοντας

अधिकारियों की उपस्थिति में या ""ताकि अधिकारी उनका न्याय कर सकें

Acts 16:20

καὶ προσαγαγόντες αὐτοὺς τοῖς στρατηγοῖς

जब वे उन्हें न्यायाधीशों के पास लाए थे

στρατηγοῖς

शासकों, न्यायाधीशों

οὗτοι οἱ ἄνθρωποι ἐκταράσσουσιν ἡμῶν τὴν πόλιν

यहाँ ""हमारे"" शब्द शहर के लोगों को सन्दर्भित करता है और इसमें न्यायाधीश सम्मिलित करता है जो उस पर शासन करता था। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

Acts 16:21

παραδέχεσθαι οὐδὲ ποιεῖν

विश्वास करने को या पालन करने को या ""स्वीकार करने को या मानने को

Acts 16:22

यहाँ ""उनके"" और ""उन्हें"" शब्द पौलुस और सीलास का सन्दर्भ देते हैं। यहाँ ""उन्होंने"" शब्द सैनिकों सन्दर्भित करता है।

ἐκέλευον ῥαβδίζειν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सैनिकों को उन्हें छड़ियों से पीटने का आदेश दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 16:23

πολλάς…ἐπιθέντες αὐτοῖς πληγὰς

उन्हें छड़ियों से कई बार मारा था

παραγγείλαντες τῷ δεσμοφύλακι ἀσφαλῶς τηρεῖν αὐτούς

दरोगा को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि वे बाहर न निकलें

δεσμοφύλακι

जेल या कारावास में रहने वाले सभी लोगों के लिए उत्तरदायी एक व्यक्ति

Acts 16:24

ὃς παραγγελίαν τοιαύτην λαβὼν

उसने यह आदेश सुना

τοὺς πόδας ἠσφαλίσατο αὐτῶν εἰς τὸ ξύλον

काठ में उनके पैरों को सुरक्षित रूप से जकड़ दिया

ξύλον

एक व्यक्ति के पैरों को हिलने से रोकने के लिए छेद वाला लकड़ी का एक टुकड़ा

Acts 16:25

उनकी"" शब्द पौलुस और सीलास को सन्दर्भित करता है।

यह फिलिप्पी की जेल में पौलुस और सीलास के समय को आगे बढ़ाता है और बताता है कि उनके दरोगा के साथ क्या होता है।

Acts 16:26

σεισμὸς…ὥστε σαλευθῆναι τὰ θεμέλια τοῦ δεσμωτηρίου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""भूकम्प जिसने जेल की नींव को हिला दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὰ θεμέλια τοῦ δεσμωτηρίου

जब नींव हिल गई, तो इसने पूरे जेल को हिला दिया। (देखें: उपलक्षण अलंकार)

ἠνεῴχθησαν…αἱ θύραι πᾶσαι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सभी दरवाजे खुल गए"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πάντων τὰ δεσμὰ ἀνέθη

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""हर किसी की जंजीरें ढीली हो गईं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 16:27

यहाँ ""हम"" शब्द पौलुस, सीलास और अन्य सभी कैदियों को सन्दर्भित करता है परन्तु दरोगा को बाहर रखता है। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

ἔξυπνος…γενόμενος ὁ δεσμοφύλαξ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""दरोगा जाग गया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἤμελλεν ἑαυτὸν ἀναιρεῖν

स्वयं को मारने के लिए तैयार था। कैदियों को बच कर भागने देने के परिणामों को भुगतने की अपेक्षा दरोगा ने आत्महत्या करना पसन्द किया था।

Acts 16:29

αἰτήσας…φῶτα

इसे स्पष्ट किया जा सकता है कि दरोगा को प्रकाश की आवश्यकता क्यों है। वैकल्पिक अनुवाद: ""किसी को प्रकाश लाने के लिए पुकारा ताकि वह देख सके कि अभी भी जेल में कौन था"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

φῶτα

दिया"" शब्द किसी ऐसी चीज का प्रतीक है जो प्रकाश करती है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मशाल के लिए"" या ""दीपक के लिए"" (देखें: लक्षणालंकार)

εἰσεπήδησεν

जल्दी से जेल में प्रवेश किया

προσέπεσεν τῷ Παύλῳ καὶ Σιλᾷ

दरोगा ने पौलुस और सीलास के चरणों में झुक कर स्वयं को नम्र किया। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

Acts 16:30

προαγαγὼν αὐτοὺς ἔξω

उन्हें जेल के बाहर ले गया

τί με δεῖ ποιεῖν, ἵνα σωθῶ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर के मुझे मेरे पापों से बचाने के लिए मुझे क्या करना चाहिए"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 16:31

σωθήσῃ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर तुमको बचाएगा"" या ""परमेश्वर तुमको तुम्हारे पापों से बचाएगा"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ὁ οἶκός σου

घराना"" यहाँ घर में रहने वाले लोगों का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम्हारे घर के सभी सदस्य"" या ""तुम्हारा परिवार"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 16:32

यहाँ ""उन्होंने"" शब्द के साथ-साथ ""उनके"" और ""उन्हें"" शब्दों का पहला उपयोग पौलुस और सीलास को सन्दर्भित करता है। तुलना करें प्रेरितों 16:25। ""वे"" शब्द का अन्तिम उपयोग दरोगा के घर के लोगों को सन्दर्भित करता है। ""उसको,"" ""उसके,"" और ""उसने"" शब्द दरोगा का सन्दर्भित करते हैं।

ἐλάλησαν αὐτῷ τὸν λόγον τοῦ Κυρίου

वचन"" यहाँ एक सन्देश का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने उसे प्रभु यीशु के बारे में सन्देश बताया"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 16:33

ἐβαπτίσθη, αὐτὸς καὶ οἱ αὐτοῦ πάντες παραχρῆμα

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पौलुस और सीलास ने दरोगा और उसके घर के सभी सदस्यों को बपतिस्मा दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 16:35

फिलिप्पी में पौलुस और सीलास की कहानी में यह अन्तिम घटना है (प्रेरितों के काम 16:12)।

δὲ

कहानी की मुख्य-धारा में विराम को चिन्हित करने के लिए यहाँ इस शब्द का उपयोग किया गया है। यहाँ लूका ने प्रेरितों के काम 16:16 में आरम्भ हुई कहानी की अन्तिम घटना को बताता है।

ἀπέστειλαν…τοὺς ῥαβδούχους

कहला"" यहाँ ""सन्देश"" या ""आदेश"" का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सिपाहियों को एक सन्देश भेजा"" या ""सिपाहियों को एक आदेश भेजा"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἀπέστειλαν

यहाँ ""भेजा"" का अर्थ है कि हाकिमों ने किसी को जाकर सिपाहियों को उनका सन्देश बताने के लिए कहा था।

ἀπόλυσον τοὺς ἀνθρώπους ἐκείνους

उन पुरुषों को छोड़ दो या ""उन पुरुषों को जाने दो

Acts 16:36

ἐξελθόντες

जेल के बाहर निकल आओ

Acts 16:37

हर बार ""वे"" शब्द का उपयोग किया गया है और पहली बार ""उन्हें"" प्रयोग किया गया है, ये शब्द हाकिमों को सन्दर्भित करते हैं। ""आप"" शब्द हाकिमों को सन्दर्भित करता है। दूसरी बार ""उन्हें"" शब्द प्रयोग किया गया है, यह पौलुस और सीलास को सन्दर्भित करता है। ""हमें"" शब्द केवल पौलुस और सीलास को सन्दर्भित करता है। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

ἔφη πρὸς αὐτούς

सम्भवतः पौलुस दरोगा से बात कर रहा है, परन्तु जो वह कहता है वह दरोगा से उसे हाकिमों को बताने का अभिप्राय रखता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""दरोगा से कहा"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

δείραντες ἡμᾶς δημοσίᾳ

यहाँ ""उन्होंने"" उन हाकिमों सन्दर्भित करता है जिन्होंने अपने सैनिकों को उन्हें पीटने का आदेश दिया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""हाकिमों ने अपने सैनिकों को सार्वजनिक रूप से हमें पीटने का आदेश दिया"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἀκατακρίτους ἀνθρώπους Ῥωμαίους ὑπάρχοντας, ἔβαλαν εἰς φυλακήν

जो पुरुष रोमी नागरिक हैं, और उनके सैनिकों ने हमें जेल में डाल दिया था, यद्यपि वे अदालत में हमें दोषी सिद्ध नहीं कर पाए थे

λάθρᾳ ἡμᾶς ἐκβάλλουσιν? οὔ

पौलुस इस बात पर जोर देने के लिए एक प्रश्न का उपयोग करता है कि वह पौलुस और सीलास से दुर्व्यवहार करने के बाद हाकिमों को गुप्त रूप से उनको शहर में भेजने की अनुमति नहीं देगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं निश्चित रूप से उन्हें गुप्त रूप से हमें शहर से बाहर नहीं भेजने दूँगा!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

λάθρᾳ ἡμᾶς ἐκβάλλουσιν? οὔ

यहाँ ""आप"" का प्रयोग जोर देने के लिए किया गया है। (देखें: कर्मकर्त्ता सर्वनाम)

Acts 16:38

ἐφοβήθησαν…ἀκούσαντες ὅτι Ῥωμαῖοί εἰσιν

एक रोमी होने का अर्थ उस साम्राज्य का कानूनी नागरिक होना है। नागरिकता ने यातना से स्वतंत्रता और निष्पक्ष जाँच का अधिकार प्रदान किया था। शहर के अगुवों को डर था कि अधिक महत्वपूर्ण रोमी अधिकारी जान सकते हैं कि कैसे शहर के अगुवों ने पौलुस और सीलास से दुर्व्यवहार किया था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 16:40

यहाँ ""वे"" शब्द पौलुस और सीलास को सन्दर्भित करता है। ""उन्हें"" शब्द फिलिप्पी में रहने वाले विश्वासियों को सन्दर्भित करता है।

यह फिलिप्पी में पौलुस और सीलास के समय का अन्त है। (देखें: कहानी का अंत)

εἰσῆλθον πρὸς τὴν Λυδίαν

यहाँ ""आया"" का अनुवाद ""चला गया"" के रूप में किया जा सकता है। (देखें: जाओ और आओ)

τὴν Λυδίαν

लुदिया के घर

ἰδόντες

भाइयों"" यहाँ विश्वासियों को सन्दर्भित करता है चाहे पुरुष हो या स्त्री। वैकल्पिक अनुवाद: ""विश्वासियों से भेंट की"" (देखें: जब पुल्लिंग शब्दों में स्त्रियाँ शामिल होती हैं)

Acts 17

प्रेरितों के काम 17 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

मसीह के बारे में भम्र

यहूदियों ने मसीह या मसीहा के एक सामर्थ्यशाली राजा होने की अपेक्षा की थी क्योंकि पुराना नियम ऐसा कई बार कहता है। परन्तु साथ ही यह कई बार ऐसे कहता है कि मसीह को दुःख उठाना होगा, और यही था जो पौलुस यहूदियों को बता रहा था। (देखें: मसीह, मसीहा)

एथेंस का धर्म

पौलुस ने कहा कि एथेंसवासी ""धार्मिक"" थे, परन्तु उन्होंने सच्चे परमेश्वर की आराधना नहीं की थी। उन्होंने कई अलग-अलग झूठे देवताओं की आराधना की थी। अतीत में उन्होंने कई जातियों पर विजय प्राप्त की थी और उन जातियों के देवताओं की आराधना करना आरम्भ कर दिया था जिन पर उन्होंने विजय प्राप्त की थी । (देखें: देवता, झूठे देवता, देवियाँ, मूर्ति, मूर्तिपूजक, मूर्ति पूजा)

इस अध्याय में लूका पहली बार वर्णन करता है कि कैसे पौलुस ने मसीह का सन्देश उन लोगों को बताया जो पुराने नियम के बारे में कुछ भी नहीं जानते थे।

Acts 17:1

यहाँ ""वे"" शब्द पौलुस और सीलास को सन्दर्भित करता है। तुलना करें प्रेरितों के काम 16:40. ""उनके"" शब्द थिस्सलुनीके के आराधनालय के यहूदियों को सन्दर्भित करता है।

यह पौलुस, सीलास और तीमुथियुस की मिशनरी यात्रा की कहानी आगे बढ़ाती है। वे स्पष्ट रूप से लूका के बिना थिस्सलुनीके में पहुँचे, क्योंकि वह ""वे"" कहता है, ""हम"" नहीं।

δὲ

कहानी की मुख्य-धारा में विराम को चिन्हित करने के लिए यहाँ इस शब्द का उपयोग किया गया है। लेखक लूका, यहाँ कहानी के एक नए हिस्से को बताना आरम्भ कर देता है।

διοδεύσαντες

से होकर यात्रा की

τὴν Ἀμφίπολιν καὶ τὴν Ἀπολλωνίαν

ये मकिदुनिया के तटीय शहर हैं। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

ἦλθον εἰς Θεσσαλονίκην

यहाँ ""आए"" का अनुवाद ""गए"" या ""पहुँचे"" के रूप में किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे शहर में आए"" या ""वे शहर पहुँचे"" (देखें: जाओ और आओ)

Acts 17:2

κατὰ…τὸ εἰωθὸς

जैसी उसकी आदत थी या ""जैसा उसका सामान्य प्रयास था। "" पौलुस सामान्य रूप से सब्त के दिन आराधनालय में गया जिस समय यहूदी उपस्थित होंगे।

ἐπὶ Σάββατα τρία

तीन सप्ताह तक प्रत्येक सब्त के दिन

διελέξατο αὐτοῖς ἀπὸ τῶν Γραφῶν

पौलुस ने यहूदियों को यह प्रमाणित करने के लिए पवित्रशास्त्र के अर्थ को समझाया कि यीशु ही मसीह है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

διελέξατο αὐτοῖς

उन्हें कारण दिए या ""उनके साथ वाद-विवाद किया"" या ""उनके साथ चर्चा की

Acts 17:3

यहाँ ""वह"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करता है (प्रेरितों के काम 17:2)।

διανοίγων

सम्भावित अर्थ हैं 1) पवित्र शास्त्र को इस तरीके से समझाने के लिए जिसे लोग समझ सकते हैं को ऐसे बोला गया है जैसे कि पौलुस कुछ खोल रहा था ताकि लोग देख सकें कि इसके अन्दर क्या है या 2) पौलुस सचमुच एक पुस्तक या कुण्डल पत्र खोल रहा था और उससे पढ़ रहा था । (देखें: रूपक)

ἔδει

यह परमेश्वर की योजना का हिस्सा था

ἀναστῆναι

जीवित होने के लिए

ἐκ νεκρῶν

उन सभी लोगों में से जो मर गए हैं। यह अभिव्यक्ति अधोलोक के सभी मृत लोगों को एक साथ बताती है। उनमें से वापस आना फिर से जीवित होने की बात कहता है।

Acts 17:4

αὐτῶν ἐπείσθησαν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन यहूदियों ने मान लिया"" या ""वे यहूदी समझ गए"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

προσεκληρώθησαν τῷ Παύλῳ

पौलुस के साथ जुड़ गए

σεβομένων Ἑλλήνων

यह यूनानी लोगों को सन्दर्भित करता है जो परमेश्वर की आराधना करते हैं परन्तु खतना के माध्यम से यहूदी धर्म में परिवर्तित नहीं हुए हैं।

γυναικῶν…τῶν πρώτων οὐκ ὀλίγαι

यह जोर देने के लिए एक चुप्पी साधना है कि कई प्रमुख स्त्रियाँ उनके साथ जुड़ गईं थीं। वैकल्पिक अनुवाद: ""कई प्रमुख स्त्रियाँ"" (देखें: विडंबना)

Acts 17:5

यहाँ ""वे"" शब्द अविश्वासी यहूदियों और बाजार के दुष्ट मनुष्यों को सन्दर्भित करता है।

ζηλώσαντες

ईर्ष्या की भावना की बात ऐसी की गई है जैसे कि ईर्ष्या वास्तव में व्यक्ति को चला रही थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""बहुत ईर्ष्या महसूस करके"" या ""बहुत गुस्से में आकर"" (देखें: रूपक)

ζηλώσαντες

यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है कि ये यहूदी ईर्ष्यावान थे क्योंकि कुछ यहूदियों और यूनानियों ने पौलुस के सन्देश पर विश्वास किया था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

προσλαβόμενοι…ἄνδρας τινὰς πονηροὺς

यहाँ ""लिया"" का अर्थ यह नहीं है कि यहूदियों ने इन लोगों को बलपूर्वक ले लिया था। इसका अर्थ है कि यहूदियों ने इन दुष्ट मनुष्यों को उनकी सहायता करने के लिए मना लिया था।

ἄνδρας τινὰς πονηροὺς

कुछ बुरे मनुष्य यहाँ ""मनुष्य"" शब्द विशेष रूप से पुरुषों को सन्दर्भित करता है।

τῶν ἀγοραίων

सार्वजनिक चौक से। यह व्यवसाय का एक सार्वजनिक स्थान है, जहाँ सामान, पशुओं या सेवाओं की खरीद और बिक्री होती है।

ἐθορύβουν τὴν πόλιν

नगर"" यहाँ नगर के लोगों का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""नगर के लोगों को हुल्लड़ मचाने के लिए प्रेरित किया"" या ""नगर के लोगों को दंगा करने के लिए प्रेरित किया"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἐπιστάντες τῇ οἰκίᾳ

हिंसक रूप से घर पर आक्रमण करना। इसका सम्भवतः अर्थ है कि लोग घर पर पत्थर फेंक रहे थे और घर के दरवाजे को तोड़ने का प्रयास कर रहे थे।

Ἰάσονος

यह एक व्यक्ति का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

προαγαγεῖν εἰς τὸν δῆμον

सम्भावित अर्थ या ""लोग"" हैं 1) एक निर्णय लेने के लिए एकत्रित हुआ नागरिकों का एक सरकारी या कानूनी समूह या 2) एक भीड़।

Acts 17:6

τινας ἀδελφοὺς

यहाँ ""भाइयों"" विश्वासियों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कुछ अन्य विश्वासी

ἐπὶ τοὺς πολιτάρχας

अधिकारियों की उपस्थिति में

οἱ…ἀναστατώσαντες, οὗτοι

यहूदी अगुवे बोल रहे थे और, ""ये पुरुष,"" वाक्यांश पौलुस और सीलास को सन्दर्भित करता है।

τὴν οἰκουμένην ἀναστατώσαντες

यह वाक्यांश यह कहने का एक और तरीका है कि पौलुस और सीलास जहाँ कहीं भी गए वो वहाँ गड़बड़ी को उत्पन्न कर रहे थे। पौलुस और सीलास के प्रभाव को कम करने के लिए वे यहूदी अगुवे अपनी शिक्षा से बढ़ा चढ़ा कर बोल रहे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""संसार के हर स्थान में परेशानी को पैदा किया है"" या ""जहाँ कहीं गए हर स्थान में परेशानी को पैदा किया है"" (देखें: अतिशयोक्ति और मुहावरे)

Acts 17:7

ὑποδέδεκται Ἰάσων

यह वाक्यांश संकेत देता है कि यासोन प्रेरितों के गड़बड़ी वाले सन्देश के साथ सहमति में था।

Acts 17:8

ἐτάραξαν

चिन्तित थे

Acts 17:9

λαβόντες τὸ ἱκανὸν παρὰ τοῦ Ἰάσονος καὶ τῶν λοιπῶν

यासोन और दूसरों को अच्छे व्यवहार की प्रतिज्ञा स्वरूप शहर के अधिकारियों को पैसे का भुगतान करना पड़ा था; यदि पैसा वापस किया जा सकता है यदि सब कुछ ठीकठाक चलता रहता है या इसे बुरे व्यवहार द्वारा हुए नुकसान की भरपाई के लिए उपयोग किया जा सकता है।

τῶν λοιπῶν

बाकी लोगों को"" व्याक्यांश अन्य विश्वासियों को सन्दर्भित करते हैं जिनको यहूदी अधिकारियों के सामने लाए था।

ἀπέλυσαν αὐτούς

अधिकारियों ने यासोन और अन्य विश्वासियों को जाने दिया

Acts 17:10

पौलुस और सीलास बिरीया शहर की यात्रा करते हैं।

οἱ…ἀδελφοὶ

यहाँ ""भाइयों"" शब्द पुरुष और स्त्री विश्वासियों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""विश्वासियों"" (देखें: जब पुल्लिंग शब्दों में स्त्रियाँ शामिल होती हैं)

Acts 17:11

δὲ

कहानी की मुख्य-धारा में विराम को चिन्हित करने के लिए यहाँ ""अब"" शब्द का उपयोग किया गया है। यहाँ लूका बिरिया में रहने वाले लोगों के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी बताता है और कैसे वे पौलुस को सुनने के और उसने जो कहा उसको जाँचने के इच्छुक थे। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

οὗτοι…ἦσαν εὐγενέστεροι

ये ""कुलीन"" लोग अन्य लोगों की तुलना में नए विचारों के बारे में अधिक उद्देश्यपूर्वक सोचने के इच्छुक थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""अधिक खुले मन वाले"" या ""सुनने के लिए अधिक इच्छुक

ἐδέξαντο τὸν λόγον

वचन"" यहाँ एक शिक्षा को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""शिक्षा की बात सुनीं"" (देखें: लक्षणालंकार)

μετὰ πάσης προθυμίας

बिरिया के ये लोग पवित्रशास्त्र के बारे में पौलुस की शिक्षाओं की ईमानदारी से जाँच करने के लिए तैयार थे।

καθ’ ἡμέραν ἀνακρίνοντες τὰς Γραφὰς

हर दिन पवित्र शास्त्र को ध्यान से पढ़ना और मूल्यांकन करना

ἔχοι ταῦτα οὕτως

पौलुस ने जो बातें कहीं वह सच थीं

Acts 17:13

एथेंस बिरिया से नीचे तट पर है जो मकिदुनिया में है। एथेंस यूनान के सबसे महत्वपूर्ण शहरों में से एक था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

ἦλθον κἀκεῖ, σαλεύοντες

यह आंदोलन करने वाले लोगों के बारे में ऐसे बोलता है जैसे कि यह एक तरल को उत्तेजित करने वाला व्यक्ति था और तरल के धरातल की चीजों को सतह पर आने के लिए प्रेरित कर रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""वहाँ गए और उत्तेजित किया"" या ""वहाँ गए और गड़बड़ फैला दी"" (देखें: रूपक)

ταράσσοντες τοὺς ὄχλους

और भीड़ को परेशानी में डाल दिया या ""लोगों के बीच डर और भय उत्पन्न किया

Acts 17:14

ἀδελφοὶ

यहाँ ""भाइयों"" शब्द पुरुष और स्त्री विश्वासियों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""विश्वासियों"" (देखें: जब पुल्लिंग शब्दों में स्त्रियाँ शामिल होती हैं)

πορεύεσθαι ἕως ἐπὶ τὴν θάλασσαν

तट पर जाने के लिए। यहाँ से पौलुस सम्भवतः दूसरे शहर के लिए यात्रा करेगा।

Acts 17:15

καθιστάνοντες τὸν Παῦλον

जो पौलुस के साथ थे या ""जो पौलुस के साथ जा रहे थे

λαβόντες ἐντολὴν πρὸς τὸν Σιλᾶν καὶ τὸν Τιμόθεον

उसने उन्हें सीलास और तीमुथियुस को निर्देश देने के लिए कहा। इसे यूएसटी अनुवाद में प्रत्यक्ष उद्धरण के रूप में भी कहा जा सकता है। (देखें: प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष उद्धरण)

Acts 17:16

यह पौलुस और सीलास की यात्रा की कहानी का एक और हिस्सा है। पौलुस अब एथेंस में है जहाँ वह सीलास और तीमुथियुस के अपने साथ मिल जाने की प्रतीक्षा कर रहा है।

δὲ

कहानी की मुख्य-धारा में विराम को चिन्हित करने के लिए यहाँ इस शब्द का उपयोग किया गया है। यहाँ लूका कहानी के एक नए हिस्से को बताना आरम्भ कर देता है।

παρωξύνετο τὸ πνεῦμα αὐτοῦ ἐν αὐτῷ, θεωροῦντος κατείδωλον οὖσαν τὴν πόλιν

आत्मा"" यहाँ स्वयं पौलुस का प्रतीक है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह परेशान हो गया क्योंकि उसने देखा कि शहर में हर स्थान पर मूर्तियाँ थीं"" या ""शहर में हर स्थान पर मूर्तियों को देख कर वह परेशान हो गया"" (देखें: उपलक्षण अलंकार और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 17:17

διελέγετο

उसने वाद-विवाद किया या ""उसने चर्चा की।"" इसका अर्थ है कि केवल उसके प्रचार की अपेक्षा श्रोताओं की ओर से बातचीत होती है। वे भी उसके साथ बात कर रहे हैं।

τοῖς σεβομένοις

यह अन्यजातियों (गैर-यहूदियों) को सन्दर्भित करता है जो परमेश्वर की स्तुति करते हैं और उसका अनुसरण करते हैं परन्तु सभी यहूदी व्यवस्थाओं का पालन नहीं करते हैं।

ἐν τῇ ἀγορᾷ

सार्वजनिक चौक में। यह व्यवसाय का एक सार्वजनिक स्थान है, जहाँ सामान, पशुओं या सेवाओं की खरीद और बिक्री होती है।

Acts 17:18

यहाँ ""उससे,"" ""वह,"" और ""वह"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करते हैं।

Ἐπικουρίων καὶ Στοϊκῶν φιλοσόφων

इन लोगों का मानना था कि सभी वस्तुएँ संयोग से उत्पन्न हुई थीं और देवतागण खुश होने से जगत को नियन्त्रित करने में परेशान होने में बहुत अधिक व्यस्त थे। उन्होंने पुनरुत्थान का इंकार कर दिया और केवल साधारण सुख चाहते थे। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Στοϊκῶν φιλοσόφων

इन लोगों का मानना था कि स्वतंत्रता स्वयं को भाग्य के भरोसे छोड़ देने से आती है। उन्होंने एक व्यक्तिगत प्रेमपूर्ण परमेश्वर का और पुनरुत्थान का इंकार कर दिया। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

συνέβαλλον αὐτῷ

उस पर घटित हुआ

τινες ἔλεγον

कुछ दार्शनिकों ने कहा

τί ἂν θέλοι ὁ σπερμολόγος οὗτος

बकवादी"" शब्द का प्रयोग भोजन के रूप में बीज चुगने के लिए पक्षियों के सन्दर्भ में किया गया था। यह किसी ऐसे व्यक्ति को नकारात्मक रूप से सन्दर्भित करता है जो केवल थोड़ी सी जानकारी जानता है। दार्शनिकों ने कहा कि पौलुस के पास थोड़ी सी जानकारी थी जो सुनने के योग्य नहीं थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""यह अशिक्षित व्यक्ति क्या है"" (देखें: रूपक)

οἱ

अन्य दार्शनिकों ने कहा

δοκεῖ καταγγελεὺς

वह एक प्रचारक प्रतीत होता है या ""वह लोगों को अपने दर्शन में जोड़ने के लिए एक मिशन पर कार्य करता हुआ प्रतीत होता है

ξένων δαιμονίων

यह ""विषम"" के भाव में नहीं, परन्तु ""विदेशी"" के अर्थ में है, यानी, वे देवता जिनकी यूनानी और रोमी आराधना नहीं करते हैं या जिनके बारे में नहीं जानते हैं।

Acts 17:19

उसे,"" ""वह"" और ""तू"" शब्द पौलुस का उल्लेख करते हैं (प्रेरितों के काम 17:18)। यहाँ ""वे"" और ""हम"" शब्द इपिकूरी और स्तोइकी दार्शनिकों का उल्लेख करते हैं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

ἐπιλαβόμενοί τε αὐτοῦ, ἐπὶ τὸν Ἄρειον Πάγον ἤγαγο

इसका अर्थ यह नहीं है कि उन्होंने पौलुस को गिरफ्तार कर लिया था। दार्शनिकों ने पौलुस को औपचारिक रूप से अपने अगुवों से बात करने के लिए आमंत्रित किया था।

ἐπὶ τὸν Ἄρειον Πάγον

अरियुपगुस"" वह स्थान था जहाँ अगुवे मिलते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""अरियुपगुस पर मिलने वाले अगुवों के पास"" (देखें: लक्षणालंकार)

τὸν Ἄρειον Πάγον…λέγοντες

यहाँ अरियुपगुस के अगुवे बोल रहे हैं। यह एक नए वाक्य के रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अरियुपगुस। अगुवों ने पौलुस से कहा

Ἄρειον Πάγον

यह एथेंस में एक गता लगाने वाली प्रमुख चट्टान या पहाड़ी है जिस पर एथेंस का सर्वोच्च न्यायालय मिलता है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 17:20

ξενίζοντα γάρ τινα εἰσφέρεις εἰς τὰς ἀκοὰς ἡμῶν

यीशु और पुनरुत्थान के बारे में पौलुस की शिक्षाओं को एक ऐसी वस्तु के रूप में बोला गया है जिसे एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति के पास ला सकता है। यहाँ ""कान"" उसे सन्दर्भित करता है जो वे सुनते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि तू कुछ बातों की शिक्षा दे रहा है, जिन्हें हमने पहले कभी नहीं सुना है"" (देखें: रूपक और लक्षणालंकार)

Acts 17:21

Ἀθηναῖοι δὲ πάντες καὶ οἱ ἐπιδημοῦντες ξένοι

सब"" शब्द कई लोगों को सन्दर्भित करने वाला एक सामान्यकरण है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अब कई एथेंसवासी और वहाँ रहने वाले परदेशी"" या ""अब कई एथेंसवासी और वहाँ रहने वाले परदेशी"" (देखें: अतिशयोक्ति)

Ἀθηναῖοι…πάντες

एथेंसवासी, मकिदुनिया के नीचे तट के पास वाले शहर एथेंस के लोग हैं (वर्तमान दिन का यूनान)। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

οἱ…ξένοι

विदेशी

εἰς οὐδὲν ἕτερον ηὐκαίρουν, ἢ λέγειν τι ἢ ἀκούειν

यहाँ ""समय"" की बात ऐसे की गई है जैसे कि यह एक वस्तु थी जिसे एक व्यक्ति खर्च कर सकता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु कहने और सुनने के सिवाय अपने समय का उपयोग कुछ भी नहीं करने में किया था"" या ""सदैव कुछ भी नहीं कर रहे थे परन्तु बता रहे थे यह सुन रहे थे"" (देखें: रूपक)

εἰς οὐδὲν ἕτερον ηὐκαίρουν, ἢ λέγειν τι ἢ ἀκούειν

वाक्यांश ""कुछ भी नहीं करने में समय बिताते थे"" बढ़ा चढ़ा कर बोला गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कुछ अधिक नहीं किया था परन्तु बोलते और सुनते थे"" या ""अपना अधिकांश समय बताने या सुनने में बिताते थे"" (देखें: अतिशयोक्ति)

λέγειν τι ἢ ἀκούειν τι καινότερον

नए दार्शनिक विचारों पर चर्चा करना या ""उसके बारे में बात करना जो उनके लिए नया था

Acts 17:22

पौलुस अरियुपगुस पर दार्शनिकों को अपना भाषण आरम्भ करता है।

κατὰ πάντα…δεισιδαιμονεστέρους

पौलुस प्रार्थनाओं के माध्यम से देवताओं का सम्मान करने, वेदियों के निर्माण और बलि चढ़ाने के एथेंसवासियों के सार्वजनिक प्रदर्शन को सन्दर्भित कर रहा है।

Acts 17:23

διερχόμενος γὰρ

क्योंकि मैं पास से जाते हुए या ""मैं निकट से गुजरा

ἀγνώστῳ Θεῷ

सम्भावित अर्थ हैं 1) ""एक निश्चित अज्ञात् ईश्वर के लिए"" या 2) ""एक अनजाने ईश्वर के लिए।"" यह उस वेदी पर एक विशिष्ट लेख या शिलालेख था।

Acts 17:24

τὸν κόσμον

सबसे सामान्य अर्थ में, ""संसार"" आकाश और पृथ्वी और उनमें से के सब कुछ को सन्दर्भित करता है।

οὗτος…ὑπάρχων Κύριος

क्योंकि वह परमेश्वर है। यहाँ ""वह"" उस अज्ञात ईश्वर परमेश्वर को सन्दर्भित कर रहा है जिसका प्रेरितों के काम 17:23 में उल्लेख किया गया है कि पौलुस समझा रहा है कि वह प्रभु परमेश्वर है।

οὐρανοῦ καὶ γῆς

स्वर्ग और पृथ्वी में सभी प्राणियों और चीजों के अर्थ में ""स्वर्ग"" और ""पृथ्वी"" शब्द एक साथ उपयोग किए गए हैं। (देखें: विभज्योतक)

χειροποιήτοις

हाथ"" यहाँ लोगों का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों के हाथों से बनाए हुए"" या ""जिसे लोगों ने बनाया"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 17:25

οὐδὲ ὑπὸ χειρῶν ἀνθρωπίνων θεραπεύεται

यहाँ ""सेवा"" में एक रोगी के उपचार करने वाले डॉक्टर की रोगी को फिर से अच्छा करने की भावना है। वैकल्पिक अनुवाद: ""न तो मनुष्यों के हाथ उसकी देखभाल करते हैं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ὑπὸ χειρῶν ἀνθρωπίνων

हाथ"" यहाँ पूरे व्यक्ति का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मनुष्यों द्वारा"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

αὐτὸς διδοὺς

क्योंकि वह स्वयं ही। ""स्वयं"" शब्द जोर देने के लिए जोड़ा गया है। (देखें: कर्मकर्त्ता सर्वनाम)

Acts 17:26

यहाँ ""उसने"" और ""उसके"" शब्द एकमात्र सच्चे परमेश्वर, सृष्टिकर्ता का उल्लेख करते हैं। ""उनके"" और ""उन्हें"" शब्द पृथ्वी की सतह पर रहने वाली हर जाति का उल्लेख करते हैं। ""हम"" शब्द का उपयोग करने में पौलुस ने स्वयं को, अपने दर्शकों को और हर जाति को सम्मिलित करता है। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

ἑνὸς

इसका अर्थ है आदम, परमेश्वर का बनाया पहला व्यक्ति। इसे हव्वा को सम्मिलित करने के लिए कहा जा सकता है। यह आदम और हव्वा के माध्यम से था कि परमेश्वर ने अन्य सभी लोगों को बनाया। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक जोड़ा

ὁρίσας προστεταγμένους καιροὺς καὶ τὰς ὁροθεσίας τῆς κατοικίας αὐτῶν

इसे एक नए वाक्य के रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""और उसने निर्धारित किया कि वे कब और कहाँ रहेंगे

Acts 17:27

ζητεῖν τὸν Θεὸν, εἰ ἄρα γε ψηλαφήσειαν αὐτὸν καὶ εὕροιεν

यहाँ ""परमेश्वर की खोज"" उसे जानने की इच्छा रखने का प्रतिनिधित्व करती है, और ""उसकी ओर अपने मार्ग को महसूस करें और उसे ढूँढ़ लें"" प्रार्थना करने और उसके साथ सम्बन्ध बनाने का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ताकि उनको परमेश्वर को जानने की चाह करना और सम्भवतः उससे प्रार्थना करना और उसके लोगों में से एक बनना चाहिए"" (देखें: रूपक)

καί γε οὐ μακρὰν ἀπὸ ἑνὸς ἑκάστου ἡμῶν ὑπάρχοντα

इसे सकारात्मक रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""फिर भी वह हम सभी के बहुत निकट है"" (देखें: विडंबना)

Acts 17:28

यहाँ ""उसी में"" और ""उसी के"" शब्द परमेश्वर का उल्लेख करते हैं (प्रेरितों के काम 17:24)। जब पौलुस यहाँ ""हम"" कहता है, तो वह स्वयं को और साथ ही साथ अपने सुनने वालों को भी सम्मिलित करता है। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

ἐν αὐτῷ γὰρ

उसके कारण

Acts 17:29

γένος…ὑπάρχοντες τοῦ Θεοῦ

क्योंकि परमेश्वर ने सभी को बनाया, सभी लोगों को इस तरह कहा गया है जैसे कि वे परमेश्वर की वास्तविक संतान थे। (देखें: रूपक)

τὸ θεῖον

ईश्वरत्व"" यहाँ परमेश्वर की प्रकृति या विशेषताओं को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह परमेश्वर"" (देखें: लक्षणालंकार)

χαράγματι τέχνης καὶ ἐνθυμήσεως ἀνθρώπου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तब जिसका एक व्यक्ति उस वस्तु को बनाने के लिए अपने कौशल से उपयोग करता है जिसे उसने रूपरेखित किया है"" या ""मूर्तियाँ जिनको लोग अपनी कला और कल्पना का उपयोग करके बनाते हैं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 17:30

यहाँ ""वह"" शब्द परमेश्वर को सन्दर्भित करता है।

पौलुस अरियुपगुस में दार्शनिकों को अपना भाषण समाप्त करता है, जिसे उस प्रेरितों के काम 17:22 में आरम्भ किया था।

οὖν

क्योंकि मैंने अभी जो कहा है वह सच है

χρόνους τῆς ἀγνοίας ὑπεριδὼν ὁ Θεὸς

परमेश्वर ने अज्ञानता के समय लोगों को दण्डित नहीं करने का निर्णय किया

χρόνους τῆς ἀγνοίας

यह उससे पहले के समय को सन्दर्भित करता है जब परमेश्वर ने यीशु मसीह के माध्यम से पूरी तरह से स्वयं को प्रकट किया था और उससे पहले जब लोगों को सचमुच पता था कि परमेश्वर का आज्ञापालन कैसे किया जाए।

τοῖς ἀνθρώποις πάντας

इसका अर्थ है कि सभी लोग या तो नर हैं या मादा हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""सभी लोग"" (देखें: जब पुल्लिंग शब्दों में स्त्रियाँ शामिल होती हैं)

Acts 17:31

ἐν ᾗ μέλλει κρίνειν τὴν οἰκουμένην ἐν δικαιοσύνῃ, ἐν ἀνδρὶ ᾧ ὥρισεν

जब जो व्यक्ति उसने चुना है वह धार्मिकता में संसार का न्याय करेगा

μέλλει κρίνειν τὴν οἰκουμένην

यहाँ ""संसार"" लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह सभी लोगों का न्याय करेगा"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἐν δικαιοσύνῃ

न्यायपूर्वक या ""निष्पक्षता से

πίστιν παρασχὼν

परमेश्वर ने इस व्यक्ति में अपनी पसन्द का प्रदर्शन किया है

ἐκ νεκρῶν

उन सभी लोगों में से जो मर गए हैं। यह अभिव्यक्ति अधोलोक के सभी मृत लोगों को एक साथ बताती है। उनमें से वापस आना फिर से जीवित होने की बात कहता है।

Acts 17:32

यहाँ ""हम"" शब्द एथेंस के पुरुषों को सन्दर्भित करता है परन्तु पौलुस को नहीं, इसलिए यह बाहर है। यद्यपि उनमें से कुछ ने सम्भवतः पौलुस को फिर से सुनना चाहा था, परन्तु वे केवल विनम्र हो सकते थे। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

यह एथेंस में पौलुस के बारे में कहानी के हिस्से का अन्त है। (देखें: कहानी का अंत)

δὲ

कहानी की मुख्य-धारा में विराम को चिन्हित करने के लिए यहाँ इस शब्द का उपयोग किया गया है। यहाँ लूका पौलुस की शिक्षाओं से एथेंस के लोगों की प्रतिक्रिया की ओर मुड़ जाता है।

ἀκούσαντες

ये वे लोग हैं जो अरियुपगुस में पौलुस को सुनने के लिए उपस्थित थे।

οἱ μὲν ἐχλεύαζον

कुछ ने पौलुस का उपहास किया या ""कुछ लोग पौलुस के ऊपर हँसे।"" इन्होंने विश्वास नहीं किया था कि किसी के लिए मरना और फिर जीवन में वापस आना सम्भव था।

Acts 17:34

Διονύσιος ὁ Ἀρεοπαγίτης

दियुनुसियुस  एक व्यक्ति का नाम है। अरियुपगुस के सदस्य का तात्पर्य है कि दियुनुसियुस  अरियुपगुस की परिषद के न्यायाधीशों में से एक था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Δάμαρις

यह एक स्त्री का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 18

प्रेरितों के काम 18 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

यूहन्ना का बपतिस्मा

कुछ यहूदी जो यरूशलेम और यहूदिया से बहुत दूर रहते थे, उन्होंने यूहन्ना बपतिस्मा देने वाले के बारे में सुना और उसकी शिक्षाओं का पालन किया। उन्होंने अभी तक यीशु के बारे में नहीं सुना था। इन यहूदियों में से एक अप्पुलोस था। उसने यूहन्ना बपतिस्मा देने वाले का अनुसरण किया, परन्तु उसे नहीं पता था कि मसीह आ गया था। यूहन्ना ने लोगों को यह दिखाने के लिए बपतिस्मा दिया था कि वे अपने पापों के लिए खेदित थे, परन्तु यह बपतिस्मा मसीही बपतिस्मे से अलग था। (देखें: विश्वासयोग्य, विश्वासयोग्यता और मसीह, मसीहा और मन फिराना, (पश्चाताप),मन फिराव)

Acts 18:1

अक्विला और प्रिस्किल्ला को कहानी में प्रस्तुत किया गया है और वचन 2 और 3 उनके बारे में पृष्ठभूमि जानकारी देते हैं। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

पौलुस की यात्राओं की कहानी का यह एक और हिस्सा है जब वह कुरिन्थ जाता है।

μετὰ ταῦτα

एथेंस में इन घटनाओं के होने के बाद

ἐκ τῶν Ἀθηνῶν

एथेंस यूनान के सबसे महत्वपूर्ण शहरों में से एक था। देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरित के काम 17:15 में कैसे किया है।

Acts 18:2

καὶ εὑρών

सम्भावित अर्थ हैं कि 1) पौलुस संयोग से मिल गया या 2) पौलुस जानबूझकर मिला।

τινα Ἰουδαῖον ὀνόματι Ἀκύλαν

यहाँ ""एक निश्चित"" वाक्यांश संकेत करता है कि यह कहानी में नए व्यक्ति को प्रस्तुत कर रहा है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

Ποντικὸν τῷ γένει

पुन्तुस काले सागर के दक्षिणी तट पर एक प्रान्त था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

προσφάτως ἐληλυθότα

यह सम्भवतः पिछले वर्ष का कोई समय है।

τῆς Ἰταλίας

यह देश का नाम है। रोम इटली की राजधानी है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

τὸ διατεταχέναι Κλαύδιον

क्लौदियुस वर्तमान रोमी सम्राट था। देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरितों के काम 11:28 में कैसे किया है।

Acts 18:3

τὸ ὁμότεχνον εἶναι

उसने उसी तरह का काम किया था जो उन्होंने किया था

Acts 18:4

सीलास और तीमुथियुस फिर से पौलुस से मिल गए थे।

διελέγετο δὲ

तो पौलुस ने वाद-विवाद किया या ""तो पौलुस ने चर्चा की।"" उसने तर्क दिए। इसका अर्थ है कि केवल प्रचार करने की अपेक्षा, पौलुस ने लोगों से बात की और वार्तालाप किया।

ἔπειθέν τε Ἰουδαίους καὶ Ἕλληνας

सम्भावित अर्थ हैं 1) ""उसने यहूदियों और यूनानियों दोनों को विश्वास करने के लिए प्रेरित किया"" या 2) ""वह यहूदियों और यूनानियों को मनाने का प्रयास करता रहा।

Acts 18:5

συνείχετο τῷ λόγῳ ὁ Παῦλος

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""आत्मा ने पौलुस को मजबूर किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 18:6

ἐκτιναξάμενος τὰ ἱμάτια

यह संकेत देने के लिए एक प्रतीकात्मक गतिविधि है कि पौलुस अब यीशु के बारे में वहाँ यहूदियों को सिखाने का प्रयास नहीं करेगा। वह उन्हें परमेश्वर के न्याय पर छोड़ रहा है। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

τὸ αἷμα ὑμῶν ἐπὶ τὴν κεφαλὴν ὑμῶν

लहू"" यहाँ उनके कार्यों के दोष का प्रतीक है। ""सिर"" यहाँ पूरे व्यक्ति को सन्दर्भित करता है। पौलुस यहूदियों से कहता है कि यदि वे पश्चाताप करने से इंकार करते हैं तो अपने हठीलेपन के लिए वे न्याय का सामना करेंगे, जिसके लिए वे पूरी तरह उत्तरदायी हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम अकेले तुम्हारी पाप की सजा के लिए उत्तरदायित्व उठाते हो"" (देखें: लक्षणालंकार और उपलक्षण अलंकार)

Acts 18:7

यहाँ ""वह"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करता है। पहला ""जिसका"" शब्द तीतुस यूस्तुस को सन्दर्भित करता है। दूसरा ""अपने"" शब्द क्रिस्पुस को सन्दर्भित करता है।

Τιτίου Ἰούστου

यह एक व्यक्ति का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

σεβομένου τὸν Θεόν

परमेश्वर का एक आराधक एक ऐसा अन्यजाति है जो परमेश्वर की स्तुति करता है और उसका अनुसरण करता है, परन्तु आवश्यक रूप से सभी यहूदी व्यवस्थाओं का पालन नहीं करता है।

Acts 18:8

Κρίσπος

यह एक व्यक्ति का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

ἀρχισυνάγωγος

एक ऐसा व्यक्ति जो आऱाधनालय को प्रायोजित और प्रशासित करता था, आवश्यक रूप से शिक्षक नहीं था

ὅλῳ τῷ οἴκῳ αὐτοῦ

यहाँ ""घराना"" उन लोगों को सन्दर्भित करता है जो एक साथ रहते थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे लोग जो उसके घर में उसके साथ रहते थे"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἐβαπτίζοντο

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""बपतिस्मा प्राप्त किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 18:9

μὴ φοβοῦ, ἀλλὰ λάλει καὶ μὴ σιωπήσῃς

परमेश्वर जोर देने के लिए एक आज्ञा को दो अलग-अलग तरीकों से दे रहा है कि पौलुस को निश्चित रूप से प्रचार करते रहना चाहिए। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुमको डरना नहीं चाहिए और इसकी अपेक्षा, बोलते रहो और चुप न हो"" (देखें: समरूपता)

λάλει καὶ μὴ σιωπήσῃς

पौलुस को बोलने के लिए दृढ़ता से आदेश देने के लिए परमेश्वर एक आज्ञा को दो अलग-अलग तरीकों से देता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुमको निश्चित रूप से बोलते रहना है"" (देखें: दोहरात्मक)

μὴ σιωπήσῃς

यह स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है कि परमेश्वर क्या चाहता है कि पौलुस कहे। वैकल्पिक अनुवाद: ""सुसमाचार के बारे में बोलना बन्द न करो"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 18:10

λαός ἐστί μοι πολὺς ἐν τῇ πόλει ταύτῃ

इस शहर में बहुत से लोग हैं जिन्होंने मुझ पर अपना विश्वास रखा है या ""इस शहर के कई लोग मुझ पर अपना विश्वास रखेंगे

Acts 18:11

ἐκάθισεν δὲ ἐνιαυτὸν καὶ μῆνας ἓξ, διδάσκων ἐν αὐτοῖς τὸν λόγον τοῦ Θεοῦ

कहानी के इस हिस्से के लिए यह एक अन्तिम कथन है। ""परमेश्वर का वचन"" यहाँ सम्पूर्ण पवित्रशास्त्र के लिए एक उपलक्ष्य अलंकार है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पौलुस वहाँ रहा... उनके बीच पवित्रशास्त्र की शिक्षा देते हुए"" (देखें: कहानी का अंत और उपलक्षण अलंकार)

Acts 18:12

अखाया रोमी प्रान्त था जिसमें कुरिन्थ स्थित था। कुरिन्थ दक्षिणी यूनान का सबसे बड़ा शहर और प्रान्त की राजधानी था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

अविश्वासी यहूदी पौलुस को गल्लियो के न्याय के सिंहासन के सामने लाते हैं।

Γαλλίωνος

यह एक व्यक्ति का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

οἱ Ἰουδαῖοι

यह उन यहूदी अगुवों का प्रतीक है जिन्होंने यीशु पर विश्वास नहीं किया था। (देखें: उपलक्षण अलंकार)

κατεπέστησαν ὁμοθυμαδὸν

एक साथ आए या ""एक साथ मिल गए

ἤγαγον αὐτὸν ἐπὶ τὸ βῆμα

उन यहूदियों ने पौलुस को अदालत के सामने लाने के लिए बलपूर्वक पकड़ लिया। यहाँ ""न्याय आसन"" उस स्थान को सन्दर्भित करता है जहाँ गल्लियो अदालत में कानूनी निर्णय लेने के लिए बैठता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसे ले गए ताकि राज्यपाल न्याय आसन से उसका न्याय कर सके"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 18:14

εἶπεν ὁ Γαλλίων

गल्लियो उस प्रान्त का रोमी राज्यपाल था।

Acts 18:15

νόμου τοῦ καθ’ ὑμᾶς

व्यवस्था"" यहाँ मूसा की व्यवस्था के साथ-साथ पौलुस के समय के यहूदी रीति-रिवाजों को भी सन्दर्भित करता है।

κριτὴς ἐγὼ τούτων οὐ βούλομαι εἶναι

मैं इन मामलों के बारे में निर्णय देने से इंकार करता हूँ

Acts 18:16

यहाँ ""वे"" शब्द सम्भवतः अदालत में अन्यजाति लोगों को सन्दर्भित करता है। उन्होंने यहूदियों के विरूद्ध प्रतिक्रिया व्यक्त की जो न्याय आसन के सामने पौलुस को लाए थे (प्रेरितों के काम 18:12)।

ἀπήλασεν αὐτοὺς ἀπὸ τοῦ βήματος

गल्लियो ने उन्हें न्याय आसन से ही भेज दिया। यहाँ ""न्याय आसन"" उस स्थान को सन्दर्भित करता है जहाँ गल्लियो अदालत में कानूनी निर्णय लेने के लिए बैठता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""गल्लियो ने उन्हें अदालत में से उसकी उपस्थिति से बाहर कर दिया"" या ""गल्लियो ने उन्हें अदालत में से बाहर कर दिया"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 18:17

ἐπιλαβόμενοι…πάντες

यह लोगों की मजबूत भावनाओं पर जोर देने के लिए बढ़ा चढ़ा कर बोला गया हो सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""बहुत से लोगों ने पकड़ लिया"" या ""उनमें से कइयों ने जकड़ लिया"" (देखें: अतिशयोक्ति)

ἐπιλαβόμενοι δὲ πάντες Σωσθένην τὸν ἀρχισυνάγωγον, ἔτυπτον ἔμπροσθεν τοῦ βήματος

सम्भावित अर्थ हैं 1) अन्यजातियों ने सोस्थिनेस को अदालत में न्याय आसन के सामने मारा क्योंकि वह यहूदी अगुवा था या 2) यह सम्भव है कि सोस्थिनेस मसीह पर विश्वास करने वाले थे, इसलिए यहूदियों ने उसे अदालत के सामने मारा।

Σωσθένην τὸν ἀρχισυνάγωγον

सोस्थिनेस कुरिन्थ के आऱाधनालय का यहूदी शासक था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

ἔτυπτον

बार-बार उसे मारा या ""बार-बार उसे घूँसे मारे।

Acts 18:18

यहाँ ""वह"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करता है। किंख्रिया एक बन्दरगाह था जो कि बड़े कुरिन्थ के शहरी क्षेत्र का हिस्सा था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

यह पौलुस की मिशनरी यात्रा को जारी रखता है जब पौलुस, प्रिस्किला और अक्विला कुरिन्थ को छोड़ते हैं। ऐसा लगता है कि सीलास और तीमुथियुस रह जाते हैं जब यह ""उसके"" कहता है और ""हम"" नहीं। ""वे"" शब्द पौलुस, प्रिस्किल्ला और अक्विला को सन्दर्भित करता है।

τοῖς ἀδελφοῖς ἀποταξάμενος

भाइयों"" शब्द पुरुष और स्त्री विश्वासियों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""साथी विश्वासियों को छोड़ कर"" (देखें: जब पुल्लिंग शब्दों में स्त्रियाँ शामिल होती हैं)

ἐξέπλει εἰς τὴν Συρίαν, καὶ σὺν αὐτῷ Πρίσκιλλα καὶ Ἀκύλας

पौलुस एक जहाज पर चढ़ गया जो सीरिया को गया था। प्रिस्किल्ला और अक्विला उसके साथ गए।

κειράμενος…τὴν κεφαλήν, εἶχεν γὰρ εὐχήν

यह एक प्रतीकात्मक गतिविधि है जो एक मन्नत के पूरा होने का संकेत देती है। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने किसी के द्वारा अपने सिर के बालों को काट दिया था"" (देखें: प्रतीकात्मक कार्य और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 18:19

διελέξατο τοῖς

के साथ चर्चा की या ""के साथ वाद-विवाद किया

Acts 18:20

यहाँ ""उन्होंने"" और ""उनसे"" शब्द इफिसुस में यहूदियों का उल्लेख करते हैं।

Acts 18:21

ἀποταξάμενος

उन्हें अलविदा कह रहा है

Acts 18:22

फ्रूगिया एशिया का एक प्रान्त है जो अब आधुनिक दिनों का तुर्की है। देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरितों के काम 2:10 में कैसे किया है।

पौलुस अपनी मिशनरी यात्रा जारी रखता है।

κατελθὼν εἰς Καισάρειαν

कैसरिया पहुँचा। ""उतरकर"" शब्द का उपयोग यह दिखाने के लिए किया गया है कि वह जहाज से पहुँचा।

ἀναβὰς

उसने यरूशलेम शहर की यात्रा की। यहाँ ""को गया"" वाक्यांश का प्रयोग इसलिए किया गया है क्योंकि कैसरिया की तुलना में यरूशलेम ऊँचाई पर है।

ἀσπασάμενος τὴν ἐκκλησίαν

कलीसिया"" यहाँ यरूशलेम में विश्वासियों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यरूशलेम की कलीसिया के सदस्यों को नमस्कार किया"" (देखें: लक्षणालंकार)

κατέβη

यहाँ ""में आया"" वाक्यांश का प्रयोग इसलिए किया गया है क्योंकि यरूशलेम की तुलना में अन्ताकिया नीचे है।

Acts 18:23

ἐξῆλθεν

पौलुस चला गया या ""पौलुस निकल गया

καὶ ποιήσας χρόνον τινὰ

यह ""समय"" के बारे में ऐसे बोलता है जैसे कि यह एक वस्तु थी जिसे एक व्यक्ति खर्च कर सकता था। वैकल्पिक अनुवाद: कुछ समय वहाँ रहने के बाद ""(देखें: रूपक)

Acts 18:24

कहानी में अप्पुलोस को प्रस्तुत किया गया है। वचन 24 और 25 उसके बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देते हैं। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

लूका बताता है कि इफिसुस में प्रिस्किला और अक्विला के साथ क्या होता है।

δέ

कहानी की मुख्य-धारा में विराम को चिन्हित करने के लिए यहाँ इस शब्द का उपयोग किया गया है।

Ἰουδαῖος…τις Ἀπολλῶς ὀνόματι

वाक्यांश ""एक निश्चित"" संकेत करता है कि लूका कहानी में एक नए व्यक्ति को प्रस्तुत कर रहा है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

Ἀλεξανδρεὺς τῷ γένει

एक व्यक्ति जिसने सिकन्दरिया शहर में जन्म लिया था। यह अफ्रीका के उत्तरी तट पर मिस्र में एक शहर था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

λόγιος

एक अच्छा वक्ता

δυνατὸς ὢν ἐν ταῖς Γραφαῖς

वह पवित्र शास्त्र को अच्छी तरह से जानता था। उसने पुराने नियम के लेख को अच्छी तरह से समझ लिया था।

Acts 18:25

οὗτος ἦν κατηχημένος τὴν ὁδὸν τοῦ Κυρίου

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अन्य विश्वासियों ने अप्पुलोस को सिखाया था कि प्रभु यीशु कैसे चाहता था कि लोग जीवन को बिताएँ"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

καὶ ζέων τῷ πνεύματι

मन"" यहाँ अप्पुलोस के पूरे व्यक्तित्व को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""बहुत उत्साही होकर"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

τὸ βάπτισμα Ἰωάννου

वह बपतिस्मा जो यूहन्ना ने दिया यह यूहन्ना के पानी के बपतिस्मे की तुलना यीशु के पवित्र आत्मा के साथ के बपतिस्मे से कर रहा है।

Acts 18:26

τὴν ὁδὸν τοῦ Θεοῦ

परमेश्वर कैसे चाहता है कि लोग जीवन जीएँ को ऐसे बोला गया है, जैसे कि यह एक सड़क है जिस पर एक व्यक्ति यात्रा करता है। (देखें: रूपक)

ἀκριβέστερον

सही तरीके से या ""पूरी तरह से

Acts 18:27

यहाँ वह शब्द ""वह"" और ""उसे"" अप्पुलोस (प्रेरितों के काम 18:24) का सन्दर्भ देता है।

διελθεῖν εἰς τὴν Ἀχαΐαν

अखाया क्षेत्र में जाने के लिए। यहाँ ""उतरकर"" वाक्यांश का प्रयोग इसलिए किया गया है क्योंकि अप्पुलोस को इफिसुस से अखाया पहुँचने के लिए एजियन सागर पार करना पड़ा था।

τὴν Ἀχαΐαν

अखाया यूनान के दक्षिणी भाग में एक रोमी प्रान्त था। देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरितों के काम 18:12 में कैसे किया है ।

ἀδελφοὶ

यहाँ ""भाइयों"" शब्द पुरुष और स्त्री विश्वासियों को सन्दर्भित करता है। आप स्पष्ट कर सकते हैं कि ये इफिसुस में विश्वासीगण हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""इफिसुस में साथी विश्वासियों ने"" (देखें: जब पुल्लिंग शब्दों में स्त्रियाँ शामिल होती हैं और अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἔγραψαν τοῖς μαθηταῖς

अखाया के मसीहियों को एक पत्र लिखा था

τοῖς πεπιστευκόσιν διὰ τῆς χάριτος

जिन लोगों ने अनुग्रह से उद्धार में विश्वास किया था या ""वे लोग जिन्होंने परमेश्वर की कृपा से यीशु पर विश्वास किया था

Acts 18:28

εὐτόνως…τοῖς Ἰουδαίοις διακατηλέγχετο δημοσίᾳ

सार्वजनिक वाद-विवाद में अप्पुलोस ने सामर्थ्यशाली रीति से प्रकट किया कि यहूदी गलत थे

ἐπιδεικνὺς διὰ τῶν Γραφῶν εἶναι τὸν Χριστὸν, Ἰησοῦν

जब उसने उन पर पवित्रशास्त्र द्वारा प्रकट किया दिखाया कि यीशु ही मसीह है

Acts 19

प्रेरितों के काम 19 सामान्य टिप्पणियाँ

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

बपतिस्मा

यूहन्ना ने लोगों को यह दिखाने के लिए बपतिस्मा दिया कि वे अपने पापों के लिए खेदित हैं। यीशु के अनुयायियों ने उन लोगों को बपतिस्मा दिया जो यीशु का अनुसरण करना चाहते थे।

डायना का मन्दिर

डायना का मन्दिर इफिसुस शहर में एक महत्वपूर्ण स्थान था। इस मन्दिर को देखने के लिए बहुत से लोग इफिसुस आए, और वे वहाँ से देवी डायना की मूर्तियाँ खरीदते थे। डायना की मूर्तियों को बेचने वाले लोगों को डर था कि यदि लोगों को विश्वास नहीं हुआ कि डायना एक वास्तविक देवी थी, तो वे मूर्तियों के लिए विक्रेताओं को पैसे देना बंद कर देंगे।

Acts 19:1

ऊपर के सारे देश"" एशिया का एक क्षेत्र था जो आज इफिसुस के उत्तर में आधुनिक-दिन के तुर्की का हिस्सा है। पौलुस ने इफिसुस (आज के तुर्की में भी) आने के लिए एजियन समुद्र के शीर्ष के चारों ओर भूमि से यात्रा की होगी जो समुद्र द्वारा कुरिन्थ के सीधे पूर्व में है।

पौलुस इफिसुस की यात्रा करता है।

ἐγένετο δὲ

इस वाक्यांश का उपयोग कहानी के एक नए भाग के आरम्भ को चिह्नित करने के लिए किया गया है। यदि आपकी भाषा में ऐसा करने का कोई तरीका है, तो आप उसे यहाँ उपयोग करने पर विचार कर सकते हैं।

διελθόντα

से होकर यात्रा की

Acts 19:2

Πνεῦμα Ἅγιον ἐλάβετε

इसका अर्थ है कि पवित्र आत्मा उनके ऊपर उतरा।

οὐδ’ εἰ Πνεῦμα Ἅγιον ἔστιν ἠκούσαμεν

हमने पवित्र आत्मा के बारे में सुना भी नहीं है

Acts 19:3

यहाँ ""उन्होंने,"" ""तुम,"" और ""उन्हें"" शब्द इफिसुस शहर में कुछ चेलों का उल्लेख करते हैं (प्रेरितों के काम 19:1)। ""मेरे"" शब्द यूहन्ना को सन्दर्भित करता है।

εἰς τί οὖν ἐβαπτίσθητε

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुमको किस प्रकार का बपतिस्मा मिला?"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

εἰς τὸ Ἰωάννου βάπτισμα

आप इसे एक पूर्ण वाक्य के रूप में अनुवाद कर सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""हमें उस तरह का बपतिस्मा मिला जिसके बारे में यूहन्ना ने सिखाया था"" (देखें: पदन्यूनता)

Acts 19:4

βάπτισμα μετανοίας

आप भाववाचक संज्ञा ""मन फिराव"" को ""पश्चाताप करने"" क्रिया के रूप में अनुवाद कर सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह बपतिस्मा जो लोगों ने तब चाहा जब वे पश्चाताप करना चाहते थे"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

τὸν ἐρχόμενον

जो"" यहाँ यीशु को सन्दर्भित करता है।

τὸν ἐρχόμενον μετ’ αὐτὸν

इसका अर्थ है समयकाल में यूहन्ना बपतिस्मा देने वाले के बाद आना और शारीरिक रूप से उसके पीछे नहीं चलना।

Acts 19:5

पौलुस इफिसुस में रह रहा है।

ἀκούσαντες δὲ

यहाँ ""उन्होंने"" इफिसुस के चेलों को सन्दर्भित करता है जो पौलुस के साथ बात कर रहे थे (प्रेरितों के काम 19:1),

ἐβαπτίσθησαν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने बपतिस्मा पाया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

εἰς τὸ ὄνομα τοῦ Κυρίου Ἰησοῦ

यहाँ ""नाम"" यीशु की सामर्थ्य और अधिकार को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रभु यीशु में विश्वासियों के रूप में"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 19:6

ἐπιθέντος αὐτοῖς τοῦ Παύλου χεῖρας

उन पर अपने हाथों को रख दिया। उसने सम्भवतः अपने हाथों को उनके कंधों या सिरों पर रखा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने उनके सिरों पर अपने हाथ रखे जब उसने प्रार्थना की

ἐλάλουν τε γλώσσαις καὶ ἐπροφήτευον

प्रेरितों के काम 2:3-4 के विपरीत, उनके सन्देशों को समझने वालों का कोई विवरण नहीं हैं।

Acts 19:7

ἦσαν δὲ οἱ πάντες ἄνδρες ὡσεὶ δώδεκα

यह बताता है कि कितने पुरुषों ने बपतिस्मा लिया था। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

ἄνδρες…δώδεκα

12 पुरुष (देखें: संख्याएँ)

Acts 19:8

εἰσελθὼν…εἰς τὴν συναγωγὴν, ἐπαρρησιάζετο ἐπὶ μῆνας τρεῖς

पौलुस ने नियमित रूप से तीन महीने तक आराधनालय की सभाओं में भाग लिया और वहाँ साहसपूर्वक बात की

διαλεγόμενος καὶ πείθων

दृढ़ तर्कों और स्पष्ट शिक्षा के साथ लोगों को विश्वास दिलाना

περὶ τῆς Βασιλείας τοῦ Θεοῦ

राज्य"" यहाँ राजा के रूप में परमेश्वर के शासन का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""राजा के रूप में परमेश्वर के शासन के बारे में"" या ""परमेश्वर कैसे राजा के रूप में स्वयं को दिखाएँगे इसके बारे में"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 19:9

τινες ἐσκληρύνοντο καὶ ἠπείθουν

हठीलेपन से विश्वास करने से इंकार करने को ऐसे कहा गया है जैसे कि मानो लोग कठोर हो रहे थे और आगे बढ़ने में असमर्थ थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""कुछ यहूदी हठीले थे और उन्होंने विश्वास नहीं किया था"" या ""कुछ यहूदियों ने हठीले होकर सन्देश को स्वीकार करने और उसका पालन करने से इंकार कर दिया"" (देखें: रूपक)

κακολογοῦντες τὴν ὁδὸν ἐνώπιον τοῦ πλήθους

मसीह क्या चाहता है कि लोग विश्वास करें को ऐसे कहा गया है जैसे कि मानो यह एक मार्ग था जिस पर एक व्यक्ति यात्रा करता है। ऐसा लगता है कि वाक्यांश ""मार्ग,"" उस समय मसीही धर्म के लिए एक शीर्षक रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""भीड़ के लिए मसीही धर्म के बारे में बुरा बोलने के लिए"" या ""उन लोगों के बारे में बुरी बातों को करने के लिए जो मसीह का अनुसरण करते हैं और जो परमेश्वर के बारे में उसकी शिक्षा का पालन करते हैं"" (देखें: रूपक और Acts 9:2)

κακολογοῦντες

के बारे में बुरी बातें बोलने के लिए

ἐν τῇ σχολῇ Τυράννου

उस बड़े कमरे में जहाँ तुरन्नुस ने लोगों को सिखाया था

Τυράννου

यह एक व्यक्ति का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 19:10

πάντας τοὺς κατοικοῦντας τὴν Ἀσίαν ἀκοῦσαι τὸν λόγον τοῦ Κυρίου

यहाँ ""सब"" एक सामान्यकरण है जिसका अर्थ है कि पूरे एशिया में बहुत से लोगों ने सुसमाचार सुना। (देखें: अतिशयोक्ति)

τὸν λόγον τοῦ Κυρίου

वचन"" यहाँ एक सन्देश का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर के बारे में सन्देश"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 19:11

यहाँ ""उनकी"" और ""उन्होंने"" शब्द उन लोगों को सन्दर्भित करते हैं जो बीमार थे।

δυνάμεις τε οὐ τὰς τυχούσας, ὁ Θεὸς ἐποίει διὰ τῶν χειρῶν Παύλου

हाथों"" यहाँ पौलुस के पूरे व्यक्तित्व का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर पौलुस को आश्चर्यकर्म करने के लिए प्रेरित कर रहा था"" या ""परमेश्वर पौलुस के माध्यम से आश्चर्यकर्म कर रहा था"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 19:12

καὶ ἐπὶ τοὺς ἀσθενοῦντας ἀποφέρεσθαι ἀπὸ τοῦ χρωτὸς αὐτοῦ σουδάρια ἢ σιμικίνθια, καὶ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यहाँ तक ​​कि रूमाल और अंगोछे जिन्हें पौलुस छू चुका था जब वे बीमार लोगों के पास ले गए तो

καὶ…ἀπὸ τοῦ χρωτὸς αὐτοῦ σουδάρια ἢ σιμικίνθια

सम्भावित अर्थ हैं 1) ये कपड़े की वस्तुएँ थी जिन्हें पौलुस ने छुआ था या 2) ये कपड़े की वस्तुएँ थीं जिन्हें पौलुस ने पहना था या उपयोग किया था।

σουδάρια

सिर के चारों ओर पहने हुए कपड़े

σιμικίνθια

लोगों के द्वारा पहने हुए कपड़ों की रक्षा के लिए शरीर के आगे के भाग में पहने जाने वाले कपड़े

τοὺς ἀσθενοῦντας

यह बीमार लोगों को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""बीमार लोग"" या ""वे जो बीमार थे"" (देखें: आम विशेषण)

ἀπαλλάσσεσθαι ἀπ’ αὐτῶν τὰς νόσους

जो बीमार थे वे स्वस्थ हो गए

Acts 19:13

यह एक और घटना का आरम्भ है जो उस समय हुई जब पौलुस इफिसुस में था। यह झाड़ा फूँकी करने वाले यहूदियों के बारे में है।

ἐξορκιστῶν

ऐसे लोग जो दुष्ट आत्माओं को लोगों या स्थानों से दूर भेजते हैं

τὸ ὄνομα τοῦ Κυρίου Ἰησοῦ

यहाँ ""नाम"" यीशु की सामर्थ्य और अधिकार को सन्दर्भित करता है। (देखें: लक्षणालंकार)

τὸν Ἰησοῦν, ὃν Παῦλος κηρύσσει

यीशु उस समय एक सामान्य नाम था, इसलिए ये झाड़ा फूँकी करने वाले चाहते थे कि लोगों को पता चले कि उन्होंने किससे बात की थी।

τὸν Ἰησοῦν

यह यीशु की सामर्थ्य और अधिकार का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यीशु के अधिकार से"" या ""यीशु की सामर्थ्य से"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 19:14

Σκευᾶ

यह एक व्यक्ति का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 19:15

τὸν Ἰησοῦν γινώσκω, καὶ τὸν Παῦλον ἐπίσταμαι

मैं यीशु और पौलुस को जानती हूँ या ""मैं यीशु को जानती हूँ, और मैं पौलुस को पहचानती हूँ

ὑμεῖς δὲ τίνες ἐστέ

उस आत्मा ने जोर देने के लिए इस प्रश्न को पूछा कि उन झाड़ा फूँकी करने वाले लोगों का दुष्ट आत्माओं के ऊपर कोई अधिकार नहीं था। वैकल्पिक अनुवाद: ""परन्तु मैं तुम्हें नहीं जानती!"" या ""परन्तु तुम्हारे पास मेरे ऊपर कोई अधिकार नहीं है!"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

Acts 19:16

φαλόμενος ὁ ἄνθρωπος…ἐν ᾧ ἦν τὸ πνεῦμα τὸ πονηρὸν

इसका अर्थ है कि दुष्ट आत्मा ने उस व्यक्ति को जिस पर वह नियन्त्रित किए हुए थी उस झाड़ा फूँकी करने वाले के ऊपर झपटवा दिया।

αὐτοὺς

यह उन लोगों को सन्दर्भित करता है जो दुष्ट आत्माओं को लोगों या स्थानों से दूर भेजते हैं। देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरितों के काम 19:13 में कैसे किया है।

γυμνοὺς…ἐκφυγεῖν

झाड़ा फूँकी करने वाला अपने कपड़ों को फटे हुए ही लेकर भाग गया।

Acts 19:17

ἐμεγαλύνετο τὸ ὄνομα τοῦ Κυρίου Ἰησοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन्होंने प्रभु यीशु के नाम का सम्मान किया"" या ""उन्होंने प्रभु यीशु के नाम का महान होना माना"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὸ ὄνομα

यह यीशु की सामर्थ्य और अधिकार का प्रतीक है। (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 19:18

यह झाड़ा फूँकी करने वाले यहूदियों के बारे में कहानी को समाप्त करता है। (देखें: कहानी का अंत)

Acts 19:19

συνενέγκαντες τὰς βίβλους

अपनी पोथियाँ एकत्र कीं। ""पोथियाँ"" शब्द उन कुण्डल पत्रों को सन्दर्भित करता है जिन पर जादू वाले मंत्र और सूत्र लिखे हुए थे।

ἐνώπιον πάντων

सबके सामने

τὰς τιμὰς αὐτῶν

उन पोथियों का मूल्य या ""उन कुण्डल पत्रों का मूल्य

μυριάδας πέντε

50,000 (देखें: संख्याएँ)

ἀργυρίου

एक सामान्य मजदूर के लिए एक ""चाँदी का टुकड़ा"" अनुमानित दैनिक मजदूरी थी। (देखें: बाइबल में धन)

Acts 19:20

οὕτως κατὰ κράτος τοῦ Κυρίου ὁ λόγος ηὔξανεν καὶ ἴσχυεν

इसलिए इन सामर्थ्यशाली कामों के कारण, अधिक से अधिक लोगों ने प्रभु यीशु के बारे में सन्देश को सुना (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 19:21

पौलुस यरूशलेम जाने के बारे में बात करता है परन्तु अभी तक इफिसुस को नहीं छोड़ता है।

δὲ

कहानी की मुख्य-धारा में विराम को चिन्हित करने के लिए यहाँ इस शब्द का उपयोग किया गया है। यहाँ लूका कहानी के एक नए हिस्से को बताना आरम्भ कर देता है।

ἐπληρώθη ταῦτα…ὁ Παῦλος

पौलुस ने उस काम को पूरा किया था जो इफिसुस में उसके द्वारा करने के लिए परमेश्वर के पास था

ἔθετο…ἐν τῷ Πνεύματι

सम्भावित अर्थ हैं 1) पौलुस ने पवित्र आत्मा की सहायता से निर्णय लिया या 2) पौलुस ने अपनी आत्मा के भीतर निर्णय किया, जिसका अर्थ है कि उसने अपना मन बना लिया था।

Ἀχαΐαν

अखाया रोमी प्रान्त था जिसमें कुरिन्थ स्थित था। यह दक्षिणी यूनान का सबसे बड़ा शहर और प्रान्त की राजधानी था। देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरितों के काम 18:12 में कैसे किया है ।

δεῖ με καὶ Ῥώμην ἰδεῖν

मुझे रोम की यात्रा भी करनी है

Acts 19:22

Ἔραστον

यह एक व्यक्ति का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

αὐτὸς ἐπέσχεν χρόνον εἰς τὴν Ἀσίαν

अगले कुछ वचनों में यह स्पष्ट किया गया है कि पौलुस इफिसुस में ही रह जाता है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

αὐτὸς

इसे जोर देने के लिए दोहराया गया है। (देखें: कर्मकर्त्ता सर्वनाम)

Acts 19:23

कहानी में दिमेत्रियुस को प्रस्तुत किया गया है। वचन 24 दिमेत्रियुस के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी प्रस्तुत करता है। इफिसुस में देवी अरतिमिस को समर्पित एक बड़ा मन्दिर था, जिसे कभी-कभी ""डायना"" के रूप में अनुवादित किया गया है। वह प्रजनन क्षमता की झूठी देवी थी। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी और नामों का अनुवाद कैसे करें)

लूका एक दंगे के बारे में बताता है जो तब होता है जब पौलुस इफिसुस में था।

ἐγένετο…τάραχος οὐκ ὀλίγος περὶ τῆς ὁδοῦ

यह आरम्भ करने वाला एक सारांश कथन है।

ἐγένετο…τάραχος οὐκ ὀλίγος

लोग बहुत परेशान हो गए देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरितों के काम 12:18 में कैसे किया है।

τῆς ὁδοῦ

यह एक शब्द था जिसे मसीही धर्म के सन्दर्भ के लिए उपयोग किया गया है। देखें कि आपने इस शीर्षक का अनुवाद प्रेरितों के काम 9:1 में कैसे किया है।

Acts 19:24

Δημήτριος…τις ὀνόματι ἀργυροκόπος

कोई"" शब्द का उपयोग कहानी में एक नए व्यक्ति को प्रस्तुत करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ἀργυροκόπος

एक शिल्पकार जो मूर्तियाँ और गहने बनाने के लिए चाँदी की धातु के साथ काम करता है

Δημήτριος…ὀνόματι

यह एक व्यक्ति का नाम है। दिमेत्रियुस इफिसुस में एक सुनार था जो पौलुस और स्थानीय कलीसिया के विरूद्ध था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

παρείχετο…οὐκ ὀλίγην ἐργασίαν

उन लोगों के लिए बहुत पैसा बनाया जो उन मूर्तियों को बनाया करते थे

Acts 19:25

τοὺς περὶ τὰ τοιαῦτα ἐργάτας

एक व्यवसाय एक काम या नौकरी है। वैकल्पिक अनुवाद: ""दूसरों को जिन्होंने इस तरह का काम किया था

Acts 19:26

दिमेत्रियुस कारीगरों से बात करना जारी रखता है।

θεωρεῖτε καὶ ἀκούετε ὅτι

तुमको पता चला है और समझ गए हो

μετέστησεν ἱκανὸν ὄχλον

पौलुस का मूर्तियों की पूजा करने से लोगों को रोकने को ऐसे कहा गया है कि मानो पौलुस सचमुच लोगों को एक अलग दिशा की ओर मोड़ रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""कई लोगों को स्थानीय देवताओं की पूजा करना बन्द करने को प्रेरित किया"" (देखें: रूपक)

λέγων ὅτι οὐκ εἰσὶν θεοὶ, οἱ διὰ χειρῶν γινόμενοι

यहाँ ""हाथ"" शब्द पूरे व्यक्ति को सन्दर्भित कर सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वह कह रहा है कि वे मूर्तियाँ जो लोग बनाते हैं वे वास्तविक देवतागण नहीं हैं"" (देखें: पदन्यूनता और उपलक्षण अलंकार)

Acts 19:27

τοῦτο κινδυνεύει ἡμῖν, τὸ μέρος εἰς ἀπελεγμὸν ἐλθεῖν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि लोग अब हमसे मूर्तियाँ खरीदना नहीं चाहेंगे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὸ τῆς μεγάλης θεᾶς Ἀρτέμιδος ἱερὸν, εἰς οὐθὲν λογισθῆναι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग सोचेंगे कि महान देवी अरतिमिस की पूजा करने के लिए मन्दिर जाने में कोई लाभ नहीं है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

μέλλειν τε καὶ καθαιρεῖσθαι τῆς μεγαλειότητος αὐτῆς

अरतिमिस की महानता केवल उससे आती है जो लोग उसके बारे में सोचते हैं।

ἣν ὅλη ἡ Ἀσία καὶ ἡ οἰκουμένη σέβεται

यह बढ़ा चढ़ा कर दिखाना था कि देवी अरतिमिस कितनी लोकप्रिय थी। यहाँ ""एशिया"" और ""संसार"" शब्द एशिया और ज्ञात संसार के लोगों को सन्दर्भित करते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिसकी एशिया और संसार के अन्य हिस्सों में कई लोग पूजा करते हैं"" (देखें: अतिशयोक्ति और लक्षणालंकार)

Acts 19:28

वे"" यहाँ उन कारीगरों को सन्दर्भित करता है जो उन मूर्तियों को बनाया करते थे (प्रेरितों के काम 19:24-25)।

γενόμενοι πλήρεις θυμοῦ

यह उन कारीगरों की बात ऐसे करता है कि मानो वे पात्र थे। यहाँ ""क्रोध"" की बात ऐसे की गई है जैसे कि यह एक पात्र को भरने वाली सामग्री थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे बहुत गुस्सा हो गए"" (देखें: रूपक)

ἔκραζον

ऊँची आवाज से चिल्लाए या ""जोर से चिल्लाए

Acts 19:29

ἐπλήσθη ἡ πόλις τῆς συγχύσεως

नगर"" यहाँ लोगों को सन्दर्भित करता है। नगर के बारे में ऐसे बात की गई है जैसे कि यह एक पात्र था। और, ""भ्रम"" की बात ऐसे की गई है जैसे कि यह पात्र को भरने वाली सामग्रियाँ थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""तब पूरे नगर में लोग परेशान हो गए और चिल्लाना आरम्भ कर दिया"" (देखें: लक्षणालंकार और रूपक)

ὥρμησάν τε ὁμοθυμαδὸν

यह एक उपद्रव या दंगा होने की स्थिति थी।

εἰς τὸ θέατρον

इफिसुस की रंगशाला का उपयोग सार्वजनिक बैठकों और नाटकों और संगीत जैसे मनोरंजन के लिए किया गया था। यह एक बाहरी अर्ध-चन्द्रकार क्षेत्र था जिसमें बैठने के लिए कुर्सियाँ थीं जो हजारों लोगों को बैठा सकती थीं।

συνεκδήμους Παύλου

वे लोग जो पौलुस के साथ थे।

Γάϊον καὶ Ἀρίσταρχον

ये पुरुषों के नाम हैं। गयुस और अरिस्तर्खुस मकिदुनिया से आए थे परन्तु इस समय इफिसुस में पौलुस के साथ काम कर रहे थे। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 19:30

इफिसुस रोमी साम्राज्य का हिस्सा था और एशिया प्रान्त में था।

Acts 19:31

δοῦναι…εἰς τὸ θέατρον

इफिसुस की रंगशाला का उपयोग सार्वजनिक बैठकों और नाटकों और संगीत जैसे मनोरंजन के लिए किया गया था। यह एक बाहरी अर्ध-चन्द्रकार क्षेत्र था जिसमें बैठने के लिए कुर्सियाँ थीं जो हजारों लोगों को बैठा सकती थीं। देखें कि आपने ""रंगशाला"" का अनुवाद प्रेरितों के काम 19:29 में कैसे किया है।

Acts 19:33

Ἀλέξανδρον

यह एक व्यक्ति का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

κατασείσας τὴν χεῖρα

आप स्पष्ट कर सकते हैं कि सिकन्दर भीड़ को हाथ इसलिए दिखा रहा था कि वह उन्हें शान्त करना चाहता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""भीड़ को शान्त होने के लिए इशारा किया"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ἀπολογεῖσθαι

यह स्पष्ट नहीं है कि सिकन्दर किसकी रक्षा करना चाहता था । यदि आपकी भाषा को इस जानकारी की आवश्यकता है, तो सामान्य वाक्यांश का उपयोग करना सबसे अच्छा हो सकता है जैसे कि ""यह बताने के लिए कि क्या चल रहा था।

Acts 19:34

φωνὴ…μία

एक ही समय में लोगों के साथ चिल्लाते हुए को ऐसे कहा गया है कि मानो वे एक आवाज से बात कर रहे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""एकजुट"" या ""एक साथ"" (देखें: रूपक)

Acts 19:35

तुम"" और ""तुम"" शब्द उन सभी पुरुषों को सन्दर्भित करते हैं जो इफिसुस से थे। (देखें: तुम के प्रारूप)

इफिसुस का मंत्री भीड़ को शान्त करने के लिए बोलता है।

ὁ γραμματεὺς

यह नगर के ""लेखक"" या ""सचिव"" को सन्दर्भित करता है।

τίς…ἐστιν ἀνθρώπων, ὃς οὐ γινώσκει τὴν Ἐφεσίων πόλιν νεωκόρον οὖσαν τῆς μεγάλης Ἀρτέμιδος καὶ τοῦ διοπετοῦ

मंत्री ने इस प्रश्न उस भीड़ को आश्वस्त करने के लिए कि वे सही थे और उन्हें सांत्वना देने के लिए पूछा। वैकल्पिक अनुवाद: ""हर व्यक्ति जानता है कि इफिसियों का शहर स्वर्ग के ... मन्दिर रखवाला है।"" (देखें: भाषणगत प्रश्न)

ὃς οὐ γινώσκει

नगर का मंत्री इस बात पर जोर देने के लिए ""नहीं"" का उपयोग करता है कि सभी लोगों को यह पता था। (देखें: विडंबना)

νεωκόρον

इफिसुस के लोगों ने अरतिमिस के मन्दिर को बनाए रखा और सुरक्षित रखा था।

τοῦ διοπετοῦς

अरतिमिस के मन्दिर में देवी की एक मूर्ति थी। यह एक उल्कापिंड से बनी थी जो आकाश से गिरा था। लोगों ने सोचा कि उसकी चट्टान सीधे यूनानी देवताओं (मूर्तियों) के शासक ज्यूस से आई थी।

Acts 19:36

ἀναντιρρήτων οὖν ὄντων τούτων

क्योंकि तुम इन बातों को जानते हो

μηδὲν προπετὲς πράσσειν

इससे पहले कि तुम इसके बारे में सोचने के लिए समय लो, कुछ भी मत करो

προπετὲς

सावधानी से भरे हुए विचार के बिना

Acts 19:37

τοὺς ἄνδρας τούτους

इन मनुष्यों"" शब्द पौलुस के संग यात्रा करने वाले साथी गयुस और अरिस्तर्खुस का उल्लेख करते हैं (प्रेरितों के काम 19:29)।

Acts 19:38

नगर का मंत्री भीड़ से बात करना समाप्त करता है।

οὖν

क्योंकि मैंने अभी जो कहा है वह सच है। नगर के मंत्री ने प्रेरितों के काम 19:37 में कहा था कि गयुस और अरिस्तर्खुस लुटेरे या निन्दा करने वाले नहीं थे।

ἔχουσιν πρός τινα λόγον

आरोप"" शब्द ""दोष"" क्रिया के रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""किसी पर आरोप लगाना चाहते हैं"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

ἀνθύπατοί

रोमी राज्यपाल के प्रतिनिधि जो अदालत में कानूनी निर्णयों को देते थे (देखें: अज्ञात का अनुवाद)

ἐγκαλείτωσαν ἀλλήλοις

इसका अर्थ यह नहीं है कि दिमेत्रियुस और जो उसके साथ हैं वे एक-दूसरे पर आरोप लगाएँगे। इसका अर्थ है कि यह एक ऐसा स्थान है जहाँ सामान्य तौर पर लोग अपने आरोप को कह सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""वहाँ लोग एक-दूसरे पर आरोप लगा सकते हैं

Acts 19:39

εἰ δέ τι περὶ ἑτέρων ἐπιζητεῖτε

परन्तु यदि तुम्हारे पास चर्चा करने के लिए अन्य विषय हैं

ἐν τῇ ἐννόμῳ ἐκκλησίᾳ ἐπιλυθήσεται

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""आओ हम इसका नियमित सभा में निपटारा करें"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τῇ ἐννόμῳ ἐκκλησίᾳ

यह नागरिकों की सार्वजनिक सभा को सन्दर्भित करता है जिस पर नगर का मंत्री अध्यक्षता करता है।

Acts 19:40

κινδυνεύομεν ἐνκαλεῖσθαι στάσεως περὶ τῆς σήμερον

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""रोमी अधिकारियों के डर के कारण आज हम पर दंगा आरम्भ करने का आरोप लगा रहे हैं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 20

प्रेरितों 20 सामान्य टिप्पणियाँ

संरचना एवं स्वरूपण

इस अध्याय में लूका यरूशलेम जाने से पहले पौलुस के मकिदुनिया और एशिया के प्रान्तों में विश्वासियों से अंतिम बार मिलने का वर्णन करता है।

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

दौड़

पौलुस ने यीशु के लिए जीने की बात ऐसे की जैसे कि वह एक दौड़ में दौड़ रहा था। इसके द्वारा उसका अर्थ था कि परिस्थितियाँ कठिन होने पर भी और वह छोड़ देना चाहता था तब पर भी उसे लगातार कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता थी । (देखें: रूपक और ताड़ना, अनुशासन, आत्म-अनुशासन, आत्म संयम)

""आत्मा में बंधा हुआ""

पौलुस ने सोचा था कि पवित्र आत्मा चाहता था कि वह यरूशलेम जाए, भले ही पौलुस वहाँ नहीं जाना चाहता था। उसी पवित्र आत्मा ने अन्य लोगों से कहा कि जब पौलुस यरूशलेम में पहुँचता है तो लोग उसे नुकसान पहुँचाने की प्रयास करेंगे।

Acts 20:1

पौलुस इफिसुस छोड़ देता है और अपनी यात्राओं को जारी रखता है।

μετὰ δὲ τὸ παύσασθαι

दंगे के बाद या ""दंगा के आगे

ἀσπασάμενος

उसने अलविदा कहा

Acts 20:2

παρακαλέσας αὐτοὺς λόγῳ πολλῷ

विश्वासियों को बहुत प्रोत्साहित किया था या ""विश्वासियों को प्रोत्साहित करने के लिए कई बातें कही थीं

Acts 20:3

ποιήσας τε μῆνας τρεῖς

तीन महीने तक वहाँ रहने के बाद। यह समय के बारे में ऐसे बताता है जैसे कि यह कोई चीज थी जिसे एक व्यक्ति खर्च कर सकता था। (देखें: रूपक)

γενομένης ἐπιβουλῆς αὐτῷ ὑπὸ τῶν Ἰουδαίων

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यहूदियों ने उसके विरूद्ध एक षड़यन्त्र रचा"" या ""यहूदियों ने उसे नुकसान पहुँचाने के लिए एक गुप्त योजना बनाई"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ὑπὸ τῶν Ἰουδαίων

इसका अर्थ केवल कुछ यहूदी हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""कुछ यहूदियों के द्वारा"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

μέλλοντι ἀνάγεσθαι εἰς τὴν Συρίαν

क्योंकि वह सीरिया के लिए जाने के लिए तैयार था

Acts 20:4

यहाँ ""उसके"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करता है (प्रेरितों के काम 20:1)। इन वचनों में ""हमारी"" और ""हम"" के आने वाले सभी उदाहरण लेखक और पौलुस और उनके साथ यात्रा करने वालों को सन्दर्भित करते हैं, परन्तु पाठक को नहीं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

συνείπετο δὲ αὐτῷ

उसके साथ यात्रा कर रहे थे

Σώπατρος…Πύρρου…Σεκοῦνδος,…Τυχικὸς…Τρόφιμος

ये पुरुषों के नाम हैं। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Βεροιαῖος…Δερβαῖος

ये स्थानों के नाम हैं। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Ἀρίσταρχος…Γάϊος

ये पुरुषों के नाम हैं। देखें कि आपने इन नामों का अनुवाद प्रेरितों के काम 19:29 में कैसे किया है।

Acts 20:5

Τρῳάδι

यह एक स्थान का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

οὗτοι…προσελθόντες

ये पुरुषों ने हमारे आगे आगे यात्रा की थी

Acts 20:6

τὰς ἡμέρας τῶν Ἀζύμων

यह फसह पर्व के समय में यहूदी धार्मिक त्योहार के समय को सन्दर्भित करता है। देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरितों के काम 12:3 में कैसे किया है ।

Acts 20:7

यहाँ ""हम"" शब्द लेखक और पौलुस और उनके साथ यात्रा करने वालों को सन्दर्भित करते हैं, परन्तु पाठक को नहीं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’ और Acts 20:4-6))

लूका त्रोआस में पौलुस के प्रचार के बारे में और जोयूतुखुस के साथ हुआ उसके बारे में बताता है।

κλάσαι ἄρτον

रोटी उनके भोजन का हिस्सा थी। सम्भावित अर्थ हैं 1) यह सामान्य रूप से एक साथ भोजन खाने को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""भोजन खाने"" या 2) यह उस भोजन को सन्दर्भित करता है जो वे मसीह की मृत्यु और पुनरुत्थान को स्मरण रखने के लिए एक साथ खाएँगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रभु-भोज खाने के लिए"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

παρέτεινέν τε τὸν λόγον

उसने बात करना जारी रखा

Acts 20:8

ὑπερῴῳ

यह तीसरी मंजिल का घर हो सकता है।

Acts 20:9

यहाँ ""स्वयं"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करता है। पहला ""वह"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करता है; दूसरा शब्द ""वह"" युवा व्यक्ति, यूतुखुस को सन्दर्भित करता है। ""उससे"" शब्द यूतुखुस को सन्दर्भित करता है।

ἐπὶ τῆς θυρίδος

यह दीवार में एक अटारी वाला झरोखा था जो इतना पर्याप्त चौड़ा था कि उस पर एक व्यक्ति बैठ सकता था।

Εὔτυχος

यह एक व्यक्ति का नाम है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

καταφερόμενος ὕπνῳ βαθεῖ

यह नींद के बारे में ऐसे बोलता है जैसे कि यह एक गहरा गड्डा था जिसमें एक व्यक्ति गिर सकता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो अच्छी तरह से सो गया"" या ""जब तक कि वह बहुत अधिक थक नहीं गया तब वह अन्त में अच्छी तरह से सो रहा था"" (देखें: रूपक)

τριστέγου…καὶ ἤρθη νεκρός

जब वे उसकी स्थिति की जाँच करने के लिए नीचे गए, तो उन्होंने देखा कि वह मर चुका था। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""तीसरी मंजिल; और जब वे उसे उठाने के लिए गए, तो उन्होंने पाया कि वह मर चुका था"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τριστέγου

इसका अर्थ भूतल के ऊपर दो मंजिलों से हैं। यदि आपकी संस्कृति भूतल की गिनती नहीं करती है, तो आप इसे ""दूसरी मंजिल"" के रूप में बता सकते हैं।

Acts 20:11

यहाँ ""वह"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करता है।

यह त्रोआस में पौलुस के प्रचार के बारे में और यूतुखुस के बारे में कहानी के हिस्से के अंत है।

κλάσας τὸν ἄρτον

भोजन के समय रोटी एक सामान्य भोजन था। यहाँ ""रोटी तोड़ने"" का सम्भवतः अर्थ है कि उन्होंने केवल रोटी के अलावा अधिक प्रकार के खाद्य-पदार्थों वाले भोजन को साझा किया। (देखें: उपलक्षण अलंकार)

οὕτως ἐξῆλθεν

वह दूर चला गया

Acts 20:12

τὸν παῖδα

यह यूतुखुस (प्रेरितों के काम 20:9) को सन्दर्भित करता है)। सम्भावित अर्थ हैं 1) वह 14 वर्षों से अधिक आयु का एक जवान व्यक्ति था या 2) वह 9 और 14 वर्षों की आयु के बीच का लड़का था या 3) ""लड़के"" शब्द का तात्पर्य है कि वह सेवक या दास था।

Acts 20:13

वह,"" ""स्वयं,"" और ""उसे"" शब्द पौलुस का सन्दर्भ देते हैं। यहाँ ""हम"" शब्द लेखक और उनके साथ यात्रा करने वालों को सन्दर्भित करता है, परन्तु पाठक को नहीं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

लेखक लूका, पौलुस और उसके अन्य साथी अपनी यात्रा जारी रखते हैं; यद्यपि, उस यात्रा के हिस्से के लिए पौलुस अलग से जाता है।

ἡμεῖς…προελθόντες

हम"" शब्द जोर देता है और लूका और उसकी यात्रा के साथियों को पौलुस से अलग करता है, जिसने नाव से यात्रा नहीं की थी। (देखें: कर्मकर्त्ता सर्वनाम)

ἀνήχθημεν ἐπὶ τὴν Ἆσσον

अस्सुस एजियन समुद्र के तट पर तुर्की में वर्तमान दिन के बेहरीन से सीधे नीचे स्थित एक शहर है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

διατεταγμένος

उसने"" इस पर जोर देने के लिए प्रयोग किया गया है कि पौलुस यही चाहता था। (देखें: कर्मकर्त्ता सर्वनाम)

πεζεύειν

भूमि पर पैदल यात्रा करने के लिए

Acts 20:14

ἤλθομεν εἰς Μιτυλήνην

मीतेलुस एक शहर है जो एजियन समुद्र के तट पर तुर्की में आज के मितुलेने में स्थित है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 20:15

यहाँ ""हम"" शब्द पौलुस, लेखक, और उनके साथ यात्रा करने वालों को सन्दर्भित करता है, परन्तु पाठक को नहीं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

ἄντικρυς Χίου

द्वीप के पास या ""द्वीप के पार

Χίου

खियुस एजियन सागर में आधुनिक दिन के तुर्की के तट पर एक द्वीप है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

παρεβάλομεν εἰς Σάμον

हम सामुस द्वीप पर पहुँचे

Σάμον

सामुस एजियन सागर में आधुनिक दिन के तुर्की के तट पर खियुस के दक्षिण में एक द्वीप है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Μίλητον

मीलेतुस मीन्डर नदी के मुहाने के पास पश्चिमी एशिया माइनर में एक बन्दरगाह शहर था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 20:16

κεκρίκει γὰρ ὁ Παῦλος παραπλεῦσαι τὴν Ἔφεσον

पौलुस मीलेतुस में उतरने के लिए दक्षिण में आगे की ओर इफिसुस बन्दरगाह शहर को पार करके दक्षिण की ओर गया था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

ὅπως μὴ γένηται αὐτῷ χρονοτριβῆσαι

यह ""समय"" के बारे में ऐसे बोलता है जैसे कि यह एक वस्तु थी जो एक व्यक्ति खर्च या उपयोग कर सकता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""ताकि उसे एक समयकाल के लिए नहीं रहना पड़ेगा"" या ""ताकि उसे देरी न हो"" (देखें: रूपक)

Acts 20:17

यहाँ ""वह"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करता है। ""हमारा"" शब्द पौलुस और प्राचीनों को सन्दर्भित करता है जिनसे वह बोल रहा है। (देखें: समावेशी और अनन्य ‘‘हम’’)

पौलुस इफिसुस के कलीसिया के प्राचीनों को बुलाता है और उनसे बात करना आरम्भ कर देता है।

τῆς Μιλήτου

मीलेतुस मीन्डर नदी के मुहाने के पास पश्चिमी एशिया माइनर में एक बन्दरगाह शहर था। देखें कि आपने इसका अनुवाद प्रेरितों के काम 20:15 में कैसे किया है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 20:18

ὑμεῖς

यहाँ ""तुम"" का प्रयोग जोर के लिए किया गया है। (देखें: कर्मकर्त्ता सर्वनाम)

ἐπέβην εἰς τὴν Ἀσίαν

यहाँ ""पैर"" पूरे व्यक्ति का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैंने एशिया में प्रवेश किया"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

πῶς μεθ’ ὑμῶν τὸν πάντα χρόνον ἐγενόμην

यह समय के बारे में ऐसे बताता है जैसे कि यह ऐसा कुछ था जो कोई व्यक्ति खर्च कर सकता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब मैं तुम्हारे साथ था तब मैंने सदैव अपना संचालन कैसे किया था"" (देखें: रूपक)

Acts 20:19

ταπεινοφροσύνης

यह कुछ विनम्रता के बारे में ऐसे बोलता है जैसे कि यह नीचे भूमि पर था। ""मन"" शब्द एक व्यक्ति के आन्तरिक स्वभाव का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""विनम्रता"" या ""नम्रता"" (देखें: रूपक और लक्षणालंकार)

δακρύων

आँसू"" यहाँ उदास महसूस करने और रोने का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं रोया जब मैंने परमेश्वर की सेवा की"" (देखें: लक्षणालंकार)

πειρασμῶν, τῶν συμβάντων μοι

दुःख एक भाववाचक संज्ञा है। इसका अर्थ क्रिया के रूप में व्यक्त किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जबकि मुझे दुःख उठाना पड़ा"" (देखें: https://git.door43.org/Door43-Catalog/hi_ta/src/branch/master/translate/figs-abstractnouns/01.md)

τῶν Ἰουδαίων

इसका अर्थ हर एक यहूदी नहीं है। यह हमें बताता है कि किसने षड्यंत्र रचा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""यहूदियों में से कुछ ने"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 20:20

ὡς οὐδὲν ὑπεστειλάμην…τοῦ μὴ ἀναγγεῖλαι ὑμῖν

तुम जानते हो कि कैसे मैं कभी चुप नहीं था, परन्तु मैंने सदैव तुम्हें प्रचार किया

κατ’ οἴκους

पौलुस ने विभिन्न नीजि घरों में लोगों को सिखाया था। ""मैंने सिखाया"" शब्द को समझ लिया गया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैंने तब भी सिखाया जब मैं तुम्हारे घरों में था"" (देखें: पदन्यूनता)

Acts 20:21

τὴν εἰς Θεὸν μετάνοιαν καὶ πίστιν εἰς τὸν Κύριον ἡμῶν, Ἰησοῦν

भाववाचक संज्ञाओं ""मनफिराव"" और ""विश्वास"" को क्रियाओं के रूप में व्यक्त किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कि उन्हें परमेश्वर के सामने पश्चाताप करने और हमारे प्रभु यीशु मसीह में विश्वास करने की आवश्यकता है"" (देखें: भाववाचक संज्ञा)

Acts 20:22

यहाँ ""मैं"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करता है।

δεδεμένος…τῷ Πνεύματι

उनको सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि आत्मा मुझे वहाँ जाने के लिए मजबूर करता है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

τὰ ἐν αὐτῇ συναντήσοντά μοι, μὴ εἰδώς

और मुझे नहीं पता कि वहाँ मेरे साथ क्या होगा

Acts 20:23

δεσμὰ καὶ θλίψεις με μένουσιν

बंधन"" यहाँ पौलुस को गिरफ्तार किए जाने और जेल में डाल दिए जाने को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोग मुझे जेल में डाल देंगे और मुझे पीड़ित करेंगे"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 20:24

ὡς τελειῶσαι τὸν δρόμον μου, καὶ τὴν διακονίαν ἣν ἔλαβον παρὰ τοῦ Κυρίου Ἰησοῦ

यह पौलुस की ""दौड़"" और ""सेवकाई"" के बारे में ऐसे बोलता है जैसे कि वे वस्तुएँ हैं जो यीशु देता है और पौलुस प्राप्त करता है। यहाँ ""दौड़"" और ""सेवकाई"" का अर्थ मूल रूप से एक ही बात है। पौलुस जोर देने के लिए इसे दोहराता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""ताकि मैं उस काम को पूरा कर सकूँ जिसे प्रभु यीशु ने मुझे करने का आदेश दिया है"" (देखें: रूपक और दोहरात्मक)

τελειῶσαι τὸν δρόμον

पौलुस उस काम को पूरा करने के बारे में जो यीशु ने उसे करने के लिए आदेश दिया है ऐसे बोलता है जैसे वह एक दौड़ दौड़ रहा था। (देखें: रूपक)

διαμαρτύρασθαι τὸ εὐαγγέλιον τῆς χάριτος τοῦ Θεοῦ

लोगों को परमेश्वर की कृपा के बारे में शुभ समाचार बताने के लिए। यही वह सेवकाई है जिसे पौलुस ने यीशु से प्राप्त किया था।

Acts 20:25

पौलुस इफिसियों के प्राचीनों से बात करना जारी रखता है (प्रेरितों के काम 20:17)।

καὶ νῦν ἰδοὺ, ἐγὼ οἶδα

अब, सावधानीपूर्वक ध्यान दो, क्योंकि मुझे पता है

ἐγὼ οἶδα ὅτι…ὑμεῖς πάντες

मैं जानता हूँ कि तुम सभी

ἐν οἷς διῆλθον κηρύσσων τὴν βασιλείαν

राज्य"" यहाँ राजा के रूप में परमेश्वर के शासन का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""राजा के रूप में परमेश्वर के शासन के बारे में जिसका मैंने सन्देश प्रचार किया"" या ""परमेश्वर स्वयं को राजा के रूप में कैसे दिखाएगा के बारे में जिसका मैंने सन्देश प्रचार किया"" (देखें: लक्षणालंकार)

οὐκέτι ὄψεσθε τὸ πρόσωπόν μου

यहाँ ""मुँह"" शब्द पौलुस के भौतिक शरीर का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अब मुझे इस पृथ्वी पर नहीं देखोगे"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 20:26

καθαρός εἰμι ἀπὸ τοῦ αἵματος πάντων

लहू"" यहाँ किसी व्यक्ति की मृत्यु का प्रतीक है, जो इस विषय में शारीरिक मृत्यु नहीं, परन्तु आत्मिक मृत्यु है जब परमेश्वर पाप के लिए एक व्यक्ति को दोषी घोषित करता है। पौलुस ने उन्हें परमेश्वर की सच्चाई बताई थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं किसी के लिए उत्तरदायी नहीं हूँ जिसका परमेश्वर पाप के दोषी के जैसे न्याय करते हैं क्योंकि उन्होंहे यीशु पर भरोसा नहीं किया था"" (देखें: लक्षणालंकार)

πάντων

यहाँ इसका अर्थ कोई भी व्यक्ति है चाहे पुरुष हो या स्त्री। वैकल्पिक अनुवाद: ""कोई भी व्यक्ति"" (देखें: जब पुल्लिंग शब्दों में स्त्रियाँ शामिल होती हैं)

Acts 20:27

οὐ γὰρ ὑπεστειλάμην τοῦ μὴ ἀναγγεῖλαι…ὑμῖν

क्योंकि मैंने चुप्पी नहीं साधी और आपको नहीं बताया। इसे सकारात्मक रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""क्योंकि मैंने निश्चित रूप से तुमको बताया है"" (देखें: विडंबना)

Acts 20:28

क्योंकि मैंने अभी जो कहा है वह सत्य है, यह उन सभी बातों को सन्दर्भित कर रहा है जो पौलुस ने उन्हें छोड़ने के बारे में अपने भाषण में अब तक कहीं हैं।

τῷ ποιμνίῳ, ἐν ᾧ ὑμᾶς τὸ Πνεῦμα τὸ Ἅγιον ἔθετο ἐπισκόπους, ποιμαίνειν τὴν ἐκκλησίαν τοῦ Θεοῦ

विश्वासियों की तुलना यहाँ भेड़ के ""झुण्ड"" से की गई है। कलीसिया के अगुवों को विश्वासियों के समुदाय की देखभाल को परमेश्वर द्वारा ऐसे सौंपा गया है जैसे कि एक चरवाहा भेड़ के अपने झुण्ड की देखभाल करेगा और उन्हें भेड़ियों से बचाएगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""विश्वासियों के उस समूह को पवित्र आत्मा ने तुमको सौंपा है। परमेश्वर के कलीसिया का ध्यान रखना सुनिश्चित करो ""(देखें: रूपक)

τὴν ἐκκλησίαν τοῦ Θεοῦ, ἣν περιεποιήσατο διὰ τοῦ αἵματος τοῦ ἰδίου

मसीह के ""लहू"" के बहाए जाने की तुलना यहाँ परमेश्वर के द्वारा हमारे पापों के लिए दण्ड के भुगतान से की गई है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जिन लोगों को मसीह ने क्रूस पर अपना लहू बहा कर उनको उनके पापों से बचाया है"" (देखें: रूपक)

τοῦ αἵματος τοῦ ἰδίου

लहू"" यहाँ मसीह की मृत्यु का प्रतीक है। (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 20:29

εἰσελεύσονται…λύκοι βαρεῖς εἰς ὑμᾶς, μὴ φειδόμενοι τοῦ ποιμνίου

यह उन लोगों की एक चित्र है जो झूठी शिक्षा सिखाते हैं और जो विश्वासियों के समुदाय को ऐसे नुकसान पहुँचाते हैं, कि मानो वे ऐसे भेड़ियें हैं जो झुण्ड की भेड़ों को खाते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""कई शत्रु तुम्हारे बीच आएँगे और विश्वासियों के समुदाय को नुकसान पहुँचाने का प्रयास करेंगे"" (देखें: रूपक)

Acts 20:30

τοῦ ἀποσπᾶν τοὺς μαθητὰς ὀπίσω ἑαυτῶ

एक झूठे शिक्षक के उसकी झूठी शिक्षा पर विश्वास करना आरम्भ करने के लिए विश्वासियों को यकीन दिलाने को ऐसे बताया गया है जैसे कि जब वह भेड़ों को उसका अनुसरण करने के लिए झुण्ड से दूर कर रहा है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन लोगों को मनाने के लिए जो मसीह के चेले हैं, कि वे उसके चेले बन जाएँ"" (देखें: रूपक)

Acts 20:31

γρηγορεῖτε, μνημονεύοντες

सावधान रहो और स्मरण रखो या ""सावधान रहो जब तुम स्मरण रखते हो

γρηγορεῖτε

जागृत रहो और सतर्क रहो या ""देखते रहो"" मसीही अगुवों को किसी भी ऐसे व्यक्ति के बारे में सतर्क होने को जो विश्वासियों के समुदाय को नुकसान पहुँचा सकता है ऐसे बताया गया है जैसे कि वे शत्रु की सेना पर ध्यान देने वाली एक सेना के सिपाही थे। (देखें: रूपक)

μνημονεύοντες ὅτι

इसे स्मरण रखें या ""इसे न भूलना

τριετίαν νύκτα καὶ ἡμέραν, οὐκ ἐπαυσάμην…νουθετῶν

पौलुस ने उन्हें लगातार तीन वर्षों तक नहीं सिखाया, परन्तु तीन वर्षों की अवधि में। (देखें: अतिशयोक्ति)

οὐκ ἐπαυσάμην…νουθετῶν

मैं चितौनी देने से नहीं रुका

μετὰ δακρύων

आँसू"" यहाँ लोगों को चेतावनी देते समय महसूस की गई चिन्ता की मजबूत भावना के कारण पौलुस के रोने को सन्दर्भित करता है। (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 20:32

παρατίθεμαι ὑμᾶς τῷ Θεῷ, καὶ τῷ λόγῳ τῆς χάριτος αὐτοῦ

वचन"" यहाँ एक सन्देश का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैं परमेश्वर से तुम्हारी देखभाल करने के लिए कहता हूँ और यह कि वह उस सन्देश पर विश्वास रखने में तुम्हारी सहायता करेगा जो मैंने तुमको उसकी कृपा के बारे में बताया था"" (देखें: लक्षणालंकार)

παρατίθεμαι

किसी और को किसी वस्तु या किसी व्यक्ति की देखभाल करने की ज़िम्मेदारी देना

τῷ…δυναμένῳ οἰκοδομῆσαι

एक व्यक्ति का विश्वास मजबूत हो रहा है को ऐसे कहा गया है जैसे कि वह व्यक्ति एक दीवार था और कोई उसे ऊँचा और मजबूत बना रहा था। वैकल्पिक अनुवाद: ""जो तुम्हारे विश्वास में मजबूत और दृढ़ बनाने में सक्षम है"" (देखें: रूपक)

δοῦναι τὴν κληρονομίαν

यह ""उसके अनुग्रह के वचन"" के बारे में ऐसे बोलता है जैसे कि यह स्वयं परमेश्वर था जो विश्वासियों को धरोहर देगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""परमेश्वर तुमको धरोहर देगा"" (देखें: मानवीकरण)

τὴν κληρονομίαν

परमेश्वर जो आशीषें विश्वासियों को देता है, इनको ऐसे कहा गया है जैसे कि वे पैसे या सम्पत्ति थे जो एक बच्चे को अपने पिता से विरासत में मिलती है। (देखें: रूपक)

Acts 20:33

पौलुस इफिसुस की कलीसिया के प्राचीनों से बात करना समाप्त करता है; उसने प्रेरितों के काम 20:18) में उनसे बात करना आरम्भ किया था।

ἀργυρίου…οὐδενὸς ἐπεθύμησα

मैंने किसी की चाँदी की इच्छा नहीं की थी या ""मैं अपने लिए किसी की चाँदी की इच्छा नहीं की थी

ἀργυρίου, ἢ χρυσίου, ἢ ἱματισμοῦ, οὐδενὸς

कपड़ों को एक खजाने के समान माना गया था; जितने अधिक ये आपके पास थे, आप उतने ही अधिक धनी थे।

Acts 20:34

αὐτοὶ

जोर देने के लिए यहाँ ""स्वयं"" शब्द का उपयोग किया गया है। (देखें: कर्मकर्त्ता सर्वनाम)

ταῖς χρείαις μου…ὑπηρέτησαν αἱ χεῖρες αὗται

यहाँ ""हाथों"" शब्द पूरे व्यक्ति का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मैंने धन कमाने और अपने खर्चों का भुगतान करने के लिए काम किया"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 20:35

κοπιῶντας δεῖ ἀντιλαμβάνεσθαι τῶν ἀσθενούντων

आपको ऐसे लोगों की सहायता करने के लिए पैसे कमाने के लिए काम करना चाहिए जो इसे अपने लिए कमा नहीं सकते हैं

τῶν ἀσθενούντων

इस नाममात्र विशेषण को आप एक विशेषण के रूप में बता सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""निर्बल व्यक्ति"" या ""वे जो निर्बल हैं"" (देखें: आम विशेषण)

ἀσθενούντων

बीमार

τῶν λόγων τοῦ Κυρίου Ἰησοῦ

वचन"" यहाँ उसे सन्दर्भित करता है जो यीशु ने कहा है। (देखें: लक्षणालंकार)

μακάριόν ἐστιν μᾶλλον, διδόναι ἢ λαμβάνειν

इसका अर्थ है कि एक व्यक्ति को परमेश्वर का अनुग्रह प्राप्त होता है और जब वह अन्य लोगों से प्राप्त करने की अपेक्षा सदैव अन्य लोगों को देता है तो और अधिक आनन्द का अनुभव करता है।

Acts 20:36

पौलुस इफिसुस की कलीसिया के प्राचीनों के साथ अपने समय को प्रार्थना करके समाप्त करता है।

θεὶς τὰ γόνατα αὐτοῦ…προσηύξατο

प्रार्थना करते समय घुटने टेकना एक सामान्य परम्परा थी। यह परमेश्वर के सामने नम्रता का संकेत था। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

Acts 20:37

ἐπιπεσόντες ἐπὶ τὸν τράχηλον τοῦ Παύλου

उसे घनिष्ठता से गले लगा लिया या ""उसके चारों ओर अपनी बाँहें रखीं

κατεφίλουν αὐτόν

किसी को गाल पर चुम्बन देना मध्य पूर्व में भाइचारे या मित्रता भरे प्रेम की अभिव्यक्ति है।

Acts 20:38

οὐκέτι μέλλουσιν τὸ πρόσωπον αὐτοῦ θεωρεῖν

यहाँ ""मुँह"" शब्द पौलुस के भौतिक शरीर का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अब मुझे इस पृथ्वी पर नहीं देखोगे"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 21

प्रेरितों के काम 21 सामान्य टिप्पणियाँ## संरचना एवं स्वरूपण

प्रेरितों के काम 21:1-19 पौलुस की यरूशलेम की यात्रा का वर्णन करता है। उसके यरूशलेम में पहुँचने के बाद, विश्वासियों ने उसे बचाया कि यहूदी उसे नुकसान पहुँचाना चाहते थे और उसे ऐसा क्या करना चाहिए ताकि वे उसे नुकसान नहीं पहुँचाएँ (वचन 20-26)। यद्यपि पौलुस ने वह किया जो विश्वासियों ने उसे करने के लिए कहा था, तौभी यहूदियों ने उसे मारने की कोशिश की। रोमियों ने उसे बचा लिया और उसे यहूदियों से बात करने का एक अवसर दिया।

इस अध्याय का अन्तिम वचन एक अपूर्ण वाक्य के साथ समाप्त होता है। अधिकांश अनुवाद वाक्य को अधूरा छोड़ देते हैं, जैसा यूएलटी अनुवाद करता है।

इस अध्याय में पाई जाने वाली विशेष धारणाएँ

""वे सभी व्यवस्था का पालन करने के लिए दृढ़ हैं""

यरूशलेम में रहने वाले यहूदी मूसा की व्यवस्था का पालन कर रहे थे यहाँ तक ​​कि जो लोग यीशु का अनुसरण कर रहे थे वे अभी भी व्यवस्था का पालन कर रहे थे। दोनों समूहों ने सोचा था कि पौलुस यूनान में रहने वाले यहूदियों को व्यवस्था का पालन नहीं करने के लिए कह रहा था। परन्तु यह केवल अन्यजाति ही थे जिनको पौलुस ऐसा कह रहा था।

नाज़रियों की प्रतिज्ञा

जो प्रतिज्ञा पौलुस और उसके तीन मित्रों ने बाँधी थी वह सम्भवतः नाज़रियों की प्रतिज्ञा थी, क्योंकि उन्होंने अपने सिर मुंडा लिए थे (प्रेरितों के काम 21:23।.

मन्दिर में अन्यजाति

यहूदियों ने पौलुस पर एक अन्यजाति को मन्दिर के उस हिस्से में लाने का आरोप लगाया जिसमें जाने की अनुमति परमेश्वर ने केवल यहूदियों को ही दी थी। उन्होंने सोचा कि परमेश्वर चाहता था कि वे पौलुस को मार डालने के द्वारा उसे दण्डित करें। (देखें: पवित्र, पवित्रता, अपवित्र,)

रोमी नागरिकता

रोमियों ने सोचा कि उन्हें केवल रोमी नागरिकों के साथ ही न्यायपूर्वक व्यवहार करने की आवश्यक करना है। वे उन लोगों के साथ जो रोमी नागरिक नहीं थे जैसा चाहें वैसा कर सकते थे, परन्तु उन्हें अन्य रोमियों के साथ व्यवस्था का पालन करना था। कुछ लोग जन्मजात रोमी नागरिक थे, और अन्यों ने रोमी सरकार को पैसा दिया ताकि वे रोमी नागरिक बन सकें।

Acts 21:1

यहाँ ""हम"" शब्द लूका, पौलुस और उनके साथ यात्रा करने वालों को सन्दर्भित करता है, परन्तु पाठक को नहीं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

लेखक लूका, पौलुस, और उसके साथी अपनी यात्रा जारी रखते हैं।

εὐθυδρομήσαντες ἤλθομεν εἰς τὴν Κῶ

हम सीधा कोस शहर गए या ""हम सीधे कोस शहर गए

Κῶ

कोस दक्षिण एजियन सागर क्षेत्र में आधुनिक दिन के तुर्की के तट पर एक यूनानी द्वीप है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Ῥόδον

रुदुस कोस के दक्षिण और क्रेते के दक्षिण पूर्व में एजियन सागर दक्षिणी क्षेत्र में आधुनिक दिन के तुर्की के तट पर एक यूनानी द्वीप है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Πάταρα

पतरा भूमध्य सागर में एजियन सागर के दक्षिण में आधुनिक दिन के तुर्की के दक्षिण पश्चिमी तट पर एक शहर है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 21:2

καὶ εὑρόντες πλοῖον διαπερῶν εἰς Φοινίκην

यहाँ ""एक जहाज जाता हुआ मिला"" चालक दल का प्रतीक है जो जहाज को चलाएँगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब हमें फीनीके को जाने वाले चालक दल के साथ एक जहाज मिला"" (देखें: लक्षणालंकार)

πλοῖον διαπερῶν

यहाँ ""जाता हुआ"" का अर्थ यह नहीं है कि यह वर्तमान में पार हो रहा था परन्तु यह जल्द ही फीनीके से पार हो जाएगा। वैकल्पिक अनुवाद: ""एक जहाज जो पानी में जा रहा है"" या ""एक जहाज जो जा रहा है

Acts 21:3

यहाँ ""हम"" शब्द लूका, पौलुस और उनके साथ यात्रा करने वालों को सन्दर्भित करता है, परन्तु पाठक को नहीं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

καταλιπόντες αὐτὴν εὐώνυμον

जहाज की बाईं ओर द्वीप के ""बन्दरगाह"" के भाग को पार किया।

ἐκεῖσε…τὸ πλοῖον ἦν ἀποφορτιζόμενον τὸν γόμον

जहाज"" यहाँ चालक दल का प्रतीक है जो जहाज को चला रहे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""चालक दल जहाज से समान उतार देगा"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 21:4

οἵτινες τῷ Παύλῳ ἔλεγον διὰ τοῦ Πνεύματος

इन विश्वासियों ने पौलुस को वह बताया जो पवित्र आत्मा ने उन पर प्रकट किया था। उन्होंने ""उससे बहुत आग्रह किया।

Acts 21:5

यहाँ ""वे"" शब्द सोर के विश्वासियों को सन्दर्भित करता है।

ὅτε…ἐγένετο ἡμᾶς ἐξαρτίσαι τὰς ἡμέρας

यह दिनों के बारे में ऐसे बोलता है जैसे कि वे कुछ ऐसी चीज थे जिसे एक व्यक्ति खर्च कर सकता था। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब सात दिन खत्म हो गए थे"" या ""जब यह निकलने का समय था"" (देखें: रूपक)

θέντες τὰ γόνατα ἐπὶ τὸν αἰγιαλὸν προσευξάμενοι

प्रार्थना करते समय घुटने टेकना एक सामान्य परम्परा थी। यह परमेश्वर के सामने विनम्रता का संकेत था। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

Acts 21:6

ἀπησπασάμεθα ἀλλήλους

एक दूसरे को अलविदा कहा

Acts 21:7

यहाँ ""हम"" शब्द लूका, पौलुस और उनके साथ यात्रा करने वालों को सन्दर्भित करता है, परन्तु पाठको नहीं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

यह कैसरिया में पौलुस के समय को आरम्भ करता है।

κατηντήσαμεν εἰς Πτολεμαΐδα

पतुलिमयिस सोर, लेबनान के दक्षिण में एक शहर था। पतुलिमयिस आधुनिक दिन का एक्रे, इस्राएल है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

τοὺς ἀδελφοὺς

साथी विश्वासी

Acts 21:8

ἐκ τῶν ἑπτὰ

यह ""सातों"" उन पुरुषों को सन्दर्भित करता है जिनको प्रेरितों के काम 6:5 में विधवाओं को भोजन वितरित करने और सहायता देने के लिए चुना गया था।

εὐαγγελιστοῦ

एक व्यक्ति जो लोगों को शुभ सन्देश बताता है

Acts 21:9

τούτῳ

वचन 8 वाला फिलिप्पुस।

δὲ

कहानी की मुख्य-धारा में विराम को चिन्हित करने के लिए यहाँ इस शब्द का उपयोग किया गया है। यहाँ लूका फिलिप्पुस और उसकी पुत्रियों के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देता है। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

θυγατέρες τέσσαρες παρθένοι, προφητεύουσαι

चार कुँवारी पुत्रियाँ जिन्होंने नियमित रूप से परमेश्वर से सन्देश प्राप्त किए थे और उनका प्रचार किया था

Acts 21:10

यहाँ ""हम"" और ""हमारे"" शब्द लूका, पौलुस और उनके साथ वालों को सन्दर्भित करते हैं, परन्तु पाठक को नहीं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

यह भविष्यद्वक्ता अगबुस द्वारा कैसरिया में पौलुस के बारे में की गई एक भविष्यवाणी के बारे में बताता है।

τις…προφήτης ὀνόματι Ἅγαβος

इस कहानी में एक नए व्यक्ति को प्रस्तुत करता है। (देखें: नए एवं पुराने सहभागियों का परिचय)

ὀνόματι Ἅγαβος

अगबुस यहूदिया का एक व्यक्ति था। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

Acts 21:11

ἄρας τὴν ζώνην τοῦ Παύλου

पौलुस की कमर से पौलुस के कमरबन्द को हटा दिया

τάδε λέγει τὸ Πνεῦμα τὸ Ἅγιον, τὸν ἄνδρα οὗ ἐστιν ἡ ζώνη αὕτη, οὕτως δήσουσιν ἐν Ἰερουσαλὴμ οἱ Ἰουδαῖοι, καὶ παραδώσουσιν εἰς χεῖρας ἐθνῶν.

यह एक उद्धरण के भीतर एक उद्धरण है। आन्तरिक उद्धरण को अप्रत्यक्ष उद्धरण के रूप में वर्णित किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पवित्र आत्मा कहता है कि ऐसा होगा कि कैसे यरूशलेम में यहूदी बाँधेंगे... अन्यजातियों के हाथ' (देखें: उद्धरणों में उद्धरण और प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष उद्धरण)

οἱ Ἰουδαῖοι

इसका अर्थ सभी यहूदियों के लिए नहीं है, परन्तु ये वे लोग थे जो ऐसा करेंगे। वैकल्पिक अनुवाद: ""यहूदी अगुवे"" या ""यहूदियों में से कुछ"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

παραδώσουσιν

उसे सौंप देंगे

εἰς χεῖρας ἐθνῶν

यहाँ ""हाथ"" शब्द नियन्त्रण का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अन्यजाति लोगों की कानूनी हिरासत में"" या ""अन्यजातियों को"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἐθνῶν

यह अन्यजातियों के बीच अधिकारियों का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""यहूदी अधिकारियों"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

Acts 21:12

यहाँ ""हमने"" शब्द लूका और अन्य विश्वासियों को सन्दर्भित करता है परन्तु पाठक को सम्मिलित नहीं करता है। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

Acts 21:13

τί ποιεῖτε, κλαίοντες καὶ συνθρύπτοντές μου τὴν καρδίαν

पौलुस विश्वासियों को दिखाने के लिए इस प्रश्न को पूछता है कि उन्हें उसे मनाने की प्रयास करना बन्द कर देना चाहिए। वैकल्पिक अनुवाद: ""तुम जो कर रहे हो उसे बन्द करो। तुम्हारा रोना मेरे मन को तोड़ रहा है ""(देखें: भाषणगत प्रश्न)

συνθρύπτοντές μου τὴν καρδίαν

किसी को दुःखी करने या किसी को हतोत्साहित करने को ऐसे कहा गया है जैसे कि यह एक टूटने वाला मन था। ""मन"" यहाँ एक व्यक्ति की भावनाओं का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""मुझे निराश करना"" या ""मुझे बहुत दुःखी करना"" (देखें: रूपक और लक्षणालंकार)

οὐ μόνον δεθῆναι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""न केवल उनके द्वारा मुझे बाँधने के लिए"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ὑπὲρ τοῦ ὀνόματος τοῦ Κυρίου Ἰησοῦ

नाम"" यहाँ यीशु के व्यक्तित्व को सन्दर्भित करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""प्रभु यीशु के लिए"" या ""क्योंकि मैं प्रभु यीशु पर विश्वास करता हूँ"" (देखें: लक्षणालंकार)

Acts 21:14

μὴ πειθομένου…αὐτοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पौलुस हमें उसे मनाने की अनुमति नहीं देगा"" या ""हम पौलुस को मनाने में असमर्थ थे"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πειθομένου

आपको यह स्पष्ट करने की आवश्यकता हो सकती है कि वे पौलुस को ऐसा नहीं करने के लिए मना नहीं सके। वैकल्पिक अनुवाद: ""यरूशलेम नहीं जाने के लिए मनाया"" (देखें: पदन्यूनता)

τοῦ Κυρίου τὸ θέλημα γινέσθω

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""सब कुछ वैसा ही हो जैसे परमेश्वर ने इसकी योजना बनाई है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 21:15

यहाँ ""हम"" शब्द लूका, पौलुस और उनके साथ यात्रा करने वालों को सन्दर्भित करता है, न कि पाठक को। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

वे"" शब्द कैसरिया के कुछ चेलों को सन्दर्भित करता है।

यह कैसरिया में पौलुस के समय को समाप्त करता है।

Acts 21:16

ἄγοντες παρ’…τινι

उनमें से एक व्यक्ति था

Μνάσωνί, τινι Κυπρίῳ

मनासोन साइप्रस द्वीप से एक व्यक्ति है। (देखें: नामों का अनुवाद कैसे करें)

ἀρχαίῳ μαθητῇ

इसका अर्थ है कि यीशु पर विश्वास करने वाले पहले व्यक्तियों में से मनासोन एक था।

Acts 21:17

यहाँ ""उसने"" और ""उसकी"" शब्द पौलुस को सन्दर्भित करता है। ""उन्हें"" शब्द प्राचीनों को सन्दर्भित करता है।

पौलुस और उसके साथी यरूशलेम में आते हैं।

ἀπεδέξαντο ἡμᾶς οἱ ἀδελφοί

भाइयों"" यहाँ यरूशलेम में विश्वासियों को सन्दर्भित करता है चाहे स्त्री हो या पुरुष हो। वैकल्पिक अनुवाद: ""साथी विश्वासियों ने हमारा स्वागत किया"" (देखें: जब पुल्लिंग शब्दों में स्त्रियाँ शामिल होती हैं)

Acts 21:19

ἐξηγεῖτο καθ’ ἓν ἕκαστον

उसने सभी बातों का एक विस्तृत विवरण दिया

Acts 21:20

यरूशलेम के प्राचीन पौलुस को अपनी प्रतिक्रिया देना आरम्भ करते हैं।

οἱ…ἀκούσαντες…ἐδόξαζον…εἶπόν τε αὐτῷ

यहाँ ""उन्होंने"" शब्द याकूब और प्राचीनों को सन्दर्भित करता है। शब्द ""उसे"" पौलुस को सन्दर्भित करता है।

ἀδελφέ

यहाँ ""भाई"" का अर्थ ""हे साथी विश्वासी"" है।

ὑπάρχουσιν

वे"" शब्द यहूदी विश्वासियों को सन्दर्भित करता है जो सभी विश्वास करने वाले यहूदियों से यहूदी व्यवस्थाओं और रीति-रिवाजों का पालन करवाना चाहते थे।

Acts 21:21

κατηχήθησαν δὲ περὶ σοῦ, ὅτι ἀποστασίαν διδάσκεις ἀπὸ Μωϋσέως τοὺς κατὰ τὰ ἔθνη πάντας Ἰουδαίους, λέγων μὴ περιτέμνειν αὐτοὺς τὰ τέκνα, μηδὲ τοῖς ἔθεσιν περιπατεῖν

स्पष्ट रूप से, यहाँ कुछ यहूदी हैं जो उस शिक्षा को जिसे पौलुस दे रहा है विकृत कर रहे हैं। वह यहूदियों को मूसा की व्यवस्था का पालन करने से हतोत्साहित नहीं करता है। उसका सन्देश यह है कि यीशु द्वारा उन्हें बचाने के लिए खतना और अन्य रीति-रिवाजों की आवश्यकता नहीं है। आप स्पष्ट कर सकते हैं कि यरूशलेम में यहूदी विश्वासियों के अगुवों को पता था कि पौलुस परमेश्वर के सच्चे सन्देश की शिक्षा दे रहा था। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

κατηχήθησαν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों ने यहूदी विश्वासियों को बताया है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἀποστασίαν…ἀπὸ Μωϋσέως

मूसा"" यहाँ मूसा की व्यवस्था का प्रतीक है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उन व्यवस्थाओं का पालन करना बन्द करने के लिए जो मूसा ने हमें दी थी"" (देखें: लक्षणालंकार)

μηδὲ τοῖς ἔθεσιν περιπατεῖν

पुराने रीति-रिवाजों का पालन करने को ऐसे कहा गया है जैसे कि वे रीति-रिवाज उनका नेतृत्व कर रहे थे और लोग उनका अनसुरण कर रहे थे। वैकल्पिक अनुवाद: ""पुराने रीति-रिवाजों का पालन न करो"" या ""पुराने रीति-रिवाजों को न मानो"" (देखें: रूपक)

τοῖς ἔθεσιν

ऐसे रीति-रिवाज जिनको यहूदी सामान्य रूप से मानते हैं

Acts 21:22

यहाँ ""हम"" शब्द याकूब और प्राचीनों को सन्दर्भित करता है (प्रेरितों के काम 21:18)। ""वे"" शब्द यरूशलेम में उन यहूदी विश्वासियों को सन्दर्भित करता है जो यहूदी विश्वासियों को सिखाना चाहते थे कि वे अभी भी मूसा की व्यवस्थाओं का पालन कर सकते हैं (प्रेरितों के काम 21:20-21)। ""उन्हें,"" ""उनके,"" और पहला ""वे"" शब्द उन चार लोगों को सन्दर्भित करते हैं जिन्होंने मन्नत मानी थी। दूसरे ""वे"" और ""वे"" शब्द यरूशलेम में उन यहूदी विश्वासियों का उल्लेख करते हैं जो यहूदी विश्वासियों को सिखाना चाहते थे कि वे अभी भी मूसा की व्यवस्थाओं का पालन कर सकते हैं। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

Acts 21:23

ἄνδρες τέσσαρες, εὐχὴν ἔχοντες

चार पुरुष जिन्होंने परमेश्वर से एक प्रतिज्ञा की थी। यह एक तरह की शपथ थी जिसमें एक निर्धारित समय अवधि के समाप्त होने तक एक व्यक्ति शराब नहीं पीता था या अपने बालों को नहीं काटता था।

Acts 21:24

τούτους παραλαβὼν, ἁγνίσθητι σὺν αὐτοῖς

उन्हें स्वयं को अनुष्ठानिक रूप से शुद्ध करना पड़ता था ताकि वे मन्दिर में आराधना कर सकें। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

δαπάνησον ἐπ’ αὐτοῖς

जिस चीज की उन्हें आवश्यकता होगी उसके लिए भुगतान करो। खर्चा एक नर और मादा भेड़ का बच्चा, एक मेढ़ा, और अनाज और अर्घ की भेंट को खरीदने के लिए किया जाएगा। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

ξυρήσονται τὴν κεφαλήν

यह एक संकेत था कि उस व्यक्ति ने उस बात को पूरा किया था जिसकी उन्होंने परमेश्वर से प्रतिज्ञा की थी कि वे करेंगे। (देखें: प्रतीकात्मक कार्य)

ὧν κατήχηνται περὶ σοῦ

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे बातें जो लोग तुम्हारे बारे में कह रहे हैं"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

φυλάσσων τὸν νόμον

यह व्यवस्था का पालन करने की बात ऐसे कहता है जैसे कि व्यवस्था एक अगुवा थी और लोग इसके पीछे चलते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""व्यवस्था का पालन करो"" या ""ऐसा जीवन जीयो जो मूसा की व्यवस्था और अन्य यहूदी रीति-रिवाजों के अनुरूप है"" (देखें: रूपक)

Acts 21:25

यहाँ ""हमने"" शब्द याकूब और प्राचीनों को सन्दर्भित करता है। (देखें: विशिष्ट एवं संयुक्त ‘‘हम’’)

यरूशलेम में याकूब और प्राचीन पौलुस से अपने अनुरोध करना समाप्त करते हैं (प्रेरितों के काम 21:18)।

φυλάσσεσθαι αὐτοὺς, τό τε εἰδωλόθυτον, καὶ αἷμα, καὶ πνικτὸν

ये सभी नियम हैं जो इस बारे में हैं कि वे क्या खा सकते हैं। उन्हें मूर्ति के लिए बलि किए गए जानवरों के माँस, अभी लहू शेष रहते हुए माँस, और एक गला घोंटे हुए जानवर के माँस को खाने के लिए मना किया गया है क्योंकि इस माँस में अभी भी लहू होता है। देखें कि आपने प्रेरितों के काम 15:20 में एक समान वाक्यांश का अनुवाद कैसे किया है। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

φυλάσσεσθαι αὐτοὺς, τό τε εἰδωλόθυτον

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""वे ऐसे एक जानवर के मांस से दूर रहते हैं जिसे किसी ने मूर्ति को भेंट किया है"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

πνικτὸν

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। आप गला घोंटे हुए जानवरों के बारे में अनुमानित जानकारी भी स्पष्ट रूप से बता सकते हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""ऐसे जानवरों से जो एक व्यक्ति के द्वारा गला घोंटे गए हैं"" या ""ऐसे जानवरों से जिसे एक व्यक्ति भोजन के लिए मारता है परन्तु उसका लहू नहीं बहाता"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 21:26

παραλαβὼν τοὺς ἄνδρας

ये 4 पुरुष वे हैं जिन्होंने मन्नत मानी थी।

σὺν αὐτοῖς ἁγνισθεὶς

मन्दिर क्षेत्र में प्रवेश करने से पहले यहूदियों को औपचारिक रूप से या अनुष्ठानिक रूप से शुद्ध ​​होना आवश्यक था। इस शुद्धता को यहूदियों को अन्यजातियों के साथ हुए सम्पर्क के कारण पड़ता था।

εἰσῄει εἰς τὸ ἱερόν

वे स्वयं मन्दिर में नहीं गए जहाँ केवल महायाजक को प्रवेश करने की अनुमति थी। उन्होंने मन्दिर के आँगन में प्रवेश किया। वैकल्पिक अनुवाद: ""मन्दिर के आँगन में गए"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

τῶν ἡμερῶν τοῦ ἁγνισμοῦ

यह उस शुद्धिकरण प्रक्रिया से एक अलग शुद्धिकरण प्रक्रिया है जिसे मन्दिर क्षेत्र में प्रवेश करने के लिए उन्हें पूरा करने की आवश्यकता थी।

ἕως οὗ προσηνέχθη…ἡ προσφορά

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""जब तक उन्होंने जानवरों को एक भेंट के लिए प्रस्तुत नहीं किया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 21:27

वचन 29 एशिया से आए यहूदियों के बारे में पृष्ठभूमि की जानकारी देता है।

यह पौलुस की गिरफ्तारी की कहानी को आरम्भ करता है।

αἱ ἑπτὰ ἡμέραι

ये सात दिन शुद्धिकरण के लिए हैं।

ἐν τῷ ἱερῷ

पौलुस स्वयं मन्दिर में नहीं था। वह मन्दिर के आँगन में था। वैकल्पिक अनुवाद: ""मन्दिर के आँगन में"" (देखें: उपलक्षण अलंकार)

συνέχεον πάντα τὸν ὄχλον

लोगों को पौलुस पर बहुत अधिक क्रोधित होने के लिए प्रोत्साहित करने को ऐसे कहा गया है जैसे कि उन्होंने भीड़ की भावनाओं को भड़काया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""लोगों की एक बड़ी संख्या को पौलुस के ऊपर बहुत क्रोधित कर दिया"" (देखें: रूपक)

ἐπέβαλον ἐπ’ αὐτὸν τὰς χεῖρας

यहाँ ""पकड़ लिया"" का अर्थ है ""पकड़ना"" या ""लपकना""। देखें कि आपने ""पकड़ लिया"" का अनुवाद प्रेरितों के काम 5:18 में कैसे किया है। वैकल्पिक अनुवाद: ""पौलुस को लपक लिया"" (देखें: मुहावरे)

Acts 21:28

τοῦ λαοῦ, καὶ τοῦ νόμου, καὶ τοῦ τόπου τούτου

इस्राएल के लोग, मूसा की व्यवस्था, और मन्दिर

ἔτι τε καὶ Ἕλληνας εἰσήγαγεν εἰς τὸ ἱερὸν

यरूशलेम के मन्दिर के आँगन के कुछ क्षेत्रों में केवल यहूदी पुरुषों की अनुमति थी। (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना)

Acts 21:29

ἦσαν γὰρ προεωρακότες Τρόφιμον τὸν Ἐφέσιον ἐν τῇ πόλει σὺν αὐτῷ, ὃν ἐνόμιζον ὅτι εἰς τὸ ἱερὸν εἰσήγαγεν ὁ Παῦλος

यह पृष्ठभूमि की जानकारी है। लूका यह समझा रहा है कि क्यों एशिया के यहूदियों ने सोचा था कि पौलुस एक यूनानी को मन्दिर में लाया था। (देखें: पृष्ठभूमि की जानकारी)

Τρόφιμον

यह एक यूनानी व्यक्ति था जिसके लिए उन्होंने पौलुस के ऊपर उसे उस भीतरी मन्दिर क्षेत्र में लाने का आरोप लगाया जो केवल यहूदियों के लिए ही था। देखें कि आपने उसके नाम का अनुवाद प्रेरितों के काम 20:4 में कैसे किया है।

Acts 21:30

ἐκινήθη τε ἡ πόλις ὅλη

यहाँ ""सारे"" शब्द जोर देने के लिए एक अतिशयोक्ति है। ""नगर"" शब्द यरूशलेम में रहने वाले लोगों का प्रतिनिधित्व करता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""नगर में बहुत से लोग पौलुस के ऊपर नाराज हो गए"" (देखें: अतिशयोक्ति और लक्षणालंकार)

ἐπιλαβόμενοι τοῦ Παύλου

पौलुस को पकड़ लिया या ""पौलुस को लपक लिया

εὐθέως ἐκλείσθησαν αἱ θύραι

उन्होंने दरवाजों को बन्द कर दिया ताकि मन्दिर क्षेत्र में दंगा न हो। इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""कुछ यहूदियों ने तुरन्त मन्दिर के दरवाजे बन्द कर दिए"" या ""मन्दिर के सिपाहियों ने तुरन्त दरवाजे बन्द कर दिए"" (देखें: अनुमानित ज्ञान एवं अंतर्निहित सूचना और कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

Acts 21:31

ἀνέβη φάσις τῷ χιλιάρχῳ τῆς σπείρης

सन्देश"" यहाँ उस सन्देशवाहक को सन्दर्भित करता है जो समाचार बोलने के लिए गया था। वैकल्पिक अनुवाद: ""किसी ने सिपाहियों के मुख्य सरदार को समाचार दिया"" (देखें: लक्षणालंकार)

ἀνέβη φάσις τῷ χιλιάρχῳ

वाक्यांश ""आया"" का उपयोग इसलिए किया गया है क्योंकि मुख्य सरदार मन्दिर से जुड़े एक किले में था जो मन्दिर के आँगन की तुलना में ऊँचाई पर था।

τῷ χιλιάρχῳ

एक रोमी सैन्य अधिकारी या लगभग 600 सैनिकों का अगुवा

ὅλη συνχύννεται Ἰερουσαλήμ

यहाँ ""यरूशलेम"" शब्द यरूशलेम के लोगों का प्रतिनिधित्व करता है। ""सारे"" शब्द यह दिखाने के लिए एक अतिशयोक्ति है कि एक बड़ी भीड़ परेशान थी। वैकल्पिक अनुवाद: ""यरूशलेम में बहुत से लोग कोलाहल मचा रहे थे"" (देखें: अतिशयोक्ति और लक्षणालंकार)

Acts 21:32

पहला ""वह"" शब्द और ""वह"" शब्द प्रेरितों के काम 21:31 में वर्णित सिपाहियों के मुख्य सरदार का उल्लेख करते हैं।

κατέδραμεν

किले से, आँगन में नीचे जाने के लिए सीढ़ियाँ हैं।

τὸν χιλίαρχον

एक रोमी सैन्य अधिकारी या लगभग 600 सैनिकों का अगुवा

Acts 21:33

ἐπελάβετο αὐτοῦ

पौलुस को पकड़ लिया या ""पौलुस को गिरफ्तार कर लिया

ἐκέλευσε δεθῆναι

इसे सक्रिय रूप में कहा जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""अपने सैनिकों को उसे बाँधने का आदेश दिया"" (देखें: कर्तृवाच्य एवं कर्मवाच्य)

ἁλύσεσι δυσί

इसका अर्थ है कि उन्होंने पौलुस को दो रोमी सैनिकों के साथ प्रत्येक को उसकी एक तरफ खड़ा करते हुए बाँध दिया।

ἐπυνθάνετο τίς εἴη καὶ τί ἐστιν πεποιηκώς

इसे प्रत्यक्ष उद्धरण के रूप में वर्णित किया जा सकता है। वैकल्पिक अनुवाद: ""उसने पूछा, 'यह व्यक्ति कौन है? इसने क्या किया है? '""(देखें: प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष उद्धरण)

ἐπυνθάνετο τίς εἴη

मुख्य सरदार पौलुस से नहीं, भीड़ से बात कर रहा है।

Acts 21:34

ἄλλο

चिल्ला रहे थे"" शब्द पिछले वाक्यांश से समझे जा चुके हैं। वैकल्पिक अनुवाद: ""और अन्य लोग दूसरों पर चिल्ला रहे थे"" या ""और भीड़ में अन्य लोग किसी और पर चिल्ला रहे थे"" (देखें: पदन्यूनता)

αὐτοῦ

यह एक सैन्य अधिकारी या लगभग 600 सैनिक